रशियन डांसर की सुरक्षा में लगे बाउंसर की गोली लगने से मौत

बीजेपी नेता के भाई की शादी में बुलाई गईं रशियन डांसर। हर्ष फायरिंग में हुआ हादसा। सुरक्षा में लगे बाउंसर की गोली लगने से मौत। सात बार मिस्टर कानपुर का खिताब किया था बाउंसर ने अपने नाम।


कानपुर। हर्ष फायरिंग में बाउंसर की मौत की घटना सामने आई है। शुक्रवार को बीजेपी नेता के भाई की शादी थी। जानकारी के मुताबिक, शादी समारोह में रशियन डांसरों को बुलाया गया था। डांसरों की सुरक्षा के लिए बाउंसरों को लगाया गया था। शादी समारोह में की गई हर्ष फायरिंग से बाउंसर के सिर में गोली लगने से मौत हो गई। इस घटना के बाद हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। वहीं, बाउंसर के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने बीजेपी नेता रामजी गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया है।

बीजेपी युवा मोर्चा के पूर्व कोषाध्यक्ष रामजी गुप्ता के भाई रजत गुप्ता की एक गार्डन में शादी थी। एक एजेंसी के जरिए बाउसंरों को हायर किया गया था। सूत्रों के मुताबिक, सादिक के साथ चार बाउंसर हिमांशू, नसीम, अरबाज, अम्मार को रशियन डांसर की सुरक्षा में लगाया गया था। शादी में हर्ष फायरिंग के दौरान सादिक के सिर में गोली लग गई। सादिक फर्श पर गिर पड़े। बाउंसर को हैलट अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने सादिक को मृत घोषित कर दिया।

एजेंसी ने दी परिवार को खबर~
बाउंसर मोहम्मद सादिक के भाई ने बताया कि जिस एजेंसी के जरिए शादी में सादिक पहुंचे थे। उसी एजेंसी ने मौत की खबर दी। रेल बाजार पुलिस को भी काफी देर बाद घटना की सूचना दी गई थी। वहीं, लोगों का कहना है कि रात 12 बजे डीजे बज रहा था। इसे दौरान नशे की हालत में लोग डांस कर रहे थे। इसी दौरान फायरिंग हुई थी, जिसमें बाउंसर को गोली लगी थी।

मिस्टर यूपी रह चुके हैं सादिक
मोहम्मद सादिक एक बार मिस्टर यूपी और सात बार मिस्टर कानपुर का खिताब अपने नाम कर चुके हैं। मिस्टर यूपी के खिताब के लिए सादिक ने दिन-रात मेहनत की थी। सादिक की मौत खबर सुनते ही पत्नी बेहोश गई। वहीं, बेटियों के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। रेल बाजार थाना क्षेत्र स्थित मीरपुर कैंट में रहने वाले मोहम्मद सादिक (35) जिम संचालक होने के साथ ही बाउंसर का भी काम करते थे। सादिक पत्नी आसमां, दो बेटियां आरफा, आयरा और छोटे भाई शाहिद के साथ रहते थे। पिता गुलजार मोहम्मद की मौत के बाद परिवार की जिम्मेदारी सादिक के कंधों पर थी। सादिक की मौत की खबर घर पहुंची तो परिवार में कोहराम मच गया।

ट्रैक्टर ट्राली में जा घुसीं दो बाइक, एक की मौत तीन गंभीर

ट्रैक्टर ट्राली में जा घुसीं दो बाइक, एक की मौत तीन गंभीर

बिजनौर। चांदपुर में तेज रफ्तार दो मोटर साइकिल देर रात गन्ने से भरी ट्रैक्टर ट्राली में जा घुसीं। हादसे में दो मोटरसाइकिल पर सवार तीन लोगों में से एक की मौत हो गई जबकि दो युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को गंभीर हालत में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया, जहां से हालत को गंभीर देखते हुए दो की हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। गंभीर रूप से घायल दोनों युवकों की हालत चिंताजनक है। गन्ने से भरी ट्रैक्टर ट्राली चालक वाहन मौके पर ही छोड़कर फरार हो गया। पुलिस ने वाहनों को कब्जे में लेकर आवश्यक कार्यवाही शुरू कर दी है।

तहसील थाना चांदपुर क्षेत्र के धनौरा रोड पर देर रात दो मोटर साइकिल तेज गति से गन्ने से भरी ट्रैक्टर ट्राली में घुस गईं। मोटर साइकिलों पर सवार तीन व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गए। तीनों घायलों को पुलिस की मदद से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टर ने एक को मृत घोषित कर दिया जबकि दो गंभीर रूप से घायल युवकों को हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। बताया गया है कि तीनों ही वाहन धनौरा की ओर से चांदपुर की ओर जा रहे थे। हादसे में सलमान पुत्र मुखतार निवासी ग्राम स्याऊ थाना चांदपुर व कमर आलम (26 वर्ष) पुत्र जाहिद हुसैन निवासी ग्राम स्याऊ थाना चांदपुर एवं सलमान (25 वर्ष) पुत्र जाहिद निवासी ग्राम स्याऊ थाना चांदपुर गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। डॉक्टर ने सलमान पुत्र मुख्तार को मृत घोषित कर दिया जबकि सलमान व कमर आलम को गंभीर हालत के चलते हायर सेंटर रेफर कर दिया। कमर आलम का इलाज दिल्ली के ट्रॉमा सेंटर में जबकि सलमान का इलाज मेरठ अस्पताल में चल रहा है। दोनों ही युवकों की हालत चिंताजनक बनी हुई है। वहीं ट्रैक्टर ट्राली चालक वाहन मौके पर छोड़कर फरार हो गया। पुलिस ने तीनों वाहनों को कब्जे में ले लिया है।

वहीं मामले में चौकी प्रभारी बबनपुरा उदयवीर सिंह ने बताया कि देर रात धनोरा रोड पर दो तेज रफ्तार मोटरसाइकिल पीछे से गन्ने से भरी ट्रैक्टर ट्राली में जा घुसी। मोटरसाइकिल सवार तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे जिन्हें इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेज दिया गया। ट्रैक्टर ट्राली चालक वाहन मौके पर छोड़कर फरार हो गया था वाहनों को कब्जे में लेकर आवश्यक कार्यवाही की जा रही है।

अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार दो युवकों की मौत

अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार दो युवकों की मौत
बिजनौर। नहटौर-झालू मार्ग पर अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार दो युवकों की मौत हो गई। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
नहटौर के गांव बल्ला शेरपुर के रहने वाले राजपाल सिंह का बेटा विशाल (18) गांव निवासी अपने दोस्त चुन्नू उर्फ ऋतिक (20) पुत्र भीष्म के संग बाइक से बिजनौर के गांव सदूपुरा आया था। दोनों दोस्त देर शाम अपने गांव लौट रहे थे, जैसे ही झालू मार्ग पर काली मंदिर से आगे पहुंचे तो किसी वाहन ने बाइक में टक्कर मार दी।
टक्कर इतनी भयंकर थी कि बाइक के परखच्चे उड़ गए, जबकि दोनों दोस्तों की मौके पर ही मौत हो गई। हालांकि उन्हें पुलिस जिला अस्पताल लेकर पहुंची, जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।
उधर हादसे के बाद आरोपी चालक अपना वाहन लेकर मौके से भाग गया। पुलिस ने हादसे की खबर परिजनों को दी तो उनमें कोहराम मच गया। बताया गया कि विशाल ने इसी साल इंटर किया था, जबकि ऋतिक बीए का छात्र था।
पुलिस ने दोनों के शव का पंचनामा भरते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। आरोपी वाहन चालक के खिलाफ अज्ञात में मृतक विशाल के पिता की ओर से रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। शहर कोतवाल रविंद्र वशिष्ठ ने बताया कि देर शाम किसी तेज रफ्तार वाहन की टक्कर से दो बाइक सवार युवकों की मौत हुई है। मामले में रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

आमने सामने बाइक भिड़ंत में दो की मौत, दो घायल

आमने सामने बाइक भिड़ंत में दो की मौत, दो घायल

प्रतीकात्मक चित्र

बिजनौर। रेहड़ में दो बाइकों की आमने-सामने की जोरदार टक्कर में दो लोगों की मौत मौके पर ही हो गई, जबकि 2 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

रेहड़ थानाक्षेत्र के ग्राम भगतावाला में शनिवार दोपहर दो बाइकों की आमने-सामने की टक्कर हो गई। हादसे में एक एक बाइक पर सवार अलाउद्दीन (20 वर्ष) पुत्र अकरम निवासी ग्राम भवानीपुर थाना अफजलगढ, जबकि दूसरी बाइक पर सवार शेखर (19 वर्ष) पुत्र मुखराम निवासी ग्राम सीरियावाली चक थाना अफजलगढ की मौके पर ही मौत हो गई। दोनों बाइकों पर दो लोग और सवार थे, वह भी गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से गंभीर हालत देखते हुए डॉक्टरों ने उन्हें हायर सेंटर रेफर कर दिया। पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की जांच में जुट गई है।

गाय ने वृद्ध को उठाकर नाली में पटका, मौके पर ही मौत

बिलासपुर (JSR news)। सरकंडा के राजकिशोर नगर में गाय ने सड़क पर चल रहे वृद्ध को उठाकर नाली में पटक दिया। इससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। नाली में शव मिलने की सूचना पर पहुंची पुलिस ने इसकी जांच शुरू की। पास के मकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में यह पूरी घटना कैद हो गई। पुलिस ने सीसीटीवी का फुटेज भी लिया है। पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजन को सौंप दिया गया।

सरकंडा के राजकिशोर नगर सूरजमुखी सेक्टर में रहने वाले ओमप्रकाश सिंह (90) रिटायर्ड कर्मचारी थे। उनकी बहू शिक्षिका और बेटा निजी स्कूल में प्रिंसिपल हैं। बुधवार की सुबह दोनों अपने काम पर निकल गए। वहीं, ओमप्रकाश सिंह किसी काम से पोस्ट आफिस गए। वहां से काम निपटाकर वे पैदल घर लौट रहे थे। कालोनी में ही सड़क पर दो-तीन गाय खड़ी थी। ओमप्रकाश मवेशियों के किनारे से निकल रहे थे। इसी दौरान उनके हाथ से कुछ सामान छूटकर गिर गया। सामान उठाने के लिए वे झुके। इसके बाद जैसे ही वे चलने लगे पीछे खड़ी गाय ने उन्हें उठाकर सड़क किनारे नाली में पटक दिया। इससे वृद्ध की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के दौरान सड़क पर आवाजाही नहीं थी। इसके कारण किसी को इसकी जानकारी नहीं मिल सकी। थोड़ी देर बाद किसी ने नाली में शव देखकर आसपास के लोगों को इसकी सूचना दी। शव की पहचान के बाद स्वजन को भी इसकी जानकारी दी गई। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। किसी वाहन की टक्कर से नाली में गिरने की आशंका पर पुलिस ने आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे का फुटेज निकाला। इसमें गाय के मारने से नाली में गिरने की पुष्टि हुई। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे का भी फुटेज लिया है। पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजन को सौंप दिया गया है।

कार-बाइक की भिड़त में 3 युवक घायल, एक की हालत नाजुक

बिजनौर। स्योहारा थाना क्षेत्र अंतर्गत ठाकुरद्वारा मार्ग कार और बाइक की आमने सामने की भिड़त में तीन युवक घायल हो गए। तीनों घायलों को सीएचसी ले जाया गया। इनमें से एक को हालत को गम्भीर देखते हुए हायर सेंटर रेफर कर दिया गया।
जानकारी के अनुसार आज शाम ठाकुरद्वारा मार्ग स्थित नल तिराहे पर एक कार और बाइक की भिड़त में रवि (25) पुत्र शमशेर सिंह, रिंकू (25) पुत्र गोपी सिंह व मोहित (21) चेतन सिंह निवासी मुकरपुरी में घायल हो गए। तीनों घायलों को सीएचसी लाया गया लेकिन रवि की हालत को गम्भीर देखते हुए हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। उधर घटना को अंजाम देकर कार सवार फरार हो गया, जबकि कार को पुलिस ने कब्जे में ले लिया है।
घटना के बाद से घायलों के परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

पति और भाई समेत महिला की सड़क दुर्घटना में मौत

गेंडीखाता में अज्ञात वाहन से टक्कर में कार सवार महिला समेत तीन की मौत। नजीबाबाद से हरिद्वार की ओर जा रही थी कार। महिला की दवा लेने जा रहे थे जॉलीग्रांट।

बिजनौर। हरिद्वार-नजीबाबाद हाईवे पर गेंडीखाता के पास सोमवार देर रात करीब 10 बजे कार दुर्घटना में महिला की पति और भाई सहित घटनास्थल पर ही मौत हो गई। कार नजीबाबाद से हरिद्वार की ओर जा रही थी। बताया जा रहा है कि कार की गति अधिक होने के कारण अगले वाहन के पीछे से टक्कर हुई। जबरदस्त टक्कर में कार का अगला हिस्सा पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया और कार में सवार प्रमोद, उसकी पत्नी नीतू और चालक रोहित निवासी थाना किरतपुर बिजनौर की दर्दनाक मौत हो गई। दुर्घटना के बाद चालक और साथ की सीट पर बैठा युवक बुरी तरह फंस गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से कटर द्वारा गाड़ी को काट कर सभी को बाहर निकाला। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया और परिजनों को सूचना दी।

एक ही झटके में पांच मासूम बच्चों से छिन गया सहारा

बिजनौर। हरिद्वार-नजीबाबाद हाईवे पर गेंडीखाता के पास सोमवार देर रात हुए दर्दनाक हादसे ने एक ही झटके में पांच मासूमों का सहारा छीन लिया। साले के साथ पत्नी की दवा लेने जा रहे व्यक्ति की कार आगे चल रहे कंटेनर में घुस गई। हादसे में जान गंवाने वाले कार सवार पति-पत्नी और साला हैं। घटना से परिजनों में कोहराम मच गया है।

जानकारी के अनुसार किरतपुर थाना क्षेत्र के गांव किसौर निवासी प्रमोद सिंह पुत्र राजेंद्र सिंह की शादी चांदपुर थाना क्षेत्र के गांव ककराला निवासी ऋतु से हुई थी। बीमारी के चलते ऋतु का इलाज जौलीग्रांट में चल रहा था। मंगलवार को नीतू को डॉक्टरों को दिखाने के लिए जाना था। सोमवार रात प्रमोद अपने साले रोहित के साथ कार से जौलीग्रांट के लिए चला। कार रोहित चला रहा था, जबकि प्रमोद उसके बराबर में बैठा था। नीतू पीछे बैठी थी। हरिद्वार-नैनीताल हाईवे पर गैंडीखाता के पास कार आगे चल रहे कंटेनर में पीछे से घुस गई। टक्कर इतनी भयानक थी कि कार के परखच्चे उड़ गए। कार के चकनाचूर होने के कारण प्रमोद और रोहित उसमें बुरी तरह फंस गए। मौके पर पहुंची उत्तराखंड के हरिद्वार की श्यामपुर थाना पुलिस ने कार सवारों को निकालने का प्रयास किया। सफल न होने पर कटर की सहायता से कार को काटकर तीनों को निकाला गया। तीनों की मौके पर ही मौत हो गई थी। पुलिस ने तीनों का पंचनामा कर शवों को मोर्चरी भिजवाया और परिजनों को सूचना दी। परिजन आननफानन हरिद्वार के लिए रवाना हो गए। प्रमोद और नीतू के दो छोटे-छोटे बच्चे और रोहित के तीन बच्चे हैं। मंगलवार को हरिद्वार में शवों का पोस्टमार्टम कराया गया। देर रात तक तीनों के शव बिजनौर नहीं पहुंचे थे।

थानाध्यक्ष श्यामपुर विनोद प्रसाद थपलियाल के अनुसार  गति तेज होने के कारण कार अनियंत्रित होकर आगे चल रहे कंटेनर से टकरा गई। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि कार का अगला हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। कार में सवार प्रमोद, उसकी पत्नी नीतू और चालक रोहित निवासी बिजनौर की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। कंटेनर के चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

चप्पल पहनकर बाइक चलाई तो कटेगा चालान

कुछ यातायात नियम ऐसे हैं, जिनके बारे में ज्यादातर लोगों को जानकारी नहीं है। वाहन चालक को लगता है कि वह सभी नियमों का पालन करते हुए सफर कर रहे हैं। उन्हें पता नहीं होता कि वह यातायात नियम का उल्लंघन कर रहे हैं।

नई दिल्ली। मोटर वाहन चलाने वालों को यातायात से जुड़े सभी जरूरी नियमों का पालन करना चाहिए। इससे दो फायदे होंगे, पहला यह कि सुरक्षित यातायात का माहौल बन सकेगा और दूसरा यह कि पुलिस आपका चालान नहीं काटेगी। यातायात से जुड़े नियमों का उल्लंघन करने पर पुलिस द्वारा चालान काटा जाता है, जुर्माना काफी ज्यादा भी हो सकता है। इसके अलावा कुछ मामलों में जेल भी जाना पड़ सकता है। ऐसे में अगर आप चाहते हैं कि आपका चालान ना कटे तो यातायात नियमों का पालन करें।

