दो लाख श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

दो लाख श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

अमरोहा/रहरा। (विरेंदर कुमार त्यागी) हर-हर गंगे के जयकारे के बीच मंगलवार को पोरारा गंगा घाट पर करीब दो लाख श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई। सिरसा पोरारा के गंगा तट पर भक्तोंका जमावड़ा लगा रहा। सुबह 4 बजे से ही श्रद्धालुओं ने गंगा में डुबकी लगानी शुरू कर दी। तटों पर गंगा मइया के जयकारे की गूंज रही। तट के पास मेला व मीना बाजार में श्रद्धालुओं ने जमकर खरीदारी की। इस दौरान लोगों ने पूजा-अर्चना कर दान कर पुण्य कमाया। सबसे ज्यादा भीड़ पोरारा घाट पर रही। यहां पर अव्यवस्थाओं के बीच श्रद्धालुओं ने स्नान किया, लेकिन उनके उत्साह में कोई कमी नहीं थी।
सिरसा पोरारा घाट पर स्नानार्थियों की भारी भीड़ उमड़ी। पुलिस क्षेत्राधिकारी अभिषेक यादव ने बताया कि पोरारा घाट पर करीब दो लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने डुबकी लगाई और गंगा के किनारे स्थित मंदिरों में पूजा-अर्चना करने के बाद गुरुओं को दक्षिणा देकर आशीर्वाद लिया।क्षेत्र के आसपास के गांव के लोगों ने स्नान किया। वहीं शासन-प्रशासन के व्यवस्था के कड़े बंदोबस्त रहे
इस मौके पर उपजिलाधिकारी विजय शंकर, पुलिस क्षेत्राधिकारी अभिषेक यादव, अशोक कुमार वर्मा थाना प्रभारी निरीक्षक रहरा, ग्राम प्रधान इसरत सैफी, ग्राम रोजगार सेवक चरन सिंह, रतन सिंह ग्राम प्रधान, नन्हे ग्राम प्रधान रहरा आदि लोगों ने व्यवस्था को लेकर बहुत खूब जिम्मेदारी संभाली।

मनुष्य जन्म बिना भक्ति के बेकार: महात्मा किशन लाल जी

बिजनौर। संत निरंकारी मंडल ब्रांच बिजनौर के तत्वाधान में संत निरंकारी सत्संग भवन पर एक साप्ताहिक साध संगत का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर मुरादाबाद से पधारे महात्मा किशन लाल जी ने गुरु गद्दी से साध संगत को निहाल करते हुए कहा कि ईश्वर एक है जो कण-कण में व्याप्त है सर्वशक्तिमान है अविनाशी है उन्होंने गीता, कुरान शरीफ, रामायण आदि महान ग्रंथों का जिक्र करते हुए भक्ति करने पर जोर देते हुए कहा कि हमारा मनुष्य जन्म बिना भक्ति के बेकार है। हमें यह जन्म न जाने कितने जन्मों के पुण्य कर्मों के बाद मिला है। मनुष्य जन्म के लिए देवी देवता भी तरसते हैं। हमें सदैव सेवा सत्संग सुमिरन करते रहना चाहिए क्योंकि सत्संग सब सुखों की खान है।

सत्संग के लिए देवी देवता भी तरसते हैं। हमें सदैव सेवा सत्संग सुमिरन करते रहना चाहिए तभी हमारी भक्ति पूरी है। सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज मानव कल्याण के लिए प्रयास रखें। मानव को मानव प्यारा एक दूजे का बने सहारा, हमें पहले मनुष्य बनना है नर सेवा नारायण सेवा हमें सदैव मानवता की भलाई के लिए कार्य करते रहना चाहिए। निरंकारी मिशन अमन शांति, भाईचारा व आपस में प्यार से रहने का संदेश दे रहा है ना बैर की ना तकरार की, आज जरूरत है, बस प्यार की, प्रेम इसमें का दूसरा रूप है। इसलिए हमें सभी से सदैव प्रेम करते रहना चाहिए और इंसानियत की सेवा करते रहना चाहिए क्योंकि सबके भले में ही अपना भला है। अगर हम सबका भला मांगेंगे तो अपना भला तो स्वयं ही हो जाएगा।

महात्मा वीरपाल सिंह के संचालन में हुई साध संगत में संयोजक महात्मा बाबूराम निरंकारी, पूर्व संचालक कृपाल सिंह त्यागी, संचालक विनोद कुमार एडवोकेट, रामनाथ सिंह, प्रचारक मुरादाबाद प्रवीण कुमार मुरादाबाद शकुंतला मुरादाबाद अकाउंटेंट शंकर खुल्बे, सुरेंद्र पाल लकी, मीडिया प्रभारी भूपेंद्र निरंकारी पत्रकार, शिक्षक आदित्य सोनू, डीके सागर एडवोकेट, मनोज सिंह, राजवीर सिंह, रमेश सिंह आदमपुर, अक्षय सागर, आनंद स्वरूप, रोबिन सिंह, झंडू सिंह, आशु, अजय सिंह, मोहित, सुशीला, कविता बृजेश, शालिनी, अश्विंदर कौर, आशु, दीपा, संध्या, विमला, पारुल, खुशी, अंजलि, महक, समीक्षा, रूहानी सागर, रेनू सागर, शिक्षिका कलावती, पुष्पा, सर्वेश, कल्पना आदि सहित निरंकारी मिशन के अनेक अनुयाई उपस्थित रहे। प्रसाद की सेवा में चंद्रपाल सिंह सिकंदरी आनंद स्वरूप का विशेष योगदान रहा।

~भूपेंद्र निरंकारी पत्रकार

विदुर कुटी गंगा घाट पर कार्तिक पूर्णिमा गंगा स्नान मेले का शुभारंभ

विदुर कुटी गंगा घाट पर कार्तिक पूर्णिमा गंगा स्नान मेले का उद्घाटन। केंद्रीय राज्य मंत्री, मत्स्यपालन, पशुपालन एवं डेयरी विभाग डा0 संजीव बालियान व जिला पंचायत अध्यक्ष साकेन्द्र प्रताप सिंह ने संयुक्त रूप से फीता काटा। विधि विधान से की पूजा अर्चना। समस्त धार्मिक अनुष्ठान पंडित शिव कुमार शास्त्री के कर कमलों द्वारा संपन्न हुए

बिजनौर। विदुर कुटी गंगा घाट पर कार्तिक पूर्णिमा गंगा स्नान मेले का उद्घाटन केंद्रीय राज्य मंत्री, मत्स्य पालन, पशुपालन एवं डेयरी विभाग डा0 संजीव बालियान व जिला पंचायत अध्यक्ष साकेन्द्र प्रताप सिंह ने संयुक्त रूप से फीता काटकर एवं विधि विधान से पूजन अर्चना कर किया। समस्त धार्मिक अनुष्ठान पंडित शिव कुमार शास्त्री के कर कमलों द्वारा संपन्न हुए। उद्घाटन समारोह के अवसर पर केंद्रीय राज्य मंत्री व अन्य समस्त द्वारा गंगा में दुग्धाभिषेक कर मेले को शांतिपूर्वक सम्पन्न कराने की कामना की तथा गंगा आरती भी की गई। जिला पंचायत अध्यक्ष, अपर जिलाधिकारी प्रशासन विनय कुमार सिंह, वि/रा अरविंद कुमार सिंह तथा जन प्रतिनिधियों ने मुख्य अतिथियों का फूल मालाओं व गुलदस्ते भेंट कर स्वागत किया।


केन्द्रीय राज्य मंत्री डा0 संजीव बालियान ने मेले आयोजन की व्यवस्था एवं सुरक्षा पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि उत्साह व उमंग भरे इस मेले को जिले के लोग लम्बे समय से मनाते आ रहे हैं और जिले के असंख्य लोग यहां आकर स्नान कर अपनी आस्था को प्रकट करते हैं। उन्होंने जिले के प्रशासनिक, पुलिस अधिकारियों, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत तथा मेले में व्यवस्था बनाने वाले अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि मेले में आने वाले श्रद्धालुओं की सुख सुविधाएं, सुरक्षा व साफ-सफाई की समुचित व्यवस्था उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत को निर्देश देते हुए कहा कि मेले में पॉलिथीन का प्रयोग पूर्णतः प्रतिबंधित कराएं तथा मेले में समस्त प्रमुख स्थान पर सीसीटीवी कैमरे का प्रयोग भी सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए बड़ी सौभाग्य की बात है कि सबका स्वागत करने का अवसर प्राप्त हो रहा है।

जिला पंचायत अध्यक्ष साकेंद्र प्रताप चौधरी ने कहा कि कार्तिक पूर्णिमा गंगा स्नान मेला पौराणिक धार्मिक पर्व है, जो हमें गंगा-जमुनी तहजीब की सीख देता है। उन्होंने कहा कि गंगा किनारे लगने वाले इस मेले की शुरुआत तम्बुओं से होती है, इसलिए इसे तंबुओं का शहर कहा जाता है। विदुर कुटी घाट पर चलने वाले इस मेले में लाखों लोग तम्बू लगाकर अपने परिवार सहित गंगा के तट पर निवास करते हैं और आस्था की डुबकी लगाते हैं।

मेला उद्घाटन के अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन ने आमजन से गंगा की स्वच्छता बरकरार रखने तथा कूडा डस्टबीन में ही डालने की अपील की। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह मेले की गरिमा को देखते हुए यहां सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करायें तथा मोबाइल टॉयलेट की भी पर्याप्त व्यवस्था रखें ताकि लोग खुले में शौच न जा सकें। उन्होंने कहा की अधिकारी मेले में स्वच्छता बनाए रखने के लिए स्थान चिन्हित कर वहां कूड़ेदान रखवाएं तथा ससमय उसका उठान भी कराएं। उन्होंने मेले में शिकायत केन्द्र व खोया पाया केन्द्र स्थापित करने व उसका 24 घंटे संचालन कराने के निर्देश दिये।

इस अवसर पर विधायक अशोक राणा, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत, जिला पंचायत सदस्य, जनप्रतिनिधिगण एवं गणमान्य लोग सहित जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

सीडीओ ने लिया गंगा स्नान मेला की तैयारियों का लिया जायजा


सीडीओ ने लिया गंगा स्नान मेला की तैयारियों का लिया जायजा

मुख्य विकास अधिकारी पूर्ण बोरा ने लिया गंगा स्नान मेला की तैयारियों का लिया जायजा, उपस्थित संबंधित अधिकारियों को निर्धारित मानकों के अनुरूप कार्य समयपूर्वक पूर्ण करने के दिए निर्देश

बिजनौर। मुख्य विकास अधिकारी पूर्ण बोरा ने शुक्रवार सुबह विदुर कुटी दारानगर गंज में गंगा घाट पर लगने वाले गंगा स्नान मेला की तैयारियों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को मेला सम्बन्धी समस्त आवश्यक तैयारियॉं समय से पूर्ण कराने के निर्देश दिये।
निरीक्षण के समय अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) विनय कुमार सिंह, परियोजना निदेशक ज्ञानेश्वर तिवारी, जिला ग्राम्य विकास अभिकरण, उप जिलाधिकारी सदर, क्षेत्राधिकारी बिजनौर, अपर मुख्य अधिकारी व अभियन्ता, जिला पंचायत, बिजनौर, सहायक विकास अधिकारी (पं0) व ग्राम पंचायत सचिव उपस्थित रहे।

गंगा स्नान मेले की तैयारियां पूरी, अफसर मौके पर

गंगा किनारे बस गया तंबुओं का शहर। अधिकारी ले रहे लगातार जायजा

बिजनौर। गंगा किनारे लगने वाले कार्तिक पूर्णिमा गंगा स्नान मेले में तंबुओं का शहर बस चुका है। तैयारी अंतिम चरण में है। आला अधिकारियों ने मेला स्थल पहुंचकर तैयारियों और सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।

कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर बिजनौर शहर कोतवाली क्षेत्र के विदुर कुटी में हर साल जिला पंचायत द्वारा गंगा स्नान मेले का आयोजन किया जाता है। इस बार मेले में 5 लाख से ज्यादा श्रद्धालु गंगा स्नान के लिए आने की संभावना है।

पिछले काफी दिनों से मेले की तैयारी बड़ी तेजी के साथ की जा रही है, जो अब अंतिम चरण में पहुंच चुकी है। मेले की सड़कें बन चुकी हैं। खंभे और स्ट्रीट लाइट लगा दी गई हैं, बाकायदा गंगा किनारे तंबुओं का शहर बसा दिया गया है। सुरक्षा के लिहाज से मेला स्थल पर थाना भी खोल दिया गया है। वाच टावर बना दिए गए हैं।

पांच नवंबर को मेले का विधिवत उद्घाटन होना है। इस बार 12 लाख वर्ग फुट में मेला लगेगा। संभावित भीड़ को देखते हुए मेले का दायरा बढ़ाया गया है। मेले को सेक्टर में विभाजित करते हुए सड़कें बनाई गई हैं, इस बार मेले में कुश्ती प्रतियोगिता कराने की भी तैयारी है, जिसके लिए कुश्ती संघ से संपर्क किया जा रहा है।

पुलिस का पहरा~ मेले की सुरक्षा व्यवस्था तगड़ी रहेगी। हुड़दंगियों पर कार्रवाई के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। पीएसी के साथ-साथ पुलिस फोर्स तैनाती रहेगी मेले में वाहनों के लिए ट्रैफिक पुलिस का इंतजाम है। जिला पंचायत विभाग ने इस बार गंगा स्नान मेले में कई नए प्रयोग किए हैं। मेला स्थल पर चारों तरफ सड़कें, मुख्य द्वार, वीवीआईपी रास्ता, बिजली की लाइन और पोल, दुकानें, शौचालय, स्नान घाट तैयार किए जा रहे हैं। इस बार गंगा मेला इस बार पॉलिथीन मुक्त रहेगा। किसी भी दुकानदार को प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करने दिया जाएगा। जिला पंचायत नि:शुल्क थैले वितरण करेगा।

त्योहार सकुशल संपन्न कराने को पुलिस चौकन्नी

त्योहार सकुशल संपन्न कराने को पुलिस चौकन्नी

बिजनौर। गंगा स्नान मेले के दृष्टिगत सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस प्रशासन चौकन्ना है। इसी के मद्देनजर एसपी सिटी व सीओ सिटी ने मौके का निरीक्षण किया।

आठ नवंबर को ऐतिहासिक गंगा स्नान पर्व पर लगने वाले मेले की सुरक्षा व्यवस्था बड़ी चुनौती है। पुलिस प्रशासन दिनेश सिंह के निर्देश पर पुलिस अधिकारियों ने भी वहां डेरा डाल दिया है।

इसी क्रम में अपर पुलिस अधीक्षक नगर डॉ0 प्रवीन रंजन सिंह एवं क्षेत्राधिकारी नगर अनिल कुमार सिंह द्वारा थाना कोतवाली शहर क्षेत्र के गंज चौकी क्षेत्र में आगामी गंगा स्नान मेले के दृष्टिगत सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए तैयारियों का जायजा लिया गया। उन्होंने संबंधित अधिकारियों स्टाफ को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान प्रतिसार निरीक्षक, पुलिस लाइन बिजनौर भी मौजूद रहे।

दूसरी ओर आगामी त्योहार पर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राम अर्ज व क्षेत्राधिकारी चांदपुर सुनीता दहिया द्वारा थाना चांदपुर क्षेत्रांतर्गत पैदल गश्त की गई।

इधर क्षेत्राधिकारी नगर अनिल कुमार सिंह द्वारा थाना कोतवाली शहर क्षेत्रांतर्गत पुलिस बल के साथ पैदल गश्त की गई।

उदयाचलगामी भगवान भास्कर को अर्घ्य देकर चार दिवसीय महापर्व संपन्न

उगते सूरज को अर्घ्य देने के साथ ही 4 दिन से चल रहे लोक आस्था के खास महापर्व छठ का समापन। व्रती महिलाओं ने को परिवार की सुख समृद्धि के लिए कामना।

बिजनौर। उगते सूरज को अर्घ्य देने के साथ ही 4 दिनों से चल रहे लोक आस्था के खास महापर्व छठ का समापन हो गया। नदियों, तालाबों में व्रती महिलाओं ने उदयाचलगामी भगवान भास्कर (उगते हुए सूर्य) को अर्घ्य दिया। इसी के साथ चार दिवसीय महापर्व संपन्न हो गया। गंगा बैराज, विदुर कुटी गंज, बालावाली सहित जिले की सभी नदी घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ रही। नदियों, तालाबों से लेकर घरों के अहाते में और छतों पर बने कृत्रिम जलाशयों तक के आसपास परंपरा का निर्वहन किया गया। सूर्यदेव और छठ मैया की उपासना कर व्रती महिलाओं ने परिवार की सुख समृद्धि के लिए कामना की।

व्रती महिलाएं तड़के चार बजे से ही सिर पर प्रसाद की टोकरी रख परिवार के साथ नंगे पैर गंगा घाटों पर पहुंची और विधि-विधान से छठी मइया की पूजा अर्चना की। पवित्र नदी में डुबकी लगाई। भीगे वस्त्र में और हाथों में फल पकवानों से लदी टोकरी के साथ व्रतियों ने सूर्य देव की आराधना की। अंत में उगते सूर्य को अर्घ्य देकर महिलाओं ने परिवार की खुशहाली के लिए कामना की। साथ में बच्चे और परिवार के अन्य सदस्य भी थे। सभी ने पूजन में सहयोग किया। महिलाएं मांग से लेकर पूरी नाक तक सिंदूर लगाए थीं। इस दौरान घाटों पर छठ मैया के गीत गूंजते रहे।

विदित हो कि चार दिन चलने वाले छठ पर्व के पहले दिन नहाय-खाय यानी पवित्र स्नान करके शुद्ध सात्विक भोजन की परंपरा है। दूसरे दिन खरना पूजा होती है, यह भी शुद्धता का प्रतीक है। इसके बाद व्रत करने वाले लोग- महिलाएं और पुरुष 36 घंटे निर्जला यानी एक बूंद पानी पिए बगैर उपवास रखते हैं। चौथे दिन उगते सूर्य को अर्घ्य देने के बाद प्रसाद ग्रहण करके व्रत संपन्न करने की परंपरा है। इससे जुड़े नियमों का सख्ती से पालन किया जाता है। छठ पर्व ऐसा पर्व है जिसमें कोई कर्मकांड नहीं है, केवल श्रद्धा है, उल्लास है और सूर्य देवता के प्रति अटूट आस्था है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ गंगा समग्र ने की साप्ताहिक गंगा आरती

