अग्निपथ: भारत बंद से बेअसर रहा बिजनौर

भारत बंद के आह्वान को लेकर बिजनौर पुलिस प्रशासन रहा अलर्ट। रोजाना की तरह बाजारों में रही चहल पहल। एसपी डॉ धर्मवीर सिंह ने विभिन्न स्थानों का खुद लिया जायजा।

बिजनौर। अग्निपथ योजना को लेकर कुछ संगठनों द्वारा किए गए भारत बंद का जनपद में कोई असर नहीं दिखाई दिया। बाजारों में रोजाना की तरह चहल-पहल दिखाई दी। बिजनौर पुलिस प्रशासन अलर्ट मोड में रहा।

एसपी ड़ॉ धर्मवीर सिंह ने माहौल खराब करने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दे रखे थे। उन्होंने खुद लावलश्कर के साथ विभिन्न स्थानों का जायजा लिया और कहा कि किसी को भी क़ानून व्यवस्था भंग नहीं करने दी जाएगी, ऐसी कोशिश करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

भारत सरकार की अग्निपथ योजना को लेकर देश भर में बवाल के बीच सोमवार को कुछ संगठनों द्वारा भारत बंद का आह्वान किया गया था। जिले में इसका कोई असर नहीं दिखाई दिया। दुकान, मॉल और बाजार रोजाना की तरह खुले रहे।

सभी जगह आवाजाही भी सुचारू रही। सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से एसपी डॉ धर्मवीर सिंह ने पुख्ता इंतजाम किए। जगह जगह पुलिस फ़ोर्स लगाई गई। पुलिस आने जाने वालों पर पैनी निगाह रखे रही।

किसी को भी क़ानून व्यवस्था भंग नहीं करने दी जाएगी। ऐसी कोशिश भी करने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिये हुए हैं। – डॉ धर्मवीर सिंह, एसपी बिजनौर।

डॉ. धर्मवीर सिंह एसपी बिजनौर
शरद जैन, व्यापारी नहटौर

पानी व शर्बत पिलाएं, लेकिन गंदगी तो न छोड़ें: भूपेंद्र निरंकारी

बिजनौर। सभी धर्मों के लोग इस भीषण गर्मी में छबील व प्याऊ लगाकर लोगों को पानी और शर्बत पिला रहे हैं। यह बेशक ही बहुत पुण्य वाला कार्य है, क्योंकि प्यासे को पानी पिलाने से बड़ी कोई सेवा नहीं है। नर सेवा ही नारायण सेवा है, लेकिन छबील और प्याऊ के पीछे एक बेहद निराशाजनक कहानी भी सामने आ रही है। भूपेंद्र कुमार निरंकारी का कहना है कि जब भी कहीं शर्बत या पानी पिलाया जाता है, तो कार्य खत्म होने के बाद झूठे गिलासों व अन्य गंदगी को वहीं छोड़ दिया जाता है। यह गिलास हवा में उड़ कर दूर तक गंदगी फैलाते हैं। इतना ही नहीं इन पर मक्खी भी मंडराती हैं। प्याऊ लगाकर लोगों की सेवा कर पुण्य भले ही कमाया जाता है, लेकिन उसके बाद उसी स्थान को गंदगी से भरा छोड़कर पाप की भागीदारी भी होती है। ठंडे पानी और शर्बत से लोगों को गर्मी से राहत, तो मिलती है, लेकिन झूठे गिलासों से गंदगी होने पर बीमारियां फैलने का भी खतरा होता है। भूपेंद्र ने इस तरह के शिविर का आयोजन करने वालों का आह्वान किया कि शिविर की समाप्ति पर शिविर के आसपास हजारों की संख्या में बिखरे ग्लास व गंदगी को भी साफ करने का प्रबंध करें।

