जहरीला काकटेल हैं सपा, बसपा और कांग्रेस: स्वतंत्र देव

लखनऊ। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा है कि सपा, बसपा और कांग्रेस गरीबों के कल्याण के लिए प्रदेश में चलाई जा रही योजनाओं पर ब्रेक लगाना चाहती हैं। इनका प्रदेश के शोषित, वंचित और गरीबों के कल्याण से कोई लेना देना नहीं है। इन्हें सिर्फ अपनी झोली भरने की चिंता है। यही वजह है कि ये सभी एक साथ मिलकर भाजपा को रोकना चाहते हैं। प्रदेश अध्यक्ष ने सपा, बसपा और कांग्रेस को जहरीला काकटेल कहते हुए कहा है कि प्रदेश की 24 करोड़ जनता इनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने देगी।

जनता एक बार फिर से प्रदेश में भाजपा की सरकार बनाने जा रही है। रविवार को स्थानीय पंचायत भवन में आयोजित भाजपा के एनजीओ प्रकोष्ठ के कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि सपा, बसपा, कांग्रेस और अन्य पार्टियां पारिवारिक ट्रस्ट के रूप में काम करती हैं। भाजपा का उद्देश्य अंत्योदय की संकल्पना को साकार करना है। केंद्र में पिछले सात वर्षों और प्रदेश में साढ़े  चार वर्षों से भाजपा की सरकार ने गरीब कल्याण के कामों को पूरे मनोयोग से किया है। 

झंडे अलग लेकिन सबका दिल एक है: डा. दिनेश शर्मा

कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने कहा कि विपक्षी दलों के झंडे अलग अलग हैं, लेकिन सबका दिल एक है। कांग्रेस इन सभी दलों की सूत्रधार है। भाजपा का कुनबा बढ़ रहा है। परिवार में नए सदस्य जुड़ रहे हैं। नए सदस्यों को अपनाना होगा। कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वह डंके की चोट पर सरकार के कामों को जनता को बताएं और विपक्ष की कलई खोलें। लोगों को यह बताएं कि पिछले 15 सालों में इन दलों ने जातिवादी व संप्रदायवाद की सरकारें चलाई हैं। पिछले साढे चार साल में प्रदेश में कोई दंगा नहीं हुआ। सरकार ने बेमिसाल काम किए हैं। उन्होंने कहा कि यह चुनाव  यूपी को बनाने, नौजवानों के लिए रोजगार की व्यवस्था करने, किसानों की आमदनी को दोगुना करने, महिलाओं की सुरक्षा को सुनिश्चित करने  का मिशन है। 

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s