बिजनौर में मिले 495 संक्रमित, दो मौत की पुष्टि 

बिजनौर में मिले 495 संक्रमित, दो मौत की पुष्टि 

बिजनौर। जनपद में कोरोना संक्रमण बेकाबू होता नजर आ रहा है। शनिवार को 495 नए संक्रमितों की पुष्टि होने के साथ ही सक्रिय केस की संख्या 2584 हो गई है। शनिवार को 2584 टेस्ट रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 495 को कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनमें जिला अस्पताल के कुछ चिकित्सक व एल-टू हॉस्पिटल में तैनात स्वास्थ्यकर्मी भी शामिल हैं। संक्रमितों में बिजनौर शहर में 112, मोहम्मदपुर देवमल (चंदक) ब्लॉक में 79, अल्हैपुर धामपुर ब्लॉक में 48, हल्दौर ब्लॉक में 37, जलीलपुर में 30, अफजलगढ़ (कासिमपुर गढ़ी) में 13, किरतपुर में 21, कोतवाली में 18, नजीबाबाद में 60, आंकू (नहटौर) में 4, नूरपुर में 51 तथा बुढऩपुर स्योहारा ब्लॉक में 22 लोगों को पुष्टि हुई है। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. विजय कुमार यादव ने बताया कि मोहल्ला चाहशीरी बी-24 बिजनौर निवासी एक 75 वर्षीय कोरोना संक्रमित महिला की मृत्यु 20 अप्रैल को टीएमयू में होने की पुष्टि पोर्टल पर हुई है। उक्त महिला डायबिटीज से भी पीडि़त थी। इसके अलावा उसी दिन टीएमयू मुरादाबाद में नूरपुर ब्लॉक के खासपुरा निवासी एक 70 वर्षीय कोरोना संक्रमित व्यक्ति की भी मृत्यु की जानकारी पोर्टल पर मिली है। इसी के साथ जनपद में कुल केस की संख्या 7735 पहुंच गई है। कुल ठीक होने वाले 5079 हैं, जबकि कुल मौत का आंकड़ा 72 पर पहुंच गया है। 

घरों में रहना बेहतर समझा लोगों ने, सड़कों पर पसरा रहा सन्नाटा

लॉक डाउन: पहले दिन लोगों ने घरों में रहना बेहतर समझा सड़कों पर पसरा रहा सन्नाटा। अति आवश्यक कार्य से ही निकले लोग। हूटर बजाते दौड़ती रहीं पुलिस की गाडिय़ां।

बिजनौर। कोरोना के कहर पर ब्रेक लगाने के उद्देश्य से लगाए गए वीकेंड लॉक डाउन के पहले दिन ही खासा असर दिखाई दिया। शहर की सडक़ें पूरी तरह सुनसान रहीं। मेडिकल स्टोर व दूध की कुछ दुकानें ही खुलीं, लोगों ने घरों में ही कैद रहना मुनासिब समझा। वहीं सड़कों पर दौड़ती पुलिस की गाड़ियों का बजता हूटर भी लोगों को घर में ही रहने की हिदायत दे रहा था। शाम को आवाजाही में बढ़ोतरी हुई। रात्रि आठ बजे के बाद में फिर एक बार सन्नाटा पसर गया।

कोरोना की दूसरी लहर से निपटने को प्रदेश सरकार द्वारा शनिवार व  रविवार को लॉक डाउन लगाने का निर्णय लिया गया है। शुक्रवार रात्रि आठ बजे तक लोग आराम से सडक़ पर चहलकदमी कर रहे थे। किसी को चिंता ही नहीं थी कि रोजाना की तरह रात्रि कर्फ्यू ही नहीं सोमवार सवेरे तक लॉक डाउन भी है। रात्रि करीब साढ़े आठ बजे जब पुलिस सड़क पर उतरी तो नजारा बदल गया। लोग, दुकानदार, ठेले वाले घरों की ओर भागने लगे। देखते ही देखते बाजार पूरी तरह बंद हो गया। दो दिवसीय लॉक डाउन के पहले दिन शनिवार को सुबह से ही सड़कों पर आवाजाही बेहद कम रही। मुख्य बाजार, सिविल लाइन, शास्त्री चौक, जजी चौक आदि पर दुकानें शत प्रतिशत बंद रहीं। पिछले कुछ दिनों से कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए बाजार में भीड़ वैसे भी कम ही देखी जा रही थी। शनिवार को अधिकांश लोग घर से बाहर नहीं निकले। वहीं शाम होते होते गली मोहल्लों में ही थोड़ी बहुत हलचल दिखाई पड़ी। हालांकि लोग मास्क और सामाजिक दूरी का पालन करते नजर आए। 

पुलिस को देख छिपने वाले फिर उतरे मैदान में: दो दिन के लॉक डाउन के चलते हल्दौर नगर में बाजार पूर्ण रूप से बंद रहा, ग्रामीण क्षेत्रों में वीकेंड लॉक डाउन पूरी तरह बेअसर साबित हुआ। शहर में पुलिस की कड़ी सख्ती होने के कारण लोगों ने  इसका पालन किया, जबकि ग्रामीण इलाकों में इसका तनिक भी असर नहीं दिखाई दिया। पुलिस का वाहन गांव के गलियों में गुजरते ही सायरन की आवाज सुनकर बाहर घूमने वाले भाग खड़े होते। बाद में सभी एकजुट होकर बैठ जाते।

नगीना में पूरी तरह बंद रहे बाजार: लॉक डाउन के चलते नगीना के समस्त बाजार पूरी तरह बंद रहे। कोई वाहन नहीं चला। प्रशासन ने फलों व सब्जी के ठेले तक नहीं लगने दिए। राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित सभी होटल व रेस्टोरेंट भी बंद रहे। रोजेदारों को रोजा इफ्तारी का सामान नहीं मिल सका। महिलाओं ने घर मे ही बनाया। मंडी में सब्जी व फल विक्रेताओं की बैठक में प्रशासन से अपील की गई कि वह पाबंदी न लगाएं। नगर में सफाई व्यवस्था नगर पालिका द्वारा कराई गई। थाना प्रभारी कृष्ण बिहारी दोहरे ने चेताया है कि यदि कोई बिना मास्क लगाए घूमता पाया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के साथ ही जुर्माना वसूला जाएगा। सभी को कोविड-19 के निर्देशों का पालन करने की अपील की गई है।

गर्म पानी+नींबू+बेकिंग सोडा=कोरोना खत्म!

