गाने जो हिट थे हिट रहेंगे ! बिनाका गीतमाला और लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल !!

गाने जो हिट थे हिट रहेंगे  ! बिनाका गीतमाला और लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल !! साभार-अजय पौंडरिक

एक संगीत प्रेमी के रूप में हम बीनका गीतमाला में श्री अमीन सयानी द्वारा मापे गए गीतों की लोकप्रियता पर विश्वास करते हैं…।

साल 1953 में…

बिनाका गीतमाला हिंदी सिनेमा के शीर्ष फिल्मी गीतों का एक साप्ताहिक रेडियो काउंटडाउन शो था, जिसे लाखों हिंदी संगीत प्रेमियों ने सुना, जिसे 1953 से 1988 तक रेडियो सीलोन पर प्रसारित किया गया और फिर 1989 में ऑल इंडिया रेडियो नेटवर्क की विविध भारती सेवा में स्थानांतरित कर दिया गया। 1994 तक चला। यह भारतीय फिल्मी गीतों का पहला रेडियो काउंटडाउन शो था और इसके चलने के दौरान इसे भारत में सबसे लोकप्रिय रेडियो कार्यक्रम के रूप में उद्धृत किया गया है। इसे बिनाका द्वारा प्रायोजित किया गया था, जहां से इसे इसका नाम मिला। बिनाका गीतमाला, और इसके बाद के अवतारों का नाम सिबाका, सिबाका संगीतमाला, सिबाका गीतमाला, और कोलगेट सिबाका संगीतमाला के नाम पर रेडियो सीलोन पर और फिर विविध भारती पर 1954 से 1994 तक चला, जिसमें वार्षिक वर्ष के अंत की सूची 1954 से 1993 तक प्रसारित हुई।

बिनाका गीतमाला के वार्षिक प्रोग्राम में बजनेवाले  “फाइनल गीतों” की गिनती करें, तो 1953 से 1993 तक “फाइनल  गीतों ” की संख्या 40 वर्षों में 1259 हो जाती है

लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल          २४५  गाने 

शंकर-जयकिशन               १४४  गाने     

राहुल देव बर्मन                  १३३  गाने 

कल्याणजी-आनंदजी            ७५ गाने   

सचिन देव बर्मन                   ५५ गाने     

रवि                                  ४६ गाने  

बप्पी लाहिरी                       ४४ गाने 

नौशाद                             ३४  गाने                           

ओ  पी  नय्यर                    ३३  गाने 

राजेश रोशन                      २८  गाने

मदन मोहन                        २४ गाने 

रोशन                              १७ गाने 

सलिल  चौधरी                  १५  गाने 

AMIN SAYANI & PYARELAL (Laxmikant-Pyarelal)

बिनाका गीतमाला में लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल के २४५”फाइनल गीतों” की वर्षवार सूची / स्थिति।

1963

लक्ष्मीकांत प्यारेलाल, जिन्होंने कुछ “पारसमणि” फिल्म के अविस्मरणीय संगीत के साथ धमाकेदार शुरुआत की. इस फिल्म से उनकी चार रचनाओं को बिनाका गीतमाला साप्ताहिक और दो गाने फाइनल में शामिल किया गया जो पायदान नंबर १५ और  पायदान नम्बर ६ पर बजे. बहोत ही बढियाँ शरुआत,लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल के लिए.. 

नंबर 15   वो जब याद आया लता – रफ़ी.. “पारसमणि”

नंबर 06  हसता  हुआ नूरानी चेहरा, लता – कमल बारोट “पारसमणि”

1964

बिनाका गीतमाला में  वर्ष के अंत में 32 “फाइनल गीत” हैं। लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल के  “हरिश्चंद्र तारामती” के कुछ बेहतरीन  गीत हैं. “दोस्ती” से लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल – मोहम्मद रफ़ी (३७९ गाने ) और  “मिस्टर एक्स इन बॉम्बे” से लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल – किशोर कुमार (४०२ गाने ) का लम्बा दौर चला.  “मिस्टर एक्स इन बॉम्बे” से लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल और आनंद बक्शी की रिकॉर्ड ब्रेकिंग पार्टनरशिप शुरू (३०२ फिल्म्स और १६८० गाने )