चप्पल पहनकर नहीं चला सकते टू-व्हीलर

मौजूदा यातायात नियमों के अनुसार, स्लीपर्स या ‘चप्पल’ पहनकर टू-व्हीलर चलाने की इजाजत नहीं है। इस बारे में शायद बहुत ही कम लोगों को पता है। इसके पीछे कारण यह है कि इस तरह के फुटवियर की वजह पकड़ कमजोर होती है और पैर फिसल सकते हैं। इसके अलावा मोटरसाइकिल पर गियर शिफ्ट करते समय, इस बात की पूरी संभावना है कि इस तरह के फुटवियर से पैर फिसल सकता है और दुर्घटना हो सकती है। इसलिए टू-व्हीलर चलाते समय पूरी तरह से बंद जूते पहनने जरूरी हैं। ऐसा नहीं करने पर 1000 रुपए का जुर्माना लग सकता है।

टू व्हीलर चलाते समय पर ड्रेस कोड
टू व्हीलर चलाते समय ड्राइवर को प्रॉपर ड्रेस कोड का ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है। जैसे मोटरसाइकिल चलाते वक्त पैंट, शर्ट या टीशर्ट पहनना चाहिए। ये शरीर को पूरी तरह से कवर कर देते हैं। किसी भी हादसे की स्थिति में ये कपड़े शरीर को कुछ हद सुरक्षित रख सकते हैं। अगर आप इस नियम की अनदेखी करते हैं तो आपका 2000 रुपए तक चालान कट सकता है। इसलिए बाइक चलाते वक्त इस नियम का पालन जरूर करें। इसके अलावा, अगर सामान्य नियमों की बात करें तो बाइक पर हेलमेट न पहनने को लेकर 1000 रुपए का जुर्माना लगता है। वहीं, बाइक से जुड़े दस्तावेज नहीं होने पर भी हजारों रुपए का जुर्माना लग सकता है।

रेलवे ट्रैक पर पड़ा मिला अज्ञात युवक का शव

रेलवे ट्रैक पर पड़ा मिला अज्ञात युवक का शव। तमाम कोशिशों के बावजूद शिनाख्त नहीं।

बिजनौर। चंदक नजीबाबाद रेलवे लाइन पर एक युवक का शव बरामद किया गया है। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने शव की शिनाख्त के काफी प्रयास किए गए लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। इसके बाद पुलिस ने आवश्यक कार्रवाई करते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

शुक्रवार देर रात नांगल पुलिस को सूचना मिली कि चंदक नजीबाबाद रेलवे लाइन पर ग्राम पुंडरी के सामने क्षत-विक्षत हालत में एक शव पड़ा हुआ है। सूचना पर दरोगा योगेंद्र शर्मा पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए। इसके बाद पुलिस ने शव की शिनाख्त के काफी प्रयास किए लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। बाद में पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए बिजनौर भेज दिया। दरोगा योगेंद्र शर्मा ने बताया कि मृतक युवक की उम्र लगभग 35 वर्ष है। शायद युवक की ट्रेन से गिरकर मौत हुई है। उसके पास से मिले टूटे-फूटे मोबाइल के आधार पर युवक की शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं। खबर लिखे जाने तक युवक की शिनाख्त नहीं हो पाई थी।

खुशहाल जीवन का आशीर्वाद लेकर निकले भाई की सड़क दुर्घटना में मौत

राखी बंधवा कर ड्यूटी पर जाते भाई की सड़क दुर्घटना में मौत

बिजनौर। कार की आमने-सामने की टक्कर में युवा बाइक सवार की मौत हो गई। घटना रायपुर रोड स्थित ग्राम हैजरपुर के पास गुरुवार सुबह की है। घटना से त्योहार के दिन मृतक के परिवार व गांव का माहौल शोकग्रस्त हो गया।

नगीना थाना देहात क्षेत्र के ग्राम ब्राह्मण वाला निवासी दीपक कुमार (22 वर्ष) पुत्र नरेश कश्यप गुरुवार सुबह 10 बजे रक्षाबंधन के त्योहार पर अपनी बहनों से राखी बंधवा कर घर से बाइक पर सवार होकर नगीना में मल्होत्रा इंटरप्राइजेज के शोरूम पर काम के लिए निकला था। रायपुर रोड स्थित ग्राम हैजरपुर के पास तेज रफ्तार से आ रही एक कार से बाइक की आमने-सामने की टक्कर हो गई। घटना में बाइक क्षतिग्रस्त हो गई जबकि दीपक गंभीर रूप से घायल हो गया। चालक कार छोड़कर फरार हो गया। घटना की जानकारी मिलते ही गांव के लोग एकत्र हो गए। लोगों ने घटना की सूचना स्वास्थ सेवा 108 गाड़ी को दी। सूचना मिलते ही सालिम मलिक व चालक निकेश गाड़ी लेकर पहुंचे और घायल बाइक सवार को सीएचसी लेकर गए, जहां पर डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची पुलिस ने कार व बाइक को अपने कब्जे में ले लिया। पुलिस ने शव का पंचनामाभर कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के परिजनों में कोहराम मचा हुआ है और गांव में शोक का माहौल है।

मिल्क वैन ने उड़ाए कार के परखच्चे, दो युवकों की मौत, एक गंभीर

दुग्ध वाहन की टक्कर से कार सवार दो युवकों की मौत, एक गंभीर

बिजनौर। कोतवाली थाना क्षेत्र के झालू मार्ग काली मंदिर के पास सोमवार की देर रात दूध लेकर जा रहे तेज रफ्तार कैंटर ने कार को टक्कर मार दी। घटना में कार के परखच्चे उड़ गए और कार सवार दो लोगों की मौत हो गई। एक घायल युवक को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतकों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतकों की पहचान वरीस कुमार (31) निवासी गाजीपुर थाना किरतपुर व मेहर सिंह (25) निवासी चान्दा नंगली के रूप में हुई है। वहीं गंभीर रूप से घायल देवेंद्र (45) निवासी गाजीपुर किरतपुर को जिला अस्पताल से हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है।

रोडवेज बस की टक्कर से कार सवार 4 लोगों की मौत, 4 गंभीर

तेज रफ़्तार कार और बस की हुई ज़बरदस्त भिड़ंत। कार में सवार चार लोगों की मौके पर ही दर्दनाक मौत। गंभीर हालत में 4 हायर सेंटर रेफर।

बिजनौर। थाना मंडावली अंतर्गत हरिद्वार मार्ग पर रविवार तड़के रोडवेज बस और कार की भीषण भिड़ंत हो गईं। हादसे में कर सवार चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि चार गंभीर रूप से घायल हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने गंभीर घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा। हालात गंभीर देखते हुए हायर सेंटर रेफर किया गया है। बस को कब्जे में ले लिया है।

थाना मंडावली अंतर्गत हरिद्वार मार्ग पर रविवार सुबह करीब चार बजे रुहेलखंड डिपो की जनरथ सेवा रोडवेज बस नं0 UP32MN9894 नजीबाबाद से भागूवाला की तरफ जा रही थी। थाना मंडावली क्षेत्रान्तर्गत ग्राम मुस्सेपुर के निकट बस की विपरीत दिशा से आ रही ईको कार नं0 UP76AH2309 से टक्कर हो गई। पुलिस के अनुसार टक्कर में ईको कार सवार अमित पुत्र चरण सिंह, विपिन पुत्र राम लाल निवासी ग्राम महेशपुर थाना राजेपुर जनपद फर्रुखाबाद, पवन पुत्र शिवनंदन, धर्मेंद्र पुत्र नेत्रपाल, सुमित पुत्र रामअवतार, मंजीत पुत्र रमेश, रोहित पुत्र खेमकरण व सच्चिदानंद पुत्र महेश्वर सिंह निवासी ग्राम व थाना राजेपुर जनपद फर्रुखाबाद गंभीर रूप से घायल हो गए। उक्त 08 घायल व्यक्तियों में से चार लोगों की मृ्त्यु हो गयी तथा 04 लोगों को हायर सैन्टर रेफर किया गया है। मौके पर पहुंची थाना मंडावली पुलिस ने परिजनों को सूचित कर दिया है। शवों की शिनाख्त के प्रयास किये जा रहे हैं। बस को कब्जे में ले लिया गया है। दुर्घटना के कारणों की पड़ताल की जा रही है।

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे बिजनौर एसपी सिटी डाॅ प्रवीन रंजन सिंह ने बताया कि इस सम्बन्ध में थाना मण्डावली पर मु0अ0सं0 139/22 धारा 279/337/338/304ए/427 भादवि पंजीकृत किया गया है। बस पुलिस के कब्जे में है। घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा गया, जहां से हालात गंभीर देखते हुए हायर सेंटर रेफर किया गया है।

ब्रेक फेल होने से पेट्रोल पंप में घुसी रोडवेज बस

रोडवेज की बस पेट्रोल पंप में घुसी
ब्रेक फेल होने की वजह से हुआ हादसा
पेट्रोल पंप पर मची अफरातफरी
बड़ा हादसा होने से बचा
बस की चपेट में आए डीसीएम का चालक हुआ घायल
घायल को अस्पताल में कराया गया भर्ती
पेट्रोल पंप पर मालिक का 5 लाख रुपए का हुआ नुकसान
बिजनौर थाना कोतवाली शहर के बैराज रोड की घटना

बिजनौर। मेरठ बैराज रोड स्थित पेट्रोल पंप पर रोडवेज की बस जा घुसी। दिनदहाड़े हुई घटना के वक़्त पेट्रोल पंप पर कई वाहन व लोग मौजूद थे। अचानक हुए हादसे से अफरातफरी मच गई। इस बीच मौके का फायदा उठाकर चालक बस से कूदकर फरार हो गया। बस की चपेट में आकर डीसीएम का चालक गंभीर रूप से  घायल हो गया। उसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पेट्रोल पंप के मैनेजर हेमेंद्र कुमार के अनुसार लगभग 5 लाख रुपए का नुकसान हुआ है। वहीं अन्य वाहनों को भी काफी क्षति पहुंची है। मामले की सूचना पुलिस को दे दी गई है।

चलती वैन से गिरकर HM स्कूल की छात्रा ने मौके पर तोड़ा दम, तीन गंभीर

छात्रा का फाइल फोटो

चलती वैन से गिरकर मासूम छात्रा की मौके पर ही मौत, तीन गंभीर। बिजनौर के जमालपुर स्थित एचएम पब्लिक स्कूल से जुड़ी है वैन। शव पोस्टमार्टम भेजने को लेकर परिजनों की पुलिस से नोकझोंक। प्रिंसीपल ने वाहन व्यवस्था से झाड़ा पल्ला।

बिजनौर। चालक द्वारा तेज गति से मोड़ने पर स्कूली वैन की खिड़की खुलने से उस में सवार चार मासूम बच्चे सड़क पर गिर गए। सड़क पर सिर लगने से नर्सरी क्लास की मासूम छात्रा की मौके पर मौत हो गई। वहीं तीन अन्य छात्र-छात्राएं  गंभीर रूप से घायल हो गए। घायल छात्र-छात्राओं को तत्काल ही नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना की सूचना मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस की मृतक मासूम छात्रा का शव पोस्टमार्टम के लिए बिजनौर भेजने को लेकर परिजनों से जमकर नोकझोंक हुई। घटना से गुस्साए लोगों में स्कूल प्रबंधन के खिलाफ भारी रोष व्याप्त है।

जानकारी के अनुसार पैजनिया नहटौर मार्ग स्थित हल्दौर थाना क्षेत्र के ग्राम सोतखेड़ी निवासी नदीम की 6 वर्षीय पुत्री आयशा नर्सरी क्लास में जमालपुर स्थित एचएम पब्लिक स्कूल में पढ़ती थी। बुधवार की सुबह स्कूल की वैन का चालक वैन में करीब 30 बच्चों को भरकर ले जा रहा था। गांव सोतखेड़ी के ईंट भट्टे के मोड़ पर स्कूल वैन को तेज गति से मोड़ दिया। इस बीच स्कूल वैन की खिड़की खुल गई और चार बच्चे सड़क पर गिर पड़े।  सिर सड़क से टकराने के कारण मासूम छात्रा आयशा की मौके पर ही मौत हो गई। समाचार लिखे जाने तक ग्रामीणों व पुलिस में मृतक आयशा का पोस्टमार्टम कराने को लेकर नोकझोंक हो रही थी। स्कूल के प्रधानाचार्य सतवीर सिंह का कहना है कि अभिभावकों द्वारा अपनी जिम्मेदारी पर वाहन की व्यवस्था कराई गई है। स्कूल प्रबंधन का वाहन की व्यवस्था से कोई लेना देना नहीं है।

स्कूल प्रबंधन की तगड़ी कमाई का जरिया हैं पुरानी गाड़ियां- क्षेत्र के सभी स्कूलों में बाहर से पुरानी बस व मैजिक मंगा कर स्कूल में चलाए जा रहे हैं। इनकी ना तो फिटनेस पूरी होती है और ना ही उनके कागज पूरे होते हैं। यही नहीं बसों के कागजों की समय सीमा भी निकल चुकी होती है। उसके बाद भी इन बसों से छात्र-छात्राओं के जीवन से खिलवाड़ करते हुए लगातार भरकर लाया, ले जाया जा रहा है। इनसे  स्कूल प्रबंधन को अच्छा खासा मुनाफा होता है क्योंकि यह बच्चों को स्कूल लाने ले जाने के नाम पर उनसे अच्छी खासी फीस वसूलते हैं ।

दो अलग अलग दुर्घटनाओं में चार युवकों की मौत, दो घायल

बिजनौर। जिले में दो अलग अलग दुर्घटनाओं में चार युवकों की मौत हो जबकि दो गंभीर घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से एक मामला स्योहारा थाना क्षेत्र का है, जबकि दूसरा चांदपुर थाना क्षेत्र के धनौरा मार्ग का। दोनों ही जगह पहुंची पुलिस ने आवश्यक कार्रवाई पूर्ण कर शवों को पोस्टमार्टम के लिए बिजनौर भिजवा दिया।

फाटक के नीचे से बाईक निकालते ट्रेन की चपेट में आकर दो युवकों की मौत
स्योहारा क्षेत्र में रेलवे फाटक के नीचे से बाईक निकालते समय ट्रेन की चपेट में आने से दो लोगों की मौत हो गयी। दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है।
जानकारी के अनुसार प्रमोद कुमार पुत्र रघुनाथ सिंह निवासी कासमपुर धन्ना माफी उर्फ पट्टी रात्रि लगभग साढे 12 बजे स्योहारा से अपने घर जा रहा था। क्रासिंग पर रेलवे फाटक बंद था। इस पर प्रमोद अपनी मोटरसाइकिल को फाटक के नीचे से निकालने लगा। मोटरसाइकिल को नीचे से निकालते देख अर्जुन पुत्र नरेन निवासी सराय थाना नहटौर भी फाटक पर पहंुच गया और मोटरसाइकिल को निकलने में मदद करने लगा। उधर अपनी तेज रफ्तार से आती ट्रेन का दोनों को पता न चल सका और दोनों उसकी चपेट मे आ गये। दोनों की मौके पर ही मौत हो गयी। जीआरपी चौकी पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है।

अज्ञात वाहन की टक्कर से दो बाइक सवारों की मौत, दो गम्भीर घायल

दूसरी तरफ चांदपुर शहर से धनौरा मार्ग पर अज्ञात वाहन की दो बाईकों में लगी टक्कर से चार सवार घायलों को पुलिस ने अस्पताल पहुंचाया। चिकित्सकों ने दो को मृत घोषित कर दो को बिजनौर रैफर कर दिया। घटना रात लगभग 11 बजे की बताई जा रही है।
एक्सीडेंट की सूचना मिलने पर पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंच कर एम्बुलेंस बुलवायी। ग्राम सुन्दरा निवासी अफजाल पुत्र हारुन, ग्राम बुंदराकलां निवासी सारिक पुत्र खलील को स्याऊ चिकित्सालय ले जांया गया। चिकित्सक ने दोनों को मृत घोषित कर दिया, जबकि आसिफ पुत्र खलील बुन्दराकलां व सरफराज पुत्र सरदार अली को चिकित्सक ने हालत गंभीर देख जिला चिकित्सालय को रैफर कर दिया। पुलिस का कहना है कि घटनास्थल से बाईकों को हटाकर मार्ग को क्लियर कर दिया गया है और दोनों मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम हेतु बिजनौर भेजकर अज्ञात वाहन के बारे में पुलिस जानकारी जुटाने में लगी है।

तीन दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिता का डीआईजी ने किया उद्घाटन

बिजनौर। रिजर्व पुलिस लाइन्स में दिनांक 19.05.2022 से 21.05.2022 तक आयोजित होने वाली अन्तरजनपदीय पुलिस वालीबॉल, बास्केटबॉल, हैण्डबॉल, सेपक टकरा एवं योगा प्रतियोगिता वर्ष-2022 व सडक सुरक्षा जागरुकता अभियान का शुभारम्भ शलभ माथुर, पुलिस उपमहानिरीक्षक मुरादाबाद परिक्षेत्र मुरादाबाद द्वारा किया गया।

