साढ़े चार हजार बकायेदारों की संपत्ति होगी कुर्क

पुलिस का साथ मिलने से सहकारिता विभाग की बढ़ी ताकत

हासिल करना है बकाया ऋणों की वसूली कर पूर्व वर्षों की भाँति शीर्ष स्थान

बिजनौर। सहकारिता विभाग द्वारा सहकारी समितियों से ऋण लेकर समय से जमा न करने वाले साढे चार हजार बकायेदारों के खिलाफ गिरफ्तारी / सम्पति कुर्क करने की व्यापक कार्यवाही शुरू कर दी गई है।

इसी क्रम में गुरुवार को पुलिस विभाग से 10 सशस्त्र पुलिस बल को बकाया वसूली हेतु सहकारिता विभाग जनपद-बिजनौर से सम्बद्ध किया गया है। सहायक आयुक्त एवं सहायक निबन्धक, सहकारिता जनपद बिजनौर द्वारा जनपद की प्रत्येक तहसील में दो-दो पुलिस बल को सम्बन्धित तहसील के वसूली अधिकारियों के साथ सम्बद्ध किया गया है, जिससे वांरन्ट प्राप्त कर बकायेदारों के खिलाफ त्वरित कार्यवाही की जा सके। सहायक आयुक्त एवं सहायक निबन्धक, सहकारिता, बिजनौर, डा० प्रदीप कुमार द्वारा सम्बन्धित तहसील के वसूली अधिकारियों एवं पुलिस विभाग द्वारा उपलब्ध कराये गए सशस्त्र बल के साथ बकाया से वसूली की रणनीति तैयार करते हुए समन्वय बैठक की गई। बैठक में बैंक मुख्य कार्यपालक अधिकारी तथा सहकारिता विभाग के सभी तहसील प्रभारी अपर जिला सहकारी अधिकारी उपस्थित रहे। सहकारिता विभाग को बकाया वसूली के लिये पुलिस अधीक्षक बिजनौर के सहयोग से सशस्त्र पुलिस बल मिल जाने से बकाया वसूली में और अधिक तेजी आयेगी। सहकारिता विभाग द्वारा पूर्व से ही बकाया वसूली के लिये साईटेशन वारन्ट प्राप्त कर बकायेदारों की गिरफ्तारी / कुर्की की कार्यवाही जोर शोर से की जा रही है। जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा सहकारिता विभाग की मांग पर सशस्त्र पुलिस बल उपलब्ध कराने से समिति की बकाया ऋण की वसूली में तेजी आयेगी। सहकारिता विभाग द्वारा अवगत कराया गया है कि दैनिक आधार पर सक्षम अधिकारियों से समिति से लिये गये ऋण के बकायेदारों के विरूद्ध वारन्ट प्राप्त किये जा रहे हैं और बकायेदारों की सम्पति कुर्क करने की तैयारी की जा रही है। सहायक आयुक्त एवं सहायक निबन्धक, सहकारिता, बिजनौर द्वारा यह भी बताया गया कि जिला सहकारी बैंक लि०, बिजनौर उ०प्र० शासन द्वारा दिये गये पुलिस बल की सहायता से बकाया ऋणों की वसूली कर पूर्व वर्षों की भाँति उ०प्र० के जिला सहकारी बैंकों में शीर्ष स्थान प्राप्त करेगें।

राशनकार्ड मामले में कांग्रेस ने गवर्नर को भेजा ज्ञापन

बिजनौर। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर जिला/शहर कांग्रेस कमेटी बिजनौर द्वारा प्रदेश की राज्यपाल महोदया को सम्बोधित ज्ञापन जिलाधिकारी बिजनौर को दिया गया।
कांग्रेस जनों ने मांग पत्र में कहा कि प्रदेश के विभिन जनपदों में जिलाधिकारी/जिला पूर्ति अधिकारी राशन कार्ड वापस करने एवं गरीबों   को दिये राशन की रिकवरी को लेकर लगातार आदेश जारी कर रहे है, जिसके चलते प्रदेश की आम जनता में रोष व्याप्त है एवं आम जनता भृमित है, जबकि उनका यह आदेश खाद्य सुरक्षा कानून के खिलाफ है। अच्छे दिनों का वादा एवं गरीबों की भलाई का दावा करने वाली योगी सरकार लगातार गरीबों का  उपहास एवं अपमान कर उन्हें प्रताड़ित कर रही है।
जिला/शहर कांग्रेस कमेटी बिजनौर ने मांग करते हुए कहा कि जनहित में राशन कार्ड वापस करने के आदेश को निरस्त करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार एवं समस्त जिलाधिकारीयों, समस्त जिला पूर्ति अधिकारियों को आदेश दिये जायें। साथ ही जिनके राशनकार्ड तहसीलों में जमा किये गए हैं, उन्हें वापस कार्ड धारकों को दिए जाएं।
कांग्रेस जनों ने दूसरा ज्ञापन अपर जिला अधिकारी बिजनौर को दिया। इसमें नगर पालिकाओं की मतदाता सूची के पुनः निरीक्षण में मकान संख्या नगरपालिका के मकान क्रम संख्या के हिसाब से ही किये जाने और वार्डो के परिसीमन में भी उपरोक्त को ही ध्यान में रखे जाने की मांग की गई।
इस अवसर पर सर्व श्री शेरबाज पठान, मुनीश त्यागी, जिला महासचिव नज़ाकत अल्वी, बिजनौर शहर अध्यक्ष मीनू गोयल, हाजी नसीम अंसारी, हुक्म सिंह, बाला सैनी, डा०ओमप्रकाश सिंह, सुरेश सैनी, इकबाल अहमद, हर्षवर्धन सिंह राणा, पूनम, पदम् सिंह, कविता देवी, काज़ी आतिफ, असलम अंसारी, मो०राशिद, अदनान शेख, पदम् सिंह, वसीम अहमद, शाकिर बाबा, शमशाद अली, जियाउल हक, अनीस पहलवान, मो०इरशाद, शानू खान आदि कांग्रेस जन मौजूद रहे।

जलालाबाद चौकी के सिपाही की हार्टफेल से मौत

हार्टफेल से जलालाबाद चौकी के सिपाही की मौत

बिजनौर। सुबह के समय के दौड़ते दौड़ते अचानक रास्ते पर गिरने से जलालाबाद पुलिस चौकी के सिपाही की मौत हो गई। चौकी इंचार्ज द्वारा तत्काल पूजा अस्पताल नजीबाबाद में सिपाही को भर्ती कराया गया। जहां चिकित्सकों ने सिपाही को मृत घोषित कर दिया। सिपाही खुर्शीद की मौत का कारण हार्ट अटैक बताया जा रहा है। सिपाही खुर्शीद अहमद (37 वर्ष) पुत्र कल्लू खां संभल जिले के थाना असमौली अंतर्गत गांव मथना का रहने वाला था। मृतक सिपाही के शव का पंचनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। सिपाही की मौत से पुलिस विभाग में छाया शोक का माहौल व्याप्त हो गया। मृतक सिपाही खुर्शीद जनपद बिजनौर के नजीबाबाद थाने की जलालाबाद चौकी पर तैनात था।

गोवंश को भूसा उपलब्ध कराने के लिए डीएम को सौंपा रुपए 11 हजार का चैक

गोवंश को भूसा उपलब्ध कराने के लिए डीएम को सौपा रुपए 11 हजार का चैक

जिलाधिकारी ने जिला मुख्यालय व प्रत्येक तहसील स्तर पर एक-एक हजार कुन्तल क्षमता के भूसा बैंक बनाने के दिये।

जिले में 30 गो आश्रय स्थलों में 2400 गोवंश संरक्षित -जिलाधिकारी

भूसा बैंकों में अधिक से अधिक भूसा दान करने के लिए आगे आयें आमजन-जिलाधिकारी

मण्डल में सहभागिता योजना व भूसा संग्रह करने में प्रथम स्थान पर है जिला बिजनौर -जिलाधिकारी

बिजनौर। जिलाधिकारी उमेश मिश्रा को कलेक्ट्रेट स्थित कार्यालय कक्ष में नुमाइश ग्राउण्ड में संचालित भूसा बैंक में गोवंश को भूसा उपलब्ध कराने के लिए रू0 11 हजार का चैक सुनील कुमार शर्मा ने सौपा। जिलाधिकारी ने बताया कि जिला मुख्यालय व प्रत्येक तहसील स्तर पर एक-एक हजार कुन्तल क्षमता के भूसा बैंक बनाने के निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि सहभागिता योजना व भूसा संग्रह करने में जिला बिजनौर, मुरादाबाद मण्डल में प्रथम स्थान पर है। वर्तमान में जिले में 30 गो आश्रय स्थलों में कुल 2400 गोवंश संरक्षित हैं। जिलाधिकारी उमेश मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि शासन द्वारा तहसील एवं ब्लॉक स्तर पर गोवंश आश्रय स्थलों में भूसा उपलब्ध कराने के लिए भूसा बैंक स्थापित करने के निर्देश दिए गए हैं ताकि गोवंशों को चारे की कमी न होने पाए। उन्होंने जन सामान्य का आह्वान किया कि भूसा बैंकों में अधिक से अधिक भूसा दान करने के लिए आगे आकर इस पुण्य कार्य में अपना योदान उपलब्ध कराएं।

निराश्रित गोवंश घूमता हुआ न पाया जाए- जिलाधिकारी ने बताया कि राज्य सरकार केे महत्वांकक्षी गो संरक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत जिले में पूरी गंभीरता के साथ गोवंश को संरक्षण उपलब्ध कराते हुए उनके चारे-पानी एवं स्वास्थ्य आदि की निर्धारित मानकों के अनुरूप व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने कहा कि नगर क्षेत्र एवं ग्राम क्षेत्र के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश उपलब्ध कराए गए हैं कि एक भी निराश्रित गोवंश घूमता हुआ पाया जाए तो तत्काल उसकी सूचना संबंधित नगर निकाय के अधिकारियों ,खण्ड विकास अधिकारी या पशुपालन विभाग के अधिकारियों को उपलब्ध कराई जाए, ताकि उसके संरक्षण की समुचित व्यवस्था की जा सके।

जिले में 2400 गोवंश संरक्षित- मुख्य पशुचिकित्साधिकारी डा0 विजेन्द्र सिंह ने बताया कि वर्तमान में जिले में 03 वृहद गो आश्रय स्थल, 12 कान्हा गौशाला, 04 कांजी हाउस व 11 अस्थाई गौशाला केन्द्र सहित कुल 30 गो आश्रय स्थल स्थापित हैं। इनमें कुल 2400 गोवंश संरक्षित हैं। उन्होंने बताया कि इसके अलावा सहभागिता कार्यक्रम के अंतर्गत 687 गोवंशों को पशुपालकों को व्यक्तिगत रूप से संरक्षण के लिये दिया गया है। उन्होंने बताया कि सहभागिता योजना व भूसा संग्रह करने में जिला बिजनौर, मुरादाबाद मण्डल में प्रथम स्थान तथा भूसा संग्रह करने में प्रदेश में नवें स्थान पर है। इस अवसर पर चैक प्रदान करने वाले समाजसेवी धीर सिंह, सुनील शर्मा व देवराज सिंह राजपूत आदि मौजूद रहे।

CM योगी की मंशा को हैरतअंगेज तरीके से पलीता लगाते ADO, VDO

रिपोर्ट-नरपाल सिंह

गांव नहीं अपने विकास में जुटे सेक्रेट्री!

2. संपत्ति की हो जाए जांच तो धनकुबेरों के पैरों तले की जमीन जाएगी खिसक।

3. आलीशान बंगलों जमीन जायदाद के हैं मालिक।

4. पेट्रोल पंप तक के मालिक हैं गांवों के खेवनहार।

सत्ता के गठजोड़ से चलता रहता है पूरा मामला।

फर्जी बिल, बैक डेट के विज्ञापन ही नहीं बैंकों तक मे खुलवा लिए फर्जी खाते।

अखबारों के असली मालिक तक होंगे अनजान।

8. प्रधान बेचने लगे घर से निर्माण सामग्री।

9. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सख्ती के बावजूद मोटी चमड़ी वालों की ही चलती मर्जी।

ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की ताजा रिपोर्ट “ग्लोबल करप्शन बैरोमीटर फॉर एशिया’ के अनुसार भ्रष्टाचार के मामले में भारत अब एशिया में शीर्ष पर है। इस रिपोर्ट के अनुसार करीब 50 फीसदी लोगों को अपना काम निकलवाने के लिए रिश्वत देनी पड़ी। इनमें से 63 फीसदी ने इस डर से कोई शिकायत भी नहीं की क्योंकि इससे उन्हें कहीं बाद में कोई परेशान ना करे। इस रिपोर्ट के अनुसार करीब आधी आबादी अपने संपर्कों या जुगाड़ से काम निकलवाने में भरोसा रखती है। यह भी एक तरह का भ्रष्टाचार ही है और इससे सिस्टम में भ्रष्टाचार को ही बढ़ावा मिलता है। भ्रष्टाचार के मामले में भारत और चीन की स्थिति बराबर की रही है, लेकिन जहां चीन ने अपनी रैंकिंग में सुधार किया है, वहीं पिछले साल की तुलना में भारत की स्थिति और भी बदतर हुई है।

ताकतवर ही सबसे भ्रष्ट …! हमारे यहां सबसे शक्तिशाली समूह राजनीतिज्ञों का है। भ्रष्टाचार जैसी बीमारी को दूर करने का काम केवल राजनैतिक इच्छाशक्ति से ही हो सकता है। लेकिन सवाल यह है कि आखिर हमारा राजनीतिक सिस्टम इसमें पहल क्यों नहीं करता? इसका जवाब इन आंकड़ों में है : हमारे यहां दागी सांसदों की संख्या जहां 2004 में 43 प्रतिशत थी, वहीं यह 2019 में बढ़कर 43 फीसदी हो गई। इनमें भी सबसे ज्यादा संख्या सत्ताधारी पार्टी में है। इसी दरमियान बिहार में हुए चुनाव में दागी विधायकों की संख्या में 10 फीसदी की बढ़ोतरी हुई। 2015 में जहां चुने हुए विधायकों में से 58 फीसदी पर आपराधिक मामले दर्ज थे, वहीं 2020 में यह संख्या बढ़कर 68 फीसदी हो गई। हमारे जनप्रतिनिधियों के दागी होने का मतलब यही है कि जब उनका दामन साफ नहीं होगा तो वे भ्रष्टाचार को दूर करने का प्रयास क्यों करेंगे, क्योंकि व्यवस्था में भ्रष्टाचार ही इन्हें अपने कारनामों को ढंकने में मदद करता है।

तो नागरिक क्या कर सकते हैं? “ग्लोबल करप्शन बैरोमीटर’ रिपोर्ट कहती हैं कि हमारे यहां 46 फीसदी लोगों ने अपने संपर्कों के जरिए अपने काम करवाए। इनमें से अधिकांश काम छोटे-बड़े नेताओं के जरिए ही करवाए जाते हैं। अगर ये नेता मदद नहीं करते तो उस काम के लिए उन्हें रिश्वत देनी पड़ती। यानी यहां लोगों को यह समझने की जरूरत है कि राजनीतिज्ञ इतने शक्तिशाली हैं कि अगर वे चाहें तो वे पूरे सिस्टम को बदल सकते हैं। अब यह आम नागरिकों की जिम्मेदारी है कि वे नेता ही ऐसे चुनेें जिनकी ईमानदारी और निष्ठा तमाम सवालों से परे हो। अगर राजनीति ईमानदार होगी तो नौकरशाही को अपने आप ईमानदार होना होगा। शीर्ष नौकरशाह जब ईमानदार होंगे तो निचले स्तर पर कार्य करने वाले कर्मचारी भ्रष्टाचार करने का साहस नहीं कर पाएंगे। जब नेता ईमानदार होगा, अफसर ईमानदार होंगे, कर्मचारी ईमानदार होंगे तो आम लोगों में भी वे लोग जो अपने गलत काम भी पैसे देकर या जुगाड़ से करवा लेते हैं, उनके लिए यह सबकुछ इतना आसान नहीं रह जाएगा।

लेकिन यह होगा कैसे? जनता ईमानदार नेता चुनें, यह कहना आसान है, लेकिन करना मुश्किल। इसके लिए हमें कुछ बुनियादी बदलाव करने होंगे। इलेक्टोरल बॉड्स को बंद करके राजनीतिक दलों को होने वाली फंडिंग में पारदर्शिता लानी होगी। आपराधिक रिकॉर्ड वाले लागों को चुनाव का टिकट देने पर रोक लगानी होगी और किसी दागी को टिकट देने पर संबंधित राजनीतिक दल के मुखिया को जिम्मेदार ठहराना होगा। इसके लिए सिविल सोसाइटी का दबाव बनाना होगा और जब भी जरूरत हो, कोर्ट का दरवाजा खटखटाने से भी नहीं पीछे नहीं रहना होगा। इसके लिए मीडिया को भी अहम भूमिका निभानी होगी।

कहां है समस्या? – कुछ साल पहले एक जाने-माने राजनेता ने कहा था कि चुनावी फंडिंग ही भ्रष्टाचार की सबसे बड़ी गंगोत्री है। इससे निबटने के लिए सरकार इलेक्टोरल बॉन्ड्स लेकर आई, लेकिन इसने तो चुनावी फंडिंग को और भी अस्पष्ट और अपारदर्शी बना दिया है। दरअसल, हमारे राजनीतिज्ञ राजनीतिक फंडिंग में पारदर्शिता बिल्कुल नहीं चाहते। यह बात कुछ कारपोरेट्स हाउसेस को भी रास आती है, क्योंकि इससे वे बड़ी आसानी से राजनीतिक दलों को पैसा दे देते हैं और चुनावों के बाद सरकार से बेजा फायदा उठाते हैं। – भ्रष्टाचार से निबटने के लिए हमें प्रभावी सीबीआई, सीवीसी और एंटी करप्शन ब्यूरो चाहिए। …लेकिन इन सभी विभागों का मूल संगठन यानी पुलिस के बारे में आम धारणा यही है कि यह सबसे भ्रष्ट विभाग है। इसलिए हम पुलिस से और प्रकारांतर में इन तमाम संगठनों से यह उम्मीद नहीं कर सकते कि ये भ्रष्टाचार को मिटाने में कारगर रहेंगे, जब तक कि इनके पीछे राजनीतिक इच्छाशक्ति नहीं होगी। – सरकारी सेवकों को भी जवाबदेह नहीं बनाया गया है। सरकारी शिक्षक स्कूल नहीं जाते हैं या जाते हैं तो पढ़ाते नहीं। डॉक्टर सरकारी हास्पिटल या प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नहीं जाते। अस्पतालों में दवाइयां नहीं मिलती। सड़के, जलापूर्ति, बिजली और अन्य बुनियादी सुविधाओं की स्थिति अक्सर खराब मिलती है। और दुर्भाग्य से किसी को भी खराब काम करने या जिम्मेदारी न निभाने पर नौकरी से नहीं निकाला जाता। समस्या यह है कि अच्छा काम करने वाले को पुरस्कार भी नहीं मिलता। तो अच्छा काम करने की प्रेरणा भी नहीं मिलती।

केरल और बिहार के सबक … एक रिपोर्ट के अनुसर केरल में केवल 10 फीसदी नागरिकों को अपने काम करवाने के लिए रिश्वत देनी पड़ी, जबकि बिहार में 75 फीसदी लोगों को। आखिर ऐसा क्यों है, इसको लेकर तो व्यापक अध्ययन की जरूरत है, लेकिन इसमें कहीं न कहीं शिक्षा और साक्षरता का योगदान तो नजर आता ही है। केरल भारत का सबसे साक्षर प्रदेश है, जबकि बिहार का नाम साक्षरता के मामले में नीचे से शीर्ष के राज्यों में शुमार होता है। त्रिलोचन शास्त्री

(लेखक आईआईएम बैंगलोर में प्रोफेसर हैं। एडीआर – एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स के फाउंडर चेयरमैन भी रहे हैं।)

गांव नहीं अपने विकास में जुटे सेक्रेट्री! संपत्ति की हो जाए जांच तो धनकुबेरों के पैरों तले की खिसक जाएगी जमीन

गांव नहीं अपने विकास में जुटे सेक्रेट्री! संपत्ति की हो जाए जांच तो धनकुबेरों के पैरों तले की जमीन जाएगी खिसक। आलीशान बंगलों जमीन जायदाद के हैं मालिक। सत्ता के गठजोड़ से चलता रहता है पूरा मामला। पेट्रोल पंप तक के मालिक हैं गांवों के खेवनहार। फर्जी बिल, बैक डेट के विज्ञापन ही नहीं बैंकों तक मे खुलवा लिए फर्जी खाते। अखबारों के असली मालिक तक होंगे अनजान। प्रधान बेचने लगे घर से निर्माण सामग्री।

बिजनौर (रोहित चौधरी)। जिले में ग्राम पंचायतों का विकास कार्यों को लेकर बुरा हाल है। पंचायतों को शासन से विकास कार्यों के लिए करोड़ों रुपये मिले। ..लेकिन अधिकारी जमीनी हकीकत देखकर हैरान हैं। अधिकारियों को निरीक्षण में गड़बड़ी मिली। इस मामले में कोतवाली ब्लॉक के चार ग्राम विकास अधिकारी निलंबित किए जा चुके हैं। ग्राम विकास अधिकारियों पर ड्यूटी से नदारद रहने व विकास कार्यों के क्रियान्वयन में गड़बड़ी के आरोप रहे।


जिले में 11 ब्लॉक हैं, इनमें कोतवाली ब्लॉक सबसे अधिक क्षेत्रफल वाला ब्लॉक है। इसमें सबसे अधिक 149 ग्राम पंचायत हैं। प्रशासन को कोतवाली ब्लॉक की पंचायतों में अनियमितताओं की सबसे अधिक शिकायत मिल रही थी। उपनिदेशक पंचायत व डीपीआरओ ने कोतवाली ब्लॉक की पंचायतों का निरीक्षण किया, जहां बड़े पैमाने पर गड़बड़ी मिली। पंचायत सचिव ड्यूटी से नदारद थे। गली मोहल्लों में कूड़े के ढेर मिले। सड़कों व रास्तों में गंदगी फैली थी। दूषित पानी से संक्रामक बीमारियों के फैलने की आशंका जताई गई। पानी निकासी के नाले व नाली गंदगी से अटे मिले। सचिवालय में कामकाज ठप मिला। सामुदायिक शौचालय में ताले लटके मिले। प्रधानों द्वारा शासन की प्राथमिकता वाली योजनाओं के क्रियान्वयन में दिलचस्पी नहीं लेने के आरोप लगे। इस बिना पर कोतवाली ब्लॉक के चार पंचायत सचिवों को निलंबित किया गया। गांवों में ये हुए हैं विकास कार्य
ग्राम पंचायतों में पंचायत घरों का जीर्णोद्धार हुआ। जहां पंचायत घर नहीं थे वहां नए पंचायत घर बने। सामुदायिक शौचालयों का निर्माण हुआ। मुख्यमंत्री की ग्राम सचिवालय मॉडल योजना में सचिवालय बने। बरसाती व घरेलू पानी की निकासी के लिए नाले व नाली बने। सीसी रोड बनीं। अंत्येष्टि स्थल बने। उपनिदेशक पंचायत पंचायतों के निरीक्षण में यह देखकर हैरान रह गए कि पंचायतों को विकास कार्यों के लिए करोड़ों की धनराशि आवंटित होने के बाद भी जमीनी हकीकत बिल्कुल उलट है। निर्माण आधे अधूरे पड़े हैं। ग्रामीणों ने उपनिदेशक व डीपीआरओ के समक्ष आरोप लगाए कि सफाई कर्मचारी प्रधानों का निजी काम करते हैं। सफाई के लिए कहने पर बदसलूकी करते हैं। सचिव उनकी बात नहीं सुनते।ये ग्राम विकास अधिकारी हुए निलंबित
जिला विकास अधिकारी एस कृष्णा के अनुसार निरीक्षण आख्या के आधार पर ग्राम पंचायत खुर्रमपुर खड़क की ग्राम विकास अधिकारी/ सचिव प्रियंका राजपूत, ग्राम पंचायत कनकपुर व फाजलपुर भारु में तैनात ग्राम विकास अधिकारी/ सचिव काकेंद्र कुमार सिंह, ग्राम पंचायत नूर अलीपुर भगवंत के ग्राम विकास अधिकारी/सचिव कमलकांत पाल, तथा ग्राम पंचायत महमूदपुर भांवता में नियुक्त ग्राम विकास अधिकारी/सचिव नंदराम सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि में प्रियंका राजपूत व काकेंद्र कुमार सिंह, ब्लॉक नहटौर, नंदराम सिंह ब्लॉक अफजलगढ़, कमलकांत पाल ब्लॉक नजीबाबाद से संबद्ध रहेंगे। सभी निलंबित ग्राम विकास अधिकारियों की आगे की जांच सक्षम अधिकारियों को सौंपी गई। जांच अधिकारी को एक माह में आरोप पत्र जिला विकास अधिकारी को सौंपना है।

अब तक एक दर्जन से अधिक कर्मचारी हुए निलंबित
डीएम उमेश मिश्रा के निर्देश पर पंचायतों की जमीनी हकीकत परखी जा रही है। पंचायतीराज विभाग के जिला व मंडल अधिकारी लगातार पंचायतों में विकास कार्य का निरीक्षण कर रहे हैं। जांच में खूब अनियमितता सामने आ रही हैं। डीपीआरओ सतीश कुमार के अनुसार अब तक एक दर्जन से अधिक पंचायत सचिव व सफाई कर्मचारियों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई हुई है। आठ सचिव के खिलाफ विभागीय कार्रवाई शुरू हुई है। शासन की प्राथमिकता वाली योजनाओं में रुचि नहीं लेने पर ग्राम प्रधानों को कारण बताओ नोटिस भेजे गए हैं।

दी गई प्रतिकूल प्रविष्टि, रोकी वेतनवृद्धि
कोतवाली ब्लॉक में एक और ग्राम विकास अधिकारी/ पंचायत सचिव की अनियमितताओं के आरोप में प्रतिकूल प्रविष्टि देने के साथ वेतन वृद्धि रोक दी है। जिला विकास अधिकारी एस कृष्णा ने बताया कि कोतवाली ब्लॉक की ग्राम पंचायत उमरपुर बरखेड़ा में तैनात रहे ग्राम विकास अधिकारी/ पंचायत सचिव विवेक देशवाल को उपनिदेशक की जांच में अनियमितता मिलने पर प्रतिकूल प्रविष्टि दी गई है। साथ ही एक वार्षिक वेतन वृद्धि रोकी है। डीडीओ के मुताबिक पंचायत में पंचायत घर का निर्माण दिसंबर 2021 से शुरू हुआ। जांच में अधूरा मिला। इसी तरह की अन्य अनियमितताएं मिली हैं।

डीएवी इंटर कालेज के शिक्षक व स्टाफ ही प्रिंसिपल के खिलाफ जंग में कूदे

बिजनौर। डीएवी इंटर कालेज के प्रिंसिपल से कथित मारपीट के मामले में नया मोड़ आ गया है। कालेज के शिक्षक एवं अन्य स्टाफ ने संयुक्त रूप से पत्रकार वार्ता कर कालेज प्रधानाचार्य डा. मनोज कुमार गोस्वामी पर गंभीर आरोप लगाए। स्टाफ के लोगों ने पत्रकारों को बताया कि प्रिंसिपल  स्टाफ को आएदिन गाली गलौच कर जान से मारने की धमकी देते रहते हैं। कालेज शिक्षक इनके व्यवहार से बुरी तरह से तंग आ चुके हैं। जिला विद्यालय निरीक्षक से इनके यहां से स्थानान्तरण की मांग की गई है।

पत्रकारों से बात करते हुए शिक्षक दिनेश कुमार शर्मा ने बताया कि प्रिंसिपल मनोज गोस्वामी के कृत्यों से कालेज की छवि लगातार खराब हो रही है। लिपिक शरद शर्मा को इन्होंने जान से मारने की नीयत से गला घोंटने का प्रयास किया। आएदिन थाने जाकर झूठी तहरीर देते रहते हैं। शिक्षक विशाल वत्स व राजेन्द्र सिंह ने भी प्रधानाचार्य पर अभद्रता व मारपीट का आरोप लगाया। यह भी आरोप लगाया कि वह कर्मचारी दुष्यन्त कुमार से घर पर निजि कार्य कराते रहे और जब उसने ऐसा करने से मना कर दिया तो उसका वेतन नहीं दिया। इस मामले में उपप्रबन्धक ने उनसे कहा तो अपने एक साथी से मिलकर उपप्रबन्धक पर हमला कर दिया और कुछ दलाल टाइप के लोगों को साथ लेकर थाने पहुंच गए जहां उल्टे उनके खिलाफ ही झूठी तहरीर दे दी। कालेज स्टाफ ने एक स्वर में प्रधानाचार्य को हटाने की मांग की। इस अवसर पर राजेन्द्र सिंह, राजबाला देवी, चन्द्र सिंह, लोकेश कुमार, मंजू रानी, खलेश कुमार शर्मा, अरूण कुमार गर्ग, नीरज कुमार शर्मा, अमित, शरद शर्मा, लेखराज सिंह, राजेन्द्र कुमार, सोमपाल सिंह, अनीता रानी, राजवीर सिंह, दिनेश शर्मा, शैलेन्द्र कुमार शर्मा, आसिफ अहमद खां, अशोक कुमार, राहुल कुमार आदि स्टाफ मौजूद रहे। वहीं इस मामले में प्रधानाचार्य का भी पक्ष जानने का प्रयास किया गया मगर उनसे संपर्क नहीं हो सका। गौरतलब है कि दो डिम पूर्व कालेज में कथित रूप से प्रिंसिपल मनोज गोस्वामी के ऊपर हमले की घटना हुई थी।

कागजों में कट गया बिजली कनेक्शन, फिर भी चार साल से चल रहे 2 नलकूप

बिजनौर। बिजली विभाग के भी खेल निराले हैं। बिजली चोरी जैसे मामले तो आम बात हो गई है; जालसाजी के तो ऐसे-ऐसे मामले भरे पड़े हैं जो पता चल जाएं तो सिर घूम जाए। ऐसा ही एक मामला है जो विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत, लापरवाही और अकर्मण्यता की पोल खोलता है।

दअरसल दो भाइयों ने 7.5 हॉर्स पावर के दो अलग निजी नलकूप फर्जी तरीके से लगवा लिए। जिस गांव की जमीन के कागजात के आधार पर कनेक्शन स्वीकृत हुए, नलकूप वहां न लगवा कर दूसरे गांव में, वो भी दूसरे की जमीन पर लगा लिए। एक साल बाद शिकायत हुई तो जांच के आदेश कछुआ चाल से चलते रहे। चार साल पहले दोनों नलकूपों के कनेक्शन काटे गए, लेकिन सिर्फ कागजों पर! दोनों ही कनेक्शन आज भी बदस्तूर धड़ल्ले से चल रहे हैं। विभागीय आदेश के अनुपालन में सामान विभागीय भंडार गृह में जमा नहीं कराया गया। इनके द्वारा खपत की जा रही बिजली के बिल की भरपाई कौन करेगा? मामले की शिकायत तहसील दिवस में की गई है।

जानकारी के अनुसार 04 दिसंबर 2017 को ग्राम सदूपुरा निवासी सेवानिवृत्त पोस्ट मास्टर सोमदत्त ने पुलिस अधीक्षक से लिखित शिकायत करते हुए बताया कि ग्राम फरीदपुर सल्लू स्थित 100 बीघा जमीन में से 48 बीघा का बैनामा कराया था। दाखिल खारिज की कार्रवाई के दौरान रफीक अहमद पुत्र अब्दुल हमीद, नफीस अहमद पुत्रगण अब्दुल हमीद अहमद निवासी ग्राम सद्पुरा ने एतराज किया, जिसका मुकदमा रेवन्यु बोर्ड तक चला। हालांकि बाद में दाखिल खारिज भी हो गया। सेवानिवृत्त पोस्ट मास्टर सोमदत्त की शिकायत के अनुसार उक्त दोनों लोगों ने बिजली स्वीकृत कराई ग्राम सदुपुरा की जमीन के लिए जबकि जिस जमीन पर प्रार्थी के बोरिंग में नलकूप लगाया, वह फरीदपुर सल्लु में है। इस प्रकार रफीक अहमद व नफीस अहमद ने जालसाजी, हेराफेरी व झूठा शपथ पत्र देकर बिजली कनेक्शन लगवा लिया ताकि प्रार्थी की जमीन पर मालिकाना हक जाहिर कर सके। सरकारी विभागों में प्रार्थना पत्र घूमता रहा। फिर 03 फरवरी 2018 को उपखंड अधिकारी विद्युत वितरण उपखण्ड द्वितीय बिजनौर जसवीर सिंह ने 33/11 केवी उपकेंद्र गंज के अवर अभियंता बहराम सिंह को उक्त दोनों कनेक्शन गलत स्थान पर संचालित होने की जानकारी देते हुए अविलंब उतारने और अवगत कराने के निर्देश दिए।

इसके बाद विद्युत वितरण खण्ड बिजनौर के अधिशासी अभियन्ता किताब सिंह ने 09 अप्रैल 2018 को निजी नलकूप संख्या 225/5027/130124 के लिए रफीक अहमद व निजी नलकूप संख्या 225/5027/130125 के लिए नफीस अहमद पुत्रगण हमीद निवासी ग्राम सदूपुरा बिजनौर को नोटिस जारी किया। इसमें कहा गया कि उनके द्वारा दिनांक 15 जुलाई 2016 को सामान्य योजना के अन्तर्गत 7.5 हॉर्स पावर के उक्त दो निजी नलकूप हेतु अनुबन्ध किया गया था। शिकायत प्राप्त होने पर जांच में पाया गया कि उनके द्वारा फर्द ग्राम सदुपुरा की लगायी गयी है जबकि निजी नलकूप ग्राम फरीदपुर सल्लू में स्थापित किए गए हैं। इससे स्पष्ट होता है कि उनके द्वारा विभाग को गुमराह करके संयोजन प्राप्त किया गया है। यह भी कहा कि पत्र प्राप्ति के 03 दिन के अन्दर स्पष्ट करें कि उनके द्वारा गलत फर्द क्यों लगायी गयी हैं,अन्यथा उनके विरूद्ध कानूनी कार्यवाही करते हुए संयोजन निरस्त कर दिया जायेगा।

वहीं 17 मई 2018 को अधिशासी अभियंता ब्रह्मपाल ने उक्त दोनों कनेक्शन काटने के संबंध में कार्यालय से पत्र जारी किया। उपखंड अधिकारी विद्युत वितरण उपखण्ड द्वितीय बिजनौर को उक्त दोनों कनेक्शन काटने और नलकूप की समस्त सामग्री उतारकर विभागीय भंडार गृह में जमा कराने के निर्देश दिए। उन्होंने अधीक्षण अभियंता विद्युत वितरण मंडल बिजनौर के साथ ही उक्त दोनों कनेक्शन धारकों को भी इसकी एक प्रति सूचनार्थ भेजी। अब किसी प्रकार दोनों नलकूपों के कनेक्शन कट तो गए, लेकिन सिर्फ कागजों पर! असलियत में दोनों ही कनेक्शन आज तक बदस्तूर धड़ल्ले से चल रहे हैं। आज तक अधिशासी अभियंता ब्रह्मपाल के आदेश के अनुपालन में सामान विभागीय भंडार गृह में जमा नहीं कराया गया। एक बात और विचारणीय है कि तकरीबन चार साल से जिन दो निजी नलकूप का कनेक्शन कथित रूप से कटा हुआ है, उनके द्वारा खपत की गई बिजली के बिल का भुगतान कौन, किस से और कब करेगा? 

