कोरोना पर नई गाइडलाइंस जारी, सभी डीएम को निर्देश

लखनऊ। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए शासन ने नई गाइडलाइंस जारी की है। मुख्य सचिव आरके तिवारी ने कोविड-19 के संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों से आने वाले यात्रियों की एयरपोर्ट व रेलवे स्टेशनों पर जांच कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कोविड रोग के नए मामलों को रोकने के लिए अधिक संक्रमण वाले प्रदेशों से आने वाले यात्रियों के कोविड संक्रमण की जांच कराया जाना बहुत जरूरी है। संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों से हवाई मार्ग से आने वाले यात्रियों की प्रदेश के एयरपोर्ट पर एंटीजन जांच कराई जाए।

रेलवे स्टेशन पर ही एंटीजन जांच सभी जिलों में रेलवे स्टेशनों पर कोविड-19 संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों से वापस आ रहे यात्रियों की रेलवे स्टेशन पर ही एंटीजन जांच कराते हुए लक्षणयुक्त व्यक्तियों के नमूने आरटीपीसीआर जांच के लिए एकत्र कर जिले की संबद्ध प्रयोगशाला को भेजे जाएं। प्रत्येक रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों की विशेष रूप से सघन जांच की जाए तथा लक्षण प्राप्त होने पर कांटैक्ट ट्रेसिंग की जाए। इसके अलावा रेलवे के सहयोग से सभी यात्रियों की सूची प्राप्त कर सर्विलांस की कार्रवाई की जाए। मुख्य सचिव ने कहा है कि प्रत्येक रेलवे स्टेशन पर जहां लंबी दूरी से अन्य प्रदेशों से आने वाली रेलगाड़ियां रुकती हों, वहां 24 घंटे कोविड जांच की सुविधा उपलब्ध होनी चाहिए।

कैलेंडर के अनुसार कराएं क्षेत्रवार जांच 
मुख्य सचिव ने कहा है कि हर जिले में भीड़-भाड़ वाले क्षेत्र तथा स्कूल-कॉलेज आदि में कोविड-19 की जांच किए जाने के लिए क्षेत्रवार कैलेंडर तैयार किया गया है, जो पहले ही सभी मुख्य चिकित्साधिकारियों को उपलब्ध कराया जा चुका है। इस कैलेंडर के अनुसार ही प्राथमिकता के आधार पर कार्रवाई की जाए। उन्होंने वर्तमान में दस्तक अभियान में घर-घर भ्रमण कर रहे फ्रंट लाइन वर्कर से प्रतिदिन ऐसे क्षेत्रों के विषय में जानकारी लेने का निर्देश दिया है, जहां देश के अन्य राज्यों से बड़ी संख्या में नागरिक वापस आए हैं। ऐसे क्षेत्रों में सतन सघन निगरानी एवं नियमित कोविड-19 की जांच कराई जाए। 

पांच राज्यों से आने वालों की टेस्टिंग अनिवार्य
जिन पांच राज्यों में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है वहां से आने वालों की कोविड जांच अनिवार्य कर दी गई है। इनमें खासतौर पर महाराष्ट्र, केरल, पंजाब शामिल हैं। यानी मुम्बई, पुणे, चंडीगढ़, कोच्चि से आ रहे यात्रियों पर अब खास नजर रखी जाएगी। पुलिस कमिश्नर और डीएम ने संयुक्त रूप से ये निर्देश दिए हैं। ज्यादा संक्रमितों वाले राज्यों को खतरनाक श्रेणी में रखा गया है। इन स्थानों से आने वाले यात्रियों की एयरपोर्ट पर अनिवार्य रूप से कोरोना जांच कराई जाएगी। जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने इस आशय के निर्देश दिए हैँ।

एयरपोर्ट पर टेस्टिंग के लिए न लें ज्यादा पैसे एयरपोर्ट पर टेस्टिंग के लिए ज्यादा पैसे न लेने के सख्त निर्देश दिए। आपके अपने अखबार हिन्दुस्तान ने ‘विदेश से आ रहे यात्रियों से जांच के नाम पर लग रही 900 रुपए की चपत’ खबर प्रकाशित की थी। इसका संज्ञान लेते हुए डीएम ने एयरपोर्ट प्रबंधन को सख्त निर्देश  दिए हैं कि कोरोना जांच संक्रमण रोकने के लिए है। इसके लिए यात्रियों ने अनावश्यक धन न वसूला जाए। डीएम ने एयरपोर्ट पर काम कर रहे कर्मचारियों का भी कोविड टेस्ट कराने का निर्देश दिया है। इसके अलावा गुरुवार से रेलवे स्टेशन, बस स्टॉप, सर्विलांस ट्रेसिंग और टेस्टिंग कराने के निर्देश दिए हैं। इन स्थानों पर कैंटीन, खाने पीने की स्टॉल और दुकानों के कर्मचारियों की भी कोविड टेस्टिंग कराने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिए हैं। 

आज से 84 कैंटेनमेंट जोन पर लगेंगी बेरिकेडिंग
संक्रमित व्यक्ति घर के बाहर न निकलें इसके लिए फिर से सख्ती शुरू होगी। पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने कंटेनमेंट जोन में बेरिकेडिंग लगाने और संक्रमित व्यक्तियों के घर के बाहर स्टिकर लगाने के निर्देश दिए हैं। राजधानी में बुधवार को कंटेनमेंट जोन की संख्या 84 हो गई थी। अब इन स्थानों पर बेरिकेडिंग लगेगी। ये कंटेनमेंट जोन गोमती नगर, इन्दिरा नगर, रायबरेली रोड पर सर्वाधिक हैं। 

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s