हर हर गंगे के जयघोष से गूंज उठे गंगा घाट

हर हर गंगे के जयघोष से गूंज उठे गंगा घाट कार्तिक पूर्णिमा का पर्व शुरू होते ही श्रद्धालु लगाने लगे अर्ध रात्रि से ही गंगा में डुबकी। दिन निकलते ही शंख तथा मां गंगा के जयकारों के साथ गूंजने लगे मां भागीरथी के तट।

बिजनौर। कार्तिक पूर्णिमा पर जिले भर में गंगा स्नान मेला लगा। इस पावन अवसर पर  लगभग 9 लाख श्रद्धालुओं ने गंगा में डुबकी लगाई। गंगा घाट हर हर गंगे के जयघोष से गूंज उठा। गंगा स्नान में श्रद्धालुओं ने अपने बच्चों का मुंडन संस्कार कराया और घी के साथ खिचड़ी का प्रसाद ग्रहण कर अपने घरों को लौटे।

विदुर कुटी में मुख्य घाट पर कार्तिक पूर्णिमा गंगा स्नान मेले में उमड़े करीब साढ़े चार लाख श्रद्धालुओं ने गंगा में डुबकी लगाई। इसके अलावा बैराज गंगा घाट, नांगल सोती, बालावाली, नारनौर, रामगंगा आदि घाटों पर भी लाखों श्रद्धालुओं ने पहुंचकर गंगा स्नान किया। रात्रि 12 बजे से ही श्रद्धालुओं ने गंगा में स्नान करना शुरू कर दिया। सुबह से शाम तक श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान किया। श्रद्धालुओं का जनसैलाब गंगा में आस्था की डुबकी लगाकर अपने-अपने घरों को वापस लौटने लगा है। श्रद्धालुओं ने गंगा के पावन जल में डुबकी लगाकर मां गंगा का आशीर्वाद लिया। विदुर कुटी सहित गंज क्षेत्र में घंटों तक जाम की स्थिति बनी रही।

शुक्रवार को कार्तिक पूर्णिमा का पर्व शुरू होते ही श्रद्धालु अर्ध रात्रि से ही गंगा में डुबकी लगाने लगे। दिन निकलते निकलते मां भागीरथी का तट शंख तथा मां गंगा के जयकारों के साथ गूंजने लगा। गंगा के जल में लोग अपने परिवार के साथ समूह में स्नान करते हुए नजर आए। स्नान के दौरान युवाओं ने गंगा में अठखेलियां कर खूब मौज मस्ती की। इस दौरान लोगों में अपने अपने वाहनों को आगे निकालने की होड़ लगी रही। इस कारण विदुर कुटी तथा गंज क्षेत्र में कई बार जाम की स्थिति बन गई।

महिलाओं ने की मेले में जमकर खरीदारी- मीना बाजार में महिलाओं का जनसैलाब उमड पड़ा। बच्चों व महिलाओं ने जमकर खरीदारी की। झूले एवं सर्कस में भी लोगों ने खूब मनोरंजन किया।

मां गंगा को प्रशाद चढ़ाकर लिया आशीर्वाद– श्रद्धालुओं ने गंगा में डुबकी लगाई और अनेक दंपतियों ने अपने नवजात शिशु का मुंडन संस्कार कराया। मुंडन संस्कार के बाद अपने बच्चों को मां गंगा में स्नान करा कर उनकी दीर्घायु की कामना की।

गंगा में फंस गए कई ट्रैक्टर- मेले में गंगा की धार में कई ट्रैक्टर पानी में फंस गए। उन्हें निकालने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। कई लोगों ने मिलकर ट्रैक्टर निकलवाए।

गंदगी का ढ़ेर छोड़ गए श्रद्धालु– विदुर कुटी में 4 दिन तक तम्बूओं का ही नजारा दिखा। लाखों श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान मेले में पहुंचकर स्नान कर मां गंगा का आशीर्वाद लिया। शुक्रवार को गंगा स्नान मेले से श्रद्धालुओं ने अपने घरों को जाना शुरू कर दिया, लेकिन अपने पीछे गंदगी का अम्बार छोड़ गए। हर तरफ गंदगी के ढे़र लगे हुए हैं। गंगा घाट के अलावा बीच मेले में गंदगी ही गंदगी पसरी पड़ी है। गंदगी को साफ कराने के लिए जिला प्रशासन अब कड़ी मशक्कत से जुटा हुआ है।

गंगा घाट पर खिचड़ी और घी का लिया आनंद– खिचड़ी और देसी घी की खुशबू से गंगा मेले महका रहा। लोगों ने खिचड़ी के साथ अचार, गुड़ और दही का भी आनंद लिया। वहीं गंगा स्नान मेले में चल रहे कई भंडारों में श्रद्धालुओं खिचड़ी का प्रशाद गृहण किया।