नंबर 30  मैं एक नन्हा सा .. लता .. “हरिश्चंद्र तारामती”

नंबर 26  राही मनावा .. रफ़ी ..”दोस्ती”

नंबर 21  चाहुंगा मैं तुझे..रफ़ी..”दोस्ती”

नंबर 06  मेरे महबूब क़यामत ..किशोर .. “मिस्टर एक्स इन बॉम्बे”

1965

बिनाका गीतमाला 1965 भले ही बॉलीवुड संगीत निर्देशकों के बीच धीरे-धीरे लेकिन लगातार बदलाव देख रहा हो, क्योंकि इस बार शीर्ष स्लॉट सहित अधिकांश स्लॉट पर कल्याणजी आनंदजी, लक्ष्मीकांत प्यारेलाल,       आर डी बर्मन जैसे नवागंतुकों का कब्जा था।

जैसा कि पहले के वर्षों में हुआ था, इस वर्ष भी भारत में एक फिल्मी गीत को पंथ का दर्जा ( cult status) प्राप्त हुआ। यह गीत था- संत ज्ञानेश्वर का “ज्योत से ज्योत जगाते ते चलो”।

नंबर 29  खुदा मुहब्बत ना होती..रफ़ी…”बॉक्सर”

नंबर 25  कोई जब रहा ना पाये..रफी..दोस्ती’

नंबर 24  नींद निगाहो की .. लता .. “लुटेरा”

नंबर 18  अजनबी तुम जाने…किशोर..हम सब उस्ताद है”

नंबर 04  ज्योत से ज्योत जगाते चलो … लता-मुकेश “संत ज्ञानेश्वर”

नंबर 02  चाहुंगा मैं तुझे … रफ़ी “दोस्ती”

1966

नंबर 26  दिन जवानी की चार यार ..किशोर .. “प्यार किए जा”

नंबर 24  गोर हाथों पर ना जुल्म..रफ़ी.”प्यार किए जा”

नंबर 20   पायल की झंकार रस्ते .. लता .. “मेरे लाल”

नंबर 14   ये आज कल के लडके..उषा “दिल्लगी”

1967

लक्ष्मीकांत प्यारेलाल के संगीत निर्देशन में मिलन के गीतों ने 1967 में पूरे देश में धूम मचा दी और बिनाका गीतमाला कोई अपवाद नहीं था। एक और नवागंतुक, आर डी बर्मन, जिनका संगीत निर्देशक के रूप में करियर 1961 के बाद रुका हुआ था, ने अचानक अपने करियर को बड़े पैमाने पर आगे बढ़ते हुए पाया- “तीसरी मंजिल” में उनके संगीत के लिए धन्यवाद।

नंबर  33 ये कली जब त क..लता – महेंद्र “आए दिन बहार के”

नंबर  24 माँ मुझे अपने आँचल .. लता .. “छोटा भाई”

नंबर  23 मैं देखु  जिस और..लता..”अनीता”

नंबर  21 मेरा यार बड़ा शर्मिला .. रफी .. “मिलन की रात”

नंबर  17 मुबारक हो सबको..मुकेश..’मिलन’

नंबर 13 मेरे दुश्मन तू .. रफ़ी ..” आए दिन बहार के “

नंबर  07 ना बाबा ना बाबा..लता..अनीता”

नंबर  06 हम तुम युग युग .. लता-मुकेश .. “मिलन”

नंबर  01 सावन का महीना  ..लता-मुकेश .. “मिलन”

1968

नंबर  32 मस्त बहारों का मैं..रफ़ी..”फ़र्ज”

नंबर  24 छलकाए  जाम..रफ़ी..”मेरे हमदम मेरे दोस्त’

नंबर  22 बड़े मियां दीवाने..’शागिर्द’

नंबर  20 महबूब मेरे..लता-मुकेश..”पत्थर के सनम”