लिंटर का ढुल्ला खोलते समय नीचे गिरने से मजदूर की मौत परिवार में मचा कोहराम

बिजनौर। नूरपुर के फतेहाबाद रोड पर विकास कॉलोनी में नवनिर्मित मकान के लिंटर का ढुल्ला खोलते समय एक मजदूर करीब 20 फीट की ऊंचाई से नीचे गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल मजदूर को आनन-फानन में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। मौत की सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए बिजनौर भेज दिया।


जानकारी के अनुसार अमरोहा जनपद के गांव पत्थर कुटी थाना धनोरा निवासी 32 वर्षीय नेपाल सिंह पुत्र भूप सिंह फतेहाबाद मार्ग स्थित सुनील कुमार के नवनिर्मित मकान में मजदूरी पर काम कर रहा था। सुनील कुमार के इस नवनिर्मित मकान के निर्माण का ठेका गांव पत्थर कुटी धनोरा के ही रामपाल पुत्र बलवीर सिंह ने ले रखा था। मंगलवार को नेपाल सिंह उक्त मकान की दो मंजिला इमारत का लिंटर खोल रहा था। करीब 1:00 बजे वह लिंटर खोलते समय करीब 20 फीट नीचे स्थित सड़क पर आकर धड़ाम से गिर गया, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल अवस्था में नेपाल को आनन-फानन में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर उपचार के लिए ले जाया गया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर मृतक के परिजन सरकारी अस्पताल पहुंचे तो परिवार में कोहराम मच गया। उधर सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची तथा शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए बिजनौर भेज दिया। मृतक के भाई राजेश की ओर से घटना के संबंध में थाने में लिखित तहरीर दी गई है। मृतक अपने पीछे पत्नी एवं दो पुत्रों को रोते बिलखते छोड़ गया।

प्रदेश में फिर से परचम लहराने को बसपा ने छेड़ी जंग

बिजनौर। बहुजन समाज पार्टी ने आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर बहुस्तरीय जंग छेड़ दी है। समाज के हर स्तर तक सम्पर्क कर प्रदेश में एक बार फिर परचम लहराने का जोश भरपूर है। इसी क्रम में नूरपुर विधान सभा क्षेत्र में बहुजन समाज पार्टी की सेक्टर स्तरीय मीटिंग का आयोजन किया गया। मीटिंग में जिला अध्यक्ष जितेंद्र सागर ने पार्टी की नीतियों से अवगत कराते हुए कहा कि केवल बसपा सरकार ही उत्तर प्रदेश में कानून एवं प्रशासनिक व्यवस्था को बेहतर कर सकती है। इस दौरान नूरपुर विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी हाजी जियाउद्दीन, इसरार नवी, मुख्य सेक्टर प्रभारी काके रवि, सेक्टर प्रभारी पुष्पेंद्र सिंह, जिला संयोजक बलवंत सिंह, अध्यक्ष नूरपुर डॉक्टर शमशाद, जिला सचिव परम सिंह प्रधान, जिला सचिव डैनी भाई आदि साथी उपस्थित रहे।

सदा याद रखे जाएंगे कलम के धनी विनोद दुआ और अजय जैन

वरिष्ठ पत्रकार गुणवंत सिंह राठौर की कलम से


वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ व अजय जैन के निधन पर शोक सभा। ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन ने वताया कलम का योद्धा।


नूरपुर/बिजनौर। ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन ब्लॉक ईकाई संगठन के मुरादाबाद रोड स्थित कार्यालय पर रविवार को शोक सभा का आयोजन किया गया।


शोक सभा में वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ और नजीबाबाद निवासी अजय जैन के निधन पर गहरी संवेदना व्यक्त कर श्रद्धाजलि अर्पित की गई। जिला संगठन मंत्री गुणवंत सिंह राठौर ने दोनों के निधन को पत्रकारिता जगत के लिए अपूर्णीय क्षति बताया। उन्होंने कहा कि दिवंगत अजय जैन संघर्षशील, निष्ठावान और स्वच्छ पत्रकारिता के साक्षात परिचय थे। ब्लॉक अध्यक्ष चौधरी शेर सिंह की अध्यक्षता में आयोजित शोक सभा में धामपुर तहसील प्रभारी इंदर सिंह चौहान, नवाबुद्दीन मलिक, धर्मवीर सिंह, मन्नान सैफी, वीरेन्द्र चौधरी, बिजेंद्र शर्मा, नसीम सैफी, इदरीस अंसारी, धनंजय सिंह आदि पत्रकारों ने शोक प्रकट किया।

