देश में 4G सिम के साथ फिर से आई यूनिनॉर

भारत में फिर से आई यूनिनॉर 4G सिम के साथ। मात्र ₹10 रिचार्ज में लाइफ टाइम इनकमिंग सुविधा।

नई दिल्ली (एजेंसियां)। देश में टेलीकॉम कंपनियों के छक्के छुड़ाने के लिए यूनिनॉर (टेलीनॉर) कंपनी फिर से वापस आ रही है। कंपनी 4G सिम के साथ वापस लौट रही है। इसमें बेहद कम दाम में लाइफ टाइम फ्री इनकमिंग की सुविधा मिलेगी। वैसे इस बात की पुष्टि हम नहीं करते हैं, वायरल न्यूज़ के अनुसार इस न्यूज़ को बनाया गया है।

देश में मोबाइल कंपनियों की सेवाएं काफी महंगी हो गई हैं। खबर है कि कंपनियां आने वाले समय में रिचार्ज प्लान को और भी महंगा बनाने जा रही हैं। …लेकिन अब टेलीकॉम कंपनियों को एक बार फिर झटका लगने वाला है। यूनिनॉर कंपनी फिर से वापसी के लिए तैयार है। इस बार कंपनी 4जी के साथ वापसी कर रही है। इसके आने से एयरटेल, वोडाफोन आइडिया और बीएसएनएल समेत जियो को बाजार में कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ेगा। पहले यह कंपनी यूनिनॉर के नाम से चलती रही। बाद में यह बदलकर टेलीनॉर हो गई। कंपनी को घाटे की वजह से एयरटेल ने खरीद लिया। इसके बाद टेलीनॉर का नाम खत्म हो गया, लेकिन एक बार फिर इसकी वापसी की खबर आ रही है।

यूनिनॉर का खास ऑफर

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार फिलहाल आंध्र प्रदेश के इंदौर में एक सितंबर से स्पेशल ऑफर चल रहा है। कुछ खास यूजर्स पहले से ही यूनिनॉर सिम इस्तेमाल कर रहे हैं। यदि आप यूनिनॉर का सिम कार्ड लेते हैं या पुराने यूजर हैं तो एक शानदार पेशकश की जा रही है। अब यूनिनॉर के ₹10 का रिचार्ज करने पर ₹10 का टॉकटाइम दिया जा रहा है। इसी तरह ₹20 के रिचार्ज पर ₹20 का टॉकटाइम, ₹30 के रिचार्ज पर ₹30 का टॉकटाइम दिया जा रहा है।

इनकमिंग कॉल सुविधा नहीं होगी बंद

सभी टेलीकॉम कंपनियां में रिचार्ज खत्म हो जाने के कुछ समय बाद इनकमिंग कॉल को बंद कर दिया जाता है लेकिन इसमें रिचार्ज नहीं करवाने पर इनकमिंग कॉल बंद नहीं होगी, यह चालू रहेगी। जब चाहे तब इसमें रिचार्ज करवा सकते हैं।

फर्जी मैसेज फारवर्ड न करें…

नई दिल्ली। नए आईटी नियम माह मई के अंतिम सप्ताह से प्रभावी हो चुके हैं। इसमें केंद्र सरकार ने सोशल मीडिया मंच पर जारी होने वाली सामग्री के प्रति कंपनियों की जिम्मेदारी और जवाबदेही तय की है। हालांकि, नए नियमों को लेकर केंद्र सरकार और सोशल मीडिया कंपनियों में तकरार शुरू हो गई। इस बीच सोशल मीडिया पर एक दावा किया जा रहा है कि सरकार नए नियमों के जरिए सोशल मीडिया पोस्ट और फोन कॉल्स पर नजर रखेगी। क्या वाकई सरकार ने सोशल मीडिया को को मॉनिटर करने के लिए यह नया नियम बनाया है? जानिए इसकी सच्चाई….

दरअसल, एक वायरल मैसेज में दावा किया जा रहा है कि भारत सरकार द्वारा अब ‘नए संचार नियम’ के तहत सोशल मीडिया और फोन कॉल की निगरानी रखी जाएगी। इस दावे पर केंद्र ने कहा कि उसने लोगों के सोशल मीडिया पोस्ट या फोन कॉल पर नजर रखने के अधिकार वाला कोई नया नियम नहीं बनाया है। सोशल मीडिया संबंधी नये नियमों को लेकर सरकार और ट्विटर के बीच चल रही तनातनी तथा दिल्ली पुलिस के ट्विटर इंडिया के दफ्तर पहुंचने के बीच यह बयान आया है।