नंबर  16 मेरा नाम है चमेली .. लता .. “राजा और रैंक”

नंबर  14 चलो सजना .. लता .. “मेरे हमदम मेरे दोस्त”

नंबर  11 बड़दु क्या लाना..लता…”पत्थर के सनम”

नंबर  01 दिल बिल प्यार व्यार .. लता .. “शागिर्द”

1969

नंबर  31 वो कौन है .. लता-मुकेश … “अंजना”

नंबर  25 महबूबा महबूबा .. रफ़ी .. “साधु और शैतान”

नंबर  23 रेशम की डोरी..लता-रफ़ी..”साजन”

नंबर  22 रुक जा जरा … लता .. “इज्जत”

नंबर 19 आया सावन झूम के..लता-रफी..”आया सावन झूम के’

नंबर 18 बड़ी मस्तानी है..रफ़ी..”जीने की राह”

नंबर 16 दिल में क्या है..लता-रफ़ी. “जिगरी दोस्त”

नंबर 12 एक तेरा साथ.लता-रफ़ी.. “वापस”

नंबर 09 जे हम तुम चोरी से..लता-मुकेश.. “धरती कहे पुकार के”

नंबर 06 आ मेरे हमजोली आ..लता-रफी..’ जीने की राह’

नंबर 01 कैसे रहूँ चुप , .. लता .. “इन्तेकाम

1970

लगातार चौथे वर्ष, लक्ष्मीकांत प्यारेलाल की रचना वर्ष के शीर्ष गीत के रूप में उभरी।

नंबर  28 हाय रे हाय निंद नहीं .. लता-रफी .. “हमजोली”

नंबर  18 झिल मिल सितारोंका .. लता-रफी .. “जीवन मृत्यु”

नंबर  16 है शुक्र के तू है लडका..रफ़ी..’हिम्मत’

नंबर  14 वो कौन है। लता-मुकेश .. “अंजना”

नंबर  12 छुप गए सारे..लता-रफ़ी..’दो रास्ते’

नंबर  11 शादी के लिए..रफ़ी..’देवी’

नंबर  09 शराफत छोड दी..लता, “शराफत”

नंबर  08 सा रे गा मा पा..लता-किशोर .. “अभिनेत्री”

नंबर  05 खिलोना जान कर..रफ़ी..खिलोना”

नंबर  01 बिंदिया चमकेगी..लता…”दो रास्ते

1971

नंबर  32 सोना लाई जा रे .. लता .. “मेरा गांव मेरा देश”

नंबर  31 जवानी ओ दीवानी तू ..किशोर .. “आन मिलो सजना”

नंबर  26 तारों ने सज के..मुकेश..जल बिन मछली नृत्य बिन बिजली”

नंबर  22 ओ मितवा ओ मितवा … लता .. “जल बिन मछलील नृत्य बिन बिजली”

नंबर  14 तुमको भी तो ..लता-किशोर .. “आप आए बहार आई”

नंबर  06 चल चल चल मेरे साथी..किशोर..’हाथी मेरे साथी’

नंबर  02 अच्छा तो हम चलते हैं..लता-किशोर .. “आन मिलो सजना”

1972

नंबर  33  मैंने देखा तूने देखा..लता.”दुश्मन’

नंबर  34 ना तू ज़मीन के लिए..रफ़ी..”दास्तान”

नंबर  29 एक प्यार का नगमा है, लता-मुकेश “शोर”

नंबर  28 रेशमा जवान हो गई..रफ़ी..’मॉम की गुड़िया’

नंबर  24 राम ओ राम ..मुकेश .. “एक बेचारा”

नंबर  23 दिल की बात दिल ही जाने..किशोर-लता..’रूप तेरा मस्ताना’

नंबर  20 शीश भारी गुलाब की … लता .. “जीत”

नंबर  16 मैं एक राजा हूं..रफी..उपहार’

नंबर  08 ये जीवन है..किशोर .. “पिया का घर”

नंबर  04 वादा तेरा वादा..किशोर..दुश्मन”

1973

नंबर  34 जरा सा उसे छुआ तो..लता..”शोर”

