अनारक्षित रेलवे टिकट खरीदने को यात्री परेशान

रेलवे ने नहीं खोले कोरोना काल से बंद एटीवीएम
अनारक्षित टिकट खरीदने वाले यात्रियों को हो रही परेशानी

बिजनौर। रेलवे की ओर से यात्रियों को अनारक्षित टिकट उपलब्ध कराने को संचालित किए जा रहे एटीवीएम (अनरिजर्वड टिकट वैंडिंग मशीन) को कोरोना काल में बंद रहने के बाद से अभी तक नहीं खोला है।
रेलवे की ओर से टिकट खिड़की पर लगने वाली भीड़ को देखते हुए यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे स्टेशनों पर टिकट खिड़की के समीप में एटीवीएम लगाए गए थे। रेलवे की ओर से उक्त एटीवीएम को पीपीपी माडल पर संचालित कराया जाता रहा है। इसमें एटीवीएम पर टिकट बांटने वाले लोगों को टिकटों की बिक्री के आधार पर कमीशन दिया जाता रहा है।

इस क्रम में नजीबाबाद रेलवे स्टेशन पर भी दो एटीवीएम लगाए गए हैं। 22 मार्च 2020 को देश भर में कोविड-19 को लेकर किए गए लाकडाउन के बाद से ट्रेनों के संचालन को बंद कर दिए जाने के बाद से ही रेलवे स्टेशन पर लगाए गए एटीवीएम को भी बंद रखा गया है। यात्रियों का कहना है कि रेलवे की ओर से मुरादाबाद से सहारनपुर के बीच मैमो एक्सप्रेस ट्रेन को चलाया जा चुका है। हालांकि उक्त ट्रेन पूर्व में चलने वाली मैमो पैसेन्जर ट्रेन की तरह ही उक्त रेल मार्ग के विभिन्न स्टेशनों पर ठहराव के बाद चलायी जा रही है। अंतर इतना ही हुआ है कि कोरोना काल से पूर्व मैमो पैसेन्जर ट्रेन में कम से कम किराए का टिकट दस रुपए में उपलब्ध होता था। वहीं मैमो एक्सप्रेस के नाम से संचालित की जा रही ट्रेनों में यात्रियों को न्यूनतम टिकट राशि दस रुपए के स्थान पर 30 रुपए देनी पड़ रही है। यानि रेलवे की ओर से समीप के रेलवे स्टेशनों के लिए भी यात्रा करने को यात्रियों को तीन गुने किराए का भुगतान कर टिकट लेना पड़ रहा है।


उधर यात्रियों का कहना है कि रेलवे की ओर से यात्री ट्रेनों को चलाए जाने के साथ ही उक्त एटीवीएम (अनारक्षित टिकट विक्रय मशीन) से भी टिकटों की बिक्री प्रारंभ कराई जानी चाहिए, जिससे कि भीड़ के समय यात्री एक दूसरे से निर्धारित दूरी बनाकर रेल टिकटों की खरीददारी कर सकें। एटीवीएम मशीनों के खोले जाने को लेकर सीएमआई राकेश कुमार सिंह का कहना है कि एटीवीएम को खोले जाने के लिए अभी उच्चाधिकारियों की ओर से कोई दिशा-निर्देश प्राप्त नहीं हुए हैं।
…………………………………

सौजन्य से- Kridha’s icecream parlour Neelkamal Road civil lines Bijnor

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s