रिजर्व पुलिस लाइन में शलभ माथुर, पुलिस उपमहानिरीक्षक मुरादाबाद परिक्षेत्र मुरादाबाद द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर लिया गया। उनके द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर देने वाली गार्द को उत्साहवर्धन हेतु पुरस्कृत किया गया। इसके पश्चात पुलिस लाइन्स के ग्राउण्ड में बरेली जोन, बरेली की दिनांक 19.05.2022 से 21.05.2022 तक आयोजित होने वाली अन्तरजनपदीय पुलिस वालीबॉल, बास्केटबॉल, हैण्डबॉल, सेपक टकरा एवं योगा प्रतियोगिता वर्ष-2022 का उदघाटन किया गया। उक्त प्रतियोगिता में बरेली जोन के सभी 09 जनपदों द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है। पुलिस उपमहानिरीक्षक ने सभी प्रतिभागी खिलाडियों से हाथ मिलाकर उनका परिचय लिया तथा खेल भावना के उददेश्य से खेलने की अपील करते हुए उनका उत्साहवर्धन किया गया।
तदोपरान्त पुलिस उपमहानिरीक्षक मुरादाबाद परिक्षेत्र मुरादाबाद श्री माथुर द्वारा रिजर्व पुलिस लाइन्स प्रांगण में एनसीसी कैडेट्स को सडक सुरक्षा के बारे में जागरुक किया गया। उनको बताया गया कि सड़क पर सभी को अपने बाँये तरफ चलना चाहिए खासतौर से चालक को और दूसरी तरफ से आ रहे वाहन को जाने देना चाहिये। चालक को सड़क पर गाड़ी घुमाते समय गति धीमी रखनी चाहिये। अधिक व्यस्त सड़कों और रोड जंक्शन पर चलते समय ज्यादा सावधानी बरतें। दोपहिया वाहन चालकों को अच्छी गुणवत्ता वाले हेलमेट पहनने चाहिये नहीं तो उन्हें बिना हेलमेट के रोड पर नहीं आना चाहिये। गाड़ी की गति निर्धारित सीमा तक ही रखें खासतौर से स्कूल, हॉस्पिटल, कॉलोनी आदि क्षेत्रों में। सभी वाहनों को दूसरे वाहनों से निश्चित दूरी बनाकर रखनी चाहिये। सड़कों पर चलने वाले सभी लोगों को रोड पर बने निशान और नियमों की अच्छे से जानकारी हो। यात्रा के दौरान सड़क सुरक्षा के नियम-कानूनों को दिमाग में रखें।

एनसीसी कैडेट्स की जागरुकता रैली- इसी के साथ ही एनसीसी कैडेट्स के साथ प्रचार वाहन को हरी झंडी दिखाकर जागरुकता रैली को रवाना किया गया एवं आमजन मानस को यातायात नियमों से अवगत कराया गया। इस दौरान जिलाधिकारी उमेश मिश्रा, पुलिस अधीक्षक डॉ0 धर्मवीर सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक नगर डॉ0 प्रवीन रंजन सिंह, आरटीओ शिव शंकर, एआरटीओ राकेश मोहन, क्षेत्राधिकारी नगर कुलदीप गुप्ता, उ0नि0 यातायात बलराम सिंह व अन्य पुलिस अधिकारीगण मौजूद रहे।


इसके बाद पुलिस उपमहानिरीक्षक द्वारा स्कूली वैन बस एवं एंबुलेंस का फिटनेस चेक कर वाहन से सम्बन्धित जानकारी ली गई तथा सम्बन्धित को इस सम्बन्ध में डाटाबेस बनाकर रखने हेतु निर्देशित किया गया। वाहन स्वामी को बताया गया कि स्कूली वाहनों में सभी मानकों को हमेशा पूरा रखा जाए तथा वाहन चालकों को यातायात नियमों का पालन करने हेतु निर्देशित किया गया।

ग्राम प्रहरियों को वर्दी किट-
डीआईजी ने रिजर्व पुलिस लाइन्स प्रांगण में नगर सर्किल के ग्राम प्रहरियों को जर्सी, साफा, जीन कोट, बेल्ट, जूता, धोती (कुल 06) सामानों का वितरण किया गया। ग्राम प्रहरियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ग्राम प्रहरी पुलिस विभाग मे एक मजबूत कडी है जो अपने आसपास की गतिविधियों पर सतर्क नजर रखते हैं, जिससे किसी घटना को घटित होने से रोका जा सकता है। उनके द्वारा सभी को समय से सूचना देने व अपने दायित्वों का अच्छी तरह से निर्वहन करने हेतु प्रेरित किया गया। सभी ग्राम प्रहरियों को अपनी डयूटी को सतर्कता पूर्वक करने व किसी भी प्रकार की कोई भी सूचना तत्काल थाना प्रभारी को देने हेतु बताया गया। पुलिस उपमहानिरीक्षक शलभ माथुर द्वारा रिजर्व पुलिस लाइन्स प्रांगण में आयोजित नेत्र शिविर का निरीक्षण किया गया। शिविर में वाहन चालक अपनी ऑखों का इलाज, शुगर, ब्लड प्रेशर आदि की जाँच करा रहे थे। डीआईजी द्वारा सभी चालकों को यातायात नियमों का पालन करने, वाहन चलाते समय किसी भी नशे का सेवन न करने हेतु बताया गया तथा सभी को समय-समय पर अपनी जाँच कराने हेतु प्रेरित किया गया। शिविर में नेत्र रोग विशेषज्ञ, शुगर रोग विशेषज्ञ व अन्य स्पेशलिस्ट डॉक्टर मौजूद रहे।

GGIC में सड़क सुरक्षा से संबंधित जागरूक शपथ दिलाई- उन्होंने राजकीय बालिका इंटर कॉलेज बिजनौर में पहुंच कर स्कूलों के बच्चों के साथ सडक सुरक्षा सप्ताह के तहत सड़क सुरक्षा से संबंधित जागरूक शपथ दिलाई तथा सभी को सडक सुरक्षा में जागरुक करते हुए बताया गया कि

1- ट्रैफिक सिग्नल का अर्थ समझना ।
2- रुको, देखो फिर सड़क पार करो ।
3- ध्वनि पर ध्यान दें ।
4- सड़क पर दौड़ें नहीं ।
5- फुटपाथ का उपयोग करें ।
6- पेडेस्ट्रियन से करें सड़क पार ।
7- वाहन के बाहर हाथ न निकालें ।
8- मोड़ से सड़क पार न करें ।
9- ड्राइविंग के नियमों का पालन करे ।
10- चलते वाहन में सुरक्षित बैठना ।
11- वाहन के रुकने के बाद ही चढ़ना और उतरना ।
12- हमेशा किनारे पर ही उतरें ।
13- स्कूल बस का इस्तेमाल हमेशा लाइन में रहकर करें ।
14- उतरने वाले यात्रियों को पहले अवसर दें ।
15- हाथ का इशारा दें ।

इस दौरान जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक एवं अन्य पुलिस अधिकारी एवं स्कूल का स्टाफ उपस्थित रहा।

घायल को अस्पताल पहुंचाओ, 5000 रुपए ले जाओ

पुलिस के डर से लोग नहीं करते पीड़ितों की सहायता। इसी कारण केंद्र सरकार ने की है इसके लिए एक अनूठी पहल। राष्ट्रीय स्तर पर 10 सबसे नेक मददगारों को दिया जाएगा एक-एक लाख रुपए का पुरस्कार

नई दिल्ली (PTI)। पुलिस के चक्कर में कौन पड़ेगा? कहीं हम ही न फंस जाएं! अस्पताल और पुलिसवाले हमें ही परेशान करेंगे! ये कुछ ऐसे वाक्य हैं, जो सड़क पर एक्सीडेंट के बाद घायल अवस्था में पड़े दर्द से कराह रहे व्यक्ति की मदद करने से हम सभी को रोकते हैं. पुलिस और सरकारें बार-बार कहती हैं कि एक्सीडेंट में घायल व्यक्ति की मदद करना मानवता की सेवा है और ऐसा करने पर आपको पुलिस परेशान नहीं करेगी. इसके बावजूद आम लोग डर के मारे घायल को अस्पताल पहुंचाने में कतराते हैं. अब केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने इसके लिए एक अनूठी पहल की है.

सड़क मंत्रालय ने बताया कि उसने सड़क दुर्घटना के पीड़ितों को गंभीर चोट लगने के एक घंटे के भीतर अस्पताल पहुंचाने वाले मददगारों के लिए एक खास योजना शुरू की है. मंत्रालय ने बताया कि सड़क हादसे में घायल को अस्पताल पहुंचाने वाले व्यक्ति को 5000 रुपए का नकद पुरस्कार दिया जाएगा.

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रधान सचिवों और परिवहन सचिवों को लिखे पत्र में कहा कि यह योजना 15 अक्टूबर 2021 से 31 मार्च 2026 तक प्रभावी होगी. मंत्रालय ने नेक मददगार को पुरस्कार देने की योजना’ के लिए दिशानिर्देश जारी किए.

मंत्रालय ने कहा कि इस योजना का मकसद आपात स्थिति में सड़क दुर्घटना पीड़ितों की मदद करने के लिए आम जनता को प्रेरित करना है. नकद पुरस्कार के साथ एक प्रमाण पत्र भी दिया जाएगा. मंत्रालय ने कहा कि इस पुरस्कार के अलावा राष्ट्रीय स्तर पर 10 सबसे नेक मददगारों को एक-एक लाख रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा.

क्या होता है गोल्डन आवर?
स्वर्ण घंटे (गोल्डन आवर) पर बताया गया है कि मोटर वाहन अधिनियम के धारा 2 (12ए) के अनुसार स्वर्ण घंटे का मतलब वह एक घंटे का समय है, जो व्यक्ति को दर्दनाक चोट लगने के बाद का एक घंटा होता है. इस एक घंटे के दौरान घायल या घायलों को शीघ्र अस्पताल पहुंचाया जाता है ताकि उसकी जान बच सके या बचने की संभावना होती है.

वहीं बिजनौर के पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने गुड सेमरिटन योजना की जानकारी देते हुए बताया कि योजना के तहत घायलों को निकटतम अस्पताल में पहुंचाने पर किसी भी नागरिक को 5000 रुपए का पुरस्कार दिया जाता है। सभी थाना क्षेत्रों में योजना का प्रचार-प्रसार किया गया है। बताया कि अभी तक कोई भी इसके लिये आगे नहीं आया है।

तीन युवक गंगा में डूबे, तलाश जारी

बिजनौर। बास्टा के मोहल्ला बेनियोवाला निवासी एक ही परिवार के तीन युवक गंगा नदी पर बने पुल के पास नहाते समय डूब गए। सूचना पर पुलिस व सैकड़ों लोग गंगा पर एकत्र हो गए।


जलीलपुर क्षेत्र में गंगा पुल के सहारे नहाने को उतरे बास्टा के चार युवक डूब गये। एक युवक को बचा लिया गया, जबकि तीन पानी में समा गये। डूबे युवकों की तलाश में स्थानीय गोताखोर तलाश में जूट गए।

सूचना पर पहुंची  हस्तिनापुर पुलिस व पांडव नगर पुलिस ने बचाव कार्य शुरू कर दिया।
बताया गया है कि फारूख पुत्र नसीम (18 वर्ष) वाजिद पुत्र तौला (21 वर्ष) एवं फुरकान पुत्र शामीम (17 वर्ष) मोबाइल फोन से सेल्फी ले रहे थे। उसी समय ये हादसा हो गया।


इनमें से फारूख व फुरकान ‌दिल्ली में वैल्डिंग रंग पेंटर तथा वाजिद एक फाइनेंस कंपनी में काम करता था। तीनों आपस में तहेरे चचेरे भाई बताए गए हैं।

एक दिन पहले कोटद्वार की खोह नदी में डूबने से हुई चार की मौत

इससे एक दिन पहले उत्तराखंड में पौड़ी गढ़वाल जिले के कोटद्वार में जिला बिजनौर के सराय नगीना निवासी चार युवकों की खोह नदी में कोटद्वार-दुगड्डा मार्ग के बीच डूबकर मौत हो गई। मौके पर पहुंची कोटद्वार पुलिस ने शवों को अपने कब्जे में लेकर बेस अस्पताल कोटद्वार भेज दिया।  कोटद्वार कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक विजय सिंह ने बताया कि घटना शाम 5 बजे कोटद्वार दुगड्डा मार्ग पर दुर्गा देवी मंदिर के समीप हुईं।

दो की हालत गंभीर
प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि, आसपास के लोगों ने इसकी सूचना 112 पर दी। मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने 6 लोगों को रेस्क्यू कर बाहर निकाला। इस घटना में 4 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 2 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। इनके साथ दो बच्चे भी थे जो नहा नहीं रहे थे। घटना में नदीम (42) पुत्र अनीश, जेब (29) पुत्र शाहिद, गुड्डू (24) पुत्र शाहिद निवासी निकट पुलिस चौकी नगीना बिजनौर यूपी और गालिब (15) पुत्र खालिद निवासी सीसी सराय नगीना बिजनौर यूपी की मौके पर मौत हो गई।

पहले भी डूब चुके हैं लोग
वन विभाग और पुलिस लगातार खोह नदी में लोगों को नहाने और आखेट को लेकर चेतावनी जारी करते रहते हैं लेकिन लोगों पर चेतावनी का फर्क नहीं पड़ता और इस तरह के हादसे होते जाते हैं। जानकारों का मानना है कि खोह नदी में स्थान-स्थान पर भंवर हैं, जिनमें फंसकर इससे पहले भी लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

मंदिर की रथयात्रा में करंट से 11 की मौत, 15 घायल

नई दिल्ली (एजेंसी)। तमिलनाडु के तंजावुर जिले में एक मंदिर से आज सुबह निकाले गए रथ जुलूस के दौरान करंट लगने से बच्चों समेत 11 लोगों की मौत हो गई और 15 अन्य घायल हो गए।

पुलिस के अनुसार यह घटना उस समय हुई जब लोग कालीमेडु के अप्पार मंदिर से निकाली गई जिस पालकी पर खड़े थे, वह एक हाई-ट्रांसमिशन लाइन के संपर्क में आ गई।

तंजावुर पुलिस के अनुसार, कालिमेदू में अप्पार मंदिर से रथयात्रा निकाली जा रही थी। मुड़ने की जगह पर ऊपर बिछे तारों के जाल की वजह से रथ को आगे नहीं ले जाया जा सका। जैसे ही रथ को पीछे किया गया, उसका संपर्क हाई-टेंशन लाइन से हो गया और और करंट पूरे रथ पर फैल गया। घटना में कुछ बच्चों की भी जान जाने की बात सामने आई है। 

घटना में गंभीर रूप से घायल तीन लोगों को तंजावुर के ही मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन मौके पर पहुंच गया और राहत व बचाव कार्य शुरू किया। करंट की चपेट में आने से रथ जलकर राख हो गया है।

PM ने जताया शोक; मुआवजे की घोषणा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि तमिलनाडु के तंजावुर जिले में हुए हादसे से बेहद दुखी हूं। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। उन्होंने हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिवार वालों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दो-दो लाख रुपये देने की घोषणा भी की। घायलों को 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे। 

इलेक्ट्रिक स्कूटरों की गहन जांच कराएगी ओला वापस मंगाए 1,441 यूनिट्स

इलेक्ट्रिक स्कूटरों में आग की घटनाओं पर ओला गंभीर। गहन जांच को वापस मंगाए 1,441 स्कूटर

इलेक्ट्रिक स्कूटरों में आग की घटना: ओला ने 1,441 स्कूटर वापस मंगाए, होगी गहन जांच

नई दिल्ली (एजेंसी) इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने की घटनाओं के मद्देनजर ओला ने अपने इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों की 1,441 यूनिट को वापस मंगाया है। कंपनी ने कहा है कि पुणे में 26 मार्च को हुई आग की घटना की जांच जारी है और प्रारंभिक मूल्यांकन में पाया गया कि यह एक अलग घटना थी।

आग लगने के सही कारण और इसमें बेहतर क्या किया जा सकता है; इसे लेकर जांच की जा रही है। ओला इलेक्ट्रिक की तरफ से कहा गया है कि इन स्कूटरों का हमारे सर्विस इंजीनियरों द्वारा निरीक्षण किया जाएगा। इसके तहत सभी बैटरी सिस्टम, थर्मल सिस्टम के साथ-साथ सुरक्षा प्रणालियों की जांच की जाएगी। इससे पहले इलेक्ट्रिक स्कूटर मेकर ओकिनावा ऑटोटेक ने भी अपने 3215 व्हीकल्स को आग लगने की घटनाओं के बाद वापस ले लिया था।

विदित हो कि हाल ही में देश के विभिन्न हिस्सों में इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों में आग लगने की व्यापक घटनाएं हुई हैं। इसे लेकर भारत सरकार भी सख्त है और उसने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं।

ई-स्कूटर की बैटरी फटने से एक की मौत

ई-स्कूटर लोगों के लिए मौत की आहट, बैटरी फटने से मैच हाहाकार, एक की मौत

विजयवाड़ा (एजेंसी)। आंध्र प्रदेश में शनिवार को एक घर में इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहन की बैटरी फटने से एक व्यक्ति की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गए। यह घटना शनिवार तड़के विजयवाड़ा में हुई जब शख्स ने बेडरूम में बैटरी को चार्ज पर लगा रखा था।

इस घटना में शिव कुमार, उनकी पत्नी और उनके दो बच्चे झुलस गए। उनकी चीखें सुनकर पड़ोसी उन्हें बचाने के लिए दौड़े और उन्हें अस्पताल ले गए, जहां शिव कुमार ने दम तोड़ दिया, जबकि उनकी पत्नी की हालत गंभीर बताई जा रही है। व्यक्ति ने कथित तौर पर शुक्रवार को बूम मोटर्स का कॉर्बेट 14 इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदा था। एक हफ्ते से भी कम समय में तेलुगू राज्यों में यह दूसरी घटना है। तेलंगाना के निजामाबाद जिले में 19 अप्रैल को इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहन की बैटरी फटने से एक 80 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई थी और दो अन्य घायल हो गए थे।

