रोड पर गलत तरीके से खड़े वाहन की फोटो खींच कर पाओ इनाम

नई दिल्ली (एजेंसी)। सड़क पर गलत तरीके से खड़े किए गए वाहन की तस्वीर भेजने वाले को उसे 500 रुपए का इनाम दिया जाएगा। वहीं गलत तरीके से पार्किंग करने वाले वाहन मालिक से 1,000 रुपए का जुर्माना वसूला जाएगा। सरकार जल्द इस तरह का एक कानून लाने जा रही है।

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को यह जानकारी दी। यहां एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा कि वह सड़क पर गलत तरीके से वाहन खड़ा करने की प्रवृत्ति को रोकने के लिए एक कानून लाने पर विचार कर रहे हैं। गडकरी ने कहा, ‘‘मैं एक कानून लाने वाला हूं कि रोड पर जो वाहन खड़ा करेगा, उसपर 1,000 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। वहीं गलत तरीके से वाहन खड़ा करने वाले की तस्वीर खींचकर भेजने वाले को इसमें से 500 रुपए दिए जाएंगे।’’ मंत्री ने इस बात पर क्षोभ जताया कि लोग अपने वाहनों के लिए पार्किंग की जगह नहीं बनाते हैं। इसके बजाय वे अपना वाहन सड़क पर खड़ा करते हैं।

उन्होंने कहा, नागपुर में मेरे रसोइये के पास भी दो सेकेंड हैंड वाहन हैं। आज चार सदस्यों के परिवार के पास छह कारें होती हैं। ऐसा लगता है कि दिल्ली के लोग भाग्यशाली हैं। हमने उनका वाहन खड़ा करने के लिए सड़क बनाई है।

दोपहिया वाहनों पर बच्चों की सवारी के नए नियम

नई द‍िल्‍ली (एजेंसी)। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की तरफ से बच्‍चों के ल‍िए रोड सेफ्टी की नई गाइडलाइंस जारी की गई है। इसके बाद से अब बाइक पर 9 महीने से चार साल तक के बच्‍चों को सफर करवाने के लिए लोगों को नई गाइडलाइंस का पालन करना होगा। वहीं, नियमों का पालन न करने वाले को जुर्माना भरना पड़ सकता है। 

Children on Motorcycle: What Are the Govt's New Draft Rules for Their  Safety?

नए नियमों के मुताबिक 9 महीने से 4 साल तक के बच्चों के बाइक पर सफर करने के दौरान सेफ्टी हार्नेस लगाना जरूरी होगा। सेफ्टी हार्नेस हल्का, वॉटरप्रूफ और कुशन से लैस होना चाहिए, ज‍िसमें बच्‍चे को आराम म‍िल सके। साथ ही इसकी क्षमता 30kg तक भार वहन करनी की होनी चाह‍िए। इसके साथ ही बच्चों को बाइक पर सफर करने के दौरान उनके नाप का हेल्मेट भी लगाना होगा। बच्चों के साथ बाइक पर यात्रा के दौरान अध‍िकतम स्पीड 40 km/hr से अधिक नहीं होनी चाह‍िए। हालाँकि, बच्चों के हेल्मेट के लिए BIS अलग से स्टैंडर्ड जारी करेगा। तबतक छोटे हेल्मेट, या साइकिल हेल्मेट का प्रयोग किया जा सकता है।

राजकीय वाहन चालक संघ के अध्यक्ष बने नदीम


बिजनौर। राजकीय वाहन चालक संघ राजस्व विभाग बिजनौर का द्विवार्षिक चुनाव/अधिवेशन सीएमओ कार्यालय परिसर में बने राजकीय वाहन चालक संघ चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के संघ भवन में हुआ।

अधिवेशन के प्रथम चरण में वाहन चालकों की मूलभूत समस्याओं एवं मांगों पर विचार विमर्श किया गया। अधिवेशन के द्वितीय चरण में आगामी दो वर्ष के लिए नई कार्यकारणी का गठन किया गया। मुख्य चुनाव अधिकारी के रूप में राजपाल सिंह जिला अध्यक्ष राजकीय वाहन चालक महासंघ जनपद शाखा बिजनौर एवं नरेंद्र कुमार उपाध्यक्ष ऑल इंडिया गवरमेंट ड्राईवर फेडरेशन पश्चिम क्षेत्र द्वारा निर्वाचन की कार्यवाही सम्पन्न कराई गई। अध्यक्ष पद के लिए शोहराब खां, नदीम अहमद ने नामाकंन कराया। अध्यक्ष पद के लिए 11 मत डाले गए। इनमें शोहराब खां को तीन और नदीम अहमद को आठ मत मिले। नदीम अहमद को पांच मतों से विजयी घोषित किया गया। शेष कार्यकारणी निर्विरोध घोषित की गई। मंत्री पद पर संजीव कुमार, वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर संजय कुमार, कोषाध्यक्ष पद पर बालकिशन, संगठन मंत्री पद पर विजयपाल सिंह, प्रचार मंत्री पद पर जावेद अख्तर निर्विरोध चुने गए।
—–

सड़क हादसे में नूरपुर के दो युवकों की दर्दनाक मौत, एक गंभीर घायल

सड़क दुर्घटना में नूरपुर के दो युवकों की दर्दनाक मौत, एक गंभीर घायल। हीमपुर बुजुर्ग गांव के पास हुआ सड़क हादसा।


नूरपुर/बिजनौर। मंगलवार की देर शाम करीब 7 बजे नूरपुर चांदपुर रोड पर हीमपुर बुजुर्ग गांव के पास हुए सड़क हादसे में कस्बे के दो युवकों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। घटना में एक युवक गंभीर रुप से घायल हो गया। परिजनों में कोहराम मचा हुआ है।


जानकारी के अनुसार कस्बे के मोहल्ला इस्लामनगर निवासी सुल्तान पुत्र चन्नू (22 वर्ष), सारिक पुत्र नईम अहमद (23 वर्ष) एवं फैजान पुत्र नसीम (22 वर्ष) मंगलवार की शाम करीब सात बजे बाईक द्वारा चांदपुर से घर लौट रहे थे। बताया जाता है कि नूरपुर चांदपुर मार्ग पर गांव हीमपुर बुजुर्ग के पास तेज रफ्तार से आ रहे ट्रक ने बाईक को चपेट में ले लिया। परिणामस्वरूप सुल्तान और सारिक की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई, जबकि फैजान गंभीर रुप से घायल हो गया। सूचना पर चांदपुर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और घायल को उपचार के लिए सरकारी अस्पताल भिजवाया। चिकित्सकों ने उसकी हालत नाजुक देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रैफर कर दिया। उधर, घटना की खबर मिलने पर परिजनों में कोहराम मच गया तथा परिजन और मोहल्लावासी घटनास्थल की दौड पड़े। घटना से क्षेत्र में गम का माहौल है।

