हाथ में लगा हो सैनिटाइजर, तो आरती की थाली से बना कर रखें दूरी

चिकित्सकों का कहना हाथ में लगा हो सैनिटाइजर, तो दूरी बना कर रखें आरती की थाली से

लखनऊ (शैली सक्सेना)। भगवान गणपति बप्पा का उत्सव पूरे देश में हर्षोल्लास के साथ बुधवार को प्रारंभ हो गया है। हर हिन्दू के हृदय में प्रथम पूज्य श्री गणेशजी के प्रति अगाध श्रद्धा और प्रेम भी है। वहीं कोरोना काल के दौरान जारी कुछ दिशा निर्देश पर आज भी बहुत से लोगों द्वारा पालन किया जा रहा है। बदलते मौसम में आज संक्रामक बीमारियों से बचाव में उक्त सावधानियां बेहद जरूरी भी हैं।ऐसे में हर व्यक्ति को इस बेहद खास बात का ध्यान रखना आवश्यक है कि यदि हाथ में सैनिटाइजर लगा हो, तो आरती की थाली से दूरी बना कर रखें। पूजन की समाप्ति पर आरती की थाली घुमाने की परंपरा है। चिकित्सकों का कहना है कि सैनिटाइजर अत्यधिक ज्वलनशील तरल पदार्थों में से एक है। इसलिए आरती करने या लेने से पहले भले ही अपने हाथों को साबुन से अच्छी तरह से धो लें, लेकिन सैनिटाइजर से दूरी ही बनाए रखना ही समझदारी है। इस छोटी सी बात पर ध्यान नहीं दिया तो कोई बड़ी अनहोनी भी हो सकती है। …और हां कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना आप, समाज व देश हित में आवश्यक है।

20 सेकेंड साबुन से धोएं हाथ- यूं तो 20 सेकेंड तक साबुन से हाथ धोने की सलाह डॉक्‍टर्स ने दी है। इसके बावजूद सैनिटाइजर का यूज खूब होता है। इससे हाथ को डिसइंफेक्‍ट करना आसान तो हो जाता है मगर सावधानी बरतना बेहद जरूरी है। सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, लोगों को अल्‍कोहल-बेस्‍ड हैंड सैनिटाइजर यूज करने चाहिए। इनमें कम से कम 60% अल्‍कोहल होना चाहिए।

सैनिटाइजर से खतरा?
कम से कम 60 पर्सेंट अल्‍कोहल होने के कारण हैंड सैनिटाइजर्स बेहद ज्‍वलनशील होते हैं, अर्थात उनमें बड़ी तेजी से आग लगती है। डॉक्‍टर्स सलाह देते हैं कि सैनिटाइजर्स को ऐसी जगह के पास इस्‍तेमाल ना करें जहां आग लगने की संभावना हो जैसे- रसोई गैस, लाइटर, माचिस आदि। सैनिटाइजर्स को पर्याप्‍त मात्रा में इस्‍तेमाल करें और फिर उसे सूख जाने दें।

इस्‍तेमाल का तरीका-
अगर आपके हाथ गंदे हों तो पहले साबुन और पानी से हाथ धो लें। हैंड सैनिटाइजर में मौजूद अल्‍कोहल तभी काम करता है जब आपके हाथ सूखे हों। ऐसे में सैनिटाइजर की दो-तीन बूंद लेकर अपने हाथों पर रगड़ें। उंगलियों के बीच में सफाई करने के साथ ही हथेलियों के पीछे भी लगाएं। सूखने से पहले सैनिटाजर को ना पोछें, ना ही धोएं।

साबुन है सैनिटाइजर से बेहतर– 
जहां साबुन और पानी न हो सैनिटाइजर का इस्तेमाल वहीं करें। घर पर रहने के दौरान चार से पांच बार साबुन से 20 सेकंड तक हाथ धोना चाहिए। घर से बाहर निकलने पर सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना चाहिए। जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी की एक रिसर्च बताती है कि सैनिटाइजर कोरोना वायरस से लड़ने में साबुन जितना कारगर नहीं है। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए वही सैनिटाइजर असरदार होगा जिसमें अल्कोहल की मात्रा अधिक होगी। घरों में इस्तेमाल होने वाला साबुन सैनिटाइजर के मुकाबले ज्यादा असरदार है।

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s