नंबर  32 झूठ बोले कौवा कटे..लता-शैलेंद्र सिंह..’बॉबी’

नंबर  29 आज मौसम बड़ा..रफ़ी..’लोफ़र’

नंबर  20 मेरे दिल में आज क्या है..किशोर..’दाग’

नंबर 16 धीरे धीरे बोल कोई .. लता-मुकेश .. “गोरा और काला”

नंबर 12 एबीसीडी छोडो .. लता .. “राजा जानी”

नंबर  07 अब चाहे मा रूठे .. लता-किशोर .. “दाग”

नंबर  02 और चाबी खो जाए .. लता-शैलेंद्र सिंह, “बॉबी”

1974

नंबर  32 बैठ जा बैठ गई..किशोर-लता..”अमीर गरीब”

नंबर  26 दाल रोटी खाओ ..किशोर-लता .. “ज्वार भाटा”

नंबर  25 गम का फसाना..किशोर..’मनचली”

नंबर  24 ओ मनचली कहां चली…किशोर..”मनचली”

नंबर  23 तू रु तू रु तेरा मेरा..किशोर..”ज्वर भाटा’

नंबर  22 शोर मच गया शोर..किशोर.. “बदला”

नंबर  12 मैं शायर तो नहीं..शैलेंद्र सिंह..”बॉबी”

नंबर  04 गड़ी बुला रही है..किशोर…”दोस्त”

नंबर  03 झूठ बोले कौवा कटे .. लता-शैलेंद्र सिंह। “बॉबी”

1975

नंबर  26 मैं जाट यमला पगला..रफ़ी..”प्रतिज्ञा”

नंबर  23 फौजी गया जब गांव मैं..किशोर..”आक्रमण’

नंबर  21 आएगी जरूर चिट्ठी..लता…”दुल्हन”

नंबर  20 जीजाजी जीजाजी..आशा-किशोर..”पोंगा पंडित”

नंबर 15 ये जो पब्लिक है..किशोर…”रोटी”

नंबर 13 कभी खोले ना ..किशोर ..”बिदाई”

नंबर 10 चल दरिया मैं डुब जाए..किशोर-लता.. “प्रेम कहानी”

नंबर 02 हाय ये मजबूरी .. लता .. “रोटी कपड़ा और मकान”

नंबर  01 महंगाई  मार गई .. लता-मुकेश-चंचल-जानीबाबू .. “रोटी कपड़ा और मकान”

1976

1963 के बाद पहली बार लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल के गाने पहली १० में नहीं आ रहे हैं..

नंबर  33 की गल है कोई नहीं .. लता-किशोर .. “जेन मैन”

नंबर  28 जीजाजी जीजाजी मेरी ने किया ..किशोर-आशा ..”पोंगा पंडित”

नंबर  26 कल की हसीन मुलकात .. लता-किशोर .. “चरस”

नंबर  25 आजा तेरी याद आई..लता-आनंद बक्सी-रफी..’चरस’

नंबर  24 मुझे दर्द रहता है..लता-मुकेश..दस नंबरी’

नंबर  22 जेन मैन जेन मैन..किशोर ..”जेन मैन”

नंबर 10 कहत कबीर सुनो..मुकेश..दस नंबरी’

1977

लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल ने पीक पीरियड के अपने दूसरे चरण में वापसी की।

नंबर  41 तैयब अली प्यार का दुश्मन..रफ़ी-मुकरी..’अमर अकबर एंथनी’

नंबर  34 आते जाते खूबसूरत..किशोर..अनुरोध’

नंबर  29 मेरी दिलरुबा ..किशोर ..”आस पास”

नंबर  24 ड्रीम गर्ल ड्रीम गर्ल किशोर ..’ड्रीम गर्ल’

नंबर  21 बुरे काम का बुरा..रफ़ी-शैलेंद्र सिंह, “चाचा भतीजा”

नंबर 18 यार दिलदार तुझे कैसा..आशा-किशोर..’छैला बाबू”

नंबर 17 तेरी मेरी शादी पंडित ना..आशा-किशोर..”दिलदार”