दिल्ली सरकार बेच देगी 25 ₹ किलो में आपका वाहन


15 साल पुराने वाहन घर से उठाकर कबाड़ करेगी दिल्ली सरकार। पहले डीजल गाड़ियों पर कार्रवाई का
आदेश जारी।

राहत: कोई जुर्माना नहीं- परिवहन विभाग के मुताबिक सरकार वाहनों को घरों से टो करने के लिए कोई जुर्माना नहीं लगाएगी। वाहन की हालत के हिसाब से उसे प्रति किलो अधिकतम 25 रुपए के हिसाब से भुगतान होगा।

अनुमान: कितना मिलेगा- महिन्द्रा कंपनी वाहन कबाड़ भी करती है। उसके प्रतिनिधि के मुताबिक 8000 से लेकर इनोवा वाहन पर 80 हजार रुपए तक मिल जाते हैं। हर वाहन के दाम उसकी सेहत देखकर लगते हैं।

नई दिल्ली (एजेंसी)। दिल्ली में अब घरों में खड़े 15 साल पुराने वाहनों को सरकार जब्त करके सीधे कबाड़ (स्क्रैप) कराएगी। पहले चरण में सिर्फ डीजल वाहनों पर कार्रवाई होगी। उसके बाद पेट्रोल और दुपहिया वाहनों पर यह अभियान आगे बढ़ाया जाएगा। परिवहन विभाग ने इसे लेकर आदेश जारी कर दिया है। कबाड़ कराने के बाद जो पैसा मिलेगा उससे टो शुल्क काटकर बाकी पैसा वाहन मालिक को दे दिया जाएगा।

पहले चरण में 1.5 लाख वाहन दायरे में: पहले चरण में डीजल के 15 साल पुराने 1.5 लाख वाहन इस अभियान के दायरे में आएंगे। वाहनों को कबाड़ करने के लिए परिवहन विभाग ने सात कंपनियों को भी चिन्हित कर लिया है। परिवहन विभाग की ओर से जारी आदेश में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यून (एनजीटी) के आदेश का हवाला देते हुए कहा गया है कि दिल्ली में 15 साल पुराने पेट्रोल और 10 साल पुराने डीजल वाहन नहीं चल सकते है। पहले चरण में 10 से 15 साल के बीच के डीजल वाहनों को छूट रहेगी। इसके बाद इन्हें भी कबाड़ किया जाएगा।

पुराने पेट्रोल वाहन 38 लाख: दिल्ली में 15 साल पुराने पेट्रोल वाहनों की संख्या 38 लाख से अधिक है, जबकि 15 साल पुराने डीजल वाहनों की संख्या 1.5 लाख है। इसके अलावा 10 से 15 साल पुराने डीजल वाहनों की संख्या 7700 है, जिसे दिल्ली में चलने की अनुमति नहीं है। इस संबंध में परिवहन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक हमारा मकसद लोगों को डराना नहीं है बल्कि उन्हें जागरूक करना है, जिससे लोग खुद ऐसे वाहनों को कबाड़ कराने के लिए आगे आएं।

विदित हो कि दिल्ली सरकार ने अखबारों में विज्ञापन देकर पुरानी गाड़ियों को चलाने पर रोक लगाने की बात कही है। यह निर्देश दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग की ओर से जारी किया गया है। इस निर्देश में सुप्रीम कोर्ट और नेशनल ग्रीन ट्रायब्यूनल के आदेश का हवाला दिया गया है। आदेश के मुताबिक 10 साल पुरानी डीजल गाड़ियां और 15 साल पुरानी पेट्रोल गाड़ियों को दिल्ली की सड़कों पर नहीं चलने देना है।

पिछले आदेशों का हवाला- आदेश में नेशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल की ओर से 07 अप्रैल 2015 को जारी आदेश के बारे में बताया गया है। इसी संदर्भ में 29 अक्टूबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट की ओर से जारी एक आदेश का भी जिक्र किया गया है, जो एमसी मेहता बनाम भारत सरकार एवं अन्य से संबंधित है। इन दोनों आदेशों को देखते हुए 10 साल पुरानी डीजल गाड़ियों और 15 साल पुरानी पेट्रोल गाड़ियों को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में चलाने पर अब रोक होगी।

पॉलिसी के तहत निजी गाड़ी 20 साल बाद और कमर्शियल गाड़ी को 15 साल बाद ऑटोमेटेड फिटनेस टेस्ट कराना होगा। इस टेस्ट को पास न करने वाले वाहनों को चलाने पर भारी जुर्माना लगाया जाएगा। साथ ही ऐसे वाहनों को जब्त किया जाएगा, जो गाड़ियां फिटनेस टेस्ट पास करेंगी, उन गाड़ियों को चलाने की अनुमति दी जाएगी। अनफिट गाड़ियों को स्क्रेपेज पॉलिसी के तहत कबाड़ में भेज दिया जाएगा। पूर्व में दिल्ली परिवहन विभाग ऐलान कर चुका है कि 10 साल से ज्यादा पुराने डीजल वाहनों या 15 साल से अधिक पुराने पेट्रोल वाहनों का इस्तेमाल करने वाले लोगों पर 10,000 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा।

स्क्रेपर की लिस्ट- परिवहन विभाग ने ऑथराइज्ड स्क्रेपर की लिस्ट बनाई है, जहां गाड़ियों को स्क्रेप कराया जा सकता है। दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग ने स्क्रेपर की लिस्ट www.http://transport.delhi.gov.in पर जारी की है, जहां डिटेल सूची देखा जा सकता है। जो वाहन मालिक इस आदेश का पालन नहीं करेंगे, उनकी गाड़ियों को जब्द किया जाएगा और मोटर व्हीकल एक्ट, 1988 के तहत दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

क्या हैं नियम?- फिटनेस टेस्ट में जो गाड़ी पास हो जाएगी, उसके लिए दुबारा रजिस्ट्रेशन कराना होगा। लेकिन री-रजिस्ट्रेशन की फीस अभी के मुकाबले 10 गुना तक ज्यादा देनी होगी। अगर गाड़ी फिटनेस टेस्ट में पास नहीं होती तो उसे स्क्रेप कराना होगा। एक आंकड़े के मुताबिक देश भर में लगभग 1 करोड़ गाड़ियां ऐसी हैं जो अनफिट हैं और उनका रजिस्ट्रेशन खत्म हो चुका है। इन 1 करोड़ गाड़ियों को सड़क से हटाया जाए तो 15-20 परसेंट तक प्रदूषण में कमी आएगी।

मंत्रालय की गाइडलाइंस लागू होंगी या फिर कोर्ट के पुराने आदेश!