वहीं, वायरल मैसेज के दावे को गलत बताते हुए पीआईबी फैक्ट चैक ने ट्विटर पर एक पोस्ट में लिखा, ‘एक वायरल संदेश में दावा किया जा रहा है कि भारत सरकार नये संचार नियमों के तहत अब सोशल मीडिया और फोन कॉल पर निगरानी रखेगी।’ इसमें स्पष्ट किया गया, ‘यह दावा फर्जी है। भारत सरकार ने ऐसा कोई नियम लागू नहीं किया है। ऐसी किसी फर्जी या अपुष्ट सूचना को आगे नहीं बढ़ाएं।’

भारत में कौन कितना लोकप्रिय
-व्हॉट्सएप : 53 करोड़
-यूट्यूब : 44.8 करोड़
-फेसबुक : 41 करोड़
-इंस्टाग्राम : 21 करोड़
-ट्विटर : 1.75 करोड़
-कू : 60 लाख

रविशंकर प्रसाद का संदेश?

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने Koo पर एक पोस्ट कर सोशल मीडिया कंपनियों के लेकर बनाए गए नए नियमों पर सरकार का पक्ष रखा। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि नए नियम सिर्फ सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल रोकने के लिए ही बनाए गए हैं। बता दें कि, सोशल मीडिया कंपनियों ने नए नियमों को लेकर प्रश्न उठाया था और कहा था कि इससे निजता खत्म होगी। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि नए नियमों का पूरा मकसद यह पता करना है कि असल में पहली बार विवादित मैसेज का पोस्ट किसने किया था, जिसकी वजह से अपराध होते हैं।

6G आते ही खत्म हो जाएंगे स्मार्टफोन? Nokia के CEO की भविष्यवाणी

6G

6G Technology: दुनिया के कई देशों में 5G टेक्नोलॉजी आ चुकी है और अब 6G की तैयारी हो रही है. Nokia के CEO Pekka Lundmark ने 6G और स्मार्टफोन्स के फ्यूचर को लेकर एक भविष्यवाणी की है. उनका मानना है कि साल 2030 तक स्मार्टफोन खत्म हो जाएंगे.

6G

  • नोकिया CEO Pekka Lundmark ने की भविष्यवाणी
  • साल 2030 तक खत्म हो जाएगी स्मार्टफोन की जरूरत?
  • दावोस में World Economic Forum में कही यह बात

फोन से मोबाइल फोन और फिर स्मार्टफोन तक का सफर बहुत छोटा है. बातचीत के लिए तैयार किए गए इस डिवाइस का इतिहास आम लोगों के बीच मुश्किल से कुछ दशक का है. कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही यह इतिहास का हिस्सा भी बन सकते हैं. स्मार्टफोन तेजी से विकसित होने वाले प्रोडक्ट्स में से एक है.

आज से 15-20 साल पहले मौजूदा स्मार्टफोन्स के फीचर्स वाले किसी डिवाइस को हाथ में लेकर घूमना एक कल्पना मात्र थी. स्मार्टफोन्स के तेज विकास की वजह से ही इसके भविष्य पर अब सवाल खड़े हो रहे हैं.  

Nokia के CEO की भविष्यवाणी 

दरअसल, Nokia के CEO Pekka Lundmark का मानना है कि साल 2030 तक 6G टेक्नोलॉजी शुरू हो चुकी होगी, लेकिन तब तक स्मार्टफोन ‘कॉमन इंटरफेस’ नहीं होंगे. उन्होंने ये बात दावोस में चल रहे World Economic Forum में कही है.  Pekka Lundmark ने कहा कि कॉमर्शियल मार्केट में 2030 तक 6G की एंट्री हो जाएगी.

उन्होंने कहा कि 6G के आने से पहले ही लोग स्मार्टफोन की तुलना में स्मार्ट ग्लासेस और दूसरे डिवाइस को यूज करने लगेंगे. नोकिया सीईओ ने बताया, ‘तब तक, हम जिन स्मार्टफोन्स को यूज कर रहे हैं, वह सबसे ज्यादा यूज होने वाला इंटरफेस नहीं रह जाएंगे. इनमें से बहुत सी चीजें हमारी बॉडी में सीधे तौर पर मिलने लगेंगी.’

एलॉन मस्क की कंपनी कर रही इस पर काम

हालांकि, Lundmark ने ये नहीं बताया है कि वह किस डिवाइस के बारे में बात कर रहे हैं. एलॉन मस्क की Neuralink जैसी कुछ कंपनियां फिलहाल इस पर काम कर रही हैं और ब्रेन कम्प्यूटर इंटरफेस तैयार कर रही हैं. 