आरएसएस गंगा समग्र ने की साप्ताहिक गंगा आरती

बिजनौर। विदुर कुटी के पवित्र गंगा घाट पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ गंगा समग्र द्वारा साप्ताहिक गंगा आरती का भव्य आयोजन किया गया। कार्यक्रम का प्रारंभ हर्ष चौधरी ने गंगा गीत गाकर किया। गंगा समग्र के जिला संयोजक ओमप्रकाश ने मुख्य अतिथि; मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ विजेंद्र बालियान और उनकी पत्नी का गंगा आरती में सम्मिलित होने पर स्वागत करते हुए कहा कि गंगा माता हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण हैं। डॉ विजेंद्र बालियान ने कहा कि गंगा समग्र द्वारा चलाया जा रहा आंदोलन जन जन तक जागरूकता लाने का काम करेगा जिससे कि शीघ्र ही गंगा को स्वच्छ और निर्मल बनाया जा सकेगा। सरकार ने गंगा को स्वच्छ बनाने के लिए अनेक योजनाएं चला रखी हैं परंतु जब समाज का हर व्यक्ति किसी कार्य के लिए एकजुटता से लग जाता है तो वहां पर सफलता अवश्य और शीघ्र ही मिलती है। डॉ मंजु चौधरी ने कहा कि गंगा मां में किसी भी प्रकार की धार्मिक वस्तु का विसर्जन ना करें। गंगा घाट को साफ रखने के लिए समय-समय पर श्रमदान को सभी लोग आगे आएं। डॉ मंजू ने अधिक से अधिक संख्या में लोगों से गंगा आरती में सम्मिलित होने का आह्वान किया। भाजपा मंडल उपाध्यक्ष ललित चौधरी ने गंगा मां को साफ रखने के लिए सभी से निवेदन किया। गंगा आरती में मातृशक्ति की बहुत बड़ी संख्या उपस्थित रहे, जिसमें मधु भूषण, राशि अग्रवाल, शिप्रा अग्रवाल, सविता अग्रवाल, डॉ शिल्पी चौधरी, सविता चौधरी, हिमानी गौड़ व अनेक गणमान्य महिलाओं ने भाग लिया। इनके अलावा बृजपाल, चमन सिंह, विनय अग्रवाल, कौशल अग्रवाल, अवनीश गौड़, शिव अवतार गुर्जर, सोनू गुर्जर, मास्टर राजवीर सिंह, सुखराम पाल सिंह, सुखबीर मलिक, संजय रतीराम, समर पाल सिंह, मुकेश पाल व अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

चित्रांश समाज ने धूमधाम से मनाई भगवान चित्रगुप्त जयंती

बिजनौर। चित्रांश समाज ने भगवान चित्रगुप्त जयंती समारोह नौबत राय कायस्थ शिव मंदिर मोहल्ला चाहशीरी में धूमधाम से मनाया। इस अवसर पर हवन के साथ ही भगवान चित्रगुप्त जी की कथा एवं आरती हुई। अंत में दीपोत्सव के पश्चात समस्त लोगों को प्रसाद वितरण किया गया।

मुख्य यजमान अशोक भारतीय एवं शोभा के अलावा कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के जिला अध्यक्ष सुरेंद्र प्रकाश भटनागर एवं विशिष्ट अतिथि जिला महामंत्री योगेश भटनागर एडवोकेट, वरिष्ठ अतिथि आईडी भटनागर रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता राजवर्धन भटनागर रिटायर्ड फूड इंस्पेक्टर एवं संचालन रितेश भटनागर ने किया। कार्यक्रम में रंगोली भटनागर, रोशनी भटनागर, चेतना भटनागर, महिमा भटनागर, हिमांशु भटनागर, मयंक भटनागर, स्पर्श भटनागर, धर्मांशु भटनागर, भुवन कश्यप आदि शामिल रहे।

हर्षोल्लास, उत्साह व उमंग के साथ मनाया दीपों का पर्व

~भूपेंद्र निरंकारी पत्रकार

बिजनौर। संत निरंकारी मंडल ब्रांच बिजनौर के सत्संग भवन पर दीपों का पर्व, प्रकाश का पर्व दीपावली संत महात्माओं ने पूर्ण हर्षोल्लास व उत्साह व उमंग के साथ मनाया गया।

इस अवसर पर रूहानियत का संदेश देते हुए नवंबर में समालखा में सद्गुरु माता जी की हजूरी में होने वाले विशाल समागम को प्रदर्शित करते हुए सुंदर सुंदर रंगोली भी बनाई गई।

कार्यक्रम में सेवा दल के शिक्षक आदित्य, सोनू, अजय कुमार, लक्की, राज, प्रियांशी, फूलवती, शालिनी, नेहा आदि सहित कई महात्मा उपस्थित रहे।

खुशनसीबी: मौला अली की दरगाह ईरान के बाद केवल हिंदुस्तान में

खुशनसीबी: मौला अली की दरगाह ईरान के बाद केवल हिंदुस्तान में। नवनियुक्त अध्यक्ष इरम अली के पहली बार दरगाह आगमन पर लोगों ने किया गर्मजोशी के साथ स्वागत। सिर्फ़ शिया ही नहीं बल्कि हर वर्ग के लोग आते हैं अपनी मुरादें लेकर।

बिजनौर। विश्व विख्यात दरगाह ए आलिया नजफे हिन्द जोगीपुरा के नवनियुक्त अध्यक्ष इरम अली के पहली बार दरगाह आगमन पर लोगों ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। इस दौरान बिजनौर सहित कई जिलों के लोग उनके स्वागत समारोह में शिरकत करने के लिए दरगाह ए आलिया पहुंचे।

दरगाह ए आलिया नजफे हिन्द जोगीपुरा की इंतेज़ामिया कमेटी अभी हाल ही में गठित हुई है। कमेटी में मुज़फ्फरनगर नगर निवासी इरम अली को अध्यक्ष बनाया गया है। इनके अलावा नौगावा निवासी मोहम्मद अब्बास को सचिव और कोतवाली देहात के मौलाना क़सीम को उप सचिव नियुक्त किया गया है। दरगाह की नव गठित प्रबंध कमेटी के अध्यक्ष पहली बार जब दरगाह पहुंचे तो लोगों ने उनका गर्मजोशी के साथ स्वागत किया।

इस अवसर पर दरगाह के शमसुल हसन हाल में एक गोष्ठी का आयोजन हदीसे किसा के साथ किया गया। इसका संचालन कमेटी के सदस्य विक़ार आब्दी ने किया। इस अवसर पर कमेटी के अध्यक्ष ने कहा कि दरगाह ए आलिया; इमाम हज़रत अली की दुनिया में दूसरे नंबर की दरगाह है। हज़रत अली की असल रोज़ा नजफ ईरान में है। हम लोगों की खुशनसीबी है कि उसके बाद मौला अली की दरगाह केवल हिंदुस्तान में है, जिसे दरगाह ए आलिया नजफे हिन्द के नाम से पूरी दुनिया में जाना जाता है। जो लोग नजफ ईरान नहीं जा सकते, उनके लिए दरगाह ए आलिया नजफे हिन्द है। इस दर पर सिर्फ़ शिया ही नहीं बल्कि हर वर्ग के लोग अपनी मुरादें लेकर आते हैं और उनकी मुरादें पूरी भी होती हैं। उन्होंने आगे कहा कि दरगाह पर आने वाले हर ज़ायरीन, श्रद्धालु को पूरी सुविधाएं मिलनी चाहिए। ये हम सबकी कोशिश होगी कि आने वाले किसी भी आदमी को कोई परेशानी न होने पाए। उन्होंने ये भी कहा कि बहुत जल्द इंतेज़ामिया कमेटी का विस्तार किया जायेगा, जिसमें काम करने वाले लोगों को सदस्य बनाया जाएगा। दरगाह के बिजली का बिल निपटाने का काम कमेटी के सदस्यों से बातचीत करने के बाद किया जाएगा। उन्होंने ये भी कहा कि दरगाह की कमेटी में जो पदाधिकारी व सदस्य के अलावा दरगाह के सभी कर्मचारी और आने वाले तमाम लोग अपने आप को दरगाह ए आलिया का जिम्मेदार समझें।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं ने की माँ गंगा की आरती

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं ने की माँ गंगा की आरती

(संदीप जोशी )

बिजनौर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की गंगा समग्र इकाई के जिला संयोजक ओमप्रकाश द्वारा साप्ताहिक गंगा आरती का आयोजन विदुर कुटी के गंगा घाट पर किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत हर्ष चौधरी ने गंगा गीत के द्वारा की। जिला संयोजक ओमप्रकाश ने भारतीय संस्कृति की पांच मुख्य स्तंभों में से एक गंगा मां के महत्व को सभी गंगा भक्तों को बताया। उन्होंने गंगा समुद्र के सभी 15 आयाम किस प्रकार से गंगा को स्वच्छ निर्मल अविरल बनाने के लिए प्रयासरत हैं उसके बारे में विस्तृत चर्चा की। गंगा आरती में मुख्य अतिथि डॉ मंजू चौधरी ने भारतीय संस्कृति में गंगा की सामाजिक आर्थिक धार्मिक महत्व के साथ साथ उसकी वैज्ञानिक पहलू की भी चर्चा की। डॉ मंजू ने बताया कि गंगा की धारा सिर्फ जलधारा नहीं है बल्कि यह भारत की संस्कृति, सभ्यता, दर्शन और जीवन की धारा है। गंगा का जल शुद्ध रखने के लिए गंगा में किसी भी प्रकार की मूर्ति का विसर्जन फूलों व अन्य सामग्री का विसर्जन बिल्कुल ना किया जाए और जो भी धार्मिक अनुष्ठान होते हैं उनमें घरों में मिट्टी की या गोमय से बनी हुई छोटी मूर्ति रखें, जिसको अपने घर के गमलों में ही विसर्जित कर लें। पूजा के फूलों को किसी भी गमले में, बाग बगीचे या सड़क के किनारे मिट्टी में रोपित करें, जिससे वातावरण हरा भरा व शुद्ध रहे और गंगा पवित्र और निर्मल रहे। गंगा में जो मछलियां और जलीय जीव हैं उनका भी हमें विशेष ध्यान रखना है क्योंकि उनके द्वारा ही गंगा की जल को स्वच्छ निर्मल रखा जाता है। गंगा की विदुर कुटी घाट को आरती से पहले सभी गौ भक्तों स्वयं सफाई करेंगे और वहां वृक्षारोपण का कार्यक्रम करेंगे। इस तरह का संकल्प गंगा आरती में लिया गया। गंगा भक्तों ने गंगा को स्वच्छ और निर्मल बनाने के लिए अपने हर संभव प्रयास करने का संकल्प लिया और अधिक से अधिक संख्या में इस साप्ताहिक गंगा आरती में सम्मिलित होने का आह्वान करते हुए डॉ मंजू चौधरी ने विदुर कुटी की घाट के पास गंगा की धारा को लाने के लिए प्रशासन से मांग की।

चांद का दीदार कर महिलाओं ने पति के हाथ से पानी पीकर खोला व्रत

चांद का दीदार कर महिलाओं ने पति के हाथ से पानी पीकर खोला व्रत

बिजनौर। करवाचौथ का पर्व गुरुवार को श्रृद्घा व उल्लास के बीच मनाया गया। पूरे दिन सुहागिन महिलाओं ने निर्जला व्रत रखा और देर शाम चांद निकलने पर पूजा अर्चना की। सुहागिनों ने चांद का दीदार कर पति की लंबी उम्र की कामना की। इसके बाद पति के हाथ से पानी पीकर महिलाओं ने अपना व्रत तोड़ा।

करवा चौथ का त्योहार गुरुवार को धूमधाम से मनाया गया। इस त्योहार को लेकर सुहागिनों में जबर्दस्त उत्साह देखा जा रहा था। इसको लेकर पिछले कई दिनों से महिलाएं तैयारी कर रही थीं। सुबह को सरगी खाने के बाद सुहागिन महिलाओं ने पति के लिए पूरे दिन निर्जला व्रत रखा। नए परिधान में 16 श्रृंगार कर महिलाओं ने चांद निकलते ही भगवान शिव, पार्वती व कार्तिकेय जी की विधि विधान से पूजा की। इसके बाद चांद का दीदार कर पति के दीर्घायु की कामना की। अधिकांश महिलाओं ने समूह के साथ मंदिरों में पहुंच एक साथ पूजा अर्चना की। शहर के कई मंदिरों में देर शाम तक पूजा अर्चना होती रही। चांद निकलने के बाद कई स्थानों पर आतिशबाजी भी हुई। ज्योतिषाचार्यो के अनुसार सुहागिन महिलाओं के लिए यह व्रत विशेष फलदायी है। करवा चौथ सौभाग्य और आरोग्य की दृष्टि से मंगलकारी होता है।

त्योहारों को लेकर पुलिस सतर्क

त्योहारों को लेकर पुलिस सतर्क

बिजनौर। अपर पुलिस अधीक्षक नगर डॉ0 प्रवीन रंजन सिंह द्वारा थाना कोतवाली शहर क्षेत्रांतर्गत आगामी त्योहारों एवं कानून/शांति व्यवस्था के दृष्टिगत पैदल गश्त की गई।

वहीं अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राम अर्ज द्वारा थाना नगीना देहात का भम्रण/आकस्मिक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान थाना परिसर की साफ-सफाई, महिला हेल्प डेस्क, सीसीटीएनएस, थाना कार्यालय, हवालात आदि का निरीक्षण कर सम्बन्धित को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

राम-भरत मिलाप जुलूस में विवाद, अधिवक्ता पर हमले के खिलाफ कार्य बहिष्कार, पुलिस को तहरीर

राम-भरत मिलाप जुलूस में विवाद

  • अधिवक्ता पर हमले के खिलाफ कार्य बहिष्कार, पुलिस को दी तहरीर
  • दूसरे पक्ष का आरोप भारतीय संस्कृति को खत्म करने की साजिश

बिजनौर। एक अधिवक्ता ने राम-भरत मिलाप जुलूस के दौरान खुद पर जानलेवा हमले का आरोप लगाया है। हमलावरों पर रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए अधिवक्ताओं ने शुक्रवार को कार्य बहिष्कार किया। पुलिस और प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार मामला आपसी विवाद का विवाद बताया जा रहा है!

गुरुवार देर रात राम-भरत मिलाप का जुलूस शहर में धूमधाम से निकाला गया। जुलूस में सबसे आगे अखाड़े चल रहे थे। नगरपालिका चौक पर अखाड़े के दौरान रामलीला कमेटी के एक पदाधिकारी और अन्य कुछ लोगों में किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कहासुनी के बाद लोगों ने दोनों पक्षों को समझाबुझाकर शांत कर दिया। लेकिन, शुक्रवार को एक पक्ष के अधिवक्ता होने के कारण मामला तूल पकड़ गया। अधिवक्ताओं ने पुलिस से सुरक्षा और दूसरे पक्ष की गिरफ्तारी की मांग करते हुए कार्य बहिष्कार की घोषणा कर दी। इसके चलते हजारों फरियादियों को निराश होकर वापस लौटना पड़ा। इस संबंध में पुलिस को तहरीर भी दी गई।

भारतीय संस्कृति और परंपरा को खत्म करने की साजिश? उधर, दूसरे पक्ष का कहना है कि कुछ लोग भारतीय संस्कृति और परंपरा को खत्म करना चाहते हैं। इसके चलते वह लगातार कई साल से अखाड़ों के विरोध में है। आरोप लगाया कि दूसरे पक्ष ने रामलीला कमेटी में गबन किया था, जिसके चलते उसने कमेटी से कुछ साल पहले इस्तीफा दे दिया था। तभी से दूसरा पक्ष उससे रंजिश रखता है। इसलिए जानबूझकर मामूली बात को तूल दिया जा रहा है। अखाड़ों को रामलीला के जुलूस से सदा के लिए खत्म कर भारत की लोक कलाओं को खत्म करने की साजिश रची जा रही है।

दशहरा पर चमत्कारी शमी के कुछ आसान टोटकों से हो जाएंगे मालामाल

शैली सक्सेना, लखनऊ


दशहरा पर चमत्कारी शमी के कुछ आसान टोटकों से हो जाएंगे मालामाल। मालामाल होने के लिए दशहरा के दिन करें चमत्कारी शमी के पौधे के कुछ आसान टोटके। दशहरा के दिन शमी के पौधे के कुछ विशेष उपाय आजमाए तो आपके घर में कभी भी नहीं होगी धन की कमी।

ज्योतिषाचार्य एवं वास्तु विशेषज्ञ डॉ आरती दहिया से जानिए शमी के कुछ अचूक उपाय

दशहरा का पर्व बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक माना जाता है। जहां एक तरफ इस पर्व का इतिहास रावण के संहार से जुड़ा है, वहीं इस दिन को समस्याओं के निवारण के रूप में भी जाना जाता है।

ज्योतिष के अनुसार यदि आपके जीवन में बहुत दुःख तकलीफ है, विरोधियों से परेशान हैं, तो इन सभी समस्याओं के निवारण के लिए कुछ उपाय आजमाऐं।

व्यापार की समस्या दूर करने का टोटका

यदि व्यापार से संबंधित कोई समस्या है तो दशहरा के दिन दोपहर के समय ईशान कोण में कुमकुम और फूलों से अष्टदल कमल की एक आकृति बनाएं। इसके बाद देवी जया और विजया का स्मरण करके पूरे विधि विधान से पूजन करें। पूजा के बाद शमी के पौधे के पास एक घी का दीपक जलाएं। फिर पौधे के पास से थोड़ी मिट्टी उठाकर घर के किसी कोने में रख दें। ऐसी मान्यता है कि इस टोटके से आपको व्यापार में लाभ मिलने के साथ नौकरी में प्रमोशन के योग भी बनेंगे। वहीं कारोबार में उन्नति के लिए एक नारियल को सवा मीटर पीले कपड़े में लपेट कर एक जोड़ा जनेऊ, सवा पान और शमी के पेड़ की मिट्टी के साथ सारी सामग्री को राम मंदिर में चढ़ा दें। इससे आपको धन लाभ होगा और आर्थिक समस्याओं से मुक्ति मिलेगी।

धन लाभ के लिए….
दशहरा के दिन शमी के पौधे के नीचे घी का दीपक जलाएं और इसकी मिट्टी को अपने वर्कप्लेस में रखें। शमी के पेड़ का दशहरा के पर्व में विशेष महत्व बताया गया है और पूजा में शमी के पेड़ की मिट्टी रखने से नकारात्मक शक्तियों से छुटकारा मिलता है।

शमी के इस उपाय से दूर होंगी सभी समस्याएं

दशहरे की शाम को शमी के पौधे के पास खड़े होकर अपनी सारी समस्या बताएं। एक लाल धागा शमी को नमन करने के बाद तने से चारों तरफ बांधें। कुछ ही दिनों में आपको लाभ मिलना शुरू हो जायेगा।

दशहरे वाले दिन हनुमान जी की पूजा करना सबसे लाभकारी माना जाता है। इस दिन आपको हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए, जिससे आपको विशेष लाभ की प्राप्ति होगी।

सभी समस्याओं का निवारण इस एक अद्भुत पौधे से हो सकता है। इसलिए दशहरा के दिन ये विशेष उपाय आजमा कर घर की समृद्धि बनाए रखी जा सकती है।

छत पर लगाते समय दिशा का ध्यान जरूर रखें। शमी के पौधे को दक्षिण दिशा, पूर्व दिशा और ईशान कोण में लगाना शुभ माना गया है। अगर शमी का पौधा आप लगाते हैं तो कुछ विशेष बातों का ख्याल रखना बेहद जरूरी है। हर शाम को शमी पौधे के नीचे दीपक जरूर जलाएं और कोशिश करें की विधि विधान से पूजा अर्चना भी रोज करें।

शमी का पौधा कब और कहां लगाएं?

