छोटे पर्दे के “ठाकुर सज्जन सिंह” का निधन

मुंबई। बॉलीवुड और टीवी इंडस्ट्री के एक और एक्टर ने दुनिया को अलविदा कह दिया है। ‘प्रतिज्ञा’ टीवी सीरियल में ठाकुर सज्जन सिंह का रोल प्ले करने वाले एक्टर अनुपम श्याम ने दुनिया को अलविदा कह दिया है। उनकी उम्र 63 साल थी, वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे। वे ‘स्लमडॉग मिलेनियर’ और ‘बैंडिट क्वीन’ जैसी फिल्मों में काम कर चुके हैं। एक्टर पिछले साल मुंबई के लाइफलाइन अस्पताल में भर्ती कराए गए थे।

मनोज कुमार के जन्मदिन पर विशेष

एकलव्य बाण समाचार

Manoj Kumar at Esha Deol's wedding at ISCKON temple 10.jpg

मनोज कुमार एक हिन्दी फिल्म अभिनेता हैं। भारतीय सिनेमा के प्रसिद्ध अभिनेताफिल्म निर्माता व निर्देशक हैं। अपनी फ़िल्मों के जरिए मनोज कुमार ने लोगों को देशभक्ति की भावना का गहराई से एहसास कराया। मनोज कुमार शहीद-ए-आजम भगत सिंह से बेहद प्रभावित हैं और उन्होंने शहीद जैसी देशभक्ति फ़िल्म में अभिनय किया तो कई लोगों की प्रेरणा बने। हिन्दी सिनेमा में मनोज कुमार ने देशभक्ति की बहुत सी फिल्में बनाईं। उन्हें एक देशभक्त अभिनेता के रूप में भी जाना जाता है।

मनोज कुमार

मनोज कुमार का जन्म 24 जुलाई 1937 को पाकिस्तान के अबोटाबाद में हुआ था। उनका असली नाम हरिकिशन गिरि गोस्वामी है। देश के बंटवारे के बाद उनका परिवार राजस्थान के हनुमानगढ़ ज़िले में बस गया था। मनोज ने अपने करियर में शहीद, उपकार, पूरब और पश्चिम व ‘क्रांति‘ जैसी देशभक्ति पर आधारित अनेक बेजोड़ फ़िल्मों को बनाया और उनमें काम भी किया। इसी वजह से उन्हें भारत कुमार भी कहा जाता है। मनोज कुमार की पहली फिल्म फैशन (1957) थी। उसके बाद शहीद (1965) से उन्हें लोकप्रियता मिलनी प्रारम्भ हो गई। उन्होंने भूतपूर्व भारतीय प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के कहने पर उपकार बनाईं, जो शास्त्री जी के दिए हुए नारे “जय जवान जय किसान” पर आधारित थी। मनोज कुमार की फिल्मों में ‘हरियाली और रास्ता‘ (1962), ‘वो कौन थी‘ (1964), ‘शहीद’ (1965), ‘हिमालय की गोद में‘ (1965), ‘गुमनाम‘ (1965), ‘पत्थर के सनम‘ (1967), ‘उपकार’ (1967), ‘पूरब और पश्चिम’ (1969), ‘रोटी कपड़ा और मकान‘ (1974), ‘क्रांति प्रमुख हैं। फिल्म ‘उपकार’ के लिए मनोज कुमार को नेशनल अवॉर्ड से नवाजा गया था।

Birthday Special: दिलीप कुमार की वजह से मनोज कुमार ने बदला था अपना नाम, फिर फिल्मों में बनाई थी अलग पहचान

दिलीप कुमार की फिल्म शबनम से हुए प्रभावित

मनोज कुमार दिलीप कुमार की एक्टिंग के दीवाने थे। जब वह 11 साल के थे, तब उन्होंने फिल्म शबनम देखी थी। इस फिल्म में उन्हें दिलीप कुमार की एक्टिंग बहुत पसंद आई। इसके बाद जब उन्होंने फिल्मों में एंट्री करने का फैसला लिया तो उन्होंने अपना नाम बदल कर मनोज कुमार रख लिया, जो फिल्म शबनम में दिलीप कुमार के किरदार का नाम था।

दिलीप कुमार के साथ किया काम- जिस एक्टर से प्रेरित होकर मनोज कुमार ने अपना नाम बदलने का फैसला लिया था उन्होंने उनके साथ काम भी किया था। मनोज कुमार और दिलीप कुमार ने साथ में फिल्म शहीद, आदमी में काम किया था। इतना ही नहीं उन्हें दिलीप साहब को डायरेक्ट करने का मौका भी मिला। दोनों ने एक बार फिर फिल्म क्रांति में काम किया था। इस फिल्म में मनोज कुमार और दिलीप साहब के साथ शशि कपूर, हेमा मालिनी और शत्रुघ्न सिन्हा अहम भूमिका निभाते नजर आए थे। इस फिल्म को मनोज कुमार ने डायरेक्ट करने के साथ प्रोड्यूस भी किया था।

पूरा नाम-हरिकिशन गिरि गोस्वामी

प्रसिद्ध नाम- मनोज कुमार

अन्य नाम-भारत कुमार

जन्म-24 जुलाई1937

जन्म भूमि-अबोटाबाद (अब पाकिस्तान)

पत्नी-शशी गोस्वामी

कर्म भूमि-मुम्बई

कर्म क्षेत्र-फ़िल्म अभिनेता, निर्माता व निर्देशक

मुख्य फ़िल्में-शहीद, उपकार, पूरब और पश्चिम, क्रांति, रोटी कपड़ा और मकान, हिमालय की गोद में, हरियाली और रास्ता, पत्थर के सनम, नीलकमल आदि।

शिक्षा-स्नातक, हिन्दू कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय

पुरस्कार/उपाधि-2015 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार, 1992 में पद्मश्री, फालके रत्न पुरस्कार, लाइफ़ टाइम अचीवमेंट फ़िल्मफेयर पुरस्कार (सौजन्य से-विकिपीडिया)

(विशेष जानकारी प्राप्त करने के लिए नीले रंग के अक्षरों को छुएं)