पिछले साल अप्रैल में मस्क ने एक फुटेज रिलीज कर इसका डेमो दिखाया था. वीडियो में उन्होंने दिखाया कि कैसे एक मेल मकाक (अफ्रीकी लंगूर) के दिमाग में चिप लगाई गई है और वह ‘माइंड पॉन्ग’ प्ले कर रहा है.

लंगूर को जॉयस्टिक मूव करने के लिए ट्रेंड जरूर किया गया था, लेकिन इस टेस्ट के दौरान उसके अनप्लग रखा गया था. मकाक पैडल को अपने दिमाग की मदद से कंट्रोल कर रहा था. हालांकि, उसे ऐसा लग रहा था कि वह जॉयस्टिक की मदद से ऐसा कर पा रहा है.

कब तक आएगा 6G?

6G को लेकर अभी बहुत सी चीजें क्लियर नहीं है. भारत अभी 5G की लॉन्चिंग की तैयारी कर रहा है. हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 6G पर बताया था कि एक टास्ट फोर्स को तैयार किया गया है. इस साल के अंत तक हमें भारत में 5G टेक्नोलॉजी देखने को मिल जाएगी.

इससे पहले भारत के आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने भी घोषणा की थी कि देश अपनी स्वदेशी 6G तकनीक पर काम कर रहा है। 2023-2024 तक ये तकनीक तैयार भी हो सकती है। 6G को लेकर अभी कुछ भी साफ नहीं है। अभी 5G की लॉन्चिंग की तैयारी है और इस साल के अंत तक हमें भारत में 5G टेक्नोलॉजी देखने को मिल जाएगी। ऐसे में नोकिया के सीईओ का ये बयान भविष्य में टेक्नोलॉजी की मजबूती को बताता है।

व्हाट्सएप्प ने लगाया 14 लाख से अधिक खातों पर प्रतिबंध

नई दिल्ली (एजेंसी)। मेटा के स्वामित्व वाले व्हाट्सएप ने मार्च के महीने में भारत में 18 लाख से अधिक खातों पर प्रतिबंध लगाया है। सोमवार को कंपनी ने कहा कि नए आईटी नियम 2021 का अनुपालन करते हुए प्लेटफॉर्म ने फरवरी में देश में ऐसे 14 लाख से अधिक खातों पर प्रतिबंध लगाया था। उसे देश से उसी महीने में 597 शिकायत रिपोर्ट भी मिलीं, और ‘कार्रवाई’ वाले 74 खाते थे।

Big blow to WhatsApp users, company banned more than 30 lakh accounts

व्हाट्सएप के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, आईटी नियम 2021 के अनुसार, हमने मार्च 2022 महीने के लिए अपनी रिपोर्ट प्रकाशित की है। इस उपयोगकर्ता-सुरक्षा रिपोर्ट में उपयोगकर्ता की शिकायतों का विवरण और व्हाट्सएप द्वारा की गई संबंधित कार्रवाई के साथ-साथ व्हाट्सएप की स्वयं की निवारक कार्रवाइयां शामिल हैं। प्रवक्ता ने कहा, व्हाट्सएप ने मार्च महीने में 1.8 मिलियन (1,805,000) से अधिक खातों पर प्रतिबंध लगा दिया। 

UPI 123Pay – बिना इंटरनेट के भी कर पायेंगे बैंकिंग के सभी काम ! वो भी कीपैड मोबाइल से ! ऐसे यूज करें UPI 123Pay

Watch “RBI launch new UPI 123pay payment without internet Live 🔴” on YouTube

https://youtu.be/1e8B6ujXLp0

UPI 123Pay – बिना इंटरनेट के भी कर पायेंगे Phone Pe के सभी काम ! वो भी कीपैड मोबाइल से ! ऐसे यूज करे UPI 123Pay साभार-Career Bhaskar

UPI 123Pay, UPI, RBI, Phone Pe, UPI New Feature, UPI Payment,

UPI 123Pay – UPI के जरिये पैसे लेना भेजना बहुत ही आसान और सुविधाजनक है। लेकिन आज भी ऐसे कई लोग है, जो UPI पेमेंट सर्विस का यूज नहीं कर पा रहे है। और इसका कारण है, लोगों के पास स्मार्टफोन न होना। तो इसी को देखते हुए RBI ने UPI 123Pay सर्विस शुरू की है। इस सर्विस के जरिये अब कोई भी बिना इंटरनेट और स्मार्टफोन के UPI पेमेंट कर पायेंगे।