कोरोना वायरस की दूसरी लहर भारत समेत पूरी दुनिया में कहर बरपा रही है। संक्रमण के नए मामलों में तेजी के साथ ही मौत के आंकड़ों में भी लगातार इजाफा हो रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में 3,32,730 नए कोरोना केस आए और 2263 लोगों की जान चली गई है। सोशल मीडिया पर रोजाना इस खतरनाक वायरस के इलाज के नुस्खे वायरल हो रहे हैं। एक ऐसा ही मैसेज इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें दावा किया जा रहा है कि नींबू की स्लाइस और बेकिंग सोडा के साथ गर्म पानी पीने से कोरोना वायरस तुरंत मर जाता है।

क्या हो रहा वायरल- सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज में लिखा गया है कि इजरायल से कोरोना का इलाज सामने आया है। इस मैसेज में बताया गया है कि लोगों को गर्म पानी में नींबू की स्लाइस और बेकिंग सोडा मिलाकर दोपहर में चाय की तरह पीना चाहिए। इससे कोरोना वायरस पूरे शरीर से खत्म हो जाता है। कहा जा रहा है कि इसी उपाय से इजरायल में कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई है।

क्या है सच- भारत सरकार की सूचना एजेंसी प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो (PIB) की फैक्ट चेक टीम ने सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस मैसेज का खंडन किया है। PIB ने अपने ट्वीट में लिखा है, “सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया गया है कि नींबू की स्लाइस और बेकिंग सोडा के साथ गर्म पानी का सेवन करने से कोरोना वायरस को खत्म किया जा सकता है। यह दावा पूरी तरह से फर्जी है। इस बात का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है कि नींबू और बेकिंग सोडा से कोरोनावायरस का इलाज हो सकता है।”

कोरोना से पीड़ित हेड मोहर्रिर का निधन

कोरोना से पीड़ित हेड मोहर्रिर की मौत
बिजनौर। कोरोना लगातार घातक सिद्ध होता जा रहा है। पांच दिन पूर्व कोरोना पॉजिटिव आए कोतवाली के हेड मोहर्रिर की मुरादाबाद के अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। सूचना के बाद पुलिस महकमे में शोक है, वहीं कोरोना को लेकर दहशत व्याप्त हो गई है।
जिला बरेली के थाना भामोरा क्षेत्र गांव झिझरी निवासी श्याम बहादुर (52 वर्ष) चांदपुर कोतवाली में हेड मोहर्रिर के पद पर तैनात थे। 14 अप्रैल को उनकी तबियत खराब हुई तो कोरोना की जांच कराई। वह कोरोना संक्रमित निकले। उसके बाद 16 अप्रैल को उन्हें मुरादाबाद के टी एमयू अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी तबियत और बिगड़ गई। कोतवाली निरीक्षक पंकज तोमर ने बताया कि बुधवार देर शाम श्याम बहादुर की इलाज के दौरान मौत हो गई। अचानक हुई हेड मोहर्रिर की मौत से स्टाफ सहमा हुआ है।

consumerhelpline.gov.in पर जाकर करें कालाबाजारी के खिलाफ शिकायत

consumerhelpline.gov.in पर जाकर करें कालाबाजारी के खिलाफ शिकायत। …या फिर करें 1800-11-4000 पर कॉल।

लखनऊ। कोरोना वायरस के कारण देशभर में हालात बिगड़ते जा रहे हैं। इसी को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ ने अग्रिम आदेश तक रोजाना रात्रि कर्फ्यू के साथ ही शनिवार व रविवार को लॉक डाउन घोषित कर दिया है। आने वाले दिनों में किसी परेशानी से बचने के लिए घबराहट में लोग सामान खरीदकर अपने घरों में भर रहे हैं। इस मौके का फायदा उठाकर कई जगह दुकानदार मनमानी करने लगे हैं। ग्राहकों से मनमाने तरीके से वसूली की जा रही है। अगर आप भी इस परेशानी का सामना कर रहे हैं तो सरकार से घर बैठे इसकी शिकायत कर सकते हैं।

शिकायत करने के तरीके

1. कंज्यूमर मामले की शिकायत consumerhelpline.gov.in पर जाकर ऑनलाइन कर सकता है।

2. कंज्यूमर टोल फ्री नंबर 14404 या फिर 1800-11-4000 पर फोन करके भी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।

3. कंज्यूमर 8130009809 नंबर पर एसएमएस भेजकर भी शिकायत कर कर सकते हैं। एसएमएस मिलने के बाद कंज्यूमर को फोन किया जाएगा और उसकी शिकायत दर्ज की जाएगी।

जानिए अपने अधिकार:

1-सुरक्षा का अधिकार यानी सही वस्तुओं और सेवाओं को पाने का अधिकार है। अगर कोई वस्तु या सेवा कंज्यूमर के जीवन और संपत्ति के लिए खतरनाक है, तो उसके खिलाफ सुरक्षा पाने का अधिकार है।

2- सूचना के अधिकार यानी कंज्यूमर को वस्तुओं और सेवाओं की गुणवत्ता, मात्रा, शक्ति, शुद्धता, मानक और कीमत के बारे में जानकारी पाने का अधिकार है। इसका मतलब यह है कि अगर कोई दुकानदार या सप्लायर या फिर कंपनी आपको किसी वस्तु या सामान की सही जानकारी नहीं देती है, तो उसके खिलाफ आप केस कर सकते हैं।

3- चुनने का अधिकार यानी कंज्यूमर को वस्तुओं और सेवाओं को चुनने का अधिकार है। वो अपनी पसंद की सेवा या वस्तु का चुनाव कर सकता है। किसी भी कंज्यूमर को कोई विशेष वस्तु या सेवा लेने के लिए बाध्य नहीं किया जाएगा।