सूत्रों का कहना है कि दिल्ली को लेकर स्थिति बड़ी अजीब है और लोगों में यही कन्फ्यूजन है कि मंत्रालय की गाइडलाइंस लागू होंगी या फिर कोर्ट के पुराने आदेश लागू रहेंगे। वहीं परिवहन मंत्री ने विभाग को आदेश दिया है कि इस मसले पर आम लोगों के सवालों को ध्यान में रखते हुए ऐप्लीकेशन फाइल करने का फैसला किया जाए। उसके बाद कोर्ट और एनजीटी, केंद्रीय गाइडलाइंस के हिसाब से अपने आदेशों को रिव्यू करने के बारे में फैसला ले सकते हैं। परिवहन विभाग के पास लोगों के लगातार सवाल आ रहे हैं कि क्या केंद्रीय गाइडलाइंस दिल्ली में भी लागू होंगी।

पुराने वाहनों को लेकर केंद्र सरकार की पॉलिसी

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के पुरानी गाड़ियों को लेकर तैयार किए गए प्रस्ताव के मुताबिक, 1 अप्रैल 2022 से 15 साल पुराने सरकारी वाहनों का रजिस्ट्रेशन रिन्यू नहीं होगा। इस प्रस्ताव पर ड्राफ्ट नोटिफिकेशन जारी कर सभी हितधारकों के सुझाव मांगे गए थे। मालूम हो कि सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 के केंद्रीय बजट में वॉलेंट्री व्हीकल स्क्रैपिंग पॉलिसी लाने की घोषणा की है। इस पॉलिसी के तहत पर्सनल की 20 साल बाद और कमर्शियल व्हीकल्स को 15 साल बाद ऑटोमेटिड फिटनेस टेस्ट कराना होगा। इस टेस्ट को पास ना करने वाले वाहनों को चलाने पर भारी जुर्माना लगाया जाएगा। साथ ही ऐसे वाहनों को जब्त किया जाएगा।

Cafe D, शॉपर्स प्राइड मॉल, बिजनौर

पायलट के समान तय होंगे ट्रक चालकों के घंटे!

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने वाणिज्यिक वाहनों के ट्रक चालकों के लिए वाहन चलाने के घंटे तय करने पर जोर दिया। यूरोपीय मानकों के अनुरूप नीति बनाने का आह्वान।

नई दिल्ली (PIB)। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने थकान की वजह से होने वाली सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए पायलटों के समान वाणिज्यिक वाहनों के ट्रक चालकों के लिए वाहन चलाने (ड्राइविंग) के घंटे तय करने पर जोर दिया है।

गैर-सरकारी सह-चयनित व्यक्तिगत सदस्यों के साथ राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा परिषद (एनआरएससी) की बैठक में उन्होंने अधिकारियों को यूरोपीय मानकों के अनुरूप वाणिज्यिक वाहनों में ऑन-बोर्ड स्लीप डिटेक्शन सेंसर लगाने की नीति पर काम करने का निर्देश दिया। मंत्री ने परिषद को हर दो महीने में बैठक करने और अपने अपडेट साझा करने का निर्देश दिया। श्री गडकरी ने कहा कि वह जिला सड़क समिति की बैठकें नियमित रूप से सुनिश्चित करने के लिए मुख्यमंत्रियों और जिलाधिकारियों को पत्र भी लिखेंगे।

मंत्रालय द्वारा 28.07.2021 को नए एनआरएससी का गठन किया गया था। बैठक में सभी 13 गैर-सरकारी सह-चयनित व्यक्तिगत सदस्यों ने भाग लिया। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह और मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने बैठक में हिस्सा लिया। बैठक के दौरान सदस्यों ने सड़क सुरक्षा में सुधार के लिए कई महत्वपूर्ण सुझाव दिए।

मंत्री ने सभी सदस्यों को सड़क सुरक्षा के विविध क्षेत्रों में काम करने की सलाह दी ताकि सड़कों पर लोगों की सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित की जा सके और सदस्यों से एक दूसरे के साथ अपने अनुभव साझा करने का भी अनुरोध किया। उन्होंने मंत्रालय के अधिकारियों को एनआरएससी सदस्यों के साथ करीबी समन्वय में काम करने और उनके सुझावों को प्राथमिकता से लागू करने का भी निर्देश दिया। सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में प्राप्त उपलब्धियों को एक मासिक पत्रिका में पेश किया जाएगा।

Cafe D, शॉपर्स प्राइड मॉल, बिजनौर

कोटद्वार में नया ट्रैफिक प्लान लागू

कोटद्वार (SKG news)। गढ़वाल का द्वार कहे जाने वाले कोटद्वार में दिन प्रतिदिन यातायात को समस्याओं को देखते हुए अपर पुलिस अधीक्षक मनीषा जोशी के निर्देश पर कोटद्वार में नया ट्रैफिक प्लान लागू कर दिया गया है।

विगत दिनों से कोविड-19 की महामारी का प्रभाव कम होने, कोटद्वार शहर में बढ़ते यातायात के दबाव व जनमानस की यातायात सम्बन्धी समस्या को देखते हुए यातायात पुलिस कोटद्वार द्वारा नया यातायात प्लान जारी किया गया है। इस कारण यातायात को निम्न प्रकार से डायवर्ट किया जायेगा-

  • यदि कोई वाहन चालक झण्डा चौक से मस्जिद रोड पर जाना चाहता है तो…
  1. वाहन चालक पेन्सिल फैक्ट्री रोड से होकर जायेगा।
  2. वाहन चालक नजीबाबाद चौक से दाहिने तरफ यू टर्न लेकर मस्जिद रोड़ पर जायेगा।
  3. झण्डा चौक से पेन्सिल मार्ग के लिये वाहन केवल जा सकते हैं तथा आने के लिये पूर्णतः प्रतिबन्धित रहेगा। (ONE WAY)
  4. पटेल मार्ग से वाहन केवल आ सकते हैं तथा जाने के लिये पूर्णतः प्रतिबन्धित रहेगा। (ONE WAY)
  5. मस्जिद तिराहा से यदि कोई वाहन चालक नजीबाबाद चौक अथवा झण्डाचौक आना चाहता है तो सिनेमा तिराहे से पटेल मार्ग से होकर आयेगा। 
  6. मस्जिद तिराहा रोड़ से वाहन सिनेमा तिराहे की तरफ जा सकते हैं। आने के लिये पूर्णतः प्रतिबन्धित रहेगा। (ONE WAY)
  7. मस्जिद वाली रोड से आने वाला वाहन लेफ्ट टर्न करके झण्डाचौक को जा सकता है। बद्रीनाथ मार्ग से मस्जिद की तरफ जा नही सकेगा क्योंकि बीच में बैरियर लगाया गया है। उस स्थिति में नजीबाबाद चौक से यू टर्न लेकर जायेगा।