घटना उस घर में हुई जहां बैटरी चार्ज हो रही थी। इस घटना में बी. रामास्वामी की मौत हो गई, जबकि उनके बेटे बी. प्रकाश और बेटी कमलाम्मा उन्हें बचाने की कोशिश में झुलस गए। बाद में उन्हें एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने प्योर ईवी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 304ए (लापरवाही से मौत) के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। प्योर ईवी ने इस घटना पर गहरा खेद जताते हुए एक बयान जारी किया और कहा कि वह स्थानीय अधिकारियों के साथ सहयोग कर रहा है और उपयोगकर्ता से विवरण मांग रहा है। देश में इस तरह की कई घटनाओं ने बैटरी की सुरक्षा को लेकर चिंता पैदा कर दी है। हाल के महीनों में अलग-अलग घटनाओं में तीन प्योर ईवी स्कूटर और कुछ अन्य निर्माताओं के इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लग गई। इसके बाद कंपनी ने अपने इलेक्ट्रिक स्कूटर्स के लिए रिकॉल किया है। वहीं, पिछले हफ्ते भारत के टॉप इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर निर्माता कंपनी ओकिनावा ऑटोटेक के इलेक्ट्रिक स्कूटर में भी आग लगने की घटना सामने आई थी, जिसके बाद कंपनी ने 3,000 से ज्यादा यूनिट्स को वापस बुला लिया था।

हो सकती है ईवी कंपनियों पर कार्रवाई

ईवी में आग लगने की संभावित घटनाएं हो सकती हैं, जिसको लेकर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने खराब इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के खिलाफ कड़ा रुख अपनाया है। गडकरी ने एक बयान में कहा कि मामले की जांच के लिए गठित विशेषज्ञ पैनल की रिपोर्ट मिलने के बाद केंद्र सरकार चूक करने वाली कंपनियों पर कड़ी कार्रवाई करेगी।

अंतिम संस्कार में गया युवक ग॑गा में डूबा, तलाश जारी

बिजनौर। धामपुर तहसील अंतर्गत बास्टा क्षेत्र का एक युवक ग॑गा में डूब गया। वह अपने गांव की एक महिला के अन्तिम संस्कार में शामिल होने अमरोहा गया था। समाचार लिखे जाने तक पुलिस गोताखोरों की मदद से उसकी तलाश में जुटी थी।

जानकारी के अनुसार गुरुवार रात ग्राम बाड़ीवाला में रामपाल सिंह की पत्नी कमला देवी (55 वर्ष) का निधन हो गया था। गांव निवासी सोमपाल सिंह सैनी (35 वर्ष) पुत्र अमर सिंह शुक्रवार को महिला के अन्तिम संस्कार में शामिल होने देवी पुरा गंगा घाट (अमरोहा) गया था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार इसी दौरान नहाते समय सोमपाल गंगा में डूब गया। साथ के लोगों ने उसे काफी तलाशा और असफल होने पर पुलिस को सूचना दी। समाचार लिखे जाने तक पुलिस गोताखोरों की मदद से उसकी तलाश कर रही थी। वहीं उसके साथ गए अधिकांश लोग वापस गांव पहुंच गए। परिजनों का कहना है कि सोमपाल के तीन पुत्रियां व एक पुत्र समेत भरा-पूरा परिवार है। घटना को लेकर परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

डैम की नहर में डूबने से दो छात्रों की मौत

बिजनौर। अफजलगढ़ क्षेत्र के तुमरिया डैम की नहर में नहाने के दौरान डूबने से दो छात्रों की मौत हो गई। घटना से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

लवप्रीत सिंह (16 वर्ष) पुत्र निर्मल सिंह निवासी गांव बढ़ियोवाला जसपुर (उत्तराखंड) मारिया स्कूल में कक्षा 10 का छात्र था तथा लवजीत सिंह (17 वर्ष) निवासी गांव रानी नांगल थाना रेहड के खालसा एकेडमी में कक्षा 10 का छात्र था। दोनों छात्र आपस में दोस्त थे। लवप्रीत स्कूल से परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र लेने गया था। स्कूल से प्रवेश पत्र लेकर स्कूल की दो छात्राओं एवं तीन अन्य दोस्तों के साथ प्रातः 10 बजे घूमने और तुमरिया डैम में नहाने के लिए गए थे। डैम से निकल रही नहर में पांचों दोस्त नहाने लगे। दोनों छात्राएं किनारे पर बैठी रही। लवप्रीत सिंह गहरे गड्ढे में चला गया और डूबने लगा। दोस्त को डूबता देख उसे बचाने के लिए लवजीत सिंह भी आगे बढ़ गया। वह तैरना में नहीं जानता था। गहरे पानी में चले जाने के कारण वह भी डूब गया। स्नान कर रहे दोस्त घबरा गए और उन्होंने भागकर पास ही स्थित एक दुकान स्वामी को घटना की जानकारी दी। दुकानदार के पुत्र ने छात्रों को नहर से निकालने का प्रयास किया किंतु सफल नहीं हो सका। उसने ग्रामीणों को सूचना दी ग्रामीणों ने दोनों के शवों को बाहर निकाला। दुकान स्वामी ने घटना की जानकारी छात्रों के परिजनों को दी। परिजनों में कोहराम मच गया और घटनास्थल की ओर दौड़ गए। पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

नंदी स्वीट्स के सामने शीरे से भरा टैंकर पलटा

बिजनौर। शीरे से भरा एक टैंकर बैराज रोड आरजेपी इंटर कॉलेज के बाहर नंदी स्वीट्स के सामने दुर्घटनाग्रस्त हो गया। आज देर रात हुई इस दुर्घटना के कारण आसपास के सभी दुकानदारों एवं राहगीरों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कुछ लोग घोड़ा बग्गी व अन्य वाहनों में खाली ड्रम ला करके उसमें शीरे को भरकर ले जा रहे हैं। पुलिस प्रशासन की ओर से व्यवस्था सुचारू करने के इंतजाम किए जा रहे हैं। मौके पर लोगों की भीड़ लगी हुई है। दुकानदारों में अपने व्यापार के बुरी तरह प्रभावित होने से मायूसी छाई हुई है। गनीमत रही कि यह हादसा दिन में नहीं हुआ, अन्यथा बेहद ही भीड़भाड़ वाले इस क्षेत्र में मंजर भयानक होता।

स्कूटी सवार शिक्षिका की दुर्घटना में दर्दनाक मौत

बिजनौर। कोचिंग के लिए जा रही स्कूटी सवार शिक्षिका को सामने से आ रही एक ट्रैक्टर ट्राली टक्कर मार दी। दुर्घटना में घायल शिक्षिका को तत्काल ही निकट के निजी अस्पताल ले जाया गया। चिकित्सक ने उसे सरकारी अस्पताल ले जाने की सलाह दी। इस दौरान अत्यधिक खून बहने के कारण शिक्षिका की मौत हो गई। पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

धामपुर थाना क्षेत्र के रानी बाग कॉलोनी निवासी शिवांगी पांडे (24 वर्ष) पुत्री मनोज पांडे नगर के पंजाबी कालोनी स्थित वेरिएंट कोचिंग सेंटर पढ़ाती है। बताया जाता है कि रोजाना की तरह आज भी शिवांगी अपनी स्कूटी पर सवार होकर कोचिंग सेंटर जा रही थी। जब वह चंपा देवी मंदिर के पास पहुंची तो सामने से आ रही एक ट्रैक्टर ट्राली से उसकी स्कूटी की आमने-सामने टक्कर हो गई, जिसके चलते सड़क पर गिरकर उसके ऊपर से ट्रैक्टर का पहिया गुजर गया। हादसे में वह गंभीर रूप से घायल हो गई। शोर सुनकर जमा हुए आसपास के लोग उसे तत्काल ही प्राइवेट नर्सिंग होम में ले गए। जहां चिकित्सक ने उसे भर्ती करने से इंकार कर दिया। इसके बाद उसे उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही मृतका के परिजनों में कोहराम मच गया। मृतका के पिता मनोज पांडे अपनी पत्नी के साथ अस्पताल पहुंचे और घटना के बारे में जानकारी की। पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। साथ ही आरोपी ट्रैक्टर ट्राली चालक को पुलिस हिरासत में लेकर थाने भेज दिया।

स्कॉर्पियो कार से भिड़ंत में बाइक सवार की मौत

बिजनौर। स्कॉर्पियो कार और बाइक की आमने-सामने की हुई भिड़ंत में एक युवक की मौत हो गई। एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायल को उपचार हेतु सीएचसी पहुंचाया। घायल को चिंताजनक हालत में जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। पुलिस ने स्कॉर्पियो को अपने कब्जे में ले लिया है, जबकि चालक मौके से फरार हो गया।

नगीना नगर के मोहल्ला कस्बा निवासी अर्जुन सैनी (26 वर्ष) पुत्र मुन्नू सिंह का 9 माह पूर्व ही विवाह हुआ था। अर्जुन सैनी मंगलवार की देर रात 9 बजे करीब अपने जीजा सुशील पुत्र रामपाल सैनी (45 वर्ष) बाइक द्वारा उनके घर कोटकादर छोड़ने जा रहा था। कोटकादर के पास पुलिया पर उसकी बाईक की सामने आ रही स्कॉर्पियो कार से आमने सामने की भीषण टक्कर हो गई। अर्जुन की मौके पर ही मौत हो गई तथा उसके जीजा रामपाल गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना पर पहुंची नगीना देहात पुलिस ने एंबुलेंस की मदद से मृतक और घायल को सीएचसी पहुंचाया। सूचना पर मृतक के परिजन और सैकड़ों मोहल्लेवासी सीएचसी पहुंचे। सीएचसी प्रभारी डॉक्टर नवीन चौहान ने अर्जुन को अर्जुन को मृत घोषित कर दिया तथा गंभीर रूप से घायल रामपाल सिंह को प्राथमिक उपचार के बाद चिंताजनक हालत में जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। रायपुर देहात पुलिस ने मृतक का पंचनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने पीड़ित की तहरीर पर मामला दर्ज कर अग्रिम कार्रवाई शुरू करते हुए स्कॉर्पियो को अपने कब्जे में ले लिया है। घटना से मृतक और घायल के परिजनों में कोहराम मच गया है।

पेट्रोल पंप के अंडरग्राउंड टैंक की दीवार गिरी; एक मजदूर की मौत, दो गंभीर

बिजनौर शहर के चक्कर मार्ग स्थित जय भीम फिलिंग स्टेशन पर हुआ हादसा। पेट्रोल पंप पर तेल के अंडर ग्राउंड टैंक की दीवार गिरने से एक मजदूर की मौत; दो मजदूर गंभीर घायल। गुस्साए परिजनों ने लगाया सड़क पर जाम। पुलिस को करना पड़ा हल्का बल प्रयोग। पेट्रोल पंप मालिक एवं मजदूरों के ठेकेदार के खिलाफ थाना शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज।

बिजनौर। चक्कर मार्ग स्थित जय भीम फिलिंग स्टेशन के भूमिगत टैंक को दूसरी जगह शिफ्ट करने के दौरान हुए हादसे में एक मजदूर की मौत हो गई, जबकि दो अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। गुस्साए परिजनों ने सड़क पर जाम लगा दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर भीड़ पर काबू पाया। पेट्रोल पंप के मालिक एवं मजदूरों के ठेकेदार समेत दो लोगों के खिलाफ थाना शहर कोतवाली में गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

बिजनौर शहर के चक्कर मार्ग स्थित जय भीम फिलिंग स्टेशन के भूमिगत टैंक को दूसरी जगह शिफ्ट करने का काम चल रहा है। बताया गया है कि शनिवार को चार मजदूर इस टैंक के चारों से ओर मिट्टी खोदकर बाहर निकाल रहे थे। दोपहर बाद टैंक के चारों ओर बनी दीवार अचानक भरभरा कर गिर पड़ी। दीवार के मलबे और मिट्टी में गांव सालमाबाद निवासी दीपक (25 वर्ष) पुत्र नौबहार सिंह, अश्वनी पुत्र भीकम सिंह तथा गोलू पुत्र राकेश निवासी गोपालपुर थाना भौजीपुरा बरेली दब गए। तीन मजदूरों के दीवार के मलबे में दबते ही हड़कंप मच गया। थाना शहर कोतवाली पुलिस भी मौके पर पहुंची। पुलिस और ग्रामीणों ने मलबा हटाकर तीनों मजदूरों को बाहर निकाला। अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकों ने दीपक को मृत घोषित कर दिया, जबकि अश्वनी और गोलू की हालत गंभीर देखते हुए हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। गुस्साए परिजनों और गांववालों ने पेट्रोल पंप पर तोड़फोड़ का भी प्रयास किया। परिजन और ग्रामीण चक्कर मार्ग पर बैठ गए और जाम लगा दिया। करीब आधा घंटा तक जाम लगा रहा।

सीओ, कोतवाल ने दिया आश्वासन- सीओ सिटी कुलदीप गुप्ता और प्रभारी निरीक्षक राधेश्याम पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने कार्रवाई का आश्वासन देकर लोगों को शांत किया और जाम खुलवाया। मामले में पेट्रोल पंप के मालिक लल्लन उर्फ अरविंद निवासी बुखारा और मजदूरों के ठेकेदार अख्तर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। आरोप है कि टैंक की खोदाई के लिए पर्याप्त सुरक्षा के इंतजाम नहीं किए गए थे। प्रभारी निरीक्षक राधेश्याम ने बताया कि मामले में रिपोर्ट दर्ज करने के साथ ही जांच शुरू कर दी गई है।

शमशाद अंसारी ने पेश की मानवता की मिसाल- सोशल मीडिया व अन्य माध्यम से यह घटना जंगल में आग की तरह फैल गई। कुछ ही देर में लोग मौके पर एकत्र हो गए। दीपक को बचाने के लिए सभी प्रयास कर रहे थे।  घटना की जानकारी मिलते ही चेयरपर्सन पति शमशाद अंसारी भी मौके पर पहुंच गए और दीपक को निकालने का प्रयास करते लोगों के साथ खुद भी जुट गए। तीनों मजदूर न तो बिजनौर के निवासी थे, जिनसे वोटों का लालच हो और न ही बिरादरी अथवा धर्म के, लेकिन इस सबसे ऊपर उठकर शमशाद अंसारी अपना सामाजिक व राजनीतिक धर्म निभाते दिखे। वहीं दूसरी और सदर विधानसभा सीट से निवर्तमान एवं भावी विधायकों, जनप्रतिनिधियों ने संवेदनहीनता की पराकाष्ठा दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

जंगली हाथी ने हमला कर राजगीर को उतारा मौत के घाट

कालागढ़ में सनसनीखेज घटना। जंगली हाथी ने हमला कर राजगीर को उतारा मौत के घाट।


बिजनौर। कालागढ़ में जंगली हाथी ने हमला कर राजगीर को मौत के घाट उतार दिया। घटना के समय वह बाजार से घर वापस लौट रहा था। परिजनों ने वन विभाग के अधिकारियों से अधिक से अधिक मुआवजा और एक सरकारी नौकरी दिलाने की मांग की है।

मानव एवं वन्यजीव संघर्ष की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। वन्य जीवों के हमले में पहले भी कई लोगों की जान जा चुकी हैं। एक और मामला कालागढ़ से सामने आया है। यहां बाजार से वापस घर जाते समय एक व्यक्ति पर हाथी ने हमला कर दिया, जिससे व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया, उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।


जानकारी के अनुसार कालागढ़ कालोनी निवासी सुरेश कुमार राजगीर का कार्य करता है। वह बाजार से घर वापस जा रहा था। रास्ते मे शिव मंदिर के पास झाड़ियों से हाथी निकला और सुरेश पर हमला कर दिया। मौके से गुजर रहे लोगों द्वारा हल्ला मचाने पर हाथी वहां से जंगल की ओर भाग गया। गंभीर रूप से घायल सुरेश को उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां कुछ देर बाद ही उसकी मौत हो गई। सुरेश की मौत से परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया है।
वहीं परिजनों ने वन विभाग के अधिकारियों से अधिक से अधिक मुआवजा और एक सरकारी नौकरी दिलाने की मांग की है। कालागढ़ थाना इंचार्ज उमेश कुमार ने बताया कि सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति की हाथी के हमले से मौत हो गई है। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भर कर  पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है; अन्य जांच पड़ताल कराई जा रही है।

दोपहिया वाहनों पर बच्चों की सवारी के नए नियम

नई द‍िल्‍ली (एजेंसी)। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की तरफ से बच्‍चों के ल‍िए रोड सेफ्टी की नई गाइडलाइंस जारी की गई है। इसके बाद से अब बाइक पर 9 महीने से चार साल तक के बच्‍चों को सफर करवाने के लिए लोगों को नई गाइडलाइंस का पालन करना होगा। वहीं, नियमों का पालन न करने वाले को जुर्माना भरना पड़ सकता है। 

Children on Motorcycle: What Are the Govt's New Draft Rules for Their  Safety?

