पेट्रोल पंप के अंडरग्राउंड टैंक की दीवार गिरी; एक मजदूर की मौत, दो गंभीर

बिजनौर शहर के चक्कर मार्ग स्थित जय भीम फिलिंग स्टेशन पर हुआ हादसा। पेट्रोल पंप पर तेल के अंडर ग्राउंड टैंक की दीवार गिरने से एक मजदूर की मौत; दो मजदूर गंभीर घायल। गुस्साए परिजनों ने लगाया सड़क पर जाम। पुलिस को करना पड़ा हल्का बल प्रयोग। पेट्रोल पंप मालिक एवं मजदूरों के ठेकेदार के खिलाफ थाना शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज।

बिजनौर। चक्कर मार्ग स्थित जय भीम फिलिंग स्टेशन के भूमिगत टैंक को दूसरी जगह शिफ्ट करने के दौरान हुए हादसे में एक मजदूर की मौत हो गई, जबकि दो अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। गुस्साए परिजनों ने सड़क पर जाम लगा दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर भीड़ पर काबू पाया। पेट्रोल पंप के मालिक एवं मजदूरों के ठेकेदार समेत दो लोगों के खिलाफ थाना शहर कोतवाली में गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

बिजनौर शहर के चक्कर मार्ग स्थित जय भीम फिलिंग स्टेशन के भूमिगत टैंक को दूसरी जगह शिफ्ट करने का काम चल रहा है। बताया गया है कि शनिवार को चार मजदूर इस टैंक के चारों से ओर मिट्टी खोदकर बाहर निकाल रहे थे। दोपहर बाद टैंक के चारों ओर बनी दीवार अचानक भरभरा कर गिर पड़ी। दीवार के मलबे और मिट्टी में गांव सालमाबाद निवासी दीपक (25 वर्ष) पुत्र नौबहार सिंह, अश्वनी पुत्र भीकम सिंह तथा गोलू पुत्र राकेश निवासी गोपालपुर थाना भौजीपुरा बरेली दब गए। तीन मजदूरों के दीवार के मलबे में दबते ही हड़कंप मच गया। थाना शहर कोतवाली पुलिस भी मौके पर पहुंची। पुलिस और ग्रामीणों ने मलबा हटाकर तीनों मजदूरों को बाहर निकाला। अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकों ने दीपक को मृत घोषित कर दिया, जबकि अश्वनी और गोलू की हालत गंभीर देखते हुए हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। गुस्साए परिजनों और गांववालों ने पेट्रोल पंप पर तोड़फोड़ का भी प्रयास किया। परिजन और ग्रामीण चक्कर मार्ग पर बैठ गए और जाम लगा दिया। करीब आधा घंटा तक जाम लगा रहा।

सीओ, कोतवाल ने दिया आश्वासन- सीओ सिटी कुलदीप गुप्ता और प्रभारी निरीक्षक राधेश्याम पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने कार्रवाई का आश्वासन देकर लोगों को शांत किया और जाम खुलवाया। मामले में पेट्रोल पंप के मालिक लल्लन उर्फ अरविंद निवासी बुखारा और मजदूरों के ठेकेदार अख्तर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। आरोप है कि टैंक की खोदाई के लिए पर्याप्त सुरक्षा के इंतजाम नहीं किए गए थे। प्रभारी निरीक्षक राधेश्याम ने बताया कि मामले में रिपोर्ट दर्ज करने के साथ ही जांच शुरू कर दी गई है।

शमशाद अंसारी ने पेश की मानवता की मिसाल- सोशल मीडिया व अन्य माध्यम से यह घटना जंगल में आग की तरह फैल गई। कुछ ही देर में लोग मौके पर एकत्र हो गए। दीपक को बचाने के लिए सभी प्रयास कर रहे थे।  घटना की जानकारी मिलते ही चेयरपर्सन पति शमशाद अंसारी भी मौके पर पहुंच गए और दीपक को निकालने का प्रयास करते लोगों के साथ खुद भी जुट गए। तीनों मजदूर न तो बिजनौर के निवासी थे, जिनसे वोटों का लालच हो और न ही बिरादरी अथवा धर्म के, लेकिन इस सबसे ऊपर उठकर शमशाद अंसारी अपना सामाजिक व राजनीतिक धर्म निभाते दिखे। वहीं दूसरी और सदर विधानसभा सीट से निवर्तमान एवं भावी विधायकों, जनप्रतिनिधियों ने संवेदनहीनता की पराकाष्ठा दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s