सख्त कार्रवाई करेगी सरकार: सामानों की कालाबाजारी कर मनमानी कीमत वसूलने वालों को सावधान होने की जरूरत है। शिकायत मिलने पर सरकार सख्त कार्रवाई करेगी। ऐसे लोगों पर सरकार की नजर है। सरकार कोरोना के खतरे से उत्पन्न स्थिति में तमाम आवश्यक वस्तुओं की बाजार में उपलब्धता पर लगातार नजर बनाए हुए है। इसके साथ ही सभी राज्य सरकारों के संपर्क में है ताकि कहीं भी किसी चीज की किल्लत न हो। सभी उत्पादकों और व्यापारियों से भी अपील है कि इस घड़ी में मुनाफाखोरी से बचें।

संबंधित पोस्ट- https://wp.me/pcjbvZ-10N

लॉक डाउन: सभी दुकानें व साप्ताहिक बाजार रहे बंद, जिले में सैनिटाइजर का छिड़काव

रविवार लॉक डाउन में सभी दुकानें एवं साप्ताहिक बाजार रहे बंद

बिजनौर। रविवार को लॉक डाउन में सभी दुकानें एवं साप्ताहिक बाजार बंद रहे। लोगों ने कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए सभी दुकानें एवं बजारो को बंद रखा। सभी जगह माहौल शांतिपूर्ण रहा। वहीं जिले भर में फायर टेंडरों से 57 स्थानों पर सैनिटाइजर का छिड़काव किया गया।

पुलिस ने चप्पे चप्पे पर पैनी नजर बनाए रही। किराना, दूध,दवाइयों जैसी आवश्यक वस्तुओं की कुछ दुकानें खुली रहीं। बिना मास्क लगाए घूमने वालों को गाइडलाइन का पाठ पढ़ाते हुए पुलिस ने जुर्माना भी वसूला। वहीं सरकार द्वारा जुर्माना राशि ₹1000 कर दिए जाने का डर भी लोगों में रहा।

पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने गांव गांव जाकर जाएजा लिया। ग्राम गजरौला शिव में भी लोगों ने गाइडलाइन का पालन करते हुए सभी दुकानों को बंद रखा।

दूसरी ओर रविवार को पुलिस अधीक्षक डॉ धर्मवीर सिंह और चीफ फायर ऑफिसर अजय कुमार शर्मा के निर्देशन में सैनिटाइजेशन किया गया। फायर सर्विस की यूनिटों द्वारा व नगरपालिका के सहयोग से सैनिटाइजेशन किया गया। चार फायर टेंडरों व एक वॉटर मिस्ट का प्रयोग किया गया। जिला मुख्यालय पर डाकखाने से शक्ति चौक, सदर बाजार, स्थानीय मार्केट, सब्जी मंडी, पुलिस चेकपोस्ट शक्ति चौक, आदि स्थानों पर सैनिटाइजर का छिड़काव किया गया। वहीं जिले के अन्य शहरों में 57 स्थानों पर दमकल विभाग की गाड़ियों से सेनिटाइजर का छिड़काव किया गया।

मास्क को लेकर पुलिस सख्त

बिना मास्क लगाए लोगों के चालान, हड़कंप
सीओ के नेतृत्व में नजीबाबाद पुलिस ने चलाया अभियान
रेलवे स्टेशन पुलिस चौकी क्षेत्र में की चैकिंग

बिजनौर। कोरोना संक्रमण के तेजी के साथ पैर पसारने के बावजूद लोग लापरवाह होकर घूमते नजर आ रहे हैं। पुलिस ने गाइड लाइन का पालन कराने के लिए बिना मास्क के घूमने वाले लोगों के चालान काटे। पुलिस क्षेत्राधिकारी नजीबाबाद ने भी लोगों को मास्क पहन कर घूमने की हिदायत दी है।
क्षेत्र में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बावजूद लोग सरकार की ओर से जारी दिशा निर्देशों का पालन करने को तैयार नहीं हैं। यह देखते हुए पुलिस भी हरकत में आ गयी है। पुलिस ने एक बार फिर बिना मास्क के घूम रहे लोगों के चालान करने और चेतावनी देने का काम शुरू कर दिया है। बिना मास्क के घूम रहे लोगों की पुलिस जमकर क्लास लगा रही है। पुलिस क्षेत्राधिकारी गजेन्द्र पाल सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम ने दर्जनों लोगों के मास्क न लगाने पर चालान काटे, जिससे रास्ते से गुजर रहे लोगों में हड़कम्प मच गया। क्षेत्राधिकारी ने पुलिस टीम के साथ स्टेशन चौकी पर अभियान चलाते हुए बिना मास्क के घूमने वाले लोगों के चालान काटे। उन्होंने लोगों को मास्क पहनने के प्रति जागरूक करते हुए कोरोना से बचाव  के लिए सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का कड़ाई से पालन करने की सलाह दी। हालांकि पुलिस ने कई लोगों को चेतावनी देकर छोड़ दिया, जिनमें अधिकांश महिलाएं व बच्चे शामिल रहे। साथ ही कहा कि फिर से बिना मास्क लगाए घूमते पाए जाने पर बख्शा नहीं जाएगा। पुलिस अभियान चलता देख मास्क न लगाने वालों में हड़कम्प मचा रहा।

नजीबाबाद कोतवाल ने किया ग्रामीणों को जागरूक
बिजनौर। कोतवाली थाना प्रभारी निरीक्षक दिनेश गौड़ ने अपनी टीम के साथ विकास खंड के ग्राम बिजौरी, पुरनपुर, खैरुल्लापुर, रानीपुर आदि में भ्रमण कर ध्वनि विस्तारक यंत्र (लाउडस्पीकर) के माध्यम से ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान प्रत्याशी किसी भी मतदाता को प्रलोभन न दें। चुनाव के दौरान शराब अथवा अन्य सामग्री बांटे जाने की शिकायत मिलने पर आरोपी के विरुद्ध नियमानुसार कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के फैलने को देखते हुए बिना किसी जरूरी काम के घरों से बाहर न निकलें। सभी लोग मास्क व सेनिटाइजर का प्रयोग करें तथा एक दूसरे से दो गज की दूरी के नियम का पालन करें। सरकार की ओर से कोविड-19 को लेकर जारी की गयी सभी गाइड लाइन का सख्ती से पालन करें और स्वयं के साथ-साथ दूसरों को भी सुरक्षित रखने में सहयोग करें।