  1. शमी का पौधा शनिवार के दिन लगा सकते हैं। इसे आप गमले में या भूमि पर घर के मुख्य द्वार के निकट लगाएं।
  2. इसे घर के अंदर नहीं लगाना चाहिए
  3. आप शमी का पौधा विजयादशमी के दिन भी लगा सकते हैं। विजयदशमी के दिन लगाना सबसे उत्तम होता है।

शनि की खराब स्थिति का संकेत: आपने शमी का पेड़ लगाया है और यह सूख गया है या मुरझा गया है तो यह शनि की खराब स्थिति का संकेत है। इससे धन हानि होती है। साथ ही कार्य संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। अगर यह सूख गया है तो इसे हटाकर दूसरा पौधा रोप देना चाहिए।

शमी की देखभाल: सूरज की रोशनी: शमी के पेड़ को ठीक से बढ़ने के लिए 6-8 घंटे धूप की जरूरत होती है। कम से कम 12-14 इंच का गमला लें, गमले में ड्रेनेज होल हो इस बात का ध्यान रखें। पानी इस तरह दें कि गमले के ड्रेनेज होल में बाहर निकल जाए।

शमी पूजन का महत्व: नवरात्रि के नौ दिनों तक देवी भगवती के नौ स्वरूपों की आराधना के बाद दशमी तिथि को विजयादशमी पर समस्त सिद्धियां प्राप्त करने के लिए पवित्र माने जाने वाले शमी और देवी अपराजिता के अलावा अस्त्र-शस्त्रों का पूजन भी किया जाता है। इस दिन नीलकंठ पक्षी का दर्शन करना भी अति शुभ माना गया है।

हिंदू राष्ट्र सेना ने की भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाने की मांग

भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाने की हिन्दू राष्ट्र सेना ने की मांग

-बिजनौर में हुआ एक दिवसीय कार्यकर्ता परिचय सम्मेलन

बिजनौर। हिन्दू राष्ट्र सेना जिला बिजनौर का भव्य व विशाल एक दिवसीय कार्यकर्ता परिचय सम्मेलन जिला अध्यक्ष बिजनौर अवधेश शर्मा की अध्यक्षता व अमरपाल शर्मा, हरिप्रसाद शर्मा के संयुक्त संचालन में हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि हिन्दू राष्ट्र सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि महाराज द्वारा मां भारती के चित्र के सम्मुख दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से राष्ट्रीय संगठन महामंत्री जितेंद्र बालियान राष्ट्रीय संगठन मंत्री, विश्वेंद्र, राष्ट्रीय मंत्री प्रीतम कुमार प्रेम, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामेंद्र चौधरी, प्रदेश उपाध्यक्ष उत्तर प्रदेश सचिन सक्सेना, मंडल अध्यक्ष मेरठ विवेक अत्रे, मंडल अध्यक्ष मुरादाबाद, अनुज कुमार व सीताराम राणा, हिन्दू राष्ट्र सेना महिला प्रकोष्ठ से प्रदेश प्रभारी उत्तर प्रदेश श्रीमती भावना पंडित प्रदेश अध्यक्ष उत्तर प्रदेश श्रीमती मीनाक्षी चौहान आदि ने अपने विचार व्यक्त किए। सभी वक्ताओं का एकमात्र उद्देश्य भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाये जाने पर रहा। जिला संगठन महामंत्री हंस राम राणा, जिला उपाध्यक्ष रविंद्र सैनी, रामनाथ कश्यप, जिला प्रवक्ता कोशिक गोडीयाल, जिला मंत्री गंभीर, चांदपुर तहसील अध्यक्ष निपेन्द्र चौधरी, जलीलपुर ब्लॉक अध्यक्ष वीरेंद्र चौहान, धर्मेंद्र प्रजापति, बिजनौर तहसील अध्यक्ष विशाल त्यागी, तहसील संगठन महामंत्री कार्तिक शर्मा, नगर अध्यक्ष किरतपुर राहुल कुमार, नगर संगठन महामंत्री रमन, तहसील संयोजक धामपुर महिपाल चौधरी, सतीश कुमार, हिमांशु, सुमित, किरतपुर ब्लॉक अध्यक्ष राकेश कुमार, ब्लॉक संगठन महामंत्री राजू पवार, गगन शर्मा ब्लॉक उपाध्यक्ष ऋषि पाल, रतिराम, डॉक्टर पप्पू सिंह व जिला बिजनौर के समस्त पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित रहे। महिला प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष श्रीमती अनीता शर्मा, जिला संगठन महामंत्री श्रीमती रश्मि राजपूत, जिला प्रभारी श्रीमती अंजू मारवाड़ी, जिला संयोजक श्रीमती वंदना चौधरी, मीडिया प्रभारी श्रीमती ललिता राजपूत, नमीता वर्मा, जिला मंत्री मंजू चौहान, जिला मंत्री सुरेखा राणा, किरतपुर ब्लॉक से श्रीमती बीना, मोहम्मदपुर देवमल ब्लॉक अध्यक्ष श्रीमती प्रमिला आदि बड़ी संख्या में उपस्थित रहीं। इस अवसर पर मेरठ, गाजियाबाद, हापुड़, मुरादाबाद, नौएडा आदि स्थानों से भी आये पदाधिकारियों ने सहभागिता की।

ईश्वर की प्राप्ति में बाधक हैं माया मोह: महात्मा महेश कुमार पाहुजा

ईश्वर की प्राप्ति में बाधक हैं माया मोह: महात्मा महेश कुमार पाहुजा। संत निरंकारी मंडल ब्रांच बिजनौर के तत्वाधान में सत्संग भवन पर हुआ सत्संग का आयोजन।

मीडिया प्रभारी भूपेंद्र कुमार पत्रकार

बिजनौर। संत निरंकारी मंडल ब्रांच बिजनौर के तत्वाधान में सत्संग भवन पर सत्संग का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में फरीदाबाद हरियाणा से पधारे महात्मा महेश कुमार पाहुजा ने गुरु गद्दी से साध संगत को संबोधित करते हुए कहा कि यह समाज मकड़ी का जाल है।

उन्होंने कहा कि मनुष्य इस संसार के मकड़जाल में फंसकर उलझ जाता है। इंसान माया,बमोह व लालच में फंसकर अपने वास्तविक उद्देश्य से भटक जाता है। माया मोह ईश्वर की प्राप्ति में बाधक हैं। हमें इनसे बचना चाहिए हमें निराकार प्रभु की भक्ति करनी चाहिए। निराकार का साकार रूप सद्गुरु होते हैं जो हमारा सदैव कल्याण करते हैं। बिना गुरु के मुक्ति नहीं है। गुरु ही हमें 84 के बंधन से मुक्ति दिलाते हैं और भवसागर से हमारा बेड़ा पार करते हैं और हमें मोक्ष प्राप्ति का सुगम मार्ग बताते हैं, जिससे मनुष्य का कल्याण होता है। मनुष्य दौलत की चकाचौंध में कितना खो गया है कि वह अपने मूल उद्देश्य को भूल बैठा है, जो हमारा वास्तविक उद्देश्य है कि हमारा मनुष्य जन्म किसलिए हुआ है।

उन्होंने कहा कि हमारे मुक्ति केवल मानव योनि में ही है। अन्य योनि में नहीं। मुक्ति के लिए देवी देवता भी तरसते हैं। मनुष्य अपने स्वार्थ के वशीभूत होकर सब कुछ भूल जाता है। जब हम सद्गुरु की शरण में आते हैं और अपने आप को पूरी तरह सद्गुरु को समर्पित कर देते हैं तो वह हमारा बेड़ा पार कर देते हैं। मनुष्य अपने अहंकार के कारण सब कुछ गंवा देता है क्योंकि अहंकार मनुष्य का सबसे बड़ा दुश्मन है और ईश्वर प्राप्ति में बाधक है। जब हम केवल सद्गुरु को समर्पित हो जाते हैं तो हमारे जीवन में सारे सुख आते हैं और हमें खुशियां ही खुशियां मिलने लगती हैं। ब्रह्म ज्ञान के द्वारा लोक सुखी और परलोक सुहेला हो जाता है, जो संतों के दर्शन दुर्लभ बताए गए हैं। सद्गुरु की कृपा से वह सुलभ हो जाते हैं जो भी ब्रह्म ज्ञान प्राप्त करता है वह ब्रह्म ज्ञानी महात्मा हो जाता है। ब्रह्म ज्ञान बड़े ही नसीब वाले को प्राप्त होता है। आज समय की सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज हमें ब्रह्म ज्ञान प्रदान कर रहे हैं। वह बहुत ही उच्च कोटि का है और सदैव हमारा कल्याण करने वाला है। सद्गुरु के बिना ब्रह्म ज्ञान की प्राप्ति नहीं हो सकती।

नीरज गौतम के संचालन में हुई साध संगत में संयोजक महात्मा बाबूराम निरंकारी, संचालक विनोद सिंह एडवोकेट, राजवीर सिंह, नौबहार सिंह, मीडिया प्रभारी भूपेंद्र कुमार पत्रकार, सुरेंद्र पाल लकी, मनोज सिंह, रूपल सिंह, मोहित कुमार, निर्दोष कुमार, दीपक, अरुण त्यागी,वमनजीत,बडीके सागर, अक्षय सागर, श्रीमती विमल पाहुजा फरीदाबाद, सुशीला, वंदना त्यागी, अश्विंदर कौर, आशु, कलावती, संध्या, प्रियांशी, अंजलि, गीता, पारुल, कल्पना, किरण, दीपा, सिमरन, नेहा, खुशी, रितिका, मानवी, जहान्वी, सरिता श्रीवास्तव, राजू जमालपुर, वैभव कुमार, कार्तिक कुमार आदि सहित निरंकारी मिशन के अनेक अनुयाई उपस्थित रहे।

खेल के मैदान में पढ़ी नमाज, वीडियो वायरल

बिजनौर में खेल के मैदान में पढ़ी गई सामूहिक नमाज, हिंदू संगठनों ने जताया विरोध। पुलिस से कार्रवाई की मांग।

Bijnor Mass prayers were read playground Hindu organizations protested and demanded action from police

खेल के मैदान में नमाज पढ़ने का वीडियो वायरल। हिंदू संगठनों ने जताया विरोध। शिकायत पर जांच में जुटी पुलिस। बिजनौर के नगीना नगर क्षेत्र अंतर्गत खेल के मैदान में मुस्लिम समाज के कुछ लोगों द्वारा सामूहिक रूप से नमाज पढ़ने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। हिंदू संगठनों ने मामला संज्ञान में आने पर विरोध जताते हुए पुलिस से कार्रवाई की मांग की है। वीडियो फुटेज के आधार पर पुलिस जांच में जुट गई है।

बिजनौर। जनपद के नगीना नगर क्षेत्र में एक खेल मैदान में नमाज पढ़े जाने का वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें मुस्लिम समाज के कुछ लोगों के सामूहिक रूप से नमाज पढ़ने की फुटेज है। इसके बाद हिंदू संगठनों में नाराजगी व्याप्त हो गई है। इस मामले में पुलिस से कार्रवाई की मांग की गई है। वहीं पुलिस वीडियो के आधार पर जांच में जुट गई है। मामला गांधी मूर्ति झंडा चौक के पास खेल के मैदान का बताया जा रहा है। वीडियो में इसी मैदान के पास एक मंदिर भी दिखाई दे रहा है।

पढ़ी जा रही नमाज, खेल रहे बच्चे
नगीना थाना नगर क्षेत्र के अंतर्गत गांधी मूर्ति झंडा चौक के पास खेल का मैदान है। यहां बच्चों से लेकर बुजुर्ग मॉर्निंग वॉक करते हैं और शाम के समय युवा कई तरह के गेम खेलते हैं। वायरल हो रहे वीडियो को लेकर बताया गया है कि बुधवार की शाम को करीब 15 मुस्लिम युवकों ने इसी मैदान में सामूहिक रूप से नमाज पढ़ी। इस दौरान बच्चे मैदान में खेलते हुए भी नजर आ रहे हैं। नमाज पढ़ने के समय किसी राहगीर ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। उसके बाद हिंदू संगठनों ने इसको लेकर विरोध शुरू कर दिया। वीडियो में मैदान के पास एक मंदिर भी दिखाई दे रहा है। यहां लोग पूजा-पाठ करने आते हैं। इसलिए खेल मैदान में नमाज पढ़ने का हिंदू संगठनों के लोगों ने विरोध जताया है। उन्होंने इस वीडियो के आधार पर पुलिस से कार्रवाई की मांग की है।

सीओ को सौंपी है जांच- एसपी देहात रामअर्ज
इस मामले में एसपी देहात राम अर्ज का कहना है कि मामले की जांच सीओ नगीना को सौंपी गई है। सीओ वायरल हो रहे वीडियो की जांच कर रहे हैं। जांच के बाद विधिक कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि मैदान में नमाज पढ़ने वालों की पहचान की जा रही है। यह भी जांच के दायरे में है कि वीडियो कब का है?

गणेश चतुर्थी पर स्थापित करें मिट्टी के गणेश जी

बुधवार से हो रहा है गणेशोत्सव का प्रारंभगणेश प्रतिमा की स्थापना के साथ 10 दिन तक मनेगा गणेशोत्सव का पर्व।

बिजनौर। गणेश पुराण के अनुसार भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि पर भगवान गणेश का जन्म हुआ था। चतुर्थी तिथि पर गणेश प्रतिमा की स्थापना के साथ 10 दिन तक गणेशोत्सव का पर्व मनाया जाता है। अनंत चतुर्दशी के दिन प्रतिमा का विसर्जन करते हुए गणेश उत्सव का यह पर्व संपन्न होता है।

सिविल लाइन स्थित धार्मिक संस्थान विष्णु लोक के ज्योतिषविद पंडित ललित शर्मा ने बताया कि भाद्रपद माह की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि का आरंभ 30 अगस्त 2022 को दोपहर 3:00 बजकर 34 मिनट से हो रहा है। चतुर्थी तिथि का समापन 31 अगस्त को दोपहर 3:00 बज कर 23 मिनट पर होगा। इस बार गणेशोत्सव का प्रारंभ बुधवार के दिन से हो रहा है। शास्त्रों में बुधवार को भगवान गणेश का वार माना गया है। बुधवार के दिन भगवान गणेश की पूजा आराधना करने पर सभी प्रकार के सुखों की प्राप्ति होती है। गणेश चतुर्थी के दिन चार प्रमुख ग्रह स्वराशि में रहेंगे। गुरु अपनी स्वराशि मीन में, शनि मकर में, बुध कन्या राशि में, और सूर्य अपनी स्वराशि सिंह में उपस्थित रहेंगे। यह बहुत शुभ संयोग माना जा रहा है।
गणेश चतुर्थी पर मिट्टी के गणेश जी स्थापित करें। मिट्टी की गणेश प्रतिमा के पूजन से नकारात्मक ऊर्जा नष्ट होती है। मिट्टी में पवित्रता होती है। मिट्टी की गणेश प्रतिमा प्रकृति के पांच मुख्य तत्व में से एक भूमि की बनी होती है। इसीलिए इसमें भगवान का आह्वान करने से कार्य सिद्धि होती है। प्लास्टर ऑफ पेरिस और अन्य केमिकल्स से बनी गणेश प्रतिमा में भगवान का अंश नहीं आ पाता और इससे नदियां अपवित्र होती हैं। ब्रह्म पुराण के अनुसार नदियों को प्रदूषित करने से दोष लगता है। गणेश स्थापना के लिए भगवान गणपति की मूर्ति मिट्टी से बनी हुई होनी चाहिए। मूर्ति खंडित अवस्था में नहीं होनी चाहिए।
पुराणों में भगवान श्री गणेश की जन्म की कथा में बताया गया है कि माता पार्वती ने पुत्र की कामना से मिट्टी का पुतला बनाया था, फिर शिव जी ने उस में प्राण संचार किए वहीं भगवान गणेश थे।

गणेश चतुर्थी के दिन भगवान गणेश का आह्व करते हुए, ॐ गं गणपतये नमः मंत्र का उच्चारण करें। हल्दी, चावल, चंदन, हरी दूर्वा, मिठाई, मोदक, फूल, फल कलावा, जनेऊ आदि वस्तुएं अर्पित करें। भगवान शिव और माता पार्वती की भी पूजा करें। धूप दीप से भगवान की आरती करें। लड्डू का भोग लगाकर सभी को वितरित करें।

बूढ़े बाबा की दोयज पर लगा मेला, उमड़े श्रद्धालु

बिजनौर। दोयज के मौके पर रोडवेज बस स्टैंड स्थित बूढ़े बाबा के मंदिर में हजारों श्रद्धालुओं ने प्रसाद चढ़ाया। इस मौके पर मेले में लोगों ने जमकर खरीदारी की।

भादों माह की दोयज को बूढ़े बाबा के मंदिरों में प्रशाद चढ़ाने की परम्परा सदियों से चली आ रही है। मान्यता है कि मंदिर में प्रशाद चढ़ाने से मन की मुराद पूरी होती है। साथ ही लोगों को दाद, खाज, खुलजी, एक्जिमा जैसे चर्म रोगों से छुटकारा मिलता है। विगत दो वर्षो से कोविड़ के प्रकोप के चलते दूर दराज के श्रद्धालु मंदिरों तक नहीं पहुंच सके थे। सोमवार तड़के से ही मंदिर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं का सिलसिला शुरू हो गया। हजारों श्रद्धालुओं ने प्रसाद चढ़ाया। इस मौके पर लगाए गये मेले में बच्चों ने खिलौने, महिलाओं ने सौंदर्य प्रसाधन एवं घरेलू सामान खरीदा। चाट पकौड़ी, गोलगप्पे, मोमोज़, बर्गर के ठेलों पर भी भीड़ उमड़ी। जलेबी, लड्डू, प्रशाद के दुकानदारों ने भी खूब माल बेचा।