दोनों ही भाइयों के खिलाफ दर्ज हैं कई केस– दरअसल उक्त दोनों ही भाई शातिर किस्म के हैं। उनके खिलाफ वर्ष 1987 से लेकर 2019 तक कई थानों में मुकदमे दर्ज हैं। इनमें हत्या, जान से मारने की धमकी, फ्राड आदि के थाना शहर कोतवाली में आठ व थाना स्योहारा में एक मुकदमा शामिल है।

बहुत ही गंभीर मामला है। वह अधिशासी अभियंता को इस मामले में यथोचित कार्रवाई के लिये निर्देशित कर रहे हैं। यदि  इतने वर्ष से अवैध रूप से दोनों कनेक्शन संचालित हो रहे हैं तो इसमें संलिप्त विभागीय अधिकारी, कर्मचारियों की भूमिका की भी जांच व कार्रवाई की जाएगी। शासकीय धन की वसूली के लिए भी कठोर कार्रवाई की जाएगी। –नंदलाल, अधीक्षण अभियंता।

बेहतर कानून व्यवस्था की व्यापारियों द्वारा प्रशंसा

व्यापारियों ने किया एडीजी राजकुमार, डीएम उमेश मिश्रा, एसपी डॉ. धर्मवीर सिंह, एसपी सिटी डॉ. प्रवीण रंजन आदि पुलिस अधिकारियों का स्वागत। डीएम एसपी ने व्यापारियों से मांगे जिले की व्यवस्था और बेहतर करने के लिए सुझाव। उद्योग व्यापार मंडल की ओर से जैन धर्मशाला में आयोजित हुआ कार्यक्रम।

बिजनौर। उद्योग व्यापार मंडल की ओर से व्यापारियों ने जैन धर्मशाला में आयोजित कार्यक्रम में एडीजी राजकुमार, डीएम उमेश मिश्रा, एसपी डॉ. धर्मवीर सिंह, एसपी सिटी डॉ. प्रवीण रंजन आदि पुलिस अधिकारियों का स्वागत किया। व्यापारियों ने जिले में अच्छी कानून व्यवस्था की भी प्रशंसा की। कार्यक्रम में डीएम उमेश मिश्रा और एसपी डॉ. धर्मवीर सिंह ने सभी व्यापारियों से जिले की व्यवस्था और बेहतर करने के लिए सुझाव मांगे। उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल की ओर से रजनीश अग्रवाल, मनोज कुच्छल, मुनीष त्यागी, बीएस राजपूत, दिलशाद खान, डॉ. उस्मानी, दीपक अरोड़ा, सौरभ सिंघल, गुलाम साबिर आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन जिला कोषाध्यक्ष बीएस राजपूत ने किया।

एनआईए अफसर तंजील हत्याकांड में मुनीर व रैयान को फाँसी की सजा

एनआइए अफसर व उनकी पत्नी की हत्या केस में मुख्य आरोपी मुनीर और  रैयान को फाँसी की सज़ा।  एडीजे कोर्ट 5 के जज डॉ विजय कुमार तालियांन ने सुनाई सज़ा। दोनों को फांसी की सजा का एलान। तंजीम,जेनी और रिजवान को किया गया बरी। मुख्य आरोपी मुनीर और रेयान ने गोली बरसाकर उतारा था एनआईए अफसर तंजील और उनकी पत्नी फरजाना को मौत के घाट। 2/3 अप्रैल 2016 की घटना।

बिजनौर। न्यायालय द्वारा एनआईए के पुलिस उपाधीक्षक तंजील अहमद हत्याकाण्ड के मुख्य अभियुक्त/गैंगस्टर मुनीर तथा सहअभियुक्त रैय्यान को फांसी की सजा से दण्डित किया गया है। तंजील अहमद पठानकोट आतंकी हमले की जांच टीम का हिस्सा थे। गत दिवस अदालत ने तीन आरोपितों को केस से बरी कर दिया था, जबकि मुनीर और उसके साथी रैय्यान को दोष करार दिया था। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच गुनहगारों को कोर्ट लाया गया था।

गौरतलब है कि दिनांक 02/03 अप्रैल 2016 को एनआईए के पुलिस उपाधीक्षक तंजील अहमद व उनकी पत्नी फरजाना की मुनीर तथा उसके साथियों द्वारा हत्या कर दी गयी थी। दिनांक 16 अप्रैल 2022 को इस अभियोग से सम्बन्धित गैंगस्टर एक्ट में न्यायालय द्वारा अभियुक्त मुनीर को 10 वर्ष के कारावास व 01 लाख रुपए के अर्थदण्ड से दंडित किया गया था। पुलिस उपाधीक्षक एवं उनकी पत्नी की हत्या के मामले में पुलिस द्वारा की गयी प्रभावी पैरवी के उपरान्त आज एडीजे कोर्ट 5 के जज डॉ विजय कुमार तालियांन द्वारा मुख्य अभियुक्त मुनीर तथा सहअभियुक्त रैय्यान को फांसी की सजा से दंडित किया गया। मुनीर अन्तर्राज्यीय गैंग का गैंग लीडर (गैंग कोड सं–आईएस 32/21) तथा हिस्ट्रीशीटर है। मुनीर के खिलाफ विभिन्न जनपदों/राज्यों में कुल 33 अभियोग पंजीकृत हैं तथा शासन द्वारा चिन्हित राज्य स्तरीय आपराधिक माफिया घोषित है। अभियुक्तों की सजा से शासन एवं पुलिस प्रशासन के प्रति आम लोगों का विश्वास उत्पन्न हुआ है तथा अपराधियों में भय का माहौल व्याप्त हुआ है।

लेनदेन का था विवाद

विवेचना के दौरान पता चला कि पारिवारिक प्रॉपर्टी में रुपयों के लेनदेन को लेकर मुनीर का एनआइए अफसर तंजील अहमद के साथ विवाद चल रहा था। मुनीर को संदेह था कि एनआइए अफसर उसकी मुखबिरी कर रहे हैं। इसे लेकर मुनीर ने अपने साथी रैयान, तंजीम, मोहम्मद जैनी और रिजवान के साथ मिलकर दोनों की हत्या कर दी थी। इस मामले में शुक्रवार को कोर्ट ने निर्णय सुनाया। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश पंचम डा. विजय कुमार तालियान ने मुख्य आरोपित मुनीर और रैयान को दोषी पाया। कोर्ट ने साक्ष्य के अभाव में आरोपित तंजीम, रिजवान और मोहम्मद जैनी को बरी कर दिया। कोर्ट में सुनवाई के दौरान वादी के अधिवक्ता जितेंद्र सिंह मौजूद रहे।

अप्रैल 2016 की वारदात- अपर जिला शासकीय अधिवक्ता आनंद उर्फ अभिनव जंघाला के अनुसार एक-दो अप्रैल 2016 की रात एनआइए के डिप्टी एसपी तंजील अहमद और उनकी पत्नी फरजाना पर उस समय जानलेवा हमला किया गया, जब वह स्योहारा में एक विवाह कार्यक्रम में शामिल होने के बाद दिल्ली लौट रहे थे। हमले में एनआइए अफसर तंजील अहमद की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि उनकी पत्नी फरजाना की इलाज के दौरान दिल्ली में मौत हुई थी। उनके दो बच्चे हमले के दौरान बच गए थे।

बचाव पक्ष की ओर से तर्क– बचाव पक्ष के वरिष्ठ अधिवक्ता अनिल चौधरी ने बताया कि कोर्ट ने आरोपित मुनीर और रैयान को आर्म्स एक्ट सहित एक अन्य मामले में भी बरी कर दिया है। मुनीर और रैयान को हत्या का दोषी पाया है। उन्होंने दावा किया कि मुनीर और रैयान की तंजील अहमद से किसी प्रकार की कोई रंजिश नहीं थी। एनआइए अफसर तंजील अहमद आतंकवादी तथा अन्य गंभीर मामलों की जांच करते थे, ऐसी संभावना है कि उक्त घटना को किसी अन्य व्यक्ति ने अंजाम दिया।

जिला अस्पताल में कांग्रेस जनों ने मरीजों को बांटे फल और बिस्किट

कांग्रेस जनों ने जिला अस्पताल में मरीजों को बांटे फल और बिस्किटजिला कार्यालय पर पुष्पांजलि अर्पित कर दी श्रद्धांजलि। कम्प्यूटर/संचार क्रांति का निर्माता बताया और उनके जीवन पर विस्तार से प्रकाश डाला।

बिजनौर। भारत रत्न देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की पुण्य तिथि के अवसर पर कांग्रेस जनों ने जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों को फल/बिस्किट आदि वितरित किये। वहीं जिला कांग्रेस कार्यालय पर स्व०राजीव गांधी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी और उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया।

भारत रत्न देश के पूर्व प्रधानमंत्री संचार क्रांति के निर्माता स्व. राजीव गांधी की पुण्य तिथि पर कांग्रेस जनों ने उन्हें याद किया। इस अवसर पर जिला/शहर कांग्रेस कमेटी द्वारा जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों का हालचाल जानने के साथ ही मरीज़ों को फल/बिस्किट आदि वितरित किये गए।

इससे पहले जिला कार्यालय पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष शेरबाज पठान ने तथा संचालन जिला महासचिव नज़ाकत अल्वी ने किया। कांग्रेस जनों ने स्व०राजीव गांधी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी और उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया। वक्ताओं ने स्व. राजीव जी को कम्प्यूटर/संचार क्रांति का निर्माता बताया और उनके जीवन पर विस्तार से प्रकाश डाला।
इस अवसर पर जिलाध्यक्ष शेरबाज पठान, मुनीश त्यागी, बाबू डूंगर सिंह, जिला महासचिव नज़ाकत अल्वी, बिजनौर शहर अध्यक्ष मोनू गोयल, हाजी नसीम अंसारी, श्रीमती मीनाक्षी सिंह, हुकुम सिंह, इकबाल अहमद, वीरेश गहलोत, काज़ी आतिफ, यश गोयल, एड. ज़फ़र मलिक, अब्दुल समद आज़ाद, पदम् सिंह, विमल शर्मा, हीरा देवी, कविता, वसीम अहमद, आमोद शर्मा, मो. राशिद आदि मौजूद रहे।

चार लापरवाह ग्राम विकास अधिकारियों पर निलंबन का चाबुक

बिजनौर। ग्राम पंचायतों में सचिवालय और सामुदायिक शौचालय निर्माण में लापरवाही बरतने पर चार ग्राम विकास अधिकारी निलम्बित कर दिए गए हैं। उप निदेशक पंचायत मुरादाबाद एवं डीपीआरओ सतीश कुमार के निरीक्षण में मिली लापरवाही के आधार पर जिला विकास अधिकारी एस कृष्णा ने कार्रवाई की है।

गौरतलब है कि उप निदेशक पंचायत मुरादाबाद मंडल एसके सिंह व डीपीआरओ सतीश कुमार ने कोतवाली ब्लॉक की करीब एक दर्जन से अधिक ग्राम पंचायतों का निरीक्षण किया था। इस दौरान पंचायत भवन और सामुदायिक शौचालय निर्माण में लापरवाही मिली थी। लापरवाही बरतने पर महमूदपुर भावता के ग्राम विकास अधिकारी नंदराम सिंह, ग्राम पंचायत कनकपुर और फजलपुर भारू के ग्राम विकास अधिकारी काकेंद्र कुमार, खुर्रमपुर खड़क की ग्राम विकास अधिकारी प्रियंका राजपूत व नूरअलीपुर भगवंत के ग्राम विकास अधिकारी कमलकांत पाल को निलंबित किया गया है। गौरतलब है कि ग्राम पंचायत महमूदपुर भावता में शौचालय का निर्माण चार माह से किया जा रहा था, जबकि यह काम केवल दो माह में होना था। आंगनबाड़ी केंद्र के कायाकल्प का काम भी अधूरा पाया गया। कनकपुर के निरीक्षण में पंचायत भवन का निर्माण कार्य दो-तीन माह से बंद था। डीपीआरओ सतीश कुमार ने बताया कि ग्राम पंचायतों में किए जा रहे निर्माण कार्यो में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

अलग अलग ब्लॉकों से संबद्ध- निलंबन अवधि में प्रियंका राजपूत व काकेंद्र कुमार सिंह, ब्लॉक नहटौर, नंदराम सिंह ब्लॉक अफजलगढ़, कमलकांत पाल ब्लॉक नजीबाबाद से संबद्ध रहेंगे। सभी निलंबित ग्राम विकास अधिकारियों की आगे की जांच सक्षम अधिकारियों को सौंपी गई है। जांच अधिकारी को एक माह में आरोप पत्र जिला विकास अधिकारी को सौंपना है।

मई पड़ा भारी- माह मई के पहले हफ्ते में नजीबाबाद के एक मसाज सेंटर से आपत्तिजनक हालत में पकड़े जाने के बाद जेल पहुंचे ग्राम पंचायत अधिकारी मोहित डबास का निलंबन हो चुका है। कोतवाली देहात थाना क्षेत्र के गांव सिकरेडा निवासी मोहित ग्राम पंचायत अधिकारी है और किरतपुर ब्लाक में तैनात है।

ADG ने किया पुलिस लाइंस का गहनता से निरीक्षण

बिजनौर। अपर पुलिस महानिदेशक बरेली जोन बरेली राजकुमार व पुलिस उपाधीक्षक हृदय शंकर उपाध्याय द्वारा पुलिस कार्यालय की विभिन्न शाखाओं / कार्यालयों का भ्रमण / निरीक्षण किया गया। कार्यालयों के निरीक्षण के दौरान उन्होंने प्रचलित अभिलेखों के रखरखाव / अभिलेखों को अद्यावधिक किये जाने, साफ-सफाई आदि के सम्बन्ध में दिशा निर्देश दिये। इस दौरान पुलिस अधीक्षक डॉ धर्मवीर सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक नगर / ग्रामीण तथा अन्य अधिकारीगण/कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

अपर पुलिस महानिदेशक राजकुमार, बरेली जोन के जनपद बिजनौर पहुंचने पर रिजर्व पुलिस लाइन्स के अतिथि गृह में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इस दौरान एडीजी ने रिजर्व पुलिस लाइन्स में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे रिक्रूट आरक्षियों के टर्न आउट ड्रिल आदि का भी निरीक्षण किया तथा जवानों को चुस्त दुरुस्त व शारीरक एवं मानसिक रूप से फिट रहने के लिये परेड को दौड़ लगवाई। परेड में एकरूपता में अनुशासन बनाए रखने के लिए टोलीवार ड्रिल करवाई। एडीजी ने ड्रिल देखकर उसे और बेहतर तरीके से कराने के लिए प्रभारी पुलिस लाइन को निर्देशित किया। तत्पश्चात एडीजी ने रिजर्व पुलिस लाइन में क्वाटर गार्ड, शस्त्रागार, पुलिस स्टोर, सीपीसी कैंटीन, पुलिस चिकित्सालय, परिवहन शाखा, पुलिस लाइंस आवासीय परिसर, डायल 112, भोजनालय, शिकायत प्रकोष्ठ समेत विभिन्न कार्यालय के अपराध शाखा, पुलिस पेंशनर्स शाखा, रिकॉर्ड रूम, शाखाओं का निरीक्षण किया। वहां पर अभिलेखों के रख-रखाव एवं साफ सफाई आदि को लेकर दिशा निर्देश दिए। आदि का निरीक्षण भी किया। अभिलेखों का निरीक्षण करने के पश्चात सम्बंधित को दिशानिर्देश दिये।

पुलिस पेंशनर्स को धन्यवाद- एडीजी ने रिजर्व पुलिस लाइन्स के सभागार कक्ष में पुलिस पेंशनर्स के साथ गोष्ठी की। इस दौरान पुलिस विभाग में उनके योगदान के लिए उनका धन्यवाद किया। साथ ही उनकी समस्याओं को सुनकर समस्याओं के त्वरित निस्तारण हेतु संबंधित को निर्देशित एवं अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर विचार-विमर्श किया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह व अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे। तत्पश्चात उन्होंने जनपद के जनप्रतिनिधियों के साथ गोष्ठी की तथा उनसे क्षेत्रीय समस्याओं के बारे में जानकारी ली।

…नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार रतिराम जी

…नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार रतिराम जी
बिजनौर। मान्यता प्राप्त वरिष्ठ पत्रकार श्री रतिराम का हृदयगति रुक जाने से निधन हो गया। वह 62 वर्ष के थे। कुछ दिन पूर्व हरिद्वार में हरकी पैड़ी पर फिसलने से उनका कूल्हा टूट गया था। गंभीर रूप से घायल होने के बाद वह बिजनौर के एक निजी अस्पताल में उपचाराधीन थे। मूल रूप से जनपद बिजनौर की तहसील चांदपुर अंतर्गत ग्राम हल्ला नंगला निवासी श्री रतिराम पुत्र रोहिताश सिंह का जन्म 04 जनवरी 1959 को हुआ था। वर्तमान में वह जिला मुख्यालय बिजनौर में रेलवे क्रॉसिंग के समीप शक्ति नगर में अपने परिवार समेत रह रहे थे। वह जीवन पर्यन्त पत्रकारिता से जुड़े रहे और वर्तमान में स्वतंत्र पत्रकार के रूप में समाज के लिए कार्य कर रहे थे। उन्होंने विभिन्न समाचार पत्रों में अपनी लेखनी का कौशल दिखाया। उनके आकस्मिक निधन का समाचार सुनकर पत्रकारिता जगत के अलावा, परिजनों, मित्रों व शुभचिंतकों को यकायक यकीन नहीं हुआ। शोकाकुल माहौल में उनका अंतिम संस्कार गंगा बैराज पर कर दिया गया। वह अपने पीछे पत्नी के अलावा एक पुत्र व पांच बेटियां छोड़ गए हैं। तीन पुत्रियों का विवाह हो चुका है।

तीन दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिता का डीआईजी ने किया उद्घाटन

बिजनौर। रिजर्व पुलिस लाइन्स में दिनांक 19.05.2022 से 21.05.2022 तक आयोजित होने वाली अन्तरजनपदीय पुलिस वालीबॉल, बास्केटबॉल, हैण्डबॉल, सेपक टकरा एवं योगा प्रतियोगिता वर्ष-2022 व सडक सुरक्षा जागरुकता अभियान का शुभारम्भ शलभ माथुर, पुलिस उपमहानिरीक्षक मुरादाबाद परिक्षेत्र मुरादाबाद द्वारा किया गया।

रिजर्व पुलिस लाइन में शलभ माथुर, पुलिस उपमहानिरीक्षक मुरादाबाद परिक्षेत्र मुरादाबाद द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर लिया गया। उनके द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर देने वाली गार्द को उत्साहवर्धन हेतु पुरस्कृत किया गया। इसके पश्चात पुलिस लाइन्स के ग्राउण्ड में बरेली जोन, बरेली की दिनांक 19.05.2022 से 21.05.2022 तक आयोजित होने वाली अन्तरजनपदीय पुलिस वालीबॉल, बास्केटबॉल, हैण्डबॉल, सेपक टकरा एवं योगा प्रतियोगिता वर्ष-2022 का उदघाटन किया गया। उक्त प्रतियोगिता में बरेली जोन के सभी 09 जनपदों द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है। पुलिस उपमहानिरीक्षक ने सभी प्रतिभागी खिलाडियों से हाथ मिलाकर उनका परिचय लिया तथा खेल भावना के उददेश्य से खेलने की अपील करते हुए उनका उत्साहवर्धन किया गया।
तदोपरान्त पुलिस उपमहानिरीक्षक मुरादाबाद परिक्षेत्र मुरादाबाद श्री माथुर द्वारा रिजर्व पुलिस लाइन्स प्रांगण में एनसीसी कैडेट्स को सडक सुरक्षा के बारे में जागरुक किया गया। उनको बताया गया कि सड़क पर सभी को अपने बाँये तरफ चलना चाहिए खासतौर से चालक को और दूसरी तरफ से आ रहे वाहन को जाने देना चाहिये। चालक को सड़क पर गाड़ी घुमाते समय गति धीमी रखनी चाहिये। अधिक व्यस्त सड़कों और रोड जंक्शन पर चलते समय ज्यादा सावधानी बरतें। दोपहिया वाहन चालकों को अच्छी गुणवत्ता वाले हेलमेट पहनने चाहिये नहीं तो उन्हें बिना हेलमेट के रोड पर नहीं आना चाहिये। गाड़ी की गति निर्धारित सीमा तक ही रखें खासतौर से स्कूल, हॉस्पिटल, कॉलोनी आदि क्षेत्रों में। सभी वाहनों को दूसरे वाहनों से निश्चित दूरी बनाकर रखनी चाहिये। सड़कों पर चलने वाले सभी लोगों को रोड पर बने निशान और नियमों की अच्छे से जानकारी हो। यात्रा के दौरान सड़क सुरक्षा के नियम-कानूनों को दिमाग में रखें।

एनसीसी कैडेट्स की जागरुकता रैली- इसी के साथ ही एनसीसी कैडेट्स के साथ प्रचार वाहन को हरी झंडी दिखाकर जागरुकता रैली को रवाना किया गया एवं आमजन मानस को यातायात नियमों से अवगत कराया गया। इस दौरान जिलाधिकारी उमेश मिश्रा, पुलिस अधीक्षक डॉ0 धर्मवीर सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक नगर डॉ0 प्रवीन रंजन सिंह, आरटीओ शिव शंकर, एआरटीओ राकेश मोहन, क्षेत्राधिकारी नगर कुलदीप गुप्ता, उ0नि0 यातायात बलराम सिंह व अन्य पुलिस अधिकारीगण मौजूद रहे।


इसके बाद पुलिस उपमहानिरीक्षक द्वारा स्कूली वैन बस एवं एंबुलेंस का फिटनेस चेक कर वाहन से सम्बन्धित जानकारी ली गई तथा सम्बन्धित को इस सम्बन्ध में डाटाबेस बनाकर रखने हेतु निर्देशित किया गया। वाहन स्वामी को बताया गया कि स्कूली वाहनों में सभी मानकों को हमेशा पूरा रखा जाए तथा वाहन चालकों को यातायात नियमों का पालन करने हेतु निर्देशित किया गया।

ग्राम प्रहरियों को वर्दी किट-
डीआईजी ने रिजर्व पुलिस लाइन्स प्रांगण में नगर सर्किल के ग्राम प्रहरियों को जर्सी, साफा, जीन कोट, बेल्ट, जूता, धोती (कुल 06) सामानों का वितरण किया गया। ग्राम प्रहरियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ग्राम प्रहरी पुलिस विभाग मे एक मजबूत कडी है जो अपने आसपास की गतिविधियों पर सतर्क नजर रखते हैं, जिससे किसी घटना को घटित होने से रोका जा सकता है। उनके द्वारा सभी को समय से सूचना देने व अपने दायित्वों का अच्छी तरह से निर्वहन करने हेतु प्रेरित किया गया। सभी ग्राम प्रहरियों को अपनी डयूटी को सतर्कता पूर्वक करने व किसी भी प्रकार की कोई भी सूचना तत्काल थाना प्रभारी को देने हेतु बताया गया। पुलिस उपमहानिरीक्षक शलभ माथुर द्वारा रिजर्व पुलिस लाइन्स प्रांगण में आयोजित नेत्र शिविर का निरीक्षण किया गया। शिविर में वाहन चालक अपनी ऑखों का इलाज, शुगर, ब्लड प्रेशर आदि की जाँच करा रहे थे। डीआईजी द्वारा सभी चालकों को यातायात नियमों का पालन करने, वाहन चलाते समय किसी भी नशे का सेवन न करने हेतु बताया गया तथा सभी को समय-समय पर अपनी जाँच कराने हेतु प्रेरित किया गया। शिविर में नेत्र रोग विशेषज्ञ, शुगर रोग विशेषज्ञ व अन्य स्पेशलिस्ट डॉक्टर मौजूद रहे।

GGIC में सड़क सुरक्षा से संबंधित जागरूक शपथ दिलाई- उन्होंने राजकीय बालिका इंटर कॉलेज बिजनौर में पहुंच कर स्कूलों के बच्चों के साथ सडक सुरक्षा सप्ताह के तहत सड़क सुरक्षा से संबंधित जागरूक शपथ दिलाई तथा सभी को सडक सुरक्षा में जागरुक करते हुए बताया गया कि

1- ट्रैफिक सिग्नल का अर्थ समझना ।
2- रुको, देखो फिर सड़क पार करो ।
3- ध्वनि पर ध्यान दें ।
4- सड़क पर दौड़ें नहीं ।
5- फुटपाथ का उपयोग करें ।
6- पेडेस्ट्रियन से करें सड़क पार ।
7- वाहन के बाहर हाथ न निकालें ।
8- मोड़ से सड़क पार न करें ।
9- ड्राइविंग के नियमों का पालन करे ।
10- चलते वाहन में सुरक्षित बैठना ।
11- वाहन के रुकने के बाद ही चढ़ना और उतरना ।
12- हमेशा किनारे पर ही उतरें ।
13- स्कूल बस का इस्तेमाल हमेशा लाइन में रहकर करें ।
14- उतरने वाले यात्रियों को पहले अवसर दें ।
15- हाथ का इशारा दें ।

इस दौरान जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक एवं अन्य पुलिस अधिकारी एवं स्कूल का स्टाफ उपस्थित रहा।

पांच बकायेदारों को जेल, डेढ़ सौ पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार

सहकारिता विभाग की सख्त कार्रवाई, पांच बकायेदारों को जेल, डेढ़ सौ पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार

बिजनौर। सहकारिता विभाग द्वारा सहकारी समितियों से ऋण लेकर समय से जमा ना करने वाले बकायेदारों के खिलाफ गिरफ्तारी की कार्यवाही शुरू कर दी गई है। गुरुवार को ऐसे ही 5 बकायेदारों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। यही नहीं जनपद में 150 बकायेदारों के खिलाफ भी वसूली ना होने की दशा में गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। सहायक आयुक्त एवं सहायक निबन्धक, सहकारिता बिजनौर, डा० प्रदीप कुमार द्वारा बताया गया कि जिलाधिकारी बिजनौर द्वारा सहकारिता विभाग के बड़े बकायेदारों के खिलाफ गिरफ्तारी वारन्ट एवं कुर्की आदेश जारी करने के निर्देश जनपद के सभी उपजिलाधिकारी एवं तहसीलदारों को देते हुए जनपद की सहकारिता विभाग की वसूली में तेजी लाने के निर्देश दिये गए हैं। गिरफ्तारी एवं कुर्की हेतु पुलिस अधीक्षक बिजनौर द्वारा विशेष रूप से 10 सशस्त्र पुलिस जवान सहकारिता विभाग को उपलब्ध करा दिये गये हैं। इसी कार्यवाही के तहत गुरुवार को सहकारिता विभाग द्वारा 3.20 लाख रू० के बकायेदार महेन्द्र पुत्र रामेश्वर, 2.58 लाख रू० के बकायेदार राजवीर पुत्र राजेन्द्र दोनों निवासी- मलकपुर, 3.68 लाख रू0 के बकायेदार मनोज पुत्र बलवन्त निवासी मुकरपुरी, 3.70 लाख के बकायेदार रियाज पुत्र शकील निवासी- सिरवासु चन्द, 1.22 लाख के बकायेदार कृपाल पुत्र सुखवा सिंह, निवासी – अमीनाबाद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। डा० प्रदीप कुमार सिंह ने बताया कि जनपद में 150 बकायेदारों के खिलाफ गिरफ्तार वारन्ट प्राप्त कर लिये गये हैं, वसूली ना होने की दशा में उन पर भी गिरफ्तारी की कार्यवाही करते हुए इसी प्रकार अन्य बकायेदारों से वसूली की कार्यवाही की जायेगी।

दो पक्षों में दिनदहाड़े जमकर हुई  गोलीबारी, राहगीर घायल

बिजनौर। हीमपुर दीपा थाना क्षेत्र के गांव मुकरपुर गुर्जर में दो गुटों में दिनदहाड़े फायरिंग हो गई। घटना में वहां से गुजर रहा ग्रामीण घायल हो गया। उसे उपचार के लिये जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

जानकारी के अनुसार हीमपुर दीपा थाना क्षेत्र के गांव मुकरपुर गुर्जर में कुछ लोगों द्वारा की गई दिनदहाड़े फायरिंग में उलेढ़ा निवासी जयपाल पुत्र हिरदाराम गंभीर रूप से घायल हो गया। गोली जयपाल सिंह के सीने के दाएं तरफ लगी है। बताया गया है कि जयपाल सिंह पूर्व प्रधान बलराम सिंह की बैठक पर बैठे हुए थे। आरोप है कि इस दौरान दो पक्षों में जमकर मारपीट व गोलीबारी शुरू हो गई। घटना गांव मुकरपुर निवासी शोभाराम पुत्र रामपाल सिंह को बुरी तरह मारा-पीट कर  घायल कर दिया गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को उपचार के लिए जिला संयुक्त चिकित्सालय भेज दिया। क्षेत्राधिकारी चांदपुर सुनीता दहिया ने मामले की जांच पड़ताल की। घटना के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है। थानाध्यक्ष का कहना है कि अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस अग्रिम कार्रवाई में जुटी है।

ईसीएचएस पॉलीक्लिनिक भवन निर्माण संघर्ष समिति का गठन

बिजनौर। वर्ष 2011 से ईसीएचएस पॉलीक्लिनिक भवन का निर्माण न होने से पूर्व सैनिकों में रोष है। इसी को लेकर शासन प्रशासन का ध्यान आकर्षित करने के लिए ईसीएचएस पॉलीक्लिनिक भवन निर्माण संघर्ष समिति का गठन किया गया। अब समिति इस बेहद महत्वपूर्ण मामले में संबंधित अधिकारियों से वार्ता करेगी।

बताया गया है कि बिजनौर में ईसीएचएस पॉलीक्लिनिक भवन का निर्माण किया जाना है। सेना मुख्यालय की ओर से प्रशासनिक विभाग स्टेशन हेड क्वार्टर मेरठ को भूमि का आवंटन नहीं हो पाया है। इसी मामले को लेकर काकरान वाटिका बिजनौर में पूर्व सैनिकों की एक बैठक हुई। बैठक में सर्वसम्मति से ईसीएचएस पॉलीक्लिनिक भवन निर्माण संघर्ष समिति का गठन किया गया। बैठक की अध्यक्षता पूर्व सैनिक डीपीएस रावत ने की जबकि संचालन अजय फौजी ने किया। संघर्ष समिति के संरक्षक डीपीएस रावत होंगे। पांच सदस्यों में पूर्व सैनिक अजय सिंह, पूर्व सैनिक कंवरपाल सिंह, पूर्व सैनिक हरविंदर सिंह, पूर्व सैनिक कृष्ण वीर सिंह शर्मा व पूर्व सैनिक हेमेंद्र पाल सिंह होंगे।