राज्य नोडल अधिकारी ने की स्वास्थ्य सेवाओं की समीक्षा

राज्य नोडल अधिकारी ने किया अस्पताल का दौरा
प्रशासनिक व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी रहे साथ
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर व्यवस्थाओं का लिया जायजा

बिजनौर। शासन की ओर से भेजे गए राज्य नोडल अधिकारी ने प्रशासनिक व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचकर निरीक्षण किया और व्यवस्थाओं का जायजा लिया।
बुधवार को राज्य नोडल अधिकारी ने नजीबाबाद क्षेत्र के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र समीपुर पहुंचकर कोरोना संक्रमण से संबंधित स्वास्थ्य सेवाओं की समीक्षा की। जनपद बिजनौर के लिए कोरोना संक्रमण रोकने और स्वास्थ्य सेवाओं को प्रभावी बनाने के लिए शासन की ओर से तैनात किए गए राज्य नोडल अधिकारी योगेश कुमार के अस्पताल का निरीक्षण करने के दौरान उपजिलाधिकारी परमानंद झा, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा.पीआर नायर, नोडल कोरोना डा.फैज हैदर भी मौजूद रहे। राज्य नोडल अधिकारी ने डिप्टी सीएमओ और चिकित्सकों से कोरोना संक्रमितों के इलाज और संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए क्षेत्र व अस्पताल में की गयी व्यवस्थाओं की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने और स्वास्थ्यकर्मियों की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए ऑनलाइन चिकित्सा सेवा को प्रभावी किया जाएगा। उन्होंने संक्रमित मरीजों और चिकित्सकों के बीच बेहतर इलाज व्यवस्था और स्वास्थ्य टीम को संक्रमण से स्वस्थ रखने के लिए ऑनलाइन चिकित्सा सेवा को तत्काल प्रभावी बनाने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान राज्य नोडल अधिकारी ने थर्मल स्क्रीनिंग मशीन की गुणवत्ता परखी तथा उच्च गुणवत्ता के स्वास्थ्य उपकरणों को प्रयोग करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ऐसे संक्रमित रोगियों को घर पर रहकर इलाज की अनुमति दी जाए जिनके पास परिवार से पृथक कमरा, टायलेट, थर्मल स्क्रीनिंग मशीन तथा गाइड लाइन के अनुसार अन्य सुविधाएं मौजूद हों। नोडल अधिकारी ने उपजिलाधिकारी परमानंद झा, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. पीआर नायर, नोडल कोरोना डा. फैज हैदर, डा. राजेश वर्मा, डा. शील, वैक्सीनेशन कार्य से सम्बन्धित मोनिका पाल व प्रदीप रावत से संक्रमितों के इलाज और वैक्सीनेशन को प्रभावी बनाने पर चर्चा की।

चार दिवसीय विशेष टीका उत्सव का शुभारंभ

बिजनौर। चार दिवसीय विशेष टीका उत्सव कार्यक्रम के अतंर्गत जिला अस्पताल के कोविड-19 वैक्सीनेशन कक्ष का मुख्य विकास अधिकारी केपी सिंह ने फीता काट कर विधिवत रूप से उद्घाटन किया। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. विजय कुमार यादव, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा.एसके निगम, मुख्य चिकित्साधीक्षक डा. ज्ञान सिंह, शहर के प्रबुद्व नागरिक एवं समाज सेवी खान ज़फ़र सुल्तान के अलावा अन्य विभागीय एवं चिकित्साधिकारी मौजूद थे।

शासन के निर्देशों के अनुपालन में कोविड 19 महामारी से जन सामान्य की समुचित सुरक्षा एवं बचाओ के लिए 11 अप्रैल से 14 अप्रैल 21 तक चार दिवसीय विशेष टीका अभियान चलाया जा रहा है। शासन द्वारा उत्तर प्रदेश में यह अभियान विशेष टीका उत्सव के रूप में मनाए जाने का निर्णय लिया गया है। इस दौरान समाज के विभिन्न वर्गों से समन्वय स्थापित करके आम नागरिकों को अधिक से अधिक कोविड-19 टीकाकरण के लिए प्रेरित करने का प्रयास किया जाएगा। सीडीओ ने जिला अस्पताल में स्थापित कोविड-19 वैक्सीनेशन पंजीकरण कक्ष, वैक्सीनेशन कक्ष, ऑब्जर्वेशन कक्ष आदि का निरीक्षण किया और कोविड वेक्सीन को सुरक्षित रखने वाली व्यवस्थाओं का भी जायजा लिया। निर्देश दिए कि जिले में कोविड वेक्सीन की किसी भी प्रकार से कमी न होने दें और वेक्सीेनेशन के लिए आने वालों को अपने परिवार के सदस्यों एवं समाज के अन्य लोगों को भी टीकाकरण कराने के लिए प्रेरित करने के लिए प्रोत्साहित करें।

पूर्व छात्र आशु गोयल ने विद्यालय में बांटे मास्क

बिजनौर। सरस्वती शिशु मंदिर व सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज चांदपुर में शहर के समाजसेवी व विद्यालय के पूर्व छात्र आशु गोयल ने आचार्य एवं छात्रों को मास्क वितरित किये। इसी के साथ श्री आशु ने कोविड-19 के नियमों का पालन करने को कहा।

प्रधानाचार्य सतेन्द्र सिंह व कौशल आर्य ने पूर्व छात्र आशु गोयल का आभार प्रकट किया और उनके उज्जवल भविष्य की कामना मां सरस्वती जी से की।

चुनाव में कोविड गाइडलाइंस का भी हो पालन: मंडलायुक्त

चुनाव निर्विघ्र, शांतिपूर्ण कराने के साथ ही कोविड गाइडलाइन का पालन हो: मण्डलायुक्त। आचार संहिता के पालन व सेनीटाइजेशन पर खास फोकस के निर्देश 