नए नियमों के मुताबिक 9 महीने से 4 साल तक के बच्चों के बाइक पर सफर करने के दौरान सेफ्टी हार्नेस लगाना जरूरी होगा। सेफ्टी हार्नेस हल्का, वॉटरप्रूफ और कुशन से लैस होना चाहिए, ज‍िसमें बच्‍चे को आराम म‍िल सके। साथ ही इसकी क्षमता 30kg तक भार वहन करनी की होनी चाह‍िए। इसके साथ ही बच्चों को बाइक पर सफर करने के दौरान उनके नाप का हेल्मेट भी लगाना होगा। बच्चों के साथ बाइक पर यात्रा के दौरान अध‍िकतम स्पीड 40 km/hr से अधिक नहीं होनी चाह‍िए। हालाँकि, बच्चों के हेल्मेट के लिए BIS अलग से स्टैंडर्ड जारी करेगा। तबतक छोटे हेल्मेट, या साइकिल हेल्मेट का प्रयोग किया जा सकता है।

लिंटर का ढुल्ला खोलते समय नीचे गिरने से मजदूर की मौत परिवार में मचा कोहराम

बिजनौर। नूरपुर के फतेहाबाद रोड पर विकास कॉलोनी में नवनिर्मित मकान के लिंटर का ढुल्ला खोलते समय एक मजदूर करीब 20 फीट की ऊंचाई से नीचे गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल मजदूर को आनन-फानन में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। मौत की सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए बिजनौर भेज दिया।


जानकारी के अनुसार अमरोहा जनपद के गांव पत्थर कुटी थाना धनोरा निवासी 32 वर्षीय नेपाल सिंह पुत्र भूप सिंह फतेहाबाद मार्ग स्थित सुनील कुमार के नवनिर्मित मकान में मजदूरी पर काम कर रहा था। सुनील कुमार के इस नवनिर्मित मकान के निर्माण का ठेका गांव पत्थर कुटी धनोरा के ही रामपाल पुत्र बलवीर सिंह ने ले रखा था। मंगलवार को नेपाल सिंह उक्त मकान की दो मंजिला इमारत का लिंटर खोल रहा था। करीब 1:00 बजे वह लिंटर खोलते समय करीब 20 फीट नीचे स्थित सड़क पर आकर धड़ाम से गिर गया, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल अवस्था में नेपाल को आनन-फानन में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर उपचार के लिए ले जाया गया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर मृतक के परिजन सरकारी अस्पताल पहुंचे तो परिवार में कोहराम मच गया। उधर सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची तथा शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए बिजनौर भेज दिया। मृतक के भाई राजेश की ओर से घटना के संबंध में थाने में लिखित तहरीर दी गई है। मृतक अपने पीछे पत्नी एवं दो पुत्रों को रोते बिलखते छोड़ गया।

मृतक के परिजनों को प्रथमा यू० पी० ग्रामीण बैंक व फ्यूचर जेनेरली ने दिया चैक

संभल। भवानीपुर स्थित प्रथमा यू० पी० ग्रामीण बैंक द्वारा दुर्घटना में मृतक के परिजनों को दुर्घटना बीमा की 2 लाख रुपए की चनराशि का चैक दिया गया।

थाना हजरत नगर गढ़ी के गाँव कासमपुर निवासी दुजेन्द्र सिंह की दुर्घटना मे मृत्यु हो गई थी। शाखा प्रबन्धक संदीप कुमार सिंह ने बताया कि मृतक का कृषि कार्ड चल रहा था। इसके तहत मृतक के परिजनों को फ्यूचर जेनेरली इण्डिया इन्श्योरेश कम्पनी द्वारा दुर्घटना बीमा के रूप में इलाज का 2 लाख रुपए का चैक दिया गया। चैक प्राप्त कर मृतक के परिजनों ने बैंक प्रबंधक सहित बीमा कम्पनी की सराहना की। इस मौके पर बीमा कम्पनी के गौरव अग्रवाल, आशिन अग्रवाल, रजत शर्मा व प्रथमा यू०पी० ग्रामीण बैंक भवानीपुर के शाखा प्रबंधक मौजूद रहे।

वैष्णो देवी हादसा- जम्मू से लेकर गोरखपुर तक कोहराम

वैष्णो देवी मंदिर में शनिवार तड़के मची भगदड़ के बाद जम्मू से लेकर गोरखपुर तक कोहराम मच गया है। इस हादसे में कई परिवानों ने अपने प्रियजनों को खो दिया। माता वैष्णो का आशीर्वाद लेने गए परिजनों की मौत की खबर मिली तो लोग हाल-बेहाल हो गए। देश भर से लोग अपने परिजनों का हाल जानने के लिए संपर्क कर रहे हैं। जम्मू-कश्मीर प्रशासन की ओर से जारी हेल्पलाइन नंबरों पर लोग कॉल करके अपने परिजनों का हाल ले रहे हैं। इसके अलावा मदद की गुहार भी लगा रहे हैं। हादसे में जान गंवाने वाले 12 लोगों में से अब तक 11 की पहचान हो पाई है, जिनमें गाजियाबाद की रहने वाली श्वेता सिंह, गोरखपुर के अरुण कुमार सिंह समेत देश के कई राज्यों के लोग शामिल हैं। 

हिंदुस्तान की रिपोर्ट के अनुसार हादसे में जान गंवाने वाले लोगों की पहचान इस प्रकार है...

1- श्वेता सिंह, उम्र-35
पति का नाम- विक्रांत सिंह
गाजियाबाद

2-डॉ अरुण प्रताप सिंह, उम्र- 30
पिता का नाम- सत प्रकाश सिंह
गोरखपुर 

3-वनीत कुमार, उम्र- 38
पिता का नाम- वीरमपाल सिंह
सहारनपुर

4-धरमवीर सिंह, उम्र-35 
सहारनपुर

5- विनय कुमार, उम्र- 24
पिता का नाम- महेश चंद्र
भादेरपुर, दिल्ली

6-सोनू पांडेय, उम्र-24
पिता का नाम- नरिंदर पांडेय
भादेरपुर, दिल्ली

7-ममता, उम्र- 38
पति का नाम- सुरिंदर 
बीरी झज्जर, हरियाणा

8- धीरज कुमार, उम्र- 26
पिता का नाम- तरलोक कुमार
राजौरी, जम्मू- कश्मीर 

vaishno devi news in hindi

9. सोनू शर्मा, उम्र- 32
पिता का नाम- फेरूमल,
पता- मोहल्ला नया दादरी, गौतमबुद्धनगर, यूपी

10.  महिंदर गौर, उम्र-26
पिता का नाम- शिव कुसम
पता- कानपुर, यूपी

11.  नरेंद्र कश्यर, उम्र-40
पिता का नाम- सुहाब
पता- कानपुर, यूपी

मदद या परिजनों से संपर्क के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी

हादसे में मृत अन्य लोगों की पहचान के लिए प्रशासन की ओर से प्रयास किए जा रहे हैं। श्राइन बोर्ड की ओर से दो हेल्पलाइन नंबर 01991-234804 और 01991-234053 जारी किए गए हैं। इसके अलावा प्रशासन से भी संपर्क कर स्थिति के बारे में पता लगाया जा सकता है। पीसीआर कटरा की ओर से दो नंबर 01991232010/ 9419145182 जारी किए गए हैं। पीसीआर रियासी से 0199145076/  9622856295 नंबरों पर कॉन्टेक्ट किया जा सकता है। रियासी के जिलाधिकारी के कंट्रोल रूम के नंबर 01991245763/ 9419839557 भी साझा किए गए हैं। इन नंबरों पर कॉल करके लोग वैष्णो देवी की यात्रा पर गए अपने परिजनों के बारे में जान सकते हैं और किसी भी तरह की मदद के लिए भी संपर्क कर सकते हैं। 

माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़, 12 की मौत

माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़, मृतकों की संख्या बढ़कर 12 हुई; नए साल पर दर्शन के लिए आए थे श्रद्धालु

माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़, मृतकों की संख्या बढ़कर 12 हुई; नए साल पर दर्शन के लिए आए थे श्रद्धालु - India TV Hindi
IndiaTV Hindi Desk

नए साल की शुरुआत के साथ ही जम्मू-कश्मीर से बुरी खबर आ रही है। वैष्णो देवी मंदिर परिसर में भगदड़ मचने से बड़ा हादसा हो गया है।

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में बड़ा हादसा हो गया है। माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ मच गई है। इसमें अब तक 20 लोगों के घायल होने की खबर है। ये सभी श्रद्धालु नए साल के दर्शन के लिए आए थे। इस हादसे में अब तक 12  लोगों के मारे जाने की खबर है। फिलहाल वैष्णो देवी यात्रा को स्थगित कर दिया गया है।

इंडिया टीवी की रिपोर्ट के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर दु:ख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है, माता वैष्णो देवी भवन में मची भगदड़ में लोगों की मौत से अत्यंत दुखी हूं; शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय जी से बात की और स्थिति का जायज़ा लिया। पीएम ने घोषणा की है कि माता वैष्णो देवी भवन में मची भगदड़ में जान गंवाने वालों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपए की अनुग्रह राशि दी जाएगी और घायलों को 50,000 रुपए दिए जाएंगे।

पुलिस नियंत्रण कक्ष रियासी ने जानकारी दी कि कटरा में माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ में घायल होने की सूचना है। बचाव अभियान जारी है। 

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रखंड चिकित्सा अधिकारी डॉ गोपाल दत्त ने कहा है कि में मची भगदड़ में 6 की मौत हो गई है। अभी ठीक संख्या नहीं कहा जा सकता है। उनका पोस्टमॉर्टम किया जाएगा। घायलों को नारायणा अस्पताल ले जाया जा रहा है, कुल घायलों की भी पुष्टि नहीं हुई है।

भाजपा के पूर्व नगर महामंत्री की एक्सीडेंट में मौत

भाजपा के पूर्व नगर महामंत्री की सडक़ हादसे में मौत
नहटौर (बिजनौर)। नमाज पढक़र लौट रहे भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के पूर्व नगर महामंत्री की सडक़ हादसे में मौत हो गई। उन को बाइक सवार ने टक्कर मार दी। परिजन प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर उपचार के लिये मुरादाबाद ले जा रहे थे कि उन्होंने रास्ते में दम तोड़ दिया। उनकी आकस्मिक मौत से परिजनों में कोहराम मच गया।


नगर के मोहल्ला जोशियान निवासी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के पूर्व नगर महामंत्री सुबहानुल हक अंसारी बीती देर सायं मस्जिद से नमाज पढ़ कर अपने घर लौट रहे थे। इसी दौरान एक बाइक सवार उनको टक्कर मार कर मौके से फरार हो गया। दुर्घटना में सुबहानुल हक अंसारी बुरी तरह से घायल हो गए। सूचना पर पहुंचे परिजनों ने नगर के ही एक निजी अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया। हालत नाजुक देखते हुए उन्हें हायर सेंटर रैफर कर दिया गया। परिजन उन्हें बेहतर उपचार के लिये मुरादाबाद ले जा रहे थे, तो उन्होंने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। सूचना पर नगर के भाजपाईयों व गणमान्य लोगों ने उनके आवास पर पहुंच कर उनके अंतिम दर्शन किये तथा शोकाकुल परिवार को ढांढस बंधाया।

उधर मृतक के परिजनों की ओर से मोहल्ला जोशियान के  मोनू पुत्र महेश सैनी तथा शुभम पुत्र नरेश सैनी निवासी के विरुद्ध तहरीर दी है। सिटी ईंचार्ज बब्लू सिंह ने बताया कि तहरीर के आधार पर जांच कर कार्यवाही की जायेगी।

बैंक प्रबंधक का अड़ियल रवैया; ग्रामीण को नहीं मिल पा रहा पुत्र का मृत्युपरांत क्लेम

बैंक प्रबंधक का अड़ियल रवैया;  ग्रामीण को नहीं मिल पा रहा पुत्र का मृत्युपरांत क्लेम

रौशनपुर प्रताप (कोतवाली देहात)। बैंक प्रबंधक के अड़ियल रवैये के कारण एक ग्रामीण को उसके पुत्र का मृत्युपरांत क्लेम नहीं मिल पा रहा है। मामला पंजाब नेशनल बैंक की शाखा कोतवाली देहात का है।

जानकारी के अनुसार  14 अक्टूबर 2021 को कोतवाली देहात थाना क्षेत्र अंतर्गत  ग्राम रौशनपुर प्रताप निवासी भगीरथ सिंह के पुत्र रजतपाल की एक्सीडेंट में मृत्यु हो गई थी। भगीरथ सिंह ने बताया कि  28 अक्टूबर को उसने पंजाब नेशनल बैंक की शाखा कोतवाली देहात पहुंच कर प्रबंधक को इस संबंध में प्रार्थना पत्र लिखकर दिया। पत्र में अवगत कराया कि उसके पुत्र के बैंक अकाउंट पर जारी एटीएम कार्ड से अक्टूबर के महीने में तीन बार ट्रांजेक्शन हुआ था। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के नियमानुसार एटीएम कार्ड धारक बीमित होता है, जिस पर परिजनों द्वारा दावा किया जा सकता है। आरोप है कि बैंक प्रबंधक इस संबंध में आवश्यक दावा परिपत्र (क्लेम फार्म) उपलब्ध नहीं करा रहे हैं।

ATM के साथ ये है शर्त

राष्ट्रीयकृत और गैर राष्ट्रीयकृत बैंकों के एटीएम कार्ड का उपयोग करने के 45 दिनों के भीतर मौत होने पर बीमा पॉलिसी के तहत संबंधित व्यक्ति के आश्रित मुआवजा के लिए क्लेम कर सकते हैं।

अगल-अलग कार्ड पर तय है बीमा राशि

बैंक कई तरह का एटीएम कार्ड ग्राहकों को देता है। कार्ड के अनुसार ही उन पर बीमा राशि तय की गई है। क्लासिक कार्ड पर एक लाख रूपये, प्लेटिनम पर दो लाख, मास्टर कार्ड पर 50 हजार रूपये जबकि मास्टर प्लेटिनम कार्ड पर पांच लाख रूपये तक का बीमा होता है। वहीं वीजा कार्ड पर डेढ़ से दो लाख रूपये तक बीमा लाभ मिलता है।

ट्रक की चपेट में आकर युवक की मौत

नूरपुर/बिजनौर। सोमवार को बिजनौर मार्ग पर सडक पार करते समय ट्रक की चपेट में आकर एक युवक की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार थानार्गत गांव गांवडी पनियाला निवासी चन्द्रपाल पुत्र मिस्त्री सिंह दवा लेने के लिए खजूरी आ रहा था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार खजूरी पहुंचने पर सडक पार करते समय बिजनौर की ओर से तेज गति से आ रहे ट्रक ने चपेट में ले लिया। परिणामस्वरूप उसकी मौके पर ही मौत हो गई। ग्राम प्रधान बिरेन्द्र यादव की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम के लिए बिजनौर मोर्चरी भेज दिया। पुलिस ने ट्रक को कब्जे में ले लिया है। घटना के संबंध में मृतक के भाई संजीव दिवाकर की ओर से रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

शाहजहांपुर में भरभरा कर गिरा 2 किलोमीटर लंबा पुल

शाहजहांपुर में गिरा रामगंगा नदी का पल। 11 करोड़ रुपए में बना 2 किलोमीटर लंबा पुल। आवागमन पूरी तरह से बंद।

शाहजहांपुर में अचानक गिरा 11 करोड़ रुपए में बना 2 किलोमीटर लंबा पुल, आवागमन पूरी तरह से बंद; देखें तस्वीरें

लखनऊ। यूपी के शाहजहांपुर में 2 किलोमीटर लंबा कोलाघाट पुल सोमवार तड़के अचानक गिर गया। इस हादसे में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है क्योंकि वहां वाहनों या लोगों की आवाजाही नहीं थी। इस पुल का निर्माण 11 साल पहले जलालाबाद थाने के कोला इलाके में रामगंगा नदी पर किया गया था। इसे लगभग 11 करोड़ रुपए की लागत से वर्ष 2002 में बनाया गया था, जो जलालाबाद को मिजार्पुर से जोड़ता है। पुल गिरने के बाद आल्हागंज के रास्ते यातायात को डायवर्ट कर दिया गया है।

यूपी : शाहजहांपुर में गिरा पुल, कोई हताहत नहीं - News Nation

पुल के गिरने से शाहजहांपुर से कलान तहसील से मुख्यालय का सीधा संपर्क कट गया है। यह दो किमी लंबा पुल शाहजहांपुर-बदायूं मार्ग पर बना हुआ था। दुर्घटना के बाद से अधिकारी मौके पर पहुंच गए। यह पुल रामगंगा और बहगुल नदी पर बना हुआ है। 

सडक हादसे में बाइक सवार की मौत, बाइक जलकर स्वाहा


नूरपुर (बिजनौर)। सोमवार की देर शाम बिजनौर मार्ग पर अज्ञात वाहन से टकराकर बाइक सवार की मौत हो गई। उसकी बाइक जलकर स्वाहा हो गई। घटना से परिजनों मे कोहराम मच गया।

विकुल का फाइल फोटो


हल्दौर थानार्गत गाँव पैजनिया निवासी 25 वर्षीय विकुल पुत्र आदेश सोमवार की देर शाम करीब साढे छह बजे बाइक द्वारा नूरपुर से अपने गांव जा रहा था। बताया जाता है कि बिजनौर मार्ग पर अहीरपुरा के पास अज्ञात वाहन ने बाइक को टक्कर मार दी। परिणामस्वरूप उसकी मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उसकी बाइक आग लगने से जलकर स्वाहा हो गई। पुलिस ने परिजनों के पहुंचने से पहले ही शव को पोस्टमार्टम के लिए बिजनौर भेज दिया। घटना की सूचना से परिजनों में कोहराम मच गया। बताया जाता है कि मृतक दो बच्चों का पिता था और गाजियाबाद में एक प्राईवेट कंपनी में कार्यरत था। वह गंगा स्नान पर छुट्टी लेकर घर आया था। घटना के संबंध में परिजनों की ओर से पुलिस मे तहरीर दी गई है।

छपरा-आनंद विहार एक्सप्रेस में आग बताकर पुरानी और असंबंधित तस्वीरें वायरल

छपरा-आनंद विहार एक्सप्रेस में आग बताकर पुरानी और असंबंधित तस्वीरें वायरल

बूम ने अपनी जांच में पाया कि वायरल तस्वीरों के कोलाज के साथ किये गए दावे में कोई सच्चाई नहीं है, यह फ़र्ज़ी है. वायरल तस्वीरें दूसरी घटना से संबंधित हैं.

