अतिक्रमण हटाने के नाम नहीं होने देंगे शोषण: चेयरमैन हाजी अख्तर जलील

नगरपालिका की बोर्ड की मीटिंग का हुआ आयोजन
बिजनौर। स्योहारा नगरपालिका की बोर्ड की एक मीटिंग का आयोजन मीटिंग कक्ष में हुआ, जिसकी अध्यक्षता चेयरमैन हाजी अख़्तर जलील व इओ एपी पांडे ने संयुक्त रूप से की।मीटिंग में गत बोर्ड की मीटिंग की पुष्टि के अलावा नगरपालिका द्वारा चल रहे अतिक्रमण अभियान के अंतर्गत भेदभाव पूर्ण रवैया अपनाने, स्ट्रीट वेंडरों को स्थान मुहैया कराए जाने, पालिका द्वारा अतिक्रमण मुक्त कराए गए सरकारी भूमि पर पालिका द्वारा कब्ज़ा किये जाने, नगर में सड़कों की मरम्मत, निर्माण, गड्ढों, चैनल मरमत, निर्माण का कार्य, भवन के मानचित्रों की स्वीकृति व अन्य बिंदुओं पर विचार अध्यक्ष की अनुमति से रखे गए।


इस मौके पर चेयरमैन हाजी अख्तर जलील ने कहा कि अतिक्रमण हटाने के नाम पर किसी दुकानदार के सामने से कोई भी पटरा तोड़ा नहीं जाएगा। यदि कोई कर्मचारी इस मामले में दोषी पाया गया तो उस पर कार्यवाही की जायेगी।साथ ही इस कार्यवाही में किसी तरह का भेदभाव भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।


इओ एपी पांडे ने भी कहा कि अतिक्रमण हटाने के नाम पर किसी भी दुकानदार का शोषण नहीं किया जाएगा, यदि किसी कर्मचारी की शिकायत मिली तो उसको बक्शा नहीं जाएगा।
इस मौके पर लिपिक देवेन्द्र सिंह, मुकुल विश्नोई, मो. शान के अलावा सभासद इकरामुद्दीन, नसीम कुरेशी, अकरम, मो. यूनुस, यासीन, जयशंकर शर्मा, सनी रस्तोगी, संजीव भारद्वाज, बदर खान, इरफान व कई महिला सभासद भी मौजूद रहीं।

अतिक्रमण जमींदोज करता पंजा

अतिक्रमण हटाने को चला बुलडोजर

बिजनौर। अतिक्रमण के खिलाफ जारी अभियान शुक्रवार को भी जारी रहा। नगरपालिका व पुलिस टीम की मौजूदगी में नुमाइश ग्राउंड से बैराज कॉलोनी तक अवैध अतिक्रमण को लेकर बुलडोजर चलाया गया। कई स्थानों पर जेसीबी मशीन से अवैध निर्माण व होर्डिंग्सआदि को हटाया गया।

इस दौरान शहर कोतवाल रविंद्र कुमार वशिष्ठ, नगर पालिका ईओ विकास कुमार, खाद्य निरीक्षक गोविंद चौधरी, राजस्व निरीक्षक ऋषि पाल, सुंदरलाल नायब तहसीलदार सदर, टैक्स कलेक्टर रमेश कुमार आदि मौजूद रहे। इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए भारी पुलिस बल भी तैनात रहा।

हम हैं एसडीएम, पहचान लो दबंगों

दबंगों से डरा चालक तो एसडीएम ने खुद ट्रैक्टर चला कर हटाया अतिक्रमण। डीएम के निर्देश पर एक्शन मोड़ में प्रशासन। अवैध कब्जाधारकों की आई शामत

बिजनौर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कड़े तेवरों के बाद प्रदेश भर में सरकारी तालाब, भूमि पर अवैध कब्जे मुक्त कराए जा रहे हैं। वहीं जिलाधिकारी उमेश मिश्रा ने भी जनपद में कार्यभार संभालने ही अपनी प्राथमिकताओं का इजहार कर दिया। डीएम ने साफ कर दिया कि अवैध काम करने वाले किसी भी सूरत में बख्शे नहीं जाएंगे।

