यूपी पुलिस के सिपाही समेत चार अपहर्ता गिरफ्तार

बदमाशों के कब्जे से तमंचे, चाकू और नगदी की गई बरामद। बदमाशों की साथी महिला फरार, गिरफ्तारी के प्रयास जारी।

बिजनौर। नजीबाबाद पुलिस ने उत्तराखंड के काशीपुर से दो व्यापारियों का अपहरण कर लाए चार बदमाशों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से तमंचे, चाकू और नगदी बरामद की गई है। बदमाशों की साथी महिला की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं। पकड़े गए बदमाशो में से एक यूपी पुलिस का सिपाही बताया जा रहा है।

शनिवार को नजीबाबाद थाना क्षेत्र की पूर्वी गंग नहर चौकी के पास पुलिस ने सफेद रंग की ब्रेजा कार में चार बदमाशों को पकड़ लिया। पकड़े गए चारों बदमाश एक दिन पूर्व उत्तराखंड के काशीपुर से कार सवार दो व्यापारियों को अपहरण कर फिरौती की मांग कर रहे थे। शेरकोट थाना क्षेत्र निवासी ब्रुश व्यापारी यशवीर ने बताया कि वह अपने नौकर मुकेश के साथ स्विफ्ट कार से उत्तराखंड के काशीपुर गए थे। इसी दौरान काशीपुर में सड़क किनारे खड़ी युवती ने लिफ्ट मांगी और हमने उसे अपने साथ कार में बैठा लिया। कुछ दूर चलने के बाद युवती ने कार रोकने को कहा जैसे ही कार रुकी तभी दूसरी सफेद रंग की ब्रेजा कार से उतरे खुद को पुलिस बता रहे वर्दी पहने चार लोगों ने उन्हें घेर लिया, और मोबाइल छीन लिए। इस दौरान बदमाशों ने यशवीर और मुकेश को दोनों कारों में अलग-अलग बैठा लिया। इसके बाद दोनों के साथ कार में मारपीट की और कहने लगे कि जिस युवती को तुमने कार में बैठाया है। वह अपने पति को मारकर फरार थी। तुम दोनों भी इस युवती के साथ मिले हुए हो। यह आरोप लगाते हुए 10 लाख की फिरौती मांगने लगे। अपहरणकर्ता दोनों युवकों को उत्तराखंड के रामनगर एक होटल में ले गए और रात भर वहां ठहरे। सुबह होने पर वहां से लेकर चल दिए। इसके बाद धामपुर, नगीना होते हुए नजीबाबाद पहुंचे। उन्होंने यशवीर को फिरौती के पैसे लेने के लिए घर भेज दिया और मुकेश को अपनी कार में बैठा रखा। इसी दौरान नजीबाबाद में पीड़ित यशवीर के रिश्तेदार उनकी तलाश में पूर्वी गंग नहर चौकी के पास घूम रहे थे। तभी कुछ दूरी पर सफेद रंग की ब्रेजा कार दिखाई दी तो उन्होंने पुलिस को कार रोकने के लिए कहा। पुलिस को देखते ही बदमाश कार छोड़कर भागने लगे। पुलिसकर्मियों ने दौड़ कर बदमाशों को पकड़ा। इस दौरान मौके पर लोगों की काफी भीड़ एकत्रित हो गई। वहीं पुलिस बदमाशों को अपनी गाड़ी में बैठा कर थाने ले गई। पुलिस पूछताछ में पकड़े गए बदमाशों ने अपना नाम पंकज पुत्र डालचंद निवासी ग्राम धर्मपुरा थाना जसपुर जिला उधमसिंह नगर, दानवीर सिंह पुत्र कपिल कुमार ग्राम नसीरउद्दीन वाला थाना शेरकोट जनपद बिजनौर हाल निवासी वैशाली कालोनी थाना जसपुर उधमसिंह नगर, दीपक कुमार पुत्र नरेश कुमार, निवासी नूनी खेड़ा थाना जानसठ जिला मुजफ्फरनगर, सुनील उर्फ सन्नी पुत्र राजपाल सिंह निवासी ग्राम गंगढाडी थाना खतौली जिला मुजफ्फरनगर बताया।

शिकार फंसाने के लिए युवती को बनाते चारा

शिकार फंसाने व अपरहण कर लोगों को लूटने के लिए बदमाश युवती का इस्तेमाल करते थे। यह गैंग युवती को इस्तेमाल कर अपराधिक घटनाओं को अंजाम दे रहा था। पकड़े गए बदमाश दानवीर ने पुलिस को बताया कि लिफ्ट लेने वाली युवती उसकी फुफेरी साली है, जिसका तलाक भी चुका है।

यूपी पुलिस का सिपाही भी बदमाशों में शामिल

पकड़े गए बदमाशों ने पुलिस को बताया कि शेरकोट के व्यापारियों का अपहरण करने के बाद वह खुद को पुलिस बताकर फिरौती की मांग कर रहे थे। बदमाशों के साथ पकड़ा गया सिपाही मुरादाबाद पुलिस लाईन में तैनात है, पुलिस ने पकड़े गए सिपाही के पर्स से उत्तरप्रदेश पुलिस का परिचय पत्र भी बरामद किया है।

कार से बरामद हुई यूपी पुलिस की वर्दी

पुलिस ने पकड़े गए बदमाशों की सफेद रंग की ब्रेजा कार से एक दरोगा व एक सिपाही की वर्दी, तमंचे, चाकू, नगदी भी बरामद की है। पुलिस का मानना है कि उक्त बदमाश पुलिस की वर्दी पहनकर अपहरण जैसी घटनाओं को अंजाम दे रहे थे और वर्दी का रौब गालिब कर खाकी को बदनाम कर रहे थे।

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s