वहीं newsdaily24 के संचालक, उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के पूर्व जिला महामंत्री व ऑल मीडिया & जर्नलिस्ट एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष संजय सक्सेना, वरिष्ठ पत्रकार राजीव कश्यप, जयविन्दर चौधरी, सांध्य दैनिक प्रयाण के जिला प्रभारी अवनीश गौड़, सचिन, रोहित चौधरी, सिकंदर, आशु, नदीम अहमद, अनिल कुमार, पीयूष चौहान ने भी दिवंगत आत्माओं के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए शोक संतृप्त परिजनों को साहस व धैर्य प्रदान करने की प्रार्थना ईश्वर से की है।

सीडीओ कार्यालय में कल मनाया जाएगा प्राकृतिक चिकित्सा दिवस 

सीडीओ कार्यालय में 18 नवंबर को मनाया जाएगा प्राकृतिक चिकित्सा दिवस 
बिजनौर। मुख्य विकास अधिकारी कार्यालय हॉल में 18 नवंबर 2021 को प्रातः 11:00 बजे प्राकृतिक चिकित्सा दिवस मनाया जाएगा। मुख्य अतिथि के पी सिंह मुख्य विकास अधिकारी बिजनौर होंगे।आईएनओ बिजनौर के जिलाध्यक्ष डॉ नरेंद्र सिंह ने उक्त जानकारी देते हुए कहा कि साथ में कार्यक्रम अधिकारी एवं विकास अधिकारी कार्यालय के कर्मचारी रहेंगे। 
उन्होंने इंटरनेशनल नेचुरोपैथी आर्गेनाईजेशन, भारत स्वाभिमान व आरोग्य भारती के पदाधिकारियों,  चिकित्सकों व योग आचार्य से निवेदन किया है कि अपने भाषण व प्रदर्शन हेतु नियत तिथि पर  प्रातः 10:30 बजे मुख्य विकास अधिकारी कार्यालय के हाल में पहुंचें। 

तिलक कर बहनों ने की भाई के लंबे जीवन की कामना

लखनऊ (शैली सक्सेना)। भाई-बहन के प्यार का प्रतीक पर्व भाई दूज प्रदेश भर में अगाध श्रद्धा व उत्साह के साथ मनाया गया। बहनों ने भाई के माथे पर तिलक लगा उनके मंगल जीवन के साथ सुख-समृद्धि की कामना की। पर्व पर छोटों ने बड़ों से आशीर्वाद लिया और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। बहनों ने मुहूर्त के अनुसार पूजा-अर्चना की। भाईयों ने भी बहनों को परम्परागत रूप से उपहार प्रदान किये और उनकी रक्षा का वचन दिया। दूर-दूर से लोग रिश्तेदारियाँ निबाहने आये।

पाँच दिवसीय दीपोत्सव आज शनिवार को भाईदूज के साथ सम्पन्न हो गया। भाई दूज का पर्व धूमधाम से मनाया गया। सुबह से ही बहनें अपने भाइयों के टीका  करने को लालायित नजर आईं। घर की बुजुर्ग महिलाओं द्वारा घर के दरवाजे पर दूजों की स्थापना की गई। पूजन सामग्री तैयार करने के बाद दूजों की परम्परागत विधि से पूजन-अर्चन की। इसके बाद बहनों ने अपने-अपने भाइयों को तिलक लगाकर आरती उतारकर उनकी लम्बी आयु और सुख-समृद्धि की कामना की। भाइयों ने भी अपनी बहनों को इसी प्रकार स्नेह बनाए रखने की कामना की। वहीं दुकानदारों ने अपनी-अपनी दुकान की पूजन-अर्चना  कर कारोबार की शुरूआत की।