इसी क्रम में ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/ उपजिलाधिकारी सदर विक्रमादित्य सिंह मलिक ने ग्राम खानजहांपुर बहादर परगना व तहसील बिजनौर के राजस्व अभिलेखों में अंकित तालाब गाठा संख्या 8 रकबा 0.453 हेक्टेयर की भूमि को कब्जा मुक्त करवाने का अभियान चलाया।

इससे पूर्व गांव में मुनादी पिटवाई गई और सभी ग्राम वासियों को सतर्क किया गया, लेकिन जब कब्जाधारियों के डर से चालक सतपाल ने ट्रैक्टर चलाने से इन्कार कर दिया, तो उपजिलाधिकारी ने स्वयं ट्रैक्टर चला कर कब्जा मुक्त करा कर प्रशासन का डर कब्जाधारियों में स्थापित किया।

एसडीएम ने अवैध रूप से खड़ी फसल का पूर्ण रूप से अतिक्रमण हटाया। भूमि को कब्जा मुक्त कराने के पश्चात उन्होंने मौके पर उपस्थित क्षेत्रीय ग्राम पंचायत अधिकारी सलवेंदर राठी को जेसीबी से तालाब खुदवाने और सौंदर्यीकरण करवाने को निर्देश दिए गए। मौके पर उपजिलाधिकारी के साथ राजस्व निरीक्षक उधम सिंह और लेखपाल सुनील कुमार समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

बरसात से पहले हो नालों की सफाई: SDM नजीबाबाद

बरसात से पहले हो नालों की सफाई: उपजिलाधिकारी। नगर पंचायत जलालाबाद क्षेत्र में किया औचक निरीक्षण।

बिजनौर। उपजिलाधिकारी नजीबाबाद ने नगर पंचायत जलालाबाद क्षेत्र का औचक निरीक्षण कर जनता से उनकी परेशानियां जानीं। उपजिलाधिकारी ने उक्त क्षेत्र मे अटे पड़े नालों को बरसात से पहले साफ कराने के निर्देश नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी को दिए। शुक्रवार को उपजिलाधिकारी परमानंद झा ने नगर पंचायत जलालाबाद क्षेत्र पहुंच कर औचक  निरीक्षण किया। उन्होंने नगर पंचायत जलालाबाद क्षेत्र की जनता से सीधे बातचीत कर उनकी समस्याओं को जाना और उन्हें हल कराने का आश्वासन दिया। उन्होंने पाया कि जलालाबाद क्षेत्र की मुख्य समस्याओं में बाईपास मार्ग पर बने पानी के नाले बंद पड़े हैं। इस कारण लोगों को बरसात के दिनों में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। एसडीएम ने नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी हरिनारायण सिंह को अटे पड़े नालों को हर हाल में बरसात से पहले सफाई कराकर खुलवाने के निर्देश दिए। इसके अलावा एसडीएम ने निरीक्षण के दौरान जनता से मिली शिकायतों के निस्तारण को शीघ्र कार्यवाही करने के निर्देश भी नगर पंचायत के अधिकारियों को दिए। इससे पूर्व में नगर पंचायत जलालाबाद के भाजपा के नामित सभासदों ने क्षेत्र की समस्याओं से नगर पंचायत के ईओ को अवगत कराया था। इस पर ईओ ने नामित सभासद दीपक कुमार की निगरानी में जलालाबाद-आदर्शनगर मार्ग पर लगे कूड़े के ढेरों को जेसीबी से हटवाए जाने तथा मिट्टी डलवाए जाने का कार्य कराया था। उपजिलाधिकारी के निरीक्षण के दौरान नगर पंचायत जलालाबाद के अधिशासी अधिकारी हरिनारायण सिंह, लेखपाल प्रमोद राजपूत, नामित सभासद दीपक कुमार, नगर पंचायत जलालाबाद का स्टाफ, सफाई नायक नईम अहमद, सोहनलाल, नौशाद, रशीद अहमद आदि मौजूद रहे।

एसडीएम बिजनौर ने चलाया तालाब कब्जा मुक्त करने का अभियान

एसडीएम ने चलाया तालाब कब्जा मुक्त करने का अभियान। अवैध रूप से खड़ी फसल का पूर्ण रूप से हटाया।

