गांवों का भ्रमण कर DM ने जाना जनता का हाल


जिलाधिकारी उमेश मिश्रा द्वारा दूरस्थ ग्रामों का भ्रमण कर ग्रामवासियों की सुनी गईं समस्याएं, विभागीय अधिकारियों को उक्त ग्रामों में शासकीय योजनाओं से संतृप्त करने के लिए कैम्पों का आयोजन कर उन्हें लाभान्वित करने तथा उनकी समस्याओं का प्राथमिकता के आधार निस्तारण करने के दिए निर्देश

बिजनौर। जिलाधिकारी उमेश मिश्रा ने ग्राम तेलीपाड़ा, मोटाढाक, रामपुर चाठा सहित विभिन्न ग्रामों का निरीक्षण करते हुए स्थानीय लोगों की समस्याओं को सुना और प्राथामिकता के आधार पर उनके निराकरण के लिए संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी केपी सिंह, उप जिलाधिकारी के अलावा अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।


निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी श्री मिश्रा सर्वप्रथम ग्राम तेलीपुरा पहुंचे और वहां पर ग्रामवासियों की समस्याओं को सुना। इस अवसर पर ग्रामवासियों द्वारा बताया गया कि गांव में विद्युत रोस्टर का पता न होने के कारण मालूम नहीं होता कि बिजली के आने-जाने का समय किया है, उक्त संबंध में शेड्यूल से अवगत कराने और हाई टेनशन विद्युत लाईन को हटाने के लिए अनुरोध किया गया, जिस पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देश दिए कि ग्राम के मुख्य स्थान पर विद्युत रोस्टर को प्रदर्शित कराएं और गांव के ऊपर से गुजरने वाली हाईटेंशन विद्युत लाईन को हटाना सुनिश्चित करें। ग्रामवासियों ने इस अवसर पर जिलाधिकारी से आवारा पशुओं की समस्या का निदान कराने, लिंक रोड बनवाने तथा गांव में स्वच्छ पेयजल की उपलब्धता के लिए पाईप पेयजल योजना के अंतर्गत पानी की टंकी बनवाने की मांग भी की। इस पर उन्होंने आवारा पशुओं को पशु आश्रय स्थल में पहुंचाने के लिए उपजिलाधिकारी तथा अधिशासी अभियंता जल निगम को गांव में स्वच्छ पेयजल की उपलब्धता के लिए पाईप लाइन योजना से आच्छादित करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर ग्रामवासियों द्वारा शमशान घाट विकसित करने की भी मांग की गई।


तदुपरांत ग्राम मथुरापुर मोर पहुंचे जिलाधिकारी श्री मिश्रा को ग्रामवासियों द्वारा बताया गया कि गांव के ऊपर 11 हजार पावर की विद्युत लाईन गुजरने से हर समय किसी भी दुर्घटना होने की आशंका बनी रहती है, यदि केबिल लाईन का प्रयोग किया जाए तो इस समस्या का स्थायी समाधान सम्भव हो सकता है। इस पर उन्होंने अधिशासी अभियंता को उक्त सम्बन्ध में तत्काल आवश्यक करते हुए समस्या के समाधान करने के निर्देश दिए।

ग्राम चंदनपुरा के भ्रमण के दौरान ग्रामवासियों ने गांव में आंगनबाड़ी केन्द्र की स्थापना तथा डेढ़ किमी लंबाई के संपर्क निर्माण की मांग की। इस पर अधिशासी अभियंता लोनिवि द्वारा बताया कि उक्त सड़के निर्माण के लिए प्रस्ताव भेज दिया गया है और अनुमति प्राप्त होते ही कार्य शुरू करा दिया जाएगा। युवाओं के लिए खेल के मेदान की मांग करने पर उन्होंने उप जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि ग्राम समाज की भूमि का चिन्हिकरण कर ग्राम के युवा/युवतियों के लिए खेल के मेदान का निर्माण कराएं।


ग्राम मोटाढाक के निरीक्षण के दौरान ग्रामवासियों द्वारा ग्राम को बाढ़ से सुरक्षित रखने के लिए तटबंध बनाने तथा ट्यूबवेल लगवाने की मांग की गई, जिस पर जिलाधिकारी द्वारा सिंचाई विभाग के अधिकारियों को उक्त सम्बन्ध में तटबांध बनाने के लिए मौके का स्थलीय निरीक्षण करने तथा सिंचाई के लिए एक ट्यूबवेल लगाने के निर्देश दिए गए।

ग्राम रामपुर चाठा में गंगा द्वारा कटान रोकने के लिए अधिशासी अभियंता अफ़ज़लगढ़ सिंचाई खण्ड को निर्देश दिए कि उक्त समस्या के स्थायी निराकरण के लिए परियोजना बना कर शासन को प्रेषित करें और तत्काल अस्थाई रूप से कटान को रोकने के लिए आवश्यक कार्यवाही अमल में लाएं। सड़क निर्माण की मांग पर उन्होंने अधिशासी अभियंता लोनिवि को निर्देश दिए कि संबंधित सड़क के निर्माण के लिए प्रस्ताव पास कराने तथा सोलर पैनल द्वारा विद्युत सुविधा के अलावा विद्युत की लाइन से ग्राम को आच्छादित करने की मांग पर उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारी को उक्त संबंध में तत्काल आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए।


जिलाधिकारी उमेश मिश्रा ने विद्युत, सड़क, सिंचाई तथा अन्य जन कल्याणकारी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि उक्त ग्रामों सहित अन्य दूरस्थ ग्रामों में ग्रामवासियों को शासकीय योजनाओं से संतृप्त करने के लिए कैम्पों का आयोजन कराएं और उन्हें लाभान्वित करना सुनिश्चित करें।

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s