एक-एक सांस के लिए भटक रहे तीमारदार!

ऑक्सीजन की किल्लत से तीमारदार खासे परेशान। नजीबाबाद क्षेत्र में संचालित एकमात्र फैक्ट्री बंद। हल्दौर से आपूर्ति को इंकार पर बैरंग लौटे तीमारदार।

बिजनौर। जनपद में ऑक्सीजन की कमी न होने के प्रशासन और राज्य नोडल अधिकारी के सभी दावे उस समय हवा-हवाई हो गए जब नजीबाबाद के कोरोना संक्रमित मरीजों के तीमारदारों को हल्दौर से भी बिना ऑक्सीजन दिए बैरंग लौटा दिया गया। दरअसल यह किल्लत नजीबाबाद क्षेत्र में चल रहे ऑक्सीजन प्लांट के एकाएक बंद हो जाने से सामने आयी है, जिसे लेकर लोग खासे परेशान घूम रहे हैं। शुक्रवार को भी दूसरे दिन नजीबाबाद के कोरोना संक्रमित मरीजों के तीमारदारों को ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं हो पायी। दरअसल नजीबाबाद-नगीना वाया बुंदकी मार्ग पर ग्राम सिकन्दरपुर बसी क्षेत्र में चल रहे गोयल इंडस्र्टियल (ऑक्सीजन) प्लांट से नजीबाबाद क्षेत्र के कोरोना संक्रमित लोगों को ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही थी। उपजिलाधिकारी नजीबाबाद परमानंद झा ने कोरोना संक्रमितों को ऑक्सीजन की कमी से न जूझने की शिकायतों को गंभीरता से लिया था। इसके विगत सप्ताह ही उन्होंने उक्त गैस प्लांट पर पहुंचकर जांच की और ऑक्सीजन की कॉमर्शियल सप्लाई बंद करा दी थी। यही नहीं अन्यत्र भेजी जा रही ऑक्सीजन पर भी पाबंद लगा दी थी। एसडीएम ने प्लांट पर पुलिसकर्मी भी तैनात कर दिए थे। इसके अलावा कोरोना संक्रमित रोगियों के तीमारदारों की ओर से दिए गए प्रार्थनापत्र के आधार पर उक्त प्लांट से ऑक्सीजन गैस की आपूर्ति कराया जाना प्रारंभ कर दिया था। गुरुवार को गोयल इंडस्ट्रीयल प्लांट के स्वामी हर्ष गोयल ने अपनी ऑक्सीजन उत्पादक इकाई के बाहर नोटिस चस्पा कर दिया, जिसमेें अंग्रेजी व हिंदी में ऑक्सीजन गैस उपलब्ध न करा पाने के लिए लिखा गया। गैस उत्पादक इकाई की ओर से जानकारी दी गयी है कि ऑक्सीजन गैस निर्माण के लिए कच्चे माल के रूप में उपयोग की जाने वाली तरल चिकित्सा आक्सीजन की कमी है, इसलिए कारखाने को अस्थाई रूप से बंद कर दिया जाता है, जब तक कि आगे की सूचना नहीं दी जाती है। वहीं गैस प्लाट के बंद हो जाने से नजीबाबाद क्षेत्र में भी आक्सीजन गैस की कमी होने की वजह से कोरोना संक्रमितों के तीमारदार इधर-उधर भटक रहे हैं।

हल्दौर से लौटाया बैरंग! बताया जाता है कि तहसील नजीबाबाद की ओर से कुछ लोगों को ऑक्सीजन गैस लेने के लिए पत्र लिखकर हल्दौर भेजा गया। जहां से उन्हें ऑक्सीजन गैस उपलब्ध न कराकर बैरंग लौटा दिया गया। हालांकि जिला प्रशासन, स्थानीय प्रशासन और राज्य सरकार की ओर से नामित नोडल अधिकारी योगेश कुमार ने दावा किया था कि जनपद में ऑक्सीजन गैस की कोई कमी नहीं है। दो दिन पूर्व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र नजीबाबाद पर निरीक्षण के लिए पहुंचे नोडल अधिकारी योगेश कुमार ने कहा था कि जनपद के सभी अस्पतालों को ऑक्सीजन मुहैया करा दी गयी है। ऑक्सीजन गैस की आपूर्ति हरिद्वार से की जा रही है। जनपद में दवाओं के साथ ही ऑक्सीजन गैस की भी कमी नहीं होने दी जाएगी, जबकि उनकी ओर से किए गए दावे के अगले दिन ही नजीबाबाद क्षेत्र में ऑक्सीजन गैस की किल्लत दिखायी देने लगी। 

“ऑक्सीजन गैस की आपूर्ति न हो पाने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी व मुख्य चिकित्साधिकारी से बातचीत की गयी है। जनपद स्तर पर ऑक्सीजन की कमी होने की बात सामने आयी है। इस सम्बन्ध में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक चल रही है। शनिवार तक ऑक्सीजन गैस की आपूर्ति के मामले में कुछ न कुछ हल निकल आने की उम्मीद बनी हुई है।” राधेश्याम शर्मा, तहसीलदार नजीबाबाद।

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s