बिजनौर। त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन-2021 को स्वतंत्र, निर्बाध एवं शान्तिपूर्वक सम्पन्न कराने के लिए प्रशिक्षण सहित सभी कार्य राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुरूप कोविड-19 संक्रमण से सुरक्षित एवं बचाव को दृष्टिगत रखते हुए सम्पन्न कराना सुनिश्चित करें। यह आदेश मण्डलायुक्त मुरादाबाद आन्जनेय कुमार ने दिये। 

मण्डलायुक्त आन्जनेय कुमार गुरुवार अपरान्ह 02:00 बजे कलक्ट्रेट स्थित सभागार में औचक भ्रमण के दौरान जिले में निर्वाचन एवं कोविड-19 नियंत्रण सम्बन्धी आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए निर्देश दे रहे थे। मण्डलायुक्त ने निर्देश दिए कि आगामी त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन-2021 को स्वतंत्र, निर्बाध एवं शान्तिपूर्वक सम्पन्न कराने के लिए प्रशिक्षण सहित सभी कार्य राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुरूप सम्पन्न कराना सुनिश्चित करें। मतदान के दिन कोई भी मतदाता बिना मास्क का प्रयोग किए मतदान स्थल में प्रवेश न करने पाए। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि प्रत्येक मतदान स्थल पर पर्याप्त संख्या में फेस मास्क उपलब्ध कराने की व्यवस्था करें और मतदान से पूर्व सभी मतदान स्थलों का शत प्रतिशत रूप से सेनेटाइजेशन कराना भी सुनिश्चित करें।मण्डलायुक्त ने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन-2021 को भारत सरकार द्वारा निर्गत कोविड-19 सुरक्षा दिशा निर्देशों तथा राज्य निर्वाचन आयोग के आदेशों के अंतर्गत शांतिपूर्ण एवं सुचारू रूप से सम्पन्न कराएं ताकि सम्पूर्ण निर्वाचन प्रक्रिया को सुरक्षित एवं सुव्यस्थित रूप से सम्पन्न कराया जा सके। उन्होंने निर्देश दिए कि जिले में आदर्श आचार संहिता का किसी भी स्तर पर उल्लंघन न होने दिया जाए और न ही किसी स्थान पर भीड़ जमा होने पाए। कहा कि नामांकन स्थल पर सेनेटाइजेशन की समुचित व्यवस्था भी करें और स्थल के बाहर पानी से भरी बाल्टी एवं साबुन भी रखा जाए तथा नामांकन कराने वाले प्रत्याशी एवं प्रस्तावकों द्वारा मास्क प्रयोग सुनिश्चित कराया जाए। इस अवसर पर जिलाधिकारी रमाकान्त पाण्डेय, मुख्य विकास अधिकारी केपी सिंह, अपर जिलाधिकारी वि/रा अवधेश कुमार मिश्रा़, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. विजय कुमार यादव, जिला अर्थ एवं संख्यााधिकारी डा. हिरेन्द्र सहित सभी अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

मंडलायुक्त ने जिला अस्पताल के निरीक्षण में दिए निर्देश

मण्डल आयुक्त मुरादाबाद आन्जनेय कुमार ने किया जिला अस्पताल का विस्तृत निरीक्षण। अस्पताल में सफाई की व्यवस्था सुदृढ कराने और किसी भी स्थान पर गंदगी जमा न होने देने के निर्देश।

बिजनौर। मण्डल आयुक्त आन्जनेय कुमार द्वारा जिला अस्पताल का विस्तृत निरीक्षण किया गया। उन्होंने एल-02 अस्पताल में कोविड संक्रमित मरीजों के लिए वेन्टिलेटर, ऑक्सीजन सहित सभी आवश्यक उपकरण एवं व्यवस्थाएं अद्यतन रखने तथा किसी भी अवस्था में बजुर्ग अथवा बच्चे को अस्पताल में मरीज के पास आने की अनुमति न दिए जाने के निर्देश दिए।

मण्डल आयुक्त आन्जनेय कुमार ने गुरुवार को जिला अस्पताल का विस्तृत निरीक्षण करते हुए निर्देश दिए गए कि अस्पताल में सफाई की व्यवस्था सुदृढ कराएं और किसी भी स्थान पर गंदगी जमा न होने दें। उन्होंने कोविड वायरस संक्रमित व्यक्तियों के इलाज के लिए स्थापित एल-02 वार्ड का निरीक्षण करते हुए मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि एमरजेंसी की हालत में मरीजों की स्थिति से अवगत रहने के लिए वार्ड के मुख्य द्वार पर इन्टरकॉम की व्यवस्था की करें और किसी भी बाहरी व्यक्ति को अन्दर न आने दें।

उन्होंने इस अवसर पर आईसोलेशन वार्ड का निरीक्षण करते हुए निर्देशित किया कि वेन्टिलेटर, ऑक्सीजन सहित सभी आवश्यक उपकरण एवं व्यवस्थाएं अद्यतन रखें ताकि किसी भी अपातकालीन स्थिति में उनका तत्काल प्रयोग किया जा सके।निरीक्षण के दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि जनरल वार्ड में तीमारदारों की भीड़ पर नियंत्रण स्थापित करें और किसी भी अवस्था में बजुर्ग अथवा बच्चे को अस्पताल में मरीज के पास आने की अनुमति न दी जाए। उन्होंने मेडिकल स्टाफ एवं मरीजों को शत प्रतिशत रूप से मास्क का प्रयोग करने तथा ओपीडी में उपचार के लिए आने वाले मरीजों के लिए मास्क की अनिवार्यता के लिए मुख्य चिकित्साधिकारी को इंगित किया। उन्होंने कोविड-19 संक्रमण के बचने के दृष्टिगत सभी स्वास्थ्य अधिकारियों एवं कर्मचारियों को शत प्रतिशत रूप से कोविड सुरक्षा से संबंधित नियमों एवं निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।  इस अवसर पर जिलाधिकारी रमाकान्त पाण्डेय, मुख्य विकास अधिकारी केपी सिंह, अपर जिलाधिकारी वि/रा अवधेश कुमार मिश्रा़, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. विजय कुमार यादव, जिला अर्थ एवं संख्यााधिकारी डा. हिरेन्द्र सहित सभी अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