नगर क्षेत्र में न हो हैलमेट चेकिंग

रुड़की। प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल ने बाजारों में लगातार गश्त करने एवं शहरी क्षेत्र में हैलमेट की चेकिंग न करने की मांग की है। पदाधिकारियों ने सीओ और गंगनहर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक से मिलकर व्यपारियों की समस्याएं बताई।

प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल रुड़की के पदाधिकारियों ने नवनियुक्त पुलिस उपाधीक्षक विवेक कुमार और गंगनहर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक प्रवीण कोश्यारी से भेंट की। महानगर व्यापार मंडल अध्यक्ष अरविंद कश्यप एवं व्यापार मंडल के महामंत्री कमल चावला ने व्यापारियों की समस्याओं से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि शहर के व्यापारियों को अपने कारोबार के चलते शहर के भीतरी मार्गो से आना जाना पड़ता है। उन्हें हैलमेट लगाने को लेकर छूट दी जाए। यह भी कहा कि बाजारों में लगातार गश्त होते रहना चाहिए। इस दौरान प्रवीण मेहंदीरत्ता, महानगर कोषाध्यक्ष मोहित सोनी उपस्थित रहे। नवनियुक्त पुलिस उपाधीक्षक विवेक कुमार को फूलों का गुलदस्ता भेंट किया गया।

कांवड़ियों को रोकने के लिए उत्तराखंड पुलिस ने बनाई रणनीति

पुलिस लाइन रोशनाबाद के सभागार में एसएसपी ने कांवड मेला वर्ष 2021 स्थगित किये जाने के सम्बन्ध में पुलिस अधिकारियों के साथ की बैठक।

हरिद्वार (एकलव्य बाण समाचार)। कांवड मेला वर्ष 2021 स्थगित किये जाने के सम्बन्ध में एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने जनपद के पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

पुलिस लाइन्स रोशनाबाद हरिद्वार स्थित सभागार में एसएसपी हरिद्वार की अध्यक्षता में राज्य सरकार द्वारा कांवड मेला 2021 स्थगित किये जाने के आदेश निर्गत किए जाने के उपरान्त हरिद्वार पुलिस की बार्डर पर आने वाले कांवडियों को रोकने की रणनीति के सम्बन्ध में बैठक आयोजित की गयी।

हरिद्वार पुलिस के सभी अधिकारियों की मौजूदगी में एसएसपी ने सभी क्षेत्राधिकारी, कोतवाली प्रभारी एवं थानाध्यक्षों को निर्देश दिए कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण (तीसरी लहर) से आम जनता की जान की सुरक्षा के दृष्टिगत उत्तराखण्ड सरकार द्वारा कांवड मेला 2021 स्थगित करने का निर्णय लिया गया है। कांवड मेला में देश के कोने कोने से शिव भक्तों का हरिद्वार आवागमन रहता है।

सरकार के निर्णय के पालन हेतु प्रशासन से समन्वय स्थापित कर समस्त आवश्यक तैयारियां कर बार्डर पर पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल नियुक्त करेंगे तथा शासन द्वारा निर्गत आदेशों के अनुरुप कार्यवाही करना सुनिश्चित करेंगें।

साथ ही सोशल मीडिया के माध्यम से उक्त स्थगन आदेश के सम्बन्ध में व्यापक प्रचार प्रसार करें। एसपी क्राइम, एसपी ग्रामीण व एसपी सिटी को निर्देशित किया कि वह समय से उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती जनपदों से बार्डर मीटिंग आयोजित करते हुए सूचनाओं का आदान-प्रदान करें।

कोविड नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहनों को सीज करने की कार्यवाही के लिये पार्किंग स्थलों का समय से चयन करते हुए आवश्यक कार्यवाही कर उक्त स्थलों पर पहले से ही पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल नियुक्त किया जाए। साथ ही बार्डर प्वाइंट्स पर अनुभवी पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों को नियुक्त किया जाए।

एकलव्य बाण समाचार

हरिद्वार महाकुंभ के दौरान पुलिस का ट्रैफिक प्लान

01- स्नान पर्व पर पंजाब – हरियाणा – सहारनपुर की ओर से आने – जाने वाले वाहनों की पार्किंग व्यवस्था

आने का मार्ग- सहारनपुर -इमलीखेड़ा -धनोरी – पीपल तिराहा – सलेमपुर तिराहा – सिडकुल मार्ग – किर्बी चौक – चिन्मय कालेज -पीठ बाज़ार पार्किंग/धीरवाली पार्किंग

जाने का मार्ग – शिवालिक नगर – सलेमपुर तिराहा -बीएचईएल तिराहा- रुड़की बाईपास/रुड़की शहर

02- स्नान पर्व पर नजीबाबाद – कोटद्वार – नैनीताल की ओर से आने – जाने वाले वाहनों की पार्किंग व्यवस्था

आने का मार्ग – नजीबाबाद/कोटद्वार/नैनीताल – कांगडी – 4.2 कि0मी0 – गौरीशंकर / नीलधारा पार्किंग

जाने का मार्ग – गौरीशंकर / नीलधारा पार्किंग – हनुमान मंदिर रैंप – चंडी चौक – नजीबाबाद

03 – स्नान पर्व पर दिल्ली – मेरठ – मुजफ्फरनगर की ओर से आने – जाने वाले वाहनों की पार्किंग व्यवस्था

हल्के वाहनों के आने का मार्ग – दिल्ली- मेरठ- फलौदा -पुरकाजी -लक्सर- जगजीतपुर – शनिदेव मंदिर चौक – दक्ष पार्किंग/जगजीतपुर पार्किंग।
बड़े वाहनों के आने का मार्ग- दिल्ली -मेरठ मुजफ्फरनगर मंगलोर -नगला इमारती- लैंडोरा -लक्सर -जगजीतपुर- दक्ष पार्किंग/जगजीतपुर पार्किंग

जाने का मार्ग – दक्ष पार्किंग – सिंहद्वार – रा. राजमार्ग 334 – COER कॉलेज – रुड़की बाईपास/रुड़की शहर

04 – स्नान पर्व पर देहरादून – ऋषिकेश – गढवाल की ओर से आने – जाने वाले वाहनों की पार्किंग व्यवस्था