बिजनौर। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/उपजिलाधिकारी सदर विक्रमादित्य सिंह मलिक द्वारा तालाब को कब्जा मुक्त करने का अभियान चलाया गया। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/उपजिलाधिकारी सदर विक्रमादित्य सिंह मलिक द्वारा शुक्रवार को ग्राम खानजहांपुर बहादर परगना व तहसील बिजनौर में स्थित व राजस्व अभिलेखों में अंकित तालाब (गाठा संख्या 22 रकबा 0.052हैक्टेयर, गाठा संख्या 23 क्षेत्रफल 0.384हैक्टेयर व गाठा संख्या 24 क्षेत्रफल 0.413 हैक्टेयर, कुल क्षेत्रफल.0.849) को कब्जा मुक्त करवाने का अभियान चलाया गया। पूर्व में गांव में मुनादी पिटवाई गई और सभी ग्राम वासियों को सतर्क किया गया। अवैध रूप से खड़ी फसल का पूर्ण रूप से अतिक्रमण हटाया गया। 

उपजिलाधिकारी बिजनौर एवं राजस्व टीम की उपस्थिति में अवैध कब्जे से मुक्त कराने के पश्चात स्थल पर उपस्थित क्षेत्रीय ग्राम पंचायत अधिकारी सलवेन्दर राठी को जेसीबी से तालाब खुदवाने और पुनर्जीवित करने और तालाब का सोंदर्यकरण हेतु निर्देश दिए गए। उपजिलाधिकारी के साथ मौके पर राजस्व निरीक्षक उधम सिंह, लेखपाल सुनील कुमार और ग्राम पंचायत अधिकारी सलवेन्दर राठी समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

आम्रपाली बिल्डर्स से मुक्त कराई चारागाह की जमीन

तहसील प्रशासन ने पैमाइश कर सुरक्षित की अवैध कब्जा की जा रही चारागाह की जमीन


लखनऊ। मलिहाबाद तहसील प्रशासन टीम ने कनार पंचायत में आम्रपाली बिल्डर्स के द्वारा कब्जा की जा रही चारागाह की जमीन की पैमाइश कर उस पर बोर्ड लगा कर उसे सुरक्षित किया ।

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट व उपजिलाधिकारी प्रणता ऐश्वर्या ने बताया कि चारागाह की जमीन पर आम्रपाली बिल्डर्स द्वारा अवैध कब्जा किया जा रहा था। सूचना मिलने पर मौके पर जाकर चारागाह की जमीन की पैमाइश की गई तथा बोर्ड लगाकर उसे सुरक्षित किया।

जानकारी के मुताबिक चारागाह की जमीन खसरा संख्या 63 व 1 पर अवैध कब्जा किया जा रहा था। यह सूचना तहसील प्रशासन को दी गई थी।तहसीलदार शंभू शरण ने त्वरित कार्रवाई करते हुए जमीन पर से कब्जा मुक्त कराते हुए उसे सुरक्षित किया। आपको बताते चलें कि लखनऊ हरदोई रोड से सटी हुई इस जमीन की कीमत करोड़ों में होने के कारण भू माफियाओं की नजर इस जमीन को हथियाने में लगी हुई है ।

सरकारी जमीन पर प्रधान का अवैध निर्माण ध्वस्त कराया

तहसील प्रशासन ने चारागाह की जमीन पर अवैध निर्माण कराया ध्वस्त। लेखपाल कानूनगो पैमाइश गलत कर के प्रधान के कब्जे वाली जमीन को अतिक्रमण में नहीं दिखाते थे। पूर्व प्रधान पति राकेश पर विधिक कार्रवाई कर मुकदमा दर्ज कराने के साथ-साथ जुर्माना भी वसूला जायेगा।

लखनऊ। मलिहाबाद तहसील प्रशासन की टीम ने चारागाह की जमीन पर कब्जा कर बनाये गये मकान के अतिक्रमण को ध्वस्त कर चारागाह की जमीन को मुक्त कराया।

