अभी और कंपकंपाएगी सर्दी: अगले 3 दिन पड़ेंगे भारी

कंपकंपाएगी ठंड: उत्तर भारत में अगले 3 दिन घने कोहरे और शीतलहर तेज होने के आसार

चंडीगढ़। उत्तर भारत में अगले तीन दिन घने कोहरे, कोल्ड डे और शीतलहर से राहत मिलने की संभावना नहीं है। कड़ाके की ठंड के चलते न्यूनतम पारा दो डिग्री गिर गया है। सीजन की पहली ठंड ने पश्चिमोत्तर को कंपा कर रख दिया। मौसम केन्द्र के अनुसार पंजाब में अगले तीन दिन कुछ स्थानों पर शीतलहर का प्रकोप बना रहने और अगले 24 घंटे कोल्ड डे और कोहरा पड़ने की संभावना है। हरियाणा में भी घने कोहरे के आसार हैं। पिछले चौबीस घंटों में कड़ाके की ठंड तथा अधिकांश स्थानों पर घना कोहरा छाये रहने से सड़क यातायात प्रभावित रहा लेकिन कुछ इलाकों में दोपहर तक धूप खिलने से कोहरा छंट गया तथा सर्दी से राहत मिली। पंजाब के कुछ इलाके ठंड की चपेट में हैं तथा कोहरा छाये रहने और खिली धूप के दर्शन न होने से लोगों को ठंड से राहत नहीं मिली।

अमृतसर तथा शिमला का पारा दो डिग्री दर्ज किया गया। नारनौल, बठिंडा का पारा तीन डिग्री, आदमपुर, हलवारा, हिसार, सिरसा और फरीदकोट का पारा क्रमश: चार डिग्री,अंबाला, दिल्ली, भिवानी और जम्मू का पारा क्रमश: पांच डिग्री, चंडीगढ, लुधियाना, पटियाला,पठानकोट का पारा छह डिग्री, गुरदासपुर आठ डिग्री, रोहतक सात डिग्री रहा। कश्मीर घाटी में हिमपात के कारण कड़ाके की सर्दी पड़ रही है तथा श्रीनगर शून्य से कम चार डिग्री रह गया है।

हिमाचल प्रदेश में हिमपात तथा बारिश के बाद अधिकांश इलाके शीतलहर की चपेट में हैं। कल्पा शून्य से चार डिग्री कम, मनाली शून्य से कम एक डिग्री, सोलन शून्य डिग्री, उना दो डिग्री, नाहन छह डिग्री, कांगडा एक डिग्री, भुंतर शून्य के आसपास, धर्मशाला दो डिग्री,मंडी तीन डिग्री, सुंदरनगर पांच डिग्री रहा।

झरने, तालाब और पाइपों तक में जमा पानी

हिमाचल प्रदेश में धूप खिलने के बावजूद कड़ाके की ठंड का प्रकोप जारी है तथा पांच जिलों में पारा जमाव बिन्दु से नीचे चले जाने से प्राकृतिक जलस्रोत, नदियों की ऊपरी परत,झरने, तालाब और पाइपों में पानी तक जम जाने से आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। सोलन और ऊना में प्रदेश की राजधानी शिमला से अधिक ठण्ड पड़ रही है, लेकिन दिन में तापमान में कुछ सुधार हुआ है। राज्य भर में गुनगुनी धूप खिलने से दिन में मौसम सुहावना बना हुआ है। हालांकि रात के समय लोगों को ठिठुरन का सामना करना पड़ रहा है। ऊना और सोलन की रातें पहाड़ी क्षेत्रों शिमला व चंबा से भी ठंडी हैं। इसी तरह कांगड़ा और मंडी में भी रात के पारे में गिरावट दर्ज की जा रही है। ये शहर पहाड़ी की रानी शिमला से भी सर्द हैं। बुधवार को शिमला का न्यूनतम तापमान 2.6 डिग्री सेल्सियस था, जबकि सोलन में पारा शून्य से कम 0.8 डिग्री और उना में 2.0 डिग्री दर्ज किया गया। इसी प्रकार जनजातीय जिले लाहौल स्पीति का मुख्यालय केलांग में न्यूनतम पारा शून्य से नीचे 5.6 डिग्री, किन्नौर के कल्पा में शून्य से कम 4.1 डिग्री, कुल्लू के मनाली और चंबा के डलहौजी में शून्य से कम 1.0 डिग्री सेल्सियस रहा। इसी तरह प्रदेश के अधिकतर जिलों में तापमान में गिरावट आई है। सुबह-शाम धुंध छाने से शीतलहर बढ़ गई है।

उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड ने दी दस्तक, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में बारिश

मौसम विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार मंगलवार की रात बिलासपुर का न्यूनतम तापमान 6.2 डिग्री, हमीरपुर में 6.0 डिग्री, जबकि कुफरी, चंबा और मंडी का तापमान क्रमशः 2.0 डिग्री, 2.2 डिग्री व 3.0 डिग्री सेल्सियस रहा। इसके इलावा सुंदरनगर में 0.6 डिग्री, भुंतर 0.7 डिग्री, धर्मशाला 1.2 डिग्री, नाहन 6.1 डिग्री, पालमपुर 1.0 डिग्री, कांगडा 1.9 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से 1 से 2 डिग्री कम रहे। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक डाॅ मनमोहन सिंह ने बताया कि अधिकांश क्षेत्रों में मौसम साफ रहेगा। 16 और 17 दिसंबर को उना, बिलासपुर, हमीरपुर, कांगड़ा, सोलन और सिरमौर में घन्ना कोहरा पड़ने की संभावना जताई है, जिससे दृश्यता (विजिबिलिटी) 500 मीटर से कम होगी और यातायात तथा ठंड से फसल पर प्रभाव पड़ने की उम्मीद है।

——-

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s