हल्दौर में इस दौरान सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस मुस्तैद रही। थानाध्यक्ष उदय प्रताप सिंह व निरीक्षक केपी सिंह, उपनिरीक्षक भीम सिंह आदि तैनात रहे। वहीं मंडावर थाना क्षेत्र के गांव शहवाजपुर, गांव रामजीवाला छकड़ा में इस अवसर पर लगे मेले में खासी भीड़भाड़ रही। आसपास के कई गांव के लोगों ने बुड्ढे बाबा के मंदिर पर प्रसाद चढ़ाया और भगवान से प्रार्थना की। मेले में मंडावर पुलिस भी चप्पे-चप्पे पर तैनात रही। यहां भी हजारों श्रद्धालु प्रसाद चढ़ाने के लिए पहुंचे। मेले में लोग अपनी टैक्टर ट्राली बैलगाड़ी और मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए। बच्चों ने  झुला झूलकर खुशी मनाई।

सदैव करते रहें सेवा सत्संग व सुमिरन: श्री गुरु दयाल जी

नांगल जट में हुआ संत निरंकारी मंडल ब्रांच बिजनौर के तत्वाधान में सत्संग। सत्संग के बाद हुआ विशाल लंगर का आयोजन।

बिजनौर। संत निरंकारी मंडल ब्रांच बिजनौर के तत्वाधान में ग्राम नांगल जट में एक विशाल सत्संग का आयोजन महात्मा धर्मपाल सिंह के निवास स्थान पर किया गया। इस अवसर पर जसपुर से पधारे महात्मा पूर्व क्षेत्रीय संचालक श्री गुरु दयाल जी ने कहा कि हमें सदैव सेवा सत्संग व सुमिरन करते रहना चाहिए, तभी हमारा बेड़ा पार होगा। अगर हमारे जीवन में इन तीनों में से किसी भी एक चीज की कमी है तो हमारी भक्ति अधूरी है। इन तीनों के संगम से ही हमारी भक्ति पूरी होती है।

सब सुखों की खान है सत्संग- महात्मा श्री गुरु दयाल जी ने कहा कि सत्संग में आने से हमें सदैव सुख ही सुख मिलते हैं, क्योंकि सत्संग सब सुखों की खान है। सत्संग के लिए देवी देवता भी तरसते हैं। हमें जो यह मानव जन्म मिला है, यह बहुत ही भाग्य से मिला है क्योंकि इस मानव योनि नहीं हम भवसागर से पार हो सकते हैं और बिना गुरु के मुक्ति नहीं है गुरु ही हमें मुक्ति का रास्ता बताते हैं और भवसागर से हमारा बेड़ा पार कर देते हैं। गुरु की कृपा से ही हमारा यह लोक सुखी होता है। इसीलिए हमें हमेशा सेवा सत्संग सुमिरन करते रहना चाहिए। आज सतगुरु माता जी सुदीक्षा जी महाराज समय की पैगंबर हैं और निरंकारी मिशन की सतगुरु हैं, वही हमारा बेड़ा पार कर रही हैं। उनसे जो हमें ब्रह्म ज्ञान प्राप्त हुआ है वह बहुत ही अच्छा है। ब्रह्म ज्ञान की प्राप्ति होने पर हमारे कई जन्मों के पाप धुल जाते हैं।जो हमें ब्रह्म ज्ञान मिल जाता है तो हम बहुत सुखी हो जाते हैं। सद्गुरु की कृपा से ब्रह्म ज्ञान के द्वारा जब हम रमई राम को पा लेते हैं, तो कुछ भी बाकी नहीं रहता। हमें सदैव प्यार से रहना चाहिए क्योंकि प्यार सजाता है गुलशन को और नफरत वीरान करे।

पूर्व संचालक महात्मा कृपाल सिंह त्यागी के संचालन में हुए सत्संग में संयोजक महात्मा बाबूराम निरंकारी, कुशल पाल मुखी, राजवीर सिंह बगीची, आसाराम, राम अवतार, फकीरचंद, हुकुम सिंह पूर्व ग्राम प्रधान नंगल जट, चंद्रपाल, रमेश, चंद्रपाल सिकंदरी, अक्षय सागर, मीडिया प्रभारी भूपेंद्र कुमार निरंकारी पत्रकार, लोकेश, सुशीला, मंजू, वंदना त्यागी, प्रियांशी, संध्या, खुशी, अंजलि, गीता, सर्वेश, जोगराज, वंश आदि ने अपने अपने विचार व आध्यात्मिक गीत प्रस्तुत किए। सत्संग में अनुयायियों का उत्साह देखते ही बन रहा था। सत्संग के बाद एक विशाल लंगर का आयोजन किया गया। सत्संग कार्यक्रम में सेवा दल के सदस्यों व अन्य महापुरुषों का विशेष योगदान रहा।

हर्षोल्लास के साथ मनाई गई जन्माष्टमी

बिजनौर। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार जनपद में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। लोगों ने अपने घरों में लड्डू गोपाल को नई पोशाक व नए श्रृंगार के साथ विराजमान किया। काफी श्रद्धालुओं ने गुरुवार 18 अगस्त को जन्माष्टमी का त्योहार मनाया। वहीं बहुत से गृहस्थों ने शुक्रवार को व्रत रखकर जन्माष्टमी मनाई। मंदिरों को दुल्हन की तरह से सजाने के साथ ही रामडोल सजाए गये हैं। इन पर कान्हा को विराजमान किया गया है।

सर्वविदित है कि जन्माष्टमी का पावन पर्व भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। सिविल लाइन स्थित धार्मिक संस्थान विष्णु लोक के ज्योतिषविद पंडित ललित शर्मा ने बताया कि शास्त्रानुसार मथुरा में भगवान श्री कृष्ण का जन्म अर्ध रात्रि व्यापिनी अष्टमी तिथि को हुआ था। 18 अगस्त 2022 को अष्टमी तिथि अर्धरात्रि व्यापिनी होने के चलते गृहस्थ जीवन जीने वाले ( स्मार्त ) लोगों को गुरुवार 18 अगस्त को जन्माष्टमी का त्योहार मनाना श्रेष्ठ माना गया। वृद्धि और ध्रुव योग का निर्माण भी गुरुवार को शुभ रहा।

वहीं 19 को साधु संत (वैष्णव) लोग जन्माष्टमी मनाएंगे। उन्होंने बताया कि धार्मिक दृष्टि से देखा जाए तो भगवान श्री कृष्ण का जन्म रात्रि में 12:00 बजे हुआ था। 18 अगस्त 2022 को रात्रि में 12:00 बजे अष्टमी तिथि रही।

संत निरंकारी सत्संग भवन पर मनाया मुक्ति पर्व

बिजनौर। संत निरंकारी मंडल ब्रांच बिजनौर के तत्वाधान में संत निरंकारी सत्संग भवन पर स्वतंत्रता दिवस मुक्ति पर्व के रूप में मनाया गया। संतों महापुरुषों बहनों व मिशन के बच्चों ने अपने अपने विचार व सुंदर सुंदर आध्यात्मिक गीत प्रस्तुत किए।

गुरु गद्दी से साध संगत को संबोधित करते हुए संयोजक महात्मा बाबूराम निरंकारी ने कहा कि मुक्ति पर्व का आयोजन निरंकारी मिशन के संतों, महापुरुषों के त्याग व तपस्या की याद में मनाया जाता है। सतगुरु बाबा बूटा सिंह जी शहंशाह, बाबा अवतार सिंह जी महाराज, सद्गुरु बाबा गुरबचन सिंह जी, सद्गुरु बाबा हरदेव सिंह जी महाराज, सद्गुरु माता सविंदर जी, जगत माता गुणवंती जी, संत निरंकारी मिशन के सबसे पहले प्रधान श्री लाभ सिंह जी की याद में मनाया जाता है। इन्होंने निरंकारी मिशन की बहुत ही सेवा की है। निरंकारी मिशन के प्रचार व प्रसार में अहम योगदान दिया। इन्हीं के समय में निरंकारी मिशन ने अमित छाप छोड़ी। मिशन के अन्य संतों महापुरुषों व बहनों ने भी बहुत योगदान दिया।

इससे पूर्व प्रातः 7:00 बजे से सत्संग भवन पर संयोजक महात्मा बाबूराम निरंकारी, संचालक विनोद सिंह एडवोकेट, शिक्षक आदित्य सोनू, डीके सागर, मीडिया प्रभारी पत्रकार भूपेंद्र कुमार निरंकारी ने ध्वजारोहण किया। संचालक विनोद सिंह एडवोकेट, शिक्षक आदित्य सोनू व शिक्षिका कलावती के मार्गदर्शन में सेवादल के सदस्यों ने पीटी परेड की। सेवादल के प्रत्येक सदस्य के हाथ में हमारे प्यारे देश भारतवर्ष की आन बान और शान का प्रतीक तिरंगा था। उनका उत्साह देखते ही बन रहा था। सभी जोश और खरोश के साथ सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज व भारत माता की जय के नारे जोशो खरोश के साथ लगा रहे थे।

महात्मा डीके सागर के संचालन में हुए सत्संग कार्यक्रम में संचालक महात्मा विनोद सिंह एडवोकेट, पूर्व संचालक कृपाल सिंह त्यागी, शिक्षक आदित्य सोनू, महिला सेवा दल संचालिका अरविंदर कौर आशु, शिक्षिका कलावती, सुशीला, वंदना त्यागी, अरुण त्यागी, सुरेंद्र पाल लकी, मीडिया प्रभारी पत्रकार भूपेंद्र निरंकारी, राजवीर सिंह, मनोज सिंह, जोर वीर सिंह, निर्दोष कुमार, अजय कुमार, अक्षय सागर, मयूर सागर, दयाराम, शीशराम सिंह, नरेंद्र कुमार, चंद्रपाल सिकंदरी, चंद्रपाल, मोहित कुमार, आनंद सिंह, ओम प्रकाश गौतम, लंगर सेवा में वैभव कुमार, कल्पना, गीता, पारुल, प्रियांशी, शालिनी, अंजलि, संध्या, आराधना, सिमरन, दीपक जी खेड़की, दिव्या भारती, बृजेश एडवोकेट, सुरेश कुमार, झंडू सिंह, विमला रूहानी आदि सहित निरंकारी मिशन के अनेक अनुयाई उपस्थित रहे। सत्संग के बाद लंगर का आयोजन किया गया।

शहीद स्मारक पर धर्म गुरुओं की मौजूदगी में वीर शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि

जश्न ए आज़ादी ट्रस्ट और पत्रकार एसोसिएशन ने किया स्वतंत्रता सेनानी के परिजन, समाजसेवी, शायर, वकील और पत्रकारों को सम्मानितशहीद स्मारक पर धर्म गुरुओं की मौजूदगी में वीर शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि

लखनऊ। स्वतंत्रता दिवस से पूर्व जश्न -ए -आजादी ट्रस्ट एवं उ. प्र. ज़िला मान्यता प्राप्त पत्रकार एसोसिएशन ने शहीद स्मारक पर वीर शहीदों की याद में 75 कैंडिल जलाकर तथा पुष्प अर्पित करके उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

इस मौके पर मौलाना ख़ालिद रशीद फरंगी महली, उदय खत्री, मेजर आशीष चतुर्वेदी, मंत्री दानिश आजाद अंसारी, मेयर संयुक्ता भाटिया, सूचना आयुक्त नरेंद्र श्रीवास्तव, मुरलीधर आहूजा, निगहत खान, अब्दुल वहीद, जुबैर अहमद, वामिक खान ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के परिजनों सहित समाज मे सराहनीय कार्य करने वाले समाज सेवियों, शायर, कवि, वकील और पत्रकारों को सम्मानित किया।कार्यक्रम का संचालन अब्दुल वहीद ने किया।

इस अवसर पर आमिर मुख्तार ने देश भक्ति पर कई तराने गाए। वीर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के उपरांत सम्मान कार्यक्रम हुआ। उस दौरान उदय खत्री, मेजर आशीष चतुर्वेदी, डॉक्टर नीमा पंत, डॉक्टर रूबी राज सिन्हा, विशाल सिंह फूडमैन, मुर्तुजा अली, शहजादे कलीम, संजय गुप्ता, स्नेहलता सिंह, इमरान खान, रजिया नवाज़, आबिद अली कुरैशी आदि को सम्मानित किया गया।

इस आयोजन में जश -ए -आजादी ट्रस्ट के अध्यक्ष मुरलीधर आहूजा, निगहत खान, मौलाना मुश्ताक, मौलाना सूफियान, वामिक खान, अब्दुल वहीद, अजीज सिद्दीकी सहित संजय सिंह, सुशील दुबे, शाहिद सिद्दीकी, जुबैर अहमद, अजीम खान, बज़्मी युनुस, क़ुदरत उल्ला खान, नीलोफर नवाज,अभय अग्रवाल, योग गुरु कृष्ण दत्त मिश्रा, नजम अहसन, एमएम मोहसिन,संतराम यादव, आरिफ मुक़ीम, भानु प्रताप, रईस खान,कमर अली, आफताब आलम, महेश दीक्षित, प्रिंस आर्य,,नूर आलम खान, शान फरीदी, वसी अहमद सिद्दीकी, आफाक मंसूरी, इस्लाम खान, मुश्ताक बेग आदि मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि ट्रस्ट स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर एक सप्ताह तक देश भक्ति पर तमाम बड़े कार्यक्रम हर वर्ष आयोजित करती है।

संत निरंकारी सत्संग भवन पर 15 अगस्त को मनाएंगे मुक्ति पर्व

बाबा बूटा सिंह जी शहंशाह, अवतार सिंह जी महाराज व बाबा गुरबचन सिंह के तप और त्याग की याद में मनाया जाता है मुक्ति पर्व। सत्संग के बाद किया जाएगा लंगर का आयोजन।

बिजनौर। संत निरंकारी सत्संग भवन पर 15 अगस्त दिन सोमवार को मुक्ति पर्व मनाया जाएगा। यह जानकारी संत निरंकारी मंडल ब्रांच बिजनौर के संयोजक महात्मा बाबूराम निरंकारी व मीडिया प्रभारी पत्रकार भूपेंद्र कुमार निरंकारी ने संयुक्त रूप से दी।

संत निरंकारी मंडल ब्रांच बिजनौर के मीडिया प्रभारी पत्रकार भूपेंद्र कुमार निरंकारी

उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि दिनांक 15 अगस्त दिन सोमवार को प्रातः 11 बजे संत निरंकारी सत्संग भवन पर मुक्ति पर्व मनाया जाएगा। साथ ही एक विशेष सत्संग का आयोजन भी होगा। मीडिया प्रभारी पत्रकार भूपेंद्र कुमार निरंकारी ने बताया कि मुक्ति पर्व; बाबा बूटा सिंह जी शहंशाह, अवतार सिंह जी महाराज व बाबा गुरबचन सिंह के तप और त्याग की याद में मनाया जाता है।

संत निरंकारी मंडल ब्रांच बिजनौर के संयोजक महात्मा बाबूराम निरंकारी

कार्यक्रम संयोजक महात्मा बागोड़ा निरंकारी ने सेवा दल के पदाधिकारियों व समस्त सदस्यों से सोमवार को प्रातः 6:00 बजे पहुंचकर कार्यक्रम को सफल बनाने की विनती की है। इसके अलावा संत निरंकारी मिशन के अनुयायियों से 11 बजे से पूर्व पहुंचने की विनती की है। सत्संग के बाद लंगर का आयोजन किया जाएगा

शहीद के परिजनों व पूर्व सैनिकों का माल्यार्पण व शाल उढाकर सम्मान

शहीद के परिजनों व पूर्व सैनिकों का माल्यार्पण व शाल उढाकर सम्मान आजादी के अमृत महोत्सव अन्तर्गत तहसील बिजनौर में आयोजित हुआ कार्यक्रम

बिजनौर। आजादी का अमृत महोत्सव सप्ताह 11 से 17 अगस्त 2022 के अन्तर्गत पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार तहसील बिजनौर सभागार में कार्यक्रम आयोजित किया गया। मुख्य अथिति विनय कुमार सिह अपर जिलाधिकारी प्रशासन बिजनौर रहे। कार्यक्रम में उपजिलाधिकारी बिजनौर मोहित कुमार, तहसीलदार बिजनौर अनुराग सिंह भी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन अनिरूद्ध कुमार यादव, नायब तहसीलदार ने किया।


कार्यक्रम में भारत की सशस्त्र सेना में अपनी जान न्यौछावर करने वाले शहीद सैनिकों के परिवारों व पूर्व सैनिक तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों को भी आमन्त्रित किया गया। इनमें भारत चीन अंतरराष्ट्रीय सीमा पर शहीद जाट रेजिमेन्ट के  सिपाही गजेन्द्र सिंह के पिता सीताराम निवासी ग्राम फतेहपुर कला। भारत पाक युद्ध 1965 में शहीद महार रेजिमेन्ट के सिपाही मेहरबान सिंह की पुत्री अनुराधा नि. मौ. खत्रियान] बिजनौर। पूर्व सैनिक सूबेदार मेजर अरविन्द कुमार वर्म, नायब सूबेदार तेजपाल सिंह, नायब सूबेदार मुस्तकीम अहमद, कैप्टन वीएस पंवार, कैप्टन गुणप्रकाश शर्मा,-हवलदार मौ. असलम, हवलदार राकेश कुमार व नायक वीआर शर्मा उपस्थित रहे।

कार्यक्रम में विनय कुमार सिंह अपर जिलाधिकारी प्रशासन बिजनौर द्वारा सभी उपरोक्त शहीद के परिवारों के सदस्यों एवं पूर्व सैनिकों को माल्यार्पण व शाल उढाकर सम्मानित किया गया। उपजिलाधिकारी मोहित कुमार व तहसीलदार  अनुराग सिंह द्वारा सभी आमन्त्रित व्यक्तियों को ब्रोच फ्लैग तिरंगा लगाकर स्वागत व सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर समस्त राजस्व परिवार के सदस्य भी उपस्थित रहे। सभी के द्वारा सभी आमन्त्रित व उपस्थित व्यक्तियों को घर-घर तिरंगा कार्यक्रम के अन्तर्गत तिरंगा वितरण किया गया।

अपर जिलाधिकारी प्रशासन विनय कुमार सिंह ने आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत सभी से अपने-अपने घर पर तिरंगा लगाने तथा 75 वें स्वतन्त्रता दिवस को धूमधाम से त्योहार की तरह मनाने की भी अपील की। उपजिलाधिकारी मोहित कुमार द्वारा आजादी में स्वतन्त्रता संग्राम सेनानियों के बलिदान एवं शहीद पूर्व सैनिकों द्वारा देश की रक्षा में किये गये योगदान पर प्रकाश डाला गया। सभी उपस्थित अथितियों को सूक्ष्म जलपाल कराकर कार्यक्रम का समापन किया गया।

डीआईजी की अगुवाई में आलाधिकारियों ने लगाई पुलिस लाइन में झाड़ू

गंज पुलिस चौकी इंचार्ज अनिल कुमार

स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत पुलिस के आलाधिकारियों ने लगाई झाड़ू। स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर चमकेगा हर थाना