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट व उपजिलाधिकारी प्रणता ऐश्वर्या ने बताया कि चारागाह की जमीन पर अवैध कब्जा कर बनाए गए मकान का अतिक्रमण ध्वस्त कर दिया गया है तथा विधिक कार्रवाई कर मुकदमा पंजीकृत किया जा रहा है।

उप जिलाधिकारी ने बताया कि मड़वाना सैदापुर चौराहे पर चारागाह की भूमि पर अवैध अतिक्रमण की शिकायत थी इसमें चारागाह का नक्शा भी छोटा बना हुआ था ।
जहां पर अतिक्रमण की शिकायत की गई थी शिकायत के बाद जॉइंट मजिस्ट्रेट द्वारा मौक़े पर जा कर स्थलीय निरीक्षण किया गया, पैमाइश कराई गई व अवैध अतिक्रमण को ध्वस्त किया गया।

लोगों के यह भी आरोप हैं कि लेखपाल कानूनगो पैमाइश गलत कर के प्रधान के कब्जे वाली जमीन को अतिक्रमण में नहीं दिखाता था। उसमें प्रधान के कब्जे में बाउंड्रीवाल और एक दुकान भी बनी हुई थी उसको पूरी तरीके से ध्वस्त करा दिया।

जानकारी के मुताबिक चारागाह की जमीन धारा 67 के तहत बेदखली का आदेश पारित हो चुका था इसलिए उसको गिरा दिया है। स्थानीय राजनीति की वजह से लोगों में ज्यादा इस चीज को विवाद दे रहे थे।

तहसीलदार मलिहाबाद शंभू शरण ने बताया कि गाटा संख्या 257 की सरकारी जमीन पर अतिक्रमण करने पर मड़वाना निवासी पूर्व प्रधान पति राकेश के ऊपर विधिक कार्रवाई कर मुकदमा दर्ज कराने के साथ-साथ जुर्माना भी वसूला जायेगा। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण करने वालों को किसी भी स्थिति में नहीं बख्शा जाएगा। यदि किसी के खिलाफ ऐसी शिकायत मिलती है तो विधिक कार्रवाई कर मुकदमा पंजीकृत कराने के साथ-साथ भारी जुर्माना भी लगाया जाएगा।

मलिहाबाद पुलिस ने कसा अतिक्रमणकारियों पर शिकंजा

रहीमाबाद चौकी पुलिस

अतिक्रमणकारियों को हिदायत, वाहनों की चेकिंग, चालान

लखनऊ। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण लखनऊ हृदेश कुमार के निर्देशन व मलिहाबाद क्षेत्राधिकारी योगेंद्र कुमार के नेतृत्व में कोतवाली मलिहाबाद अंतर्गत कसमंडी व रहीमाबाद चौकी प्रभारी ने शांति व्यवस्था बनाए रखने हेतु मुख्य बाजार व चौराहों पर पैदल गश्त किया। चेकिंग के दौरान 3 वाहनों के चालान किये गये।

थाना चौकी क्षेत्र के चौराहों और मुख्य मार्ग पर अतिक्रमण करने वालों को सख्त चेतावनी दी गई। भविष्य में यदि मुख्य मार्ग पर अतिक्रमण पाया गया तो दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

वाहन चेकिंग करते कसमंडी चौकी पुलिस

कसमंडी चौकी प्रभारी द्वारिका प्रसाद प्रजापति ने पुलिस बल के साथ अतिक्रमणकारियों को नियमों व दिशा निर्देश से अवगत कराते हुए जागरूक किया। उन्होंने हिदायत दी कि अगर अतिक्रमण का कोई मामला प्रकाश में आया तो संबंधित को कतई बख्शा नहीं जाएगा। उस पर मुकदमा पंजीकृत किया जाएगा। इस दौरान वाहन चेकिंग अभियान भी चलाया गया।

दूसरी ओर रहीमाबाद चौकी प्रभारी रविंद्र कुमार ने मुख्य चौराहे पर बेवजह जाम लगाने वाले शरारती तत्वों को चिन्हित करते हुए वाहनों की सघन चेकिंग की। उन्होंने शरारती तत्वों को भविष्य में भीड़ ने लगाने की सख्त चेतावनी देते हुए फटकार लगाई।