झालू में विनायक अस्पताल के कैम्प में 307 मरीजों ने कराया फ्री इलाज

बिजनौर। शांति देवी चैरिटेबल ट्रस्ट की ओर से परिवार दिवस पर विनायक हॉस्पिटल ने कस्बा झालू में रविदास मंदिर धर्मशाला में रविवार को मुफ्त स्वास्थ्य शिविर आयोजित कराया। शिविर में 307 मरीजों ने मुफ्त उपचार और दवाइयां ली।


हॉस्पिटल इंचार्ज व फिजिशियन डॉक्टर दिग्विजय चौधरी और डॉक्टर रूपक की अगुवाई में शिविर में डॉक्टर इशरत जहां ने काफी महिलाओं की बीमारियों का चेकअप किया और उन्हें फ्री दवाइयां उपलब्ध कराई।


इनके साथ ही जनरल फिजिशियन डॉक्टर रूपक, नैचुरोपैथी चिकित्सक डॉक्टर अमित उपाध्याय, डॉक्टर यश कुमार और डॉक्टर प्रशंसा आदि चिकित्सकों ने अनेक बीमारियों से ग्रसित बीमारों का फ्री उपचार किया।

ट्रस्ट की ओर से हॉस्पिटल महाप्रबंधक राकेश मलिक ने शिविर में अधिक से अधिक मरीजों की समस्याओं को दूर करने का आह्वान किया। बताया कि विनायक अस्पताल के डॉक्टर के साथ शांति देवी चैरिटेबल ट्रस्ट समाज की सेवा के प्रति हमेशा काम कर रहा है। कहा कि समाज सेवा ही मानव का सबसे बड़ा धर्म है। उन्होंने बताया कि हर साल ट्रस्ट की ओर से लोगों को फ्री चिकित्सा दिलाने के लिए कैम्प आयोजित कराए जाते हैं।

कैम्प में फ्री चेकअप के साथ ही दवाइयां भी वितरित की जाती हैं। कैम्प में विनायक कॉलेज शिक्षिका रश्मि चौधरी, संदीप सिंह, निकुंज शर्मा, स्वास्थ्य कर्मी बबली, पूजा रानी, जितेंद्र सिंह, नितिन कुमारी, तनुजा शर्मा, अलका सैनी, निखिल आदि ने मरीजों की सेवा की।

व्हाट्सएप्प ग्रुप के जरिये समस्या सुलझाएंगे बिजली अधिकारी


राज्यमंत्री ऊर्जा एवं वैकल्पिक ऊर्जा विभाग उत्तर प्रदेश सोमेंद्र तोमर ने ऊर्जा विभाग के अधिकारियों को विधानसभावार व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर उसमें जन प्रतिनिधियों को अनिवार्य रूप से शामिल करने तथा ग्रुप पर प्राप्त होने वाली जन शिकायतों को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारित करने एवं जनप्रतिनिधियों से नियमित रूप से संपर्क एवं समन्वय बनाए रखने के दिए निर्देश

बिजनौर। राज्यमंत्री ऊर्जा एवं वैकल्पिक ऊर्जा विभाग उत्तर प्रदेश सोमेंद्र तोमर ने ऊर्जा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जन प्रतिनिधियों के साथ नियमित रूप से समन्वय बनाए रखें और विद्युत चोरी रोकने तथा विद्युत देयकों के भुगतान जैसे अहम कार्यों में उनका सहयोग प्राप्त करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि जन सामान्य की विद्युत से संबंधित समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण गुणवत्ता और समयबद्धता के साथ निस्तारण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि यदि पूर्ण गंभीरता और संवेदनशीलता के साथ निचले स्तर पर ही समस्या का निराकरण कर दिया जाए तो समस्या विकराल रूप धारण नहीं कर सकती। उन्होंने सभी अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देश दिए कि विधानसभावार व्हाट्सएप ग्रुप बनाएं और उसमें जन प्रतिनिधियों को भी अनिवार्य रूप से शामिल करें। विद्युत विभाग के अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि विद्युत देय के बड़े बक़ायादारों की सूची बना कर उनसे वसूली के लिए गंभीरतापूर्वक प्रयास करें।


राज्यमंत्री श्री तोमर कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित विद्युत विभाग के कार्याें की प्रगति से संबंधित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे।
उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के नागरिकों को हर सम्भव राहत और सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्व है और उसमें ज्यादा से ज्यादा सुधार के लिए प्रयासरत भी है। उन्होंने निर्देश दिए कि जिले में निर्धारित रोस्टर के अनुसार विद्युत आपूर्ति करना सुनिश्चित करें तथा किसी कारणवश विद्युत आपूर्ति में बाधा उत्पन्न होती है तो उसकी सूचना संबंधित क्षेत्र के आम नागरिकों को उपलब्ध कराएं। उन्होंने कार्य में पारदर्शिता लाने के लिए निर्देशित किया कि सभी अधिशासी अभियन्ता विधानसभावार व्हाट्सअप ग्रुप बनाएं और उसमें क्षेत्रीय जन प्रतिनिधियों को अनिवार्य रूप से शामिल करते हुए महत्वपूर्ण कार्य की सूचना उपलब्ध कराएं। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि वाहट्सअप ग्रुप पर आने वाली समस्याओं का निस्तारण भी पूर्ण गंभीरता और तत्परता के साथ करें ताकि उक्त समस्या इसी स्तर पर निस्तारित हो सके।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा ऊर्जा के क्षेत्र में नए प्रयास किए जा रहे हैं, जिसमें उपभोक्ताओं को विद्युत ऊर्जा के अलावा वैकल्पिक ऊर्जा के तौर पर सौर ऊर्जा के साथ-साथ पवन ऊर्जा भी उपलब्ध कराई जाएगी। भविष्य में वैकल्पिक ऊर्जा अपना महत्वपूर्ण स्थान ग्रहण करेगी, जिससे आम नागरिकों को सस्ती ऊर्जा के साथ ही स्वच्छ पर्यावरण का लाभ भी प्राप्त होगा।

अब सोलर ऊर्जा के साथ उपभोक्ताओं को मिलेगी पवन ऊर्जा- जिले के दौरे पर आए राज्यमंत्री ऊर्जा एवं वैकल्पिक ऊर्जा विभाग सोमेंद्र तोमर ने कहा कि बिजली ही नहीं अब सोलर ऊर्जा के साथ उपभोक्ताओं को पवन ऊर्जा भी उपलब्ध कराने की दिशा में सार्थक प्रयास चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि 2017 से पहले यूपी के कुछ जिलों में ही बिजली पहुंच पाती थी। आज सभी जिलों में एकरूपता के आधार पर बिजली दी जा रही है। 2017 के बाद उत्तर प्रदेश विकास के पथ पर और संस्कृति में भी आगे बढ़ा है। पहले उत्तर प्रदेश बीमार राज्य कहा जाता था, आज 40 स्थानों में उत्तर प्रदेश नंबर एक पर है। उन्होंने आश्रवस्त करते हुए कहा कि कुछ समय पहले विद्युत आपूर्ति के सम्बन्ध में कुछ कारणों से थोड़ी समस्या उत्पन्न हुई थी, लेकिन वर्तमान में उसमें सुधार कर लिया गया है और आगे भी निरन्तर रूप से सुधार किया जाएगा। वर्तमान में बिजली की आपूर्ति पहले से बेहतर है।
श्री तोमर ने यह भी बताया कि सरकार प्रयास कर रही है कि सभी सरकारी दफ्तरों पर सोलर एनर्जी से कनैक्शन दिये जायें, जिसके अंतर्गत वैकल्पिक ऊर्जा स्त्रोतों के दोहन कर कुछ जगह सरकारी संस्थाओं में इसकी शुरुआत भी कर दी गई है। उन्होंने बताया कि उपभोक्ताओं को निर्बाध बिजली आपूर्ति के लिए प्रदेश में विद्युत नेटवर्क को बेहतर व आधुनिक बनाने के क्षेत्र में लगातार सार्थक रूप से प्रयास किए जा रहे हैं ताकि आमजन और उद्योगों को भरपूर बिजली मिले।
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष साकेन्द्र प्रताप सिंह, विधायक नहटौर ओम कुमार, जिलाधिकारी उमेश मिश्रा, अधीक्षण अभियंता विद्युत के अलावा विद्युत विभाग के अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

सरकारी ठेकों पर अब नहीं बिक सकेगी तस्करी की शराब

13 मई 2022 को दैनिक जनवाणी के पेज नंबर 02 पर प्रकाशित बिजनौर से सचिन वर्मा की रिपोर्ट… अब नहीं बिक सकेगी तस्करी की शराब

अब तस्करी की शराब सरकारी दुकानों पर नहीं बिक सकेगी। इसके साथ ही कोई भी दुकान स्वामी या सेल्समैन शराब की बिक्री में गड़बड़ नहीं कर सकेगा। इसके लिए आबकारी विभाग ने एक अच्छा कदम उठाया है। विभाग की ओर से शराब की दुकानों पर पोस मशीन उपलब्ध कराई जा रही हैं। इस मशीन के माध्यम से विभाग के पास दुकानों पर होने वाले प्रत्येक दिन की बिक्री व स्टॉक का पूरा लेखा जोखा ऑनलाइन उपलब्ध होगा। इसके साथ ही बार कोर्ड स्कैन किए बिना अब एक भी बोतल नहीं बेची जा सकेगी।

पूर्व में कई ऐसे मामले सामने आए हैं जिनमें खुलासा हुआ है कि शराब की दुकानों पर तस्करी की शराब भी बेची जाती रही है। इसके अलावा विभाग को चूना लगाने के लिए कुछ दुकान स्वामी व सेल्समैन तरह-तरह के हथकंडे अपनाने से भी पीछे नहीं हटते हैं। विभाग ने ऐसे लोगों पर अंकुश लगाने व पारदर्शिता बरतने के लिए पोस मशीन को सहारा बनाया है। आबकारी विभाग की ओर से जनपद के सभी शराब की दुकान स्वामियों को पोस मशीन देने का कदम उठाया है। इन पोस मशीनों के माध्यम से विभाग के पास सभी दुकानों पर प्रत्येक दिन होने वाली शराब की बिक्री व दुकानों पर बचे स्टॉक का पूरा लेखा जोखा बस एक बटन दबाते ही उपलब्ध हो जाएगा। इतना ही नहीं शराब बेचने वाले सेल्समैन को शराब बेचते समय बार कोड स्कैन करना ही होगा। बिना बार कोड स्कैन किए एक भी बोतल को नहीं बेचा जा सकेगा। विभाग की ओर से शराब की दुकान स्वामियों को पोस मशीन वितरित की जा रही हैं।

दुकान स्वामियों को वितरित की मशीनें

गुरुवार को जिला मुख्यालय पर नजीबाबाद की आबकारी निरीक्षक मोनिका यादव ने नजीबाबाद के दुकान स्वामियों को पोस मशीनों का वितरण किया। उन्होंने सभी दुकान स्वामियों से बताया कि अब बिना बार कोड स्कैन किए एक भी बोतल को नहीं बेचा जाएगा। दुकान पर हुई बिक्री व स्टॉक का पूरा लेखा जोखा इस मशीन में फीड होगा। उन्होंने बताया कि यह पोस मशीने धामपुर, चांदपुर व नजीबाबाद के दुकान स्वामियों को वितरित की जा चुकी हैं।

मशीन बनेगी आबकारी विभाग का हथियार

आबकारी विभाग की ओर से बांटी जा रही पोस मशीने आबकारी विभाग के लिए किसी हथियार से कम साबित नहीं होगी। आबकारी विभाग के अधिकारी इसी हथियार के माध्यम से अब शराब तस्करों की कमर तो तोड़ ही सकेंगे साथ ही एक बटन दबाते ही दुकान का पूरा ब्योरा उनके सामने होगा। यह कहना गलत नहीं होगा कि जो लोग लाइसेंस की आड़ में दुकानों पर तस्करी की शराब बेचते हैं वह अब ऐसा नहीं कर पाएंगे। पोस मशीन से शराब की तस्करी पर भी अंकुश लगेगा।

जनपद में सभी दुकानों पर पोस मशीन रहेंगी। बिना कोड स्कैन किए अब एक भी बोतल नहीं बेची जाएगी। धामपुर, चांदपुर व नजीबाबाद के दुकान स्वामियों को पोस मशीने बांटी जा चुकी हैं। अन्य को बांटी जा रही है। पोस मशीन में शराब की दुकान की बिक्री का पूरा ब्योरा व स्टॉक का पूरा रिकार्ड उपलब्ध होगा। –गिरीशचंद्र वर्मा आबकारी अधिकारी, बिजनौर

हमने गुरुवार को नजीबाबाद के सभी दुकान स्वामियों को पोस मशीने उपलब्ध करा दी हैं। पोस मशीनों के माध्यम से दुकान का रिकार्ड रखना काफी आसान होगा। पोस मशीन कोड एक ही बार स्कैन करेगी। कोड को पुनः प्रयोग नहीं किया जा सकेगा। इससे अवैध शराब की बिक्री पर भी रोक लगेगी। –मोनिका यादव, आबाकरी निरीक्षक, नजीबाबाद

राज्यपाल ने किया सखी वन स्टॉप सेंटर का लोकार्पण

राज्यपाल उत्तर प्रदेश श्रीमती आनंदीबेन पटेल द्वारा जिला संयुक्त चिकित्सालय स्थित महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संचालित सखी वन स्टॉप सेंटर का लोकार्पण किया गया, अधिकारियों से महिला उत्पीड़न, घरेलू हिंसा, दहेज उत्पीड़न इत्यादि मामलों के बारे में चर्चा की और मामलों को शीघ्र निस्तारित करने तथा वन स्टाप सेंटर के तहत सभी प्रकार की हिंसा से पीड़ित महिलाओं व बालिकाओं को अधिकतम पांच दिन तक अस्थायी आश्रय, पुलिस-डेस्क, विधि सहायता, चिकित्सा एवं काउंसिलिंग की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

बिजनौर। राज्यपाल उत्तर प्रदेश श्रीमती आनंदीबेन पटेल द्वारा जिला बिजनौर भ्रमण कार्यक्रम के अंतर्गत अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के दौरान महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संचालित सखी वन स्टॉप सेंटर का लोकार्पण किया गया। कार्यदायी संस्था ग्रामीण अभियंत्रण विभाग बिजनौर द्वारा निर्मित किए जाने वाले सखी वन स्टॉप सेंटर को रुपए 24,34,686 की लागत से तैयार किया गया है।
One Stop Center Helpline- महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा कार्यान्वित वन स्टाप सेंटर योजना (सखी) महिलाओं के लिए मददगार साबित हो रही है। किसी महिला के साथ मारपीट, घरेलू हिंसा, दहेज उत्पीड़न या अन्य कोई घटना होती है तो वन स्टाप सेंटर के माध्यम से पीड़ित को न्याय दिलाया जाता हैै।


राज्यपाल ने जिला अस्पताल में विभागीय अधिकारियों से महिला उत्पीड़न, घरेलू हिंसा, दहेज उत्पीड़न इत्यादि मामलों के बारे में चर्चा की और मामलों को शीघ्र निस्तारित करने तथा वन स्टाप सेंटर के तहत सभी प्रकार की हिंसा से पीड़ित महिलाओं व बालिकाओं को अधिकतम पांच दिन तक अस्थायी आश्रय, पुलिस-डेस्क, विधि सहायता, चिकित्सा एवं काउंसिलिंग की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि महिला उत्पीडन से संबंधित किसी भी प्रकार की सहायता के लिए वन स्टाप सेंटर हेल्पलाइन नंबर पर सहायता के संपर्क स्थापित किया जा सकता है।
इस अवसर पर जिलाधिकारी उमेश मिश्रा, पुलिस अधीक्षक डॉ धर्मवीर सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन विनय कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक नगर डॉक्टर प्रवीन रंजन, संजय कुमार यादव के अलावा अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

फर्जी कोटेदार ने जमाया तालाब पर कब्जा!

बिजनौर। एक तरफ सरकार पूरे उत्तर प्रदेश में तालाबों को अवैध कब्जा से मुक्त कराने में जुटी हुई है। प्रशासनिक अमला दिन रात एक किये हुए है।

वहीं एक सरकारी कर्मचारी की कृपा के चकते कक्षा पांच की फर्जी अंक तालिका के जरिए सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान चलाने वाले कोटेदार ने तालाब पर कब्जा जमा लिया है।

दरअसल मामला धामपुर तहसील अंतर्गत विकास खण्ड नहटौर, ग्राम मांडू, पोस्ट बसेड़ा खुर्द का है। ग्रामीणों की शिकायत के अनुसार असलम पुत्र असगर ने पूर्व में तालाब खसरा संख्या 315 को समाप्त कर अपना व अपने परिजनों का भवन निर्माण किया हुआ है।

यही नहीं वर्तमान में फर्जी अंकतालिका के द्वारा राशन डीलर के पद पर काबिज है। इस मामले में पूर्व में कई बार संबंधित अधिकारियों से शिकायत भी की गई, लेकिन वह आम जनता के पैसों के द्वारा खुद को बचाता चला आ रहा है।

आरोप है कि उक्त फर्जी कोटेदार को पटवारी नितिन तोमर का वरदहस्त प्राप्त है। कई बार उनके मोबाइल नंबर 8171358109 पर कॉल के बावजूद महोदय ने फ़ोन रिसीव नहीं किया।

थक हार कर अब ग्रामीणों ने मामले की शिकायत मुख्यमंत्री पोर्टल पर की है।

अधिकारी प्राथमिकता से करें आम नागरिक की समस्या का निस्तारण-संदीप सिंह


विकास एवं जन कल्याणकारी योजनाओं में अनियमितता एवं लाभार्थी को किसी भी प्रकार से प्रताड़ित किए जाने का मामला प्रकाश में आने पर संबंधित विभागीय अधिकारी के विरूद्व जीरो टॉलरेन्स के आधार पर कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाए तथा सभी अधिकारी अपने पास आने वाले आम नागरिक की समस्या का पूर्ण मानक और गुणवत्ता के आधार पर निस्तारण करना सुनिश्चित करें- राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), बेसिक शिक्षा विभाग उ0प्र0 सरकार संदीप सिंह

बिजनौर। राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), बेसिक शिक्षा विभाग उ0प्र0 सरकार संदीप सिंह ने स्पष्ट करते हुए कहा कि राज्य सरकार विकास कार्यों की गुणवत्ता के प्रति अति संवेदनशील और गंभीर है और प्रयासरत है कि विकास एवं जन कल्याणकारी योजनाओं का भरपूर लाभ प्रदेश के सभी नागरिकों को प्राप्त हो तथा शासकीय योजनाओं को पूर्ण मानक एवं गुणवत्ता के साथ क्रियान्वित किया जाए और उनका लाभ पंक्ति के अन्त में खड़े व्यक्ति को भी निश्चित रूप से पहुंचे। उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि विकास एवं जन कल्याणकारी योजनाओं में अनियमितता एवं लाभार्थी को किसी भी प्रकार से प्रताड़ित किए जाने का मामला प्रकाश में आने पर संबंधित विभागीय अधिकारी के विरूद्व कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि सभी अधिकारी अपने पास आने वाले आम नागरिक की समस्या का पूर्ण मानक और गुणवत्ता के आधार पर निस्तारण करना सुनिश्चित करें और यदि कार्य किया जाना सम्भव न हो तो संबंधित व्यक्ति को उसका कारण बताया जाए ताकि वह संतुष्ट हो सके।
राज्य मंत्री शाम 04ः00 बजे विकास भवन के सभागार में अपराध/कानून व्यवस्था एवं विकास कार्याें की प्रगति की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे।
उन्होंने सभी अधिकारियों को शासकीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों की प्रगति अद्यतन रखने के निर्देश देते हुए कहा कि सभी योजनाओं के गुणवत्तापरक क्रियान्वयन और उनका लाभ पात्र व्यक्तियों तक पहुंचाए जाने के कार्य की उच्च स्तर पर भी समीक्षा की जाएगी। अतः सभी अधिकारी अपने दायित्वों का निर्वहन पूर्ण निष्ठा एवं निष्पक्षता के साथ करना सुनिश्चित करें। उन्होंने सभी अधिकारियों को स्पष्ट करते हुए कहा कि शासन की मंशा इसके अलावा और कुछ नहीं है कि शासकीय योजनाओं को पूर्ण मानक एवं गुणवत्ता के साथ क्रियान्वित किया जाए और उनका लाभ पंक्ति के अन्त में खड़े व्यक्ति को भी निश्चित रूप से पहुंचे।

डीएम ने उपलब्ध कराई प्रगति आख्या-
इस अवसर पर जिलाधिकारी उमेश मिश्रा ने जिले में शासन द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों की प्रगति की विस्तार में जानकारी उपलब्ध कराई और बताया कि लगभग सभी योजनाओं में जिले को सम्मानजनक स्थान प्राप्त है तथा एनआरएलएम में जिला कई वर्षाें से प्रदेश में प्रथम स्थान पर रहा है। उन्होंने बताया कि महिला सशक्तिकरण एवं उन्हें स्वालम्बी बनाने के लिए जिले में विशिष्ठ कार्य किए जा रहे हैं, जिनके सुपरिणाम महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण के रूप में सामने आ रहे हैं। उन्होंने मंत्री से धामपुर में 100 बेड के तैयार अस्पताल के लिए चिकित्सक, मेडिकल एवं पेरा मेडिकल स्टाफ उपलब्ध कराने का अनुरोध करते हुए उक्त अस्पताल के संचालन से स्थानीय और आसपास के लोगों को भारी स्वास्थ्य लाभ प्राप्त हो सकेगा। उन्होंने नगर क्षेत्र चांदपुर, किरतपुर एवं हल्दौर में जर्जर भवनों के लिए शासन से धनराशि उपलब्ध कराने तथा नजीबाबाद-बालावाली-लक्सर मार्ग पर गंगा नदी के सेतु के पहुंच मार्ग निर्माण एवं सुरक्षात्मक कार्याें के लिए भी शासन से आलोच्य वित्तीय वर्ष में एक मुश्त समुचित धनराशि उपलब्ध कराने का भी अनुरोध किया। उन्होंने राज्य मंत्री को विश्वास दिलाते हुए कहा कि उनके द्वारा दिये गये निर्देशों का अक्षरत पालन सुनिश्चित किया जाएगा और शासन की मंशा और भावना के अनुरूप शासकीय कार्यक्रमों एवं योजनाओं को पूर्ण गुणवत्ता और पारदर्शिता के साथ सम्पन्न कराया जाएगा।

इस अवसर पर विधायक बिजनौर सूची चौधरी, नहटौर ओमकुमार, बढापुर सुशांत सिंह, पुलिस अधीक्षक डॉ0 धर्मवीर सिंह, मुख्य विकास अधिकारी कामता प्रसाद सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन विनय कुमार सिंह, परियोजना निदेशक ज्ञानेश्वर तिवारी, जिला विकास अधिकारी, उपजिलाधिकारी सदर, अर्थ एवं संख्या अधिकारी के साथ ही अन्य प्रशासनिक तथा जिला स्तरीय अधिकारी व भाजपा जिलाध्यक्ष मौजूद थे।

मीडिया के सवालों से विचलित हो उठे मंत्री जी! बैठक के उपरांत मंत्री द्वारा स्थानीय पत्रकार बंधुओं के साथ प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया। इस दौरान पत्रकार बंधुओं ने जनता की विभिन्न प्रकार की समस्याओं से अवगत कराया। वरिष्ठ पत्रकार नरेंद्र मारवाड़ी ने जनपद में बांटे जा रहे राशन में प्रति उपभोक्ता आधा किलो घटतौली का मुद्दा उठाया। वहीं संजीव शर्मा ने पूछ लिया कि उनके ग्राम धर्मनगरी में जान चौपाल कार्यक्रम के दौरान कुछ फरियादियों को दुत्कार कर भगा क्यों दिया गया? इनके अलावा अवनीश त्यागी ने नमामि गंगे व पौधरोपण कार्यक्रम में शासकीय धन के दुरुपयोग का मामला उठाया। मंत्री ने पत्रकारों द्वारा अवगत कराई गई शिकायतों की जांच व कार्रवाई के निर्देश जिलाधिकारी को दिये। हालांकि पत्रकार वार्ता के बीच में ही सवालों से विचलित मंत्री उठकर मुख्य विकास अधिकारी के कार्यालय में जा बैठे।

तीन युवक गंगा में डूबे, तलाश जारी

बिजनौर। बास्टा के मोहल्ला बेनियोवाला निवासी एक ही परिवार के तीन युवक गंगा नदी पर बने पुल के पास नहाते समय डूब गए। सूचना पर पुलिस व सैकड़ों लोग गंगा पर एकत्र हो गए।


जलीलपुर क्षेत्र में गंगा पुल के सहारे नहाने को उतरे बास्टा के चार युवक डूब गये। एक युवक को बचा लिया गया, जबकि तीन पानी में समा गये। डूबे युवकों की तलाश में स्थानीय गोताखोर तलाश में जूट गए।

सूचना पर पहुंची  हस्तिनापुर पुलिस व पांडव नगर पुलिस ने बचाव कार्य शुरू कर दिया।
बताया गया है कि फारूख पुत्र नसीम (18 वर्ष) वाजिद पुत्र तौला (21 वर्ष) एवं फुरकान पुत्र शामीम (17 वर्ष) मोबाइल फोन से सेल्फी ले रहे थे। उसी समय ये हादसा हो गया।


इनमें से फारूख व फुरकान ‌दिल्ली में वैल्डिंग रंग पेंटर तथा वाजिद एक फाइनेंस कंपनी में काम करता था। तीनों आपस में तहेरे चचेरे भाई बताए गए हैं।

एक दिन पहले कोटद्वार की खोह नदी में डूबने से हुई चार की मौत

इससे एक दिन पहले उत्तराखंड में पौड़ी गढ़वाल जिले के कोटद्वार में जिला बिजनौर के सराय नगीना निवासी चार युवकों की खोह नदी में कोटद्वार-दुगड्डा मार्ग के बीच डूबकर मौत हो गई। मौके पर पहुंची कोटद्वार पुलिस ने शवों को अपने कब्जे में लेकर बेस अस्पताल कोटद्वार भेज दिया।  कोटद्वार कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक विजय सिंह ने बताया कि घटना शाम 5 बजे कोटद्वार दुगड्डा मार्ग पर दुर्गा देवी मंदिर के समीप हुईं।

दो की हालत गंभीर
प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि, आसपास के लोगों ने इसकी सूचना 112 पर दी। मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने 6 लोगों को रेस्क्यू कर बाहर निकाला। इस घटना में 4 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 2 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। इनके साथ दो बच्चे भी थे जो नहा नहीं रहे थे। घटना में नदीम (42) पुत्र अनीश, जेब (29) पुत्र शाहिद, गुड्डू (24) पुत्र शाहिद निवासी निकट पुलिस चौकी नगीना बिजनौर यूपी और गालिब (15) पुत्र खालिद निवासी सीसी सराय नगीना बिजनौर यूपी की मौके पर मौत हो गई।

पहले भी डूब चुके हैं लोग
वन विभाग और पुलिस लगातार खोह नदी में लोगों को नहाने और आखेट को लेकर चेतावनी जारी करते रहते हैं लेकिन लोगों पर चेतावनी का फर्क नहीं पड़ता और इस तरह के हादसे होते जाते हैं। जानकारों का मानना है कि खोह नदी में स्थान-स्थान पर भंवर हैं, जिनमें फंसकर इससे पहले भी लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

मिशन कंपाउंड के तालाब की कौन, कब लेगा सुध

बिजनौर। जिला मुख्यालय के बीचों बीच इस तालाब की सुध लेने वाला कोई नहीं है। मिशन कंपाउंड का यह तालाब बरसों से सफाई और सुंदरीकरण के लिये तरस रहा है।

चित्र में दिखाई दे रही पीले रंग की बिल्डिंग में जिला पंचायत अध्यक्ष चौधरी साकेन्द्र प्रताप का भी फ्लैट बताया जाता है।

मिशनरीज़ की खुद की संपत्ति बताए जाने वाले इसी तालाब के समीप भारतीय जनता पार्टी के सिंबल पर दूसरी बार जिला पंचायत अध्यक्ष बने चौधरी साकेन्द्र प्रताप का भी फ्लैट है! उन्होंने भी इसके सुंदरीकरण की दिशा में कोई प्रयास नहीं किया।

मिशन कंपाउंड के तालाब में कूड़े का अंबार

मच्छर, कीड़े मकोड़े की भरमार- तालाब में गंदगी के कारण तरह-तरह के कीड़े मकोड़े, जीव जंतु तो यहां पल ही रहे हैं, वहीं मच्छर भी बहुतायत में हैं। इन मच्छरों के कारण बीमारियों के फैलने का खतरा मंडरा रहा है।

पालिका की कूड़ा गाड़ी नहीं आती- इस तालाब में आसपास के घरों की गंदगी भी फेंकी जाती है। इसका कारण ये है कि नगर पालिका परिषद की कूड़ा उठाने वाली गाड़ी इस किसी भी क्षेत्र में नहीं आती।

विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान- शासन के निर्देशों के अनुपालन में प्रत्येक वर्ष अंतर्विभागीय सहयोग से विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान संचालित होता है, लेकिन इस तालाब की सुध लेने वाला कोई नहीं।

बरसात में घरों में घुस आते हैं सांप- बरसात के दिनों में इस तालाब में रहने वाले खतरनाक कीड़े मकोड़े, सांप आदि आसपास के घरों में घुस जाते हैं। लोग सतर्क न रहें तो कभी भी बड़ी त्रासदी के आसार हैं।

शिकायत से ख़फ़ा डीलर ने बंद किया गरीबों का राशन

बिजनौर। राशन डीलर द्वारा तय मात्रा से कम मात्रा में राशन देने के सम्बन्ध में उपजिलाधिकारी चान्दपुर से शिकायत करना गरीब उपभोक्ताओं को भारी पड़ा है। नाराज डीलर ने उनके कार्ड निरस्त कराने की धमकी देते हुए राशन देना बंद कर दिया है। अब मामला जिलाधिकारी के दरबार में पहुंच गया है।

मामला ग्राम महबुल्लापुर ढाकी वि०ख० जलीलपुर जिला बिजनौर का है। यहां के रहने वाले तथा सरकार द्वारा पात्र राशन प्राप्तकर्ता उपभोक्ता राशन डीलर की मनमानी का शिकार हो कर रह गए हैं। आरोप है कि गांव का अधिकृत राशन डीलर यकील अहमद सभी ग्रामवासियों को तय मात्रा से कम मात्रा में राशन देता है। यही नहीं जितना देता है वो भी तौले गये राशन से कम निकलता है। भुक्तभोगियों ने जब उक्त राशन डीलर से ऐसा करने से मना किया तो वह आगबबूला हो कर गाली गलौज व धमकाते हुए कहने लगा, लेना हो तो लो वरना राशनकार्ड ही निरस्त करा दूंगा।

ऊपर तक पहुंचाता हूं पैसा!- पीड़ितों का कहना है कि जब उन्होंने कहा कि उन्हें तो सरकार द्वारा तय राशन ही चाहिए तो उसने कहा जो तुम से हो कर लेना, मेरी पहुंच ऊपर तक है। सब को पैसे पहुंचाता हूं, मेरा किसी से कुछ नहीं होने वाला है। इस सम्बन्ध में दिनांक  25.02.2022 को एक पत्र उपजिलाधिकारी चान्दपुर को दिया गया। उन्होंने जांच करने हेतु कुछ कर्मचारी गांव में भेजे। उन कर्मचारियों ने कहा कि पूरे गांव से लिखवा कर दो; 5-10 आदमियों की शिकायत पर कोई कार्यवाही नहीं होगी। आरोप यह भी है कि जांच करने पहुंचे कर्मचारी राशन डीलर के घर में आधा घंटे तक बैठे रहे और उस से हमसाज होकर कोई कार्यवाही नहीं की।

…और करो मेरी शिकायत- जब इस शिकायत का पता राशन डीलर को लगा तो उसने शिकायतकर्ताओं को राशन देने से मना कर दिया और कहा कि और करो मेरी शिकायत,  तुम मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकते, जांच कर्मचारियों को भी सैट कर दिया है। इसके बाद आज तक उक्त राशन डीलर ने राशन देने से मना कर दिया और धमकाया कि वह राशनकार्ड निरस्त करवा कर ही दम लेगा। उक्त शिकायत पर उपजिलाधिकारी द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गयी उल्टा जांच कर्मचारी राशन डीलर से हमसाज होकर गरीब पात्र उपभोक्ताओं के लिये मुसीबत पैदा कर आये।

…अब डीएम से ही आसरा- जिलाधिकारी को भेजे शिकायती पत्र में कहा कि वह गरीब व मजदूर वर्ग के व्यक्ति हैं तथा उनके परिवार का भरण पोषण राशन से ही चलता है; जो कि पहले तो कम मिलता था अब बिल्कुल ही मिलना बंद हो गया है। पीड़ितों ने जिले के सर्वोच्च अधिकारी से प्रार्थना की है कि उक्त राशन डीलर के विरुद्ध उचित जांच कर उनका राशन दिलाया जाए। डीएम को शिकायती पत्र भेजने वाले गरीब उपभोक्ताओं में परवेज फुरकान, सलीम हैदर, मजहर, साबिर, तसलीम फात्मा, रेशमा साईद, फुरकान, मौ० मन् कलवा खां, कल्लो, हनीफ शामिल हैं।

नियमों को ताक पर रखकर मदरसे में नियुक्तियों की तैयारी!