बिजनौर। स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर पुलिस लाइन परिसर में गुरुवार सुबह विशेष सफाई अभियान चलाया गया। मुरादाबाद से बिजनौर पहुंचे डीआईजी शलभ माथुर ने अधिकारियों के साथ स्वयं झाड़ू लगाकर श्रमदान किया। वहीं जनपद के प्रत्येक थाना, कोतवाली को सुंदर तरीके से सजाने के निर्देश दिए गए हैं।

स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर पुलिस लाइन परिसर में स्वच्छता अभियान चलाया गया। डीआईजी शलभ माथुर ने गुरुवार सुबह विभागीय अधिकारियों के साथ रिजर्व पुलिस लाइन परिसर में श्रमदान किया। डीआईजी ने खुद झाड़ू लगाकर सफाई अभियान की शुरुआत की। सफाई अभियान बिजनौर पुलिस लाइन के सभी शाखा कार्यालयों और रिहायशी इलाकों में चलाया गया। इसके साथ ही सभी पुलिसकर्मियों व कर्मचारियों ने पुलिस कार्यालय में भी श्रमदान किया। साथ ही सभी से साफ-सफाई रखने की अपील की गई।

डीआईजी के शलभ माथुर के साथ में पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह, एसपी सिटी डॉक्टर प्रवीण रंजन सिंह, एसपी ग्रामीण राम अर्ज, सीओ ट्रेनर सर्वम सिंह सहित बड़ी संख्या में अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे। डीआईजी शलभ माथुर ने सभी पुलिसकर्मियों को स्वच्छता के जरिए अपने आसपास साफ-सफाई रखने के लिए प्रेरित किया। वहीं स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर जनपद के प्रत्येक थाना, कोतवाली को सुंदर तरीके से सजाया संवारा गया है।

भारी भीड़ के सामने ध्वस्त हुईं रोडवेज की तैयारियां

भीड़ के सामने धरी रह गईं रोडवेज की तैयारियां। रक्षा बंधन पर व्यवस्था करने में हांफ उठा विभाग

बिजनौर। रक्षा बंधन के पावन पर्व पर यात्रियों के लिए रोडवेज द्वारा की गई तैयारियां धरी की धरी रह गईं। रोडवेज की बसों में गुरुवार सुबह से यात्रियों की भीड़ जुटना शुरू हो गई। लंबी दूरी के लिए चलने वाली एसी बसों और आसपास के जनपदों को जाने वाली बसों में सवारियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। दिल्ली, मेरठ, हापुड़, बुलंदशहर, संभल, मुरादाबाद, बरेली, कोटद्वार, हरिद्वार आदि स्थानों के लिए सवारियों की भीड़ जुटी रही। आवश्यकता के अनुसार रोडवेज बसों की व्यवस्था न होने के कारण बसों पर सवारियों को खड़े होकर और गेट पर लटककर सफर करना पड़ा।

रोडवेज के सूत्रों के मुताबिक त्योहार को लेकर निगम ने पहले से ही तैयारी शुरू कर दी थी। सावन पर कांवड़ यात्रा को लेकर अधिकतर रूट पर बसों की संख्या सीमित कर दी गई थी। वहीं रक्षा बंधन त्योहार के कारण शासन के निर्देशानुसार यात्रियों की संख्या बढ़ने की संभावना को लेकर बसों का संचालन भी बढ़ाया गया। महिलाओं के लिए दो दिन मुफ्त यात्रा की सुविधा शासन की ओर से की गई है। गुरुवार को पहले दिन यात्रियों का दबाव काफी अधिक रहा। बाहर से आने वाली बसें भी भरकर आती रहीं। स्टेशन से निकलने वाली बसों में भी बड़ी संख्या में यात्री भरकर रवाना हुए। यात्री सुविधा के लिए अत्यधिक दबाव वाले रूटों पर बसों के फेरे भी बढ़ाए गए, जबकि जिस रूट पर ज्यादा भीड़ होती है, वहां तत्काल बस लगाई गईं।

भद्रा काल के बीच बहनों ने भाई की कलाई पर बांधा रक्षा सूत्र

भद्रा काल के बावजूद रक्षा बंधन पर्व की शुरुआत। पहले भगवान को, फिर भाई की कलाई पर राखी बांधकर की  दीर्घायु व भविष्य की मंगलकामना। बहुत से लोग शुक्रवार को बंधवाएंगे राखी।

बिजनौर। भद्रा के बावजूद रक्षाबंधन पर्व की शुरुआत गुरुवार  को उत्साह के साथ हो गई। बहनों ने पहले भगवान को फिर भाई की कलाई पर राखी बांधकर दीर्घायु व उसके भविष्य की मंगलकामना की। भाइयों नेपर भारी भीड़ उमड़ी पड़ी है।सामर्थ्य के अनुसार बहन को उपहार देकर आशीर्वाद लिया।

भद्रा काल को लेकर रक्षा बंधन पर्व की तिथि पर संशय बना रहा। इसके बावजूद बहनों ने अपने भाइयों को राखी बांधी। रक्षाबंधन पर श्रवण कुमार की पूजा का महत्व है। घरों के दरवाजे पर श्रवण कुमार की आकृति बनाकर खीर व मिष्ठान से पूजन किया। उसके बाद रक्षाबंधन का पर्व मनाना शुरू किय गया। रक्षाबंधन पर्व पर बाजारों में पिछले कई दिन से काफी रौनक बनी हुई है। जगह जगह लगी राखी की दुकानों, कपड़ों और मिठाई की दुकानों पर भी खासी पर भारी भीड़ उमड़ी पड़ी है। रक्षा बंधन का त्योहार शुक्रवार को भी मनाया जाएगा। कई लोगों ने भद्रा की वजह से गुरुवार को रक्षा बंधन नहीं मनाया और राखी नहीं बंधवाई। वे सभी शुक्रवार को राखी बंधवाएंगे।

त्योहारों को लेकर एसपी सिटी ने शहर में की पैदल गश्त

बिजनौर। आगामी त्योहारों को सकुशल सम्पन्न कराने एवं जनपद की कानून व्यवस्था को सुदृढ करने हेतु पुलिस प्रशासन बेहद सतर्कता बरत रहा है। इसी के साथ ही आमजन को सुरक्षा का अहसास कराने के लिए सक्रिय भी है। इसी क्रम में गुरुवार को अपर पलिस अधीक्षक नगर डॉ प्रवीण रंजन सिंह द्वारा थाना कोतवाली शहर क्षेत्रान्तर्गत पुलिस फोर्स के साथ पैदल गश्त की गई।

त्योहारों पर शांति एवं कानून व्यवस्था में खलल बर्दाश्त नहीं, होगी कठोर कार्यवाही

त्योहारों को धार्मिक परंपरा व शांतिपूर्ण तरीके से मनाया जाए: उमेश मिश्रा
शांति एवं कानून व्यवस्था में खलल डालने वालों के विरुद्ध की जाएगी कठोर कार्यवाही

बिजनौर। मोहर्रम के पर्व पर कानून एवं शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिये विकास भवन सभागार में जिलाधिकारी उमेश मिश्रा की अध्यक्षता में प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक का आयोजन किया गया।। जिलाधिकारी ने बैठक में प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियों को त्योहारों के दौरान कानून व्यवस्था को दुरुस्त बनाए रखने के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि सभी त्योहारों को शांतिपूर्ण तरीके से मनाया जाए। उन्होंने समस्त तहसीलों के उप जिलाधिकारियों व थानाध्यक्षों से जनपद के विभिन्न स्थानों पर निकाले जाने वाले मोहर्रम जुलूस के बारे में जानकारी ली।
उन्होंने कहा कि त्योहारों पर कोई भी ऐसा कार्य नहीं किया जाए जिससे अन्य किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचे साथ ही त्योहारों को धार्मिक परंपरा और शांतिपूर्ण तरीके से मनाया जाए। जिलाधिकारी ने आह्वान किया कि सभी लोग साम्प्रदायिक सौहार्द को बनाये रखते हुए अपने-अपने रीति-रिवाज के साथ कानून के दायरे में रहकर त्योहारों को अच्छे से मनाएं। जनपद बिजनौर हमेशा से आपसी भाईचारे की मिसाल रहा है। सभी धर्म शांति का संदेश देते हैं। अगर कहीं पर कोई समस्या या विवाद है तो उसकी सूचना तत्काल पुलिस को दें। जल्द से जल्द उस समस्या का उचित निस्तारण किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि ऐसा कोई कार्य न करें जिससे कि एक दूसरे की धार्मिक भावनाएं आहत हों। ताजिया निर्धारित मार्गों पर से ही निकाले तथा अनावश्यक रूप से कोई नई परंपरा न डालें। उन्होंने कहा कि जनपद की शांति एवं कानून व्यवस्था में खलल डालने वालों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि शासन के द्वारा जो आदेश मिले हैं उनका पालन करें। कानून व्यवस्था को बनाए रखने की हम सभी की जिम्मेदारी है, इसे बखूबी निभाएं। उन्होंने जनसामान्य से अपिल करते हुए कहा कि आपसी भाईचारे से शांतिपूर्वक सहयोग करते हुये त्यौहार मनाये। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया की सौंपे गये दायित्वों को अच्छे से पूरा करें।

पालिका पंचायत अधिकारियों को निर्देश-
जिलाधिकारी ने मोहर्रम की तैयारियों को लेकर एवं नगर पालिकाओं एवं नगर पंचायतों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जुलूस मांगों को गड्ढा मुक्त बनाने के साथ ही साफ-सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि जुलूस मार्गों का सर्वे कर यह सुनिश्चित किया जाए कि कहीं पर भी विद्युत की तार नीचे न लटकी हो। त्योहार पर रात्रि के समय विद्युत आपूर्ति बनाए रखी जाए।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने आजादी का अमृत महोत्सव के तहत सफाई अभियान चलाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि हम आजादी का 75 वर्ष पूरे होने का अमृत महोत्सव मना रहे हैं।

जुलूस में प्रतिबंधित अस्त्र-शस्त्र का प्रदर्शन नहीं- पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने कहा कि जनपद बिजनौर के लोग बहुत जिम्मेदार है जैसे यहां के लोगों ने पूर्व में सभी त्योहार साम्प्रदायिक सौहार्द व भाईचारे के साथ मनाए हैं, वैसे ही आगामी त्योहार भी शांति व भाईचारे के साथ मनाएंगे। उन्होंने कहा कि मोहर्रम के जुलूस में प्रतिबंधित अस्त्र-शस्त्र का प्रदर्शन नहीं किया जाएगा।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन विनय कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 अरविन्द कुमार, अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी ओमवीर सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक नगर डा0 प्रवीण रंजन, अपर पुलिस अधीक्षक राम अर्ज, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 विजय कुमार गोयल, परियोजना निदेशक डीआरडीए ज्ञानेश्वर तिवारी, समस्त उप जिलाधिकारी सहित प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी मौजूद रहे।

कम्भौर में भोलेनाथ की स्तुति, हवन और भंडारा

बिजनौर। सावन मास के तीसरे सोमवार पर निकटवर्ती ग्राम कम्भौर में श्रद्धालुओं ने भगवान शिव को जल व प्रशाद अर्पित किया। इस अवसर पर हवन के साथ ही भंडारे का आयोजन भी किया गया।

सावन का महीना शिवजी की उपासना के लिए सर्वोत्तम माना गया है। इसके साथ ही इस पवित्र महीने के सोमवार  को भगवान शिव की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। माना जाता है कि सावन सोमवार के दिन की गई भोलेनाथ की पूजा कभी व्यर्थ नहीं जाती। इसलिए शिवजी के भक्तों को सावन के सोमवार का इंतजार रहता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सावन का तीसरा सोमवार भगवान शिव और गणपति की पूजा के लिए खास है। दरअसल इस दिन शिव और रवि योग के अलावा विनायक चतुर्थी का खास संयोग बना। इस वजह से श्रद्धालुओं ने निकटवर्ती ग्राम कम्भौर में श्रद्धालुओं ने भगवान शिव को प्रशाद चढ़ाया। इस अवसर पर आयोजित हवन व भंडारे में क्षेत्र के हजारों श्रद्धालुओं ने भाग लिया और पुण्य लाभ प्राप्त किया।

धार्मिक अनुष्ठान के दौरान धर्मेंद्र, सूरज भान सिंह, राजपाल सिंह, ताहर सिंह, शिवांशु, विशु, सत्यम, राहुल, पंकज, भूपेंद्र सिंह, अतुल शर्मा, जोगेंद्र सिंह, सुरपाल सिंह, शूरवीर सिंह, ऋतिक, धर्मवीर सिंह डीके, वरिष्ठ पत्रकार सतेंद्र सिंह, ब्रजवीर सिंह व संजय सक्सेना समेत क्षेत्र के लोग शामिल रहे।

परम्परागत रूप से शान्तिपूर्वक तरीके से मनाएं मोहर्रम का त्योहार

बिजनौर। मोहर्रम त्योहार के अवसर पर शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत बुधवार को उप जिलाधिकारी (सदर) बिजनौर मोहित कुमार एवं पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर बिजनौर अनिल कुमार सिंह, थानाध्यक्ष हल्दौर एवं चौकी इन्चार्ज झालू के द्वारा कस्बा झालू में पीस कमेटी की बैठक की गयी। उक्त बैठक में दूसरे धर्मों के साथ ही मुस्लिम समुदाय के शिया एवं सुन्नी दोनों समुदायों के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे। बैठक में उपस्थित व्यक्तियों को अवगत कराया गया कि ताजिए की ऊॅचाई अधिक न रखी जाये ताकि विद्युत लाईन के तार इत्यादि टच न हो सके तथा परम्परागत रूप से शान्तिपूर्वक तरीके से मोहर्रम का त्योहार मनाये जाने के संबंध में अपील की गयी।

मोटा महादेव मंदिर पर डीएम एसपी ने किया गंगाजल वितरण, एसपी सिटी ने कराया भंडारा

मोटा महादेव मंदिर पर एसपी सिटी ने कराया भंडारा, डीएम एसपी ने किया गंगाजल वितरण

बिजनौर। थाना मंडावली के मोटा महादेव मन्दिर पर कांवड़ यात्रा के दृष्टिगत जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक द्वारा भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लिया गया। उन्होंने कावंडियों, श्रद्धालुओं से वार्ता कर कुशलक्षेम पूछा। इसके पश्चात जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक द्वारा नि:शुल्क गंगाजल वितरण कार्यक्रम में प्रतिभाग कर गंगाजल का वितरण किया गया।

इसी क्रम में एसपी सिटी डॉ प्रवीण रंजन सिंह ने मोटा महादेव मंदिर परिसर में ही भंडारे का आयोजन किया। भंडारे में असंख्य कांवड़ियों व आम नागरिकों के अलावा पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने प्रशाद गृहण किया। एडीएम प्रशासन, एसडीएम नजीबाबाद मनोज कुमार, सीओ नजीबाबाद, ब्लॉक प्रमुख तपराज, बरकातपुर शुगर मिल के प्रबंधक नरपत सिंह आदि मौजूद रहे।

कांवड़ यात्रा: एसपी ने किया थाना स्योहारा व सहसपुर चौकी का निरीक्षण

कांवड़ यात्रा को लेकर पुलिस अधीक्षक ने किया थाना स्योहारा व सहसपुर चौकी का निरीक्षण

बिजनौर। पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार ने सुरक्षा के मद्देनजर शिव भक्तों की कांवड़ यात्रा को लेकर स्योहारा थाना व सहसपुर चौकी का निरीक्षण किया। यात्रा को देखते हुए पुलिसकर्मियों को सुरक्षा की दृष्टि से आवश्यक दिशा निर्देश दिए। पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार ने लापरवाही बरतने पर पुलिसकर्मियों को कार्रवाई की चेतावनी भी दी। उन्होंने थाना प्रभारी और चौकी प्रभारियों को अपने क्षेत्रों में लगातार पैदल गश्त और असामाजिक तत्वों पर नजर बनाए रखने के निर्देश दिए।

विदित हो कि कांवड़ यात्रा को देखते हुए बिजनौर पुलिस प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट पर है। जिले के आला अधिकारी जनपद के प्रत्येक मार्ग पर नजर बनाए हुए हैं। बिजनौर पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार शुक्रवार की देर रात स्योहारा थाना व सहसपुर चौकी के निरीक्षण को पहुंचे थे । इस दौरान एसपी पूर्वी ओमवीर सिंह, सीओ धामपुर इंदु सिद्धार्थ, स्योहारा थाना प्रभारी राजीव चौधरी, सहसपुर चौकी इंचार्ज सुभाष बालियान मौजूद रहे।

कांवड़ यात्रा के मद्देनजर 25 व 26 जुलाई को सभी विद्यालयों में अवकाश

बिजनौर। कांवड़ यात्रा के मद्देनजर 2 दिन तक  सभी विद्यालयों को बंद रखा जाएगा। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जय करण यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर 25 व 26 जुलाई को सभी विद्यालयों का अवकाश घोषित किया गया है। चाहे विद्यालय परिषदीय हो, सीबीएसई, आईसीएसई या मान्यता प्राप्त सभी बंद रहेंगे। गौरतलब है कि सावन मास शिवरात्रि पर कांवड़ चढ़ाने के लिए भगवान शिव के भक्त दूर-दूर से हरिद्वार आते हैं और कांवड़ में जल लेकर अपने घरों की ओर पैदल ही चलते हैं। इस कारण इन मार्गों पर शिव भक्तों की भारी भीड़ रहती है। सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर कई मार्गों को बेरिकेडिंग कर वाहनों के लिए बंद भी कर दिया जाता है इस कारण इन विद्यालयों में आने जाने के लिए भारी परेशानी होती है। शिक्षकों व विद्यार्थियों की परेशानियों को देखते हुए जिला प्रशासन की ओर से दो दिवसीय अवकाश का निर्णय लिया गया।

आईजी ने मंदिर मोटा महादेव पहुंच कर लिया कांवड़ यात्रा का जायजा

कांवड़ यात्रा का जायजा लेने पहुंचे आईजी। बरेली जोन में विशेष हेल्पलाइन नंबर जारी। अतिरिक्त पुलिस बल है तैनात घाटों पर जल पुलिस, पीएसी, रैपिड एक्शन फोर्स के अलावा जनपदों में महिला पुलिस की तैनाती।

बिजनौर। कांवड़ यात्रा के दौरान प्राचीन स्वयंभू सिद्धपीठ मोटा महादेव मंदिर का आईजी राजकुमार ने निरीक्षण किया। उन्होंने कांवड़ियों को किसी भी प्रकार की असुविधा न होने देने के निर्देश दिए। साथ ही कांवड़ियों की सुविधा के लिए पूरे बरेली जॉन में विशेष हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। अतिरिक्त पुलिस बल तैनात है। घाटों पर जल पुलिस, पीएसी, रैपिड एक्शन फोर्स के अलावा जनपदों में महिला पुलिस की तैनाती की गई है।