RBI ने शुरू की नयी सर्विस –

भारत में लगभग 40 करोड़ से भी ज्यादा फीचर फ़ोन (कीपैड मोबाइल) उपयोगकर्ता है। …और ये सभी फीचर फ़ोन उपयोगकर्ता डिजिटल पेमेंट करने में असमर्थ है। इसी को देखते हुए RBI ने एक नई पेमेंट सर्विस शुरू की है, इस नई पेमेंट सर्विस का नाम UPI 123Pay है।

बिना इंटरनेट कर पायेंगे यह सभी काम –

UPI 123Pay पेमेंट सर्विस के जरिये आप किसी भी व्यक्ति को UPI और Bank Account से पैसे भेज पायेंगे इसके अलावा आप इस सर्विस के जरिये बैंक बैलेंस चेक, Mobile रिचार्ज, DTH रिचार्ज, LPG Gas Refill, EMI Repayment आदि काम भी कर पायेंगे।

कीपैड मोबाइल में भी चला सकते है UPI 123Pay

अगर आपके पास कीपैड मोबाइल है, या आप ऐसे इलाके में रहते है, जहाँ अच्छे से इंटरनेट नहीं चलता है जिसके कारण आप डिजिटल पेमेंट नहीं कर पा रहे थे। तो अब परेशान होने वाली कोई बात नहीं है, क्यूंकि इस नई पेमेंट सर्विस के जरिये यूजर्स बिना इंटरनेट की सहायता से सिर्फ कीपैड मोबाइल के जरिये ही डिजिटल पेमेंट कर पायेंगे।

ऐसे करे UPI 123Pay का यूज –

इस सर्विस का यूज आप 4 तरीके से कर सकते है। …पर इस पोस्ट में हम आपको Call के जरिये UPI पेमेंट कैसे करते हैं ?, इसके बारे में बतायेंगे। अगर आप इस नई पेमेंट सर्विस का यूज करना चाहते है, या जानना चाहते है, कि UPI 123Pay सर्विस कैसे काम करती है? तो आप नीचे दिया वीडियो देख सकते हैं। वीडियो में call के जरिये UPI 123Pay कैसे यूज करते हैं, इसका लाइव डेमो बताया है।

BSNL के नए प्लान ने अन्य कंपनियों के उड़ाए होश

नई दिल्ली (एजेंसी)। इस वक्त मार्केट में टेलिकॉम कंपनियों में जबरदस्त टक्कर है। जियो से लेकर एयरटेल, वीआई और एयरटेल कई अन्य कंपनियों के बीच लगातार प्रतिस्पर्था देखने को मिल रही है। कभी जियो अपने नए प्लान के जरिए टक्कर देती है तो कभी एयरटेल, लेकिन अब इन दोनों को सरकारी टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल ने कड़ी टक्कर देते हुए एक ऐसा प्लान लॉन्च किया है कि दोनों ही कंपनियों के होश उड़ गए हैं।

BSNL Rs.666 Plan

अपने ग्राहकों के लिए BSNL ने बेहद ही कम कीमत में एक नया अर्फोडेबल प्लान उतारा है, यह BSNL 666 Plan है। इस नए BSNL Prepaid Plan के साथ हर रोज 2 जीबी डेटा के साथ प्रतिदिन 100 एसएमएस की सुविधा मिलेगी। ये प्लान यूजर्स को 110 दिनों की वैलिडिटी ऑफर करेगा। इस प्लान के साथ मिलने वाला डेटा हर रात 12 बजे रिसेट हो जाएगा। साथ ही किसी भी नेटवर्क पर अनलिमिटेड वॉइस कॉलिंग की सुविधा दी जाती है। इसके अलावा इस प्लान में कई और बेनिफिट्स हैं, जैसे- फ्री PRBT, फ्री जिंग म्यूजिक मेंबरशिप और फ्री हार्डी गेम सब्सक्रिप्शन मिलेगा। इस नए प्लान से रीचार्ज के लिए यूजर्स या तो कंपनी के ऑफिशियल रीचार्ज पोर्टल या फिर BSNL सेल्फ केयर ऐप्लिकेशन को डाउनलोड कर सकते हैं।

रिलायंस Jio 666 प्लान

रिलायंस के 666 प्लान की बात करें तो कंपनी इस प्लान के तहत प्रतिदिन 1.5 जीबी डेटा के साथ 84 दिनों की वैलिडिटी दे रही है। इस प्लान के तहत किसी भी नेटवर्क पर अनलिमिटेड वॉइस कॉलिंग और हर रोज 100 एसएमएस दिए जाते हैं। इसके अलावा इसमें कई और बेनिफिट्स हैं जैसे- जियो टीवी, जियो सिनेमा के अलावा जियो सिक्योरिटी और जियो क्लाउड का फ्री एक्सेस देता है।