बिजनौर। मदरसा मिफ्ताह उल उलूम. चान्दपुर में नियमों को दरकिनार कर विभिन्न पदों पर नियुक्तियों का प्रयास किया जा रहा है। इस संबंध में मदरसे के उप सचिव/ उप प्रबन्धक इफ्तेखार अहमद ने मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश को शिकायती पत्र भेजा है। पत्र में अनियमितता संबंधी जानकारी दी गई है।

प्रतीकात्मक तस्वीर

मुख्यमंत्री को प्रेषित पत्र में आरोप लगाया गया है कि तथाकथित प्रबन्धक / सेकरेट्री मदरसा मिफ्ताह उल उलूम, कराल रोड, चान्दपुर, जिला बिजनौर द्वारा एक स्थानीय समाचार पत्र में दिनांक : 19.04.2022 में सहायक अध्यापक (तहतानिया). सहायक अध्यापक (फौकानिया), प्रवक्ता/मुदर्रिस, कनिष्ठ सहायक एवं प्रधानाचार्य के पदों का नियम विरूद्ध विज्ञापन प्रकाशित कराया गया है।

शिकायतकर्ता ने बताया कि मदरसा मिफ्ताह उल उलूम, कराल रोड, चान्दपुर, जिला- बिजनौर शासन द्वारा मान्यता एवं सहायता प्राप्त एक अल्पसंख्यक मदरसा है। उक्त मदरसे के तथाकथित प्रबन्धक / सेकरेट्री मौ0 जीशान एवं मदरसा प्रधानाचार्य द्वारा हमसाज होकर कूटरचित एवं षड्यन्त्र रच कर उक्त मदरसे के रिक्त पदों को जिला अल्पसंख्याक कल्याण अधिकारी, बिजनौर के साथ मिल कर पदों पर नियुक्तियां करना चाह रहें है। उन्होंने बताया कि शासन की मंशा निस्तर समाचार पत्रों में प्रकाशित हो रही है, कि अब मदरसों में भी नियुक्तियां MTET उत्तीर्ण अभ्यार्थियों की ही नियमानुसार होनी है, जिससे मदरसे में अध्ययनरत छात्रों को गुणवत्ता के साथ साथ उच्चकोटि की शिक्षा प्राप्त हो सके, परन्तु मदरसे के तथाकथित प्रबन्धक, प्रधानाचार्य एवं जिला अल्पसंख्याक कल्याण अधिकारी, बिजनौर आपस में मिल कर अपने सगे सम्बन्धियों को नियुक्त करना चाह रहे हैं। उक्त के अतिरिक्त विभिन्न कारणें से भी उक्त विज्ञापन निरस्त होने योग्य है। इसकी क्रमवार जानकारी देते हुए बताया कि (01) मौ० जीशान प्रबन्धक / सेकरेट्री के चुनाव से सम्बन्धित एक वाद माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबद में याचिका संख्या 10898 / 2022 के अन्तर्गत लम्बित है, जबकि नियमानुसार कोई भी अधिकारी किसी मदरसे में नियुक्ति की अनुमति तभी प्रदान करता है, जब प्रबन्धक /सेकरेट्री प्रबन्ध समिति से सम्बन्धित कोई वाद न्यायालय में लम्बित ना हो।

प्रतीकात्मक तस्वीर

(02) मदरसे में नियुक्ति से पूर्व किसी चयन समिति का गठन नही किया गया है, जबकि मदरसा नियमावली में उक्त चयन समिति के गठन का प्रावधान निहित है।

(03) शासन द्वारा नीतिगत निर्णय लगातार समाचार पत्रों में प्रकाशित होते रहते हैं, जिससे ज्ञात हुआ, कि शासन तीन वर्षों से एक ही जिले में तैनात अधिकारियों के स्थानान्तरण की नीति घोषित करने जा रही है। जिला अल्पसंख्याक कल्याण अधिकारी बिजनौर जिले में तीन वर्ष से नियुक्त हैं। आरोप है कि उक्त अधिकारी अपने स्थानान्तरण से पूर्व एक मोटी रकम एवं एक पद पर अपने परिचित की नियुक्ति के इरादे से जल्द से जल्द नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी करना चाहते हैं!

(04) विज्ञापन में कनिष्ठ सहायक के एक पद पर विज्ञापन प्रकाशित कराया गया है, जबकि कनिष्ठ सहायक की नियुक्ति हेतु P.E.T. परीक्षा उत्तीर्ण होना आवश्यक बनाया गया है, जबकि विज्ञापन में उक्त परीक्षा का कहीं भी उल्लेख नहीं किया गया है। मदरसे के उप सचिव/ उप प्रबन्धक इफ्तेखार अहमद ने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया है, कि विज्ञापन को रद्द करने हेतु सम्बन्धित अधिकारी को निर्देशित किया जाए। शिकायती पत्र की प्रतिलिपि रजिस्ट्रार मदरसा शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश, मंडलायुक्त मुरादाबाद, जिलाधिकारी बिजनौर व जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी को भेजी गई हैं।

गौरतलब है कि मदरसा बोर्ड ने मदरसा शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के उद्देश्य से योग्य शिक्षकों के चयन के लिए शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) की तर्ज पर मदरसा शिक्षक पात्रता परीक्षा (एमटीईटी) लागू करने का निर्णय लिया है। बोर्ड ने रजिस्ट्रार को इसका प्रस्ताव बनाकर शीघ्र शासन को भेजने के निर्देश दिए गए हैं। यानी अब मदरसों में रिक्त पदों पर भर्तियां उन्हीं अभ्यर्थियों से की जाएंगी जो एमटीईटी परीक्षा पास होंगे। वर्तमान में करीब 550 मदरसा शिक्षकों के पद रिक्त हैं। एमटीईटी के लागू होने से भर्तियों में भाई-भतीजावाद के आरोप भी नहीं लगेंगे

अंतिम संस्कार में गया युवक ग॑गा में डूबा, तलाश जारी

बिजनौर। धामपुर तहसील अंतर्गत बास्टा क्षेत्र का एक युवक ग॑गा में डूब गया। वह अपने गांव की एक महिला के अन्तिम संस्कार में शामिल होने अमरोहा गया था। समाचार लिखे जाने तक पुलिस गोताखोरों की मदद से उसकी तलाश में जुटी थी।

जानकारी के अनुसार गुरुवार रात ग्राम बाड़ीवाला में रामपाल सिंह की पत्नी कमला देवी (55 वर्ष) का निधन हो गया था। गांव निवासी सोमपाल सिंह सैनी (35 वर्ष) पुत्र अमर सिंह शुक्रवार को महिला के अन्तिम संस्कार में शामिल होने देवी पुरा गंगा घाट (अमरोहा) गया था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार इसी दौरान नहाते समय सोमपाल गंगा में डूब गया। साथ के लोगों ने उसे काफी तलाशा और असफल होने पर पुलिस को सूचना दी। समाचार लिखे जाने तक पुलिस गोताखोरों की मदद से उसकी तलाश कर रही थी। वहीं उसके साथ गए अधिकांश लोग वापस गांव पहुंच गए। परिजनों का कहना है कि सोमपाल के तीन पुत्रियां व एक पुत्र समेत भरा-पूरा परिवार है। घटना को लेकर परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

गुरु तेग बहादुर जी के त्याग व बलिदान को नमन

गुरु तेग बहादुर अपने त्याग और बलिदान के लिए वह सही अर्थों में ‘हिन्द की चादर’ कहलाए। अपने धर्म, मानवीय मूल्यों, आदर्शों एवं सिद्धांत की रक्षा के लिए विश्व इतिहास में जिन लोगों ने प्राणों की आहुति दी, उनमें गुरु तेग बहादुर साहब का स्थान अग्रिम पंक्ति में हैं।  

बिजनौर। श्री गुरु गोविंद सिंह खालसा विद्यालय खासपुरा ऊमरी में हिंद की चादर गुरु तेग बहादर जी का 400वां  प्रकाश पर्व गुरबाणी पाठ उपरांत अरदास के द्वारा मनाया गया।

इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य सरदार अभिषेक सिंह कोमल ने गुरु जी के जीवन दर्शन पर प्रकाश डाला। उन्होंने देश धर्म की रक्षा के लिए उनके बलिदान को नमन करते हुए अपना प्रेरणास्रोत बताया।

विदित हो कि देश भर में सिखों के नौवें गुरु श्री गुरु तेग बहादुर जी का 400वां प्रकाश पर्व मनाया जा रहा है। गुरु तेग बहादुर सिंह एक क्रांतिकारी युग पुरुष थे और उनका जन्म वैसाख कृष्ण पंचमी को पंजाब के अमृतसर में हुआ था। इस दिन को शहीदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन गुरु साहिब के इतिहास और शहादत के बारे में बताया जाता है।

गुरुद्वारा शीशगंज साहिब के अंदर का दृश्य (फाइल फोटो)

श्री गुरु तेग बहादुर जी
अमृतसर में जन्मे गुरु तेग बहादुर; गुरु हरगोविन्द जी के पांचवें पुत्र थे। 8वें गुरु हरिकृष्ण राय जी के निधन के बाद इन्हें 9वां गुरु बनाया गया था। इन्होंने आनन्दपुर साहिब का निर्माण कराया और ये वहीं रहने लगे थे। वे बचपन से ही बहादुर, निर्भीक स्वभाव के और आध्यात्मिक रुचि वाले थे। मात्र 14 वर्ष की आयु में अपने पिता के साथ मुगलों के हमले के खिलाफ हुए युद्ध में उन्होंने अपनी वीरता का परिचय दिया। इस वीरता से प्रभावित होकर उनके पिता ने उनका नाम तेग बहादुर यानी तलवार के धनी रख दिया।

उन्होंने मुगल शासक औरंगजेब की तमाम कोशिशों के बावजूद इस्लाम धारण नहीं किया और तमाम जुल्मों का पूरी दृढ़ता से सामना किया। औरंगजेब ने उन्हें इस्लाम कबूल करने को कहा तो गुरु साहब ने कहा शीश कटा सकते हैं केश नहीं। औरंगजेब ने गुरुजी पर अनेक अत्याचार किए, परंतु वे अविचलित रहे। वह लगातार हिन्दुओं, सिखों, कश्मीरी पंडितों और गैर मुस्लिमों का इस्लाम में जबरन धर्मांतरण का विरोध कर रहे थे, जिससे औरंगजेब खासा नाराज था। 

आठ दिनों की यातना के बाद गुरुजी को दिल्ली के चांदनी चौक में शीश काटकर शहीद कर दिया गया। उनके शहीदी स्थल पर गुरुद्वारा बनाया गया, जिसे गुरुद्वारा शीशगंज साहब नाम से जाना जाता है। विश्व इतिहास में धर्म एवं मानवीय मूल्यों, आदर्शों एवं सिद्धांत की रक्षा के लिए प्राणों की आहुति देने वालों में गुरु तेग बहादुर साहब का स्थान अद्वितीय है। उनकी शहादत ने मानवाधिकारों की सुरक्षा को सिख पहचान बनाने में मदद की”।”नौवें गुरु को बलपूर्वक धर्मान्तरित करने के प्रयास ने स्पष्ट रूप से शहीद के नौ वर्षीय बेटे, गोबिन्द पर एक अमिट छाप डाली, जिन्होंने धीरे-धीरे सिख समूहों को इकट्ठा करके इसका प्रतिकार किया और खालसा पहचान को जन्म दिया।”

IPL सट्टे में फंसकर कंगाल हो रहे लोग

सचिन वर्मा, जनवाणी बिजनौर

आईपीएल का नशा लोगों के सिर चढ़कर बोलता है। लोग आईपीएल पर जमकर सट्टा लगाते हैं। जनपद में भी आईपीएल पर प्रतिदिन लाखों का सट्टा लगाया जाता है। काफी लोग आईपीएल सट्टे के मकड़जाल में फंसकर अपना सब कुछ दाव पर लगा चुके हैं। सूत्रों का दावा है कि जनपद में एक बड़ा गिरोह इस धंधे को चला रहा है। पूर्व में पुलिस ने कार्यवाही करते हुए आईपीएल सट्टे का धंधा करने वाले कई लोगों को दबोचा था। यह धंधा करने वालों को पुलिस का तनिक भी भय नहीं है इसी के चलते पूर्व की भांति इस बार भी बड़े स्तर पर यह धंधा खुलेआम चल रहा है।

आईपीएल मैचों में सट्टा लगाने वाले लोगों की कमी नहीं है। आम आदमी से लेकर व्यापारी व खादीधारी भी आईपीएल में सट्टा लगाकर अपना भाग्य आजमाते हैं। जनपद बिजनौर की बात की जाए तो यहां पर भी आईपीएल मैचों में सट्टा लगाने वाले लोगों की भरमार है। लोग आईपीएल आने का बड़ी बेसब्री के साथ इंतजार करते हैं। हालांकि यह सट्टे का यह धंधा ऑनलाइन भी चल रहा है, लेकिन इसके बाद भी एक बड़ा गिरोह जनपद में अपने एजेंटों के माध्यम से इस धंधे को कर रहा है। मैच के शुरू होते ही सटोरियों के मोबाइलों की घंटी दन दनादन बजनी शुरू हो जाती है। जिला मुख्यालय के अलावा झालू, नगीना, शेरकोट, नजीबाबाद, किरतपुर अफजलगढ़ व धामपुर आदि स्थानों पर यह धंधा बिना किसी रोक टोक के चल रहा है। वर्ष 2017 में एसओजी ने इन सटोरियों के खिलाफ बड़ी कार्यवाही करते हुए नगीना से दो लोगों को लाखों की रकम के साथ गिरफ्तार किया था। जिला मुख्यालय से भी कई लोगों को एसओजी ने दबोचा था, जिन्हें बाद में जेल भेज दिया गया था। एसओजी की इस कार्यवाही से सटोरियों में हड़कम्प मच गया था, लेकिन मामला शांत होते ही सटोरी पुनः सक्रिय हो गए थे। पुलिस की ढ़ील के चलते इस बार भी सट्टे का धंधा बड़े स्तर पर बिना किसी रोक टोक के चल रहा है। लोगों का कहना है कि अगर पुलिस चाहे तो इस मामले में सख्त कदम उठाकर सटोरियों पर कार्यवाही कर इस धंधे पर प्रतिबंध लगा सकती है।

खेलने वाले कंगाल तो एजेंट हुए मालामाल

आईपीएल में सट्टा लगाने वाले अधिकांश लोगों को नुकसान के अलावा और कुछ हांसिल नहीं होता। मैचों में गवाई गई अपनी रकम को पूरा करने के लिए वे लगातार दांव पर दांव लगाते रहते हैं और अंत में अपना सब कुछ गंवाकर कंगाल होकर बैठ जाते हैं। वहीं दूसरी ओर सट्टा खिलाने वाले बुकी व उनके एजेंट आईपीएल मैचों के आने का बड़ी बेसब्री के साथ इंतजार करते हैं। ये एजेंट सट्टा खेलने वाले लोगों के पैसों से मालामाल होते जा रहे हैं। कुछ एजेंट तो ऐसे हैं जो कुछ ही वर्षों में फर्श से अर्श पर पहुंच चुके हैं। सट्टा खेलने वाले की हार होने पर भी उन्हें फायदा होता है और जीत होने पर भी। सूत्रों के अनुसार मैच समाप्त होने के कुछ समय बाद ही इन एजेंटों के पास उनके कमीशन का पैसा पहुंच जाता है।

उधर, अपर पुलिस अधीक्षक नगर प्रवीन रंजन सिंह का कहना है कि आईपीएल मैच पर सट्टा लगाए जाने का मामला संज्ञान में नहीं था। अब यह ममला संज्ञान में आया है। ऐसा करने वालों को चिन्हित कराकर उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

काफी सतर्कता बरतते हैं बुकी

आईपीएल सट्टा खिलाने वालों को बुकी कहा जाता है। ये बुकी काफी सतर्कता बरतते हैं। सूत्रों के अनुसार पकड़े जाने के डर से ये बुकी हर मैच के बाद अपना नम्बर बदल लेते हैं। नम्बर बदलने से पहले ये अपना नया नम्बर अपने एजेंटों को बता देते हैं। एजेंटों के माध्यम से ये नए नम्बर सट्टा खेलने वालों तक पहुंचाए जाते हैं।

कार्रवाई होना अति आवश्यकः गौरव गोयल

एडवोकेट गौरव गोयल का कहना है कि आईपीएल मैच में सट्टा लगाने के लिए लोग कर्ज लेने से भी गुरेज नहीं करते हैं। ऐसे कई मामले हैं जिनमे यह बात सामने आई है। सट्टा एक सामाजिक बुराई है। इसके कारण न जाने कितने लोग बर्बाद हो चुके हैं। लोगों को बर्बाद करने वाले इस गैर कानूनी धंघे को करने वालों पर कार्यवाही होना अति आवश्यक है। पुलिस चाहे तो ऐसा करने वालों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कार्यवाही कर इस धंधे पर अंकुश लगा सकती है।

‘जनपद में गैर कानूनी कार्य नहीं होने दिए जाएंगे। जनपद में जो लोग आईपीएल सट्टा करा रहे हैं, उनको चिन्हित कराकर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।’  डा. धर्मवीर सिंह, एसपी, बिजनौर

ब्रहमज्ञान ही मानव जीवन का लक्ष्य: महात्मा नेपाल सिंह

बिजनौर। संत निरंकारी मंडल के तत्वावधान में झालू रोड पर स्थित सत्संग भवन पर साध संगत का आयोजन हुआ। इसमें मिशन के संतो-महापुरुषों, बहनों व बच्चों ने अपने-अपने विचार व आध्यात्मिक गीत प्रस्तुत किए।

गुरु गद्दी से साध संगत को संबोधित करते हुए दिल्ली से आए महात्मा चौधरी नेपाल सिंह ने कहा, कि सदगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज ब्रह्मज्ञान प्रदान करके मानव मात्र को शाश्वत सुख के साथ जोड़ रही हैं और इसी जीवन संदेश को देने के लिए हम यहां एकत्र हुए हैं। ब्रहमज्ञान ही मानव जीवन का लक्ष्य है और अनादि काल से इस लक्ष्य की पूर्ति सद्गुरु ही कराते आए हैं। ब्रह्मज्ञान प्राप्ति के बाद सभी में एक प्रभु परमात्मा का नूर दिखायी देने लगता है।

इस अवसर पर संयोजक महात्मा बाबूराम निरंकारी, संचालक विनोद सिंह, शिक्षक आदित्य सोनू, गीतकार महात्मा गगन सिंह दिल्ली, कवि निर्मल सिंह आदि मौजूद रहे।

सत्संग भवन पर 24 अप्रैल को रक्तदान शिविर

मनाया जायेगा मानव एकता दिवस। कोरोना गाइड लाइन का पूर्णत: पालन करने की अपील की।

बिजनौर। आगामी 24 अप्रैल (रविवार) को झालू रोड स्थित संत निरंकारी सत्संग भवन पर सदगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज के आदेशानुसार बाबा गुरुबचन सिंह जी की याद में मानव एकता दिवस मनाया जायेगा। यह जानकारी संत निरंकारी मण्डल, ब्रांच बिजनौर के संयोजक महात्मा बाबूराम निरंकारी व मीडिया प्रभारी भूपेन्द्र कुमार ने एक प्रेस नोट के माध्यम से दी।

उन्होंने बताया कि इस अवसर पर प्रातः 9 से एक बजे तक एक विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन किया जायेगा। इस दौरान जनपद की अन्य ब्रांचों के मुखी महात्मा भी उपस्थित रहेंगे। संयोजक महात्मा बानूराम निरंकारी ने सभी संतों महापुरुषों, सेवादल के पदाधिकारियों व समस्त सदस्यों से कोरोना गाइड लाइन का पूर्णत: पालन करते हुए मॉस्क लगाकर आने की अपील की है। इस अवसर पर साध संगत का आयोजन भी किया जायेगा।

चप्पे चप्पे पर है पुलिस की निगाह: एसपी

बिजनौर। पुलिस अधीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह ने आगामी त्योहार तथा कानून एवं शांति व्यवस्था के दृष्टिगत भारी पुलिस बल के साथ बिजनौर नगर में पैदल मार्च निकाला। पैदल मार्च में बिजनौर शहर कोतवाल राधेश्याम सहित भारी पुलिस बल मौजूद रहा। एसपी ने कहा कि चप्पे चप्पे पर पुलिस की निगाह है, कोई भी, कुछ भी करने के पहले अच्छी तरह से सोच ले।..जो जैसा करेगा, अंजाम वैसा ही होगा।

इससे पहले पुलिस अधीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह ने प्रधान लिपिक कार्यालय व रिकार्ड रुम में तैनात पुलिस कर्मियों के साथ गोष्ठी कर उनके कार्य की समीक्षा की। साथ ही आवश्यक दिशा निर्देश दिए। दूसरी तरफ डॉ० प्रवीन रंजन सिह अपर पुलिस अधीक्षक नगर व राम अर्ज, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण द्वारा पुलिस लाईन के सभागार कक्ष में जनपद के समस्त थानों पर मालखाना इंचार्ज और पैरोकार के साथ मीटिंग करते हुए उनके कार्यों की समीक्षा की गई तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए ।

खबर दबाने को पत्रकार ने की अवैध वसूली! ऑडियो वायरल

डीजे पर हाथ में तमंचा लहराकर युवक ने उड़ायी कानून की धज्जियां
-ग्राम पाडली माण्डू के प्रधान का भाई है आरोपी युवक, खबर दबाने को हुआ लेन-देन का मामला भी हुआ उजागर


बिजनौर। धामपुर क्षेत्र के एक शादी समारोह में डीजे पर नाचते एक युवक की वीडियो वायरल हो गयी। डीजे पर नाच रहा यह युवक हाथ में तमंचा लिए है और गाने के बोल “तमंचे पर डिस्को” है। वीडियो बनी तो इस मामले को दबाने के लिए एक तथाकथित पत्रकार और ग्राम प्रधान के बीच पैसों का लेन-देन भी हुआ। जब मामला न दबा और वीडियो वायरल हो गयी तो ग्राम प्रधान ने तथाकथित पत्रकार तनवीर अहमद के खिलाफ पुलिस को तहरीर देकर कार्यवाही की मांग कर डाली, जिससे यह बात साफ हो गयी कि तमंचे को हाथ में लेकर डांस करने वाले युवक का अपराध माफी लायक नहीं है। उधर पुलिस इन दोनों मामलों की जांच कर कार्यवाही में जुटी है।


गौरतलब है कि धामपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में गत 5 अप्रैल को शादी समारोह का प्रोग्राम चल रहा था। बताया जाता है कि ग्राम पाडली मांडू के प्रधान सुशील कुमार का भाई सौरभ उस शादी समारोह में शामिल था और वह बज रहे डीजे पर वह अचानक डांस करने लगा। गाना बज रहा था; तमंचे पर डिस्को! तो उसने अपनी कमर में लगे तमंचे को अचानक हाथ में निकालकर हवा में लहरा दिया और डांस करने लगा। किसी ने उसकी वीडियो बना ली। जब इस बात का पता सौरभ के भाई को पता तो उन्होंने मामले को निपटाने का प्रयास किया। इस मामले में लेन-देन भी हुआ, लेकिन यह वीडियो ना सिर्फ वायरल हुई, बल्कि समाचारों की सुर्खी भी बन गई। इस पर ग्राम प्रधान सुशील कुमार ने एतराज जताते हुए उक्त तथाकथित पत्रकार तनवीर को दिए पैसे लौटाने की बात एक ऑडियो कॉल रिकॉर्डिंग में कहीं। वह भी इस समय तेजी के साथ वायरल हो रही है। प्रधान सुशील कुमार ने पुलिस को तहरीर देकर ब्लैकमेलिंग करने वाले तथाकथित पत्रकार तनवीर अहमद के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। उधर डीजे पर डांस कर रहे आरोपी सौरभ कुमार की तमंचा लहराते हुए वीडियो वायरल होने से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया और उन्होंने आनन-फानन में इस मामले में कार्यवाही करते हुए आरोपी सौरभ को गिरफ्तार कर लिया। अब मामला अवैध धन के लेनदेन के निपटारे का रह गया है।

खबर दबाने को पत्रकार ने की अवैध वसूली! ऑडियो वायरल

डीजे पर हाथ में तमंचा लहराकर युवक ने उड़ायी कानून की धज्जियां
-ग्राम पाडली माण्डू के प्रधान का भाई है आरोपी युवक, खबर दबाने को हुआ लेन-देन का मामला भी हुआ उजागर


बिजनौर। धामपुर क्षेत्र के एक शादी समारोह में डीजे पर नाचते एक युवक की वीडियो वायरल हो गयी। डीजे पर नाच रहा यह युवक हाथ में तमंचा लिए है और गाने के बोल “तमंचे पर डिस्को” है। वीडियो बनी तो इस मामले को दबाने के लिए एक तथाकथित पत्रकार और ग्राम प्रधान के बीच पैसों का लेन-देन भी हुआ। जब मामला न दबा और वीडियो वायरल हो गयी तो ग्राम प्रधान ने तथाकथित पत्रकार तनवीर अहमद के खिलाफ पुलिस को तहरीर देकर कार्यवाही की मांग कर डाली, जिससे यह बात साफ हो गयी कि तमंचे को हाथ में लेकर डांस करने वाले युवक का अपराध माफी लायक नहीं है। उधर पुलिस इन दोनों मामलों की जांच कर कार्यवाही में जुटी है।


गौरतलब है कि धामपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में गत 5 अप्रैल को शादी समारोह का प्रोग्राम चल रहा था। बताया जाता है कि ग्राम पाडली मांडू के प्रधान सुशील कुमार का भाई सौरभ उस शादी समारोह में शामिल था और वह बज रहे डीजे पर वह अचानक डांस करने लगा। गाना बज रहा था; तमंचे पर डिस्को! तो उसने अपनी कमर में लगे तमंचे को अचानक हाथ में निकालकर हवा में लहरा दिया और डांस करने लगा। किसी ने उसकी वीडियो बना ली। जब इस बात का पता सौरभ के भाई को पता तो उन्होंने मामले को निपटाने का प्रयास किया। इस मामले में लेन-देन भी हुआ, लेकिन यह वीडियो ना सिर्फ वायरल हुई, बल्कि समाचारों की सुर्खी भी बन गई। इस पर ग्राम प्रधान सुशील कुमार ने एतराज जताते हुए उक्त तथाकथित पत्रकार तनवीर को दिए पैसे लौटाने की बात एक ऑडियो कॉल रिकॉर्डिंग में कहीं। वह भी इस समय तेजी के साथ वायरल हो रही है। प्रधान सुशील कुमार ने पुलिस को तहरीर देकर ब्लैकमेलिंग करने वाले तथाकथित पत्रकार तनवीर अहमद के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। उधर डीजे पर डांस कर रहे आरोपी सौरभ कुमार की तमंचा लहराते हुए वीडियो वायरल होने से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया और उन्होंने आनन-फानन में इस मामले में कार्यवाही करते हुए आरोपी सौरभ को गिरफ्तार कर लिया। अब मामला अवैध धन के लेनदेन के निपटारे का रह गया है।

होम्योपैथी सर्वसुलभ एवं दुष्प्रभाव रहित चिकित्सा पद्धति: डॉ. शूरवीर सिंह

विश्व होम्योपैथिक दिवस पर होम्योपैथी के जनक डॉ. हैनिमैन को किया याद। 267 वें जन्म दिवस पर हुआ कार्यक्रम का आयोजन। कोरोना महामारी के दौरान होम्योपैथिक दवाइयों के योगदान को सराहा। सर्वसम्मति से अगले सत्र के लिये चुने गए डॉ. स्नेह प्रताप अध्यक्ष व डॉ. अन्तरिक्ष छिल्लर सचिव।

बिजनौर। विश्व होम्योपैथिक दिवस पर होम्योपैथी के जनक डॉ. हैनिमैन के 267वें जन्म दिवस (10 अप्रैल) पर होम्योपैथिक मेंडिकल एसोसिएशन बिजनौर ने इम्प्रेशन रेस्टोरेन्ट में एक कार्यक्रम का आयोजन किया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. शूरवीर सिंह व संचालन सचिव डॉ. नीरज कुमार ने किया। मुख्य अतिथि डॉ. रमेश तोमर ने दीप प्रज्ज्वलित करने के साथ ही डॉ. हैनिमैन के चित्र पर पुष्प अर्पित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। इस दौरान सर्व सम्मति से अगले सत्र के लिये डॉ. स्नेह प्रताप को अध्यक्ष व डॉ. अन्तरिक्ष छिल्लर को सचिव चुना गया। मुख्य अतिथि डॉ. रमेश तोमर ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि चिकित्सक का धर्म है कि बिना भेदभाव के सभी के स्वास्थ्य तथा मानवता की भलाई के लिये कार्यरत रहे। कोरोना महामारी के दौरान चिकित्सकों ने अपना धर्म बखूबी निभाया।

अध्यक्ष डॉ. शूरवीर सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि होम्योपैथी एक सर्वसुलभ एवं दुष्प्रभाव रहित चिकित्सा पद्धति है। कोरोना महामारी के दौरान होम्योपेथिक दवाईयों ने बहुत ही अच्छा काम किया। होथोपैथिक दवाईयां बचाव व इम्युनिटी बूस्टर के रूप में अत्यधिक लाभदायक रही हैं।

सचिव डॉ. नीरज कुमार ने कहा कि होम्योपैथी द्वारा पुरानी एवं जटिल से जटिल बीमारियों का सफल इलाज संभव है। होम्योपैथिक दवाइयों के सेवन से पूर्ण लाभ प्राप्त होता है तथा इसका कोई दुष्प्रभाव भी नहीं पड़ता। कोरोना महामारी के दौरान होम्योपैथिक दवाइयों ने बहुत ही योगदान दिया है।

इस अवसर पर डॉ. अजवीर सिंह, डॉ. युवराज सिंह, डॉ. संजीव, डॉ. अमित राणा, डॉ. विनोद सिंह, डॉ. राहुल त्यामी, डॉ. सुमित विश्नोई, डॉ. धर्मेन्द्र सिंह, डॉ. ध्यान सिंह आदि उपस्थित रहे।

सैकड़ों लोगों ने उठाया निःशुल्क प्राकृतिक चिकित्सा शिविर का लाभ


बिजनौर। आरोग्य भारती द्वारा योगी अनंत योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा सेवा संस्थान साकेत कॉलोनी सिविल लाइन सेकंड बिजनौर अध्यक्ष योगेश द्वारा प्राकृतिक चिकित्सा का शिविर नि:शुल्क लगाया गया। शिविर में मिट्टी चिकित्सा, एक्यूप्रेशर चिकित्सा, स्टीम बाथ, मसाज नि:शुल्क की गई। उपचार करने वालों में प्राकृतिक चिकित्सक सोमदत्त शर्मा, ओपी शर्मा ने प्राकृतिक चिकित्सा की। डॉक्टर नरेंद्र सिंह एवं राम सिंह पाल जिला प्रभारी पतंजलि ने यज्ञ किया।

राम नवमी के अवसर पर डॉक्टर नरेंद्र सिंह ने सभी को हार्दिक बधाई दी और कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के आदर्शों पर चलना है, हमें उनके भाइयों से सीखना है, पिताजी दशरथ से सीखना है, भाइयों के आदर्श पर चलना है, माता सीता के आदर्शों पर चलना है, हमें समाज के कल्याण के लिए राष्ट्र के निर्माण के लिए कार्य करना है। इस अवसर पर जीतू सिरोही, अश्वनी सिरोही, सदुपुरा से श्री राम सिंह, रामपुर दास नगीना से राखी, धामपुर से किरण, भोगपुर से रामलाल, आदमपुर से कविता, रिंकू, पृथ्वी मलकपुर से सुमन, नगीना से जयमाला, बाकरपुर से कृष्ण कुमार, धनवाला से रवि कुमार, मौजमपुर जान से रिया, प्रेमवती, पिंकी, अक्षय, साकेत कॉलोनी से सोनम आदि सभी लोगों ने उपचार कराया।

भांजे ने मामा को पीटा, शान्ति भंग में 4 का चालान

बिजनौर। अफजलगढ़ पुलिस ने गांव सीरवासुचंद में पैसे के लेनदेन को लेकर आपसी कहासुनी के मामलों में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए चार लोगों का शांतिभंग की आशंका में चालान किया।

गांव सीरवासुचंद निवासी शमशाद, फिरोज आलम, रियाजूद्दीन तथा एहतेशाम को पैसे के लेनदेन को लेकर आपसी कहासुनी के मामलों में पुलिस ने शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए शांतिभंग भंग की आंशका में चालान किया है।

कलयुगी भांजे की करतूत- वहीं अफजलगढ़ थाना क्षेत्र के गांव दल्लीवाला मे आपसी कहासुनी के दौरान एक भांजे ने मामा को मारपीट कर घायल कर दिया। पीड़ित मामा ने पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। कस्बा नहटौर निवासी नरेश कुमार पुत्र दीनदयाल ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि कोतवाली क्षेत्र के गांव दल्लीवाला में वह अपनी बहन सरोज देवी के घर पर था। शनिवार सुबह उसका भांजा छोटू; भांजी सोना के बीच कहासुनी हो रही थी। कहासुनी मारपीट में बदल गई। मामा नरेश कुमार ने जैसे ही भांजे छोटू को रोका तो उसने मामा के साथ मारपीट शुरू कर हमला कर उसे घायल कर दिया। पीड़ित नरेश कुमार ने पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। उधर कोतवाल मनोज कुमार सिंह ने बताया कि मामले की जांच कर आवश्यक कार्रवाई की जायेगी।