जेल पर भी रही भीड़- इस अवसर पर प्रदेश के सभी कारागार में भी बड़े पैमाने पर बहनों की भीड़ देखी गई। कारागार में निरुद्ध बन्दियों को उनकी बहनों ने पहुँचकर उनकी लम्बी आयु की कामना के साथ टीका लगाकर और मिठाई खिलाकर शुभकामनाएं दीं।

बस स्टैण्ड व रेलवे स्टेशन पर बढ़ी आवाजाही– सुबह से ही निजी व रोडवेज बस स्टैण्ड के अलावा रेलवे स्टेशनों पर भाई-बहनों की खासी भीड़ नजर आई। कहीं बहनें भाइयों के यहां जाने की जल्दी में दिखीं तो कहीं भाई अपने बहन के घर टीका कराने के लिए जाते दिखे। सुबह से लेकर शाम तक भाई दूज का सिलसिला चलता रहा। इस प्रकार पूरे प्रदेश में दीपों के त्योहार दीपावली का पूरी श्रद्धा व उमंग के साथ आयोजन सम्पन्न हुआ।

वर्ष में दो बार भाई दूज- भारतीय परंपरानुसार वर्ष में दो बार भाई दूज आती हैं, पहली दीवाली पर गोवर्धन पूजा के अगले दिन और दूसरी होली के बाद आने वाली द्वितीया को। दीवाली की भाई दूज को भाई की पूजा और उसका तिलक कर भाई के लंबे जीवन की कामना की जाती है, वहीं होली के बाद आने वाली भाई दूज पर भाई का तिलक कर भाई पर आने वाले सभी संकटों को टालने की प्रार्थना की जाती है।

भाई दूज मनाने के पीछे कई पौराणिक कथाएं हैं। उनमें से एक देवी यमुना या यामी और उनके भाई यमराज के बीच की कथा है।

क्यों मनाते हैं भाई दूज –

भगवान सूर्य नारायण की पत्नी का नाम छाया था। उनकी कोख से यमराज तथा यमुना (यामी) का जन्म हुआ था। यमुना यमराज से बड़ा स्नेह करती थी। वह उससे बराबर निवेदन करती कि इष्ट मित्रों सहित उसके घर आकर भोजन करो। अपने कार्य में व्यस्त यमराज बात को टालते रहे। कार्तिक शुक्ल पक्ष का दिन आया। यमुना ने उस दिन फिर यमराज को भोजन के लिए निमंत्रण देकर, अपने घर आने के लिए वचनबद्ध कर लिया। यमराज ने सोचा कि मैं तो प्राणों को हरने वाला हूं। मुझे कोई भी अपने घर नहीं बुलाना चाहता। बहन जिस सद्भावना से मुझे बुला रही है, उसका पालन करना मेरा धर्म है। बहन के घर आते समय यमराज ने नरक निवास करने वाले जीवों को मुक्त कर दिया। यमराज को अपने घर आया देखकर यमुना की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। उसने स्नान कर पूजन करके व्यंजन परोसकर भोजन कराया।

भगवान यम ने दिया था यामी को वरदान– यमुना द्वारा किए गए आथित्य से यमराज ने प्रसन्न होकर बहन को वर मांगने को कहा। यमुना ने कहा कि भद्र! आप प्रति वर्ष इसी दिन मेरे घर आया करो। मेरी तरह जो बहन इस दिन अपने भाई को आदर सत्कार करके टीका करें, उसे तुम्हारा भय न रहे। यमराज ने तथास्तु कहकर यमुना को अमूल्य वस्त्राभूषण देकर यमलोक की राह की। इसी दिन से पर्व की परम्परा बनी। ऐसी मान्यता है कि जो आथित्य स्वीकार करते हैं, उन्हें यम का भय नहीं रहता। इसीलिए भैयादूज को यमराज तथा यमुना का पूजन किया जाता है।