नंबर 11 अनहोनी को होनी  कर दे..महेंद्र-किशोर-शैलेंद्र.. “अमर अकबर एंथनी”

नंबर 06 सत्यम शिवम सुंदरम .. लता .. “सत्यं शिवम सुंदरम”

नंबर 05 आप के अनुरोध पे … किशोर ..”अनुरोध”

नंबर 03 ओ मेरी महबूबा .. रफ़ी .. “धर्मवीर”

नंबर 02 पर्दा है परदा .. रफी .. “अमर अकबर एंथनी”

1978

नंबर  33 अजी ठहरो जरा सोचो..किशोर, रफी, शैलेंद्र सिंह “परवरिश”

नंबर  28 सोमवार को हम मिले … किशोर, सुलक्षणा पंडित .. “अपनापन”

नंबर  26 हम प्रेमी प्रेम कराना  जाने..किशोर, रफी, शैलेंद्र सिंह “परवरिश”

नंबर  25 ये खिडकी जो बंद रहती है… रफ़ी..”मैं तुलसी तेरे आंगन की”

नंबर  24 चंचल शीतल निर्मल कोमल .. मुकेश .. “सत्यम शिवम सुंदरम”

नंबर  23 मैं तुलसी तेरे आंगन की .. लता .. “मैं तुलसी तेरे आंगन की”

नंबर  19 जब आती होगी याद मेरी..रफ़ी-सुलक्षणा पंडित..’फंसी’

नंबर  07 यशोमती मैय्या से .. लता, मननाडे .. “सत्यं शिवम सुंदरम”

नंबर 02 आदमी मुसाफिर है .. लता-रफी .. “अपनापन”

1979

नंबर  36 मन्नूभाई मोटर चली ..किशोर .. “फूल खिले है गुलशन गुलशन”

नंबर  32 डफ़लीवाले डफ़ली बजा ..लता-रफ़ी, “सरगम”

नंबर  26 चलो रे डोली उठाओ .. रफ़ी .. “जानी दुश्मन”

नंबर  20 मेरी दुश्मन है ये … रफी .. “मैं तुलसी तेरे आंगन की”

नंबर 16 मैं तेरे प्यार मैं पागल..किशोर, लता.. “प्रेम बंधन”

नंबर 15 ओ मेरी जान ..किशोर, अनुराधा .. “जानी दुश्मन”

नंबर 10 तेरे हाथो मैं पहचान के..आशा-रफ़ी..”जानी दुश्मन”

नंबर 06 मैं तुलसी तेरे आंगन की .. लट्टा .. “मैं तुलसी तेरे आंगन की”

नंबर 04 ना जाने कैसे..किशोर, रफ़ी, सुमन.. “बदलते रिश्ते”

1980

लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल के ऊपर के तीन गाने शीर्ष स्थान पर. 

नंबर  32 बने चाहे  दुश्मन..किशोर-रफ़ी..’दोस्ताना’

नंबर  30 मार गई मुजे…किशोर-आशा..”जुदाई”

नंबर  23  परबत के हम पर..लता-रफ़ी..”सरगम”

नंबर  22 हम तो चले परदेस..रफ़ी..’सरगम’

नंबर  16 मैं तो बेघर हौं..आशा..”सुहाग”

नंबर 15 मैं सोला बार्स की ..लता-किशोर .. “कर्ज़”

नंबर 11 तेरी रब ने बना दी..रफ़ी, आशा, शैलेंद्र..’सुहाग’

नंबर 09 ऐ यार सुन यारी तेरी..रफ़ी-शैलेंद्र सिंग-आशा..’सुहाग’

नंबर 07 कोयल बोली..लता-रफ़ी..”सरगम”

नंबर 03 शीशा हो या दिल..लता। “आशा”

नंबर 02 ओम शांति ओम..किशोर .. “कर्ज़”

नंबर 01 डफलीवाले डफली बजा .. लता-रफी .. “सरगम”

1981

नंबर  32 हम बने तुम बने..लता-एसपीबी..’एक दूजे के लिए’