MLC चुनाव में अफजलगढ़ पुलिस रही मुस्तैद

बिजनौर/अफजलगढ़। मुरादाबाद- बिजनौर के विधान परिषद के लिए मतदान शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हो गया। इस दौरान विधायक कुंवर सुशांत सिंह, चेयरपर्सन शहाना सलीम अंसारी, ब्लाक प्रमुख प्रदीप कुमार उर्फ बबली सहित सभासद कलवा कुरैशी ने मतदान‌ किया। सुरक्षा की दृष्टि से सीओ सुनीता दहिया, कोतवाल मनोज कुमार सिंह की अगुवाई में भारी पुलिसबल तैनात रहा।

शनिवार को मुरादाबाद- बिजनौर के विधान परिषद के लिए मतदान शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हो गया। भाजपा ने पूर्व सांसद संभल व प्रदेश उपाध्यक्ष सत्यपाल सिंह सैनी को प्रत्याशी बनाया जबकि समाजवादी पार्टी ने अजय मलिक को अपना प्रत्याशी बनाया। दोनों प्रत्याशियों के बीच में कड़ा मुकाबला होने की संभावना दिखाई दे रही है। वहीं भाजपा विधायक कुंवर सुशांत सिंह ने अफजलगढ़ ब्लाक में भाजपा प्रत्याशी सत्यपाल सिंह सैनी के लिए एकजुट होकर एक तरफा भाजपा प्रत्याशी के लिए मतदान कराया।

क्षेत्रीय विधायक कुंवर सुशांत सिंह ने जीत का दावा करते हुए कहा कि भाजपा प्रत्याशी सत्यपाल सिंह सैनी की जीत सुनिश्चित है। बीडीसी मेम्बर, जिला पंचायत सदस्य, नगर पालिका सदस्यों ने अपने अपने क्षेत्रों में विकास कार्य को देखते हुए अपना वोट भाजपा प्रत्याशी सत्यपाल सिंह सैनी को दिया है। एआरओ अखिलेश कुमार के मुताबिक मतदान निर्धारित समय से पूर्व संपन्न हो गया। मतदाता सूची में दर्ज अफजलगढ़ विकास खण्ड के 224 में से क्षेत्रीय विधायक कुंवर सुशान्त सिंह, चेयरपर्सन शहाना सलीम अंसारी, ब्लाक प्रमुख प्रदीप कुमार उर्फ बबली, सभासद कलवा कुरैशी सहित 220 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। प्रशासन द्वारा मतदान के दौरान मतदेय स्थल के  चारों ओर बैरिकेटिंग करके मुख्य मार्ग को बन्द कर दिया गया था। वहीं सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर सीओ सुनीता दहिया, कोतवाल मनोज कुमार सिंह, एसएसआई दिनेश कुमार शर्मा की अगुवाई में भारी पुलिसबल तैनात रहा।

टीएमयू कृषि की टीम ने किया शुगर मिल अफजलगढ़ का भ्रमण

बिजनौर/अफजलगढ़। शुगर मिल अफजलगढ़ में तीर्थांकर महावीर विश्वविद्यालय मुरादाबाद के कृषि विज्ञान के छात्रों ने डॉ अरविन्द प्रताप सिंह, प्रवीण सिंह, मैडम कुसुम, विजय कुमार के नेतृत्व में निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान छात्र छात्राओं ने शुगर मिल अफजलगढ़ में लैंडस्केपिंग, फ्लावरिंग, वर्मी कल्चर के बारे में जानकारी दी।

शनिवार को शुगर मिल अफजलगढ़ में तीर्थांकर महावीर विश्वविद्यालय मुरादाबाद के कृषि विज्ञान के 50 छात्र छात्राओं ने शुगर मिल अफजलगढ़ के गन्ना महाप्रबंधक अजय कुमार ढाका, प्रबंधक प्रशासन कुमेर सिंह शेखावत तथा उद्यान विज्ञान अधिकारी विजय कुमार के साथ निरीक्षण कर विस्तृत चर्चा कर जानकारी ली। निरीक्षण के दौरान तीर्थांकर महावीर विश्वविद्यालय मुरादाबाद के कृषि विज्ञान के छात्रों व डॉ अरविन्द प्रताप सिंह, प्रवीण सिंह, मैडम कुसुम सहित पूरी टीम शुगर मिल प्लांट परिसर में साफ सफाई, ग्रीन बेल्ट, फ्लावरिंग कल्चर आदि को देखकर बहुत प्रभावित हुई तथा प्रसन्नता व्यक्त की। इस अवसर पर सोनू कुमार, रमन रावत, हर्षित सिंह,मनीष कुमार,आलोक झा,प्रमोद यादव,मनीषा, प्रियंका सिंह, भारती, अनुष्का, वेद प्रकाश, अरविंद प्रताप सिंह, नूर मोहम्मद, मुस्कान, दीपांशु शर्मा, शेरा यादव, प्राची, प्रिया राय, सौरभ, भारती तथा महेश आदि उपस्थित रहे।

नंदी स्वीट्स के सामने शीरे से भरा टैंकर पलटा

बिजनौर। शीरे से भरा एक टैंकर बैराज रोड आरजेपी इंटर कॉलेज के बाहर नंदी स्वीट्स के सामने दुर्घटनाग्रस्त हो गया। आज देर रात हुई इस दुर्घटना के कारण आसपास के सभी दुकानदारों एवं राहगीरों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कुछ लोग घोड़ा बग्गी व अन्य वाहनों में खाली ड्रम ला करके उसमें शीरे को भरकर ले जा रहे हैं। पुलिस प्रशासन की ओर से व्यवस्था सुचारू करने के इंतजाम किए जा रहे हैं। मौके पर लोगों की भीड़ लगी हुई है। दुकानदारों में अपने व्यापार के बुरी तरह प्रभावित होने से मायूसी छाई हुई है। गनीमत रही कि यह हादसा दिन में नहीं हुआ, अन्यथा बेहद ही भीड़भाड़ वाले इस क्षेत्र में मंजर भयानक होता।

जेसीबी से ध्वस्त किया जेई का मकान

बिजनौर। विद्युत निगम में अवर अभियंता के निर्माणाधीन मकान को कुछ लोगों ने मंगलवार रात जेसीबी चलाकर ध्वस्त कर दिया। मामला धामपुर के रानीबाग कॉलोनी का है। जेई की तहरीर पर एक ग्राम प्रधान, उसकी पत्नी सहित तीन नामजद और एक अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है।


पुरानी रामगंगा कॉलोनी निवासी कृष्ण कुमार शर्मा गैर जनपद में विद्युत निगम में अवर अभियंता के पद पर कार्यरत हैं। उनका रानी बाग कॉलोनी में आवासीय प्लॉट है। वर्तमान में निर्माण कार्य करा रहे हैं। 70 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है। आरोप है कि मंगलवार देर रात जेसीबी चलवाकर कुछ लोगों ने उनके निर्माणाधीन मकान को ध्वस्त करा दिया। पुलिस को दी तहरीर में जेई ने बताया कि उसी निर्माणाधीन मकान के दूसरे कमरे में उनके पिता राजेंद्र कुमार शर्मा सो रहे थे। आरोपियों ने उनके साथ मारपीट की। इस मामले में गांव भज्जावाला के वर्तमान ग्राम प्रधान अनुकूल, उसके भाई पुनीत, अनुकूल की पत्नी प्रियंका व एक व्यक्ति को नामजद कराया गया है। कोतवाल माधो सिंह बिष्ट का कहना है कि पुलिस ने कृष्ण कुमार शर्मा की तहरीर पर नामजद रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। मामले की जांच जारी है।

सिंगल नर्सरी की विशेषताओं को समझाया

बिजनौर। अफजलगढ़ क्षेत्र के गांव झाड़पुरा में महिला समूह द्वारा तैयार सिंगल नर्सरी के वितरण का जिला गन्ना अधिकारी यशपाल सिंह द्वारा मौके पर पहुंचकर निरीक्षण किया गया। इस दौरान गांव में ही एक गोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक विश्वमित्र पाठक, सचिव साहब सिंह सत्यार्थी, चीनी मिल अफजलगढ़ के प्रधान प्रबंधक एसपी सिंह, गन्ना महाप्रबंधक अजय कुमार ढाका, चीनी मिल फील्ड कर्मचारी मनोज कुमार, गन्ना पर्यवेक्षक प्रमोद कुमार सिंह उपस्थित रहे।

गांव झाड़पुरा में ग्राम प्रधान कपिल कुमार के आवास पर गोष्ठी को संबोधित करते हुए जिला गन्ना अधिकारी यशपाल सिंह ने बताया कि महिला स्वावलंबन के दृष्टिगत विभाग द्वारा ग्रामीण महिलाओं को रोजगार देने के उद्देश्य से महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा सिंगल बड़ व बडचिप पद्धति से पौध तैयार करने पर विभाग द्वारा 1.30 व रू० 1.50 की दर से अनुदान दिया जाता है। इस पद्धति से तैयार पौध को लगाने में जहां आय में बढ़ोतरी होती है, वहीं गन्ने का जमाव इस विधि से 95% तक देखा जा रहा है। नैनो यूरिया को स्प्रे के माध्यम से फसलों में प्रयोग किया जाता है; जिसे पौधे द्वारा अपने स्टूमेटा द्वारा अवशोषित कर उपयोग कर लिया जाता है।

महिला ग्रुप के किये गये कार्यों के निरीक्षण के पश्चात ग्राम झाड़पुरा मे कृषक गोष्ठी की गयी। कृषक गोष्ठी में नैनो यूरिया के संबंध में कृषकों को जानकारी दी गई। गोष्ठी में सचिव साहब सिंह द्वारा नैनो यूरिया के महत्व एवं उपयोग पर बल दिया गया। साथ ही अवगत कराया गया कि नैनो यूरिया समिति के सभी गोदामों पर रू० 240 प्रति 500 मि० ली० की दर पर उपलब्ध है। इस अवसर पर गोष्ठी में ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक विश्वमित्र पाठक द्वारा नैनो यूरिया के संबंध में बताया गया कि परम्परागत यूरिया से नैनो यूरिया सही व इसकी उपयोगिता 90% तक है जबकि परम्परागत यूरिया मात्र 30% तक ही पौधे इस्तेमाल कर पाते हैं 70% भाग का प्रयोग पौधे नहीं कर पाते। इस अवसर पर ग्राम प्रधान कपिल कुमार के अलावा बलेश कुमार, नन्हे सिंह, रामपाल सिंह, सूरज पाल सिंह, शक्ति स्वरूप, राजपाल सिंह, महेंद्र सिंह, ऋषि पाल सिंह तथा अजीत सिंह आदि उपस्थित रहे।

बलिया के डीएम एसपी के रवैये पर पत्रकारों में रोष


अफजलगढ़ (बिजनौर)। बलिया पेपर लीक कांड में निर्दोष पत्रकारों की गिरफ्तारी के बाद जहां बलिया प्रशासन की किरकिरी हुई है तो वहीं इस घटना को लेकर देश व प्रदेश के तमाम पत्रकारों में रोष व्याप्त है। जिस तरीके से डीएम बलिया और एसपी ने निर्दोष पत्रकारों के साथ अपराधियों जैसा व्यवहार किया है और उनको जेल भेज दिया, ये वाकई लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला है। प्रशासन सच को उजागर करने वाले पत्रकारों के खिलाफ कार्रवाई करके मीडिया की आवाज को दबाने का काम कर रहा है। पत्रकारों के हित में लगातार काम करने वाले अफजलगढ़ प्रेस क्लब रजिस्टर्ड के पत्रकारों ने मंगलवार को एक ज्ञापन सीओ सुनीता दहिया, कोतवाल मनोज कुमार सिंह को सौंपा।

अफजलगढ़ प्रेस क्लब रजिस्टर्ड ने ज्ञापन के जरिए मांग करते हुए कहा कि आज लोकतंत्र का चौथा स्तंभ मीडिया खतरे से खाली नहीं है। सच बोलने और लिखने पर प्रशासन पत्रकारों को जेल में डाल देता है और गुंडे बदमाश गोली मार देते हैं। उत्तर प्रदेश में आयेदिन पत्रकारों के साथ अनहोनी घटना सामने आ रही हैं। केंद्र व उत्तर प्रदेश सरकार मामले का संज्ञान लेते हुए बलिया पेपर लीक कांड में गिरफ्तार निर्दोष पत्रकारों पर दर्ज मुकदमे वापस लेकर तुरंत रिहा करे। इसके अलावा डीएम व एसपी द्वारा अपने पद का दुरूपयोग व मनमानी करते हुए निर्दोष पत्रकारों को जेल भेजने की निंदा करते हुए दोनों अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने, मामले की सीबीआई जांच कराने और दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने सहित निर्दोष पत्रकारों को फर्जी मुकदमे से दोष मुक्त कर पत्रकारों को तत्काल रिहा करने की मांग करते हुए पत्रकारों की सुरक्षा के लिए पत्रकार सुरक्षा कानून लागू कराये जाने की मांग की।

ज्ञापन सौंपने वालों में सुनील कुमार धस्माना, अर्जुन चौहान, शुऐब कुरैशी, सुनील कुमार, रविदत्त शर्मा, विनय भार्गव, अनिल नारायण, सलमान सैफी, अजमल हुसैन, साजिद अंसारी, वसीम अंसारी, जाहिद हुसैन, बसंत कुमार तथा गिरेन्द्र सिंह आदि उपस्थित रहे।

पत्रकार को पितृ शोक पर संवेदना व्यक्त

अफजलगढ़। पत्रकार के पिता के निधन पर अनेक पत्रकारों ने शोक संवेदना व्यक्त की। अफजलगढ़ प्रेस क्लब रजि० के कार्यालय पर एकत्र पत्रकारों ने बीमारी के चलते पत्रकार नितिन कौशिक के पिता दिनेश कुमार कौशिक के आकस्मिक निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया। बैठक को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि दिनेश कुमार कौशिक मृदुभाषी व एक अच्छे स्वभाव के व्यक्ति थे। उनकी मौत से परिजनों व आसपास के क्षेत्र में शोक छा गया है। अंत में उपस्थित पत्रकारों ने दो मिनट का मौन धारण कर ईश्वर से मृत आत्मा की शांति तथा परिजनों को इस संकट की घड़ी में साहस प्रदान करने की प्रार्थना की। इस मौके पर अफजलगढ़ प्रेस क्लब रजि० के अध्यक्ष सुनील कुमार धस्माना के अलावा शुऐब कुरैशी, अर्जुन चौहान, रविदत्त शर्मा, नौशाद अहमद, सुनील कुमार, विनय भार्गव, अनिल नारायण, अजमल हुसैन, सलमान सैफी, वसीम अंसारी, फिरोज बेग, साजिद अंसारी, शेख जाहिद हुसैन तथा बसंत कुमार आदि मौजूद रहे।

अधिकारों और सुरक्षा के बारे में छात्राओं को बताया

बिजनौर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आह्वान पर एसपी पूर्वी ओमवीर सिंह, सीओ सुनीता दहिया ने अफजलगढ़ सेंट मैरी स्कूल में मिशन नारी शक्ति फेस थर्ड अभियान कार्यक्रम का आयोजन कर छात्राओं को उनके अधिकारों और सुरक्षा के बारे में बताया।

इस मौके पर एसपी पूर्वी ओमवीर सिंह ने कहा कि छात्राओं एवं महिलाओं की सुरक्षा के लिए शासन द्वारा पुलिस हैल्पलाइन नम्बर 1090, 1076, 112, 108, 102, 181 चला रखे हैं। महिला शोषण के खिलाफ उक्त नंबरों पर शिकायत दर्ज कराई जा सकती है। अगर कहीं पड़ोस या रिश्तेदारी में भी किसी महिला का शोषण हो रहा है तो उसकी मदद के लिए तत्काल इसकी सूचना हैल्पलाइन नम्बर पर दें।अफजलगढ़ सेंट मैरी स्कूल में एसपी पूर्वी ओमवीर सिंह, सीओ सुनीता दहिया ने छात्राओं को सुरक्षा सहित साइबर क्राइम के संबंधित जानकारी के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि अगर छात्राओं को कोई परेशान करता है तो इसकी जानकारी अपने अभिभावकों और पुलिस को तुरंत दें, या फिर छात्राएं हेल्पलाइन नंबर 1090, 1076, 112 पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकतीं हैं। उन्होंने कहा कि बेटियों को मन लगाकर पढ़ाई करनी चाहिए क्योंकि शिक्षित समाज से ही देश का विकास होता है और महिलाएं शिक्षित समाज की स्थापना करने में अहम भूमिका निर्वाहन करती हैं। महिला शक्ति कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कोतवाल मनोज कुमार सिंह ने भी बताया कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए शासन ने अनेक सुविधाएं प्रदान की हैं। इसका महिलाओं एवं छात्राओं को आवश्यकता पड़ने पर इस्तेमाल करना चाहिए।  इस मौके पर कोतवाल मनोज कुमार सिंह के अलावा कस्बा इंचार्ज टेकराम सिंह, महिला सब इंस्पेक्टर काजल, सेंट मैरी स्कूल की प्रधानध्यापिका सिस्टर सिंधु, सिस्टर शीना, किरनदीप, ईरा सैनी, राकेश नेगी, एंटी रोमियो टीम से महिला कांस्टेबल सुनीता, कांस्टेबिल वीरबाला, कांस्टेबल विकास बाबू, सनोज चौहान, अंकित चौधरी तथा राहुल यादव आदि मौजूद रहे।

अक्षरा ने किया बास्टा का नाम रौशन

बिजनौर हिमालयन एकेडमी अकौन्था (बास्टा) की छात्रा कु0 अक्षरा ने कक्षा छह की सालाना परीक्षा में 91% अंक प्राप्त कर अपने कस्बे और परिवार का गौरव बढ़ाया है। अक्षरा ने विद्यालय में तॄतीय स्थान प्राप्त कर बास्टा कस्बे का नाम रौशन किया है। वह वरिष्ठ पत्रकार अलीशेर शाह की भतीजी हैं। उनकी इस उपलब्धि पर पारिवारिक मित्रों, नाते-रिश्तेदारों, समाजसेवियों, पत्रकारों ने उज्ज्वल भविष्य का आशीर्वाद दिया है।

अक्षरा ने किया बास्टा का नाम रौशन

बिजनौर हिमालयन एकेडमी अकौन्था (बास्टा) की छात्रा कु0 अक्षरा ने कक्षा छह की सालाना परीक्षा में 91% अंक प्राप्त कर अपने कस्बे और परिवार का गौरव बढ़ाया है। अक्षरा ने विद्यालय में तॄतीय स्थान प्राप्त कर बास्टा कस्बे का नाम रौशन किया है। वह वरिष्ठ पत्रकार अलीशेर शाह की भतीजी हैं। उनकी इस उपलब्धि पर पारिवारिक मित्रों, नाते-रिश्तेदारों, समाजसेवियों, पत्रकारों ने उज्ज्वल भविष्य का आशीर्वाद दिया है।

एसपी सिटी ने चौपाल लगाकर दी ग्राम वासियों को विभाग की जानकारियां


एसपी सिटी ने लगाई चौपाल। ग्राम वासियों को दी विभाग की जानकारियां।


नजीबाबाद (बिजनौर)। एसपी सिटी डॉ प्रवीण रंजन सिंह ने ग्राम तिसोतरा के कन्या पाठशाला में एक ग्राम चौपाल आयोजित की। इस दौरान ग्राम वासियों को सरकार, पुलिस विभाग द्वारा दी जा रही विभिन्न सुविधाओं की जानकारियां दी। इस अवसर पर उन्होंने 1090 और 112 के विषय में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि पुलिस और पब्लिक एक दूसरे के पूरक हैं।पुलिस बिना पब्लिक के कुछ नहीं कर सकती है। अपराधों पर अकुश लगाने के लिए जनता से सहयोग करने की अपील करते हुए सभी ग्राम वासियों का आभार प्रकट किया। एसपी सिटी डॉक्टर प्रवीण रंजन सिंह ने कहा पुलिस और नागरिकों के बीच संवादहीनता से अपराध बढ़ते हैं। उन्होंने जनता से पुलिस का संदेशवाहक बनने की अपील की।

थानाध्यक्ष नांगल रविंद्र कुमार सिंह ने सभी स्थानीय ग्राम वासियों से कहा कि पुलिस और आम जनता में विश्वास जागरूक करके ही हम सब क्षेत्र में शांति व्यवस्था एवं कानून का राज स्थापित कर सकते हैं। इसलिए पुलिस भी समाज का एक अंग है। सभी सम्मानित नागरिकों को पुलिस का सहयोग करना चाहिए।
कार्यक्रम में ग्राम प्रधान अविनाश कुमार, पूर्व प्रधान रोहताश सिंह, सूरत पाल सिंह, इरफान अहमद पूर्व प्रधान बाबू सिंह, पूर्व सदस्य जिला पंचायत सरदार बुध सिंह, रुकन राजपूत आदि बड़ी संख्या में ग्राम वासी उपस्थित रहे।

छात्र छात्राओं ने रैली निकालकर संचारी रोग नियंत्रण के लिए ग्राम वासियों को किया जागरूक

नजीबाबाद (बिजनौर)। ग्राम पंचायत मुस्सेपुर के प्राथमिक विद्यालय के छात्र छात्राओं ने मुख्य अध्यापिका शहनाज परवीन, आंगनवाड़ी अनीता देवी, आशा जयवती के नेतृत्व में प्राथमिक विद्यालय के समस्त शिक्षक शिक्षिकाओं के मार्गदर्शन में संचारी रोग नियंत्रण हेतु एक जन जागरूकता रैली निकालकर ग्रामवासियों संचारी रोगों की रोकथाम के लिए जागृत किया।

इस जन जागरूकता रैली का शुभारंभ ग्राम प्रधान दिलीप कुमार एवं वरिष्ठ भाजपा नेता चौधरी ईशम सिंह ने संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर चौधरी ईशम सिंह एवं ग्राम प्रधान दलीप कुमार ने ग्राम वासियों को साफ सफाई का विशेष ध्यान रखने, इन बीमारियों से बचने एवं अपने समाज को सुरक्षित रखने का आह्वान किया। जन जागरूकता रैली में बच्चों ने गांव में गली गली में जनता को जागरूक किया। इस अवसर पर विद्यालय की मुख्य अध्यापिका शहनाज परवीन, चंद्र प्रकाश सैनी, वरिष्ठ भाजपा नेता चौधरी ईशम सिंह, ग्राम प्रधान दलीप कुमार,आफ्शा खानम ,सुषमा रानी, आंगनवाड़ी अनीता देवी, आशा कार्यकत्री जयवती प्रजापति, जोगराज सिंह, फरीद अहमद, सदस्य क्षेत्र पंचायत मुजाहिद मंसूरी,पूनम सविता आदि ने भी इस जन जागरूकता अभियान में अपना सहयोग किया।

सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज के नए शैक्षिक सत्र का शुभारंभ

बिजनौर। अफजलगढ़ स्थित सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज परिसर में विधिवत पूजा-अर्चना करके नए शैक्षिक सत्र का शुभारंभ किया गया।

विद्यालय परिसर में हवन एवं सरस्वती पूजन किया गया। अखिलेश सिंह ने सपत्नीक यज्ञमानी की तथा पंडित मुकेश जखमोला ने पूर्ण विधि-विधान पूर्वक सरस्वती पूजन संपन्न कराकर उपस्थित लोगों को हिंदू नव वर्ष की शुभकामनाएं दी। वहीं प्रधानाचार्य प्रवेन्द्र कुमार ने सभी छात्र-छात्राओं के उज्जवल भविष्य के लिए मां सरस्वती से प्रार्थना की। सभी अध्यापक गणों के साथ साथ कार्यक्रम में उपस्थित सभी छात्र- छात्राओं ने यज्ञ में आहुतियां दी। इस अवसर पर आनंद भूषण यादव, राजीव कुमार अग्रवाल, रमाकान्त तिवारी, शौकेन्द्र कुमार तथा अमरीश कुमार का योगदान रहा।

श्री सत्यनारायण सिद्धबली आश्रम पर ऐतिहासिक मेला

बिजनौर। अफजलगढ़ स्थित फूलताल फार्म स्थित श्रीसत्यनारायण सिद्ध बली आश्रम पर आयोजित ऐतिहासिक मेले का पूजा- अर्चना विधिवत शुभारम्भ किया गया।

फूलताल फार्म स्थित श्री सत्यनारायण सिद्ध बली आश्रम के परंपरागत 58वें विशाल मेले के मुख्य पर्व का क्षेत्रीय विधायक कुंवर सुशांत सिंह ने विधि- विधान पूर्वक पूजा-अर्चना करके शुभारंभ किया। इस अवसर पर मेला व्यवस्थापक खेल सिंह राजपूत तथा डा. संदीप गोयल सहित मेला आयोजन समिति के अन्य पदाधिकारियों ने माल्यार्पण कर अतिथियों का स्वागत किया। मेले के व्यवस्थापक खेल सिंह राजपूत ने बताया कि क्षेत्र के गांव चौहड़वाला के निकट फूलताल में श्री सत्यनारायण सिद्धबली आश्रम एक ऐसा प्राचीन सिद्ध स्थल है, जहां दीर्घकाल से श्रद्धालुओं को मनोकामनाएं पूर्ण होती आई है उन्होंने श्रद्धालुओं से मेले में प्रबंध समिति अथवा शासन प्रशासन द्वारा जारी समस्त नियमों अथवा दिशानिर्देश का पालन करते हुए सपरिवार पधारकर धर्म लाभ उठाने का आह्वान किया।

इस दौरान ब्लाक प्रमुख प्रदीप कुमार उर्फ बबली, मेघनाथ सिंह, प्रधान नितिन चौहान, प्रधान मितान सिंह, युवा भाजपा नेता संदीप चौहान उर्फ सीनू, अक्षय प्रताप सिंह सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे। वहीं मेला स्थल पर भारी संख्या में खेल खिलौनों, मिठाई, सौन्दर्य प्रसाधन सहित अन्य प्रकार की दुकानें लगाई गई। इसके अलावा बच्चों के मनोरंजन के लिए सर्कस, नाव, झूले, रेलगाड़ी तथा काला जादू के शो का संचालन किया जा रहा था।

अफजलगढ़ पुलिस के हत्थे चढ़ा 15 हजार का इनामी बदमाश

बिजनौर। अफजलगढ़ कोतवाल मनोज कुमार सिंह के नेतृत्व में पुलिस ने गैंगस्टर के मामले में फरार चल रहे 15 हजार रूपये के इनामी को मुखबिर की सूचना पर गिरफ्तार कर लिया। आरोपी का गैंगस्टर एक्ट में चालान कर दिया गया है।

नगर के मोहल्ला बेगम सराय निवासी याकूब उर्फ मुन्ना पुत्र अब्दुल वहीद गैंगस्टर मामले में वांछित चल रहा था। याकूब उर्फ मुन्ना के खिलाफ गैंगस्टर सहित अन्य मामलों में पुलिस द्वारा कार्रवाई भी की गई थी। कोतवाल मनोज कुमार सिंह ने बताया कि याकूब उर्फ मुन्ना की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने प्रयास किये मगर वह हत्थे नहीं चढ़ा। इसके बाद पुलिस अधीक्षक डॉ धर्मवीर सिंह ने आरोपी की गिरफ्तारी पर 15 हजार रूपए का इनाम घोषित किया था। आरोपी चार माह से गैंगस्टर एक्ट में वांछित चल रहा था।

सोमवार को सुबह मुखबिर की सूचना पर हरेवली अफजलगढ़ तिराहे पर से याकूब उर्फ मुन्ना को गिरफ्तार कर लिया। कोतवाल मनोज कुमार सिंह ने बताया कि एसएसआई दिनेश कुमार शर्मा, कस्बा इंचार्ज टेकराम सिंह, कांस्टेबल राहुल चौधरी, कांस्टेबल विकास बाबू तथा कांस्टेबल सचिन कुमार सहित पुलिस टीम ने मुखबिर की सूचना पर गिरफ्तार किया। आरोपी का गैंगस्टर एक्ट में चालान कर दिया गया है।

न्यू एरा अकैडमी में वार्षिकोत्सव व परीक्षा फल का वितरण

बिजनौर। नजीबाबाद के न्यू एरा अकैडमी में वार्षिकोत्सव मनाते हुए परीक्षा फल का वितरण किया गया। सभी सफलता प्राप्त विद्यार्थियों ने परीक्षा परिणाम प्राप्त कर खुशी मनाई। इस अवसर पर मुख्य अतिथि वरिष्ठ भाजपा नेता चौधरी ईशम सिंह ने कहा कि समाज में शिक्षा का महत्वपूर्ण स्थान है।

न्यू एरा अकैडमी लाहक कला में विद्यालय का वार्षिकोत्सव एवं परीक्षा फल का वितरण किया गया। सभी सफलता प्राप्त विद्यार्थियों ने परीक्षा परिणाम प्राप्त कर खुशी मनाई।

विद्यालय के वार्षिकोत्सव में विद्यालय के नन्हे मुन्ने बच्चों ने कई सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। मुख्य अतिथि वरिष्ठ भाजपा नेता चौधरी ईशम सिंह ने मां सरस्वती के चित्र के सम्मुख दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने विद्यालय के छात्र छात्राओं सब स्टाफ एवं छात्र-छात्राओं के अभिभावकों को संबोधित करते हुए कहा कि समाज में शिक्षा का महत्वपूर्ण स्थान है। शिक्षित व्यक्ति अपने जीवन में जो कार्य भी करता है, उसकी अलग पहचान होती है। उन्होंने सभी अभिभावकों से अपने अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाने की अपील की।

इस अवसर पर साबिर अहमद, शाहबपुरा उमराव से इरशाद अहमद ठेकेदार, डा शमशेर खान लाहक कला,
वीरेंदर सिंह, महिपाल सिंह चौहान, हामिद खान पूर्व प्रधान, उस्मान भाई,सुशील कुमार, सुधीर कुमार, राकेश कुमार, शिवम कुमार इत्यादि छात्र कक्षा 1 में मौ फ़ैज़, 2 में रफिया, कक्षा 3 आहिल, कक्षा 4 में कार्तिक कुमार, कक्षा 5 में अक्षित कुमार इत्यादि छात्रों ने अपनी अपनी कक्षाओं में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथि चौधरी इसम सिंह, नादिर हसन, अश्वनी कुमार आदि ने सभी छात्र छात्राओं को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर अज़हर हसन अध्यक्ष, अज़रा मैनेजर, स्टाफ श्रवण कुमार, प्रिंसिपल शालिनी चौहान, वाईस प्रिंसिपल हुमेरा, निशा, इरम, फ़िज़ा, आयशा, फरहाना
विनीता इत्यादि उपस्थित रहे।

जाट बाल विद्यालय का वार्षिक परीक्षाफल घोषित

बिजनौर। मोहल्ला जाटान स्थित जाट बाल विद्यालय का वार्षिक परीक्षाफल घोषित किया गया।

इसमें कक्षा 5 में छवि नैना, बॉबी प्रथम, नितिका द्वितीय तथा मुक्ता तृतीय रहे।कक्षा 4 में निहारिका, भूपेंद्र व शगुन, कक्षा 3 में पायल, वंशिका व प्रिंस, कक्षा 2 में जीत, वंशिका व लक्ष्य तथा कक्षा 1 में लक्ष्य, मयंक व प्रिंस क्रमशः प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर रहे।

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अनिल विश्नोई द्वारा बच्चों को पुरस्कार वितरित करते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की गई।

इस अवसर पर प्रबंधक राजेंद्र सिंह, प्रधानाचार्य सुनीता सिंह, अध्यापिका अंजली चौधरी, अनिता सैनी, मोनिका चौधरी और गीता आदि उपस्थित रहे।

केले, बांस व फूलों की खेती संवारेंगी कृषकों की किस्मत


बिजनौर। हल्दौर फेड फारमर्स प्रोड्यूसर कम्पनी लिमिटेड, ग्राम अगरी विकास खंड हलदौर के कार्यालय परिसर में एक कृषक गोष्ठी का आयोजन आत्मा योजना प्रभारी योगेन्द्र पाल सिंह योगी के संचालन में किया गया। इस अवसर पर किसान पाठशाला के संचालक राहुल चौधरी ने केले एवं बांस की व्यावसायिक खेती के संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि जनपद की भूमि दोनों फसलों की खेती के लिए अनकूल है, जिसे अपनाकर कम लागत में भी कृषक गन्ना से दोगुना आय प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही फसलों पर मिट्टी के घोल का छिड़काव के महत्व से अवगत कराते हुए फसलों के पोषण प्रबंधन एवं कीट रोग नियंत्रण के बारे में बताया गया।


जिला कृषि अधिकारी डा अवधेश मिश्रा द्वारा कृषकों के विकास में एफपीओ की भूमिका की जानकारी देते हुए उपस्थित कृषकों से आवाहन किया गया कि अपने विकास खण्ड में गठित एफपीओ से जुड़े और सामूहिक रूप से इस प्रकार कृषि गतिविधियों का समावेश करें, जिससे प्रत्येक माह आय प्राप्त होती रहे। प्रदेश सरकार एवं भारत सरकार द्वारा गठित व्यक्तियों को दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी ग।