आईजी राजकुमार और एसपी दिनेश कुमार गुरुवार को मोटा महादेव मंदिर पहुंचे। उन्होंने मंदिर पर मौजूद कांवड़िये मौजूद थे। उन्होंने कांवड़ियों से उनका हाल जाना। उन्होंने मंदिर परिसर में कांवड़ियों की प्राथमिक चिकित्सा और विश्राम आदि सुविधाओं की जानकारी की। आईजी ने कांवड़ियों को कोई परेशानी न होने देने और कांवड़ यात्रा को सुरक्षित एवं व्यवस्थित ढंग से संपन्न कराने के लिए थानाध्यक्ष नरेंद्र गौड़ एवं पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए।

वहीं, मंडावली थाने के सामने से रूट डायवर्ट कर दिया गया है। अब कोई भी भारी वाहन मोटा महादेव मंदिर से होकर नहीं गुजरेगा। आईजी ने डाक कांवड़, दोपहिया, चौपहिया वाहन आदि की गति पर भी नियंत्रण रखने के निर्देश दिए। एसपी सिटी डॉ. प्रवीण रंजन सिंह, एसडीएम नजीबाबाद मनोज कुमार, सीओ नजीबाबाद, चौकी प्रभारी रवेंद्र सिंह सहित भारी संख्या में पुलिस मौजूद रही। 

कांवड़ियों के लिए लगाया स्वास्थ्य शिविर- इधर भागूवाला स्थित काली माता मंदिर परिसर में डोरी लाल सागर चैरिटेबल ट्रस्ट की ओर से डीएमआर डिग्री कालेज के प्रबंधक एके सागर ने कांवड़ियों के लिए नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण शिविर लगा रखा है। शिविर में डा.जगत सिंह, पुष्कर, चंद्रशेखर, वीरेंद्र व मुजाहिद हुसैन आदि कांवड़ियों की सेवा में डटे हुए हैं।

जनपद बिजनौर में समाचार, विज्ञापन एवं एजेंसी के लिए संपर्क करें, ब्यूरो चीफ सतेंद्र सिंह 8433047794

पुलिस कांवड़ियों की सुरक्षा हेतु तत्पर: एसपी सिटी

बिजनौर। हरिद्वार-भागूवाला बार्डर होते हुए आ रहे कांवड़ियों से अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) डॉ0 प्रवीन रंजन सिंह द्वारा वार्ता की गई। उन्होंने किसी भी समय पुलिस से सम्बन्धित समस्या के लिये कांवड़ हैल्पलाइन नंबर, जनपदीय कंट्रोल रूम आदि से तत्काल सहायता प्राप्त करने हेतु बताया। एसपी सिटी ने सभी कांवड़ियों को आश्वस्त किया कि पुलिस उनकी सुरक्षा हेतु हमेशा तत्पर है। कांवड़िए किसी भी समस्या के सम्बन्ध में पुलिस से सहायता प्राप्त कर सकते हैं। उनके द्वारा ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों को ब्रीफ कर कांवड़ियों के लिये सुगम यातायात व्यवस्था, सुरक्षा आदि के सम्बन्ध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।

तेज बारिश में शिव भक्तों की सुध लेने निकले डीएम एसपी

बिजनौर। तेज बारिश में भी कांवड़ यात्रा की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीएम उमेश मिश्रा और एसपी दिनेश सिंह मोटा महादेव मंदिर पहुंचे। वहां उन्होंने कावड़ियों का हालचाल जाना और कानून सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। साथ ही संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

कांवड़ यात्रा व कांवडियों की सुरक्षा-व्यवस्था का जायजा लेने तेज बारिश के बीच जिलाधकारी उमेश मिश्रा और पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह थाना मंडावली क्षेत्रान्तर्गत मोटा महादेव पुलिस चौकी व मोटा महादेव मंदिर पहुंचे। वहां दोनों अधिकारियों ने शिव भक्तों का हालचाल जाना। सावन के महीने में कांवड़ यात्रा की शुरुआत से ही डीएम उमेश मिश्रा और एसपी दिनेश सिंह सड़कों पर उतर कर कांवड़ यात्रा के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के साथ ही कांवड़ियों का हालचाल जान कर संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश दे रहे हैं। जिलाधिकारी उमेश मिश्रा का इस बात पर जोर है कि कांवड़ यात्रियों के आवागमन के रास्ते में पड़ने वाले पड़ावों पर विशेष निगरानी हो। शिव मंदिरों, शिवालयों, देव मंदिरों, यात्रा मार्गों सहित ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए। यात्रा मार्गों पर स्ट्रीट लाइट सुनिश्चित की जाए। संवेदनशील स्थलों पर चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था रखी जाए।

कांवड़ यात्रा को लेकर गोष्ठी में एसपी ग्रामीण ने दिये व्यापक दिशा निर्देश

औचक निरीक्षण को पहुंचे थाना नगीना देहात 

बिजनौर। अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री राम अर्ज ने थाना नगीना देहात का आकस्मिक निरीक्षण किया।

इस दौरान उन्होंने महिला हेल्प डेस्क, सीसीटीएनएस, थाना कार्यालय, शस्त्रागार आदि को चैक किया तथा संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

बाद में थाना प्रांगण में कांवड़ मार्ग पर पड़ने वाले थाना क्षेत्र के डीजे संचालकों व ग्राम प्रधानों के साथ गोष्ठी आयोजित कर कांवड़ के सम्बन्ध में शासन के दिशा-निर्देशों से अवगत कराया गया।

एसपी ग्रामीण ने सभी से कांवड़ यात्रा सकुशल संपन्न कराने हेतु पुलिस का सहयोग करने की अपील की।

“विष्णुलोक” पर धूमधाम से मनाया गुरु पूर्णिमा का पावन पर्व

बिजनौर। गुरु पूर्णिमा का पावन पर्व सिविल लाइन स्थित धार्मिक संस्थान विष्णुलोक पर बड़ी धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर वैदिक मंत्रोच्चार द्वारा महर्षि वेदव्यास आदिगुरु शंकराचार्य एवं भगवान ब्रह्मा जी की विशेष पूजा-अर्चना की गई।

विष्णुलोक पर हर वर्ष गुरु पूर्णिमा बहुत ही अद्भुत रूप में मनाई जाती है। ज्योतिषविद पण्डित ललित शर्मा ने कहा कि गुरु ही शिष्य का मार्गदर्शन करते हैं। वे ही जीवन को ऊर्जामय बनाते हैं। गुरु का अर्थ उन्होंने बताया ‘ज्ञान”!, ज्ञान ही गुरु है जहाँ से भी हमें ज्ञान प्राप्त होता है, वह हमारा गुरू है। भारतीय संस्कृति में गुरु की महत्वपूर्ण भूमिका मानी गई है। विष्णुलोक पर रामदरबार का अद्भुत दिवादृश्य, भगवान गणेश एवं राधा – कृष्ण के दृश्य देखकर लोग भाव-विभोर हो गए।

पूजन-अर्चन एसपी सिटी प्रवीण रंजन सिंह एवं अग्निशमन अधिकारी अजय शर्मा द्वारा विधि-विधान से युग पुरोहित पंडित सोमेश्वर दत्त पंकज एवं ज्योतिषविद पण्डित ललित शर्मा ने कराया। इस अवसर पर एडवोकेट निवेन्द्र देशवाल, एड० एसके बबली, कपिल त्यागी, नवीन गर्ग, विकल त्यागी, वंदना त्यागी, विपिन कुमार, अतुल कुमार, पूजा चिकारा, पवन चिकारा, अर्क, शिक्षाविद् शुद्धि गर्ग, बलबीर चौधरी, तरुण शर्मा, सूर्यमणि रघुवंशी, संजीव शर्मा, राहुल कुमार, वरुण कुमार, सज्जन सिंह, इंदु त्यागी, अतुल वशिष्ठ, गीता वशिष्ठ, सीमा शर्मा, अभिलाष शर्मा, स्कन्धा, अर्चना चौधरी, वरीश चौधरी, सुमन त्यागी, जयप्रकाश आदि उपस्थित रहे। भव्य आयोजन का संचालन रमेश मातेश्वरी द्वारा किया गया।

विश्व हिन्दू महासंघ ने उठाई जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू करने की मांग

बिजनौर। विश्व हिन्दू महासंघ ने देशहित में जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू करने की मांग की है। इस संबंध में महासंघ की बैठक मातृ शक्ति प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष छवि कौशल की अध्यक्षता व पूर्व विधायक डॉ इंद्रदेव सिंह के संचालन में पंचायती मंदिर में सम्पन्न हुई।

बैठक में निष्क्रिय सदस्यों को संगठन से बाहर निकालने के निर्णय पर सहमति जताई गई। इसके अलावा बताया गया कि पूर्व विधायक डॉ इंद्रदेव सिंह द्वारा धामपुर में महारानी लक्ष्मीबाई की मूर्ति की स्थापना हेतु मुख्यमंत्री को जो प्रस्ताव भेजा गया था, उसके लिए जिला प्रशासन के पास अनुमोदन पहुंच गया है। प्रशासन द्वारा समिति का गठन किया गया है। इस पर महासंघ द्वारा अपने स्तर पर समिति का गठन कर मूर्ति स्थापना का प्रस्ताव पारित किया गया।

बैठक में जिला प्रभारी राजेद्र सिंह, जिला मंत्री हब कुमार, जिला उपाध्यक्ष दिनेश केसरिया, वीरेंद्र चौधरी, विनोद चौधरी, रोमा सिंह, उपेन्द्र‌ कुमार, संजय, लोकेंद्र चौधरी, संजीव सुदर्शन, प्रीति, नीरु, नकुल कुमार उपस्थित रहे।

हर्षोल्लास से मनाई गई ईद उल अजहा

बिजनौर। जिला प्रशासन व पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में ईदगाह में ईद उल अजहा की नमाज शांति एवं सौहार्द्रपूर्ण त्योहार में संपन्न हुई। जनपद में ईद उल अजहा( बकरीद) हर्षोल्लास व आपसी भाईचारे के साथ मनाई गई। सुबह से ही जिलाधिकारी उमेश मिश्रा एवं एसएसपी जनपद में सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहे। नमाज के बाद सभी ने एक दूसरे को ईद की मुबारकबाद दी। नमाजियों द्वारा शांति व्यवस्था बनाए रखने हेतु तथा नमाज को सकुशल संपन्न कराए जाने के लिए जिला प्रशासन को धन्यवाद दिया गया।

जिलाधिकारी ने कहा कि त्योहार कोई भी हो; आपसी भाईचारा हमेशा कायम रहना चाहिए, इसकी मिसाल बिजनौर के नागरिकों ने एक वार फिर कायम की है। उन्होंने कहा कि ईद – उल – अजहा त्यौहार को शांतिपूर्ण मनाए जाने हेतु जिला प्रशासन पूरी तरह से कृत संकल्पित है। एसपी दिनेश सिंह ने कहा कि नमाज अदा कराने से लेकर त्योहार को शांति स्वरूप मनाए जाने लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं तथा माहौल खराब करने वालों पर लगातार निगरानी की जा रही है। माहौल खराब करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

आज से प्रारंभ हुआ चातुर्मास; मांगलिक कार्य निषेध

बिजनौर। आज रविवार से चातुर्मास प्रारंभ हो गए हैं। ज्योतिषविदों के अनुसार आज देवशयनी एकादशी से चार माह के लिए मांगलिक कार्य निषेध रहेंगे। इस अवधि में मुंडन संस्कार, विवाह, तिलक, यज्ञोपवीत, गृह प्रवेश आदि शुभ कार्य वर्जित होते हैं। चार माह बाद देवोत्थान एकादशी को श्री हरि विष्णु के योग निंद्रा से बाहर आने के साथ ही चातुर्मास का समापन होगा।

सिविल लाइन्स स्थित धार्मिक संस्थान विष्णुलोक के ज्योतिषविद पंडित ललित शर्मा ने बताया, कि चातुर्मास 10 जुलाई रविवार से शुरू हो कर कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी चार नवंबर शुक्रवार को समाप्त होगा। चातुर्मास में मांगलिक कार्य नहीं किए जाते, क्योंकि भगवान श्री हरि विष्णु चार माह के लिए योगनिद्रा के लिए पाताल में चले जाते हैं।

व्रत और तपस्या का माहभगवान विष्णु के आशीर्वाद के बिना मांगलिक कार्य शुभ नहीं माने जाते। इस अवधि में मांगलिक कार्य भले ही शुभ नहीं माने जाते, लेकिन पूजा पाठ, जप-तप, साधना के लिए ये चार महीने श्रेष्ठ होते हैं। चातुर्मास को व्रत और तपस्या का माह कहा जाता है। इन चार महीनों में साधु संत यात्राएं बंद करके मंदिर या अपने मूल स्थान पर रहकर ही उपवास और साधना करते हैं। संपूर्ण वर्षा ऋतु में संयमित जीवनशैली अपनाने और आत्ममंथन की प्रक्रिया ही चातुर्मास कहलाती है। इस अवधि में भगवान शिव और श्रीहरि विष्णु की पूजा करनी चाहिए।

खानपान का रखें ध्यान- चातुर्मास के अंतर्गत श्रावण मास में पालक या पत्तेदार सब्जियों से परहेज करना चाहिए। इसके बाद भाद्रपद में दही, आश्विन में दूध और कार्तिक मास में लहसुन-प्याज का त्याग करना उचित माना जाता है। चातुर्मास मास में हमारा भोजन पूर्ण रूप से सात्विक होना चाहिए।

न करें ये गलतियां- चातुर्मास में शहद, मूली, परवल और बैंगन खाना भी निषेध है। धार्मिक ग्रंथों के अनुसार इस दौरान पलंग पर शयन करने से देवी-देवता नाराज हो जाते हैं, अतः भूमि पर शयन उचित माना गया है।

अबूझ मुहूर्त में हो सकते हैं मांगलिक कार्य- चातुर्मास के दौरान भगवान श्री हरि विष्णु पाताल में योग निंद्रा के लिए चले जाते हैं। चार माह बाद पाताल से फिर भूलोक में आएंगे और कार्तिक मास में तुलसी के साथ उनका विवाह संपन्न होगा। इन चार महीनों में कोई शुभ कार्य नहीं होता, लेकिन अबूझ मुहूर्त में मांगलिक कार्य किए जा सकते हैं।

त्योहारों के दृष्टिगत मुस्तैदी से जुटा पुलिस प्रशासन

बिजनौर। आगामी त्योहार कॉवड यात्रा, ईद-उल-अजहा, बरसात में बाढ़ से बचाव व शांति-कानून व्यवस्था के दृष्टिगत पुलिस प्रशासन मुस्तैदी से जुट गया है। 

इसी क्रम में जिलाधिकारी उमेश मिश्रा व पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह, उपजिलाधिकारी/क्षेत्राधिकारी नजीबाबाद द्वारा थाना मंडावली क्षेत्रान्तर्गत मोटा महादेव पुलिस चौकी पर संभ्रांत व्यक्तियों के साथ गोष्ठी का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर अधिकारियों ने आगामी त्योहार कांवड़ यात्रा, ईद-उल-अजहा, बरसात में बाढ़ से बचाव व शांति-कानून व्यवस्था के दृष्टिगत सभी से शांति-कानून व्यवस्था बनाए रखने में पुलिस का सहयोग करने की अपील की गई। साथ ही संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए।


वहीं अपर पुलिस अधीक्षक नगर डॉ प्रवीण रंजन सिंह द्वारा नगर बिजनौर व थाना किरतपुर क्षेत्र में कानून एवं शान्ति व्यवस्था ड्यूटी में लगे पुलिस बल को ब्रीफ कर पैदल गश्त की गई। उन्होंने शांति-कानून व्यवस्था बनाए रखने में जनसहयोग की अपेक्षा की। उन्होंने बताया कि त्योहारों को मद्देनजर रखते हुए पैदल गश्त किया जा रहा है, जिससे असामाजिक तत्वों में खौफ का माहौल और आमजन में सुरक्षा का भाव पैदा हो।

उधर अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राम अर्ज ने कस्बा नगीना में जबकि अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी ने कस्बा धामपुर मे पैदल गश्त करते हुए

पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह के निर्देश पर त्योहार व कानून/शांति व्यवस्था के दृष्टिगत क्षेत्रान्तर्गत मुख्य बाजार, मोहल्ले व गांवों सहित गली गली में भारी पुलिस बल के साथ पैदल गश्त की जा रही है। सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद रखने के लिए चेकिंग अभियान भी चलाया जा रहा है।

इसी प्रकार आगामी त्योहार के मद्देनजर पुलिस क्षेत्राधिकारी अफजलगढ़ शुभ सूचित ने पुलिस बल के साथ शेरकोट नगर मे पैदल गश्त कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने रास्ते में नगर वासियों से वार्तालाप भी किया।

खुशनुमा माहौल, आपसी सौहार्द्र व भाईचारे के साथ परम्परागत तरीके से मनाएं त्योहार-: डीएम

जिलाधिकारी की अध्यक्षता मे हुई बकरीद एवं श्रवण मास कांवड यात्रा के दृष्टिगत कानून एवं शांति व्यवस्था की बैठक

बिजनौर। बकरीद 10 जुलाई को व श्रवण मास 14 जुलाई से प्रारम्भ है। ईद-उल-अजहा (बकरीद) एवं श्रवण मास कांवड यात्रा के दृष्टिगत कानून एवं शांति व्यवस्था के संबंध मे विकास भवन सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी उमेश मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री जी का कहना है व उनकी मंशा है कि सभी त्योहार खुशनुमा माहौल, आपसी सौहार्द्र व भाईचारे के साथ परम्परागत तरीके से मनाये जाएं। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि 02 दिन में टूटी सडकें ठीक कराएं। धर्म गुरुओं ने आश्वस्त किया कि सभी त्योहार आपसी सौहार्द्र से मनाए जाएंगे व जनपद की सुख शांति बनी रहेगी। इस अवसर पर थानावार जानकारी ली गई।

जिलाधिकारी ने कहा कि कावडियों का मार्ग सुगम बनाएं तथा नमाजियों को कोई असुविधा न हो, यह सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कावंड़ यात्रा के सभी मार्गों को पूर्व मे जांच लें। मार्ग में कही कोई बिजली का खंबा या कोई पेड़ लटका हुआ तो नहीं है, यदि है तो उसको पूर्व में ही ठीक करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि रास्ते से भांग के पेड/पौधे हटाए जाएं तथा गुलहड के पेड की छटाई करायी जाए। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को एंबुलेंस व ऐण्टी-वेनम इंजेक्शन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