आने का मार्ग – नेपाली फार्म – हरिपुर कलां से छोटे वाहन दूधियाबंध पार्किंग/सप्त सरोवर पार्किंग/शन्तिकुञ् पार्किंग
रोडवेज बस – दूधाधारी चौक मेंगो होटल से यूटर्न मोतीचूर पार्किंग
प्राईवेट बस – दूधाधारी चौक – RTO चौक – दूधाधारी पार्किंग

जाने का मार्ग – दूधाधारी पार्किंग /सप्तऋषि पार्किंग/शान्तिकुञ् पार्किंग – मोतीचूर पार्किंग से पुरानी सप्तऋषि पुलिस चौकी से फ्लाईओवर के ऊपर से

05- भारी वाहन— बुधवार 08 अप्रैल शाम से 15 अप्रैल तक हरिद्वार क्षेत्र में भारी वाहनों के प्रवेश पर पूर्ण प्रतिबंध।

ट्रैफिक हेड कांस्टेबल ने खुद को गोली से उड़ाया

मुरादाबाद ट्रैफिक पुलिस में तैनात हेड कांस्टेबल सुनील ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या। रामपुर में थी तैनाती। बरेली ट्रांसफर होने से था डिप्रेशन।

लखनऊ। पश्चिम यूपी के जिला मुरादाबाद में यूपी पुलिस के हेड कांस्टेबल सुनील ने शनिवार की सुबह तमंचे से खुद को गोली मारकर आत्महमत्या कर ली। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस और फॉरेंसिक विभाग की टीम ने मौका-ए-वारदात से साक्ष्यों को कब्जे में लेकर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। सिपाही की मौत के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

जानकारी के अनुसार यूपी पुलिस में हेड कांस्टेबल सुनील कुमार मूल रूप से अमरोहा जिले का रहने वाला था। सुनील की तैनाती रामपुर जिले में ट्रैफिक पुलिस में थी। फिलहाल सुनील अपने परिवार के साथ मुरादाबाद के मझोला थाना क्षेत्र में खुशहालपुर इलाके में रहता था। परिवार में पत्नी शकुंतला और दो बेटे हैं। बताया जा रहा है कि शनिवार सुबह करीब 9:00 बजे सुनील कुमार ने अपनी पत्नी शकुंतला को बिस्किट लेने के लिए दुकान पर भेजा था।

उस समय दोनों बेटे घर के अंदर कमरे में सो रहे थे। इसी दौरान सुनील कुमार ने तमंचे से कनपटी पर सटाकर गोली मार ली। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। पत्नी जब बिस्कुट खरीद कर लौटी तो मकान के सामने वाले कमरे में सुनील खून से लथपथ चारपाई पर पड़े मिले। पति को इस हालत में देख शकुंतला बदहवास हो गई। वहीं, गोली चलने की आवाज सुनकर मौके पर लोगों की भीड़ लगा गई और घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। सूचना पर पुलिस और फॉरेंसिक विभाग की टीम मौके पर पहुंच गए।

फॉरेंसिक विभाग की टीम ने मौका-ए-वारदात का निरीक्षण कर साक्ष्यों को अपने कब्जे में ले लिया और शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। एसएसपी प्रभाकर चौधरी, एसपी सिटी अमित कुमार आनंद और एसपी ट्रैफिक अशोक कुमार भी घटनास्थल पर पहुंचे और निरीक्षण किया। परिवार वालों के अनुसार सुनील कुमार बीते कुछ समय से अवसाद में चल रहे थे। उनका इलाज भी एक मानसिक रोग चिकित्सक के यहां चल रहा था। अभी तक पुलिस मान कर चल रही है कि अवसाद के कारण ही सुनील कुमार ने गोली मारकर आत्महत्या की है।

मलिहाबाद पुलिस ने कसा अतिक्रमणकारियों पर शिकंजा

रहीमाबाद चौकी पुलिस

अतिक्रमणकारियों को हिदायत, वाहनों की चेकिंग, चालान

लखनऊ। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण लखनऊ हृदेश कुमार के निर्देशन व मलिहाबाद क्षेत्राधिकारी योगेंद्र कुमार के नेतृत्व में कोतवाली मलिहाबाद अंतर्गत कसमंडी व रहीमाबाद चौकी प्रभारी ने शांति व्यवस्था बनाए रखने हेतु मुख्य बाजार व चौराहों पर पैदल गश्त किया। चेकिंग के दौरान 3 वाहनों के चालान किये गये।

थाना चौकी क्षेत्र के चौराहों और मुख्य मार्ग पर अतिक्रमण करने वालों को सख्त चेतावनी दी गई। भविष्य में यदि मुख्य मार्ग पर अतिक्रमण पाया गया तो दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

वाहन चेकिंग करते कसमंडी चौकी पुलिस

कसमंडी चौकी प्रभारी द्वारिका प्रसाद प्रजापति ने पुलिस बल के साथ अतिक्रमणकारियों को नियमों व दिशा निर्देश से अवगत कराते हुए जागरूक किया। उन्होंने हिदायत दी कि अगर अतिक्रमण का कोई मामला प्रकाश में आया तो संबंधित को कतई बख्शा नहीं जाएगा। उस पर मुकदमा पंजीकृत किया जाएगा। इस दौरान वाहन चेकिंग अभियान भी चलाया गया।

दूसरी ओर रहीमाबाद चौकी प्रभारी रविंद्र कुमार ने मुख्य चौराहे पर बेवजह जाम लगाने वाले शरारती तत्वों को चिन्हित करते हुए वाहनों की सघन चेकिंग की। उन्होंने शरारती तत्वों को भविष्य में भीड़ ने लगाने की सख्त चेतावनी देते हुए फटकार लगाई।

कोहरा: ट्रक व बाइक की भिड़ंत में बड़े भाई की मौत छोटा घायल

जलीलपुर मार्ग स्थित माहू गेट के सामने घने कोहरे के चलते ट्रक व बाइक की हुई भिड़ंत। दिल्ली से आए बड़े भाई की मौत, लेने पहुंच छोटा भाई घायल।

