सरकार ने बदले नियम; अब घर बैठे मिलेगा नया sim

अब इन ग्राहकों को नहीं मिलेगा नया Sim, नियमों में सरकार ने किया बदलाव। अब करना होगा ऑनलाइन अप्लाई, घर पहुंचेगा सिम।

18 साल से अधिक उम्र के लोगों को नया सिम कार्ड लेने के लिए आधार देना होगा या डिजिलॉकर में सेव किसी दस्तावेज से खुद को वेरिफाई करना होगा। ये सभी काम ऑनलाइन भी किए जा सकते हैं और इसके लिए केवाईसी भी ऑनलाइन की जाएगी। ऑनलाइन सिम कार्ड की बुकिंग कर सकते हैं, जिसकी डिलीवरी घर के पते पर की जाएगी।

नई दिल्ली (एजेंसी)। सरकार ने सिम कार्ड को लेकर नियमों को बदल दिया है। नए नियम के तहत अब कुछ कस्टमर्स के लिए नया सिम लेना आसान हो गया है, लेकिन कुछ कस्टमर्स के लिए नया सिम लेना मुश्किल हो गया है।

Extend Sim Card re-registration to the end of the year and stop the  pressure -NIA to government - myactiveonline

करना होगा ऑनलाइन अप्लाई- नए नियम के तहत कस्टमर्स अब नए सिम के लिए ऑनलाइन अप्लाई करेंगे और सिम कार्ड उनके घर तक पहुंचाया जाएगा। ग्राहकों को मोबाइल कनेक्शन एक ऐप/पोर्टल बेस्ड प्रोसेस के जरिए दिया जाएगा, जिसमें ग्राहक घर बैठे मोबाइल कनेक्शन के लिए आवेदन कर सकते हैं। दरअसल, पहले मोबाइल कनेक्शन के लिए या प्रीपेड से पोस्टपेड कराने के लिए ग्राहकों को KYC प्रोसेस से गुजरना पड़ता था।

बस एक रुपए का भुगतान- सरकार ने सिम के लिए नियमों में बदलाव कर दिया है। अब नए नियम के तहत 18 साल से कम उम्र के कस्टमर्स को कंपनी नया सिम नहीं बेच सकती है। वहीं, 18 साल के ऊपर के उम्र के कस्टमर अपने नए सिम के लिए आधार या डिजीलॉकर में स्टोर्ड किसी भी डॉक्यूमेंट से खुद को वेरिफाई कर सकते हैं। विदित हो कि DoT का यह कदम 15 सितंबर 2021 को कैबिनेट द्वारा अप्रूव्ड टेलीकॉम रिफॉर्म्स का हिस्सा है। अब यूजर्स को नए मोबाइल कनेक्शन के लिए UIDAI की Aadhaar बेस्ड e-KYC सर्विस के माध्यम से सर्टिफिकेशन के लिए बस एक रुपए का भुगतान करना होगा।

इनको नहीं मिलेगी नई सिम– टेलीकॉम डिपार्टमेंट के नए नियमों के मुताबिक अब कंपनी 18 साल से कम उम्र के यूजर्स को सिम कार्ड नहीं मिलता। इसके अलावा अगर कोई शख्स मानसिक रूप से बीमार है तो ऐसे व्यक्ति को भी नया सिम कार्ड जारी नहीं किया जाएगा। अगर ऐसे शख्स नियमों का उल्लंघन करते पकड़ा गया तो उस टेलीकॉम कंपनी को दोषी माना जाएगा, जिसने सिम बेचा है। वैसे उन लोगों के लिए सिम खरीदना आसान होगा जिनका यूआईडीएआई से वेरिफिकेशन हो जाए। अगर वेरिफिकेशन नहीं हो तो सिम कार्ड लेना मुश्किल होगा। अब सबकुछ यूआईडीएआई से वेरिफिकेशन पर निर्भर करेगा। मोबाइल और सिम कार्ड के जरिये होने वाले फ्रॉड पर शिकंजा कसने के लिए यह नया नियम लाया गया है। सिम कार्ड से जुड़े ये नए नियम टेलीकॉम विभाग ने जारी किए हैं जिन्हें कैबिनेट की मंजूरी मिली है।

5 स्‍टेप्‍स में पूरी होगी सेल्‍फ केवाईसी की प्रक्रिया-


1. सिम प्रोवाइडर का ऐप डाउनलोड करें. फिर अपने फोन से रजिस्टर करें।

2. अपना दूसरा या अपने परिवार के किसी व्‍यक्ति का नंबर दें।

3. इसके बाद मिले वन टाइम पासवर्ड (OTP) की मदद से लॉगिन करें।

4. इसमें सेल्फ केवाईसी का ऑप्शन चुनें।

5. जानकारी भरकर प्रक्रिया पूरा करें।

इस नियम के तहत लागू किया गया है नियम
इस कॉन्ट्रैक्ट को इंडियन कॉन्ट्रैक्ट लॉ 1872 के तहत लागू किया गया है। इस कानून के तहत कोई भी कॉन्ट्रैक्ट 18 से ज्यादा उम्र के लोगों के बीच होना चाहिए। भारत में एक व्यक्ति अधिकतम अपने नाम से 12 सिम खरीद सकता है। इसमें से 9 सिम का इस्तेमाल मोबाइल कॉलिंग के लिए किया जा सकता है, जबकि अन्य सिम का इस्तेमाल मशीन-टू-मशीन कम्यूनिकेशन के लिए उपयोग किया जा सकेगा।

5 thoughts on “सरकार ने बदले नियम; अब घर बैठे मिलेगा नया sim

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s