हर्षोल्लास के साथ मनाई गई दीपावली

बिजनौर। दीपावली का पर्व जनपद में धूमधाम से मनाया गया। लोगों ने अपने घरों एवं व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान को मोहक तरीके से सजाया। देर रात तक आसमान आतिशबाजी से जगमगाता रहा।

गुरुवार को घरों की देहरियों पर रंग-बिरंगी रंगोलियां सजाई गईं और घर-घर मां लक्ष्मी विराजी। शुभ मुहूर्तों में घरों व प्रतिष्ठानों में मां लक्ष्मी की पूजा-अर्चना की गई। कई तरह के पकवानों से मां लक्ष्मी को भोग लगाया गया। विधि-विधान से मां लक्ष्मी की पूजा-अर्चना के बाद दीपकों से घर-आंगन जगमगाए। देर रात तक पटाखे फोड़े गए और आसमान आतिशबाजी से जगमगा गया। हर गली-मोहल्ले में दीपावली का उत्साह देखा गया। लोगों ने एक-दूसरे को दीपावली की बधाई दी और मिठाइयों से मुंह मीठा कर दीपावली पर्व मनाया। घरों के अलावा मंदिरों में भी दीपोत्सव मनाया गया।

कल मनाई जाएगी भाई-दूज- पांच दिवसीय दीपावली उत्सव का समापन भाई-दूज पर्व के साथ शनिवार को होगा। बहनें अपने भाइयों को माथे पर तिलक करेंगी। मिठाई खिलाएंगी और भाई बहन को उपहार देंगे। कायस्थ समाज द्वारा भगवान चित्रगुप्त जी महाराज की पूजा की जाएगी। कलम-दवात का पूजन किया जाएगा।

सरकारी पशु चिकित्सक ने की गोली मारकर आत्महत्या

सरकारी पशु चिकित्सक ने की गोली मारकर आत्महत्या

बिजनौर। कोतवाली देहात कस्बे में पशु चिकित्सक ने तमंचे से गोली मारकर आत्महत्या कर ली! सीने में गोली लगा शव पशु सेवा केंद्र के आवास में ही पड़ा मिला। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। मामला  आत्महत्या में दर्ज किया गया है, हालांकि पुलिस सभी पहलुओं पर जांच कर रही है। फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने मौका-ए-वारदात से नमूने भी लिए तमंचे और अन्य जगहों से भी फिंगर प्रिंट के नमूने लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। जानकारी के अनुसार पशु चिकित्सक सुशील कुमार सहारनपुर की पंजाबी कॉलोनी नुमाइश कैंप संत नगर के रहने वाले थे। पिछले तीन साल से वह बरुकी में तैनात थे और पशु सेवा केंद्र के एक कमरे को ही आवास बना रखा था। उनके साथ प्राइवेट तौर पर काम करने वाले आकाश ने सुबह करीब साढ़े आठ बजे सुशील को चाय पिलाई। इसके बाद पशुधन प्रसार अधिकारी सुशील ने आकाश को कपड़ों पर प्रेस कराने के लिए बाजार में भेज दिया। बाजार जाते वक्त आकाश आवासीय परिसर के मुख्य गेट का ताला लगाकर गया था। आकाश लौटकर केंद्र पर पहुंचा तो सुशील का सीने में गोली लगा शव पड़ा मिला। मामले की जानकारी विभागीय व पुलिस अधिकारियों को दी गई।