नंबर  30 मेरे नसीब मैं .. लता “नसीब”

नंबर  27 मेरे दोस्त किस्सा..रफ़ी..’दोस्ताना’

नंबर  26 लुई शमशा उई .. लता-नितिन मुकेश .. “क्रांति”

नंबर 16 चल चमेली .. लता-सुरेश वाडकर .. “क्रोधी”

नंबर 12 एक रास्ता दो रही..रफ़ी-किशोर..’राम बलराम’

नंबर 10 जॉन जॉनी जनार्दन..रफी, “नसीब”

नंबर  08 मेरे जीवन साथी ..एसपीबी-अनुर्धा .. “एक दूजे के लिए”

नंबर  07 मार्च गई मुजे..किशोर-आशा..’जुदाई’

नंबर  06 चना ज़ोर गरम..किशोर, रफ़ी, किशोर, एन मुकेश .. “क्रांति”

नंबर  05 तेरे मेरे बीच मैं..लता/एसपीबी..’एक दूजे के लिए’

नंबर  03 चल चल मेरे भाई .. रफ़ी, अमिताभ .. “नसीब”

नंबर  02 जिंदगी की ना टूटी लादी..लता-एन मुकेश..’क्रांति’

1982

नंबर  31 मेघा रे मेघा रे..लता-सुरेश वाडकर..”प्यासा सावन”

नंबर  29 मेरी किस्मत में तू नहीं शायद .. लता-सुरेश वाडकर “प्रेम रोग”

नंबर  28 मेरे दिलदार का बकपन..रफ़ी-किशोर..”दीदार-ए-यार’

नंबर  25 सारा दिन सत्ते हो..किशोर-आशा..’रास्ते प्यार के’

नंबर  21 मेरे महबूब तुझे सलाम..रफ़ी-आशा। ”बगावत”

नंबर  20 अपने अपने मियां पे..आशा..”अपना बना लो’

नंबर  18 खातून की खिदमत मैं…किशोर…”देश प्रेमी”

नंबर  13 छोड मजा हाट ..किशोर-आशा .. “फिफ्टी फिफ्टी”

नंबर  12 मैं तुम मैं समां…एसपीबी-आशा..”रास्ते प्यार के”

नंबर  10 मोहब्बत है क्या चीज़..लता-सुरेश..”प्रेम रोग”

नंबर  09 प्यार का वादा फिफ्टी फिफ्टी ..आशा-किशोर ..”फिफ्टी फिफ्टी”

नबर  07 है राजू है डैडी..राजेश्वरी-एसपीबी .. “एक ही भूल”

नंबर 05 मैं हूं प्रेम रोगी .. सुरेश वाडकर .. “प्रेम रोग”

1983

1963 के बाद से दूसरी बार, यह पाया गया कि पहले TEN में LP गाने गायब हैं।

नंबर 29 ये अंधा कानून है ..किशोर कुमार .. “अंधा कंतों”

नंबर 25 ज़िंदगी मौज उड़ने का नाम ..महेंद्र कपूर “अवतार”

नंबर 19 लिखानेवाले ने लिख डाले .. लता-सुरेश वाडकर .. “अर्पण”

नंबर 12 मेरी किस्मत मैं तू नहीं शायद। लता-सुरेश वाडकर “प्रेम रोग”

1984

नंबर 26 लंबी जुदाई .. रेशमा … “हीरो”

नंबर 21 बिच्छू बालक गया ..किशोर-आशा “इंकलाब”

नंबर 17 मुझे पीने का शंख नहीं .. शब्बीर-अनुराधा “कुली”

नंबर 11 डिंग डोंग ओ बेबी एक गाना गाओ .. मनहर उधास-अनुराधा पंडवाल .. “हीरो”

नंबर 10 प्यार करनेवाले कभी ..मनहर उधास- लता “हीरो”

नंबर  08 ऊई मार्गई डॉ बाबू..अलका दग्निक – शैलेंद्र सिंह “घर एक मंदिर”

नंबर  05 दोनो जवानी के मस्ती मैं .. शब्बीर – आशा .. “कुली”