उन्होने सभी अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिये कि ईद-उल-अजहा (बकरीद) के अवसर पर पेयजल व साफ-सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित करें। विद्युत विभाग को निर्देश दिये कि ईद के अवसर पर जनपद में विद्युत की पर्याप्त आपूर्ति कराना सुनिश्चित करें तथा यह देखना सुनिश्चित करें कि कहीं भी कोई बिजली का तार लटका हुआ ना हो। सभी अधिशासी अधिकारी नगर पालिका, नगर पंचायत को निर्देश दिये कि पानी की निर्बाध आपूर्ति के लिये जनरेटर की व्यवस्था पूर्व में ही कराना सुनिश्चित करें।

जिलाधिकारी ने कहा कि थाना तथा जनपद स्तर पर भी कन्ट्रोल रूम बनाएं। उन्होंने कहा कि आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त को हर घर पर तिरंगा फहराएं तथा अमृत सरोवर पर भी ध्वजारोहण कराएं। उन्होंने कहा कि अमानगढ का गेट खुल जाने से पर्यटन को बढावा मिलेगा। उपस्थित सभी धर्म गुरुओं व गणमान्य लोगों से कहा कि उनकी जो भी समस्याएं है, उनका निस्तारण सुनिश्चित कराया जायेगा।

पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने कहा कि मुझे अपने बिजनौर, बिजनौर वासियों पर पूर्ण विश्वास है कि सभी लोग आने वाले त्योहारों को शांति व प्यार के साथ मनाएंगे। उन्होंने कहा कि यहां के लोगों का स्वभाव अच्छा है। उन्होंने कहा कि वह पूर्व मे भी इस जिले में रहे हैं। यहां के लोग परस्पर सहयोग व मिलजुल कर त्योहार मनाते रहे हैं और यह आगे भी जारी रहेगा।

मुख्य विकास अधिकारी पूर्ण बोरा ने कहा कि जनपद स्तर पर कन्ट्रोल रूम बनाया जायेगा अगर किसी को सडक, पानी व साफ-सफाई आदि के संबंध मे काई कार्य कराना है तो वह सूचित कर सकते हैं।

पुलिस अधीक्षक पूर्वी ओमवीर सिंह ने कहा कि किसी नई परम्परा की शुरूआत नहीं होगी, जो पूर्व में ही चली आ रही परम्पराएं हैं, वही रहेंगी। उन्होेंने कहा कि सडक पर नमाज अदा नहीं होगी। प्रतिबन्धित जानवरों की कुर्बानी नहीं होगी।

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राम अर्ज ने कहा कि थाना व चौकी स्तर पर शांति समिति की बैठकें कर ली गयी हैं। परम्परागत तरीके व आपसी भाईचारे के साथ त्योहार मनाएं। उन्होंने कहा कि कांवड़ यात्रा के लिये प्रमुख चौराहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं तथा उनकी ड्रोन से भी निगरानी की जायेगी।

पुलिस अधीक्षक शहर डा0 प्रवीण रंजन ने कहा कि धार्मिक स्थलों पर निर्धारित माइक व स्पीकर ही रहें तथा स्पीकर की आवाज जितनी अनुमन्य है उतनी ही रहे। उन्होंने कहा कि कुर्बानी खुले स्थान व सार्वजनिक स्थानों पर नहीं होगी।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी पूर्ण वोरा, पुलिस अधीक्षक पूर्वी, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण, पुलिस अधीक्षक नगर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, उप जिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी, थानाध्यक्ष सहित धर्म गुरू उपस्थित रहे।

उदयपुर कांड के खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शन

हिंदू संगठनों ने प्रदर्शन कर फूंका जेहादियों का पुतला

बिजनौर। राजस्थान के उदयपुर में नुपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने वाले दर्जी कन्हैया लाल की दो जेहादियों द्वारा  बर्बरतापूर्वक तरीके से गला रेतकर हत्या करने के विरोध में यूपी के बिजनौर में कई हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ता सड़कों  पर उतर आए।

उन्होंने जमकर विरोध प्रदर्शन कर अपने गुस्से का इज़हार किया औऱ हत्यारों को जल्द से जल्द फांसी की सजा देने की मांग करते हुए जेहादियों का पुतला फूंका। उदयपुर की घटना के विरोध में हिन्दू जागरण मंच, विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल के कार्यकर्ता हाथों में लाल झंडा लहराते हुए बूंदा बांदी के बीच कलक्ट्रेट पहुंचे।

वहां उदयपुर में हुई हैवानियत को लेकर डीएम को ज्ञापन सौपा। उसके बाद मुख्य मार्गो से होते हुए बिजनौर के शक्ति चौक पर जेहादियों का पुतला फुंकते हुए जमकर नारे बाज़ी कर विरोध प्रदर्शन किया।

कार्यकर्ताओं ने दर्जी मास्टर की बबरतापूर्वक हत्या के जेहादियों को जल्द से जल्द फांसी की सजा सुनाने की मांग करते हुए चेतावनी दी कि ऐसा नहीं हुआ तो हिन्दू जागरण मंच उग्र आंदोलन करेगा। मंच ऐसे जेहादियों से खुद लड़ने में सक्षम है।

बिलारी मेल साप्ताहिक समाचार पत्र के संपादक आदरणीय सुरेश रस्तोगी जी को शुभकामनाएं

बिलारी मेल साप्ताहिक समाचार पत्र के संपादक आदरणीय सुरेश रस्तोगी जी वरिष्ठ पत्रकार (30-बिलारी विधानसभा क्षेत्र) मुरादाबाद मंदिर पूर्णा खेड़ा पर एक धार्मिक आयोजन में अपनी सेवाएं देते हुए….

वरिष्ठ पत्रकार सुरेश रस्तोगी जी

कर्तव्यनिष्ठ और पूर्ण लगन के साथ आपने श्री खाटू श्याम जी के कार्यक्रम में सेवादारी की।  सेवा का ये जज्बा अपने आप में काबिले तारीफ है। आप वरिष्ठ पत्रकार होने के साथ-साथ धर्म प्रेमी और समाजसेवी भी हैं। जय हिंद जय भारत।

मैं संजय सक्सेना जिला अध्यक्ष ऑल मीडिया & जर्नलिस्ट एसोसिएशन बिजनौर आपके उज्जवल भविष्य और दीर्घायु होने की कामना करता हूं।

संजय सक्सेना जिला अध्यक्ष ऑल मीडिया & जर्नलिस्ट एसोसिएशन बिजनौर

स्वस्थ मानव संपदा का होना अत्यन्त आवश्यक: कमिश्नर

आज मीडिया ग्रुप से Reporter and Anchor Mohd. Danish और बिजनौर से – आज मीडिया ग्रुप के इलेक्ट्रॉनिक चैनल से सतेंद्र सिंह की रिपोर्ट –

बिजनौर। जनपद बिजनौर में आठवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर मुख्य कार्यक्रम का आयोजन नेहरू स्टेडियम में किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि मण्डलायुक्त मुरादाबाद, पूर्व सांसद व जिलाधिकारी ने दीप प्रज्जवलन कर किया। मण्डलायुक्त आंजनेय कुमार सिंह ने कहा कि आज योग दिवस पूरे विश्व मे मनाया जा रहा है, योग भारत की धरती से पूरे विश्व को एक बहुत बडी देन है, गंगा बैराज घाट पर मां गंगा को दूध व पुष्प अर्पित कर मां गंगा की आरती की गयी, सभी अधिकारियों, कर्मचारियों व आमजन ने योगा में प्रतिभाग किया। मण्डलायुक्त आंजनेय कुमार सिंह ने कहा कि किसी भी देश के लिए सबसे महत्वपूर्ण उसकी मानव संपदा होती है, आज योग दिवस पूरे विश्व में मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दक्ष मानव संपदा है तो बेहतर है, लेकिन उसके साथ-साथ स्वस्थ मानव संपदा का होना अत्यन्त आवश्यक है। मनुष्य का शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ होना आवश्यक है, शारीरिक स्वास्थय के साथ-साथ मन का स्वस्थ होना भी आवश्यक है, योग के माध्यम से मानसिक स्वास्थय व शारीरिक स्वास्थय दोनों को ठीक रखा जा सकता है।

वहीं इस अवसर पर जिलाधिकारी उमेश मिश्रा ने कहा कि योग शारीरिक और मानसिक स्वास्थय की कुंजी है, उन्होंने आमजन से योग अपनाने की अपील की, योग जीवन को स्वस्थ व निरोग रखने मे सहायक होता है। योग जीवन को स्वस्थ व निरोग रखने में सहायक होता है, नेहरू स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में प्रशांत महर्षि ने योग सिखाया और भारती गौड व विनोद गोस्वामी का सहयोग रहा।

वहीं गंगा बैराज घाट पर आयोजित कार्यक्रम में योग शिक्षक तिलकराम ने योगा सिखाया। इस अवसर पर पूर्व सांसद भारतेन्द्र सिंह, पुलिस अधीक्षक डा0 धर्मवीर सिंह, जिला वन अधिकारी डा० अनिल पटेल, मुख्य विकास अधिकारी के0पी0 सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन विनय कुमार सिंह, पीडी डी0आर0डी०ए० ज्ञानेश्वर तिवारी सहित अन्य अधिकारी, कर्मचारी, क्रीडा भारती के सदस्य व बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित रहे।

गौकशों और पैसे लेकर उनको छोड़ने वालों के विरुद्ध आंदोलन की चेतावनी

बिजनौर। गौरक्षा महासंघ के प्रदेश उपाध्यक्ष पंडित सौरव शर्मा ने गौ हत्या करने वालों और उसमें शामिल होने वालों के विरुद्ध कार्रवाई न होने पर खुले शब्दों में महा आंदोलन की चेतावनी दी है।

जानकारी के अनुसार थाना धामपुर क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले एक गांव में कुछ व्यक्तियों ने एक गौ माता को रात में पकड़ कर अपने घर में बांध लिया था। कुछ व्यक्तियों ने उन्हें ऐसा करते हुए देख लिया। बताया गया है कि अगले दिन उनके घर पर गौमाता नहीं मिली। किसी ने यह शिकायत गौरक्षा संघ के पदाधिकारियों से कर दी। इस पर गौरक्षा महासंघ के प्रदेश उपाध्यक्ष पंडित सौरव शर्मा ने खुले शब्दों में गौ हत्या करने वालों और उसमें शामिल होने वालों के विरुद्ध कार्रवाई न होने पर महा आंदोलन की चेतावनी दी है।

वहीं लोगों का कहना है कि रात में गौमाता को अपने घर पर बांध लिया, कोई बात नहीं। …लेकिन अगले दिन वहां गौमाता का न मिलना एक अचंभे की बात है, क्योंकि कुछ व्यक्तियों ने उन व्यक्तियों को गौ माता को पकड़ते हुए देखा था। जब गौ माता अगले दिन उनके घर नहीं मिल पाई तो उनके शक की सुई दूसरी तरफ घूमने लगी और यह बात एक दूसरे के पास से होती हुई गौ रक्षा संघ के पदाधिकारियों के पास पहुंच गई। इस पर गौरक्षा पदाधिकारियों का खून खौल उठा। गौरक्षा महासंघ के प्रदेश उपाध्यक्ष पंडित सौरव शर्मा ने बताया कि पिछले दिनों उन्होंने नींदड़ू चौकी पुलिस से ऐसे ही मामले में शिकायत की थी। उन्होंने साफ चेतावनी दी कि गौकशों और उनको पकड़कर भी छोड़ने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ महा आंदोलन चलाया जाएगा।

शांतिपूर्ण माहौल में व्यतीत हुआ जुमा

जिले भर में शांति पूर्ण ढंग से सम्पन्न हुई जुमे की नमाज

बिजनौर-पुलिस प्रशासन की मेहनत रंग लाई।
बिजनौर में शांतिपूर्ण ढंग से जुमे की नमाज़ हुई अदा।
मस्जिदों से नमाज़ पढ़कर नमाज़ी घरों में हुए क़ैद।
पुलिस प्रशाशन ने ली राहत की सांस।

बिजनौर। जुमे की नमाज को लेकर पुलिस और प्रशासन अलर्ट मोड में रहा। नमाज से पहले सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए थे। किसी भी परिस्थिति पर नजर रखने के लिए ड्रोन के अलावा सादी वर्दी में पुलिस के जवानों को तैनात किया गया था। डीएम उमेश मिश्रा व एसपी डॉ धर्मवीर सिंह ने पुलिस अधिकारियों के साथ पैदल मार्च कर मुस्लिम धर्म गुरुओं से शांति बनाए रखने की अपील की। सभी जगहों पर बाजारों में चहल पहल आम दिनों की तरह ही रही।

विदित हो कि जुमे की नमाज को लेकर जिले में हाई अलर्ट किया हुआ था। एसपी डॉ धर्मवीर सिंह ने बताया कि जिले में सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने को लेकर 21 सेक्टर बनाने के साथ ही कुल 6 जोन में बांटा गया था। जिले की शांति व्यवस्था मजबूत रखने के लिए 21 थानों में हर थानों को 200 अतिरिक्त आरक्षी दिए गए। साथ ही 3 कंपनी पीएसी और फायर ब्रिगेड तैनात रही। वहीं सोशल मीडिया पर पुलिस की विशेष निगरानी रही। अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ पुलिस कड़ी कार्यवाही की तैयारी में रही। सोशल मीडिया वालियंटर्स की भी तैनाती रही।

सौहार्द्रपूर्ण वातावरण एवं आपस में भाईचारा बनाये रखने की अपील

बरेली। रिजर्व पुलिस लाइन जनपद बरेली सभागार में शहर के धर्म गुरुओं के साथ पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा गोष्ठी कर त्योहारों को शांतिपूर्ण एवं सौहार्द्रपूर्ण वातावरण एवं आपस में भाईचारा बनाये रखने की अपील की गई।

गोष्ठी के दौरान अपर पुलिस महानिदेशक बरेली जोन बरेली राजकुमार, मंडलायुक्त श्रीमति सेल्वा कुमारी जे, पुलिस महानिरीक्षक रमित शर्मा, जिलाधिकारी शिवाकान्त द्विवेदी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रोहित सिंह सजवाण द्वारा सुरक्षा / कानून व्यवस्था बनाये रखने में पुलिस का सहयोग करने हेतु प्रेरित कर निम्न बिंदुओं का पालन करने हेतु बताया गया-

1- जनपद बरेली में धारा 144 सीआरपीसी के तहत निषेधाज्ञा लागू है।

2 – प्रशासन से अनुमति प्राप्त किये बिना कोई भी धरना प्रदर्शन करना या उसमें शामिल होना गैरकानूनी है।

3- बिना अनुमति धरना / प्रर्दशन करने वालों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी।

4- सोशल मीडिया पर असमाजिक तत्वों द्वारा भडकाऊ व अभद्र पोस्ट एवं वीडियो / फोटो पोस्ट या उसका समर्थन करने पर पुलिस द्वारा तत्परता से प्रकरणों में अभियोग पंजीकृत कर उनके विरूद्ध कार्यवाही की गई है।

5- कोई भी व्यक्ति किसी के कहने / भड़काने में आकर धरना / प्रर्दशन में शामिल न हो, किसी प्रकार का भड़काऊ भाषण, आपत्तिजनक पोस्ट / फोटो व टिप्पणी का समर्थन न करें।

6- पुलिस विभाग व कानून में विश्वास बनाये रखें तथा समाज में शान्ति व्यवस्था कायम रखने हेतु सौहार्द्रपूर्ण वातावरण बनाये रखें।

7- जनपद बरेली में किसी भी दशा में कानून एवं व्यवस्था प्रभावित नहीं होने दी जायेगी। कानून एवं व्यवस्था प्रभावित करने वाले लोंगों के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जायेगी।

गोष्ठी के दौरान जनपद बरेली के पुलिस अधीक्षक नगर, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण, पुलिस अधीक्षक / क्षेत्राधिकारी लाईन व शहर के समस्त धर्मों के प्रमुख धर्मगुरु उपस्थित रहे।

त्योहार और जुमे पर मुकम्मल रहेगी कानून व्यवस्था

त्योहार और जुमे पर मुस्तैद रहेगी पुलिस। एसपी ने अधीनस्थ स्टाफ को दिए व्यापक दिशा निर्देश। यातायात पुलिस को भी ब्रीफिंग।

बिजनौर। आगामी त्योहार एवं जुमे की नमाज के दृष्टिगत सुरक्षा व शान्ति व्यवस्था मुकम्मल रखने के लिए पुलिस मुस्तैदी से जुट गई है।

इस संबंध में पुलिस अधीक्षक डॉ0 धर्मवीर सिंह ने अधीनस्थ स्टाफ को व्यापक दिशा निर्देश जारी किए हैं।

जनपद में आगामी त्योहार एवं जुमे की नमाज के दृष्टिगत सुरक्षा व शान्ति व्यवस्था के संबंध में पुलिस लाइंस सभागार में गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक डॉ0 धर्मवीर सिंह ने अधीनस्थ अधिकारियों को व्यापक दिशा निर्देश दिये। गोष्ठी में जनपद के सभी क्षेत्राधिकारी/थाना प्रभारी व अन्य अधिकारी मौजूद थे।

इसके अलावा पुलिस अधीक्षक डॉ0 धर्मवीर सिंह व अपर पुलिस अधीक्षक नगर द्वारा पुलिस लाइन परिसर में यातायात पुलिस कर्मियों के साथ जनपद में बेहतर यातायात व्यवस्था एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने हेतु सभी कर्मियों को ब्रीफ किया गया। शासन द्वारा आदेश व निर्देशों का पालन कराने हेतु संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गये।

राष्ट्रीय अन्नदाता यूनियन ने किया भंडारे का आयोजन

लखनऊ। मंगलवार को ज्येष्ठ के पांचवे मंगल को राष्ट्रीय अन्नदाता यूनियन ने जगह जगह भंडारे का आयोजन किया।

मुख्य रूप से राष्ट्रीय अन्नदाता यूनियन के जिला अध्यक्ष लवकुश यादव ने अपने आवास पर आयोजन किया। मुख्यातिथि मलिहाबाद विधायक जय देवी कौशल ने भंडारे का शुभारम्भ किया। भाजपा प्रदेश मंत्री रामनिवास यादव, काकोरी मण्डल अध्यक्ष रविराज लोधी, विपिन गोपी, नीलम श्रीवास्तव, विकास गुप्ता, राजकुमार कश्यप, अमित गुप्ता, आदि हज़ारों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।

गंगा-जमुनी संस्कृति का प्रतीक बना सूचना विभाग के द्वार पर लगा भण्डारा

गंगा-जमुनी संस्कृति का प्रतीक बना सूचना विभाग के द्वार पर लगा भण्डारा
ऊर्जा मंत्री एके शर्मा समेत अनेक गणमान्य हस्तियों ने चखा प्रसाद