मौके पर पहुंचे एएसपी देहात रामअर्ज और सीओ नगीना सुमित शुक्ला ने घटनास्थल का मुआयना किया। साथ ही आकाश से करीब एक घंटा तक जानकारी हासिल की। आकाश की तहरीर पर पुलिस ने आत्महत्या का केस दर्ज कर लिया औऱ शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। आत्महत्या के कारणों और अन्य बिन्दुओं पर भी जांच चल रही है। प्रथम दृष्टया सामने आया है कि पशुधन प्रसार अधिकारी का अपने परिवार से विवाद चल रहा था।

बिजनौर में पुलिस अधिकारी रहे हैं सुशील के पिता- सुशील कुमार के पिता मांगेराम सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारी हैं और बिजनौर में ही रहते हैं। घटना की सूचना पर वह बरुकी पहुंचे। सुशील कुमार की पत्नी और उनका पुत्र व पुत्री सहारनपुर में ही रहते हैं। सुशील कुमार के पिता मांगेराम बिजनौर के कई थानों में तैनात रहे हैं।

पुलिस को भी हत्या की आशंका- भले ही पुलिस पशुधन प्रसार अधिकारी की मौत को आत्महत्या मान रही है, लेकिन जांच सभी पहलुओं पर की जा रही है। पुलिस की टीम ने फोरेंसिक एक्सपर्ट के पहुंचने से पहले शव को छुआ भी नहीं। तमंचा और मोबाइल भी जस का तस पड़ा रहा। फोरेंसिक एक्सपर्ट की ओर से फिंगर प्रिंट समेत अन्य नमूने लेने के बाद ही पुलिस ने अगली कार्रवाई की।

महालक्ष्मी के स्वागत में सजा बिजनौर, घर-घर जलेंगे खुशियों के दीप

November 4, 20211 navdhardna.com

बिजनौर। कोरोना और डेंगू की परेशानियों से दूर आज खुशियों के दीप घर-घर में जगमग होंगे। घरों से लेकर बाजारों तक में उल्लास है। सुप्रीम कोर्ट ने हरित पटाखों की अनुमति दी तो प्रशासन ने भी आज आतिशबाजी के लिए दो घंटे निर्धारित किए हैं। रंगोली, बंदनवार से सजे घरों को रंगबिरंगी झालरों से सजाने के बाद महालक्ष्मी के आगमन के लिए तैयार किया गया है। शाम को घरों और प्रतिष्ठानों में शुभ मुहूर्त में भगवान श्रीगणेश और महालक्ष्मी का पूजन किया जाएगा। पूजन के बाद हरित पटाखों की धूम मचेगी। महालक्ष्मी के स्वागत के लिए पूरा शहर सज-धजकर तैयार है। हर गली-मोहल्ले, कॉलोनी, बाजार, शोरूम को सतरंगी रोशनी से सजाया गया है।

ज्योतिषाचार्य के अनुसार दिवाली पर महालक्ष्मी के पूजन के लिए चौकी पर लाल वस्त्र बिछाकर भगवान श्री गणेश और लक्ष्मी जी की प्रतिमा स्थापित करें। गंगाजल छिड़क कर उस स्थान एवं आसन को पवित्र करें। मां लक्ष्मी के समीप केसर युक्त चंदन से अष्टदल कमल बनाकर चांदी का सिक्का रखकर पूजा करें।  गणेश लक्ष्मी को वस्त्र, आभूषण, पुष्पमाला, केसर, चंदन, अक्षत, इत्र अर्पित करें। प्रतिमा के दाहिनी ओर शुद्ध घी का दीपक जलाएं और बायीं ओर तेल का दीपक जलाकर रखें। मां सरस्वती पूजन के निमित्त बहीखाते, कॉपी, पेन का पूजन करें। रुपये रखने के स्थान पर स्वास्तिक बनाकर कुबेर भगवान का पूजन करें। दवात की शीशी या पेन लेखनी पर काली मां का पूजन करना चाहिए। भगवान श्रीगणेश एवं महालक्ष्मी को पांच प्रकार की मेवा, पांच फल, पांच मिठाई, खील बताशे, नैवेद्य, पान, सुपारी, इलायची लौंग अर्पित करें। सभी देवी देवताओं को नैवेद्य अर्पित करें। 21 दीपक मां लक्ष्मी के समीप प्रज्ज्वलित करें। घर  के सभी कमरों के कोने-कोने में दीपमाला का प्रकाश फैलाएं। धूप दीप से आरती करें।