नंबर 01 तू मेरा जानू है। अनुराधा-मन्हार … “हीरो”

1985

नंबर  32 मन क्यों बेहका .. लता-आशा .. “उत्सव”

नंबर  26 दिल बेकरार था दिल बेकरार है..अनुराधा-शब्बीर..’तेरी मेहरबानियां’

नंबर  18 तेरी मेहरबानियां..शब्बीर कुमार..’तेरी मेहरबानियां’

नंबर  15 जिंदगी हर कदम .. लता-शब्बीर ..”मेरी जंग”

नंबर  14 ज़िहाल-ए-मुश्किल .. लता-शब्बीर … “गुलाम”

नंबर  10 श्री देवी तू नहीं .किशोर कुमार… “सीराफोरश”

नंबर  09 तुम याद न आया करो..शब्बीर-लता..’ जीने नहीं दूंगा’

नंबर  05 चाह लाख तूफान आए..लता-शब्बीर..प्यार झुकता नहीं’

नंबर  02 तुमसे मिल के ना जाने क्यों .. शब्बीर-कविता “प्यार झुकता नहीं”

1986

एक बार फिर टॉप थ्री गाने लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल के हैं

नंबर  38 ओ मिस दे दे किस ..सुरेश वाडेकर-शैलेंद्र सिघ … “लव 86”

नंबर  35 तू कल चला जाएगा…मोहम्मद अजीज-मन्हर..”नाम”

नंबर  34 बोल बेबी बोल रॉक-एन-रोल ..किशोर-एस जानकी .. “मेरी जंग”

नंबर  29 भला है बुरा है… अनुराधा..”नसीब अपना अपना”

नंबर  27 एक लड़की जिस्का नाम..मोहम्मद अजीज-कविता…”आग और शोला”

नंबर  26 अमीरों के शाम ..मोहम्मद अजीज…’नाम’..

नंबर  23 मायका पिया बुलावे .. सुरेश वाडकर-लता .. “सुर संगम”

नंबर  17 मन क्यों बेहका .. लता-आशा ..”उत्सव”

नंबर  15 प्यार किया है .. शब्बीर-कविता “प्यार किता है प्यार करें”

नंबर  12 चिचि आई है.. पंकज उहदेस “नाम”

नंबर  11 बहरों की रंगिनीयों ..शब्बीर .. “नसीब अपना अपाना”

नंबर  07 गोरी का साजन..एस जानकी-मोहम्मद अजीज..आखिरी रास्ता”

नंबर  05 जिंदगी हर कदम..लता-शब्बीर..’मेरी जंग’

नंबर  03 हर करम अपना करेंगे .. कविता-मोहम्मद अजीज .. “कर्म”

नंबर  02 दुनिया मैं कितना घुम है..मोहम्मद अजीज..’अमृत’

नंबर  01 यशोदा का नंदलाला … लता मंगेशकर … “संजोग”

1987

नंबर  26 ना तुमने किया ना मैंने किया … लता … “नचे मयूरी”

नंबर  24 राम राम बोल..शब्बीर-अलका-कविता..”हुकुमत”

नंबर  19 नाम सारे..मोहम्मद अजीज-लता… ”सिंदूर”

नंबर  14 हवा हवाई .. कविता .. “मिस्टर इंडिया”

नंबर  13 डी डी डीड फुटबॉल..कविता..मिस्टर इंडिया”

नंबर  11 कराटे है हम प्यार..किशोर-कविता..’मिस्टर इंडिया’

नंबर  08 अमीरों की शाम..मोहम्मद अजीज..’नाम’

नंबर  05 तूने बैचैन इतना किया..मोहम्मद अजीज..”नगीना”

नंबर  04 मैं तेरी दुशमन… लता….”नगीना”

नंबर  03 न जयो परदेश..कविता.”कर्मा”

नंबर  01 चिट्ठी  आई है .. पंकज उधास .. “नाम”

1988

नंबर  27 लोग जहां पर रहते हैं..सुरेश-मोहम्मद अजीज-कविता..प्यार का मंदिर’

