श्री कृष्ण गौशाला प्रकरण में उच्चाधिकारियों को भेजा पत्र

नगीना (बिजनौर)। श्री कृष्ण गौशाला (पंजी.) की अध्यक्ष अलका लाहोटी ने पुलिस अधीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह समेत आला अफसरों को शिकायती पत्र भेजकर गौशाला की संरक्षक सदस्य रही रेणुका शर्मा व उनके सहयोगियों द्वारा कोविड-19 का उल्लंघन कर पुलिस के सहयोग से गौशाला के मुख्य द्वार का ताला खोलकर अवैध रूप से कब्जा करने की शिकायत कर उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

श्री कृष्ण गौशाला की अध्यक्ष अलका लाहोटी ने पुलिस अधीक्षक डॉ धर्मवीर सिंह के अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, पुलिस डीजीपी उत्तर प्रदेश, गौ सेवा आयोग चेयरमैन उत्तर प्रदेश, मंडल आयुक्त मुरादाबाद, डीआईजी मुरादाबाद, जिलाधिकारी बिजनौर, राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग एवं पुलिस क्षेत्राधिकारी को अलग-अलग शिकायती पत्र भेजे हैं। इनमें कहा कि गौशाला की कमेटी से निष्कासित रेणुका शर्मा ने अपने सहयोगियों प्रभात चंद गुप्ता, प्रहलाद कुमार, घनश्याम मुटरेजा, ऋषि लाल, नंदकिशोर कॉलरा (तीनों कांवड़ सेवा समिति के पदाधिकारी) व कुछ अज्ञात समर्थकों को साथ लेकर स्थानीय पुलिस बल के सहयोग से उनकी गैरमौजूदगी में गौशाला प्रांगण में 22 जुलाई 2021 को 5:30 बजे जबरन प्रवेश किया।

कोविड प्रोटोकॉल दरकिनार- आरोप लगाया कि उक्त समय कोविड-19 महामारी के कारण मात्र एक या दो आगंतुकों के सैनिटाइजेशन के पश्चात ही प्रवेश की अनुमति थी, जिसकी सूचना गौशाला के दोनों प्रवेश द्वारों पर लगाई गई थी। अपने को गोवंश की सेवा हितों की रक्षा करने वाले इस तथाकथित भीड़ ने रेणुका शर्मा की अगुवाई में गौशाला के द्वारों पर प्रवेश प्रतिबंध लगी सूचना को एक किनारे रख गौशाला में प्रवेश किया।

पुलिस ने किया सहयोग- भीड़ को प्रवेश कराने के लिए थाने का पुलिस बल मौजूद रहे। इनमें दरोगा वेद प्रकाश, दरोगा करमजीत सिंह, दरोगा विनोद कुमार, कांस्टेबल कृष्ण कुमार बबलू अन्य दर्जन भर कांस्टेबल मुख्य हैं। आरोप है कि उपरोक्त पुलिस दरोगाओ के निर्देश पर कांस्टेबल कृष्ण कुमार व बबलू ने गौशाला की भूमि में अवैध बने कृष्ण गोपाल महाविद्यालय की ओर से लोहे की बाड़ सेंसिंग को लांघ कर अंदर प्रवेश किया। रेणुका शर्मा व उनके सहयोगी गौशाला की अध्यक्ष के बारे में अशोभनीय बातें जैसे जेल भिजवा देंगे, अब तो अध्यक्ष नगीना नहीं आ पाएंगी आदि कहते रहे। यही नहीं कब्जा करने की नीयत से गौशाला में निवास करने की योजना के तहत देर रात तक गौशाला में अपने सहयोगियों के साथ बैठी रही। एक बैठक दिखाकर गौशाला के कुछ सदस्यों को डरा धमका कर प्रस्ताव पर हस्ताक्षर करा लिए, जिनको बाद में फोटो शॉप करके प्रस्ताव के ऊपर का विवरण बदल लिया। बाद में गौशाला में निवास का इरादा छोड़ कर रेणुका शर्मा बहुत मुश्किल से गौशाला परिसर से बाहर आई।

सीसीटीवी फुटेज भी है सुबूत- शिकायती पत्र में सीसी कैमरे की फुटेज में फोटो की छाया प्रतियां भी संगलन की गई हैं। गौ सेवा समिति की अध्यक्ष अलका लाहोटी ने पुलिस अधीक्षक समेत सभी आला अफसरों से गौशाला में कोविड-19 का उल्लंघन करने व गौशाला पर अवैध कब्जा करने वाले रेणुका शर्मा व उनके साथियों के खिलाफ कार्यवाही किए जाने की मांग की है।

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s