व्हाट्सएप (WhatsApp) पर ट्रेन की बोगियों में आग की पुरानी तस्वीरों का एक कोलाज फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल है. तस्वीरों में ट्रेन की बोगियों से निकलती आग की लपटों को देखा जा सकता है और साथ दावा किया जा रहा है कि छपरा-आनंद विहार टर्मिनल एक्सप्रेस ट्रेन आपस में टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई हैं.

बूम ने अपनी जांच में पाया कि वायरल तस्वीरों के कोलाज के साथ किये गए दावे में कोई सच्चाई नहीं है, यह फ़र्ज़ी है. वायरल तस्वीरें दूसरी घटना से संबंधित हैं.

वायरल तस्वीरों के साथ कैप्शन में लिखा है, “अभी-अभी: छपरा , आनन्द विहार टरमिनल exp टकराई ,चलती ट्रेन से कूदे लोग…!भाइयों पिलिज आपके पास जितने भी group है पिलिज उसमें सेंनड करो. अरे भाई इस फोटो को सेंड करना नही भुलना सायद. किसी के घर. वाले मिल जाए”.

सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीरों का कोलाज पहले भी इसी दावे के साथ वायरल हो चुका है. फ़ेसबुक पर साल 2020 और 2018 में छपरा-आनंद विहार टर्मिनल एक्सप्रेस में एक्सीडेंट के दावे से कई पोस्ट शेयर किये गए थे.

फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया कि पांच तस्वीरों के इस कोलाज में दो ही अलग तस्वीरें हैं, बाकी एकसमान हैं. हमने इन दोनों तस्वीरों को अलग-अलग करके खोजबीन शुरू की.

पहली तस्वीर

न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर प्रकाशित 22 मई 2018 की एक रिपोर्ट में हमें यह तस्वीर मिली. रिपोर्ट में बताया गया कि ट्रेन की बोगियों में आग लगने की यह घटना नई दिल्ली-आंध्रप्रदेश एक्सप्रेस की है.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, नई दिल्ली- विशाखापट्टनम एपी एक्सप्रेस की दो बोगियों– B-6 और B-7 में ग्वालियर  बिरलानगर के क़रीब आग लग गई थी. आग लगने का कारण एयर कंडीशनिंग यूनिट में समस्या बताया गया था.

दूसरी तस्वीर 

हमें अपनी जांच के दौरान यह तस्वीर अलग-अलग घटनाओं से जोड़कर शेयर की हुई मिली. टीवी 9 ने अपनी 15 दिसंबर 2019 की एक रिपोर्ट में इस तस्वीर का इस्तेमाल किया है, वहीं इटारसी-नागपुर पैसेंजर ट्रेन टकराने का वर्णन करते 4 जून 2018 के एक ट्वीट में तस्वीर मिली.

आगे जांच के दौरान, ज़ी न्यूज़ की 21 मई 2018 की रिपोर्ट में वायरल तस्वीर से मेल खाता एक दृश्य मिला जोकि नई दिल्ली- आंध्रप्रदेश एक्सप्रेस में आग लगने की घटना से संबंधित है.

ज़ी न्यूज़ रिपोर्ट में 7 सेकंड की समयावधि पर दायीं ओर एक व्यक्ति को देखा जा सकता है जिसने हलके नीले रंग की शर्ट/कुर्ता और गले में सफ़ेद रंग का गमछा डाल रखा है, हूबहू वायरल तस्वीर में बायीं ओर दिखता है. (साभार)

ट्रक की टक्कर से बाइक सवार की मौत, साथी गंभीर


नूरपुर (बिजनौर)। मंगलवार की रात सवा नौ बजे नूरपुर अमरोहा मार्ग पर गांव लिंडरपुर में ट्रक की टक्कर से बाइक सवार की मौके पर मौत हो गई, जबकि दूसरा गंभीर घायल हो गया। उसे पीएचसी में प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रैफर किया गया है।
जानकारी के अनुसार चांदपुर के मोहल्ला सराय रफी निवासी राजकुमार और उसका साढू अमरोहा जनपद के धनौरा निवासी खेम सिंह मंगलवार की रात करीब सवा नौ भजे नूरपुर अमरोहा मार्ग स्थित गांव लिंडरपुर से एक शादी मे शामिल होकर वापस बाइक द्वारा घर जा रहे थे। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जैसे ही गांव से हाईवे पर चढे तभी विपरीत दिशा से आ रहे ट्रक ने बाइक को चपेट मे ले लिया। परिणामस्वरूप खेम सिंह की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि राजकुमार गंभीर रुप से घायल हो गया। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेने के बाद घायल को उपचार के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भिजवाया। चिकित्सकों ने उसकी हालत नाजुक देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रैफर कर दिया। पुलिस ने परिजनों के आने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

तीन युवाओं की मौत से गांव में छाया मातम 


नूरपुर (बिजनौर)। शनिवार को सड़क हादसे में तहेरे चचेरे भाई और सदमें में एक युवक की मौत से दौलतपुर बिल्लौच में तीन परिवारों पर दुःखों का पहाड़ टूट पडा।


नूरपुर थानार्गत गांव दौलतपुर बिल्लौच निवासी 27 वर्षीय इजाद पुत्र शाहरुख मिनी मैट्रो चलाकर परिवार का भरणपोषण करता था। उसका चचेरा भाई 22 वर्षीय इमरान पुत्र फारुख टैक्सी ड्राइवर था। शनिवार की देर शाम करीब सात बजे दोनों भाई मिनी मैट्रो से नौगावां सादात से रामगंगा पोषक नहर के रास्ते वापस घर आ रहे थे। रास्ते में गांव सेह के पुल के पास अज्ञात वाहन मैट्रो में टक्कर मारकर फरार हो गया। टक्कर लगने से दोनो भाई गंभीर रुप से घायल हो गये। सूचना पर शिवाला कलां पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने आजाद को मृत घोषित कर दिया। इमरान की हालत गंभीर देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रैफर कर दिया। अस्पताल पहुंचने से पहले ही इमरान ने भी दम तोड दिया। घटना से परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने दोनों शवों का पचनामा भरकर पोस्टमार्टम हेतु जिला अस्पताल भेज दिया। मृतक आजाद दो पुत्रों का पिता था जबकि इमरान अभी अविवाहित था।


सदमे में युवक की मौत
नूरपुर। आजाद और इमरान की मौत से जहां परिवारों में कोहराम मच गया। वहीं गांव में मातम छा गया। परिवार को ढांढस बंधाने वालों का तांता लग गया। गांव का ही 32 वर्षीय आरिफ पुत्र शाहिद भी परिवार को ढांढस बंधाने के लिए गया था। वह दोनों मृतकों के परिवारों के विलाप को बर्दाश्त नहीं कर पाया और घर पहुंचते ही गहरे सदमे में मौत के आगोश में सो गया। मृतक अपने पीछे तीन बच्चों सहित पूरे परिवार को रोता बिलखता छोड गया। उधर,चार घंटे के अंतराल में तीन युवाओं की मौत से पूरे गांव में मातम छा गया।
गांव के अधिकांश घरों के चूल्हे नहीं जले। लोग उस मंजर को नहीं भूल पा रहे, जब उनके प्रियजनों की लाश आंखों के सामने थी और वे बेबस बने हुए थे। गांव की महिलाएं पीड़ित परिवारों के घर पहुंच ढांढस बंधाने में जुटी थीं तो पुरुषों की जुबां पर हादसे का जिक्र था। हर कोई नियति की क्रूरता को कोस रहा था।

सड़क हादसे में मिनी मैट्रो चालक व चचेरे भाई की मौत


नूरपुर (बिजनौर)। शनिवार की देर शाम सात बजे अज्ञात वाहन की टक्कर से मिनी मैट्रो चालक की मौत हो गई। उसका चचेरा भाई गंभीर रुप से घायल हो गया। जिला अस्पताल पहुंचते ही उसने भी दम तोड़ दिया। घटना से परिजनों में कोहराम मच गया।


जानकारी के अनुसार नूरपुर थानार्गत गांव दौलतपुर बिल्लौच निवासी आजाद पुत्र शाहरुख (27 वर्ष) मिनी मैट्रो चलाकर परिवार का भरण पोषण करता था। शनिवार की देर शाम करीब सात बजे वह नौगावां सादात से रामगंगा पोषक नहर के रास्ते से वापस घर आ रहा था। मैट्रो में उसका चचेरा भाई इमरान पुत्र फारूख (22 वर्ष) भी सवार था। बताया जाता है कि रास्ते में शिवालाकलां थानार्गत गांव सेह के पुल तक पहुंचने के दौरान सामने से कोई अज्ञात वाहन मिनी मैट्रो को टक्कर मारकर फरार हो गया। टक्कर लगने से दोनों गंभीर रुप से घायल हो गए। प्रत्यक्षदर्शियों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को उपचार के लिए सीएचसी भिजवाया। चिकित्सकों ने आजाद को मृत घोषित कर दिया, जबकि इमरान की हालत नाजुक देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रैफर कर दिया। जिला अस्पताल पहुंचते ही उसने भी दम तोड़ दिया। अस्पताल में परिजनों के पहुंचने पर कोहराम मच गया। समाचार भेजे जाने तक पुलिस दोनों शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने की कार्यवाही में जुटी थी।

दो कारों की टक्कर मेंं एक की मौत, 12 घायल

नूरपुर चांदपुर मार्ग पर बडा हादसा
दो कारों की टक्कर मेंं बारह लोग घायल। एक की मौत


नूरपुर (बिजनौर, उत्तर प्रदेश)। नूरपुर चांदपुर मार्ग पर दो कारों की आमने-सामने की टक्कर में मासूम बच्चों सहित 12 लोग गंभीर घायल हो गए। बुधवार देर रात की इस दुर्घटना में घायल कार चालक की जिला अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में मौत हो गई।


जानकारी के अनुसार अफजलगढ़ के गांव आसफाबाद चमन निवासी अमजद (33 वर्ष) पुत्र शौकत अली कार चालक है। वह रेहड निवासी खुर्शीद पुत्र यामीन की इटिकी कार चलाता है। बुधवार की रात वह रेहड निवासी वसीम पुत्र मंगू, अलतमा पत्नी फहीम, साजिया पत्नी कफील, इकरा पुत्री फहीम, जिहान पुत्र कबीर एवं शेरकोट निवासी वकील पुत्र अकील, नईमा पत्नी वकील, अरहम पुत्र वकील को दिल्ली एयरपोर्ट छोडने जा रहा था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार देर रात करीब 11 बजे नूरपुर चांदपुर मार्ग पर गांव आजमपुर के पास गन्ना कोल्हू के सामने चांदपुर की ओर से तेज रफ्तार से आ रही एक अन्य कार से भिडंत हो गई। परिणामस्वरूप कार में सवार उक्त सभी लोगों के अलावा दूसरी कार में सवार विकास पुत्र राजू निवासी मोहल्ला रामनगर, नवीन पुत्र घनश्याम निवासी मोहल्ला बडवान धामपुर एवं दो अज्ञात गंभीर रुप से घायल हो गए। घायलों की चीख पुकार सुनकर कोल्हू पर काम कर रहे लोग मौके पर पहुंचे और कार में फंसे घायलों को बाहर निकाला।

प्रतीकात्मक फोटो

घटना की सूचना पाकर गौरक्षधाम चौकी इंचार्ज हरेंद्र कुमार पुलिस बल को लेकर मौके पर पहुंचे। घायलों को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने सभी घायलों की हालत चिंताजनक देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल ले जाते समय चालक अमजद ने दम तोड़ दिया। हादसे की सूचना पाकर मृतक के परिजनों के पहुंचने पर कोहराम मच गया। घटना के संबंध में मृतक के भाई इरशाद की तहरीर के आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर शव को कब्जे में लेकर पचनामा कार्यवाई के पश्चात पोस्टमार्टम हेतु जिला अस्पताल भेज दिया।

यूटिलिटी वाहन के गहरी खाई में गिरने से 13 की मौत

देहरादून। उत्तराखंड के त्यूनी क्षेत्र में रविवार सुबह एक यूटिलिटी वाहन के गहरी खाई में गिरने से 13 लोगों की मौत हो गई और चार अन्य घायल हो गए। चकराता पुलिस थाना के प्रभारी अरविंद कुमार ने बताया कि बायला-पिंगुवा मार्ग पर एक निजी यूटिलिटी वाहन करीब 300 मीटर गहरी खाई में गिर गया, जिससे छह लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। बस त्यूनी से विकासनगर जा रही थी। एसडीएम चकराता सौरभ असवाल ने बताया घटनास्थल के लिए चकराता और त्यूणी तहसील से राजस्व टीम मौके के लिए रवाना कर दी गई है।

पुलिस के मुताबिक, हादसे के पीछे ओवरलोडिंग एक वजह हो सकती है। कहा जा रहा है कि जिस रूट से ये यूटिलिटी निकल रही थी, वहां ज्यादा वाहन नहीं हैं, इसलिए बड़ी संख्या में लोग एक ही वाहन में सवार थे।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेनि.) ने दुर्घटना में हुई मौतों पर दुख व्यक्त किया है और अधिकारियों को घायलों के इलाज के लिए हरसंभव मदद देने का निर्देश दिया है। घटना की सूचना मिलने के बाद चकराता के विधायक और नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह और धामी सरकार में कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी भी घटनास्थल के लिए रवाना हो गए है।

परिवहन विभाग मना रहा सड़क सुरक्षा सप्ताह

दिनांक 22.07.2021 से शुरू सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया जाएगा 28.07.2021 तक। सड़क दुर्घटनाओं के दौरान मौत व घायलों में कमी लाए जाने हेतु मार्ग पर चलते समय बरती जाने सावधानियों से कराया गया अवगत। उप बस, ट्रक, ऑटो, ई-रिक्शा तथा टैक्सी चालकों की यूनियन के पदाधिकारी रहे मौजूद।

बिजनौर (एकलव्य बाण समाचार)। परिवहन विभाग, बिजनौर द्वारा दिनांक 22.07.2021 से 28.07.2021 तक तिथिवार कार्यक्रम के अनुसार प्रथम सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया जा रहा है।

इसके अन्तर्गत सम्भागीय परिवहन कार्यालय, बिजनौर में सभी उप बस, ट्रक, ऑटो, ई-रिक्शा तथा टैक्सी चालकों की यूनियन के पदाधिकारियों के साथ सड़क सुरक्षा पर जागरूक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम में कमल किशोर, यातायात निरीक्षक ने सड़क दुर्घटनाओं मृत व घायलों में कमी लाए जाने हेतु मार्ग पर चलते समय बरती जाने सावधानियों से अवगत कराया। कार्यक्रम में कार्यालय के समस्त कर्मचारियों सहित लगभग 150 व्यक्तियों द्वारा प्रतिभाग किया गया ।

रोडवेज बस व ट्रक की भिड़ंत में एक की मौत, कई यात्री घायल

बिजनौर। नूरपुर रोड पर नवादा गांव के सामने रोडवेज बस व ट्रक की भिड़ंत में एक यात्री की मौत हो गई, जबकि सात यात्री घायल हो गए। घायलों को पुलिस ने हल्दौर पीएचसी में पहुंचाया। जहां से जिला अस्पताल भेजा गया है। प्राथमिक उपचार के बाद पांच को छुट्टी दे दी गई। दुर्घटना के पीछे भारी बारिश के बीच चालक का वाहन पर नियंत्रण खोना बताया गया है। दुर्घटना के बाद मौके पर दोनों तरफ जाम लग गया। मृतक यात्री का नाम धर्मेंद्र बताया गया है।

कोट कादर में दो बाइक का ज़बरदस्त एक्सीडेंड, 2 युवक गंभीर घायल

बिजनौर। नगीना रायपुर क्षेत्र में आमने-सामने की भिड़ंत में दो बाइक सवार गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने घायलों को इलाज के लिए नगीना सीएचसी पहुंचाया।

क्षेत्र के ग्राम कोटक़ादर निवासी नौशाद पुत्र मोहम्मद हामिद अंसारी (25 वर्ष) व परवेज़ पुत्र नफीस कुरैशी (20 वर्ष) दोनों ही बाइक पर सवार थे। बुधवार सुबह नौशाद अपनी बाइक हीरो होंडा सीडी डॉन नंबर UP20 Y 8711 पर सवार होकर रायपुर सादात से कोटक़ादर की ओर जा रहा था व परवेज़ कुरैशी अपनी बाइक हीरो सुपर स्प्लेंडर नंबर UP 20 BP 1693 पर सवार होकर कोट से रायपुर सादात की ओर आ रहा था।

जब दोनों ही बाइक सवार कोटक़ादर तालाब के सामने पहुंचे तो अचानक तेज रफ्तार के कारण आपस में भिड़ंत हो गई। घटना में दोनों को गंभीर चोटे आई। गंभीर हालत देखते हुए मौके पर पहुंचे पुलिस बल के साथ दरोगा रामवीर सिंह ने देर ना करते हुए अपने सहयोगी साथी सिपाही रोहित चौधरी व दो अन्य सिपाहियों की मदद से प्राइवेट वाहन (छोटा हाथी) से दोनों घायलों को नगीना सीएचसी पहुंचाया। पुलिस के इस जज्बे को देखकर जमा भीड़ ने उनकी प्रशंसा भी की। दोनों ही घायलों को नगीना से बिजनौर रेफर कर दिया गया है। समाचार लिखे जाने तक ग्राम प्रधान हाजी शहजाद ने फोन पर बताया कि अभी दोनों की हालत बेहद नाज़ुक बनी हुई है।