कैसरबाग बस स्टेशन पर परिवहन कर्मियों को निःशुल्क काढ़ा वितरित

लखनऊ के कैसरबाग बस स्टेशन पर विनायक ग्रामोद्योग संस्थान के तत्वाधान में परिवहन निगम के कर्मचारियों एवं उपस्थित मीडिया कर्मियों को नि:शुल्क काढ़ा वितरण, मीडिया संबोधन एवं सम्मान, करोना के विरुद्ध जंग जारी है।

लखनऊ। (समय चक्र टाइम्स) संकट का साथी परिवहन निगम के कर्मचारी विशेष रूप से चालक, परिचालक एवं अन्य फील्ड स्टाफ लगातार लोगों के सम्पर्क में रहते हैं। कोरोना की महामारी के दृष्टिगत इन कार्मिकों को कोविड की गाइड लाइन का अनुपालन करने के निर्देश निगम प्रबन्धन द्वारा बराबर दिये जा रहे हैं। कोरोना से जारी जंग के निमित्त यह आवश्यक है कि हमारे कार्मिकों की इम्युनटी उच्च स्तरीय हो।

इस तथ्य को मद्देनजर रखते हुए विनायक ग्रामोद्योग संस्थान के अध्यक्ष शैलेन्द्र श्रीवास्तव द्वारा कैसरबाग बस स्टेशन पर परिवहन निगम के कर्मचारियों एवं उपस्थित मीडिया कर्मियों को नि:शुल्क काढ़ा वितरण किया गया।

“विनायक ग्रामोद्योग संस्थान के अध्यक्ष शैलेन्द्र श्रीवास्तव के अथक प्रयास से राजकीय आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज लखनऊ द्वारा उपलब्ध इम्युनिटी बढ़ाने में सहायक काढ़ा का वितरण कैसरबाग बस स्टेशन पर परिवहन निगम के कार्मिकों के मध्य किया गया। उनके द्वारा यह भी आश्वासन दिया गया है कि वह इस काढ़े को परिवहन निगम के समस्त कार्मिकों को वितरित करेंगे। इसके लिये वह लखनऊ के अन्य बस स्टेशनों पर इसके लिये कैम्प लगायेंगे, साथ ही कैसरबाग बस स्टेशन पर पुनः इस प्रकार का कार्यक्रम शीघ्र ही आयोजित करेंगे। टीम कैसरबाग बस स्टेशन मैनेजमेंट श्री शैलेन्द्र श्रीवास्तव के इस भगीरथी प्रयास की सराहना करती है।”
-रमेश सिंह बिष्ट, सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक, कैसरबाग बस स्टेशन प्रबन्धन, लखनऊ।

जिला पंचायत सदस्य प्रत्याशी के पति समेत कई पर कानूनी शिकंजा

कानूनी शिकंजे में फंसे जिला पंचायत सदस्य प्रत्याशी के पति समेत कई लोग
बिना अनुमति सभा व कोविड-१९ के नियमों की धज्जियां उड़ाने का आरोप

बिजनौर। वीडियो वायरल होने पर जिला पंचायत सदस्य पद की प्रत्याशी जेबा अंसारी के पति अनवर हुसैन की मुश्किलें बढ़ गई हैं। पुलिस ने अनवर हुसैन व उनके तीन साथियों  समेत 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। उनके खिलाफ चुनाव के दौरान बिना प्रशासनिक अनुमति के जनसभा करने और कोविड-19 के नियमों की धज्जियां उड़ाने समेत कई आरोप हैं।
गांव फजलपुर ढ़ाकी निवासी जेबा अंसारी वार्ड नंबर-34 से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ रही हैं। उनके पति अनवर हुसैन के अपने क्षेत्र में  चुनाव प्रचार की एक वीडियो वायरल हुई । पुलिस के अनुसार दो दिन पूर्व रात्रि में उनके पति अनवर हुसैन अपने गांव में एक व्यक्ति के घेर में बिना प्रशासनिक अनुमति के अपना चुनाव प्रचार करने के लिए एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। चुनावी सभा में खुलेआम लोग बिना मास्क लगाए और बिना सामाजिक दूरी का पालन किए बैठे हुए हैं। इस चुनावी सभा में वायरस संक्रमण के फैलने का खतरा पूरी तरह से बना हुआ है। सभा में खुलेआम कोविड-19 के नियमों की धज्जियां उड़ाई गई। मामले की सूचना पाकर पुलिस ने इस मामले में अनवर हुसैन, आफताब, नाजिम समेत तीन लोगों के खिलाफ नामजद व 15 से 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ कई मामलों में रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की है। पुलिस की इस कार्रवाई की सूचना पाकर अनवर हुसैन  और उनके समर्थकों में खलबली मची हुई है।
उधर अनवर हुसैन का कहना है कि वह हमेशा शासन और प्रशासन के निर्देशों का पालन करने वाले हैं। उनके ऊपर लगाए गए आरोप बेबुनियाद हैं। थाना प्रभारी निरीक्षक सुनील कुमार का कहना है कि हेड कांस्टेबल अफजाल ने उक्त लोगों के खिलाफ बिना प्रशासनिक अनुमति के चुनाव के लिए बैठक करना, कोविड -19 का उल्लघंन करने समेत विभिन्न मामलों में रिपोर्ट दर्ज की है।

बिजनौर में मिले 41 नए कोरोना केस

बिजनौर। कोरोना संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है। मंगलवार को जनपद में 41 नए संक्रमित मिले हैं। पिछले छह दिनों में संक्रमितों की संख्या 151 पहुंच गई है। अब संक्रमितों की कुल संख्या 4667 हो गई है। मंगलवार को दो रोगी स्वस्थ हुए, अब यह संख्या 4432 हो गई है। अब तक 70 लोगों की मौत हो चुकी है। जिले में 165 सक्रिय रोगी शेष है।