इससे पूर्व उप कृषि निदेशक गिरीश चन्द्र द्वारा हल्दौर फेड फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड द्वारा स्थापित आधुनिक डिजिटल भूमि परीक्षण प्रयोगशाला का फीता काट कर शुभारम्भ किया गया। उदघाटन के अवसर पर उप कृषि निदेशक द्वारा अपने उदबोधन के माध्यम से अवगत कराया गया कि यह प्रयोगशाला किसानों के लिए बहुत उपयोगी सिद्ध होगी। भूमि स्वास्थ्य के वर्तमान परिवेश के दृष्टिगत सभी किसानों के लिए यह आवश्यक है कि वे अपने अपने खेत की मिट्टी का भूमि परीक्षण अवश्य करा लें, जिससे उनको यह पता लग सके कि उनके भूमि में किन किन पोषक तत्वों की कमी है और तदनुसार उन तत्वों की पूर्ति करते हुए ना केवल वे अच्छा उत्पादन प्राप्त कर सकते हैं बल्कि अनावश्यक उर्वरकों के प्रयोग से भी बच सकते हैं। इससे परोक्ष रूप से जहां कृषि लागत में कमी होगी, वहीं अपरोक्ष रूप से कृषि उत्पाद, भूमि और जल की गुणवत्ता में वृद्धि भी होगी।


जिला उद्यान अधिकारी जीतेंद्र कुमार के द्वारा पॉलीहाउस के माध्यम से फूलों की खेती के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। ग्राम अगरी के अग्रणी कृषक अखिलेश कुमार के द्वारा पाली हाउस के माध्यम से की जा रही फूलों की खेती की जानकारी दी गई।


हल्दौर फेड फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड अगरी के संरक्षक ब्रह्म पाल सिंह ने बताया कि उनके यहां जैविक जामुन व गन्ना का जैविक सिरका, गुड़, शक्कर, खाण्ड, हल्दी, गेहूं व चावल बिक्री के लिए उपलब्ध हैं। कृषक उत्पादक संगठन के निदेशक मंडल एवं सदस्यों तथा उपस्थित कृषकों के साथ श्री अखिलेश कुमार के प्रक्षेत्र पर पाली हाउस में उत्पादित किए जा रहे फूलों की खेती का भ्रमण भी किया गया।
इस अवसर पर पूर्व ब्लाक प्रमुख डॉ धर्मवीर सिंह, समर पाल सिंह, शूरवीर सिंह, डा धर्मवीर सिंह, विकास कुमार, धीर सिंह, ओम प्रकाश आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किये। इस कार्यक्रम में उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी सदर मनोज रावत, विषय वस्तु विशेषज्ञ मुकेश पाराशर एवं कुलदीप, सहायक विकास अधिकारी कृषि कमल सिंह आदि उपस्थित रहे।

वैभव अग्रवाल बने आईवीएफ के जिला महामंत्री


बिजनौर। अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन (उत्तर प्रदेश) के प्रदेश उपाध्यक्ष गौरव अग्रवाल एडवोकेट की संस्तुति पर अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महा सम्मेलन (जनपद बिजनौर) के जिला अध्यक्ष अभिनव अग्रवाल एडवोकेट द्वारा स्थानीय वैभव अग्रवाल को जनपद बिजनौर का जिला महामंत्री मनोनीत किया गया है। उनसे आशा व्यक्त की गई है कि वह संगठन को एक नयी दिशा व मजबूती प्रदान करेंगे। आईवीएफ जिलाध्यक्ष अभिनव अग्रवाल एडवोकेट ने नव मनोनित जिला महामंत्री वैभव अग्रवाल से आशा की है कि वह वैश्य समाज की परम्परा को आगे बढाते हुए समाज में फैली कुरीतियों के उन्मूलन व रचनात्मक कार्यो के प्रति समर्पित रहेंगे।

गंगा बैराज पर डीपीआरओ ने चलाया सफाई अभियान

बिजनौर। स्वच्छता अभियान के तहत गंगा बैराज पुल पर  डीपीआरओ सतीश कुमार ने विशेष सफाई अभियान चलाया। इसके लिए वह स्वयं सहायक विकास अधिकारी पंचायत अनिल कुमार एवं रविकान्त को साथ लेकर टीम के साथ प्रातः 7 बजे गंगा बैराज पर पहुंचे एवं विशेष सफाई अभियान के तहत गंगा घाट की सफाई कराई। उन्होंने वहां पड़ी पॉलिथीन व कचरे को इकट्ठा करवाकर खड़ी झाड़ियों की कटाई कराई।

इस दौरान उन्होंने कहा कि गंगा मैया में लोगों की आस्था है, इसीलिए गंगा बैराज पर इसी तरह से समय समय पर विशेष सफाई अभियान चलाया जाए। गंगा बैराज पर साफ़-सफाई होना बहुत आवश्यक है।

डीपीआरओ बिजनौर सतीश कुमार

डीपीआरओ ने कहा कि गंदगी की वजह से लोगों को समस्या ना हो इसीलिए गंगा बैराज पर सफ़ाई कार्य के लिए कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। वह सभी गम्भीरता के साथ प्रतिदिन सफ़ाई करें। स्वच्छता में लापरवाही हरगिज़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी। फिर भी यदि गंगा बैराज पर गंदगी मिलती है तो यहाँ नियुक्त कर्मचारियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही अमल में लायी जाएगी। इस संबंध में सहायक विकास अधिकारी पंचायत देवमल को कड़े निर्देश भी दिए गए।

हाई वोल्टेज तार की चपेट में आ कर किसान की मौत

बिजनौर। बास्टा में हाई वोल्टेज तार की चपेट में आ कर किसान की  मौत हो गई। क्षेत्र के ग्राम पंचायत रसूलपुर नगला निवासी चन्द्रप्रकाश मंगलवार को अपने ईख के खेत में नलाई कर रहा था। इस बीच खेत के ऊपर से गुजर रही हाई वोल्टेज  लाइन का तार अचानक टूट कर उसके शरीर पर गिर गया। घटना में किसान की मौके पर ही मौत हो गयी। जानकारी मिलने पर परिजनों में कोहराम मच गया। ग्रामीणों ने सरकारी मदद के आश्वासन के बाद शव को उठने दिया। परिजनों के अनुसार किसान तीन पुत्रियां और दो पुत्र रोते बिलखते हुऐ छोड़ गया है।

एफपीओ द्वारा ग्राम अगरी में मृदा परीक्षण की अभिनव पहल

एफ.पी.ओ. द्वारा ग्राम अगरी में मृदा परीक्षण की अभिनव पहल

बिजनौर। ग्राम अगरी में कृषक उत्पादक संगठन “हल्दौर फेड फारमर्स प्रोड्यूसर कम्पनी लिमिटेड” द्वारा एक मृदा परीक्षण लैब स्थापित की जा रही है।

एफ.पी.ओ. के सीईओ विकास कुमार ने बताया कि इस प्रयोगशाला में कृषक नाइट्रोजन, फास्फोरस, पोटाश, पीएच, ईसी,सल्फर, जिंक, बोरोन, कापर, जीवांश कार्बन आदि की जांच करा सकते हैं। एक मृदा नमूना के सभी तत्वों की टेस्टिंग की फीस 400 रूपये निर्धारित की गयी है। इसके साथ ही यदि कोई कृषक कुछ चुनिंदा तत्वों की जांच कराना चाहता है तो इसकी फीस तुलनात्मक रूप से उसी तरह से कम हो जाएगी। नाइट्रोजन, फास्फोरस, पोटाश में से किसी एक तत्व की जांच के लिए ₹28 देने होंगे। पीएच मान की जांच के लिए ₹48 तथा ऑर्गेनिक कार्बन के लिए 65 रुपए का शुल्क देय होगा। एक मृदा नमूने के संपूर्ण तत्वों की जांच के लिए लगभग 1 घंटे का समय लगता है। कृषक उत्पादक संगठन के चेयरमैन ब्रह्मपाल सिंह द्वारा बताया गया कि जनपद बिजनौर में किसी भी एफपीओ द्वारा यह अनूठी पहल है तथा संतुलित उर्वरक प्रयोग हेतु यह प्रयोगशाला मील का पत्थर साबित होगी।
स्थापित की जाने वाली प्रयोगशाला का निरीक्षण उप कृषि निदेशक गिरीश चन्द्र द्वारा किया गया। मौके पर उपस्थित कृषकों को उप कृषि निदेशक द्वारा जानकारी दी गई कि मृदा परीक्षण से भूमि में उपलब्ध पोषक तत्वों के स्तर की जानकारी होगी तथा आगामी मौसम में बोई जाने वाली फसल के लिए पोषक तत्वों की सही आवश्यकता की जानकारी से संतुलित उर्वरकों का प्रयोग कर सकेंगे, जिससे उत्पादन लागत में कमी आएगी। इस अवसर पर उनके साथ उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी बिजनौर व आत्मा प्रभारी योगेन्द्र पाल सिंह योगी उपस्थित रहे। आत्मा प्रभारी द्वारा उपस्थित कृषकों से परिचर्चा में जैविक कृषि अपनाए जाने पर बल दिया गया।

शेखपुरा आलम में पशुपालन विभाग ने लगाया निःशुल्क पशु आरोग्य शिविर


पशुपालन विभाग ने किया किसान गोष्ठी एवं नि:शुल्क पशु स्वास्थ्य शिविर का आयोजन। गौ पूजन के साथ हुआ शुभारंभ

बिजनौर। नजीबाबाद विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत शेखपुरा आलम में पशुपालन विभाग द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय पशु आरोग्य शिविर लगाया गया। शुभारंभ नजीबाबाद के ब्लाक प्रमुख तपराज सिंह देशवाल, वरिष्ठ भाजपा नेता चौधरी ईशम सिंह, मंडल अध्यक्ष भाजपा जुगनेश कुमार ने संयुक्त रुप से गौ पूजन तथा मुख्य द्वार पर बंधा फीता काटकर किया।

इस अवसर पर उप जिला मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ विनोद कुमार ने विस्तार से पशुपालन विभाग की योजनाओं के बारे में शिविर में उपस्थित किसानों एवं पशुपालकों को बताया। उन्होंने कहा कि सरकार अनेक योजनाएं चलाकर किसानों के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने के लिए कार्य कर रही है जिसमें पशुपालन विभाग पशुओं के लिए नि:शुल्क दवाइयां नि:शुल्क उपचार टीकाकरण आदि की व्यवस्था कर रहा है। अपने संबोधन में पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ कर्मवीर सिंह एवं डा अंकित चौधरी ने कहा कि पशुओं की किसी भी समस्या के लिए हम सब तत्पर हैं। हर समय जो भी समस्या किसी को होती है, वह किसान भाई संपर्क कर सकते हैं।

ब्लाक प्रमुख तपराज सिंह देशवाल ने कहा कि पशुपालन विभाग द्वारा दी जा रही योजनाओं का समुचित प्रचार-प्रसार ना होने के कारण क्षेत्र के किसान भाई सरकारी योजनाओं से अनभिज्ञ रह जाते हैं। उन्होंने अधिकारियों से अधिक से अधिक प्रचार प्रसार का आह्वान करते हुए सभी किसान भाइयों से आग्रह किया कि सरकार की योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ उठाएं।

अपने संबोधन में वरिष्ठ भाजपा नेता चौधरी ईशम सिंह ने कहा कि सरकार सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास के आधार पर विकास योजनाएं चलाकर जनता के विकास का कार्य कर रही है। इसमें पशुपालन विभाग पंडित दीन दयाल उपाध्याय पशु आरोग्य शिविर लगाकर घर-घर तक विभागीय योजनाओं का लाभ किसान भाइयों, पशुपालकों तक पहुंचने का कार्य कर रही है। यह विभाग का सराहनीय कार्य है। उन्होंने सभी से उन सरकारी योजनाओं का लाभ लेने की अपील की। इस अवसर पर ग्राम प्रधान भागीरथ सिंह की अध्यक्षता एवं अनुज कुमार के संचालन में किसान गोष्ठी एवं पशु आरोग्य शिविर का आयोजन किया गया। इसमें मुख्य रूप से ब्लाक प्रमुख तपराज सिंह देशवाल, चौधरी ईशम सिंह, गजेंद्र सिंह, अनुज कुमार, चमन सिंह सैनी, राम कुमार सिंह, पूर्व प्रधानाचार्य अतर सिंह चौहान, ओमप्रकाश सिंह, पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ अंकित कुमार, पैरावेट जुगनेश कुमार, युवा मोर्चा के मंडल अध्यक्ष अभय रघुवंशी, सुधीर चौधरी चंदोक सहित क्षेत्र के अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे। इस अवसर पर पशु आरोग्य शिविर में 406 पशुओं का पंजीकरण हुआ, जिसमें 404 बड़े पशु एवं दो छोटे पशु शामिल हैं। शिविर में 104 पशुओं की सामान्य चिकित्सा की गई। कृमि नाशक दवाइयों का वितरण 404 पशुओं के लिए किया गया, बांझपन चिकित्सा 32, पशुओं की गर्भधान 12, बधियाकरण दो, टीकाकरण 300, पशुओं का किया गया, उक्त सभी कार्य नि:शुल्क किए गए।

गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना के अंतर्गत भरपूर लाभ कर सकेंगे अर्जित: डीएम उमेश मिश्रा

बिजनौर। जिलाधिकारी उमेश मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि रबी विपणन वर्ष 2022-23 में न्यूनतम मूल्य समर्थन योजना के अंतर्गत कृषक बंधुओं को भरपूर लाभ दिलाए जाने के उद्देश्य से जिला बिजनौर में गेहूं ख़रीद के लिए कुल 34 क्रय केंद्र अनुमोदित किए गए हैं।

उन्होंने बताया कि अनुमोदित क्रय केंद्रों में खाद्य विभाग के 09 एवं पीसीएस के 25 क्रय केंद्र शामिल हैं। उन्होंने यह भी बताया कि शासन की महत्वपूर्ण गेहूं खरीद योजना आगामी 1 अप्रैल 2022 से शुरू होगी, जिसके तहत गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य ₹ 2015 प्रति कुंतल निर्धारित किया गया है। गेहूं खरीद के लिए किसानों का पंजीयन खाद्य विभाग की वेबसाइट http://www.fcs.up.gov.in पर (बैंक खाता संख्या खतौनी आधार कार्ड एवं मोबाइल नंबर के आधार पर) कृषक द्वारा स्वयं, जन सूचना केंद्र अथवा इंटरनेट कैफे के द्वारा कराया जा सकता है। उन्होंने और अधिक जानकारी देते हुए बताया कि कृषक बंधु ख़रीफ़ विपणन वर्ष 2021-22 में धान खरीद के लिए पंजीकरण करा चुके हैं, उन्हें गेहूं विक्रय के लिए पंजीयन कराने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन उन्हें पंजीयन प्रपत्र में यथा आवश्यक संशोधन करते हुए पंजीयन में दर्ज कुल रकबे में अपने हिस्से में बोए गए गेहूं के रकबे की घोषणा करते हुए पंजीयन प्रपत्र को पुनः लाक करना अनिवार्य होगा। उन्होंने बताया कि उक्त संबंध में आवश्यक जानकारी प्राप्त करने के लिए अपर जिलाधिकारी प्रशासन/ जिला ख़रीद अधिकारी (गेहूं ख़रीद) बिजनौर के मोबाइल नंबर 9454416895 तथा जिला खाद्य विपणन अधिकारी, बिजनौर के मोबाइल नंबर 9794032966 पर संपर्क स्थापित किया जा सकता है।

पंडित दीनदयाल उपाध्याय आरोग्य पशु मेले में हुआ 433 पशुओं का पंजीकरण

ग्राम धौलागढ में हुआ पंडित दीनदयाल उपाध्याय आरोग्य पशु मेले का आयोजन। मेले में हुआ 433 पशुओं का हुआ पंजीकरण।

बिजनौर। नूरपुर क्षेत्र की ग्राम पंचायत धौलागढ में पशुपालन विभाग द्वारा एक दिवसीय पंडित दीनदयाल उपाध्याय पशु आरोग्य शिविर व मेला का आयोजन किया गया।
बुधवार को आयोजित मेले का उद्घाटन मुख्य अतिथि ग्राम प्रधान चंद्रप्रभा ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय के चित्र पर माल्यार्पण कर किया। इसके बाद गोपूजन किया। इस अवसर पर नूरपुर के पशु चिकित्सा अधिकारी डा. मोहम्मद अहमद ने पशुपालन विभाग द्वारा संचालित विभिन्न प्रकार की योजनाओं की जानकारी पशुपालकों को दी। उन्होंने पशु टीकाकरण, बांझपन, संतुलित आहार आदि के प्रति पशु पालकों को जागरूक किया। मेले में वैक्सीनेटर मुनेश कुमार, मोहम्मद दानिश, अमन कुमार आदि उपस्थित रहे। मेले में कुल 433 पशुओं का पंजीकरण हुआ। विभाग की ओर से पशु पालकों को निःशुल्क मिनरल मिक्सचर का वितरण किया गया।

गरीबों ने उठाया फ्री मेडिकल कैम्प का फायदा

चेयरपर्सन पति शमशाद अंसारी के प्रयासों से किया गया फ्री मेडिकल कैंप का आयोजन। उपलब्ध रही मेन्टोल हॉस्पिटल के चिकित्सकों की टीम। गरीब असहाय लोगों को मिली मुफ्त में इलाज व जांच की सुविधा।


बिजनौर। मेन्टोल हॉस्पिटल की ओर से मोहल्ला खत्रियान में एक फ्री कैंप का आयोजन किया गया। इसमें सभी गरीब असहाय लोगों को मुफ्त में इलाज की सुविधा प्रदान की गई और मुफ्त में कई बीमारियों की जांच भी की गई। कैम्प का लाभ उठा कर गरीब असहाय लोगों ने काफी राहत महसूस की।
बिजनौर के नजीबाबाद मार्ग स्थित स्वयंवर बैंक्विट हॉल के पास मेन्टोल हॉस्पिटल के संचालक डॉक्टर जुबेर व डॉक्टर अयूब के नेतृत्व में शहर के मोहल्ला खत्रियान में नगरपालिका चेयरपर्सन पति शमशाद अंसारी के कैंप कार्यालय पर एक फ्री मेडिकल कैंप का आयोजन किया गया। कैम्प में आसपास क्षेत्रों से आए गरीब मरीजों का मुफ्त में इलाज कराया गया। बता दें कि मेन्टोल हॉस्पिटल की ओर से लगातार गरीबों को सस्ता और अच्छा इलाज मुहैया कराने की कवायद की जा रही है, ताकि गरीब लोग इसका फायदा उठा सकें। कैंप में सैकड़ों की संख्या में गरीब लोगों का मुफ्त में इलाज कराया गया।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष शेरबाज पठान 6 माह के लिए जिला बदर

बिजनौर। कांग्रेस जिलाध्यक्ष शेरबाज पठान को गुंडा एक्ट के मामले में छह महीने के लिए जिला बदर कर दिया गया है। एडीएम प्रशासन की कोर्ट ने यह आदेश जारी किया। इसके अलावा कई अन्य को भी छह माह के लिए जिला बदर किया गया है। शेरबाज को जिला बदर किए जाने से चांदपुर में नगर पालिका चेयरमैन पद का चुनाव लड़ने के इच्छुक उनके व्यक्तिगत विरोधी काफी खुश बताए जा रहे हैं।

जिला प्रशासन ने कई आरोपियों को गुंडा अधिनियम में कार्यवाही करते हुए छह माह के लिए जिला बदर कर दिया है। जिला बदर होने वालों में कांग्रेस जिला अध्यक्ष व चांदपुर के मोहल्ला चाहसंग निवासी शेरबाज पठान पुत्र निसार अहमद के अलावा ग्राम हीमपुर बुजुर्ग निवासी शाहरुख पुत्र शकील, शेरकोट के मोहल्ला अफगानान निवासी इल्यास पुत्र हनीफ व नईम अहमद पुत्र खुदाबख्श, मोहल्ला हकीमान निवासी सलीम अहमद कुरैशी पुत्र मोहम्मद समी व फहीम अहमद पुत्र इमामद्दीन, हीमपुर दीपा थाना क्षेत्र के ग्राम रावटी निवासी गोपाल पुत्र दयाराम तथा स्योहारा के ग्राम कमाला निवासी विपिन पुत्र ऋषिपाल, अनीस नंगली निवासी मुस्लिम उर्फ सुक्कू पुत्र शब्बीर व अम्मन खां पुत्र शकूर शामिल बताए गए हैं।

विदित हो कि चांदपुर पुलिस ने मौजूदा कांग्रेस जिलाध्यक्ष शेरबाज पठान को गुंडा एक्ट में निरुद्ध किया था। मामले में सुनवाई करने के बाद एडीएम प्रशासन की कोर्ट ने शेरबाज पठान को छह महीने के लिए जिला बदर करने के आदेश जारी किए। इसी के साथ उक्त अवधि में जिले में दिखाई देने पर कार्रवाई के आदेश भी जारी किए हैं। पुलिस अधीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह ने पुष्टि करते हुए बताया कि शेरबाज पठान को छह महीने के लिए जिला बदर किया गया है। 

इस मामले में चांदपुर पुलिस को भनक नहीं लग पाई,  जिसके चलते मंगलवार तक शेरबाज पठान को जिले में ही घूमते हुए देखा गया। इतना ही नहीं मंगलवार को ही वह जिला मुख्यालय पर घूमते हुए दिखाई दिए। एडीएम प्रशासन विनय कुमार ने बताया कि शेरबाज पठान काफी लंबे समय से हाजिर नहीं हो रहे थे। कई आपराधिक मामले दर्ज थे। यह फाइल काफी लंबे समय से पेंडिंग थी। अब इस पर जिला बदर की कार्रवाई हुई है। वहीं कांग्रेस जिलाध्यक्ष शेरबाज पठान ने बताया कि यह एक पक्षीय कार्रवाई है। 2017 में मेरे पास एक नोटिस आया था, उस समय जिले में तैनात डीएम ने उन्हें आश्वासन दिया था कि कोई कार्रवाई नहीं होगी। इतने लंबे समय बाद यह कार्रवाई क्यों हुई, समझ नहीं आ रहा। उच्चाधिकारियों से इस मामले में वार्ता की जाएगी।

क्षय रोगियों के बेहतर इलाज के लिये कटिबद्धता जताई

बिजनौर। जिलाधिकारी उमेश मिश्रा ने बताया कि भारत सरकार के आह्वान पर प्रदेश सरकार का यह संकल्प है कि उत्तर प्रदेश को क्षय रोग से पूरी तरह मुक्त किया जायेगा। उन्होंने बताया कि इसके लिये क्षय रोगियों के चिन्हॉकन के पश्चात उनकी चिकित्सा नियमित रूप से सुनिश्चित की जा रही है ताकि कोई भी व्यक्ति इस बीमारी के समुचित इलाज से वंचित न रहने पाए और स्वास्थ्य लाभ हासिल कर स्वस्थ समाज का हिस्सा बने। उन्होंने चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि पूरी गहनता और गंभीरता के साथ क्षय रोगियों के चिन्हिीकरण का कार्य करें और जो भी रोगी पाया जाए उसके समुचित इलाज की व्यवस्था के साथ-साथ चिकित्सा की अवधि में उत्तम पोषण उपलब्ध कराया जाए, जिससे वे पूर्णरूप से स्वस्थ हो सके। जिलाधिकारी श्री मिश्रा कल देर शाम विकास भवन के सभागार में आगामी 24 मार्च 2022 को आयोजित होने वाले विश्व क्षय रोग दिवस के अवसर पर सम्पन्न होने वाले कार्यक्रमों से संबंधित बैठक की अध्यक्षता करते हुए निर्देश दे रहे थे। उन्होंने नोडल अधिकारी क्षय रोग को निर्देश दिए कि जिले में सुनियोजित एवं सुव्यस्थित रूप से क्षय रोगियों का चिन्हिकरण का कार्य कराएं और एक भी क्षय रोगी इलाज से वंचित न रहने पाए। उन्होंने बताया कि इस अवसर पर जिले में भिन्न-भिन्न श्रेणी के क्षय रोगियों को विभिन्न समाजिक एवं स्वयंसेवी संगठनों / शैक्षणिक संस्थानों एवं अधिकारियों को गोद लेने के लिए प्रेरित किया जा रहा है ताकि जनसहयोग के साथ इस बीमारी से जिला बिजनौर को मुक्त किया जाना सम्भव हो सके।

इसी क्रम में जनपद बिजनौर में उक्त दिवस पर अधिक से अधिक मरीजों को गोद लिया जायेगा। उन्होंने सभी चिकित्साधिकारियों को निर्देशित किया कि यदि उनकी संज्ञान में कोई ऐसा व्यक्ति आए जिसे दो सप्ताह से ज्यादा खांसी रही है, तो तत्काल उसकी जांच कराना सुनिश्चित करें तथा सभी शैक्षिक संस्थाओं के व्यवस्थापकों एंव अध्यापकगणों को भी सूचित करें कि यदि कोई विद्यार्थी दो हफतों से अधिक खांसी से पीड़ित है तो उसको भी तत्काल जांच के लिए चिकित्सालय भेजना सुनिश्तिच करें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी केपी सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. विजय कुमार गोयल, सभी अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, प्राईवेट चिकित्सक, नर्सिंग होम संचालक, समस्त स्कूल प्रधानाचार्य तथा स्वयंसेवी संस्थाओं के पदाधिकारी मौजूद थे।

न्याय के लिए किसानों का डीएफओ कार्यालय गेट पर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन

बिजनौर। गंगोड़ा जट में गुलदार की मौत के मामले में एक किसान को जेल भेजने व कई किसानों को झूठे मुकदमे में फसाने से आक्रोषित भाकियू पदाधिकारियों ने गन्ना समिति बिजनौर में इक्कट्ठा होकर मासिक पंचायत की और जिला अध्यक्ष चौधरी कुलदीप सिंह के नेतृत्व में सभी किसान जुलूस की शक्ल में नारेबाजी करते हुए डीएफओ ऑफिस पहुंचे और डीएफओ ऑफिस के गेट के बाहर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। धरना प्रदर्शन में किसानों के साथ काफी संख्या में महिलाएं भी मौजूद रही।

भाकियू जिला अध्यक्ष चौधरी कुलदीप सिंह ने धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए कहा कि किसान के खेत में कोई जाल लगा जाए और उसमे गुलदार फंस जाए और किसान उस गुलदार को पकड़ कर वन व पुलिस विभाग को जिंदा सौप दे फिर में वन विभाग अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए किसानों के खिलाफ मुकदमा लिखाए और एक बेकसूर किसान को जेल भेजकर जिला प्रशासन इस मामले में इति श्री कर ले ऐसा भाकियू कतई बर्दास्त नही करेगी उन्होंने कहा कि वन विभाग व पुलिस किसानों के घर दबिश देने की आड़ में खुले आम घर में घुस जाते हैं और एक किसान की मोटर साइकिल चोरी कर लाए ये कौन से कानून की किताब में लिखा हैं कि किसान का सामान चोरी करने वाले के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं होती और गंगोडा जट में एक गुलदार की मौत के मामले में एक मुकदमा हल्दौर थाने में और एक मुकदमा अपने विभाग में दर्ज कर बेकसूर किसानों का शोषण किया जा रहा है और प्रशासन आंखे मूंद कर बैठा है।

किसानों के धरना प्रदर्शन के बीच डीएफओ के न आने से आक्रोषित भाकियू जिला अध्यक्ष के आदेश पर भाकियू पदाधिकारी ऑफिस में बैठे सहायक वन संरक्षक डॉक्टर हरेन्द्र सिंह को उठाकर मीटिंग में ले आए और खूब खरी खोटी सुनाई और अपने बीच ही बैठा लिया। भाकियू जिला अध्यक्ष चौधरी कुलदीप सिंह ने कहा कि भाकियू ने जिला प्रशासन को एक महीने का टाइम दे दिया कि प्रशासन मामले की सही जांच कर जाल लगाने वाले शिकारी और गुलदार को नशे की ओवर डोज देकर मौत के घाट उतारने वाले वन कर्मियों के खिलाफ कारवाही करे परन्तु जिला प्रशासन इस मामले में आंख मूंद कर बैठ गया है इसलिए आज किसान वन विभाग की आंखे खोलने के लिए धरना प्रदर्शन करने को मजबूर हैं।

धरना प्रदर्शन का नेतृत्व भाकियू प्रदेश महासचिव ठाकुर रामौतार सिंह, प्रांतीय नेता बाबूराम तोमर, राष्ट्रीय प्रचार मंत्री होशियार सिंह, पूर्व मंडल महासचिव सुरपाल सिंह, जिला महासचिव नरदेव सिंह, जिला मिडिया प्रभारी संदीप त्यागी, ब्लॉक अध्यक्ष मोहम्मदपुर देवमल चौधरी विजय सिंह, स्योहारा ब्लॉक अध्यक्ष गजेंद्र टिकैत, अल्लेहार पुर ब्लॉक अध्यक्ष कविराज सिंह, जलीलपुर ब्लॉक अध्यक्ष महिपाल सिंह, लक्ष्मी नारायण सिंह, अशोक कुमार, लुद्धियांन सिंह, जय सिंह, संजीव कुमार, सत्यपाल सिंह, अनुज चौधरी, मुकेश कुमार, सोनू विर्क, रवि शेखर तोमर, देवेश चौधरी, हरिओम यादव, संदीप सिंह, विकास कुमार, मुनेश कुमार, कल्याण सिंह, अजय वालियान, श्रीशपाल सिंह, अवनीश कुमार, बलजीत सिंह, पंकज सहरावत, मास्टर महेंद्र सिंह, दलेल सिंह, मोनू चौधरी, किसान यूनियन नेत्री रानी, ममता, बाला, मुनिया, राजो, पिंकी, उषा आदि सकड़ो महिला पुरुष पदाधिकारी मौजूद रहे।

कविता इंसान को सिर्फ जिंदा नहीं रखती, जवान भी रखती है: डॉ. पंकज भारद्वाज

ग्रीन लाइट सीनियर सेंकेडरी पब्लिक स्कूल में हुआ काव्य गोष्ठी का आयोजन। गोष्ठी में कवियों ने प्रस्तुत की रचनाएं। मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए सांध्य हिंदी दैनिक पब्लिक इमोशन के संपादक डॉ. पंकज भारद्वाज।

बिजनौर। साहित्य संगम के तत्वावधान में ग्रीन लाइट सीनियर सेकेंडरी पब्लिक स्कूल अभिभुरा मंडावली में काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया।

मुख्य अतिथि वरिष्ठ पत्रकार एवं साहित्यकार डॉ. पंकज भारद्वाज ने कहा कि कविता इंसान को सिर्फ जिंदा नहीं रखती बल्कि जवान रखती है। उन्होंने कहा कि कविता के जरिए मौहब्बत एवं पीड़ा को व्यक्त किया जा सकता है किंतु नफरत बांटने का जरिया कविता को नहीं बनाया जा सकता। संयोजक रविंद्र कुमार और संरक्षक कर्मवीर सिंह के सानिध्य में हुई गोष्ठी की अध्यक्षता श्याम प्रकाश तिवारी व संचालन जितेंद्र सिंह कक्कड़ ने किया।

कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि द्वारा माता सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवल एवं माल्यार्पण से हुआ। इसके बाद संरक्षक कर्मवीर सिंह ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की। तत्पश्चात काव्य गोष्ठी में कुमुद कुमार ने कहा- शौर्य के पन्नों पर लिखा हमनें इतिहास भारत का; शस्त्र और शास्त्र से सजाया हमनें इतिहास भारत का।

वरिष्ठ कवि प्रदीप डेजी ने कहा-अपने आंसू पीते पीते हम प्यास बुझाना भूल गए; थोड़े से बस क्या बड़े हुए हम वक्त पुराना भूल गए। जितेंद्र कक्कड़ ने कहा- दर्द जमाने का सह लेते तो सफर कैसा होता; हम तो पी लेते पर आशियाने का क्या होता। राजेंद्र त्यागी ने कहा नफरतों को मेरे दोस्त दिल से हटा; दु:ख को मैं तेरे तू मेरे दु:ख को बंटा। संत भगीरथ सिंह ने कहा- नफरतों की आग को दिल से बुझाने आ गया हूं। डा. प्रमोद शर्मा प्रेम ने कहा- सारी नफरत जहाँ से हटा दीजिये; कोई रूठे अगर फिर मना लीजिए। अशोक सविता ने कहा- भावनाओं को लहूलुहान करना पड़ता है। मनोज कुमार मानव ने कहा – लाया पुत्र विशेष था जाकर बसा विदेश; घर पर सेवा कर रहा नालायक अवशेष। बेगराज यादव ने कहा- मेरे अपने अपने से नहीं लगते; मिलते हैं होली लेकिन दिल से नहीं मिलते। जयपाल रसिक ने कहा- कौन कहता है चार दिन चांदनी फिर अंधेरी रात है। मैं मर कर भी मेरी जान तुझे चाहूंगा। गमगीन साबिर ने कहा- पहले नफरत की दीवार गिराई जाए फिर होली और ईद मनाई जाए। रंग बिरंगी बहुरंगी सतरंगी छटा सजाई है। यह कौन है तेरा जिसने सुंदर तस्वीर बनाई है।