एयटेल 666 प्लान

वहीं एयरटेल के 666 वाले प्लान में ग्राहकों को रोज 1.5 जीबी डेटा के साथ 77 दिनों की वैधता मिलती है। इसके साथ ही किसी भी नेटवर्क पर अनलिमिडेट वॉइस कॉलिंग और प्रतिदिन 100 एसएमएस की सुविधा मिलती है। हालांकि, इस प्लान के तहत 30 दिनों का Amazon Prime Video मोबाइल एडिशन, 3 महीने के लिए अपोलो 24/7 सर्कल, Shaw Academy का फ्री ऑनलाइन कोर्स और FasTag पर 100 रुपये का कैशबैक और फ्री हेलो ट्यून और विंक म्यूजिक का एक्सेस दिया जाता है।

भारत की चीन पर डिजिटल स्ट्राइक, बैन किये 54 चीनी ऐप्स

Govt Bans 54 Chinese Apps: भारत सरकार की चीन पर डिजिटल स्ट्राइक, बैन किये 54 चीनी ऐप्स

राष्ट्रीय सुरक्षा को देखते हुए भारत सरकार ने 54 चीनी ऐप्स (54 Chinese Apps Bans) पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। ये सभी 54 चीनी ऐप्लिकेशन जो देश की सुरक्षा के लिए एक बड़ा खतरा साबित हो सकते हैं इस कारण उन्हें भारत में बैन कर दिया गया है।

भारत सरकार ने बैन किए 54 चीनी ऐप्स

समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों का हवाला देते हर बताया है, सरकार का मानना है कि ये 54 चीनी ऐप भारतीयों की गोपनीयता और सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करते हैं इस कारण उन्हें बैन किया जाएगा। सूत्रों ने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) औपचारिक रूप से भारत में इन ऐप्स के संचालन पर प्रतिबंध लगाने की अधिसूचना जारी करेगा।

जिन ऐप्स को भारत में बैन किया जा रहा है उनमें स्वीट सेल्फी एचडी (Sweet Selfie HF), ब्यूटी कैमरा (Beauty Camera), म्यूजिक प्लेयर (Music Player), म्यूजिक प्लस (Music Plus), वॉल्यूम बूस्टर (Volume Booster), वीडियो प्लेयर मीडिया ऑल फॉर्मेट (Video Player Media All Format), वीवा वीडियो एडिटर (Viva Video Editor), नाइस वीडियो बायदु (Nice Video Baidu), ऐपलॉक (AppLock), ड्युअल स्पेस लाइट (Dual Space Lite), और एस्ट्राक्राफ्ट (AstraCraft) जैसे ऐप्स शामिल हैं।

इनमें से अधिकांश ऐप Tencent, अलीबाबा और गेमिंग फर्म NetEase जैसी प्रमुख चीनी टेक्नोलॉजी फर्मों के हैं। इन सभी चीनी टेक्नोलॉजी फर्मों ने या तो उन ऐप्स को “रीब्रांडेड या रीक्राइस्ट” कर दिया है, जिन्हें 2020 में केंद्र द्वारा प्रतिबंधित कर दिया गया था। सूत्रों ने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय (MeITY), जिसने पहले 2020 में चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया था, ने Google Play Store को इन एप्लिकेशन को ब्लॉक करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि एमईआईटीवाई ने सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 की धारा 69A द्वारा निहित शक्तियों के माध्यम से इस संबंध में आवश्यक कदम उठाए हैं।

5जी से 100 गुना तेज स्पीड वाली 6G टेक्नोलॉजी तैयार

6G Technology तैयार, 5जी से 100 गुना तेज होगी स्पीड- 10 हजार HD लाइव वीडियो स्ट्रीम भी

बीजिंग (एजेंसी)। दुनियाभर में 5जी पर जारी काम के बीच चीन ने इस दिशा में एक कदम आगे बढ़ाते हुए 6जी पर काम शुरू कर दिया है। 6जी टेक्नोलॉजी पर काम कर रहे चीनी रिसर्चर्स ने दावा किया है कि उन्होंने इस नई तकनीक के इस्तेमाल से डेटा स्ट्रीमिंग स्पीड में एक नया रिकॉर्ड बनाया है। ये चीन को अगली पीढ़ी के वायरलेस कम्युनिकेशन के लिए प्रतिस्पर्धात्मक लाभ प्राप्त करने में मदद कर सकता है। रिसर्चर्स ने वोरटेक्स मिलीमीटर वेव्स के इस्तेमाल से एक सेकेंड में एक टेराबाइट डेटा एक किमी तक भेजा।

साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की रिपोर्ट में बताया गया है कि वोरटेक्स मिलीमीटर वेव्स एक तरह की हाई फ्रीक्वेंसी रेडियो वेव होती है, जो तेजी से स्पिन होती है। सिंघुआ यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ एयरोस्पेस इंजीनियरिंग के प्रोफेसर झांग चाओ के नेतृत्व में एक टीम ने 9 फरवरी को एक बयान में कहा कि पिछले महीने बीजिंग विंटर ओलंपिक कंपाउंड में स्थापित एक्सपेरिमेंटल वायरलेस कम्युनिकेशन लाइन एक साथ 10,000 से अधिक हाई-डेफिनिशन लाइव वीडियो फीड स्ट्रीम कर सकती है।

टीम ने ये भी दावा किया कि एक हाइपरसोनिक हथियार 6जी टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से टारगेट का पता लगा सकता है और कम्युनिकेट कर सकता है। अधिकतर देखा जाता है कि ध्वनि की गति से पांच गुना अधिक रफ्तार वाली हाइपरसोनिक मिसाइल कई बार नेटवर्क की वजह से ब्लैकआउट का सामना करती है। चीन ने कई मौकों पर संकेत दिया है कि वह युद्ध स्तर पर भविष्य की 6जी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रहा है। झांग और उनके सहयोगियों के अनुसार, पिछली शताब्दी में रेडियो संचार में देखी गई किसी भी चीज के विपरीत, वोरटेक्स वेव्स ने वायरलेस ट्रांसमिशन को एक नया आयाम प्रदान किया।

whatsapp रिलीज करेगा ग्लोबल ऑडियो प्लेयर

नई दिल्ली। अब WhatsApp अपने यूजर्स के लिए ग्लोबल ऑडियो प्लेयर रिलीज करने जा रहा है। इससे पहले WhatsApp Desktop यूजर्स वॉइस प्लेयर को पॉज और रिज्यूम कर सकते थे, लेकिन इसके लिए उन्हें चैट विंडो में ही रहना होता था। नए अपडेट के बाद यूजर्स को ऐसा नहीं करना होगा। वह चैट विंडोज में शफल करते हुए वॉइस मैसेज को सुन सकेंगे।

इस फीचर की मदद से यूजर्स चैट विंडो में स्विच करते हुए ऑडियो नोट्स को सुन भी करेंगे। WABetaInfo के मुताबिक, ‘जब हम वॉइस नोट प्ले करते हैं और दूसरे चैट में स्विच करते हैं, तो WhatsApp ऑडियो बंद नहीं होता है और एक नया ऑडियो प्लेयर बार चैट लिस्ट के नीचे नजर आने लगता है। इस Audio Player Bar की मदद से यूजर्स वॉइस नोट को आसानी से कंट्रोल कर सकेंगे। इस पर प्लेबैक बटन और प्रोग्रेस बार मिलता है, जो वॉइस नोट के खत्म होने की जानकारी देता है। यह फीचर फिलहाल बीटा यूजर्स के लिए जारी हुआ है। जल्द ही हम इसे अपने डेस्कटॉप पर भी देख सकेंगे।

इस फीचर की मदद से यूजर्स चैट और वॉइस प्लेयर दोनों को एक साथ मैनेज कर सकेंगे। हाल में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक, WhatsApp जल्द ही Delete For Everyone फीचर की टाइम लिमिट बढ़ा सकता है। ऐप इसकी टाइम लिमिट को बढ़ाकर दो दिन कर सकता है। 

28 नहीं, अब आएंगे 30 दिन वाले मोबाइल रिचार्ज प्लान

TRAI ने टेलीकॉम कंपनियों को दिए निर्देश। अब आएंगे 30 दिन वाले रिचार्ज प्लान।

TRAI ने टेलिकॉम कंपनियों को कम से कम एक ऐसा टैरिफ प्लान ऑफर करने का आदेश दिया है, जिसकी वैधता 30 दिन की हो.

30 दिन की वैधता का हो कम एक ऐसा टैरिफ प्लान।  TRAI का टेलिकॉम कंपनियों को आदेश। ऐसा हो ऑफर जिन्हें हर महीने एक ही तारीख को कराया जा सके रिन्यू

नई दिल्ली। मोबाइल यूजर्स के लिए बड़ी राहत वाली खबर  है। जल्द ही वे 30 दिन की वैलिडिटी वाले प्रीपेड प्लान से रिचार्ज करा सकेंगे। टेलीकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) ने सभी टेलीकॉम कंपनियों के लिए कुछ नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इसमें पूरे महीने का टैरिफ प्लान सहित कई बड़े फैसले हैं। Telecom Tariff (66th Amendment) Order, 2022 के तहत TRAI ने कई महत्वपूर्ण फैसले सुनाए हैं। इनके बारे में जानकर यूजर्स बेहद खुश हो जाएंगे।