बिजनौर/चान्दपुर। जलीलपुर मार्ग स्थित माहू गेट के सामने घने कोहरे के चलते रात में हुई ट्रक व बाइक की टक्कर में बाइक सवार बड़े भाई की मौत हो गई जबकि छोटा गंभीर रूप से घायल हो गया। युवक की मौत की खबर से परिजनों में कोहराम मच गया।
हीमपुर दीपा थाना क्षेत्र के ग्राम माहू निवासी मुस्तकीम का पुत्र आसिफ दिल्ली में काम करता था। बुधवार को वह दिल्ली से अपने घर वापस लौट रहा था। रात्रि में चांदपुर पहुंचने के कारण कोई सवारी न मिलने पर उसने अपने भाई को फोन कर चांदपुर बुलाया। छोटा भाई आरिफ रात में ही बाइक से आसिफ को लेने चांदपुर से लेने पहुंच गया। रात्रि लगभग ढ़ाई बजे दोनों भाई बाइक पर सवार होकर गांव जाने के लिए निकले। जलीलपुर मार्ग स्थित माहू गेट के सामने दूसरी ओर से आ रहा गन्ने से लदा ट्रक घने कोहरे के चलते दिखाई नहीं दिया। इस कारण दोनों वाहनों की जोरदार भिड़ंत होने से बाइक सवार दोनों युवक सड़क पर गिर गए। चालक ट्रक को छोड़कर मोके से फरार हो गया। छोटे भाई आरिफ ने फोन से घटना की जानकारी परिजनों को दी। रात में ही दोनों को इलाज के लिए सीएचसी स्याऊ ले जाया गया, जहां पर चिकित्सक ने आसिफ को मृत घोषित कर दिया। गंभीर रूप से घायल आरिफ को इलाज के लिए जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। आसिफ की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बिजनौर भेज दिया। मृतक के पिता की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात ट्रक चालक के खिलाफ घटना की रिपोर्ट दर्ज कर ली है। पुलिस ने मौके पर खड़े ट्रक को कब्जे में ले लिया है।

अज्ञात वाहन की टक्कर से युवक की मौत, साथी घायल

बिजनौर। बेनीपुर-हरेवली मार्ग पर अज्ञात वाहन की टक्कर से बढ़ापुर के गांव कुंजैटा निवासी एक 22 वर्षीय युवक की मौत हो गई। घटना में उसका साथी युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया और घायल को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। घटना की सूचना पर परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

जानकारी के अनुसार बढ़ापुर के गांव कुंजैटा निवासी ललित कुमार (22 वर्ष) अपने मित्र के साथ बाइक संख्या UP20 BQ 1593 से कहीं जा रहा था। बेनीपुर-हरेवली मार्ग पर किसी अज्ञात वाहन की चपेट में आकर ललित की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उसका साथी गंभीर रूप से घायल हो गया। राहगीरों की सूचना पर थाना प्रभारी निरीक्षक आशुतोष कुमार सिंह पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे और शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। वहीं घायल को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया। दोनों के परिजनों को घटना की सूचना दी गई। सुनते ही परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर पड़ताल शुरू कर दी है।

8 साल से अधिक पुराने वाहनों पर वसूला जाएगा green tax

पर्यावरण को प्रदूषित करने वाले पुराने वाहनों पर “ग्रीन टैक्स” लगाने के प्रस्ताव को मंजूरी

नई दिल्ली। सरकार 8 साल से अधिक पुराने वाहनों पर green tax वसूलने की तैयारी कर रही है। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने पर्यावरण को प्रदूषित करने वाले पुराने वाहनों पर “ग्रीन टैक्स” लगाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। अब प्रस्ताव राज्यों के पास परामर्श के लिए जाएगा। नई “ग्रीन टैक्स” नीति से पुराने वाहनों को चलन से बाहर करने से प्रदूषण में कमी आएगी।

प्रस्ताव के मुताबिक परिवहन से जुड़े आठ वर्षो से अधिक पुराने वाहनों के फिटनेस सर्टिफिकेट के नवीनीकरण के दौरान ग्रीन टैक्स देना होगा। वहीं, 15 वर्ष पुराने निजी वाहनों के पंजीयन सर्टिफिकेट के रिन्युअल पर भी ग्रीन टैक्स लगेगा। हालांकि सिटी बस जैसे सार्वजनिक वाहनों पर कम ग्रीन टैक्स देना होगा। बहुत अधिक प्रदूषित शहर में गाडि़यों की संख्या को कम करने के लिए वहां वाहनों के पंजीयन पर रोड टैक्स के 50 फीसद तक ग्रीन टैक्स देना पड़ सकता है। कृषि कार्य में इस्तेमाल होने वाले ट्रैक्टर व अन्य वाहनों को ग्रीन टैक्स से छूट रहेगी।

Green Tax लगने पर कितना देना होगा चार्ज ? 8 साल से पुराने परिवहन वाहनों का फिटनेस सर्टिफिकेट रिन्यू करते समय रोड टैक्स के 10 से 25 फीसदी तक ग्रीन टैक्स लगाया जा सकता है। निजी वाहनों पर 15 साल के बाद रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट रिन्यू करते समय ग्रीन टैक्स लगाया जाएगा। सार्वजनिक परिवहन के वाहनों जैसे सिटी बसों पर कम ग्रीन टैक्स लगेगा। सरकार ने अत्यधिक प्रदूषित शहरों में पंजीकृत वाहनों के लिए अधिक टैक्स (रोड टैक्स का 50%) प्रस्तावित किया है। ग्रीन टैक्स से प्राप्त राजस्व को एक अलग खाते में रखा जाएगा और प्रदूषण से निपटने के लिए उपयोग किया जाएगा, राज्यों के लिए उत्सर्जन निगरानी के लिए राज्य-कला सुविधाएं स्थापित करने का प्रावधान है।

उत्तर भारत में फिलहाल ठंड से राहत नहीं

नई दिल्ली। उत्तर भारत के अधिकतर राज्यों में ठंड से फिलहाल राहत मिलने के आसार नहीं हैं। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार नए पश्चिमी विक्षोभ की वजह से मौसम बदल रहा है। दिल्ली-एनसीआर में सुबह के समय कोहरे की धुंध है। पंजाब-हरियाणा, राजस्थान, बिहार, ओडिशा, बंगाल, मध्यप्रदेश में घना कोहरा छाया हुआ है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पंजाब, राजस्थान सहित भारत के कुछ राज्यों में अगले दो-तीन दिनों में शीतलहर की वजह से ठंड बढ़ने का अनुमान है। यहां घना कोहरा रहने की भी संभावना है। राजधानी दिल्ली में शीतलहर से मामूली राहत मिल सकती है लेकिन सुबह के समय कोहरा छाया रह सकता है।

राजमार्ग-3 ब्लॉक होने से बढ़ेंगी मुश्किलें- हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति में भारी बर्फबारी देखी गई। इस कारण लाहौल-स्पीति जिले के सिस्सू में राष्ट्रीय राजमार्ग-3 ब्लॉक हो गया है। इससे पहले शनिवार को क्षेत्र में शीत लहर का कहर देखने को मिला था। मौसम विभाग ने रविवार को भारी बर्फबारी होने की चेतावनी दी थी। बर्फबारी और रास्ते ब्लॉक होने से लोगों की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ सकती हैं।