अज्ञात वाहन की टक्कर से एक की मौत, एक गंभीर

बिजनौर (एकलव्य बाण समाचार)। थाना हल्दौर क्षेत्र के गांव नवादा निवासी बाइक सवार दो लोगों को अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। इनमें से एक की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दूसरे की हालत गंभीर बनी हुई है। दुर्घटना थाना कोतवाली देहात के ग्राम बरुकी में नगीना रोड पर रविवार सुबह हुई। अज्ञात वाहन की तलाश में पुलिस जुट गई है।

थाना हल्दौर क्षेत्र के गांव नवादा निवासी जयपाल सिंह पुत्र ध्यान सिंह (60 वर्ष) गांव के ही दिनेश पुत्र जसवंत (45 वर्ष) बाइक से बरुकी की ओर किसी कार्य से जा रहे थे। जैसे ही उनकी बाईक नगीना रोड पर पहुंची तो किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को उपचार हेतु जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां उपचार के दौरान जयपाल सिंह की मौत हो गई। वहीं दिनेश की हालत गंभीर बनी हुई है। जयपाल सिंह की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस अज्ञात वाहन की तलाश में जुट गई है।

snewsdaily24@gmail.com

ट्रेन की चपेट में आकर अज्ञात अधेड़ की मौत

प्रयास के बावजूद नहीं हो सकी शिनाख्त। पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेजा शव। (अनुकूल शर्मा)

नजीबाबाद (एकलव्य बाण समाचार)। नजीबाबाद-रायपुर मार्ग पर गढ़मलपुर फाटक के समीप रेलवे लाइन पार करने के दौरान एक अधेड़ व्यक्ति की ट्रेन की चपेट में आ कर मौत हो गई। सूचना पर पहुंची थाना कोतवाली नजीबाबाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर शिनाख्त के प्रयास किए। शिनाख्त न होने पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

रविवार को नजीबाबाद-रायपुर मार्ग पर गढ़मलपुर फाटक रेलवे गेट संख्या 480-बी क्षेत्र में लाइन पार करने के दौरान एक अधेड़ व्यक्ति ट्रेन की चपेट में आ गया। तीव्रगति  से गुजर रही ट्रेन में आए व्यक्ति की मौैके पर ही मौत हो गई। रेलवे स्टेशन नजीबाबाद के सहायक स्टेशन मास्टर कक्ष से थाना कोतवाली पुलिस को मीमो भेजकर गढ़मलपुर रेलवे फाटक क्षेत्र में दुर्घटना होने की सूचना दी गई। पुलिसकर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे थाना कोतवाली नजीबाबाद के उपनिरीक्षक प्रदीप कुमार ने शव को कब्जे में ले लिया। शव की शिनाख्त कराने का प्रयास किया, मृतक की पहचान नहीं हो सकी। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए बिजनौर भिजवा दिया।

बताया जाता है कि उक्त स्थान पर रेलवे फाटक क्षेत्र में नजीबाबाद-रायपुर मार्ग पर ओवरब्रिज निर्माण किया जा चुका है। सड़क यातायात भी ओवरब्रिज से होकर ही हो रहा है। ऐसे में उक्त व्यक्ति ने ओवर ब्रिज के बजाय रेलवे लाइन पार करने का प्रयास किया। अनुमान लगाया जा रहा है कि वह नहर पटरी के रास्ते किसी समीप के गांव जा रहा होगा। रेलवे लाइन पार करने के दौरान ट्रेन की चपेट में आने से उसकी मृत्यु हो गई।

धामपुर में कार पलटने से दो की मौत, तीन घायल

धामपुर में कार पलटने से दो की मौत, तीन घायल
बिजनौर (एकलव्य बाण समाचार)।

धामपुर में मुरादाबाद रोड पर अनियंत्रित होकर कार पलट गई। दुर्घटना में कार सवार दो लोगों की मौत हो गई, जबकि तीन अन्य घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
धामपुर कोतवाल जीत सिंह के अनुसार बुधवार तड़के करीब ढ़ाई बजे रानी बाग कॉलोनी के निकट उक्त हादसा हुआ। मृतकों के नाम सूर्यकांत पुत्र राजेन्द्र (24 वर्ष) एवं कृपाल सिंह (58 वर्ष) बताए गए हैं। घायलों में कृपाल का पुत्र राजकुमार, सूर्यकांत के पिता राजेन्द्र सिंह और भाई चंद्रकांत शामिल हैं। सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। तड़का होने और संभवत: झपकी की आशंका के चलते हादसा होने की संभावना जताई जा रही है। पुलिस ने शवों का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

मुरादाबाद में मजदूरों से भरी बस पलटी, 4 की मौत, 14 घायल

मुरादाबाद (एकलव्य बाण समाचार) पाकबड़ा में मुरादाबाद बरेली हाईवे पर मजदूरों से भरी एक बस पलटने से सिपाही समेत चार लोगों की मौके पर मौत हो गई। डीसीएम से टक्कर के बाद बस पलटी। दुर्घटना में घायल 14 लोगों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, इनमें चार की हालत गंभीर है।

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि एक पिकअप को ट्रैफिक पुलिस ने बीच में अचानक रोका, जिससे पीछे आ रही बस का ड्राइवर नियंत्रण खो बैठा। इसके बाद बस डीएसीएम से टकरा गई। बस हिमाचल प्रदेश से मजदूरों को पीलीभीत ले जा रही थी। हादसे के बाद ट्रैफिक पुलिस वाले मौके से भाग गए। घटना की सूचना मिलते ही डीएम शैलेंद्र सिंह, एसएसपी पवन कुमार घटना स्थल पहुंचे और बाद में अस्पताल जा कर डाक्टरों से घायलों की जानकारी ली। एसपी सिटी व अन्य ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया। हादसा इतना भीषण था कि शव बुरी तरह कुचल गए। मौके पर राहत कार्य जारी है।

कारों-बाइकों की भिड़ंत में मासूम सहित 4 घायल

कारों-बाइकों की भिड़त में मासूम सहित 4 घायल बिजनौर। स्योहारा थाना क्षेत्र में मुरादाबाद मार्ग के नज़दीक एक अजीब सड़क हादसा हुआ। भिड़ंत तो दो कारों में हुई, लेकिन उनकी चपेट में आकर घायल हुए बाइक पर सवार लोग।

घटना के मुताबिक मुरादाबाद मार्ग स्थित ग्राम श्यामाबाद के निकट धामपुर की ओर से आ रही तेज़ रफ़्तार कार ऑल्टो संख्या जीजे 06 बी 3748 ने मुरादाबाद की ओर से आ रही इनोवा क्रिस्टा संख्या यूपी 25 सिटी 2612 को अपनी चपेट में ले लिया।  इस कारण इनोवा सड़क पर ही पलट गई। इस बीच बगवाड़ा से स्योहारा अस्पताल आ रही दो बाइक आल्टो की चपेट में आ गईं। दोनों बाइक पर सवार गौरव पुत्र रामलाल, अमित पुत्र बुधु सिंह व अनिता पत्नी ब्रजपाल के अलावा 7 दिन का मासूम गम्भीर रूप से घायल हो गया। अमित को नाजुक हालत में रेफर कर दिया गया। इसके अलावा कारों में सवार किसी भी सवारी को चोट नहीं लगी जबकि आरोपी ऑल्टो कार चालक फरार हो गया।

रोडवेज बस-डीसीएम भिड़ंत में कई घायल

रोडवेज बस-डीसीएम भिडंत में कई घायल। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलो को पहुंचाया। अस्पताल -नजीबाबाद डिपो की बस से सामने से भिड़ी अनियंत्रित डीसीएम।

बिजनौर। मंडावली थाना अंतर्गत ग्राम भागूवाला क्षेत्र में कोटावाली नदी के निकट नजीबाबाद की ओर से जा रही रोडवेज बस की हरिद्वार की ओर से आ रही अनियंत्रित हुई डीसीएम से आमने-सामने की टक्कर हो गयी। दुर्घटना में बस व डीसीएम चालक सहित करीब आधा दर्जन लोग घायल हो गए। सूचना पर पहुंची मंडावली पुलिस ने घायलों को चंदक और जिला अस्पताल बिजनौर भिजवाया।

शनिवार को भागूवाला क्षेत्र में पडऩे वाली कोटावाली नदी के पास नजीबाबाद की ओर से जा रही उत्तर प्रदेश राज्य सडक़ परिवहन निगम के नजीबाबाद डिपो की बस और हरिद्वार दिशा से आ रही डीसीएम की आमने-सामने की भिडंत हो गयी। बस चालक सतेंद्र कुमार सहित बस में यात्रा कर रहे अन्य पांच लोग भी घायल हो गए। इस दुर्घटना में डीसीएम चालक को भी चोटें आयी हैं। दुर्घटना होने की सूचना  पर भागूवाला चौकी प्रभारी रामचन्द्र, कांस्टेबिल मनोज तोमर आदि पुलिसकर्मी घटना स्थल पर पहुंच गए। पुलिस ने घायलों को बस से निकालकर उपचार के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चन्दक और जिला अस्पताल बिजनौर भेज दिया। घायलों के नाम रफीक निवासी ग्राम भोजपुर थाना किरतपुर, आजाद निवासी बिजनौर, परमेश्वरी, कमला, महेश निवासी ग्राम नगला बज्जू थाना धामपुर बताए गए हैं। बस की परिचालिका मोनिका ने बताया कि डीसीएम के अचानक अनियंत्रित हो जाने से दुर्घटना हुई है। हालांकि बस चालक ने डीसीएम को अनियंत्रित होता देख बस को सडक़ किनारे खड़ा कर लिया था। संभवत: डीसीएम के चालक ने नशा किया हुआ था, जिस कारण यह हादसा हुआ। इस दुर्घटना में डीसीएम चालक लाली एवं क्लीनर सिंदर सिंह निवासी समाना मंडी पटियाला पंजाब को भी चोट आई हैं।

दो बाइक सवारों की मौत, मुआवजे के लिए लखनऊ-हरदोई राजमार्ग पर जाम

लखनऊ। कोतवाली मलिहाबाद क्षेत्र के कनार गांव निवासी दो युवकों की मोटरसाइकिल मे पीछे से आ रहे तेज रफ्तार वाहन ने टक्कर मार दी। दोनों की मौके पर ही मौत हो गयी। एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना से नाराज ग्रामीणों ने शाम को सडक पर शव रखकर लखनऊ-हरदोई राजमार्ग पर जाम लगा दिया। प्रदर्शनकारी पीडित परिवारों को 10 लाख रू0 मुआवजा,जमीन एवं परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिये जाने के साथ ही हादसे के बाद भागे वाहन एवं चालक को पकडकर कठोर कार्यवाही की मांग कर रहे थे।

मौके पर पहुंचे एसडीएम मलिहाबाद अजय कुमार राय ने ग्रामीणों को आश्वासन देकर जाम खुलवाया एवं दोनों शवों का अन्तिम संस्कार कराया। करीब ढाई घण्टे बाद आवागमन शुरू हो सका।
मलिहाबाद के कनार गांव निवासी किसान गुलजारी रावत का बेटा इन्द्रजीत रावत (30) अपने पडोसी महेन्द्र रावत के बेटे श्याम (25) व इनके परिवार के ही प्रदीप के साथ शनिवार देर रात स्पलेंडर मोटरसाइकिल से खालिसपुर गांव से वापस घर लौट रहा था। मौके पर मौजूद लोगों के मुताबिक मोटीनीम चौराहे पर स्थित शराब के ठेके के पास पीछे से आ रही तेज रफ्तार कार ने बाइक के अगले हिस्से मे जोरदार ठोकर मार दी। जिससे गाडी पर बैठे इन्द्रजीत व श्याम उछल कर सडक पर जा गिरे और सन्दीप फुटपाथ पर गिरा। इस हादसे मे इन्द्रजीत और श्याम की मौके पर ही मौत हो गयी। प्रदीप के भी चोटें आयी है। उसको ईलाज के लिए निजी अस्पताल ले जाया गया। हादसे के बाद कार सवार मौके से भाग निकला। मौके पर पहुंची काकोरी व मलिहाबाद माल तीनो पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

घटना से नाराज ग्रामीणों ने रविवार करीब 2:30 बजे कनार गांव के सामने स्थित लखनऊ- हरदोई राजमार्ग पर शवों को रखकर जाम लगा दिया। जाम की सूचना पर मलिहाबाद मालवा काकोरी तीनों थानो की पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे इन्सपेक्टर मलिहाबाद चिरंजीव मोहन ने ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया। ग्रामीणों की मांग थी कि मृतकों के परिवार को दस-दस लाख रूपये मुआवजा, एक- एक बीघा जमीन एवं परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाये। मौके पर पहुंचे एसडीएम अजय कुमार राय के आश्वासन के बाद ग्रामीण शान्त हुये और शवों का अन्तिम संस्कार किया गया।

एसडीएम सीओ से बोले विधायक, चाइनीज मांझे की बिक्री रोकें

विधायक ने भी लिया चायनीज मांझे का संज्ञान!
एसडीएम व सीओ से चाइनीज मांझे की बिक्री पर सख्त कार्यवाही के लिए कहा
बिजनौर। चायनीज मांझे से क्षेत्र में पहले भी कई लोग चोटिल हो चुके हैं परंतु बाइक पर सवार होकर जाने के दौरान चायनीज मांझे की चपेट में आकर अलीपुरा निवासी मोहम्मद नाजिम के गंभीर रूप से घायल होने को नजीबाबाद विधायक हाजी तसलीम अहमद ने भी गंभीरता से लिया। उन्होंने एसडीएम व सीओ से बात कर घटना के प्रति रोष व्यक्त करते हुए प्रतिबंधित चाइनीज मांझे की नगर क्षेत्र में हो रही अवैध बिक्री पर पूरी तरह से रोक लगाए जाने को कहा है।
मंगलवार की शाम विधायक नजीबाबाद ने उपजिलाधिकारी परमानंद झा और पुलिस क्षेत्राधिकारी गजेन्द्र पाल सिंह से वार्ता कर सघन चैकिंग अभियान चलाकर प्रतिबंधित चाइनीज मांझा बेचने वालों की धरपकड़ कर उचित कार्रवाई करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि चाइनीज मांझे से होने वाली यह घटना पहली घटना नहीं है। इससे पूर्व भी कई गंभीर घटना इस मांझे की चपेट में आने वालों के साथ हो चुकी हैं। इसी कारण इस मांझे पर पूरे देश में प्रतिबंध लगाया जा चुका है। इसके बावजूद चोरी छिपे चायनीज मांझे की अवैध रूप से बिक्री की जा रही है, जो कि नहीं होनी चाहिए। भविष्य में चायनीज मांझे से होने वाली अप्रिय घटनाओं पर रोक लगाए जाने के लिए  इसकी बिक्री पर तत्काल रोक लगाने की आवश्यकता है। विधायक हाजी तसलीम अहमद ने कहा कि एसडीएम परमानंद झा व सीओ गजेन्द्र पाल सिंह ने नजीबाबाद उन्हें आश्वासन दिया है कि वह जल्द ही नगर में चैकिंग अभियान चलाकर चायनीज मांझे की अवैध रूप से बिक्री करने वाले लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे और चायनीज मांझे की बिक्री पूरी तरह रोकने का काम किया जाएगा।

चाइनीज मांझे से युवक की गर्दन कटी, हालत गंभीर

चाइनीज मांझे से युवक की गर्दन कटी, गंभीर
-बाइक पर जाने के दौरान ओवरब्रिज पर आया चपेट में
-गंभीर घायल को उपचार के लिए निजी अस्पताल में कराया भर्ती

बिजनौर। नजीबाबाद में बाइक पर सवार होकर एक ओवरब्रिज के ऊपर से गुजर रहा मिस्त्री का कार्य करने वाला एक युवक चाइनीज मांझे की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हो गया। चायनीज मांझे से उसकी गर्दन काफी गहराई तक कट गयी। गंभीर घायल अवस्था में उसे उपचार के लिए एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। काफी खून बह जाने की वजह से चिकित्सक ने 48 घंटों तक विशेष रूप से अपनी देखरेख में रखने की बात कही।
तहसील के ग्राम अलीपुरा निवासी मोहम्मद नाजिम बाइक पर सवार होकर मेरठ-पौड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग-119 पर तहसील के समीप बने ओवरब्रिज से होकर अपने घर जा रहा था। इस दौरान वह चाइनीज मांझे की चपेट में आ गया। मांझे ने उसकी गर्दन को काफी गहराई तक काट दिया। गहरा घाव हो जाने की वजह से वह लहूलुहान हो गया। रास्ते से गुजर रहे राहगीरों की ओर से घायल युवक को निजी अस्पताल में भर्ती करा दिए जाने पर चिकित्सक ने उसका आनन-फानन में आपरेशन किया। आपरेशन में उसकी गर्दन पर कई टांके लगाए गए हैं। समय रहते उपचार मिल जाने से उसकी जान बच गई है। घटना की खबर सुनते ही परिजन अस्पताल पहुंच गए। घायल युवक के भाई जमशेद ने बताया कि नाजिम डीजल मैकेनिक का काम करता है तथा वह दो बच्चियां का पिता है। चिकित्सक के मुताबिक काफी खून बह जाने की वजह से युवक नाजिम की हालत नाजुक बनी हुई है। चिकित्सक ने उसे 48 घंटों तक विशेष देखभाल में रखने की बात कही। उधर डीजल इंजन मैकेनिक युवक के चाइनीज मांझे की चपेट में आकर दुर्घटनाग्रस्त होने को लेकर लोगों का कहना है कि शासन-प्रशासन की ओर से रोक लगाए जाने के बावजूद नगर में चाइनीज मांझे की बिक्री पर पूर्ण रुप से प्रतिबंध लगने को तैयार नहीं है। जिसकी वजह से इस प्रकार की दुर्घटनाएं होती रहती है। इसके अलावा चायनीज मांझे की चपेट में आकर काफी संख्या में पक्षी भी अपनी जान गंवाते रहते हैं। नागरिकों ने चायनीज मांझे का अवैध कारोबार करने वालों पर शिकंजा कसे जाने की मांग की है।

