खतापुर के राजवीर को प्रेम करने की खता पर मिली सजा ए मौत!

खतापुर के राजवीर को प्रेम करने की खता पर मिली सजा ए  मौत!
दूधिया की हत्या मामले में दो गिरफ्तार, एक फरार

बिजनौर।  हल्दौर के ग्राम अतापुर उर्फ खतापुर के मार्ग पर गत 26 जून को हुई दूधिए राजवीर उर्फ बरम की हत्या के मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें एक आरोपी नाबालिग बताया जा रहा है, जबकि एक फरार है।
मृतक राजवीर पुत्र बरम सिंह (35 वर्ष) की पत्नी श्रीमती राजो देवी ने इस मामले में हल्दौर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसकी जांच सीओ के नेतृत्व में की गई पुलिस अधीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि गत 26 जून को हुई इस हत्या की जांच में पता चला कि दो युवकों ने राजवीर की हत्या की है। पुलिस टीम ने इनकी गिरफ्तारी के प्रयास शुरू किए और मंगलवार को बालकिशनपुर चौराहे से दो आरोपियों हिमांशु उर्फ छोटे (21 वर्ष) पुत्र उदल सिंह व अनमोल (16 वर्ष) पुत्र सुरेन्द्र सिंह निवासी ग्राम मुकरपुर गदई थाना हीमपुरदीपा को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि मृतक राजवीर सिंह का अनमोल की बहन से प्रेम प्रसंग था। वह कई बार मना करने पर भी अनमोल की बहन से मिलना-जुलना नहीं छोड़ रहा था। इसी बात को लेकर अनमोल के घर पर भी कई बार झगड़ा हो चुका था।

ऐसे बनी योजना
पुलिस के अनुसार गत 24/25 जून की रात में हिमांशु ने राजवीर को अनमोल के घर से निकलते देखा। यह बात उसने अनमोल को बताई इसके बाद दोनों ने राजवीर की हत्या की योजना बनाई और अनमोल के तहेरे भाई विशेष उर्फ विसु को भी अपने साथ शामिल कर लिया। योजना के तहत अतापुर उर्फ खतापुर के रास्ते पर राजवीर को उस समय रोक लिया, जब वह दूध लेकर जा रहा था। अनमोल ने उसे बातों में लगाया जबकि हिंमाशु व बिसु ने राजवीर को  पीछे से गोली मार दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

पुलिस को  पहले से ही था परिचित पर शक
पुलिस को शव की स्थिति देखते ही शक हो गया था कि राजवीर की हत्या किसी परिचित ने की है। घटनास्थल पर एक तरफ शव और दूसरी ओर खड़ी बाइक से साफ इशारा था कि किसी परिचित ने ही वारदात को अंजाम दिया है। इसी तथ्य को आधार बना कर पुलिस टीम लगी रही और मामले की जड़ तक जा पहुंची।

बरामदगी
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पकड़े गए अनमोल पुत्र सुरेन्द्र सिंह व हिमांशु पुत्र उदल सिंह के पास से एक तमंचा 315 बोर, एक खोखा कारतूस, अनमोल के कब्जे से सोने का बना हुआ ओम लिखा लाकेट, हल्दौर के बॉबी ज्वैलर्स  के यहां से खरीदा गया बिल, अनमोल की बहन का आधार कार्ड व रुपए 640 की नकदी बरामद की गई है। उक्त सोने का लाकेट अनमोल की बहन ने राजवीर को दिया था।

स्वाट व हल्दौर पुलिस को इनाम
पुलिस पार्टी में स्वाट टीम के उपनिरीक्षक संजय कुमार, हे.का. राजकुमार नागर, का. मोहम्मद खालिद, का. मोहित कुमार, का. रहीस अहमद, का. बेताब जावला व दीपक तोमर के अलावा हल्दौर थाना प्रभारी निरीक्षक सुनील कुमार, उपनिरीक्षक अशोक कुमार, उ. नि. सुभाष चन्द बालियान  व विनोद कुमार, का. नीरज कुमार व संदीप कुमार चालक शिशुवेन्द्र आदि शामिल रहे। एसपी डॉ. धर्मवीर सिंह ने मामले का खुलासा करने वाले स्टाफ की पीठ थपथपाने के साथ ही पांच हजार रुपए का इनाम भी दिया।

सवाल अब भी है! शादीशुदा होते हुए भी राजवीर ने ऐसा कदम क्यों उठाया? हत्या के मुख्य आरोपी या उसके परिवार वालों ने अपने ही घर में सख्ती क्यों नहीं की? …एक मामला और दो परिवार अब जिंदगी भर इस कलंक के साथ जिएंगे!

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s