गोष्ठी में कर्मवीर सिंह, रविंद्र काकरण आदि ने भी रचनाएं प्रस्तुत कर वाहवाही लूटी। बालक अंश प्रताप ने शिव तांडव सुनाकर सभी का अशीर्वाद प्राप्त किया। अशोक कुमार अग्रवाल ने सभी कवियों की रचनाओं पर समीक्षा की। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे श्याम प्रकाश तिवारी ने सभी कवियों के प्रति अपना आभार प्रकट किया। साथ ही सभी कवियों के काव्य पर अपना विचार प्रकट कर संबोधित किया। अंत में मुख्य अतिथि पंकज भारद्वाज, कार्यक्रम अध्यक्ष श्याम प्रकाश तिवारी व संचालन कर रहे जितेंद्र कक्कड़ को शाल और प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

बिजनौर में तीन मंजिला इमारत में लगी आग

मौके पर पहुंची अग्निशमन विभाग की गाड़ियों में खत्म हुआ पानी। पालिका से कराई गई व्यवस्था। दुकान में रखा बिजली का सामान जलकर राख

बिजनौर। बिजली की तीन मंजिला दुकान में शार्ट शर्किट से भयंकर आग लग गई। आग से दुकान में रखा सामान जलकर राख हो गया। अग्निशमन विभाग की कई गाड़ियां मौके पर आग बुझाने के लिए पहुंची। गाड़ियों का पानी खत्म हो जाने से नगर पालिका के टैंकर भी मंगाए गए।
बिजनौर शहर कोतवाली क्षेत्र के मोइन के चौराहै पर एक इलेक्ट्रिक के सामान की तीन मंजिला दुकान में सवेरे सवेरे भयंकर आग लग गई। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया और आग की लपटें दूर तक दिखाई देने लगी। मौके पर दमकल की कई गाड़ियां पहुंची। आग इतनी भयंकर थी कि गाड़ियों का पानी भी खत्म हो गया और मौके पर नगरपालिका के पानी के टैंकर मंगाया गए। बताया जा रहा है कि मोइन के चौराहे पर स्थित यह तीन मंजिला दुकान आबाद हसन ने एके इलेक्ट्रॉनिक के नाम से अभी हाल ही में खोली थी, जिसमें बिजली के सभी सामान बिकते थे। नीचे एक मंज़िल में दुकान और ऊपर दो मंज़िल में गोदाम बना हुआ था, जिसमें बहुत सामना रखा हुआ था।

डीजे बजाने को लेकर दो पक्षों में झगड़ा; फौजी पुलिस हिरासत में

बिजनौर। स्योहारा के ग्राम सदाफल में  दो पक्षों में जमकर झगड़ा हुआ। मामले की तहरीर देते हुए पवन सिंह पुत्र खानचंद ने बताया कि शुक्रवार की शाम को जब वो अपने घर पर नहीं था तभी गांव निवासी हरिओम जितेंद्र, पवन पुत्र गण नोबाहर सिंह व अन्य कई लोग उसके घर मे लाठी डंडों से लैस होकर घुस आए और बिना किसी बात पर प्रार्थी की पत्नी व बच्चों के साथ मारपीट करने लगे। हमलावरों ने घर का सभी सामान भी तोड़ डाला।

इस मारपीट में महिलाओं सहित कई लोगों के चोट आई है।वहीं ग्रामीणों ने बताया कि दूसरा पक्ष डीजे बजा रहा था व भद्दी हरकते कर रहा था। इसका पवन व उसके फौजी भाई लोकेश ने विरोध किया तो दूसरे पक्ष ने हमसाज़ होकर इस मारपीट व तोड़फोड़ की घटना को अंजाम दिया है। साथ ही उनके फौजी भाई को कल शाम से पुलिस ने समाचार लिखे जाने तक अपनी हिरासत में रखा हुआ था। वहीं पुलिस ने बताया कि दो पक्षों में झगड़ा हुआ था। दोनों की ओर से ही तहरीर मिली थी। दोनों पक्षो के ही चोट आई हैं ।

डीजे की धुन पर जमके थिरके पुलिसकर्मी

बिजनौर। अफजलगढ़ में पुलिसकर्मियों पर शनिवार को होली का खूब रंग चढ़ा। उन्होंने एक दूसरे को गुलाल लगाकर होली की शुभकामनाएं दी। पुलिसकर्मी होली की मस्ती में झूमते नजर आए।

अफजलगढ़ कोतवाली में दोपहर 12:00 बजे कोतवाली प्रांगण के पीछे आवंटित परिसर के ग्राउंड में पुलिसकर्मी जमकर होली खेलते नजर आए। पुलिसकर्मियों ने गुलाल उड़ाते हुए डीजे पर डांस किया। उन्होंने एक-दूसरे को गुलाल लगाकर रंग दिया और होली की शुभकामनाएं दीं। डीजे पर जमकर ठुमके लगाए।

होली की मस्ती में डूबे रहे पुलिसकर्मी जबकि थाने के कामकाज पर इसका कोई असर नहीं पड़ा। कोतवाल मनोज कुमार सिंह, एसएसआई दिनेश कुमार शर्मा, कस्बा इंचार्ज टेकराम सिंह, एसआई कमल किशोर, एसआई विनित कुमार, एसआई सुनील कुमार ने एक दूसरे को गुलाल का टीका लगाकर शुभकामनाएं दी। पुलिसकर्मियों ने भी एक दूसरे को गुलाल लगाकर होली खेली और डीजे पर जमकर ठुमके लगाते हुए फिल्मी गानों पर डांस किया। कोतवाल मनोज कुमार सिंह को होली की शुभकामनाएं दी।

हाथी का शव पड़ा मिलने से वन विभाग में हड़कंप


बिजनौर। गांव केहरीपुर जंगल के सीमावर्ती क्षेत्र में हाथी का शव पड़ा मिला है। घटना से वन विभाग में हड़कंप मच गया है। सूचना पर वन विभाग के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और हाथी के शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया। बाद में हाथी के शव को दफना दिया गया।

फाइल फोटो


जनपद बिजनौर के गाँव केहरीपुर जंगल के सीमावर्ती अमानगढ़ टाइगर रिजर्व रेंज के जसपुर कक्ष संख्या ग्यारह में गश्ती दल को एक मृत हाथी मिला। हाथी का श्रव मिलने से वन महकमे में हड़कंप मच गया। घटना की सूचना पर वन विभाग के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। रेंजर राकेश कुमार शर्मा ने बताया की बीट इंचार्ज वन दरोगा भोपाल सिंह, वन रक्षक नईम अहमद वन क्षेत्र में गश्त कर रहे थे। इसी दौरान अमानगढ़ रेंज के जसपुर कक्ष संख्या 11 मे मृत अवस्था में हाथी पड़ा मिला। घटना की सूचना अधिकारियों को दे दी गयी हैं। प्रथम दृष्टया हाथी की मौत का कारण किसानों के खेतों में करंट लगने से होना प्रतीत हो रहा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद हाथी की मौत का कारण स्पष्ट हो पायेगा।

गड़बड़ की तो भुगतना पड़ेगा: सुनीता दहिया

मो. शुएब समाचार प्लस

बिजनौर। होली और शब ए बारात के मद्देनजर अफजलगढ़ सीओ सुनीता दहिया, कोतवाल मनोज कुमार व कस्बा इंचार्ज टेकराम सिंह ने पुलिस फोर्स के साथ नगर में पैदल मार्च किया।

सीओ सुनीता दहिया ने नागरिकों से आपसी सौहार्द के साथ त्योहार को मनाने, शांति व्यवस्था में पुलिस का सहयोग करने और शरारती तत्वों पर नजर रखकर उनकी सूचना पुलिस को देने की सलाह दी। पैदल मार्च के दौरान लोगों को पुलिस की मौजूदगी का अहसास कराते हुए उन्हें पूर्ण सुरक्षा का भी भरोसा कराया।

बुधवार देर शाम सीओ सुनीता दहिया, कोतवाल मनोज कुमार सिंह के नेतृत्व में कोतवाली अफजलगढ़ प्रांगण से पैदल फ्लैग मार्च शुरू हुआ। पैदल फ्लैग मार्च मोहल्ला बेगम सराय, नायक सराय, नेजो सराय, मुमताज हुसैन, सब्जी मंडी, होली चौक, गौहर अली खां, कालागढ़ अफजलगढ़ मार्ग, जसपुर तिराहे अफजलगढ़ से होते हुए कोतवाली प्रांगण में सम्पन्न हुआ।

पैदल मार्च के दौरान सीओ सुनीता दहिया ने नागरिकों को त्योहार के मौके पर शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस का सहयोग करने और असामाजिक तत्वों पर नजर रखकर उसकी सूचना तुरंत पुलिस को देने की सलाह दी।  उन्होंने कहा कि शांति व्यवस्था भंग करने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने पुलिस को भी त्योहार के मौके पर सतर्क व गम्भीर रहने के निर्देश दिए।

वहीं कोतवाल मनोज कुमार सिंह ने कहा कि पैदल मार्च का उद्देश्य जनता में कानून के प्रति विश्वास दिलाना और अपराधियों में खौफ पैदा करना है। उन्होंने नगरवासियों से होली और शब ए बारात का त्योहार शांति पूर्वक मनाने की अपील की। फ्लैग मार्च में कोतवाल मनोज कुमार सिंह के अलावा कस्बा इंचार्ज टेकराम सिंह, एसआई विनित कुमार, एसआई कमल सिंह, कांस्टेबल राहुल चौधरी, सनोज चौहान, शाकिर अली, विजय तोमर समेत पुलिस फोर्स मौजूद रही।

धड़ल्ले से हो रहा अवैध खनन, प्रशासन मौन

बिजनौर। अफजलगढ़ थाना क्षेत्र में मिट्टी का खनन जोरों पर है। खनन माफिया दिन-रात जेसीबी मशीन से धरती का सीना फाड़कर भराव का कारोबार कर रहे हैं और अपनी जेबे भरने में लगे इन खनन माफियाओं की ओर से शासन प्रशासन अपनी आंखें मूंदे हुए हैं जिससे इन खनन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं। सूचना देने पर भी उच्च अधिकारियों द्वारा कोई कार्यवाही नहीं होती है। 

राष्ट्रीय राजमार्ग 74 पर स्थित गांव जिक्रीवाला के समीप व भूतपुरी क्षेत्र में खनन माफिया पुलिस व प्रशासन की मदद से खनन के कारोबार में लगे हैं। इन स्थानों पर इन खनन माफियाओं द्वारा प्लाटों को भरने का कार्य बेरोकटोक किया जा रहा है। यह खनन माफिया स्थानीय पुलिस से सांठगांठ कर शाम होते ही बड़ा हाइवे,डम्फर व टैक्टर ट्रालियों सहित मैदान में आ जाते हैं और रात के दस बजते ही यह लोग जेसीबी मशीन से धरती का सीना चीरते हुए रात भर खनन का कार्य करते हैं।

थाना क्षेत्र के गांव जिक्रीवाला,  कासमपुरगढ़ी, आसफाबाद चमन, भूतपुरी, सुआवाला, कादराबाद सहित अनेक स्थानों पर देखा जा सकता है कि मिट्टी का भराव का कार्य चल रहा है। यह खनन माफिया प्लाटों में भराव कर अपनी जेबें भरने में लग रहे हैं। खनन माफिया ओवर लोड वाहनों से मिट्टी ढ़ोते हैं जिसके कारण मार्ग तक क्षतिग्रस्त हो जाते हैं। वहीं कहीं न कहीं इन लोगों के सिर पर कुछ सफेदपोश लोगों का हाथ है।

क्षेत्र में अवैध रूप से मिट्टी भराव कारोबार में दूसरे विधानसभा के लोगों की बढ़ती संख्या को देखते हुए क्षेत्र के खनन माफियाओं के एक गुट ने इन लोगों का विरोध किया तो दोनों गुटों में अपना अपना वर्चस्व बनाने को लेकर कभी भी बड़ी घटना घट सकती है।

अगर पुलिस प्रशासन ने कोई ध्यान नहीं दिया तो खनन माफियाओं के दोनों गुटों में खूनी संघर्ष की संभावना दिखाई दे रही है। यदि इन खनन माफियाओं की शिकायत कोई करता भी है तो पहले तो पुलिस या विभागीय अधिकारियों द्वारा शिकायत कर्ता का नाम बताकर खनन माफियाओं को सूचना दी जाती है और खनन माफियाओं द्वारा शिकायत कर्ता को ही हड़काया जाता है। यदि फिर भी कार्रवाई करने की जिद होती है तो एक दूसरे विभाग के जिम्मे बताकर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं। इतना ही नहीं उल्टे इन खनन माफियाओं तक शिकायत किये जाने की बात कहते हुए इन्हें सावधान कर अवैध रूप से चल रही मिट्टी खनन को बन्द करा दिया जाता है । कुछ घंटों बाद फिर से रात भर मिट्टी का खनन शुरू कर दिया जाता है। ग्रामीणों ने डीएम से अवैध रूप से प्लाटों में भराव कर रहे खनन माफियाओं पर अंकुश लगाने की मांग करते हुए कारवाई किये जाने की मांग की है।

संदिग्ध हालात में युवती की मौत, परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

बिजनौर। बीती रात्रि सड़क हादसे में एक युवती की मौत हो गई। मृतका के परिजनों ने गांव के ही युवक पर हत्या किए जाने का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी है।

थाना क्षेत्र के ग्राम तुल्ला का नवादा निवासी दलित युवती वर्षा (21 वर्ष) पुत्री कल्लन बीती रात्रि लगभग दस बजे अपनी बहन से दवाई लेने जाने की बात कहकर घर से निकली थी। उसके पीछे उसकी बहन ने अपने पड़ोसी युवक को भेजा तो वह उसे कहीं नहीं मिली। इसके बाद वर्षा को हाईवे बस स्टैंड पर तलाश किया गया तो वर्षा की लाश बिजनौर मुरादाबाद हाईवे पर पड़ी मिली। मृतका के परिजनों का कहना है कि आरोपी युवक भी घटना के समय बस स्टैंड पर मौजूद था। मृतका वर्षा के पिता ने थाने में पुलिस को तहरीर देकर आरोपी युवक को नामजद किया है। तहरीर मिलने के बाद हरकत में आई पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। गौरतलब है कि पिछले दिनों ग्राम बिलाई में डबल मर्डर व ग्राम नांगल जट में भी एक हत्या हो गई थी। नांगल जट में हुई हत्या के एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, जबकि ग्राम बिलाई में हुए डबल हत्याकांड के कातिलों को तलाश करने में पुलिस नाकाम रही है।

किसान को बंधक बनाकर बदमाशों ने ट्रैक्टर ट्राली लूटी

शुगर मिल से गन्ना डालकर लौट रहे किसान को बंधक बनाकर बदमाशों ने ट्रैक्टर ट्राली लूटी

हीमपुर दीपा (बिजनौर)। शुगर मिल से गन्ना डाल कर लौट रहे किसान को बाइक सवार तीन बदमाशों ने रास्ते में रोककर खेत में बंधक बना लिया। साथ ही हथियारों के बल पर ट्रैक्टर ट्राली व उसका मोबाइल लूट फरार हो गये। घटना से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। थाना क्षेत्र के ग्राम ढेला गुर्जर निवासी जितेंद्र कुमार पुत्र धर्मवीर सिंह रात्रि में ट्रैक्टर ट्राली से शुगर मिल में गन्ना डालने के लिए गया था। रात्रि लगभग दो बजे गन्ना डालने के बाद वह वापस लौट रहा था। गांव अज्जू नंगली के पास सीबीजेड बाइक सवार तीन बदमाशों ने उसे हथियारों के बल पर रोक लिया। बदमाश उसे तमंचे के बल पर पास के ही खेत में ले गए तथा उसके हाथ पैर बांधकर बंधक बना कर खेत में डाल दिया। इसके बाद बदमाश उससे मोबाइल व ट्रैक्टर ट्राली लूट कर फरार हो गए। कुछ देर बाद किसी तरह अपने हाथ पाव खोलकर पीड़ित किसान ने अपने साथ हुई घटना की सूचना शुगर मिल चौकी पुलिस को दी। सूचना मिलते ही हरकत में आई पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर लूटी गई ट्रैक्टर ट्राली को बिजनौर में कालिका मंदिर के पास से बरामद कर लिया, जबकि बदमाश पुलिस को आता देख कर फरार हो गए।

स्कूटी सवार शिक्षिका की दुर्घटना में दर्दनाक मौत

बिजनौर। कोचिंग के लिए जा रही स्कूटी सवार शिक्षिका को सामने से आ रही एक ट्रैक्टर ट्राली टक्कर मार दी। दुर्घटना में घायल शिक्षिका को तत्काल ही निकट के निजी अस्पताल ले जाया गया। चिकित्सक ने उसे सरकारी अस्पताल ले जाने की सलाह दी। इस दौरान अत्यधिक खून बहने के कारण शिक्षिका की मौत हो गई। पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

धामपुर थाना क्षेत्र के रानी बाग कॉलोनी निवासी शिवांगी पांडे (24 वर्ष) पुत्री मनोज पांडे नगर के पंजाबी कालोनी स्थित वेरिएंट कोचिंग सेंटर पढ़ाती है। बताया जाता है कि रोजाना की तरह आज भी शिवांगी अपनी स्कूटी पर सवार होकर कोचिंग सेंटर जा रही थी। जब वह चंपा देवी मंदिर के पास पहुंची तो सामने से आ रही एक ट्रैक्टर ट्राली से उसकी स्कूटी की आमने-सामने टक्कर हो गई, जिसके चलते सड़क पर गिरकर उसके ऊपर से ट्रैक्टर का पहिया गुजर गया। हादसे में वह गंभीर रूप से घायल हो गई। शोर सुनकर जमा हुए आसपास के लोग उसे तत्काल ही प्राइवेट नर्सिंग होम में ले गए। जहां चिकित्सक ने उसे भर्ती करने से इंकार कर दिया। इसके बाद उसे उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही मृतका के परिजनों में कोहराम मच गया। मृतका के पिता मनोज पांडे अपनी पत्नी के साथ अस्पताल पहुंचे और घटना के बारे में जानकारी की। पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। साथ ही आरोपी ट्रैक्टर ट्राली चालक को पुलिस हिरासत में लेकर थाने भेज दिया।

पुलिस करे जनता के साथ अच्छा व्यवहार: एसपी

हल्दौर (बिजनौर)। पुलिस अधीक्षक डाॅ धर्मवीर सिंह ने थाना हल्दौर का वार्षिक निरीक्षण किया गया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक सर्वप्रथम सलामी ली गई व सलामी गार्द का निरीक्षण किया गया, जिसके पश्चात थाना परिसर की साफ-सफाई, कार्यालय अभिलेख, बन्दी गृह, मैस, बैरक, हवालात, महिला हेल्प डेस्क, सीसीटीएनएस कार्यालय इत्यादि का निरीक्षण किया गया। थाने पर गठित महिला हेल्प डेस्क को प्राथमिकता के आधार पर फरियादियों की शिकायत सुनकर, इन्द्राज कर प्रकरणों में विशेष रूचि लेकर कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया।

थाना प्रभारी हल्दौर को अपने थाना क्षेत्र के दूरस्थ गाँवो में जाकर महिला एवं बच्चों सम्बन्धी अपराधों, साईबर अपराधों के सम्बन्ध में सम्बन्धित गांवों के व्यक्तियों को जागरूक करने हेतु निर्देशित किया गया। पुलिस कार्मिको को जनता के साथ अच्छा व्यवहार करने तथा बीट आरक्षी को बीट क्षेत्र की सम्पूर्ण जानकारी के साथ-साथ आमजन के साथ बेहतर समन्वय बनाये रखने हेतु निर्देशित किया। थाना कार्यालयों में रखे अभिलेखों को चेक कर अभिलेखों का सही ढ़ग से रखरखाव एवं लम्बित विवेचनाओं का शीघ्र निस्तारण करने हेतु निर्देशित किया गया। बैरक, मेस, कम्प्यूटर कक्ष, सीसीटीएनएस, सीसीटीवी कैमरे, कम्प्यूटर उपकरणों आदि का निरीक्षण कर उपकरणों का रखरखाव उचित तरीके से करने हेतु निर्देशित किया गया। थाने के अधि0/कर्म0 से शस्त्राभ्यास तथा आपदा प्रबन्धन हेतु उपलब्ध कराई सामग्री को चैक करते हुए उनकी उपयोगिता के बारे में जानकारी ली गई।

पुलिस अधीक्षक द्वारा थाने में नियुक्त समस्त कार्मिकों का सम्मेलन लेकर उनकी समस्याओं की जानकारी लेकर सम्बन्धित प्रभारियों को निराकरण करने हेतु निर्देशित किया गया। अनुशासित बल होने के कारण पुलिस कर्मिकों को शारीरिक एवं मानसिक रूप से मजबूत रहने के लिये स्वास्थ्य के दृष्टिगत योगा व पीटी व परेड नियमित रूप से करने के लिये प्रेरित किया गया साथ ही आगामी त्योहार होली व शब-ए-बारात के सम्बन्ध में आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। वार्षिक निरीक्षण में क्षेत्राधिकारी नजीबाबाद व थाना प्रभारी हल्दौर मौजूद रहे।

सैकड़ों लोगों ने उठाया योग एवं नेचुरोपैथी कैंप का लाभ


बिजनौर। इंटरनेशनल नेचुरोपैथी ऑर्गेनाइजेशन इकाई बिजनौर के संरक्षक एसके बबली द्वारा अपने आवास पर योग एवं नेचुरोपैथी का कैंप का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विभिन्न रोगों की आहार द्वारा चिकित्सा, मिट्टी के द्वारा चिकित्सा, जल द्वारा चिकित्सा, वायु द्वारा चिकित्सा, उपवास द्वारा चिकित्सा, योग द्वारा चिकित्सा के बारे में बताया गया।

कैम्प में ओपी शर्मा ने मंत्रों द्वारा चिकित्सा, राम सिंह पाल प्रभारी जिला ने यज्ञ द्वारा चिकित्सा, बीआर पाल ने आसनों के बारे में बताया। डॉक्टर सुनील राजपूत ने भ्रामरी प्राणायाम के लाभ बताए। डॉ कैलाश ने फलों से चिकित्सा, डॉक्टर ओपी राणा ने अनुलोम विलोम के बारे में लाभ बताए। डॉ. राकेश कुमार ने मिट्टी चिकित्सा, डॉ लीना तोमर ने प्राकृतिक चिकित्सा से रोगों को ठीक करने के बारे में बताया। राजवीर एडवोकेट ने आधुनिक विज्ञान के दवाइयों के अवगुण बताए, विनोद एडवोकेट ने बिना दवाई के स्वस्थ रहने के उपाय बताए। डॉक्टर जावेद ने प्रकृति से ताल में बनाए रखने के लिए कहा। डॉ राहत ने स्त्री रोगों के बारे में बताया, बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ की संरक्षक ने गर्भ में पल रहे बच्चे के संस्कार, कुसुम लता ने नारी के उत्थान के बारे में बताया। मीनू गोयल ने नारी एकता पर बल दिया, डॉ रामकुमार ने प्राकृतिक चिकित्सा को सेमिनार के माध्यम से घर-घर पहुंचाने के लिए कह। हुक्का बिजनौरी ने कविता पाठ किया। फारुख बिजनौरी ने होली पर मिट्टी द्वारा चिकित्सा के लाभ बताए। योगी अनंत योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा के अध्यक्ष योगेश कुमार द्वारा एक्यूप्रेशर चिकित्सा की गई।

कार्यक्रम का संचालन ओपी शर्मा ने किया। मुख्य अतिथि एवं इंटरनेशनल नेचुरोपैथी ऑर्गेनाइजेशन के जिला कोऑर्डिनेटर जिला जेलर शैलेंद्र प्रताप सिंह एवं पूर्व बार एसोसिएशन के अध्यक्ष एसके बबली रहे।

जिला बार एसोसिएशन के शिव कुमार गुप्ता, संजीव राजन, लकी चोपड़ा एडवोकेट, सुरेंद्र कपूर एडवोकेट, देवेंद्र पाल चौहान एडवोकेट, प्रशांत गोयल एडवोकेट, नईम अहमद एडवोकेट, फारुख बिजनौरी, देवेंद्र कुमार, मुकेश चौधरी, श्रीमती नीता अग्रवाल बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ अध्यक्ष कुसुम लता, मीनू गोयल, अनिल शर्मा, जसवीर सिंह, रंजीत सिंह एडवोकेट, सुरेश कश्यप प्रभारी जजी, इंतजार चौधरी एडवोकेट, महेंद्र सिंह एडवोकेट, राकेश कुमार एवं जिला जेल से आए कर्मचारी जजी से आए एडवोकेट ने अपने अपने विचार रखे।

आईएनओ संगठन बिजनौर अधिवक्ता संगठन बिजनौर ने साथ मिलकर सेमिनार को चार चांद लगा दिया। बाद में होली मिलन कार्यक्रम हुआ। संरक्षक एसके बबली द्वारा आए हुए लगभग 300 लोगों को भोजन जलपान कराया गया। जिला जेलर शैलेंद्र प्रताप एसके बबली का आईएनओ संगठन के द्वारा धन्यवाद दिया गया। कार्यक्रम के अंत में डॉक्टर नरेंद्र सिंह जिला अध्यक्ष इंटरनेशनल नेचुरोपैथी आर्गेनाइजेशन यूनिक बिजनौर ने प्रकृति से तालमेल बनाए रखने के लिए बताते हुए कहा कि हम प्राकृतिक चिकित्सा को भारत के प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचाकर ही दम लेंगे। हम घर घर जाकर योग और प्राकृतिक चिकित्सा स्टैमिना लगाएंगे। प्रत्येक नागरिक का स्वस्थ होना अति आवश्यक है। इस अवसर पर मानव के कल्याण के लिए तथा राष्ट्र के निर्माण के लिए सभी के स्वस्थ रहने के लिए कामना की गई और सभी का धन्यवाद किया गया।

अंत में होली मिलन कार्यक्रम हुआ। साथ ही जिला जेलर शैलेंद्र प्रताप को योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा हेतु कार्य करने के लिए प्रमाण पत्र डॉक्टर नरेंद्र सिंह, एसके बबली एवं संगठन के पदाधिकारियों द्वारा दिया गया और इसी प्रकार सहयोग करने की अपेक्षा की गई।

लाल चौक पर झंडा फहराने जाते हुए थे गिरफ्तार

बिजनौर। वर्ष 1992 में लाल चौक पर तिरंगा फहराने पूरे देश से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के हजारों कार्यकर्ता भी ट्रेनों में सवार होकर जम्मू पहुंचे थे। जम्मू से सभी बसों आदि वाहनों से कश्मीर के लाल चौक की ओर रवाना हो गए। पुलिस ने सभी को उधमपुर में गिरफ्तार कर लिया। इन पंक्तियों का लेखक पत्रकार संजय सक्सेना (तत्कालीन नगर मंत्री अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद उरई जालौन), वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष भाजपा श्री स्वतंत्र देव सिंह, पूर्व जेल मंत्री हरिओम उपाध्याय, शिवेंद्र बुंदेला, ब्रजभूषण सिंह मुन्नू, विधायक मूलचंद निरंजन आदि भी गिरफ्तार होने वालों में शामिल थे। हम लोगों को एक डिग्री कालेज में तीन दिन तक हिरासत में रखा गया। तत्कालीन जम्मू कश्मीर सरकार ने मात्र गिनती के कुछ वरिष्ठ लोगों को हवाई रास्ते से पहुंचा कर तिरंगा फहराने की अनुमति दी थी। बाद में हम लोगों को कड़ी सुरक्षा के बीच ट्रेनों से दिल्ली के लिए रवाना कर दिया गया।

साल 1992 में मुरली मनोहर जोशी और नरेन्द्र मोदी श्रीनगर के लाल चौक पर झंडा फहराते हुए
1992 में मुरली मनोहर जोशी और नरेन्द्र मोदी श्रीनगर के लाल चौक पर झंडा फहराते हुए 

भारतीय जनता पार्टी ने कन्याकुमारी से शुरू एकता यात्रा का 26 जनवरी 1992 को लाल चौक पर तिरंगा फहराते हुए संपन्न करने का एलान किया था। कश्मीर में अलगाववादियों, आतंकियों और मुख्यधारा की सियासत करने वाले राजनीतिक दलों, राष्ट्रवादियों और सुरक्षाबलों के लिए पहली बार प्रतिष्ठा का सवाल बन गया था।

साल 1992 में मुरली मनोहर जोशी और नरेन्द्र मोदी श्रीनगर के लाल चौक पर झंडा फहराते हुए

आतंकी और अलगाववादियों ने खुलेआम एलान किया था कि तिरंगा नहीं फहराने दिया जाएगा। भाजपा की एकता यात्रा पूरी होने से पहले ही आतंकियों ने पुलिस मुख्यालय पर ग्रेनेड धमाका किया था, जिसमें तत्कालीन पुलिस महानिदेशक श्री जेएन सक्सेना जख्मी हुए थे। भाजपा के इस एलान के बाद पूरी रियासत में स्थिति अत्यंत तनावपूर्ण हो गई थी।

साल 1992 में मुरली मनोहर जोशी और नरेन्द्र मोदी श्रीनगर के लाल चौक पर झंडा फहराते हुए

हवाई जहाज से पहुंचाया था श्रीनगर
हालात को भांपते हुए तत्कालीन प्रशासन ने श्री मुरली मनोहर जोशी, श्री नरेंद्र मोदी समेत भाजपा के कुछ वरिष्ठ नेताओं को हवाई जहाज के जरिए श्रीनगर पहुंचाया था। लाल चौक पूरी तरह से युद्घक्षेत्र बना हुआ था। चारों तरफ सिर्फ सुरक्षाकर्मी ही थे। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच लगभग 15 मिनट में ही श्री मुरली मनोहर जोशी व उनकी टीम के सदस्य के रूप में शामिल श्री नरेंद्र मोदी व अन्य ने तिरंगा फहराया। इस दौरान आतंकियों ने रॉकेट भी दागे जो निशाने पर नहीं लगे। इसके बाद सभी नेता सुरक्षित वापस लौट गए थे। 

साल 1992 में मुरली मनोहर जोशी और नरेन्द्र मोदी श्रीनगर के लाल चौक पर झंडा फहराते हुए

प्रधानमंत्री श्री मोदी उस वक्त जोशी जी की उस टीम के सदस्य थे, जो घनघोर आतंकवाद के उस दौर में श्रीनगर के लाल चौक पर तिरंगा फहराने पहुंची थी।

साल 1992 में मुरली मनोहर जोशी और नरेन्द्र मोदी श्रीनगर के लाल चौक पर झंडा फहराते हुए

कई जगह ट्रेन पटरियों पर विस्फोट- उस समय कश्मीर में स्थिति बेहद विस्फोटक थी। आतंकवादी रेल पटरियों को उड़ाने से पीछे नहीं हट रहे थे। जब हम लोग जम्मू स्टेशन पहुंचे तो पता चला कि हमारी ट्रेन पहुंचने के लगभग आधा घंटा पहले और बाद में भी आतंकवादियों ने कई जगह ट्रेन पटरियों पर विस्फोट किये।

(फोटो व कुछ तथ्य विभिन्न स्रोतों से लिये गए हैं)

उत्साह और साम्प्रदायिक सौहार्द्र के साथ मनाई जाएगी होली- डीएम


जिला प्रशासन द्वारा साम्प्रदयिक रूप से संवेदनशील चिन्हित स्थानों पर विशेष रूप से निगरानी की व्यवस्था की गई है ताकि किसी भी स्तर पर कोई अप्रिय घटना घटित न होने पाए, रंगों का त्यौहार होली जिले में पूरे उत्साह और साम्प्रदायिक सौहार्द के साथ मनाए जाने के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह सजग और प्रतिबद्व- जिलाधिकारी उमेश मिश्रा

बिजनौर। जिलाधिकारी उमेश मिश्रा ने कहा कि आगामी रंगों का त्योहार होली जिले में पूरे उत्साह और साम्प्रदायिक सौहार्द के साथ मनाया जाएगा, जिसके लिए जिला प्रशासन पूरी तरह सजग और तत्पर है। उन्होंने सभी जन सामान्य का आह्वान किया कि किसी भी अवस्था में ऐसा कोई कार्य न करें जिससे साम्प्रदायिक वातावरण को आंच आए। उन्होंने सचेत करते हुए कहा कि जिला प्रशासन हर स्थिति पर पैनी निगाह रखे हुए है और साम्प्रदयिक रूप से संवेदनशील स्थानों का चिन्हिकरण कर वहां विशेष रूप से निगरानी की व्यवस्था की गई है ताकि किसी भी स्तर पर कोई अप्रिय घटना घटित न होने पाए। उन्होंने उप जिलाधिकारियों एवं क्षेत्राधिकारी पुलिस को निर्देश दिए कि जिन रास्तों पर धार्मिक स्थल मौजूद हैं, वहां होली के जलूस पर विशेष सतर्कता और सजगता रखी जाए और प्रयास किया जाए कि नमाज के समय जलूस का गुजर न हो। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि प्रत्येक तहसील एवं थाना स्तर पर अमन कमेटियों की मीटिंग आयोजित कर जन सामान्य को पूर्ण साम्प्रदायिक सौहार्द के साथ होली के त्यौहार को सम्पन्न कराने में सहयोग के लिए आहवान करें।