TRAI ने टेलिकॉम कंपनियों को कम से कम एक ऐसा टैरिफ प्लान ऑफर करने का आदेश दिया है, जिसकी वैधता 30 दिन की हो। गुरुवार को एक आदेश में ट्राई ने कहा कि सभी टेलीकॉम कंपनियों को 30 दिन की वैलिडिटी वाला एक प्लान वाउचर, एक स्पेशल टैरिफ वाउचर और एक कॉम्बो वाउचर ऑफर करना चाहिए. ट्राई ने कहा कि कंपनियों को कम से कम एक ऐसा एक प्लान वाउचर, एक स्पेशल टैरिफ वाउचर और एक कॉम्बो वाउचर जरूर ऑफर करना चाहिए जिन्हें हर महीने एक ही तारीख को रिन्यू कराया जा सके।

Telecom Tariff (66th Amendment) Order, 2022 के जारी होने के बाद से मोबाइल फोन यूजर्स को रिचार्ज प्लान के कई ऑप्शन्स मिलेंगे। यूजर्स को प्लान में पूरी 30 दिन की वैलिडिटी का भी ऑप्शन मिलेगा।

अभी तक टेलीकॉम कंपनियां 28 और 24 दिन का रिचार्ज प्लान देती हैं। यूजर्स की यह शिकायत थी कि टेलीकॉम कंपनियां महीने भर का पूरा रिचार्ज नहीं देती हैं। इससे यूजर्स को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। साथ ही पैसा भी ज्यादा खर्च होता है। ट्राई ने कहा कि उसे यूजर्स से ऐसी शिकायतें मिल चुकी हैं कि उन्हें मंथली प्लान के लिए साल में 13 बार रिचार्ज कराना पड़ता है और इससे उन्हें ठगा हुआ महसूस होता है।

ट्राई के अनुसार नए बदलाव से यूजर्स को काफी फायदा पहुंचेगा और उन्हें अपनी सहूलियत के हिसाब से सही वैलिडिटी वाले प्लान्स के ज्यादा ऑप्शन भी मिलेंगे। इस नोटिफिकेशन के चलते अब मोबाइल फोन में नेटवर्क सेवा मुहैया कराने वाली कंपनियों को ऐसे प्लान देने होंगे, जो महीने की उसी तारीख पर रिन्यू कराए जा सकेंगे। इसके अलावा टेलिकॉम कंपनियों को निर्देश दिया गया है कि वे इस आदेश के जारी होने के 60 दिन के अंदर इस पर जरूरी कार्यवाही करेंगे।

टेलीकॉम कंपनियों का विरोध
ट्राई के इस आदेश का टेलीकॉम कंपनियों ने विरोध किया है। टेलीकॉम कंपनियों कहना है कि 28 दिन, 54 दिन या 84 दिन की वैलिडिटी वाले किसी भी प्लान में बदलाव करने से बिल साइकिल में काफी गड़बड़ी आ जाएगी। कंपनियों का कहना है कि हर महीने एक ही तारीख और एक ही अमाउंट के रिचार्ज रिन्यू को ऑफर करना तकनीकी रूप से संभव नहीं है, क्योंकि ऐसा पोस्टपेड प्लान्स के लिए होता है।

कॉल कनेक्ट न हो तो उक्त मोबाइल नंबर पर whatsapp करें।

सरकारी अधिकारियों के व्हाट्सएप, टेलीग्राम पर बैन

नई दिल्ली (एजेंसी)। राष्ट्रीय संचार सुरक्षा नीति के दिशा-निर्देशों और अधिकारियों द्वारा सरकार के निर्देशों का बड़े पैमाने पर उल्लंघन सूचनाओं के लीक होने के बाद खुफिया एजेंसियों ने संचार को लेकर नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। नए निर्देश में सभी सरकारी अधिकारियों को गोपनीय जानकारी साझा करने के लिए व्हाट्सएप, टेलीग्राम जैसे एप्स का इस्तेमाल करने से मना किया गया है।

whatsapp telegram and signal

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक खुफिया एजेंसियों के निर्देश में कहा गया है कि व्हाट्सएप-टेलीग्राम जैसे एप्स पर गोपनीय जानकारी शेयर करना खतरे से खाली नहीं है, क्योंकि निजी कंपनियां डाटा को अपने सर्वर पर स्टोर करती हैं, जो कि देश के बाहर स्थित हैं। इन डाटा का गलत इस्तेमाल भी किया जा सकता है। वीडियो कांफ्रेंसिंग पर मीटिंग करने और घर से काम करने वाले अधिकारियों के लिए भी निर्देश दिए गए हैं।

