अमानगढ़ टाइगर रिजर्व में जंगल सफारी का शुभारंभ

अमानगढ़ टाइगर रिजर्व में जंगल सफारी का शुभारंभ

टाइगर रिजर्व न्यू जिम कॉर्बेट के रूप में जाना जाएगा जंगल अमानगढ़

सफारी प्रारंभ होने से क्षेत्र का विकास होगा व ईको पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा: सुशांत सिंह

पर्यटकों को सुख मिले, उनके साथ अच्छा व्यवहार हो व उन्हें सुरक्षित माहौल मिले: विधायक बढ़ापुर

बिजनौर। अमानगढ़ टाइगर रिजर्व के हरिपुर वन परिसर में मंगलवार को जंगल सफारी का शुभारंभ विधायक बढ़ापुर सुशांत सिंह ने किया। उन्होंने इस अवसर पर पर्यटक पंजीकरण कक्ष व कैंटीन/टिकट घर का फीता काटा। साथ ही जंगल सफारी जिप्सी को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। विधायक ने जंगल सफारी करते हुए कहा कि यह क्षेत्र न्यू जिम कॉर्बेट के रूप में जाना जाएगा। इस अवसर पर मुख्य वन संरक्षक ने हाथी की प्रतिमा भेंट की गई। किन्हीं कारणों से जिलाधिकारी उमेश मिश्रा कार्यक्रम में उपस्थित नहीं हो सके।

शुभारंभ करते हुए विधायक बढ़ापुर ने कहा कि यहां आने वाले पर्यटकों को सुख मिले उनके साथ अच्छा व्यवहार हो व उन्हें सुरक्षित माहौल मिले। उन्होंने सभी से इसमें सहयोग करने की अपील की। उन्होंने कहा कि जंगल सफारी प्रारंभ होने से सभी वन क्षेत्रों का विकास होगा व इको पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।
सुशांत सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को बधाई देते हुए कहा कि उनके प्रयासों से व दूरगामी सोच से इको पर्यटन को प्रदेश में बढ़ावा दिया जा रहा है। विधायक ने कहा कि पहले की सरकारों में व्यक्तिगत लाभ को प्राथमिकता दी जाती थी। वर्तमान सरकार ने प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाया और प्रदेश का विकास किया। उन्होंने कहा कि यहां आकर अच्छा लगा। अमानगढ़ वन क्षेत्र में जंगल सफारी प्रारंभ होने से रामनगर की तरह यहां का विकास होगा। जिम कॉर्बेट में देश-विदेश के पर्यटक आते हैं। ऐसे ही यहां भी उनका आगमन होगा, क्षेत्र का विकास होगा, यहां होटल रिसोर्ट आदि खुलेंगे और जनपद की आर्थिक उन्नति होगी।

मुख्य वन संरक्षक ने कहा कि जंगल सफारी प्रारंभ होने से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा, क्षेत्र का चहुंमुखी विकास होगा। इको विकास समिति इसका संचालन करेगी। अमानगढ़ फॉरेस्ट रिजर्व फाउंडेशन का गठन हो गया है। यह फाउंडेशन व इको विकास समिति जंगल सफारी व पंजीकरण कक्ष आदि का संचालन करेंगी तथा इसमें वन विभाग का सहयोग रहेगा। जिला वन अधिकारी ने कहा कि विधायक ने जंगल सफारी की परिकल्पना देखी, जिसको आज मूर्त रूप दिया जा रहा है। इससे क्षेत्र का विकास होगा, आगे चलकर इसे कालागढ़ व अन्य रिजर्व क्षेत्रों से भी जोड़ा जाएगा। यह आगाज है, अभी आगे और जाना है।

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व अरविंद कुमार सिंह, मुख्य वन संरक्षक मुरादाबाद, जिला वन अधिकारी अनिल कुमार पटेल, एसडीओ फॉरेस्ट सहित अन्य पुलिस प्रशासनिक अधिकारी व बड़ी संख्या में आमजन आदि उपस्थित रहे। उप जिलाधिकारी धामपुर मनोज कुमार सिंह ने सभी आगंतुकों का आभार व्यक्त किया। किन्हीं कारणों से जिलाधिकारी उमेश मिश्रा कार्यक्रम में उपस्थित नहीं हो सके।

आकर्षण का केंद्र हैं 27 बाघ और सौ से ज्यादा हाथी~
हजारों रुपए खर्च कर कार्बेट पार्क जाने वालों के लिए अमानगढ़ वन रेंज में हर वो वन्य जीव मौजूद हैं, जिसे देखने की उन्हें लालसा रहती है। यहां पर 27 बाघ और सौ से ज्यादा हाथी हैं। इसके अलावा भालू, गुलदार, पैंगोलिन, अजगर जैसे जीव भी दिखाई देते हैं। चीतल, हिरण के दर्जनों की संख्या में झुंड दिखाई पड़ते हैं।

वन विभाग से लिए गए आंकड़ों के अनुसार अमानगढ़ में मौजूद वन्यजीव

बाघ 27
गुलदार 45
चिकारा 06
काला हिरन 50
सांभर 226
बारहसिंगा 37
भालू 9
मोर 1074

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s