दिल्ली में फिर सर्दी बढ़ने के आसार- दिल्ली में आज सुबह न्यूनतम तापमान 9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। कुछ जगहों पर सुबह के समय विजिबिलिटी 100 मीटर दर्ज की गई। दिल्ली में पश्चिम व उत्तर-पश्चिम से चलने वाली हवाओं के कारण ठिठुरन बढ़ने और तापमान के चार डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने का अनुमान है। विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा कि अगले चार से पांच दिन तक पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तरी राजस्थान, असम, मेघालय, मणिपुर और त्रिपुरा में घना कोहरा छाया रहेगा। अगले दो-तीन दिनों में बिहार, उत्तरी मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल, सिक्किम और ओडिशा में घना कोहरा छाए रहने का भी अनुमान है।

नैनीताल के एसपी ट्रैफिक राजीव मोहन का कोरोना से निधन

हल्द्वानी। मैक्स अस्पताल दिल्ली में एसपी ट्रैफिक राजीव मोहन का मंगलवार की शाम निधन हो गया। 29 दिसंबर को नैनीताल में ड्यूटी के दौरान बुखार आने पर उन्होंने अगले दिन कोरोना का टेस्ट कराया। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उन्हें एसटीएच में भर्ती कराया गया था। दो दिन भर्ती रहने के बावजूद हालत में सुधार नहीं होने पर उन्हें चार जनवरी को दिल्ली के मैक्स अस्पताल लाया गया। वहां उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। मंगलवार की शाम उन्होंने अंतिम सांस ली। पूर्व एसएसपी सुनील कुमार मीणा कोरोना पॉजिटिव होने के कारण अस्पताल में भर्ती थे। उनके डिस्चार्ज होते ही राजीव को भी कोरोना हो गया।

उधर एसपी की हालत गंभीर होने की जानकारी मिलने पर उनकी पत्नी इंदू नैनवाल और मां नंदी देवी की हालत खराब हो गई। ईसाईनगर प्रथम के वीरान जंगल में लामाचौड़ स्थित आवास पर शाम के समय दोनों को संभालने के लिए महिला उपनिरीक्षक मंजू ज्याला, उपनिरीक्षक सुमन लखचौरा को तैनात किया गया। एसपी राजीव मोहन के पिता सुरेंद्र कुमार उनकी पार्थिव देह को लेने के लिए दिल्ली गए हुए थे। मुखानी पुलिस की टीम एसपी के आवास पर देर रात तक मौजूद रही। एसपी (ट्रैफिक) राजीव मोहन का पहली पत्नी से तलाक हो गया था। पहली पत्नी से दो बच्चे हैं। दूसरी शादी डेढ़ साल पहले इंदू नैनवाल से हुई थी।

अल्मोड़ा जिले में ग्राम पंचायत जेठुआ (मासी) के पुराना डांग निवासी राजीव मोहन (40 वर्ष) पुत्र सुरेंद्र सिंह 2009 बैच के पीपीएस अधिकारी थे। दो जनवरी 2019 को अपर पुलिस अधीक्षक के पद पर उनकी प्रोन्नति हुई थी। इसके पहले सीओ पद पर पिथौरागढ़ में 2009 से 2013, ऊधमसिंह नगर में नवंबर 2013 से मार्च 2017 तक तैनात थे। सहायक सेनानायक आईआरबी प्रथम में मार्च 2017 से जून 17 तक तैनात रहे। नैनीताल जिले में जून 2017 से एक जनवरी 2019 तक रहे। एसएसपी ने उन्हें कोरोना महामारी का नोडल आफिसर भी नियुक्त किया था। वह पिछले छह माह से तबादले के लिए प्रयासरत थे।

आमने सामने की टक्कर में दो बाइक सवार घायल

बिजनौर (चांदपुर): ब्लाक जलीलपुर के पास दो बाइक आपस में टकरा गईं। हादसे में दोनों बाइक सवार मामूली रूप से घायल हो गए। जानकारी के अनुसार फहीम पुत्र रईसुद्दीन अपनी बाइक से किसी कार्य हेतु ब्लॉक जा रहा था। इस बीच ग्राम रवाना निवासी अशोक अपनी बुलेट बाइक से वहां से गुजरा।  प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार अचानक दोनों वाहनों में आमने सामने की टक्कर हो गई। सड़क पर गिरने से दोनों मामूली रूप से घायल हो गए। मौके पर राहगीरों की भीड़ एकत्र हो गई। दोनों ही पक्ष एक-दूसरे पर दोषारोपण करते हुए झगड़ने लगे। बात बढ़कर पुलिस तक पहुंचती, इससे पहले मौके पर पहुचे रवाना के ग्राम प्रधान रूपक कुमार ने दोनों में समझौता करा दिया।

UP में ‘Saxena Ji’ के नाम कटा पहला चालान

गाड़ी पर जाति लिखवाई तो होगी कार्रवाई

UP में ‘Saxena Ji’ के नाम कटा पहला चालान

लखनऊ (धारा न्यूज): उत्तर प्रदेश में गाड़ियों पर जातिसूचक शब्द लिखवाने पर कड़ी कार्रवाई शुरू हो गई है। किसी भी गाड़ी पर जातिसूचक शब्दों का प्रयोग नहीं करने के नए आदेश के अनुपालन में प्रदेश का पहला चालान राजधानी में कानपुर के “सक्सेना जी” की गाड़ी का काटा गया है। पीएएमओ के निर्देश के बाद यूपी सरकार ने गाड़ियों पर जाति या धर्मसूचक स्टिकर लगाने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

बताया गया है कि उत्तर प्रदेश में कार, बाइक, ट्रक, ट्रेक्टरऔर ई-रिक्शा पर जाति सूचक शब्द लिखे होने का मामला उठाते हुए महाराष्ट्र के एक शिक्षक ने प्रधानमंत्री कार्यालय में शिकायत की थी। उन्होंने इसे सामाजिक खतरा बताया !शिकायत का संज्ञान लेते हुए पी.एम.ओ. ने उत्तर प्रदेश सरकार को कार्यवाही करने के आदेश दिए ! आदेश का संज्ञान लेते हुए उत्तर प्रदेश के अपर परिवहन आयुक्त ने धारा 177 के तहत कार्यवाही करने के आदेश दिए ! प्रभारी निरीक्षक सुजीत दुबे के मुताबिक थाना नाका हिन्डोला अंतर्गत दुर्गापुरी मेट्रो स्टेशन चेक पोस्ट पर वाहनों की चेकिंग कर रहे सब इंस्पेक्टर दीपक कुमार अशोक ने कार पर लिखे ‘जाति सूचक’ शब्द पर पहला चालान किया।