लखनऊ। उ.प्र. जिला मान्यता प्राप्त पत्रकार एसोसिएशन के तत्वावधान में ज्येष्ठ के आखिरी बड़े मंगल के पावन अवसर पर विशाल भण्डारा का आयोजन सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के मुख्य द्वार पर किया गया। इस विशाल भण्डारे की विशेषता रही कि इसमें विभिन्न धर्मो एवं सम्प्रदायों के युवाओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया और भण्डारे से सम्बंधित विभिन्न कार्यो में हाथ बटाकर सामाजिक सौहार्द की मिसाल पेश की।


इससे पहले, एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष पं. हरि ओम शर्मा ‘हरि’ ने श्री हनुमान जी का पूजन-अर्चन एवं आरती सम्पन्न की, तदुपरान्त भण्डारे का शुभारम्भ हुआ। कई गणमान्य हस्तियों सर्वश्री एके शर्मा ऊर्जा मंत्री उ.प्र., राजेन्द्र चौधरी सपा नेता, नरेन्द्र श्रीवास्तव सूचना आयुक्त समेत कई वरिष्ठ पत्रकारों रियाज अहमद, सुल्तान शाकिर हाशमी, वीरेन्द्र श्रीवास्तव, प्रमोद गोस्वामी, अजय कुमार, राजेश श्रीवास्तव, डा. मोहम्मद कामरान आदि विभिन्न हस्तियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

इस अवसर पर उ.प्र. जिला मान्यता प्राप्त पत्रकार एसोसिएशन के सभी पदाधिकारी व सदस्यगण उपस्थित थे। इनमें संरक्षक अरमान खान, प्रदेश अध्यक्ष पं. हरि ओम शर्मा, प्रदेश महामंत्री अब्दुल वहीद, प्रदेश सचिव जुबैर अहमद, स्वागतकर्ता मुरलीधर आहूजा, प्रदेश उपाध्यक्ष एमएम मोहसिन व शहजादे कलीम, अभय अग्रवाल, शाहिद सिद्दीकी, डीपी शुक्ला, वामिक खान,आरिफ, मुकीम, इमरान खान, कमल शर्मा, मुर्तुजा अली, अनीस खान वारसी, निगहत खान एवं तौसीफ हुसैन आदि शामिल थे।

विद्युत उपकेंद्र पर किया विशाल भंडारे का आयोजन

उपकेंद्र पर कार्यरत कर्मियों ने विशाल भंडारे का किया आयोजन

लखनऊ। मंगलवार को जहां पूरे प्रदेश में धूमधाम के साथ हनुमत पूजन किया गया वहीं राजधानी लखनऊ में भी जगह जगह भंडारे आयोजित किए गए। इसी क्रम में 33/11 केवी उपकेन्द्र कल्याणपुर लखनऊ में जेठ माह के अंतिम बड़े मंगलवार को विधि विधान के साथ पूजन कर विशाल भंडारे का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर क्षेत्र के हजारों भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया।कार्यक्रम को सफल बनाने में अवर अभियंता कुंवर विक्रम सिंह, टीजी 2 अजय मिश्रा, अरविंद वर्मा, संजय वर्मा, अनुज श्रीवास्तव, कमलेश कुमार सहित उपकेंद्र के दर्जनों अधिकारियों कर्मचारियों ने सहयोग किया।

जेठ माह के अन्तिम बड़े मंगल पर मलिहाबाद में खूब चले भण्डारे

जेठ माह के अन्तिम बड़े मंगल पर मलिहाबाद में खूब चले भण्डारेपूडी सब्जी, छोला कढी चावल, शर्बत, कुल्फी आईसक्रीम की रही व्यवस्था।

मलिहाबाद (लखनऊ)। कलियुग में अपने आराध्य श्री हनुमान जी की कृपा पाने के लिये ज्येष्ठ माह के अन्तिम बडे मंगल पर श्रद्धालुओं द्वारा जगह जगह भण्डारे चलाये गये। कहीं पूडी सब्जी, छोला कढी चावल तो कहीं शर्बत, कुल्फी आईसक्रीम की व्यवस्था की गयी।

मलिहाबाद रहीमाबाद व कसमण्डी क्षेत्र में सुबह से ही भारी संख्या में मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ रही। लोगों ने मंदिरों में विधि विधान से हनुमान जी की पूजा अर्चना की। आखरी बड़े मंगल को देवम लॉन के संचालक विकास पाठक द्वारा हनुमान जी की प्रतिमा पर आरती कर आशीर्वाद लिया गया। इस दौरान काफी संख्या में भक्त मौजूद रहे।


विधायक जयदेवी कौशल, एमएलसी रामचन्द्र प्रधान समेत तमाम गणमान्य जनों ने भी भण्डारे में प्रसाद गृहण किया। मलिहाबाद कस्बे में शीतला देवी मन्दिर, शीतलन टोला में मां शीतला देवी जीर्णोद्धार समिति के संयोजन में इलाकाई लोगों ने पूडी सब्जी, छोला चावल, कुल्फी, आईसक्रीम, शरबत एवं डोसा का भण्डारे का आयोजन किया, जिसको भरपूर सराहा गया। वहीं डाक बंगला स्थित हनुमान मन्दिर, खडता चौराहा, देवम लान महमूदनगर, मुजासा स्थित सैनी नर्सरी, गंगाप्रसाद धर्मशाला, तहसील मलिहाबाद गेट के पास, नबीपनाह तिराहा आदि दर्जनों स्थानों पर श्रद्धालुओं द्वारा भण्डारे का आयोजन किया गया। इस मौके पर श्रद्धालुओं ने पूडी सब्जी, कढी चावल, कुल्फी, आईसक्रीम, शरबत आदि की व्यवस्था की थी। भण्डारों की खास बात यह रही कि श्रद्धालुओं द्वारा राहगीरों बुला बुलाकर उनको भी भरपेट भोजन कराने के बाद ठण्डा पानी पिलाया गया।

चौथा बड़ा मंगल: हनुमान मंदिरों पर उमड़ पड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

मलिहाबाद लखनऊ। चौथे बड़े मंगल पर जगह-जगह भण्डारे आयोजित किए गए। भोर से ही हनुमान मंदिरों पर भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी। भक्तों ने मंदिरों पर पहुंच कर माथा टेका व विधि-विधान से पूजा-आरती की। वहीं सुबह से ही लोगों ने स्टाल लगाकर शर्बत, पूड़ी सब्जी व प्रसाद का वितरण किया, जो शाम तक चलता रहा। बड़ी संख्या में भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया। मलिहाबाद, रहीमाबाद, कसमण्डी क्षेत्र सुबह से ही भारी संख्या में मंदिरों श्रद्धालुओं की भीड़ रही। लोगों ने मन्दिरों में विधि विधान से हनुमान जी की पूजा अर्चना की। बड़े मंगलवार को क्षेत्र के गोपेश्वर गोशाला में राजा स्वरूप में विराजमान चिंताहरण हनुमान जी के दरबार मे ब्रम्ह मुहूर्त में दिव्य और मनमोहक श्रृंगार कर आरती उतारी गई। पंडित लवकुश बाजपेई ने सुबह प्रथम पूजन के बाद मंदिर के कपाट भक्तों के दर्शनार्थ खोल दिए।गोशाला परिवार के प्रबंधक उमाकांत गुप्ता ने बताया कि इस अवसर पर गोशाला में पल रही गायों की पूजा के साथ ही बड़ा मंगल मनाया गया।

कई जगह विशाल भंडारे का आयोजन-
क्षेत्र के कई जगह भण्डारे का आयोजन हुआ। इस क्रम में मलिहाबाद कस्बे में मीडिया ऑफिस व माँ वैष्णो इंटरप्राइजेज द्वारा विशाल भण्डारे का आयोजन किया गया। हनुमान जी की मूर्ति पर प्रसाद चढ़ाकर पूजा अर्चना करके भंडारे की शुरूआत की गई। देखते ही देखते हजारों की संख्या में लोगो ने पहुँचकर प्रसाद ग्रहण किया। वहीं विशाल भण्डारे में नगर पंचायत की टीम ने भी भरपूर सहयोग किया।
भंडारा सुबह से शाम 6 बजे तक चलता रहा। इस दौरान भण्डारे का संचालन अजीत सिंह मीडिया ऑफिस की टीम के लोगो के सहयोग से सम्पन्न हुआ। प्रसाद वितरण कार्यक्रम में शैलेश, कल्लू, विकास, रवि, शनि, सोनू यादव द्वारा सहयोग किया गया।

कानपुर में जमकर बवाल पत्थरबाजी बमबाजी लाठीचार्ज

पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी को लेकर कानपुर में जमकर बवाल, उपद्रवियों ने पत्थरबाजी के साथ बमबाजी

कानपुर (एजेंसी)। पैगंबर मोहम्मद साहब पर कथित टिप्पणी को लेकर कानपुर में बवाल हो गया। एक समुदाय विशेष के लोगों ने पथराव शुरू कर दिया, जवाब में दूसरे पक्ष के लोगों ने भी सड़क पर उतर कर पथराव शुरू कर दिया। उपद्रवियों ने पथराव के साथ ही फायरिंग व बमबाजी भी की। घटना में छह लोग घायल हो गए। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। हालात तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में हैं।

पुलिस सूत्रों के अनुसार पैगंबर मोहम्मद साहब पर भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा की कथित विवादित टिप्पणी को लेकर नमाज के बाद एक पक्ष ने नई सड़क पर जमकर पथराव शुरू कर दिया। देखते ही देखते हालत बेकाबू हो गए और दोनों ही पक्ष आमने-सामने आ गए। बिगड़े हालात को देखते हुए भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई और घेराबंदी कर लोगों को शांत कराने का प्रयास करने लगे लेकिन अराजक तत्व लगातार पत्थरबाजी करते रहे। इस दौरान छह लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

कानपुर के यतीमखाने में दुकान बंदी को लेकर दो पक्ष आमने-सामने, जमकर चले ईंट-पत्थर; कई राउंड फायरिंग

डीएम और संयुक्त पुलिस आयुक्त समेत भारी फोर्स ने मौके पर पहुंच कर पैदल मार्च करते हुए लोगों को समझाने का प्रयास किया।

बवाल की सूचना पर भारी फोर्स के साथ डीएम नेहा शर्मा, संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी के साथ कई सर्किल के एसीपी और पीएसी समेत भारी फोर्स मौके पर पहुंचा। पैदल मार्च कर लोगों को समझाने का प्रयास किया तब कहीं जाकर हालात काबू में आए। सुरक्षा की दृष्टि से नई सड़क पर भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है।

सूत्रों के अनुसार पुलिस ने सभी घायलों को तत्काल अस्पताल भिजवाया, जहां पर सभी की स्थिति सामान्य बताई जा रही है। अस्पताल में संजय शुक्ला, आशीष, अमर बाथम, अनिल गौड़, मुकेश देव गौड़ा, राजू सिंह आदि घायलों का इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।

खास बात यह है कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कानपुर देहात के दौरे पर हैं।

बताया गया है कि मुस्लिम अधिसंख्य आबादी वाले क्षेत्रों में नूपुर शर्मा के बयान के विरोध में बाजार बंद रखने का आह्वान किया गया था। पुलिस सुरक्षा के बीच जुमे की नमाज अदा की गई।

इसके बाद यतीमखाना स्थित सद्भावना चौकी के पास बााजर बंद कराने को लेकर दोनों पक्ष आमने- सामने आ गए और पत्थरबाजी शुरू हो गई। पुलिस ने लाठीचार्ज कर भीड़ को खदेड़ दिया। इसके बाद हालात तनावपूर्ण हो गए। लोग तंग गलियों में घुसकर पत्थरबाजी करने लगे।

शनि जयंती पर कारागार में बंदियों ने किया यज्ञ

बन्दियों के नैतिक बौद्धिक और सामाजिक विकास में जुटे प्रभारी जेल अधीक्षक शैलेंद्र प्रताप सिंह

कारागार में निरुद्ध बंदियों द्वारा पूर्ण आस्था के साथ यज्ञ कार्य में लिया गया भाग

बिजनौर। शनि देव जयंती के शुभ अवसर पर जिला कारागार बिजनौर में पूजा अर्चना का कार्यक्रम आयोजित किया गया। कारागार में निरुद्ध बंदियों ने पूर्ण आस्था के साथ यज्ञ कार्य मे भाग लिया।

विदित हो कि जिला कारागार बिजनौर के प्रभारी जेल अधीक्षक शैलेंद्र प्रताप सिंह बंदियों के कल्याण हेतु विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन जेल में कराते रहते हैं ताकि बन्दियों का नैतिक बौद्धिक और सामाजिक विकास हो सके और बंदी सुधार गृह में रहते हुए अपने अंदर विकृतियों को दूर कर सकें।

इस अवसर पर गायत्री परिवार से पधारे परिव्राजक विजेंद्र सिंह राठी एवं केदारनाथ साहू ने पूजा अर्चना तथा यज्ञ कराया। कारागार में निरुद्ध बंदियों ने पूर्ण आस्था के साथ यज्ञ कार्य मे भाग लिया। इस शुभ अवसर पर आचार्यो द्वारा यज्ञ के महत्व पर प्रकाश डालते हुए, नैतिक प्रवर्चन किया गया। कार्यक्रम में जिला कारागार के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा पूर्ण आस्था के साथ भाग लिया गया। इस अवसर पर जिला कारागार बिजनौर के प्रभारी जेल अधीक्षक शैलेंद्र प्रताप सिंह ने अपने संबोधन में यज्ञ को वातावरण को शुद्ध करने वाला अर्थात अशुद्धिनाशक एवं त्याग व समर्पण का प्रतीक बताया। साथ ही गायत्री परिवार संस्था के सदस्यों का आभार व्यक्त कर धन्यवाद ज्ञापित किया।

मनुष्य को मानव तन पर तनिक सा भी घमण्ड नहीं करना चाहिए: सुधा दीदी

लखनऊ। अंतिम दिन भागवत कथा सुनने का महत्व इतना है कि भागवत प्रेमी भक्त अगर श्रद्वा से उसे आखिरी दिन ही सुन लें, तो पूरे सप्ताह कथा सुनने के बराबर पुण्य अर्जित हो जाता है। यह संदेश कन्नौज की पूज्य सुधा दीदी ने कथा के अंतिम दिन काकोरी के गुरुदीनखेड़ा गांव में उन्नाव सांसद महामंडलेश्वर आचार्य स्वामी डॉ साक्षीजी महराज के जिला प्रतिनिधि प्रेमचन्द लोधी द्वारा आयोजित श्रीमद्भागवत कथा का समापन करते हुए बड़ी संख्या में उपस्थित श्राद्वालुओं को दिया। समापन पर विशाल भण्डारे का आयोजन किया गया, जिसमें हजारों की संख्या में लोगों ने प्रसाद चखा।

सुधा दीदी ने हरि अंनन्त हरि कथा अनन्ता की उक्ति सामने रखते हुए कहा कि गोविंद की यह भागवत कथा बगैर गोविंद के, बगैर राधारानी की अनुकम्पा के न तो कही जा सकती है और न ही सुनी जा सकती है। रुक्मिणी विवाह से आगे गोविंद के प्रथम पुत्र प्रद्युम्न की कथा कहते हुए कहा कि प्रद्युम्न को साक्षात कामदेव का रूप बताते हुए कहा कि हमें इस मानव तन पर तनिक भी घमण्ड नहीं करना चाहिए। यह तन भी उन्ही गोविंद का है और उन्हीं की कृपा से संचालित होता है। उन्होंने कहा कि श्रीमद्भागवत भी कामदेव अर्थात महादेव की समाधि की भाषा में लिखा गया है। शिशुपाल वध की चर्चा करते हुए कहा कि गोविंद पर भरोसा करो तो पूरा करो, वही तुम्हारी नइया पार लगा सकते हैं और सिर्फ प्रभु पर ही नही, अपने आराध्य पर ही नहीं, जिस किसी पर भरोसा करो तो पूरा करो, तभी काज सफल होंगें। इसी तरह गोविंद से प्रेम करो या किसी और से करो, पूरे सच्चे मन से करो, तभी प्रेम को पाओगे। कथा समापन से पहले केशरी राव धारा सिंह यादव, प्रेमचन्द लोधी, कमलेश लोधी, राम सिंह लोधी, लवकुश यादव, ज्ञान सिंह, सत्यपाल सिंह आदि ने आरती उतारी। इससे पहले पूर्णाहुति देकर हवन किया गया। बाद में विशाल भण्डारे का आयोजन हुआ, जिसमें  हजारों भक्तगणों ने प्रसाद चख कर भगवान का आशीर्वाद प्राप्त किया।

…अब कुतुब मीनार की खुदाई की तैयारी

नई दिल्ली (एजेंसी)। कुतुब मीनार को लेकर छिड़े विवाद के बीच ऐतिहासिक परिसर में खुदाई की जाएगी। संस्कृति मंत्रालय ने निर्देश दिए हैं कि कुतुब मीनार में मूर्तियों की Iconography कराई जाए। एक रिपोर्ट के आधार पर कुतुब मीनार परिसर में खुदाई का काम किया जाएगा। इसके बाद ASI संस्कृति मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंपेगा।

संस्कृति सचिव ने अधिकारियों के साथ निरीक्षण करने के बाद यह फैसला लिया है। लिहाजा कुतुब मीनार के साउथ में और मस्जिद से 15 मीटर दूरी पर खुदाई का काम शुरू किया जा सकता है। बता दें कि कुतुब मीनार ही नहीं, अनंगताल और लालकोट किले पर भी खुदाई का काम किया जाएगा।

कुतुब मीनार परिसर में खुदाई के निर्णय से पहले संस्कृति सचिव गोविंद मोहन ने 12 लोगों की टीम के साथ निरीक्षण किया। इस टीम में 3 इतिहासकार, ASI के 4 अधिकारी और रिसर्चर मौजूद थे। इस मामले में ASI के अधिकारियों का कहना है कि कुतुबमीनार में 1991 के बाद से खुदाई का काम नहीं हुआ है।

ASI के अधिकारियों का कहना है कि कुतुब मीनार में 1991 के बाद से खुदाई का काम नहीं हुआ है। इसके अलावा कई रिसर्च भी पेंडिंग हैं, जिसकी वजह से ये फैसला लिया गया है।

विष्णु स्तम्भ नाम देने की मांग- कुतुब मीनार का नाम बदलने की मांग भी हाल ही में की गई थी। इसके बाद वहां हिंदू संगठनों के कुछ कार्यकर्ताओं ने हनुमान चालीसा का पाठ किया था। हिंदू संगठनों ने कुतुब मीनार का नाम बदलकर विष्णु स्तम्भ करने की मांग की थी। हिंदू संगठन के एक कार्यकर्ता ने कहा था कि मुगलों ने हमसे इसे छीना था। इसे लेकर हम अपनी मांगों को रख रहे हैं। हमारी मांग है कि कुतुब मीनार का नाम बदलकर विष्णु स्तम्भ किया जाए।