जिलाधिकारी श्री मिश्रा विकास भवन के सभागार में शांति व्यवस्था की बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों को होली के पावन पर्व को शांतिपूर्वक सम्पन्न कराने के लिए निर्देश दे रहे थे।
उन्होंने आश्वस्त करते हुए कहा कि जिला प्रशासन ने सौहार्दपूर्ण और शांतिपूर्ण वातावरण में होली त्योहार को सम्पन्न कराने के लिए पूर्व की तरह सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। उन्होंने अपेक्षा करते हुए कहा कि यह पावन त्योहार पूर्ण संयम, समन्वय एवं आम नागरिकों की भावनाओं को दृष्टिगत रखते हुए मनाया जाएगा और ऐसा कोई भी ऐसा कार्य नहीं किया जाएगा जिससे दुसरे सम्प्रदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचे। उन्होंने बताया कि सभी नगर पालिका एवं नगर पंचायतों को विशेष सफाई, प्रकाश एवं पानी की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। जिले में साम्प्रदाकि सौहार्द के वातावरण को किसी भी अवस्था में दूषित नहीं होने दिया जाएगा। कोई भी व्यक्ति धार्मिक रूप से कोई अपशब्द, भड़काऊ भाषण अथवा धार्मिक उन्माद फैलाने जैसे किसी भी कार्य का दुस्साहस न करे और न ही सोशल मीडिया आदि पर किसी भी प्रकार की आपत्तिजनक टिप्पणी या पोस्ट की जाए, जिससे शांति एंव कानून व्यवस्था की स्थिति पर कोई आंच आए। जिले में शांति एवं कानून व्यवस्था की स्थिति से खिलवाड़ करने वाले तत्वों पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।


जिलाधिकारी ने खाद्य सुरक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि होली के अवसर पर विक्रय होने वाले खाद्य पदार्थों पर विशेष ध्यान रखते हुए नियमानुसार चैकिंग करें और सामग्री के सिन्थेटिक अथवा दूषित पाए जाने पर दोषी के विरूद्व कड़ी कार्यवाही करें। उन्होंने सभी उप जिलाधिकारी एवं क्षेत्राधिकारी पुलिस को निर्देश दिये कि थाना स्तरीय त्योहार रजिस्टरों का गहनता के साथ अध्ययन कर लें और तहसील एवं थाना स्तर पर शांति मीटिंग का आयोजन करना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर विशेष सर्तकता बरती जाए और असामाजिक तत्वों पर कड़ी निगाह रखें ताकि किसी भी स्तर पर कोई अप्रिय घटना घटित न होने पाए। उन्होंने होली के अवसर पर सभी नगर निकाय क्षेत्रों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष सफाई अभियान चलाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक डा0 धर्मवीर सिंह, मुख्य विकास अधिकारी केपी सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन विनय कुमार सिंह, वि/रा अरविंद कुमार सिंह के अलावा अन्य प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी मौजूद थे।

स्ट्रीट वैण्डर्स निधि योजना में धीमी प्रगति पर डीएम नाराज़


अपर जिलाधिकारी प्रशासन को नगर निकाय क्षेत्रों में एमआरएफ सेंटर शुरू न कराने वाले अधिशासी अधिकारियों को चेतावनी जारी करने तथा प्रधानमंत्री स्ट्रीट वैण्डर्स निधि योजना के अंतर्गत 31 मार्च से पूर्व शत प्रतिशत लक्ष्य पूरा करने के अधिशासी अधिकारियों को दिए निर्देश-जिलाधिकारी उमेश मिश्रा

बिजनौर। जिलाधिकारी उमेश मिश्रा ने प्रधानमंत्री स्ट्रीट वैण्डर्स निधि योजना के अंतर्गत अपेक्षित प्रगति न पाए जाने पर असंतोष व्यक्त किया है। उन्होंने अपर जिलाधिकारी प्रशासन को निर्देश दिए कि पूरी गम्भीरता और तत्परता के साथ इस महत्वपूर्ण कार्य में अपेक्षित प्रगति लाएं। साथ ही जिन निकायों द्वारा कार्य में शिथिलता अथवा लापरवाही बरती जा रही है, उनके विरूद्व कार्यवाही अमल में लाएं।

समीक्षा के दौरान डीएम ने लक्ष्य के सापेक्ष कम प्रतिशत वैण्डर्स को ऋण उपलब्ध कराए जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि यह स्थिति खेदजनक है। उन्होंने जिला अग्रिणी बैंक प्रबंधक को निर्देश दिए कि स्ट्रीट वैण्डर्स को ऋण उपलब्ध कराने वाली स्वीकृत पत्रावली को अनावश्यक रूप से लम्बित न रहने दें और प्राथमिकता के आधार पर उन्हें ऋण उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। सभी अधिशासी अधिकारी नगर निकाय को निर्देश दिए कि होली के दृष्टिगत विशेष सफाई अभियान चलाएं और सुनिश्चित करें कि किसी भी स्थान पर सड़क के किनारे कूड़े का ढेर नजर नहीं आना चाहिए और शहीद स्मारकों की भी विशेष रूप से साफ-सफाई कराना सुनिश्चित कराएं। उन्होंने अपर जिलाधिकारी प्रशासन को नगर निकाय क्षेत्रों में एमआरएफ सेंटर शुरू न कराने वाले अधिशासी अधिकारियों को चेतावनी जारी करने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी श्री मिश्रा कलक्ट्रेट स्थित सभागार में प्रधानमंत्री स्ट्रीट वैण्डर्स निधि योजना के अंतर्गत आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए कार्य की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी केपी सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन विनय कुमार सिंह़, जिला अग्रिणी बैंक प्रबंधक, परियोजना अधिकारी सहित बैंकर्स एवं सभी नगर निकायों के अधिशासी अधिकारी मौजूद थे।

सपा नेता की पत्नी समेत हत्या, गड्ढों में दबे मिले शव

सपा व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव राजेश अग्रवाल व उनकी पत्नी बबली उर्फ बबीता की हत्या। 28 फरवरी से रहस्यमय ढंग से थे लापता। सम्पत्ति के लालच में की गई हत्या।

बिजनौर। सपा व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव राजेश अग्रवाल व उनकी पत्नी बबली उर्फ बबीता की हत्या कर दी गई। दोनों के शव समीपवर्ती ग्राम हमीदपुर में एक घर में दबे हुए मिले। वह गत 28 फरवरी से रहस्यमय ढंग से लापता थे।  पुलिस ने जेसीबी की मदद से दोनों शवों को निकालकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। पति-पत्नी की हत्या सम्पत्ति के लालच में की गई। पुलिस ने एक महिला सहित चार लोगों को हिरासत में लेकर घटना का खुलासा किया है। हिरासत में ली गई महिला के राजेश अग्रवाल से प्रेम सम्बंध बताए गए हैं।

पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बिजनौर में नजीबाबाद रोड स्थित शिवलोक कॉलोनी निवासी राजेश अग्रवाल (55 वर्ष) व उनकी पत्नी बबली उर्फ बबीता (44 वर्ष) गत 28 फरवरी को रहस्यमय ढंग से गायब हो गये थे। उनकी गुमशुदगी बबली के भाई मनोज कुमार राणा, निवासी खड़ा कॉलोनी, गाजियाबाद ने थाना कोतवाली शहर बिजनौर में दर्ज कराई थी। पुलिस ने मामले की गहनता से छानबीन की तो चौंका देने वाले तथ्य सामने आये। पता चला कि राजेश अग्रवाल व उनकी पत्नी बबली की हत्या कर उनके शव ग्राम हमीदपुर में एक घर में दबा दिये गये हैं।

पुलिस के अनुसार राजेश अग्रवाल का मण्डावर रोड स्थित ग्राम हमीदपुर निवासी रोमा (35 वर्ष) पत्नी स्व. ओमवीर सिंह जाट के साथ प्रेम-प्रसंग था। योजनाबद्ध तरीके से 28 फरवरी 2022 को रोमा, राजेश अग्रवाल के घर गई, जहां मुकेश (रोमा का दूसरा प्रेमी) तथा उसका चचेरा भाई मोंटी उर्फ धीरज पहले से ही मौजूद थे। रोमा चाय बनाने के बहाने घर के अंदर चली गई तथा मुकेश व मोंटी ने राजेश अग्रवाल के मुंह पर चादर लपेटकर व गला रेतकर उसकी हत्या कर दी तथा शव को रोमा के घर हमीदपुर में गड्ढा खोदकर दबा दिया। राजेश अग्रवाल की पत्नी बबली उर्फ बबीता नई बस्ती में पार्लर चलाती थी। वह अपने पार्लर में थी। रोमा का पुत्र तुषार बिजनौर आया तथा उसको बाइक पर बैठाकर अपने गांव हमीदपुर ले गया, जहां चारों ने मिलकर बबली की भी हत्या कर दी और शव को वहीं गड्ढे में दबा दिया। दोनों शवों को नमक डालकर दबाया गया, ताकि जल्दी गल-सड़ जायें। एक शव घर के आंगन में और दूसरा पशुओं की चर के पास दबाया गया था ।

निःसंतान दंपति की दुश्मन साबित हुईं संपत्ति- पुलिस के अनुसार राजेश अग्रवाल व उनकी पत्नी की हत्या अवैध सम्बंधों और सम्पत्ति के कारण की गई है। राजेश का एक मकान और तीन दुकानें हैं, जिन पर आरोपियों की नजर थी। दो दुकानों में राजेश की पत्नी बबली पार्लर व जनरल स्टोर चलाती थी। दोनों नि:संतान थे। रोमा ने अपने पुत्र तुषार उर्फ चुनमुन, प्रेमी मुकेश व उसके चचेरे भाई मोंटी उर्फ धीरज के साथ मिलकर राजेश अग्रवाल व उनकी पत्नी की हत्या की योजना बनाई और गत 28 फरवरी को उनकी हत्या कर दी।

साथ लगी रही हत्यारोपी रोमा- राजेश अग्रवाल व उनकी पत्नी के रहस्यमय ढंग से लापता होने के बाद रोमा खुद को ऐसा दर्शा रही थी कि जैसे उसे दोनों के गायब हो जाने का बहुत गम है। कल 11 मार्च तक जब राजेश अग्रवाल व उनकी पत्नी का कोई सुराग नहीं मिला तो परिजन एसपी डॉ. धर्मवीर सिंह से मिले और दोनों का पता लगाने की मांग की। एसपी से मिलने वालों में रोमा भी थी । वह परिजनों के साथ राजेश व उनकी पत्नी को ढूंढने में लगी हुई थी। हालांकि परिजन रोमा पर शुरू से ही शक कर रहे थे। उन्होंने इस संबंध में पुलिस को भी बताया था। शक के आधार पर पुलिस ने रोमा को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने सब कुछ उगल दिया। बाद में पुलिस ने अन्य तीनों अभियुक्तों को हिरासत में ले लिया।

ये हैं आरोपी- राजेश व उनकी पत्नी की हत्या के मामले में पकड़े गये व मुल्जिमों में मुकेश ( 45 वर्ष ) रोमा का प्रेमी है। वह ग्राम रशीदपुर गढ़ी का रहने वाला है। मुकेश ने इस हत्याकांड में अपने चचेरे भाई मोंटी उर्फ धीरज की भी सहायता ली। पुलिस ने धीरज को भी पकड़ लिया। हत्याकांड में तीसरी मुल्जिम रोमा और चौथा मुल्जिम रोमा का पुत्र तुषार उर्फ चुनमुन है।

प्रदेश में भाजपा की जीत विकास और सच्चाई की जीत है- चौधरी ईशम सिंह

नजीबाबाद (बिजनौर)। भारतीय जनता पार्टी की उत्तर प्रदेश में प्रचंड जीत और बुलडोजर बाबा के नाम से मशहूर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में पुनः सरकार बनने पर क्षेत्रवासियों ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर जीत का जश्न भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित मोर्चा की जिला मंत्री गायत्री निराला के आवास पर पहुंचकर मनाया।

सभी ने रंग गुलाल एवं फूलों की होली खेली। इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता चौधरी ईशम सिंह ने सभी कार्यकर्ताओं, समर्थकों का आभार प्रकट किया और कहा कि यह जीत हम सब की जीत है आम जनमानस की जीत है गरीब मजदूर की किसान की व्यापारी की महिलाओं की शोषित की वंचितों की जीत है। भारतीय जनता पार्टी कभी भी संप्रदायवाद जातिवाद की राजनीति नहीं करती है। भारतीय जनता पार्टी सिर्फ विकास की राजनीति करती है और यही बात विपक्ष को अच्छी नहीं लगती चौधरी ईशम सिंह ने कहा कि आज महिलाएं अगर अपने आप को सुरक्षित महसूस करती हैं यह उनकी जीत है आने वाले समय में और भी अच्छे विकास के कार्य होने वाले हैं। जातिवाद को खत्म करना हमारा मुख्य उद्देश्य है। राष्ट्र के लिए और अपने धर्म के लिए हम सब एकजुट होकर रहें, यही हमारी जीत का मुख्य उद्देश्य होगा। हमने या हमारी पार्टी ने कभी भी किसी को सताने का कार्य नहीं किया है। वहीं विपक्ष जाति की राजनीति करता है एक दूसरे को बांटने का प्रयास करते हैं। अब जनता समझ चुकी है क्षेत्र का विकास प्रदेश का विकास और राष्ट्र का विकास सिर्फ भारतीय जनता पार्टी ही कर सकती है। इसलिए पूरे देश की जनता आज कंधे से कंधा मिलाकर भारतीय जनता पार्टी को सपोर्ट कर रही है और प्रदेश ही नहीं आने वाले 2024 के चुनाव में भी जनता जनार्दन के माध्यम से फिर से केंद्र नरेंद्र मोदी की सरकार बनेगी।

इस अवसर भाजपा के वरिष्ठ नेता चौधरी ईशम सिंह, भाजपा पिछड़ा मोर्चा के पूर्व जिला मंत्री रितेश सैन, नामित सभासद दीपक बाल्मीकि, अरविंद विश्वकर्मा, रणवीर सिंह निराला, गायत्री निराला, दीपक कर्णवाल, सीमा कर्णवाल, मनीषा सैनी, मंडल अध्यक्ष भाजपा पिछड़ा मोर्चा नरेश सैनी, करुण पाल, कोमल सिंह हल्दिया, हितेंद्र कुमार, वरिष्ठ कार्यकर्ता भगवानदास पाल, अभिषेक पंडित ,मनोज पाल, प्रमोद पाल, विपिन सैनी, मनदीप धस्माना, बंटू शर्मा, अजीत कुमार आदि मौजूद रहे।

नारी शक्ति संगठन ने दीं योगी को अग्रिम शुभकामनाएं

बिजनौर। नारी शक्ति संगठन ने महिला दिवस का कार्यक्रम बड़ी धूम-धाम से मनाया। इस अवसर पर योगी आदित्यनाथ के चित्र का राजतिलक करके उत्तर प्रदेश में दुबारा मुख्यमंत्री पद पर नियुक्ति की अग्रिम शुभकामनाएं दीं गईं।

कार्यक्रम का आयोजन नारी शक्ति संगठन की अध्यक्ष पूनम गोयल के ज्ञान विहार कॉलोनी स्थित निवास स्थान पर किया गया। इस अवसर पर संगठन की बहनों ने योगी आदित्यनाथ के चित्र का राजतिलक करके उत्तर प्रदेश में दुबारा मुख्यमंत्री पद पर नियुक्ति की अग्रिम शुभकामनाएं दीं। वहीं एक दूसरे को मिष्ठान खिलाकर भजन, चुटकुले, कविता, गीत आदि की प्रस्तुति की। संगठन की अध्यक्ष पूनम गोयल ने कहा कि आज नारी सामाजिक, राजनैतिक,आर्थिक, धार्मिक व सांस्कृतिक; किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है। नारी अबला नहीं है,सबला बन चुकी है।

इस अवसर पर पूनम गोयल, नीता गुप्ता, मानदेवी शर्मा, सुषमा अग्रवाल, रामकौर, मुनेश गौतम,  मधु भूषण, संगीता शर्मा, रेखा पाल, कल्पना शर्मा, ममता, शशि बाला शर्मा, बीना त्यागी, मृदुला, नीलम, मंजू चौधरी, भावना चौधरी, मोनिका चौधरी, नीलम, कविता, सुमन, राखी चौधरी आदि उपस्थित रहीं।

छात्राओं ने सीखे जूडो कराटे के दांवपेंच

जूडो कराटे का प्रशिक्षण लेती छात्राएं

बिजनौर। नहटौर डिग्री पीजी कॉलेज की राष्ट्रीय सेवा योजना छात्रा इकाई का सात दिवसीय विशेष शिविर का चौथा दिन बालिका सुरक्षा एवं बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ दिवस के रूप में मनाया गया। शिविर का शुभारंभ महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ संजीव गौड़, कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती सीमा शर्मा द्वारा संयुक्त रुप से मां सरस्वती के सम्मुख पुष्प अर्पित कर किया गया।

ग्राम महमूदपुर भिक्का में आयोजित शिविर में छात्र-छात्राओं द्वारा इतनी शक्ति हमें देना दाता, मन का विश्वास कमजोर हो ना; वंदना सामूहिक रूप से प्रस्तुत की गई। इस अवसर पर छात्राओं को अपनी आत्मरक्षा करने के लिए ताइक्वांडो प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया।

नहटौर ताइक्वांडो एकेडमी के कोच चमन सैनी ने छात्राओं को ताइक्वांडो के विभिन्न स्टेप सिखाएं ताकि वे समय पर इसका प्रयोग अपनी आत्म सुरक्षा के लिए कर सकें। उन्होंने कहा कि बालिकाओं को सुरक्षित रहने के लिए जूडो कराटे सीखना आवश्यक है ताकि किसी भी विपरीत परिस्थितियों में अपनी आत्म सुरक्षा कर सकें। ताइक्वांडो इस दिशा में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहा है। इसके अतिरिक्त बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के अंतर्गत रैली निकाल कर छात्राओं ने विभिन्न स्लोगनों के माध्यम से ग्राम वासियों को जागरूक किया। वर्तमान समय में बच्चों की कम होती संख्या गंभीर चिंता का विषय है इसकी तरफ हम सभी को आत्ममंथन करने की आवश्यकता है। सर्वप्रथम आवश्यकता बेटी को बचाने की है तथा इसके साथ ही हमें अपनी बेटियों को बेटों के बराबर ही शिक्षा भी दिलानी होगी ताकि वर्तमान समय में वह कदम से कदम मिलाकर प्रत्येक परिस्थिति का सामना कर सकें। इसी का संदेश देते हुए छात्राओं ने ग्राम वासियों को रैली के माध्यम से समझाया। इस अवसर पर कुमारी स्वाति, लवी, शिवानी, शिल्पी, मुस्कान, आंचल, निशा, अंशु, लक्ष्मी, निकिता, अर्शी, पूर्णिमा, दुर्गा, सना, महक, रितु, कविता, सायमा, संजना, प्रियंका, काजल, प्रिया, आकांक्षा, शगुन, मेघा आदि छात्राएं उपस्थित रहीं।

ट्रैक्टर वर्कशॉप से लाखों का सामान चोरी


बिजनौर। चांदपुर में ट्रैक्टर वर्कशॉप से लाखों का सामान चोरी हो गया। घटना से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। सूचना पर पहुंची पुलिस अज्ञात चोरों की तलाश में जुट गई है।

जानकारी के अनुसार चांदपुर के धनौरा रोड स्थित ग्राम अकोंधा निवासी योगेंद्र कुमार के राणा ऑटोमोबाइल टैफे वर्कशॉप में अज्ञात चोरों ने लाखों की चोरी को अंजाम दिया। वर्कशॉप के कर्मचारी राजेंद्र के मुताबिक चोर नए ट्रैक्टरों के 8 बैटरे, एक बड़ा बैटरा, इनवर्टर, एक कंप्यूटर सैट और साढ़े 8 लीटर वाली मोबिल ऑयल की 15 बाल्टी समेत लगभग 2 लाख की चोरी कर फरार हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौका मुआयना कर जांच शुरू कर दी है।

एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर मनाया जश्न

नजीबाबाद (बिजनौर)। प्रदेश में भाजपा की प्रचंड बहुमत के साथ ऐतिहासिक जीत पर भाजपा नेता व वरिष्ठ समाजसेवी अवनीश अग्रवाल टांडे वालों के कैंप कार्यालय पर कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर जश्न मनाया।

इस मौके पर पर अवनीश अग्रवाल टांडे वालों ने कहा कि प्रदेश में भाजपा की पूर्ण बहुमत से जीत, हर आम नागरिक की जीत है। जनता विकास चाहती है, उसे पता है कि उत्तर  प्रदेश को उत्तम प्रदेश सिर्फ और सिर्फ भाजपा ही बना  सकती है।

उन्होंने कहा कि चुनाव परिणाम आने से पहले विपक्षी बहुमत से सरकार बनाने का दंभ भर रहे थे, लेकिन तीसरे-चौथे राउंड के बाद से ही भाजपा को पूर्ण बहुमत के रूझान शुरू हो गए। सीएम योगी द्वारा पांच वर्षों में किए गए कार्यों के आगे विपक्षी कहीं नहीं टिक पाए और जनता ने योगी आदित्यनाथ को प्रचंड बहुमत देकर एक बार फिर प्रदेश की कमान सौंप दी। जो विपक्षी बहुमत से सरकार बनाने का दावा कर रहे थे, वह अब मीडिया से मुंह छिपाते फिर रहे हैं।

29 साल बाद दोहराया गया बिजनौर सीट पर इतिहास

बिजनौर। बिजनौर सीट पर 29 साल बाद इतिहास दोहराया गया है। ऐसा 29 साल बाद हो सका जब मौजूदा विधायक को ही जनता ने फिर से जीत का ताज पहनाया, वरना साल 1993 के बाद इस सीट पर कोई भी लगातार दूसरी बार जीत दर्ज नहीं कर पाया। हालांकि दो दो बार विधायक जरूर बने, लेकिन लगातार नहीं।
जिले की बिजनौर सदर सीट पर भाजपा की सूचि चौधरी ने जीत दर्ज कराई है। वह 1445 मतों से भगवा लहराने में कामयाब रहीं। लगातार दूसरी बाद जीतने का यह इतिहास 29 साल बाद दोहराया गया है। इससे पहले 1993 में महेंद्र पाल सिंह भी लगातार दूसरी बार विधायक बने थे। इससे पहले महेंद्र पाल सिंह ने राम लहर में 1991 में जीत दर्ज कराई थी। महेंद्रपाल सिंह ने भी तीन दशक बाद इतिहास को दोहराया था। क्योंकि 1962 में कुंवर सत्यवीर सिंह ही ऐसे विधायक रहे, जो कि 1967 में भी जीते थे। कुंवर सत्यवीर सिंह से पहले 1957 में चंद्रावती लगातार दूसरी बार विधायक चुनी गई थी। बिजनौर सीट पर कुंवर भारतेंद्र सिंह भी दो बार विधायक चुने गए, लेकिन इन्हें भी लगातार चुनाव जीतने का मौका नहीं मिला। बीच में 2007 में उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा।


बिजनौर सीट से चुने गए विधायक
1951 चंद्रावती कांग्रेस
1957 चंद्रावती कांग्रेस
1962 कुंवर सत्यवीर कांग्रेस
1967 कुंवर सत्यवीर कांग्रेस
1969 रामपाल सिंह बीकेडी
1974 अजीजुर्रहमान कांग्रेस
1977 कुंवर सत्यवीर जनता पार्टी
1980 अजीजुर्रहमान कांग्रेस
1989 सुखवीर सिंह जनता दल
1991 महेंद्र पाल सिंह भाजपा
1993 महेंद्रपाल सिंह भाजपा
1996 गजंफर अली बसपा
2002 कुंवर भारतेंद्र सिंह भाजपा
2007 शाहनवाज राणा बसपा
2012 कुंवर भारतेंद्र सिंह भाजपा
2014 रुचिवीरा सपा (उपचुनाव)
2017 सुचि चौधरी भाजपा
2022 सुचि चौधरी भाजपा

स्कॉर्पियो कार से भिड़ंत में बाइक सवार की मौत

बिजनौर। स्कॉर्पियो कार और बाइक की आमने-सामने की हुई भिड़ंत में एक युवक की मौत हो गई। एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायल को उपचार हेतु सीएचसी पहुंचाया। घायल को चिंताजनक हालत में जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। पुलिस ने स्कॉर्पियो को अपने कब्जे में ले लिया है, जबकि चालक मौके से फरार हो गया।

नगीना नगर के मोहल्ला कस्बा निवासी अर्जुन सैनी (26 वर्ष) पुत्र मुन्नू सिंह का 9 माह पूर्व ही विवाह हुआ था। अर्जुन सैनी मंगलवार की देर रात 9 बजे करीब अपने जीजा सुशील पुत्र रामपाल सैनी (45 वर्ष) बाइक द्वारा उनके घर कोटकादर छोड़ने जा रहा था। कोटकादर के पास पुलिया पर उसकी बाईक की सामने आ रही स्कॉर्पियो कार से आमने सामने की भीषण टक्कर हो गई। अर्जुन की मौके पर ही मौत हो गई तथा उसके जीजा रामपाल गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना पर पहुंची नगीना देहात पुलिस ने एंबुलेंस की मदद से मृतक और घायल को सीएचसी पहुंचाया। सूचना पर मृतक के परिजन और सैकड़ों मोहल्लेवासी सीएचसी पहुंचे। सीएचसी प्रभारी डॉक्टर नवीन चौहान ने अर्जुन को अर्जुन को मृत घोषित कर दिया तथा गंभीर रूप से घायल रामपाल सिंह को प्राथमिक उपचार के बाद चिंताजनक हालत में जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। रायपुर देहात पुलिस ने मृतक का पंचनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने पीड़ित की तहरीर पर मामला दर्ज कर अग्रिम कार्रवाई शुरू करते हुए स्कॉर्पियो को अपने कब्जे में ले लिया है। घटना से मृतक और घायल के परिजनों में कोहराम मच गया है।

मतगणना के दौरान चाक चौबंद रही सुरक्षा व्यवस्था

15 मार्च तक लागू रहेगी आदर्श चुनाव आचार संहिता। जिले भर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम।

बिजनौर। जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी के आदेशानुसार जनपद में आदर्श चुनाव आचार संहिता 15 मार्च तक लागू रहेगी। इस दौरान किसी भी विजेता प्रत्याशी को जुलूस निकालने की परमिशन नहीं है। जिले में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए।

सुबह निर्धारित समय पर शुरू हुई मतगणना कभी धीमी तो कभी तेज गति से होती दिखी। दोपहर होते-होते जनपद की चुनावी तस्वीर लगभग साफ हो गई। जनपद की पांच विधानसभाओं पर भाजपा विधायक काबिज थे।

निगरानी के लिए प्रत्येक गणना हॉल में चार-चार सीसीटीवी कैमरे व दो-दो वीडियो हैंडीकेम का इस्तेमाल किया गया। मतगणना स्थल पर एजेंटों को मोबाइल व धूम्रपान का सामान लेकर नहीं जाने दिया गया।

मतगणना के बाद किसी भी विजेता प्रत्याशी को जुलूस निकालने की अनुमति नहीं दी गई, वहीं हर्ष फायरिंग पर भी रोक लगा दी गई। मतगणना के दौरान सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद रही। शांति भंग करने की कोशिश करने वालों से सख्ती से निपटने के लिए जिले में भारी तादाद में फोर्स तैनात किया गया। थाना प्रभारी जिले भर में शांति व्यवस्था कायम रखने में लगे रहे। चुनाव में उनकी ड्यूटी नहीं लगाई गई।

विधानसभा चुनाव पुलिस प्रशासन ने अहम भूमिका निभाई। सुबह से ही मतगणना स्थल पर पुलिस प्रशासन का कड़ा पहरा दिखाई दिया। शक्ति चौक से लेकर सेंट मैरी चौराहा एवं श्री हॉस्पिटल के पास बैरिकेडिंग लगाई गई, ताकि मतगणना स्थल पर अनावश्यक भीड़ न पहुंच सके।

इसके अलावा पार्टी कार्यकर्ताओं को वर्धमान कॉलेज के पास ही रोक दिया गया। मतगणना स्थल पर भी भारी सुरक्षा के इंतजाम किए गए। जिलाधिकारी उमेश मिश्रा एवं पुलिस अधीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह द्वारा की गई पूर्व घोषणा के अनुसार ही मतगणना स्थल पर सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद नजर आई। इसके अलावा हारे हुए प्रत्याशी के खेमो में मायूसी नगर आई और उनके पंडाल भी खाली नजर आए।

भाजपा को तो सत्ता में फिर आना ही था- जोगेंद्र सिंह कर्णवाल (वालिया)

बिजनौर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता जोगेंद्र सिंह कर्णवाल (वालिया) किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। बरसों तक संघ परिवार से जुड़े रहने के कारण भाजपा संगठन में उनका खासा कद है। अनेक मुददों पर उनसे बातचीत हुई, उन्होंने बेबाकी से जवाब दिये।

उत्तर प्रदेश में भाजपा की जीत को लेकर आप क्या कहना चाहेंगे?

जोगेंद्र सिंह कर्णवाल (वालिया)- जीतना तो तय ही था। सम्मानित मतदाताओं ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के जनहित के कार्यों को देखते हुए एक बार पुनः भाजपा को सत्ता सौंपी है।

आपको क्या लगता है कि आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा का प्रदर्शन कैसा रहेगा?

जोगेंद्र सिंह कर्णवाल (वालिया)- यूपी के इस विधानसभा चुनाव को 2024 के लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल मानकर चलिये। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ही बनेंगे। उनके नेतृत्व में देश ने पूरे विश्व में अपनी अलग पहचान बनाई है।

चुनाव में किसान आंदोलन का क्या असर पड़ा?

जोगेंद्र सिंह कर्णवाल (वालिया)- किसान आंदोलन के फैक्टर ने उन्हीं जिलों में भाजपा के खिलाफ असर दिखाया जहां जाटों के अलावा मुस्लिमों की भी पर्याप्त संख्या है। आंदोलन के बाद भी भाजपा की स्थिति पश्चिम यूपी में उतनी कमजोर नहीं थी, जितने दावे किए जा रहे थे। खासतौर पर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे, जेवर एयरपोर्ट जैसे प्रोजेक्ट के जरिए भाजपा ने अपनी पकड़ मजबूत की। कई जिलों में मुस्लिम बनाम हिंदू की स्थिति देखने को मिलती है, लेकिन यहां समीकरण बिगड़ते नहीं दिखे।

योगी आदित्यनाथ की छवि का क्या प्रभाव रहा?

जोगेंद्र सिंह कर्णवाल (वालिया)- सीएम योगी बीजेपी के पहले ऐसे सीएम हैं, जिन्होंने उत्तर प्रदेश में पांच साल का कार्यकाल पूरा किया। भाजपा ने पिछला चुनाव बिना किसी सीएम फेस के लड़ा था, लेकिन इस बार योगी आदित्यनाथ का चेहरा सामने रखकर चुनाव लड़ा गया। वहीं नोयडा को लेकर स्थापित मिथक को भी योगी जी ने वहां कई बार पहुंच कर तोड़ा।

कई सर्वे में सपा-रालोद गठबंधन को बढ़त और यहां तक कि सरकार बनाने का दावेदार भी बताया जा रहा था?

जोगेंद्र सिंह कर्णवाल (वालिया)- भाजपा के वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के कुशल नेतृत्व में पार्टी ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है। सर्वे हमेशा सच नहीं होते, इनमें उतार चढ़ाव आता रहता है। अध्यक्ष जी का रणनीतिक कौशल पार्टी के लिये बेहद कारगर साबित हुआ।

नगर कल्याण समिति ने बताया महिला दिवस का सार

बिजनौर। राजकीय बालिका इंटर कॉलेज में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर नगर कल्याण समिति की इकाई राष्ट्र सेवा समिति द्वारा एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी की अध्यक्षता विद्यालय की उप प्रधानाचार्या श्रीमती रेखा ने की। कार्यक्रम का संचालन समिति की अध्यक्ष श्रीमती राजुल त्यागी ने किया।

कार्यक्रम की संयोजिका श्रीमती छवि कौशल ने, नारी शक्ति महान है; गीत प्रस्तुत कर के कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। उसके उपरान्त वक्ताओं ने नारी सशक्तिकरण पर विभिन्न प्रकार के सुविचार प्रस्तुत किये। डॉ. मंजुला कुमार ने महिला दिवस मनाए जाने के विषय में विस्तार से बताया। श्रीमती मंजू गुप्ता ने बताया कि घर परिवार में रहकर भी एक महिला समाज की  नींव मजबूत कर सकती है। रश्मि गुप्ता ने बताया कि अब महिलाओं को भी शिक्षा रूपी पंख लग चुके हैं। डा. रंजना राजपूत ने महिलाओं की शैक्षिक स्थिति में आए सुधार के विषय में बताया। रचना खन्ना ने बताया कि महिला के पूर्ण विकास में सबसे महत्वपूर्ण रोल महिला की माँ का ही होता है। मनुश्री अशोक निर्दोष ने महिला सशक्तिकरण पर कविता का सुन्दर का पाठ किया।

इस अवसर पर समिति की ओर से समाज सेविका श्रीमती ऊषा चौधरी, पुष्पा, अनीता चौधरी, नीरा अग्रवाल, डॉ.नीता सिंह, डा. मीना बक्शी व राजीव अग्रवाल उपस्थित रहे।