विदुर कुटी पर अभी भी हैं काफी श्रद्धालु– गंगा स्नान करने के बाद करीब 80 प्रतिशत श्रद्धालु तो अपना डेरा उखाड़कर अपने घर को लौट रहे है, लेकिन अभी भी काफी श्रद्धालु गंगा घाट पर जमे हुए हैं। इनकी घर वापसी आज होने की संभावना है।

गंगा बैराज पर लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी- बिजनौर। गंगा बैराज पर लाखों श्रद्धालुओं ने आस्था की डूबकी लगाकर मां गंगा का आशीर्वाद लिया। मेले में सुबह से शाम तक श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रही। देवी मां के जागरण के चलते माहौल भक्तियम बना रहा। श्रद्धालुओं ने स्नान करने के बाद देशी घी के साथ खिचड़ी, चाट-पकौड़ी, जलेबी व अन्य व्यंजनों का भरपूर आनंद उठाया। 

नांगल खादर मेले में उमड़े हजारों श्रद्धालु- बिजनौर। कार्तिक पूर्णिमा पर लगने वाले नांगल खादर मेले में हजारों लोगों ने गंगा में आस्था की डुबकी लगाई तथा जमकर खरीदारी करते हुए चाट पकोड़ी का लुत्फ उठाया। गुरुवार की शाम से नांगल सोती में गंगा किनारे लगने वाले मेले में हजारों श्रद्धालुओं ने गंगा जल में डुबकी लगाई। इस दौरान लोगों ने पितृदान करके गंगा में दीपदान कर प्रसाद चढ़ाया। मेले में लोगों ने अपने बच्चों का मुंडन संस्कार भी कराया। खेल खिलौनों, मिट्टी के बर्तनों, श्रृंगार के सामान सहित अनेक घरेलू उपयोगी सामान की जमकर खरीदारी की गई। चाट पकौड़ी, जलेबी का जमकर लुत्फ उठाया गया। बच्चों ने झूले पर झूल कर और नवयुवकों ने नौका विहार कर खूब मनोरंजन और मस्ती की। मेले में मेला समिति, किसान यूनियन, स्वास्थ्य विभाग, पुलिस विभाग, आर्य समाज पूर्ण सहयोग किया।

नगीना चौक पर लगा रहा जाम- धामपुर में गंगा स्नान के मौके पर नगीना चौक पर जाम की स्थिति रही। इस कारण लोग काफी परेशान रहे। जाम खुलवाने के लिए पुलिसकर्मी मुस्तैद रहे, लेकिन भीड़ अधिक होने के कारण जाम की स्थिति थोड़े समयंतराल पर बनी रही। वहीं शेरकोट में खो नदी में काफी पानी होने के बावजूद लोगों ने कुछ जगह स्नान किया। धामपुर शहर के अलावा आसपास के गांवों से लोग गंगा स्नान के लिए हरेवली, भूतपुरी आदि की ओर गए।

20 घंटे जाम में फंसा रहा दिल्ली-पौड़ी हाईवे- गंगा स्नान मेले के चलते दिल्ली-पौड़ी हाईवे पर करीब 20 घंटे जाम लगा रहा। हाईवे पर वाहन रेंगते रहे। दूर-दूर तक वाहनों की लंबी कतारें लगी रहीं। मेला हल्का होने के बाद स्वयं ही जाम खुलना शुरू हो गया। यातायात पुलिस पूरे दिन जाम खुलवाने के प्रयास में लगी रही। श्रद्धालुओं ने अपने वाहनों व बैलबुग्गी को हाईवे किनारे व इधर-उधर लगा दिया था। इस कारण गुरुवार की शाम से लगना शुरू जाम शाम करीब साढ़े सात बजे तक बिजनौर से लेकर मीरापुर बाइपास तक लग गया। हाईवे पर दूर-दूर तक वाहन व उनकी लाइटें नजर आती रहीं। हाईवे पर वाहन रेंगते रहे। बीच-बीच में  थोड़ी देर खुलने के बाद भी जाम लगता रहा। शुक्रवार  तड़के से ही स्थानीय श्रद्धालुओं के भी गंगा स्नान मेले में पहुंचना शुरू होने से भयंकर जाम लग गया। दोपहर करीब दो से तीन बजे के बाद जब मेला हल्का हुआ और श्रद्धालु घरों को लौटना शुरू हुए, तो जाम से लोगों को राहत मिलनी शुरू हुई। ।

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s