कोरोना की दूसरी लहर में प्रतिदिन मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। अप्रैल माह के पहले छह दिन में संक्रमितों की संख्या 151 हो चुकी है। रोगियों के ठीक होने की रफ्तार बेहद धीमी है। मंगलवार को मात्र दो रोगी स्वस्थ हुए हैं। अब स्वस्थ होने वालों संख्या 4432 हो गई है। अब तक कोरोना 70 लोगों की जान ले चुका है। वर्तमान में 165 सक्रिय रोगी शेष हैं। अब तक जिले भर से 404049 लोगों के सैम्पल जांच को भेजे जा चुकी है। इनमें से सीएमओ कार्यालय को 402445 लोगों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है। जांच रिपोर्ट के अनुसार कुल 307806 निगेटिव पाए गए हैं, जबकि 1704 लोगों को जांच रिपोर्ट का इंतजार है।

सीएमएस डा. ज्ञानचंद का कहना है कि लोगों की लापरवाही के कारण ही मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है। लोगों को एक वर्ष पहले की स्थिति से सबक लेना चाहिए। घर से निकलते समय मास्क का प्रयोग करें। लोगों से कम से कम छह फीट की शारीरिक दूरी रखें। बार-बार साबुन अथवा सैनिटाइजर से हाथ साफ करें। कोरोना पर वार करने के लिए जागरूक होना जरूरी है।

नहीं माने लोग: दफा 144 के शिकंजे में आया UP

उत्तर प्रदेश में धारा 144 लागू
एक जगह पर नहीं जुट सकेंगे पांच से ज्यादा लोग

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव को लेकर अधिसूचना जारी कर दी गई है और अब पहले चरण के मतदान के लिए नामांकन की प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी है। वहीं, प्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमितों की संख्या को देखते हुए प्रदेश सरकार ने एहतियात के तौर पर प्रदेश के भी जिलों में धारा 144 लागू कर दी है। अब प्रचार के दौरान पांच से ज्यादा लोग एक साथ एक जगह पर नहीं जुट सकेंगे।
अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने सभी जिलाधिकारियों, एसपी व एसएसपी को सख्ती से कोरोना प्रोटोकाल पालन करवाने का आदेश दिया है। आदेश में कहा गया है कि कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए प्रोटोकाल का सख्ती से पालन करवाएं और अत्यंत सावधानी से पंचायत चुनाव संपन्न करवाएं।
पंचायत चुनाव में प्रचार-प्रसार के लिए होने वाली सार्वजनिक जनसभा में पांच से अधिक लोगों की भीड़ न इकट्ठा होने पाए। आदेश में सार्वजनिक भोज की अनुमति देने से इंकार किया गया है। इसके साथ ही कोरोना प्रोटोकाल का पालन न करने पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

नहीं हो सकेंगे एकत्र 100 से अधिक लोग-
वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सार्वजनिक कार्यक्रम में 100 से अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर रोक लगाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सोमवार को कहा कि कोविड-19 के नए स्ट्रेन की संक्रमण दर काफी अधिक है, इसलिए पूरी सजगता बरतना जरूरी है। अत: यह सुनिश्चित किया जाए कि सार्वजनिक कार्यक्रमों में 100 से अधिक लोग एकत्र न हों।

पांच जिलों में अतिरिक्त सतर्कता-
मुख्यमंत्री ने लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, वाराणसी और गोरखपुर में अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश देते हुए कहा कि जिन जिलों में कोविड-19 के 100 से अधिक केस हैं वहां विशेष सावधानी बरती जाए। संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए कांटैक्ट ट्रेसिंग का कार्य प्रभावी ढंग से किया जाए। कोविड पाजिटिव व्यक्ति के अधिक से अधिक कांटैक्ट्स को चिन्हित करते हुए ऐसे लोगों की जांच कराई जाए। प्रदेश में कोविड-19 की टेस्टिंग का कार्य पूरी क्षमता से संचालित किया जाए। संदिग्ध केस में अनिवार्य रूप से आरटीपीसीआर टेस्ट किया जाए।

बचाव के लिए निरंतर जागरुक किया जाए-
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिए लोगों को निरंतर जागरूक किया जाए। सोशल डिस्टेंसिंग पर विशेष ध्यान दिया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि लोग मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें। उन्होंने कोविड अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों में बेड्स की संख्या बढ़ाने, कोविड अस्पतालों में चिकित्सकों, पैरामेडिकल एवं नर्सिंग स्टाफ, आवश्यक औषधियों, मेडिकल उपकरणों और बैकअप सहित आक्सीजन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। नॉन कोविड अस्पताल स्थापित किए जाएं। कोविड मरीज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली एम्बुलेंस का उपयोग नॉन कोविड मरीजों के लिए न किया जाए। एम्बुलेंस के लिए किसी भी मरीज को इंतजार न करना पड़े। बैठक में मुख्य सचिव आरके तिवारी सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

फेस मास्क का प्रयोग न करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरुद्ध होगी अनुशासनात्मक कार्यवाही

जिले के सभी सरकारी एवं अर्द्ध सरकारी कार्यालयों में अधिकारियों एवं कर्मचारियों के लिए मास्क का प्रयोग अनिवार्य, फेस मास्क का प्रयोग न करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरुद्ध होगी अनुशासनात्मक कार्यवाही… जिलाधिकारी रमाकांत पांडे

बिजनौर। जिलाधिकारी रमाकान्त पाण्डेय ने स्पष्ट करते हुए कहा कि सभी सरकारी एवं अर्द्ध सरकारी कार्यालयों में कार्यरत अधिकारी एवं कर्मचारियों के लिए मास्क का प्रयोग अनिवार्य कर दिया गया है। अतः कोई भी अधिकारी एवं कर्मचारी अपने कार्यालय में बिना मास्क पहने ना रहे। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि मास्क पहनना स्वयं सुनिश्चित करते हुए अपने अधीनस्थ अधिकारियों एवं कर्मचारियों को शत-प्रतिशत रूप से फेस मास्क का प्रयोग कराना सुनिश्चित कराएं। उन्होंने सचेत करते हुए कहा कि सरकारी एवं अर्द्ध सरकारी कार्यालयों में बिना मास्क का प्रयोग करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