पूजन का समय

घरों में - शाम 6:30 बजे से रात 8:26 बजे तक।

दफ्तरों के लिए - प्रात: 10.30 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक।

व्यापारिक प्रतिष्ठान – शाम 4:28 बजे से 6:00 बजे तक।

दिवाली पर 51 साल बाद बन रहा दुर्लभ योग

दिवाली पर बृहस्पतिवार को चित्रा व स्वाति नक्षत्र के बीच लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त है। इस बेला में प्रति और चतुस्पद का दुर्लभ योग 51 साल बाद बन रहा है। ज्योतिषाचार्य पूनम वार्ष्णेय और शिवशरण पाराशर ने बताया कि गोधूलि बेला शाम 5:30 बजे से 8:15 बजे तक रहेगी। रात्रि बेला में चित्रा स्वाति का संयोग, प्रीति और चतुस्पद योग निशीथ बेला में सिंह लग्न रात्रि 12:40 से 3 बजे के बीच रहेगा।

वन विभाग में कायम जंगल राज!

वन विभाग में कायम जंगल राज!

बिजनौर। वन विभाग में जंगल राज का बोलबाला हो गया है! दो महिला विभागीय कर्मियों ने एक रेंजर के खिलाफ शारीरिक व मानसिक शोषण की शिकायत डीएफओ से की है! नजीबाबाद रेंज के इस मामले ने विभाग की कलई खोल कर रख दी है।

बताया गया है कि डीएफओ एम. सैमरान ने शिकायत मिलने के बाद संबंधित रेंजर को नोटिस जारी किया है। आरोप है कि उक्त महिला कर्मचारी काफी समय से रेंजर की करतूतों को बर्दाश्त कर रही थीं। अब, जब पानी सिर के ऊपर पहुंच गया तो शिकायत की गई।

रंगीला रेंजर- बताया जाता है कि उक्त रेंजर आशिक मिजाज है। जंगल में मंगल मनाना उसके खानदानी शौक में शामिल है। जंगल में लकड़ी बीनने आने वाली आसपास के गांवों की लड़कियों व महिलाओं से अभद्रता जगजाहिर है!

डीएफओ का कहना- डीएफओ ने बताया कि इस मामले में संबंधित रेंजर को नोटिस दिया गया है। जवाब मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

विक्रांत चौधरी ने किया चिकित्सकों का अभिनंदन

बिजनौर। भारत सरकार द्वारा 100 करोड़ कोविड वैक्सीन का आँकड़ा सबसे कम समय में सफलता पूर्वक पूरा करने के उपलक्ष्य में नजीबाबाद स्थित लाला भोजराम नेत्र चिकित्सालय में अभिनंदन कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर भाजपा जिला सह मीडिया प्रभारी विक्रांत चौधरी ने वैक्सीनेशन टीम का अभिनंदन किया। साथ ही अस्पताल में मौजूद सभी चिकित्सकों  और स्टाफ़ का धन्यवाद किया। सभी ने देशवासियों की कोरोना काल में समय हर सुविधा मुहैया कराने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि हमारे पीएम वास्तव में जननायक हैं, जो बिना भेदभाव किए हमेशा देशवासियों की चिंता में लगे रहते हैं।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ फ़ैज़ हैदर, ब्लॉक प्रोग्राम मैनेजर निपेंद्र चौधरी, अखिलेश वर्मा, वैशाली कुमारी, अभिषेक त्यागी, संदीप पांडे फार्मेसिस्ट, बृजेश कुमार फार्मेसिस्ट, कौशिक, विशाल कुमार, राजवीर कुशवाहा बाला देवी  आदि उपस्थित रहे।