पुलिस आयुक्त का कहना-
पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर के अनुसार एक वैन नाका थाना क्षेत्र से होकर कानपुर की ओर जा थी। इस पर नंबर कानपुर का दर्ज होने के साथ ही पीछे शीशे पर “सक्सेना जी” लिखा था। इस दौरान एसआई दीपक कुमार ने वाहन चेकिंग अभियान के तहत गाड़ी को रोका और चालान कर दिया।

वीडियो भी हुआ वायरल-
लखनऊ में वाहनों पर जातिसूचक शब्द लिखे जाने पर कार्रवाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। इस वीडियो में एक पुलिस कर्मी पहले नए आदेश को गाड़ी चालक को समझता है जिसकी गाड़ी पर ‘सक्सेना जी’ लिखा होता है, फिर कहता है कि वह उसकी गाड़ी का चालान कर रहा है। इसके बाद पुलिसकर्मी 500 रुपये का चालान काट देता है।

——–

DL, RC, परमिट जैसे व्हीकल डॉक्युमेंट अभी रहेंगे वैध

एक बार फिर बढ़ी DL, RC, परमिट जैसे व्हीकल डॉक्युमेंट की वैधता

नई दिल्ली (धारा न्यूज): ड्राइविंग लाइसेंस (DL), रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC), परमिट, वाहन फिटनेस सर्टिफिकेट आदि अभी valid बने रहेंगे। परिवहन मंत्रालय ने इनकी वैधता अवधि को 31 मार्च 2021 तक बढ़ा दिया है। मतलब जिन डॉक्यूमेंट्स की वैधता खत्म हो गई है, वे अब वैध रहेंगे।

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने 30 मार्च और 9 जून को आदेश जारी कर मोटर व्हीकल डॉक्युमेंट्स की वैधता अवधि बढ़ाई थी। 9 जून को जारी आदेश में इसे बढ़ाकर 30 सितंबर 2020 कर दिया गया था और उसके बाद 24 अगस्त 2020 में जारी आदेश में अवधि 31 दिसंबर 2020 तक बढ़ाई गई। कहा गया था कि वाहनों के फिटनेस सर्टिफिकेट, सभी प्रकार के परमिट, लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन या कोई भी अन्य व्हीकुलर डॉक्युमेंट 31 दिसंबर 2020 तक मान्य माना जाए।

राज्यों व केन्द्र शासित प्रशासनों को एडवायजरी जारी

मंत्रालय ने राज्यों व केन्द्र शासित प्रशासनों को इस बारे में निर्देश जारी कर दिया है। एडवायजरी में कहा गया है कि कोविड-19 के फैलाव को रोकने की जरूरत को ध्यान में रखते हुए यह निर्देश दिया जाता है कि “मोटर व्हीकल्स एक्ट 1988 और सेंट्रल मोटर व्हीकल रूल्स 1989 से संबंधित डॉक्युमेंट्स को 31 मार्च 2021 तक मान्य माना जाए। इसमें वे सभी डॉक्युमेंट कवर होंगे, जिनकी वैधता 1 फरवरी 2020 के बाद समाप्त हो चुकी है या 31 मार्च 2021 तक समाप्त होने वाली है।” देशभर में कोरोना के प्रसार की रोकथाम के लिए आवश्यक शर्तों के कारण और अभी तक मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए यह फैसला किया गया है।
——-

सभी वाहनों के लिए Fastag 01 जनवरी, 2021 से अनिवार्य

सभी वाहनों के लिए फास्टैग 01 जनवरी, 2021 से अनिवार्य
नई दिल्ली। नए साल से देश में सभी वाहनों के लिए फास्टैग को अनिवार्य किया जा रहा है। आभासी रूप से आयोजित एक समारोह को संबोधित करते हुए यह घोषणा केन्द्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग एवं एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी ने की। उन्होंने कहा कि फास्टैग को 1 जनवरी, 2021 से लागू किया जाएगा। इस कदम से मिलने वाले लाभों की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि यह यात्रियों के लिए उपयोगी है क्योंकि उन्हें नकद भुगतान के लिए टोल प्लाजा पर रुकने की जरुरत नहीं होगी। इससे समय और ईंधन की भी बचत होगी।

2016 में की गयी थी फास्टैग की शुरुआत-
फास्टैग की शुरुआत 2016 में की गयी थी, और चार बैंकों ने मिलकर लगभग एक लाख फास्टैग जारी किए। 2017 के अंत तक, इन फास्टैग की संख्या बढ़कर सात लाख हो गई। 2018 में 34 लाख से अधिक फास्टैग जारी किए गए थे।

केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने इस साल नवंबर में एक अधिसूचना जारी कर पुराने वाहनों में, सीएमवीआर, 1989 में संशोधनों के जरिए 1 दिसम्बर, 2017 से पहले बेचे गये वाहनों में भी, 1 जनवरी, 2021 से फास्टैग को अनिवार्य बनाया था।

केंद्रीय मोटर वाहन नियम, 1989 के अनुसार, 1 दिसंबर 2017 से, नए चार पहिया वाहनों के पंजीकरण के लिए फास्टैग को अनिवार्य कर दिया गया था और इसकी आपूर्ति वाहन निर्माताओं या उनके डीलरों द्वारा की जा रही है। इसके अलावा, यह भी अनिवार्य किया गया था कि फास्टैग के लिए फिट होने के बाद ही परिवहन वाहनों के फिटनेस प्रमाणपत्र का नवीनीकरण किया जाएगा। राष्ट्रीय परमिट वाले वाहनों के लिए 1 अक्टूबर 2019 से फास्टैग मानकों पर फिट होना अनिवार्य किया गया था।

यह भी अनिवार्य किया गया है कि फॉर्म 51 (बीमा का प्रमाण पत्र) में संशोधन के जरिए नया तीसरा पक्ष (थर्ड पार्टी) बीमा, जिसमें फास्टैग आईडी का विवरण दर्ज किया जाएगा, प्राप्त करते समय एक वैध फास्टैग अनिवार्य होगा। यह प्रावधान 1 अप्रैल 2021 से लागू होगा।

समय, ईंधन दोनों की बचत-
टोल प्लाज़ा पर केवल इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से शुल्क का भुगतान 100 प्रतिशत होना और वाहनों का शुल्क प्लाज़ा के माध्यम से निर्बाध रूप से गुजरना सुनिश्चित करने की दिशा में यह एक बड़ा कदम होगा। प्लाज़ा में प्रतीक्षा करते हुए कोई समय जाया नहीं करना होगा और इससे ईंधन की बचत होगी।

विविध चैनलों पर फास्टैग की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए भौतिक ठिकानों और ऑनलाइन तंत्र के माध्यम से भी कदम उठाए जा रहे हैं ताकि नागरिक अपनी सुविधा के अनुसार उन्हें अपने वाहनों पर चिपका सकें।

***