नंबर  25 फूल गुलाब का … अनुराधा-मोहम्मद अजीज .. “कीवी हो तो ऐसी”

नंबर  22 मैंने ही एक गीत लिखा है… शब्बीर कुमार..”हमारा खांडन”

नंबर  17 पतज़ड़ सावन बसंत बहार..सुरेश वाडकर-लता, “सिंदूर”

नंबर  13 कह दो की तुम मेरी हो .. अनुराधा-अमित कुमार .. “तेज़ाब”

नंबर  12 जब प्यार किया..मोहम्मद अजीज-अनुराधा..’वतन के रखवाले’

नंबर  11 आज फिर तुम से प्यार आया है..अनुराधा-पंकज उहदेस “दयावान”

नंबर  09 एक दो तीन चार..अलका याज्ञनिक/अमित कुमार…”तेज़ाब”

नंबर  07 ऊँगली  मैं अंगुठी .. मोहम्मद अजीज-लता, “राम अवतार”

नंबर  02 तुझे इतना प्यार करेन..लता-शब्बीर,। ” ”कुदरत का कानून”

1989

नंबर 19 चाहे तू मेरी जान ले ले..जॉली मुखर्जी..”दयावान”

नंबर 18 दिल तेरा किसने तोड़ा..मोहम्मद अजीज..”दयावान”

नंबर 10 मुझसे तुमसे है बिल्ली का बच्चा … मनहर उधास-अनुराधा “राम लखन”

नंबर 08 सो गया ये जहान..नितिन मुकेश, अलका, शब्बीर “तेज़ाब”

नंबर 07 तेरे लखन ने बड़ा दुख..लता मंगेशकर..’राम लखन’

नंबर 06 कहदो के तुम हो .. अनुराधा-अमित कुमार .. “तेज़ाब”

नंबर 04 हम तुम्हारे इतन प्यार करेंगे .. अनुराधा-मोहम्मद अजीज … “बीस साल बाद”

नंबर 01 एक दो का चार..मोहम्मद अजीज.. “राम लखन”

1990

नंबर  25 तेरा बीमार  मेरा दिल..मोहम्मद अजीज-कविता।” चालबाज़ “

नंबर  21 कहना ना तुम ये किस से..सलमा आगा-मोहम्मद अजीज..”पति पत्नी और तवायफ”

नंबर 19 ना जाने कहां से आई है..अमित-कविता- “चलबाज़”

नंबर  05 जुम्मा चुम्मा दे दे… सुदेश भोंसले..”हम”

1991

नंबर 19 इमली का बूटा .. सुदेश भोंसले-मोहम्मद अजीज ..”सौदागर”

नंबर 15 कागज़ कलाम दावत .. मोहम्मद अजीज-शोआ जोशी .. “हम”

नंबर 11 जां तुम चाहो जहां ..अमित कुमार-अलका याज्ञनिक “नरसिंह”

नंबर 09 इलु इलु क्या है..मनहर-कविता.. “सौदागर”

नंबर 05 सौदागर सौदा कर..कविता-मन्हार-सुखविंदर सिंह। “सौदागर”

1992

नंबर  22 तू रूप की रानी ..अमित कुमार-कविता .. “कमरे की रानी चोरों का राजा”

नंबर  13 पी पी पिया .. अलका-उदित नारायण .. “प्रेम दीवाने”

नंबर  03 तू मेज़ कुबुल मैं तुझे कुबुल ..मोहम्मद अजीज-कविथा.. “खुदा गवाह”

1993

नंबर  23 मैं तेरा आशिक हूं .. रूप कुमार राठौड़  “गुमराह”

नंबर 16 नायक नहीं कहलनायक हूं मैं…विनोद राठौड़-कविता..”खलनायक”

नंबर  01 चोली के पिछे  क्या है … अलका याग्निक -इला अरुण “खलनायक”

1993 से 1998 के बाद कई गाने आए लेकिन फिर बिनाका गीतमाला बंद हो गई।

बिनाका गीतमाला के इतिहास में लक्ष्मीकांत प्यारेलाल सबसे सफल संगीत निर्देशक हैं

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s