भारत में कोविड-19 टीकाकरण कवरेज 1.34 करोड के पार

भारत में कोविड-19 टीकाकरण कवरेज 1.34 करोड के पार

21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 1000 से कम सक्रिय मामले

पिछले 24 घंटों में 20 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से कोविड के कारण मौत होने का कोई नया मामला दर्ज नहीं

भारत में कोविड-19 टीकाकरण का कुल कवरेज पहुंचा 1.34 करोड़ के पार
नई दिल्ली। प्रारंभिक सूचना के अनुसार शुक्रवार सुबह सात बजे तक 2,78,915 सत्रों में 1,34,72,643 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। इनमें से 66,21,418 स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ताओं (एचसीडल्ब्यू) को पहली खुराक दी जा चुकी है और 20,32,994 स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ताओं को दूसरी खुराक दी जा चुकी है। इसके साथ ही अग्रिम पंक्ति के 48,18,231 कार्यकर्ताओं (एफएलडब्ल्यू) को पहली खुराक दी गई है।

13 फरवरी 2021 को उन लाभार्थियों को कोविड-19 टीके की दूसरी खुराक देने का कार्यक्रम शुरू हुआ, जिन्हें पहली खुराक दिए हुए 28 दिन पूरे हो चुके थे। अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं का टीकाकरण 2 फरवरी 2021 को शुरू किया गया था।

टीकाकरण अभियान के 41वें दिन (25 फरवरी 2021) टीके की 8,01,480 खुराकें दी गईं। इनमें से 3,84,834(एचसीडब्ल्यू और एफएलडब्ल्यू)लाभार्थियों को पहली खुराक के लिए 14,600 सत्रों में और 4,16,646 एचसीडव्ल्यू को दूसरी खुराक के लिए टीका लगाया गया। कुल 1,34,72,643 टीका खुराकों में से 1,14,39,649 (एचसीडब्ल्यू और एफएलडब्ल्यू) को टीके की पहली खुराक और 20,32,994 एचसीडब्ल्यू को टीके की दूसरी खुराक दी जा चुकी है।
कुल पंजीकृत एचसीडब्ल्यू में से 60 प्रतिशत से कम को नौ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में टीका लगाया गया है। इनमें अरुणाचल प्रदेश, तमिलनाडु, दिल्ली, तेलंगाना, लद्दाख, चंडीगढ़, नगालैंड, पंजाब और पुदुचेरी शामिल हैं। कुल पंजीकृत एफएलडब्ल्यू में से 40 प्रतिशत से कम को 13 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में टीका लगाया गया है। इनमें चंडीगढ़, नागालैंड, तेलंगाना, मिजोरम, पंजाब, गोवा, अरुणाचल प्रदेश, तमिलनाडु, मणिपुर, असम, अंडमान निकोबार द्वीर समूह, मेघालय और पुदुचेरी शामिल हैं।
आज की तारीख में भारत में कुल सक्रिय मामलों की संख्या 1,55,986 है जो कि कुल पॉजिटिव मामलों का 1.41 प्रतिशत है। ऐसा कुछ राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में प्रतिदिन नए मामलों में हो रही वृद्धि के कारण हुआ है।
21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 1,000 से कम सक्रिय मामले दर्ज हुए हैं। इनमें जम्मू कश्मीर (820), आंध्र प्रदेश (611), ओडिशा (609), गोवा (531), उत्तराखंड (491), बिहार (478), झारखंड (467), चंडीगढ़ (279), हिमाचल प्रदेश (244), पुदुचेरी (196), लक्षद्वीप (86), लद्दाख (56), सिक्किम (43), मणिपुर (40), त्रिपुरा (32), मिजोरम (27), मेघालय (20), नागालैंड (13), दमन एवं द्वीवऔर दादरा नगर हवेली (5), अरूणाचल प्रदेश (3) और अंडमान निकोबार द्वीप समूह (2) शामिल हैं।

20 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों ने पिछले 24 घंटों में कोविड-19 से मौत का एक भी मामला दर्ज नहीं किया है। इनमें दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, जम्मू- कश्मीर, आंध्र प्रदेश, झारखंड, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश, असम, लद्दाख, त्रिपुरा, मिजोरम, नागालैंड, मणिपुर, मेघालय, सिक्किम, दमन और दीव और दादरा और नगर हवेली, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश तथा अंडमान और निकोबार द्वीप समूह शामिल हैं।

आज तक भारत में कुल 1,07,50,680कोविड-19 रोगी स्वस्थ्य हो चुके हैं। आज रिकवरी दर 97.17 प्रतिशत हो गई है। स्वस्थ्य हुए कुल रोगियों और सक्रिय मामलों के बीच का अंतर लगातार बढ़ रहा है और आज यह 10,594,694हो गया है। पिछले 24 घंटों में 12,179 रोगी स्वस्थ हुए हैं। नए स्वस्थ हुए रोगियों के 85.34 प्रतिशत मामले 6 राज्यों में दर्ज हुए हैं।
केरल में पिछले 24 घंटों में एक दिन में सबसे अधिक 4,652 लोग स्वस्थ हुए हैं। महाराष्ट्र में यह संख्या 3,744 और तमिलनाडु में 947 है।
पिछले 24 घंटों में 16,577 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इनमें से 86.18 प्रतिशत नए मामले 6 राज्यों में दर्ज हुए हैं। महाराष्ट्र में प्रतिदिन सबसे अधिक 8,702 नए मामले दर्ज हुए हैं, दूसरे स्थान पर केरल है जहां 3,677 जबकि पंजाब में 563 नए मामले मिले हैं।
पिछले 24 घंटों में कोविड से 120 मौतें हुई हैं। इनमें से 85.83 प्रतिशत मामले 6 राज्यों में दर्ज हुए हैं। महाराष्ट्र में सबसे अधिक 56, केरल में 14 और पंजाब में 13 मौतें दर्ज हुई हैं।