सावधान: पुलिस-ट्रैफिक व परिवहन अधिकारियों के शरीर पर लगेंगे बॉडी कैमरा

मोदी सरकार करने जा रही नया फैसला, अब ट्रैफिक नियम तोड़ने वाले ड्राइवरों की खैर नहीं, भ्रष्ट अधिकारी भी नपेंगे

दिल्ली। राज्यों की पुलिस व परिवहन विभाग के अधिकारियों को हाईटेक बनाने का खाका खींचा गया है। इसके तहत पुलिस-ट्रैफिक व परिवहन अधिकारियों के शरीर पर बॉडी कैमरा लगेंगे। सरकार के इस कदम से ट्रैफिक नियम तोड़ने वाले ड्राइवरों पर शिकंजा कसेगा।
राज्यों की पुलिस व परिवहन अधिकारियों को हाईटेक बनाने के लिए उनके वाहनों के डैशबोर्ड पर सीसीटीवी कैमरे, हाईवे-जंक्शन पर स्पीड कैमरे आदि डिजिटल उपकरणों को लगाने की योजना है। बॉडी कैमरे की वीडियो-ऑडियो रिकॉर्डिंग अदालत में बतौर सबूत पेश किए जाएंगे। इससे चौराहे और हाईवे पर उगाही करने वाले भ्रष्ट अधिकारियों पर लगाम लगेगी। सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय ने 25 फरवरी को सड़क सुरक्षा, प्रबंधन की निगरानी व प्रवर्तन संबंधी मसौदा नियम हितधारों से सुझाव-आपत्ति के लिए जारी कर दिए हैं।

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि निगरानी व प्रवर्तन व्यवस्था की खास बात यह होगी कि लाल बत्ती पार करना, ओवर स्पीड, गलत पार्किंग, सीट बैल्ट, हेलमेट, मोबाइल पर बात करने जैसे ट्रैफिक नियमों को तोड़ने की घटना की वीडियो-ऑडियो रिकॉर्डिंग को अदालत में सबूत के तौर पर पेश किया जाएगा। इससे उल्लघंन करने वाले इंकार नहीं कर सकेंगे। वहीं, ट्रैफिक पुलिस वाहन चालक को अनावश्यक परेशान नहीं कर सकेगी और ले देकर उनको छोड़ने की प्रवृत्ति पर अंकुश लगेगा। विशेषकर हाईवे पर ट्रकों से हजारों करोड़ की अवैध वसूली के धंधे में कमी आएगी।

गौरतलब है कि चार साल पहले संसदीय समिति ने ट्रैफिक पुलिस और आरटीओ अधिकारियों की रिश्वतखोरी पर लगाम लगाने के प्रयासों के तहत यह सुझाव दिया था।
दिसंबर 2017 में राज्यसभा की सेलेक्ट कमेटी (प्रवर समिति) ने ट्रैफिक पुलिस और क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) के अधिकारियों के लिए बॉडी कैमरे की सिफारिश की थी। इससे भ्रष्टाचार और अधिकारियों की मनमानी रोकने में मदद मिलेगी। प्रवर समिति ने मोटर वाहन संशोधन विधेयक-2017 की समीक्षा करने के बाद यह सिफारिश की थी।
रिपोर्ट के मुताबिक प्रवर समिति ने कहा कि मोटर वाहन कानून को लागू करने वाले सभी ट्रैफिक पुलिस या आरटीओ अधिकारियों के पास बॉडी कैमरा होना चाहिए। समिति ने यह भी कहा कि इनके रिकॉर्ड किए गए अपराधों को डिजिटली स्टोर किया जाना चाहिए और कंट्रोल रूम में देखा जाना चाहिए। सांसद विनय पी सहस्रबुद्धे की अध्यक्षता वाली समिति ने परिवहन क्षेत्र में रिश्वतखोरी से निपटने के लिए वाहनों का रजिस्ट्रेशन आरटीओ के बजाए डीलरों के यहां कराने की सुविधा देने की सिफारिश की थी।

वहीं ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल के अनुसार देश के आरटीओ द्वारा ट्रक मालिकों या चालकों से सालाना 10 हजार करोड़ रुपये की रिश्वत वसूली जाती है। अगर इसमें लाइसेंस, पंजीकरण, कर भुगतान और परमिट के लिए दी जाने वाली रिश्वत जोड़ ली जाए तो आंकड़ा कई गुना बढ़ जाता है। ट्रांसपरेंसी इंटरनेशनल ने अन्य आंकलनों के आधार पर क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों में 23 हजार करोड़ रुपये की रिश्वतखोरी की बात कही थी।

ट्रक से कुचल कर दो बच्चों समेत बाइक सवार की मौत,


ट्रक से कुचलकर बाइक सवार की दो बच्चों सहित मौत, पत्नी गम्भीर घायल

बिजनौर। बाइक पर सवार होकर जा रहे हैं पति पत्नी और दो मासूम बच्चों को एक ट्रक ने टक्कर मार दी जिससे पति समेत दो मासूम बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि महिला गंभीर रूप से घायल हो गई । घटना से क्षेत्र में अफरा तफरी मच गई । पुलिस ने आरोपी ट्रक चालक को गिरफ्तार कर लिया है
प्राप्त समाचार के अनुसार शुक्रवार की दोपहर लगभग 1:30 बजे तेज पाल पुत्र धन सिंह निवासी ग्राम गावड़ी गंज थाना कोतवाली शहर अपनी बाइक संख्या यूपी 20 बीएल 0095 से जा रहा था । बाइक पर उसकी पत्नी रूबी उम्र 28 वर्ष तथा 7 साल की पुत्री कंचन व 3 साल का बेटा कार्तिक भी सवार थे। इन बाइक सवारों को स्थानीय चक्कर चौराहे के पास एक ट्रक संख्या यूपी 21 बीएन 2802 ने टक्कर मार दी जिससे तेजपाल और उसकी पुत्री कंचन व पुत्र कार्तिक की मौके पर ही मौत हो गई जबकि उसकी पत्नी रूबी गंभीर रूप से घायल हो गई। सूचना पाकर तुरंत ही मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों शवों को कब्जे में ले लिया और घायल रूबी को उपचार के लिए जिला अस्पताल भिजवाया जहां उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। वहीं पुलिस ने आरोपी ट्रक चालक राजपाल पुत्र रामशरण निवासी पुतलीघर थाना मझोला जनपद मुरादाबाद को हिरासत में ले लिया है।

ट्रक से कुचल कर दो बच्चों समेत बाइक सवार की मौत, महिला गंभीर घायल


ट्रक से कुचलकर दो बच्चों सहित बाइक सवार की मौत, पत्नी गम्भीर घायल

बिजनौर। नगीना मार्ग चक्कर चौराहे के पास ट्रक की टक्कर से बाइक सवार एक युवक व उसके दो बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई। दुर्घटना में युवक की पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गई। घायल महिला को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए आरोपी ट्रक चालक को हिरासत में ले लिया है।

जानकारी के अनुसार शुक्रवार की दोपहर लगभग 1:30 बजे तेजपाल पुत्र धन सिंह निवासी ग्राम गावड़ी गंज थाना कोतवाली शहर अपनी बाइक संख्या यूपी 20 बीएल 0095 से जा रहा था। बाइक पर उसकी पत्नी रूबी (28 वर्ष), 7 साल की पुत्री कंचन व 3 साल का पुत्र कार्तिक भी सवार थे। नगीना रोड पर स्थानीय चक्कर चौराहे के पास ट्रक संख्या यूपी 21 बीएन 2802 ने बाइक में टक्कर मार दी। तेजपाल, उसकी पुत्री कंचन व पुत्र कार्तिक की मौके पर ही मौत हो गई जबकि उसकी पत्नी रूबी गंभीर रूप से घायल हो गई। घटना से क्षेत्र में अफरातफरी मच गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों शवों को कब्जे में ले कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घायल रूबी को उपचार के लिए जिला अस्पताल भिजवाया, जहां उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। पुलिस ने आरोपी ट्रक चालक राजपाल पुत्र रामशरण निवासी पुतलीघर थाना मझोला जनपद मुरादाबाद को हिरासत में ले लिया है।

कोहरे में भिड़ीं यूपी व उत्तराखंड की रोडवेज बस

बिजनौर। थाना कोतवाली शहर बिजनौर अंतर्गत किरतपुर रोड पर यूपी व उत्तराखंड रोडवेज की बसों में भीषण टक्कर हो गई। कोहरे के कारण हुए हादसे में उत्तराखंड की बस ने आग पकड़ ली। सूचना पर पहुंची फायर सर्विस द्वारा आग पर काबू पाया गया। बिजनौर पब्लिक स्कूल के सामने हुई इस दुर्घटना में 15 सवारियों के घायल होने की सूचना है।

जानकारी के अनुसार थाना कोतवाली शहर बिजनौर अंतर्गत किरतपुर रोड पर रविवार सुबह रोडवेज बस संख्या यूपी 15 बीटी 9121 व उत्तराखंड रोडवेज बस संख्या यूके 07 एफए 2049 में आमने सामने की टक्कर हो गई।

बिजनौर पब्लिक स्कूल के सामने हुई इस दुर्घटना में उत्तराखंड की बस में आग लग गई।  सूचना पर पहुंची फायर सर्विस द्वारा आग पर काबू पाया गया। सूचना मिलते ही थाना प्रभारी कोतवाली शहर ने मौके पर पहुंच कर राहत व बचाव कार्य शुरू कराया। 15 सवारियों के घायल होने की सूचना है। सभी घायलों को उपचार के लिये अस्पताल ले जाया गया। दोनों बसों की सवारियों को अन्य वाहनों से उनके गंतव्य स्थान की ओर रवाना किया गया। वहीं पुलिस अधीक्षक डॉ धर्मवीर सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक नगर ने मौका मुआयना कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

कोहरे में भिड़े मिनी बस व ट्रक, आठ की मौत, 25 घायल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद जिले के नानपुर इलाके में शनिवार सुबह मिनी बस और ट्रक की भीषण टक्कर हो गई। इसमें आठ लोगों की मौत हो गई। 25 जख्मी हुए हैं। इनमें से कुछ की हालत गंभीर है। ऐसे में मौत का आंकड़ा बढ़ सकता है। शुरुआती जानकारी में सामने आया है कि हादसा घने कोहरे की वजह से हुआ।

हादसा मुरादाबाद-आगरा हाईवे पर हुआ। पुलिस ने मौके पर स्थानीय लोगों की मदद से राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया है। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजन को 2-2 लाख रुपए और घायलों को 50-50 हजार रुपए की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है। डीएम और एसपी मौके पर पहुंच गए हैं।

जानकारी के अनुसार निजी बस बिलारी से मुरादाबाद आ रही थी। हादसा सुबह लगभग 8.10 बजे मुरादाबाद आगरा हाईवे पर नानपुर गांव के सामने थाना कुंदरकी इलाके में हुसैनपुर पुलिया पर हुआ। दुर्घटना के बाद आसपास के ग्रामीण राहत कार्य में जुट गए। सभी घायलों को अस्पताल में भेज दिया गया। मोर्चरी और जिला अस्पताल पर शव की शिनाख्त में पुलिस जुटी है। मृतकों में से अधिकांश बिलारी थाना क्षेत्र के लोग बताए जा रहे हैं।

अज्ञात वाहन की टक्कर से युवक की मौत, साथी घायल

बिजनौर। बेनीपुर-हरेवली मार्ग पर अज्ञात वाहन की टक्कर से बढ़ापुर के गांव कुंजैटा निवासी एक 22 वर्षीय युवक की मौत हो गई। घटना में उसका साथी युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया और घायल को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। घटना की सूचना पर परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

जानकारी के अनुसार बढ़ापुर के गांव कुंजैटा निवासी ललित कुमार (22 वर्ष) अपने मित्र के साथ बाइक संख्या UP20 BQ 1593 से कहीं जा रहा था। बेनीपुर-हरेवली मार्ग पर किसी अज्ञात वाहन की चपेट में आकर ललित की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उसका साथी गंभीर रूप से घायल हो गया। राहगीरों की सूचना पर थाना प्रभारी निरीक्षक आशुतोष कुमार सिंह पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे और शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। वहीं घायल को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया। दोनों के परिजनों को घटना की सूचना दी गई। सुनते ही परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर पड़ताल शुरू कर दी है।

फुटपाथ पर सोते मजदूरों को ट्रक ने कुचला,15 की मौत

गुजरात के सूरत में फुटपाथ पर सो रहे मजदूरों को ट्रक ने कुचला, 15 की मौत

सूरत। गुजरात के सूरत में बहुत ही दर्दनाक सड़क हादसे में 15 मजदूरों की मौत हो गई है, 5 गंभीर रूप से घायल हैं। सूरत से करीब 60 किलोमीटर दूर कोसांबा गांव के पास ये घटना हुई। मारे गये सभी प्रवासी मजदूर राजस्थान से थे। घायल मजदूरों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराने के अलावा शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। जानकारी के अनुसार सूरत किम-मांडवी रोड पर रात्रि 12 बजे एक बेकाबू ट्रक ने सड़क किनारे सो रहे 22 मजदूरों को कुचल दिया। पुलिस के अनुसार तेज रफ्तार ट्रक चालक ने ओवरटेक करने की कोशिश में गन्ने से लदे ट्रैक्टर को टक्कर मार दी। टक्कर के कारण चालक ने स्टियरिंग पर से अपना नियंत्रण खो दिया और ट्रक फुटपाथ पर सो रहे मजदूरों पर पलट गया। हादसे में 15 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि पांच की हालत गंभीर है। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना में एक छह महीने की बच्ची को बचाया गया है, लेकिन उसके माता-पिता की मौत हो गई है। सभी मृतक राजस्थान के बांसवाड़ा जिले के कुशलगढ़ के मूल निवासी हैं। मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक जताया है। उन्होंने लिखा, ‘सूरत में एक ट्रक दुर्घटना के कारण लोगों की मौत होने से दुखी हूं। मेरी सांत्वना शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। प्रार्थना है कि घायल जल्द से जल्द ठीक हों।’ साथ ही उन्होंने हादसे में जान गंवाने वाले लोगों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2 लाख रुपये और घायलों को 50,000 रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की।

आमने सामने की टक्कर में दो बाइक सवार घायल

बिजनौर (चांदपुर): ब्लाक जलीलपुर के पास दो बाइक आपस में टकरा गईं। हादसे में दोनों बाइक सवार मामूली रूप से घायल हो गए। जानकारी के अनुसार फहीम पुत्र रईसुद्दीन अपनी बाइक से किसी कार्य हेतु ब्लॉक जा रहा था। इस बीच ग्राम रवाना निवासी अशोक अपनी बुलेट बाइक से वहां से गुजरा।  प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार अचानक दोनों वाहनों में आमने सामने की टक्कर हो गई। सड़क पर गिरने से दोनों मामूली रूप से घायल हो गए। मौके पर राहगीरों की भीड़ एकत्र हो गई। दोनों ही पक्ष एक-दूसरे पर दोषारोपण करते हुए झगड़ने लगे। बात बढ़कर पुलिस तक पहुंचती, इससे पहले मौके पर पहुचे रवाना के ग्राम प्रधान रूपक कुमार ने दोनों में समझौता करा दिया।

देवप्रयाग के समीप खाई में गिरी कार, सहारनपुर के दो लोगों की मौत

200 मीटर गहरी खाई में गिरी आल्टो कार, सहारनपुर के दो लोगों की मौत, SDRF जुटी

देहरादून। देवप्रयाग से 1 किलोमीटर दूर तीन धारा की ओर एक आल्टो कार नदी में गिर गई। दुर्घटना में सहारनपुर के दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जानकारी के अनुसार कोतवाली श्रीनगर से SDRF को सूचित किया गया कि देवप्रयाग से 01 किमी आगे तीनधारा की ओर एक आल्टो कार नदी में दुर्घटनाग्रस्त हो गयी है। सूचना प्राप्त होते ही पोस्ट श्रीनगर से एसआई जगमोहन सिंह के निर्देशन में SDRF की रेस्क्यू टीम मय रेस्क्यू उपकरणों के तत्काल घटनास्थल के लिए रवाना की गई। साथ ही पोस्ट ढालवाला से भी एक डीप डाइविंग टीम घटनास्थल के लिए रवाना हुई।
उक्त घटना में एक आल्टो कार अनियंत्रित होने से नदी में दुर्घटनाग्रस्त हो गयी थी। कार में 02 लोग सवार थे, दोनों सवारों की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई। SDRF इंचार्ज जगमोहन सिंह टीम के साथ शवों को नदी से बाहर निकालने में जुट गए। खाई अत्यंत गहरी होने और वाहन लगभग 200 मीटर नीचे गिरा होने से राहत कार्य में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

मृतकों का विवरण:
1. खुर्शीद पुत्र राशिद, उम्र 43 वर्ष, निवासी मोहल्ला गुलाम ओलिया, थाना गंगू, जिला सहारनपुर।
2. शाहमुद्दीन पुत्र अब्दुल हाफिज, उम्र 33 वर्ष, निवासी ऊपरोक्त।