सभी मंत्रालयों को इस निर्देश को तत्काल प्रभाव से लागू करने के लिए कहा गया है। एजेंसियों ने कहा है कि मीटिंग में किसी भी तरह की स्मार्ट डिवाइस जैसे- एपल सिरी, अमेजन एलेक्सा, गूगल असिस्टेंट आदि का इस्तेमाल ना हो। रिपोर्ट में कहा गया है कि कई अधिकारी अपने फोन में जरूरी दस्तावेज को स्कैन करके रखते हैं और फिर उसे तमाम तरह के एप्स के जरिए दूसरों के साथ साझा करते हैं, जो कि सुरक्षित नहीं है।

सभी मंत्रालयों को भेजे गए नए निर्देश में कहा गया है कि मीटिंग के दौरान अधिकारी अपने स्मार्टफोन और स्मार्टवॉच को कमरे के बाहर रखें। इसके अलावा कार्यालयों में अमेजॉन इको, एपल होमपॉड, गूगल होम जैसे स्मार्ट डिवाइस के इस्तेमाल को लेकर भी मनाही की गई है। घर के नेटवर्क के जरिए किसी जरूरी दस्तावेज को भेजने से भी मना किया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक नए निर्देश में किसी भी जगह वर्चुअल मीटिंग करने से मना किया गया है। निर्देश में कहा गया है कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के लिए थर्ड पार्टी एप के बजाय सभी अधिकारियों और मंत्रालयों को भारत सरकार के वर्चुअल सेटअप का इस्तेमाल करना चाहिए, जिसे सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस कंप्यूटिंग (सी-डैक), नेशनल इंफॉर्मेटिक्स सेंटर (एनआईसी) ने तैयार किए हैं।

दूसरी कंपनियों का खेल बिगाड़ रहा BSNL

BSNL ने डेली 3GB डेटा और अनलिमिटेड कॉलिंग के साथ निकाला एक्स्ट्रा वैलिडिटी का प्लान। बिगाड़ा दूसरी कंपनियों का खेल।

BSNL ने बिगाड़ा दूसरी कंपनियों का खेल, डेली 3GB डेटा और अनलिमिटेड कॉलिंग के साथ निकाला एक्स्ट्रा वैलिडिटी का प्लान  

नई दिल्ली (एजेंसी)। सरकारी टेलिकॉम कंपनी BSNL अपने प्रीपेड प्लान्स और ऑफर्स से प्राइवेट कंपनियों को कड़ी टक्कर दे रही है। इसी कड़ी में बीएसएनएल अपने 2399 रुपये वाले ऐनुअल प्लान में 90 दिन की एक्स्ट्रा वैलिडिटी ऑफर कर रहा है। कंपनी ने इस ऑफर घोषणा पिछले महीने की थी और यह 15 जनवरी को खत्म होने वाला था। हालांकि, ऐसा नहीं हुआ और यूजर्स की डिमांड को देखते हुए बीएसएनएल का यह ऑफर अभी भी लाइव है। 2399 रुपये वाले प्लान में कंपनी 365 दिन की वैलिडिटी देती है, लेकिन इस ऑफर के साथ प्लान की वैलिडिटी बढ़कर 455 दिन की हो जाती है।  

इसी तरह बीएसएनएल अपने तीन महीने की वैलिडिटी वाले प्लान में भी दूसरी कंपनियों के मुकाबले बेहतर बेनिफिट दे रहा है। जियो से तुलना करें तो जियो अपने यूजर्स 666 की कीमत में 84 दिन की वैलिडिटी वाला प्लान ऑफर करता है, जिसमें डेली 1.5जीबी डेटा मिलता है। वहीं, बीएसएनएल का क्वॉटर्ली प्लान 485 रुपये का है और इसमें आपको 90 दिन की वैलिडिटी और डेली 1.5जीबी डेटा मिलेगा। 

जियो के 2999 रुपये वाले प्लान में 365 दिन की वैलिडिटी
जियो के इस प्लान में एक साल की वैलिडिटी मिलती है। इंटरनेट यूज करने के लिए कंपनी इस प्लान में हर दिन 2.5 जीबी डेटा देती है। अनलिमिटेड वॉइस कॉलिंग के साथ आने वाले इस प्लान आपको डेली 100 फ्री एसएमएस का भी फायदा होगा। वहीं, बीएसएनएल के 2399 रुपये वाले प्लान में आपको हर दिन 3जीबी डेटा और अनलिमिटेड वॉइस कॉलिंग जैसे बेनिफिट मिलेंगे।